Sanjay Leela Bansali

जी हां, आपने सही पढ़ा. सुनने में आ रहा है कि अपनी आगामी फिल्म पद्मावती (Padmavati) को लेकर चल रहे विवादों और विरोधों से तंग आकर, फिल्म के डायरेक्टर संजय लीला भंसाली (Sanjay Leela Bhansali) ने  पद्मावती का नाम बदल पद्मावत कर दिया है. एक अच्छी ख़बर यह है कि भंसाली की फिल्म को सीबीएफसी की ओर से ग्रीन सिंग्नल भी मिल गया है. सूत्रों के अनुसार फिल्म को यू/ए ‘U/A’ सर्टिफिकेट  मिला है. बोर्ड ने फिल्म की टीम को कुछ बदलाव करने के संदेश दिए थे, जिसमें फिल्म का शीर्षक बदलने का भी सुझाव था.
 Sanjay Leela Bhansali, Did Major Change in Padmavati
फिल्म का नाम 16 वीं सदी की मशहूर कविता पद्मावत (Padmavat) के नाम पर रख दिया गया है. यह फिल्म उसी कविता से प्रेरित है. राजस्थान में प्रतिबंधित यह फिल्म January 25, 2018 होने लगी है, हालांकि प्रोड्यूसर की ओर से इसकी आधिकाधिक पुष्टि होना बाकी है. 

इतिहास के साथ छेड़छाड़ का आरोप झेल रही फिल्म पद्मावती (Padmavati Movie) की रिलीज़ टल गई है. पहले यह फिल्म 1 दिसंबर को रिलीज होने वाली थी, लेकिन अब मेकर्स की ओर से फिल्म की रिलीज़ डेट को आगे बढ़ा दिया गया है. अख़बार में छपी ख़बरों के अनुसार, फिल्म की निर्माता कंपनी वायकॉम 18 ने रिलीज डेट आगे बढ़ाने की बात कही है, लेकिन यह किस तारीख पर सिनेमाघरों में उतरेगी, यह फिलहाल तय नहीं है.

Padmavati release deferred voluntarily

Padmavati release deferred voluntarily

इस घोषणा के बाद फिल्म का विरोध कर रही श्री राजपूत कर्णी सेना ने 1 दिसंबर को प्रस्तावित भारत बंद को टाल दिया है, लेकिन साथ ही यह भी कहा कि फिल्म के निर्माता लोगों को बेवकूफ़ बनाने का काम कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि जब तक फिल्म का विवादित हिस्सा हटाया नहीं जाता, हम फिल्म रिलीज़ होने की इज़ाज़त नहीं देगें. इसके अलावा राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी  केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखी है. मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी को चिट्ठी लिखकर आग्रह किया है कि पद्मावती फिल्म तब तक रिलीज न हो, जब तक इसमें जरूरी बदलाव नहीं कर दिए जाएं, ताकि किसी भी समुदाय की भावनाओं को ठेस न पहुंचे.

फिल्म और टीवी जगत से जुड़ी ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें