Tag Archives: Secrets

रिश्तों में मिठास बनाए रखने के 50 मंत्र (50 Secrets For Happier Family Life)

ज़िंदगी को ख़ुशनुमा बनाते हैं रिश्ते, अपनेपन का एहसास कराते हैं रिश्ते, कभी पल में जुड़ जाते हैं रिश्ते, जीने का सबब होते हैं ये रिश्ते… रिश्तों के बिना जीवन की कल्पना ही नहीं की जा सकती. ऐसे में अगर इसमें अपनेपन की मिठास घुल जाए, तो ज़िंदगी और भी ख़ुशगवार बन जाती है. आइए, जानें रिश्तों में मिठास बनाए रखने के 50 मंत्र.

Secrets For Happier Family Life

1. सबसे पहले रिश्ते की ज़रूरतों को समझें, जो रिश्ता आप निभाने जा रहे हैं, वह कितना अहम् है आपके लिए इस बात को समझें.

2. दूसरी ज़रूरी चीज़ यह है कि आप अपने रिश्तों को समय दें. यह काफ़ी पुराना मंत्र है, पर है सौ फ़ीसदी कारगर. साथ समय बिताने के लिए आप साथ फ़िल्म देख सकते हैं, बाहर खाना खाने जा सकते हैं, साथ टीवी देख सकते हैं या फिर बातें कर सकते हैं.

3. स्पर्श का जादू… क्या आपने इसके बारे में सुना है? यह वैज्ञानिक तौर पर प्रमाणित हो चुका है कि स्पर्श किसी भी रिश्ते में जादू का काम करता है. अगर बच्चा बीमार है, तो डॉक्टर भी यह सलाह देते हैं कि पैरेंट्स बच्चे को अपना स्पर्श दें. स्पर्श सभी रिश्तों में बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए समय-समय पर जहां ज़रूरी हो, अपने स्पर्श का जादू चलाते रहें.

4. जब अपने मित्रों या रिश्तेदारों के साथ हों, तो औपचारिक भाषा का प्रयोग न करें. अनौपचारिक भाषा या बातचीत से आप और क़रीब आते हैं. उदाहरण के तौर पर, “आप कैसे हैं?” की जगह आप पूछ सकते हैं, “बहुत दिनों के बाद आपसे मुलाक़ात हुई, क्या हालचाल हैं?”

5. उपहार किसी भी रिश्ते में नई जान डाल सकते हैं. बिगड़ी बात बना सकते हैं. उपहार सस्ता हो या फिर महंगा, यह महत्वपूर्ण नहीं है. आप उसे किस भावना से दे रहे हैं, वो महत्वपूर्ण है. उपहार बताते हैं कि आप अपनों का कितना ख़्याल रखते हैं. यदि उपहार अनपेक्षित रूप से और बिना किसी स्वार्थ के दिया जाए, तो आनंद दुगुना हो जाता है.

6. आप अपने रिश्तेदारों और प्रियजनों के लिए एक छोटी-सी पार्टी या समारोह का आयोजन कर सकते हैं. उस पार्टी की थीम ़फैमिली रख दीजिए.

7. थोड़ा समय निकालकर अपने माता-पिता, भाई-बहनों आदि के साथ बैठकर अपने पुराने फ़ोटो एलबम देखें. अपने सगे-संबंधियों के साथ बिताए गए समय की ये तस्वीरें आज उनसे आपके रिश्ते को ज़रूर मज़बूत बनाएंगे.

8. साथ खाना ज़रूर खाएं. बेहतर रिश्तों के लिए दिन में कम से कम एक बार साथ खाना बहुत ज़रूरी है. खाने के टेबल पर परिवार से जुड़ी बातें ही करें.

9. रिश्तों में आपकी तरफ़ से अगर अपेक्षाएं कम और ज़िम्मेदारी का बोध ज़्यादा होगा, तो रिश्ते अपने आप मधुर होते जाएंगे.

10. हफ़्ते में कम से कम एक बार अपने सभी रिश्तेदारों से फ़ोन या इंटरनेट से बात करें.

11. किसी भी रिश्ते को निभाते समय अपना अहंकार या ईगो बीच में न आने दें.

12. अपनी प्रा़ेफेशनल लाइफ़ को ऑफ़िस तक ही सीमित रखें. उसे अपने घर के भीतर न लाएं.

13. जब आप अपने परिवारजनों के साथ हों, तो कंप्यूटर, टीवी या फ़ोन का इस्तेमाल कम से कम करें.

14. किसी भी परिस्थिति में रिश्तों के बीच संवादहीनता न आने दें. चुप्पी रिश्ते को ख़त्म कर देती है. यदि कोई रिश्ता बिगड़ रहा हो, तो उसे बातचीत से ठीक करें.

15. किसी से बात करते समय या अपनी बात किसी के समक्ष प्रस्तुत करते समय इस चीज़ का ख़ास ख़्याल रखें कि हर किसी का आत्मसम्मान होता है और उसे आप ग़लती से भी चोट न पहुंचाएं.

16. अच्छे श्रोता बनें. एक अच्छे रिश्ते के लिए यह बहुत ज़रूरी है कि सामनेवाले की बातों को धैर्य के साथ सुना व समझा जाए.

17. किसी भी रिश्तेदार से मिलते समय मन में कोई हीनभावना या किसी बात का गर्व न आने दें.

18. यदि आप अपने रिश्तेदारों और मित्रोें को नाम से याद रखें और किसी समारोह में नाम से संबोधित करें, तो उन्हें बहुत अच्छा लगेगा.

19. अपने सभी मित्रों और रिश्तेदारों के जन्मदिन, शादी की सालगिरह आदि की तारीख़ याद रखकर उन्हें बधाई ज़रूर दें.

20. यदि आप समय-समय पर बड़ों को आदर और छोटों को प्यार देते रहेंगे, तो रिश्ते मज़बूत होते जाएंगे.

21. हर रिश्ते की अपनी समस्याएं होती हैं, पर किसी भी हाल में आपको क‘ोधित नहीं होना है. अपने जज़्बातों और ग़ुस्से पर नियंत्रण रखें.

22. आज की सबसे बड़ी समस्या है आर्थिक परेशानियां. लेकिन यह ध्यान रहे कि आपकी आर्थिक परेशानियां किसी भी रिश्ते और ख़ासकर पति-पत्नी के रिश्ते को हताहत न करें, क्योंकि आपकी परेशानियां, तो देर-सवेर सुलझ ही जाएंगी, पर रिश्ते नहीं.

23. रिश्तों में क्षमादान बहुत महत्वपूर्ण है, इसलिए माफ़ करना और अपने किसी ग़लत व्यवहार के लिए माफ़ी मांगना भी सीखें.

24. अपशब्दों या लड़ाई-झगड़े से दूर रहेें.

25. ख़ुद अपने हाथों से पूरे परिवार की पसंद का खाना बनाएं.

यह भी पढ़ें: न्यूली मैरिड के लिए मॉडर्न ज़माने के सात वचन (7 Modern Wedding Vows For Newly Married)

Happy Family Life

26. सारे तीज-त्योहार सभी रस्मों-रिवाज़ व परंपराओें के साथ परिवारवालों के साथ मनाएं.

27. परिवारजनों या रिश्तेदारों में किसी को कोई विशेष उपलब्धि मिली हो, तो उसे सराहना न भूलें.

28. सभी परिवारवाले मिलकर साल में एक बार साथ घूमने ज़रूर जाएं.

29. छुट्टीवाले दिन सभी घरवाले मिलकर कि‘केट, कैरम या कोई और गेम खेल सकते हैं.

30. अगर संभव हो, तो घर में कोई पालतू जानवर रखें, जिसकी देखभाल परिवार के सभी लोग मिलकर करें.

31. घर के बच्चों में भी रिश्तों को निभाने के संस्कार डालें.

32. यदि आपको अपने परिवार से प्यार है, तो अपनी इस भावना को सबके सामने जाहिर होने दें.

33. परिवार में अपने रिश्ते को मज़बूत करने के लिए आप अपने परिवार के इतिहास पर एक शोध कर सकते हैं, जैसे- आपके पूर्वज कौन थे? वह कहां से आए थे? आज आपके क़रीबी रिश्तेदार कहां-कहां स्थित हैं आदि. और फिर ये सारी जानकारियां आप परिवार को गेट-टुगेदर पर दे सकते हैं.

34. घर के सारे काम एक-दूसरे के साथ बांटकर करें. इससे काम करने में मज़ा भी आएगा और आपसी रिश्ते भी मज़बूत होंगे.

35. परिवार के प्रत्येक सदस्य को प्राइवेसी मिलनी चाहिए, फिर चाहे वह छोटा हो या बड़ा.

36. रिश्ता कितना भी गहरा क्यों न हो, पर किसी के निजी मामलों में दख़ल नहीं देना चाहिए.

37. अपने रिश्तों में विश्‍वास पैदा करें.

38. किसी भी रिश्ते में दोस्ती का एक रिश्ता ज़रूर रखें.

39. आपके घर आनेवाले रिश्तेदारों का स्वागत पूरे दिल से करें. अपने तनाव अपनी परेशानियों को उनके सामने जाहिर न हेाने दें.

40. अपने आपको रिश्ते के हर उतार-चढ़ाव और हर परिस्थिति में ढालने के लिए तैयार रखेें.

41. अपने प्रियजनों के बुरे वक़्त में उनका साथ ज़रूर दें.

42. पूर्वानुमान लगाना सीखें कि आपकी पत्नी या पति, आपके माता-पिता आपसे क्या चाहते हैं? उनकी आपसे क्या अपेक्षाएं हैं? और उनके कहे बिना उसे पूरा कर उन्हें सरप्राइज़ देें.

43. आप जैसे हैं, घरवालों और रिश्तेदारों के सामने भी वैसे ही रहें. कुछ और बनने या दिखाने का प्रयत्न न करें. इससे भविष्य में आप मुश्किल में पड़ सकते हैं.

44. किसी भी रिश्ते को निभाने के लिए आपका ख़ुद का शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहना बहुत ज़रूरी है, इसलिए अपनी सेहत का ख़ास ख़्याल रखें.

45. अपनी बुरी परिस्थितियों व दुखों का रोना किसी के सामने न रोएं. हमेशा रोनेवाले व्यक्ति को कोई पसंद नहीं करता.

46. अपने हर रिश्ते में पूरी ईमानदारी बरतें.

47. किसी से भी मिलते समय सकारात्मकता से मिलें. उस व्यक्ति के लिए कोई भी कड़वाहट मन में न रखें.

48. किसी रिश्ते को निभाते समय अगर पूर्व में आपसे कोई ग़लती हुई हो, तो उसे हमेशा याद रखें, ताकि आप उसे दोहराएं ना.

49. दूसरों से वैसा ही व्यवहार करें, जैसा कि आपको अपने लिए अपेक्षित है. आपने वह कहावत तो सुनी ही होगी कि जैसा बोएंगे वैसा ही काटेंगे.

50. रिश्तों में कभी रूखापन न आने दें. अपने प्रेम की आर्द्रता से इसे समय-समय पर सींचते रहें. यदि आपसे कोई रूठा है, तो उसे मनाने में ज़रा भी देर न लगाएं, क्योंकि वही तो आपका अपना है, जिसे आप बहुत प्यार करते हैं.

– विजया कठाले निबंधे

यह भी पढ़ें: क्या होता है जब प्रेमिका बनती है पत्नी? (After Effects Of Love Cum Arrange Marriage)

बेहतर सेक्स लाइफ के 10 सीक्रेट्स (10 Secrets For Better Sex Life)

क्या आपकी सेक्स लाइफ़ (Sex Life) बोरिंग और नीरस होती जा रही है? अगर हां, तो उसमें प्यार के नए रंग भरने के लिए पार्टनर के मूड बनने का इंतज़ार करने की बजाय ख़ुद ही शुरुआत करें, फिर देखिए आपका ये बदला-बदला-सा अंदाज़ पार्टनर को कैसे दीवाना बना देता है.

Sex Life

  1. ख़ुद ही पहल करें

दिनभर की थकान के बाद आपका पार्टनर आराम के मूड में है, लेकिन आपका दिल कुछ और चाहता है, तो ऐसे में चुपचाप बैठकर उनका मूड बनने का इंतज़ार करने की बजाय ख़ुद ही पहल करें. अचानक आपका बदला-बदला-सा सेक्सी अंदाज़ देखकर पार्टनर अपनी सारी थकान भूल जाएगा.

  1. ख़ुद को अच्छी तरह प्ऱेजेन्ट करें

बिखरे बाल, पसीने से भीगा बदन और थकान भरा चेहरा पुरुषों का मूड ऑफ कर देता है. ख़ासतौर से पसीने की बदबू रोमांस का माहौल बनने से पहले ही उसे   ख़त्म कर देती है. हो सकता है ख़ुद की अनदेखी की आपकी आदत ही उन्हें आपके पास आने से रोक रही हो. इसलिए ज़रा ख़ुद पर भी ध्यान दें. बेड पर जाने से पहले चेहरा धोने और कपड़े बदलने जैसी छोटी-छोटी बातों का ध्यान रखकर आप उन्हें अपनी ओर आकर्षित कर सकती हैं.

  1. आफ्टर प्ले का कॉन्सेप्ट

अक्सर देखा गया है कि महिलाएं सेक्स के बाद आफ्टर प्ले की कमी महसूस करती हैं. सेक्स के बाद किस करना, एक-दूसरे को बांहों में भरना और जो भी आप करना चाहती हैं, वो अच्छा तो लगता है, लेकिन पुरुषों को ये कॉन्सेप्ट आमतौर पर कम ही भाता है. वैसे भी जब नींद आने लगती है तब किसी की बांहों में ख़ुद को कसा हुआ पाना, नींद उड़ाने जैसा ख़्याल लगता है. इसलिए फोरप्ले का लुत्फ़ उठाइए और लंबे आफ्टर-प्ले के प्रति कूल हो जाइए.

  1. न डालें गिफ्ट्सका प्रेशर

रोमांस के नाम पर आप समय-समय पर पतिदेव से चॉकलेट्स, डॉल्स या टेडी बियर जैसे गिफ़्ट्स की डिमांड तो नहीं करतीं? माना शादी के शुरुआती दिनों में गिफ्ट्स के लेन-देन का ये आइडिया काफ़ी रोमांटिक लगता है, लेकिन ये  तभी तक अच्छा लगता है जब तक ये सरप्राइज़ की तरह रहे. याद रहे, बार-बार गिफ्ट मांगने की आपकी आदत पार्टनर को इरिटेट भी कर सकती है. इसके अलावा हमेशा आपकी डिमांड पूरी करने के चक्कर में उनका फोकस आप से हटकर गिफ्ट पर ज़्यादा रहेगा. अगर आप अपने रिश्ते में रूमानियत का एहसास बरक़रार रखना चाहते हैं तो उन्हें प्यार का इज़हार वैसे ही करने दें जैसा वो चाहते हैं.

  1. रोक-टोक न करें

आपने शायद कई जगह पढ़ा होगा कि सेक्स की शुरुआत धीरे-धीरे होनी चाहिए. आप भी चाहती हैं कि उनकी नज़र आप पर ऐसे पड़े कि आप ख़ुद को धीरे-धीरे पिघलता हुआ महसूस करें, लेकिन घर लौटते हुए गर्मी, लोकल ट्रेन या मेट्रो की भीड़ या फिर हैवी ट्रैफिक में फंसने के बाद पार्टनर से इतने पेशेन्स की उम्मीद न रखें. तो क्या हुआ कि वो सॉक्स खोलने तक का भी इंतज़ार न करें, ऐसे में उन्हें रोकने की बजाय आप भी उनका साथ दें और उन ख़ास पलों को एन्जॉय करें.

यह भी पढ़ें:  सेक्सुअल परफॉर्मेंस बढ़ाने के 10 मैजिक ट्रिक्स (10 Magic Tricks For Best Sexual Performance)

Sex Life

  1. डालें वैक्सिंग की आदत

आप अपनी बॉडी के अनचाहे बालों को हटाना ज़रूरी नहीं समझतीं और आपके पार्टनर ने भी आपसे इस बारे में कुछ नहीं कहा, तो समझ लें कि वो पऱफेक्ट जेन्टलमेन हैं और उन्हें ऐसी बातें कहना पसंद नहीं, लेकिन इस बात की गुंजाइश बहुत ़ज़्यादा है कि वैक्सिंग के प्रति आपकी लापरवाही आपके पार्टनर को कुछ नया ट्राई करने से रोक रही हो. क्लीन, ब्यूटीफुल बॉडी  पार्टनर को नए एक्सपेरिमेंट्स करने के लिए प्रेरित करती है, लेकिन आप अगर हाइजीन का ख़्याल नहीं रखेंगी तो आपका पार्टनर कुछ नया सोच ही नहीं पाएगा. तो अब वैक्सिंग व हेयर रिमूविंग क्रीम्स से दोस्ती बढ़ाइए और सेक्स लाइफ का लुत्फ़ उठाइए.

  1. आवाज़ का खेल

सेक्स के दौरान कई महिलाएं आवाज़ें निकालती हैं. दरअसल, ऐसा करके वो अपने पार्टनर को ये समझाना चाहती हैं कि उन्हें उनका साथ पसंद है, लेकिन अधिकतर पुरुषों के लिए इन चीज़ों को बारीक़ी से समझना मुश्किल होता है. तो ऐसे में अगर आपके पार्टनर भी आवाज़ों की ज़ुबान नहीं समझते तो दुखी मत होइए, उनका नेचर समझिए और उनका साथ दीजिए.

  1. ख़ुद रहें हमेशा तैयार

आप दोनों सेफ सेक्स को प्रमोट करते हैं, लेकिन किसी कारणवश अगर आपके पार्टनर के पास कंडोम नहीं हैं या वे ख़रीदना भूल गए हैं, तो इसे दूरी का कारण न बनने दें. ख़ुद हमेशा तैयार रहें यानी अपने पास हमेशा कंडोम का पैकेट संभाल कर रखें और पार्टनर को अपनी स्मार्ट अदाओं से सरप्राइज़ करें. फिर देखिए वे कैसे खुलकर इस पल का आनंद उठाते हैं.

  1. दिल से बने रहें जवां

शादी के कुछ सालों बाद अक्सर महिलाएं सेक्स के प्रति उदासीन हो जाती हैं. आमतौर पर इसकी वजह परिवार की बढ़ती ज़िम्मेदारियां होती हैं, लेकिन ये बहुत हद तक महिलाओं पर निर्भर करता है कि वो अपनी सेक्स लाइफ को कितना ख़ुशनुमा बनाना चाहती हैं. तो क्या हुआ अगर आपकी दिनचर्या बहुत व्यस्त है, आप चाहें तो उसमें से थोड़ा वक़्त निकालकर अपनी सेक्स लाइफ को रिचार्ज करने के लिए नए आइडियाज़ और मौ़के तलाश सकती है. जैसे- ज़रूरी नहीं कि सेक्स की शुरुआत स़िर्फ बेडरूम में हो, मूड बनाने के लिए बालकनी से लेकर टीवी देखते हुए लिविंग रूम, किचन या डायनिंग टेबल तक कोई भी जगह चुन सकती हैं.

  1. समय का इंतज़ार न करती रहें

ऐसे मौ़के कई बार आते हैं जब दोनों पार्टनर चाहते हुए भी साथ नहीं आ पाते. कभी ऑफ़िस जाने की जल्दी होती है, तो कभी बच्चों के घर लौटने का वक़्त हो जाता है, लेकिन ये किसने कहा है कि आप एक-दूसरे के साथ 10 मिनट रहें और कुछ न करें. हमेशा सेक्स की शुरुआत स्लो हो ये ज़रूरी नहीं, कभी-कभी झटपट किया काम भी दिल को ख़ुश करने के लिए काफ़ी होता है. सच मानिए, कभी-कभार अपने स्टाइल से हटकर कुछ अलग करने का मज़ा ही कुछ और होता है और इसकी झलक आपके चेहरे पर दिनभर मंद-मंद मुस्कान के रूप में दिखती रहती है.

यह भी पढ़ें: नहीं जानते होंगे आप ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये 10 बातें (10 Surprising Facts Of Female Orgasm)

यह भी पढ़ें: पार्टनर को रोमांचित करेंगे ये 10 हॉट किसिंग टिप्स (10 Hot Kissing Tips For Your Partner)

स्त्रियों की 10 बातें, जिन्हें पुरुष कभी समझ नहीं पाते (10 Things Men Don’t Understand About Women)

Things Men Don't Understand About Women

मुझे आज आइस्क्रीम खाने का नहीं, बल्कि कॉफी पीने का मन कर रहा है… हमेशा बोलकर बताना क्यों पड़ता है? क्या आप कभी बिना कहे समझ नहीं सकते… आप नहीं समझोगे…  (Things Men Don’t Understand About Women)इस तरह की बातें कई बार पुरुषों को महिलाओं से सुनने को मिलती हैं. क्या वाकई महिलाओं को समझना बहुत मुश्किल है? आइए, नारी-मन को टटोलने की कोशिश करें. women

Things Men Don't Understand About Women

स्त्री-मन एक तरफ़ जहां बहुत सरल है, वहीं बहुत जटिल भी है. स्त्री और पुरुष केवल शारीरिक रूप से ही नहीं, बल्कि मानसिक रूप से भी काफ़ी भिन्न हैं. कई बार स्त्री जो कहती है, उसका मतलब वह नहीं होता है, जो वो कहना चाहती है. तो आइए जानें, स्त्री-मन के कुछ ऐसे राज़, जिन्हें शायद पुरुष कभी जान ही ना पाएं.

1. पर स्त्री प्रशंसाः चाहे कभी भी स्त्री खुलेतौर पर यह ना कहे, पर अगर स्त्री को कोई बात सबसे ज़्यादा बुरी लगती है, तो वह है दूसरी स्त्री की प्रशंसा. फिर वह स्त्री चाहे आपकी मां-बहन, दोस्त-सहकर्मी या पड़ोसन ही क्यों न हो. इसलिए अब आगे किसी भी स्त्री की प्रशंसा करने से पहले दो बार सोचिएगा ज़रूर या फिर यदि आप किसी की प्रशंसा कर भी रहे हैं, तो साथ ही अपनी पत्नी की प्रशंसा भी कर देें. स्त्री, ख़ासकर एक पत्नी कभी भी नहीं चाहेगी कि उसका पति किसी और की तारीफ़ करे. हो सकता है कि वो इस बात को कभी सबके सामने ज़ाहिर न करे, लेकिन इसे आपको समझना होगा.

2. सुझाव देनाः यह ऐसी चीज़ है, जिसे स्त्रियां पसंद नहीं करतीं या शायद नफ़रत करती हैं. यदि आपको कोई स्त्री अपनी किसी परेशानी या समस्या के बारे में बताती है, तो इसका मतलब है कि वह चाहती है कि आप उसकी बातें किसी अच्छे श्रोता की तरह सुनें और उस पर कोई सुझाव न दें. अगर आपको अपनी पत्नी के चेहरे पर शिकन और परेशानी दिखे, तो समझ जाएं कि वह चाहती है कि आप अपने सारे काम छोड़कर उससे पूछें कि समस्या क्या है और स़िर्फ सुनें. उस पर तब तक सुझाव न दें, जब तक सामने से मांगा न जाए.

3. ख़र्चों का हिसाबः यहां मामला ज़रा हटकर है. एक बात हमेशा याद रखें कि लड़कियों और स्त्रियों को दूसरों के ख़र्चों का हिसाब रखना तो पसंद होता है, लेकिन यदि कोई उनसे ख़र्चों का हिसाब मांगे और ख़ासकर अगर हिसाब मांगनेवाला पति या बॉयफ्रेंड हो, तो उन्हें पसंद नहीं आता. इसलिए आगे से अपनी पत्नी या गर्लफ्रेंड को कभी भी फ़िज़ूलख़र्च करनेवाली ना कहें. अपने ख़र्चों की तुलना कभी भी उसके ख़र्चों से न करें. वे कभी भी आपसे इस बारे में नहीं कहेंगी, पर ऐसा कोई ज़िक्र होते ही उनका मूड ख़राब ज़रूर हो जाएगा.

4. बिन कहे समझ लेंः थोड़ा अजीब है ना, पर यह सौ फ़ीसदी सही है. सभी स्त्रियां चाहती हैं कि उन्हें किसी भी ज़रूरत या किसी भी चीज़ के लिए अपने पार्टनर से कहना न पड़े. वे चाहती हैं कि पुरुष बिना कहे ही उनकी सारी ज़रूरतों को समझ ले और उन्हें पूरा कर दे. फिर वह ज़रूरत प्यार की हो, सहारे की या फिर कोई और. ऐसा इसलिए है कि स्त्रियां ख़ुद भी ऐसी ही होती हैं, वे बिना कहे ही अपने साथी की सारी ज़रूरतों को समझ लेती हैं. स्त्रियों के लिए प्यार मांगने के लिए नहीं होता है. वे बिना मांगे मिलनेवाले प्यार में विश्‍वास रखती हैं.

ह भी पढ़ें: ज़िद्दी पार्टनर को कैसे हैंडल करेंः जानें ईज़ी टिप्स

5. सेंटर ऑफ अट्रैक्शनः स्त्री चाहे कई सारी सहेलियों-रिश्तेदारों से घिरी रहे, पर वह हमेशा अपने पति या साथी का पूरा ध्यान पाना चाहती है. वह चाहती है कि उनके साथी का केंद्रबिंदु वो ही रहे. स्त्री की ख़ुद की दुनिया बहुत छोटी होती है. वो हर छोटी से छोटी बात में अपने साथी का प्रोत्साहन चाहती है.

6. सही संकेत देंः हमेशा याद रखें कि स्त्रियां अवलोकन करने में माहिर होती हैं. वे कही हुई बातों से ज़्यादा अपने अवलोकन पर विश्‍वास करती हैं. स्त्रियों को ख़ामोशी और संकेतों को पढ़ना अच्छा लगता है. उदाहरण के तौर पर, यदि आप बच्चों के साथ ज़्यादा घुलते-मिलते नहीं हैं, तो इसका उनकी नज़र में मतलब है कि आपमें मैरिज मटेरियल नहीं हैं. फिर आप उन्हें लाख समझाने की कोशिश करें कि आप उनसे शादी करके उन्हें ख़ुश रखेंगे. यदि आप किसी स्त्री के साथ हैं, तो उन्हें अपनी तरफ़ से सही संकेत दें.

7. स्पर्श की भाषाः पुरुष चाहे इसमें विश्‍वास रखे या न रखे, पर स्त्री स्पर्श की भाषा में बहुत विश्‍वास रखती है. हल्की-सी छुअन भी उसे रोमांचित कर सकती है या फिर किसी के ग़लत इरादों के बारे में बता सकती है. स्त्री के स्पर्श के मायने काफ़ी अलग हैं. पति का उनका स़िर्फ हाथ पकड़ना या ऑफिस से आने के बाद उन्हें बांहों में भर लेना, उनके लिए किसी ऐसे संवाद से कम नहीं, जिसमें शब्द न हो. इसलिए वे समय-समय पर चाहती हैं कि उनका साथी उन्हें प्यार से छूए या फिर बांहों में भर ले.

8. ग़ुस्से का मतलब हमेशा ग़ुस्सा नहीं होताः पुरुषों को शायद इसे समझने में थोड़ी मुश्किल हो, क्योंकि वे अपनी भावनाओं को सीधे तौर पर ज़ाहिर करते हैं, पर स्त्रियों के मामले में यह थोड़ा उल्टा है. यदि किसी दिन आप घर आएं और आपकी श्रीमतीजी ग़ुस्से में हैं, बात-बात पर आप पर बरस रही हैं, तो इसका मतलब यह मत निकालिए कि वे आपसे नाराज़ हैं. हो सकता है कि दिनभर में कुछ ऐसा हुआ हो, जिससे वह परेशान हो या हो सकता है कि उनके ग़ुस्से के पीछे कोई बहुत बड़ी पीड़ा छुपी हो. कई बार तो स्त्री अपनी किसी कमज़ोरी या बीमारी को छिपाने के लिए भी ग़ुस्सा करती है. अतः जब कभी आपको लगे कि आपकी पत्नी बेवजह ग़ुस्सा कर रही है, तो उससे लड़ने की बजाय यह जानने की कोशिश करें कि कौन-सी बात उसे परेशान कर रही है.

9. भावनात्मक प्यारः सेक्स स्त्रियों के मामले में ज़रा संवेदनशील मसला है. पहले ही यह बताया गया है कि स्त्रियां बहुत भावुक होती हैं. वे रिश्ते के हर स्तर पर पहले भावनाओं से जुड़ती हैं. सेक्स में भी ऐसा ही है. स्त्रियों के लिए सेक्स कोई प्रक्रिया या ज़रूरत नहीं है. उनके लिए सेक्स एक ऐसा माध्यम है, जिससे वे किसी पुरुष के साथ भावनात्मक स्तर पर जुड़ती हैं. वे सेक्स को शारीरिक नहीं, मानसिक स्तर पर अधिक महत्व देती हैैं. इसलिए सेक्स के मामले में उनकी ज़रूरतें भी अलग होती हैं. उन्हें सेक्स से पहले फोरप्ले पसंद है. वे चाहती हैं कि सेक्स के दौरान पार्टनर उन्हें पैंपर करे और सेक्स के बाद उनसे ख़ूब बातें भी करे.

10. जेंटलमैन पहली पसंदः आज स्त्री-पुरुष समानता का ज़माना है, बाहर स्त्री चाहे जितना पुरुषों की तरह सबल और कठोर दिखने की कोशिश कर ले, पर अपना पार्टनर वो ऐसा चाहती है, जिस पर वो निर्भर हो सके. वह ऐसा पुरुष चाहती है, जो न केवल उसकी अच्छाइयों को, बल्कि उसकी कमज़ोरियों को भी जाने. और न स़िर्फ उन्हें जाने, बल्कि उन्हें आत्मसात् कर ले और स्वीकार कर ले. वह चाहती है कि उसका पार्टनर कभी उसकी कमज़ोरियों को किसी बाहरवाले के सामने न आने दे.

– विजया कठाले निबंधे

यह भी पढ़ें: इन 6 Situations में कैसे हैंडल करें पार्टनर को?

यह भी पढें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको

10 बातें जो पति को कभी न बताएं (10 things you should never tell to your husband)

Things never to tell to your husband

पति-पत्नी के रिश्ते में प्यार और विश्‍वास निहायत ज़रूरी होता है, लेकिन ऐसी कई बातें (Things never to tell to your husband) होती हैं, जिन्हेें न कहना ही उचित होता है. पर्सनल टच काउंसलिंग सेंटर की सायकोलॉजिकल काउंसलर डॉ. रीटा खार  से बातचीत के आधार पर प्रस्तुत हैं वे बातें, जो पति को कभी नहीं बतानी चाहिए.

Things never to tell to your husband

1. पति को अपनी पर्सनल सेविंग के बारे में कभी भी न बताएं. वे आपकी इमर्जेन्सी में काम आने वाले बचत के पैसे होते हैं. पुरुषों की प्रवृत्ति भी कुछ हद तक फ़िजूलख़र्ची की होती है. ऐसे में उन्हें अपने बचत के पैसों के बारे में न बताना ही ठीक रहता है.

2. शादी से पहले या फिर अतीत में कभी आपका कोई अ़फेयर रहा हो तो उसके बारे में पति को कतई न बताएं. पति पज़ेसिव और शक्की मिज़ाज के होते हैं. वे इस तरह की बातें बिल्कुल बर्दाश्त
नहीं करते. साथ ही यदि पुरुष मित्र को आप बहुत पसंद भी करती हों तो पति को न कहें, न ही उसका अधिक नाम लें. इससे भविष्य में कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती हैं.

3. पार्टी, फंक्शन, रिश्तेदारों के बीच, दोस्तों के साथ रहने पर उनके सामने पति की कमियों और बुरी आदतों का रोना रोने न लग जाएं. बहुत कम पति होते हैं, जो इन सब बातों को सहज ढंग से लेते हैं. लेकिन इससे जहां पति के मान-सम्मान को ठेस पहुंचती है, वहीं पति तनाव और हीनभावना के शिकार भी होते हैं.

4. अपने मायके और ससुराल के किसी व्यक्ति विशेष ख़ासकर ननद, देवर, बहन आदि की बुराई उनके सामने न करें. इससे कभी-कभी बात का बतंगड़ बन सकता है.

5. मुझे आप पर विश्‍वास नहीं रहा- इस तरह की बातें पति से न बोलें. पति-पत्नी का रिश्ता ही विश्‍वास की नींव पर टिका होता है. कहीं ऐसा न हो कि आपकी यह सोच रिश्तों में दरार पैदा कर दे.

6.पति को यह कभी न क़हें कि आप उन्हें पसंद नहीं करतीं या उनसे नफ़रत करती हैं. अक्सर पत्नियां झगड़ा होने या किसी भी तरह का वाद-विवाद होने पर पति को इस तरह के उलाहने देकर कोसती हैं. आपका इस तरह से कहना उन्हें आहत कर सकता है.

7. यदि आप पति से अधिक सुंदर हैं या फिर आपकी बेमेल जोड़ी है तो इस बात का गुरूर न करें. शादी-ब्याह और रिश्ते संजोग से बनते हैं. बात-बात पर आपका पति को नीचा दिखाना और अपनी ख़ूबसूरती का बखान करना उन्हें दुखी कर देगा. इससे वे डिप्रेशन के भी शिकार हो सकते हैं.

8. यदि आप कामकाजी हैं तो यक़ीनन ऑफ़िस में आपको तरह-तरह के लोगों को रोज़ाना हैंडल करना पड़ता होगा, अतः बेहतर होगा कि घर-ऑफ़िस को अलग-अलग रखें. न घर की बातें ऑफ़िस में, न ऑफ़िस की घर में, क्योंकि पति आपकी ऑफ़िस की समस्या को उतना समझ तो पाएंगे नहीं, बल्कि आपकी परेशानी से वे भी परेशान हो उठेंगे.

9. अपने उच्च पद और तनख़्वाह (यदि पति से अधिक) का पति पर रौब न जमाएं. हर इंसान का अपना कैलिबर होता है. आपका यह व्यवहार उन्हें कुंठित कर सकता है.

10. हमारे मायके में तो ऐसा नहीं होता था… अक्सर पतियों को अपनी पत्नियों से इस तरह के जुमले सुनने  को मिलते हैं. पत्नियां ससुराल के रीति-रिवाज़, क्रियाकलापों आदि की तुलना अपने मायके से करती रहती हैं, जिससे शायद हर पति पीड़ित रहता है. अधिकतर पति कहते नहीं, लेकिन ये सभी बातें उनके मन में चुभती ज़रूर हैं. अतः बेहतर होगा कि इस तरह की बातों से बचें.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको

यह भी पढ़ें:  क्या करें जब पति को हो जाए किसी से प्यार?

हेल्दी स्किन के 30+ सीक्रेट्स (30+ Secrets of Healthy Skin)

Secrets of Healthy Skin,Glowing skin,skin care secrets

Healthy Skin Tips

स्वस्थ त्वचा हमेशा ख़ूबसूरत नज़र आती है. अगर आप भी चाहती हैं हेल्दी, ब्यूटीफुल स्किन तो आज़माइए ये ब्यूटी सीक्रेट्स.

ख़ूब पानी पीएं
ख़ूबसूरत त्वचा पाने के लिए रोज़ाना 8-10 ग्लास पानी पीएं. इससे त्वचा खिली-निखरी नज़र आती है. साथ ही कील-मुंहासे होने की संभावना भी कम हो जाती है.

दो बार चेहरा अवश्य धोएं
त्वचा की सुरक्षा के लिए रोज़ाना दिन में दो बार चेहरा धोएं. वातावरण में मौजूद धूल-मिट्टी त्वचा के रोम छिद्रों को भर देती हैं, जिससे त्वचा खुलकर सांस नहीं ले पाती और चेहरे पर मुंहासे उभर आते हैं.

चेहरे को मॉश्‍चराइज़ करें
जब भी चेहरा धोएं, चेहरे को मॉइश्‍चराइज़ करना न भूलें. मॉश्‍चराइज़र से त्वचा की नमी बरक़रार रहती है और त्वचा नर्म-मुलायम तथा कोमल बनी रहती है.

रोज़ाना सनस्क्रीन लगाएं
तपती गर्मी हो या कड़कड़ाती सर्दी, घर से बाहर निकलने से पहले सनस्क्रीन ज़रूर लगाएं. सनस्क्रीन सूर्य से निकलने वाली हानिकारक किरणों से त्वचा की सुरक्षा करती है, जिससे चेहरे पर झाइयों के निशान जल्दी नहीं नज़र आते.

मेकअप उतारना न भूलें
रात में सोने से पहले मेकअप उतारना न भूलें. मेकअप की वजह से त्वचा खुलकर सांस नहीं ले पाती, जिससे त्वचा बेजान नज़र आती है. साथ ही लंबे समय तक चेहरे पर केमिकलयुक्त मेकअप लगा रहने से त्वचा को नुक़सान भी पहुंचता है.

बार-बार आईब्रोज़ करवाने से बचें
लगातार या बार-बार आईब्रोज़ करवाने की ग़लती न करें. ऐसा करने से न स़िर्फ आईब्रोज़ की ग्रोथ थम जाती है, बल्कि खिंचाव की वजह से चेहरे की त्वचा ढीली पड़ जाती है और आंखों के आसपास फाइन लाइन्स उभर आती हैं.

घरेलू नुस्ख़े
– कच्चे दूध में रूई भिगोकर चेहरे पर थपथपाते हुए लगाएं, 15 मिनट बाद चेहरा धो लें. ये बेहतरीन क्लींज़र का काम करता है.
– सेब के पतले-पतले स्लाइस पूरे चेहरे पर रखें. 15 मिनट के लिए छोड़ दें. ये स्किन से अतिरिक्त ऑयल खींच लेते हैं और रोमछिद्रों को बंद करने में मदद करते हैं.
– गुलाबजल में कपूर मिलाकर स्प्रे बॉटल में भरकर रखें. ये ऑयली और एक्ने वाली त्वचा के लिए बेहतरीन टोनर का काम करता है.
– एक टीस्पून शहद में नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर मसाज करें. इससे झुर्रियां नहीं पड़तीं और चेहरे पर निखार भी आता है.
– 1 टीस्पून चावल के आटे में आधा टीस्पून शहद मिलाएं और चेहरे पर लगाएं. आधे घंटे बाद चेहरा धो दें. झुर्रियां नहीं पड़ेंगी.
– संतरे के छिलके को धूप में सुखाकर बारीक़ पाउडर बनाएं. फिर इस पाउडर में एक टीस्पून दूध, थोड़ी-सी हल्दी और नींबू का रस मिलाकर पेस्ट बनाएं. इस पेस्ट को लगाने से चेहरे की रंगत निखरती है.
– केले में दूध मिलाकर मैश करें और चेहरे पर लगाएं. 20 मिनट बाद ठंडे पानी से चेहरा धो लें. त्वचा निखर जाएगी.
– नींबू का प्रभाव ब्लीच जैसा होता है, अतः त्वचा के डार्क हिस्सों में ताज़ा नींबू काटकर रगड़ें. इससे त्वचा का रंग धीरे-धीरे हल्का हो जाएगा.
– दूध में हल्दी और चंदन मिलाकर लेप तैयार करें. इस लेप को नियमित रूप से 1 हफ़्ते तक चेहरे पर लगाएं. इससे झाइयां और कालापन दूर होता है.
– 1 टीस्पून पिसी हुई दालचीनी में 1 टीस्पून नींबू का रस मिलाएं और मुंहासों पर लगाएं.
– कच्चे दूध में जायफल पाउडर मिलाकर पेस्ट बनाएं और मुंहासों पर लगाएं.
– मुल्तानी मिट्टी में नींबू का रस और गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर लगाएं. 10-15 मिनट बाद धो दें. दाग़-धब्बे धीरे-धीरे हल्के हो जाएंगे.
– पुदीने के पत्तों को पीसकर उसका रस चेहरे पर लगाएं. इससे दाग़-धब्बों से छुटकारा मिलता है.
– एलोवीरा का रस दिन में 2 बार चेहरे पर लगाने से दाग़-धब्बे हल्के होते हैं.
– पके हुए पपीते को अच्छी तरह मैश करके चेहरे और गर्दन पर लगाएं. सनटैन की समस्या दूर हो जाएगी.
– चेहरे पर हेल्दी ग्लो के लिए नींबू के रस में अंडे की जर्दी मिलाकर चेहरे पर लगाएं.
– कद्दूकस किए हुए कच्चे आलू का रस निकालकर चेहरे पर लगाएं. इससे टैन में फायदा होगा.
– जहां भी सनबर्न हुआ है, वहां रूई की मदद से दूध लगाएं. 15-20 मिनट बाद चेहरा धो लें.
– खीरे के रस में कॉटन बॉल्स डुबाकर आंखों पर रखें. डार्क सर्कल्स कम हो जाएंगे.
– आंखों की फफीनेस हटाने के लिए आलू को कद्दूकस कर लें और इसे मलमल के कपड़े में बांधकर आंखों पर 15 मिनट रखें.
– नाख़ूनों की चमक और स़फेदी बढ़ाने के लिए उन्हें कुछ देर के लिए नींबू के रस में डुबोकर रखें.
– 1 टीस्पून स्ट्रॉबेरी जूस और 2 टीस्पून पेट्रोलियम जेली मिलाकर रखें. इसे लिप बाम की तरह इस्तेमाल करें.