Senior Citizens financial g...

Senior-Citizens

वरिष्ठ नागरिकों (Senior Citizens) की उम्र, स्वास्थ्य और सहूलियत को ध्यान में रखते हुए सरकार ने उनके लिए कई सरकारी योजनाएं शुरू की हैं और कई सुविधाएं दी हैं. हम में से अधिकतर लोगों को इसकी सही व पूरी जानकारी नहीं होती है. यदि आप वरिष्ठ नागरिक हैं या आपके घर में भी कोई बुज़ुर्ग हैं, तो आप उनके लिए इन योजनाओं व सुविधाओं का लाभ उठा सकते हैं.

आयकर में मिलनेवाली छूट

1. 60 साल या उससे अधिक आयुवाले वरिष्ठ नागरिकों को आयकर विभाग विशेष छूट देता है. ऐसे वरिष्ठ नागरिकों की आय अगर तीन लाख रुपए तक है, तो वे ङ्गकरमुक्तफ की श्रेणी में आते हैं यानी उन्हें 3 लाख रुपए तक आय पर टैक्स देने की ज़रूरत नहीं है.

2. सुपर सीनियर सिटिज़न यानी जिन वरिष्ठ नागरिकों की उम्र 80 साल से अधिक है, उन्हें पांच लाख रुपए तक की आय पर कर देने की ज़रूरत नहीं है.

3. आयकर अधिनियम 1961 की धारा 80डी के तहत वरिष्ठ नागरिकों को हेल्थ इंश्योरेंस प्रीमियम पर 30 हज़ार रुपए तक छूट मिलती है.

4. अगर कोई वरिष्ठ नागरिक किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित है, तो वह धारा 80डीडीबी के अंतर्गत 60 हज़ार रुपए तक डिडक्शन का लाभ उठा सकते हैं. इसके अतिरिक्त सुपर सीनियर सिटिज़न के लिए यह सीमा बढ़ाकर 80 हज़ार रुपए तक की गई है.

यात्रा में मिलनेवाली छूट

  1. हवाई यात्राश्र 60 साल या उससे अधिक उम्रवाले वरिष्ठ नागरिक को अधिकतर सरकारी और निज़ी हवाई कंपनियां टिकट पर 50% की छूट देती हैं.

2. सभी हवाई कंपनियों के छूट के नियम व शर्तें अलग-अलग होती हैं. कुछ हवाई कंपनियां 65 साल पार कर चुके वरिष्ठ नागरिकों को 50% की छूट देती हैं, इसलिए टिकट लेते समय विभिन्न हवाई कंपनियों के छूट के नियम व शर्तों के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें. जहां पर ज़्यादा छूट व सुविधाएं मिलें, वहां से टिकट बुक कराएं.

रेल यात्रा

1.  भारतीय रेलवे ने भी वरिष्ठ नागरिकों को रेल यात्रा के दौरान विशेष सुविधाएं प्रदान की हैं. जिन पुरुष यात्रियों की आयु 60 साल या उससे अधिक है, तो उन्हें सभी क्लास की टिकटों पर 40% की छूट दी गई है. इसी तरह से महिला यात्रियों को, जिनकी आयु 58 साल या उससे अधिक है, उन्हें सभी क्लास की टिकटों पर 50% की छूट दी गई है.

2. वरिष्ठ नागरिकों के लिए सरकार ने टिकट रिज़र्वेशन काउंटर पर एक अलग टिकट काउंटर बनाए हैं, ताकि उन्हें बाकी लोगों की तरह लंबी-लंबी लाइनों में देर तक खड़ा न रहना पड़े.श्

3. सरकार ने मुख्य स्टेशनों पर वरिष्ठ नागरिकों के लिए व्हील चेयर की सुविधा भी प्रदान की है.

और भी पढ़ें: फिक्सड डिपॉज़िट से सुरक्षित करें भविष्य (Secure Your Future With Fixed Deposit)

बस यात्रा

  1. वरिष्ठ नागरिकों को सुविधा प्रदान करने हेतु कुछ राज्यों की सरकारों और वहां के नगर निगम पालिकाओं ने उन्हें बस किराए में रियायत दी है.
  2. यहां तक कि उनके लिए बस में कुछ सीटें भी आरक्षित की हैं.

ब्याज दर में मिलनेवाली छूट

  1. रिटायरमेंट के बाद वरिष्ठ नागरिक बैंक में फिक्स्ड डिपॉज़िट्स करना ज़्यादा पसंद करते हैं, ताकि फिक्स्ड डिपॉज़िट्स पर मिलनेवाले ब्याज से उन्हें अतिरिक्त आय हो सके.
  2. बैंक भी उनकी इस सुविधा को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर ऐसी योजनाएं लागू करते रहते हैं, जिससे वरिष्ठ नागरिकों को उनके द्वारा किए गए निवेश पर ज़्यादा से ज़्यादा ब्याज मिल सके.
  3. यदि किसी वरिष्ठ नागरिक को लोन की आवश्यकता है, तो बैंक उन्हें फिक्स्ड डिपॉज़िट पर लोन भी देते हैं. बैंक वरिष्ठ नागरिकों को सामान्य उपभोक्ताओं की तुलना में कम ब्याजदर पर लोन देते हैं.
  4. सभी बैंकों की ब्याज दर अलग-अलग होती है, इसलिए लोन लेने से पहले ब्याज दर से जुड़ी जानकारी प्राप्त कर लें.

विशेष योजनाओं में मिलनेवाली छूट

Senior Citizens Plans

सरकार ने बुज़ुर्गों के स्वास्थ्य और सहूलियत को ध्यान में रखकर कुछ सीनियर सिटिज़न वेलफेयर स्कीम्स (वरिष्ठ नागरिक कल्याणकारी योजनाएं) लागू की हैं, जो इस प्रकार से हैं-

1. नेशनल इंश्योरेंस कंपनी (राष्ट्रीय बीमा कंपनी) ने 60-80 आयुवाले वरिष्ठ नागरिकों के लिए ङ्गवरिष्ठ मेडिक्लेम पॉलिसीफ प्रदान की है. इसके अंतर्गत अस्पताल में भर्ती होने के लिए अधिकतम बीमा राशि एक लाख रुपए और गंभीर बीमारी के लिए अधिकतम बीमा राशि दो लाख रुपए है.

2. एलआईसी ने भी वरिष्ठ नागरिकों के लिए ङ्गवरिष्ठ पेंशन बीमा योजना 2017फ लागू की है. 60 साल या उससे अधिक आयुवाले वरिष्ठ नागरिक इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. इस योजना के अंतर्गत एलआईसी गारंटी के साथ 10 साल के लिए 8% रिटर्न उपलब्ध कराएगी. वरिष्ठ नागरिक इस पेंशन योजना में साढ़े सात लाख रुपए का निवेश कर सकते हैं. वे मासिक, तिमाही, छमाही और सालाना आधार पर भुगतान का विकल्प चुन सकते हैं.

3. केंद्र सरकार ने बुज़ुर्गों के लिए “प्रधानमंत्री वय वंदन योजना’ शुरू की है. वरिष्ठ नागरिकों के लिए शुरू की गई इस योजना में 60 साल या उससे अधिक आयुवाले नागरिक निवेश कर सकते हैं. बुज़ुर्ग निवेशक इस योजना में 15 लाख रुपए तक निवेश कर सकते हैं. इसके अंतर्गत उन्हें 10 साल तक 8% सालाना रिटर्न की गांरटी के साथ पेंशन दी जाती है. बुज़ुर्ग निवेशक मासिक, तिमाही, छमाही या सालाना आधार पर पेंशन ले सकते हैं. इस योजना के तहत बुज़ुर्गों को 10 साल की अवधि तक न्यूनतम एक हज़ार रुपए मासिक पेंशन की गारंटी है.

टेलीफोन बिल पर मिलनेवाली छूट

  1. बीएसएनएल में 65 साल से अधिक उम्रवाले वरिष्ठ नागरिक प्राथमिकता के आधार पर टेलीफोन के पंजीकरण कराने के पात्र हैं.
  2. वरिष्ठ नागरिक अगर अपने नाम पर टेलीफोन का पंजीकरण कराते हैं, तो उन पर कोई पंजीकरण शुल्क नहीं लगेगा.
  3. एमटीएनएल लैंडलाइन टेलीफोन लगाने के लिए 65 साल से अधिक उम्रवाले बुज़ुर्गों के लिए इंस्टॉलेशन चार्जेस और उसके मासिक सेवा शुल्क पर 25% की छूट है.

वरिष्ठ नागरिकों को मिलनेवाली कुछ अन्य सुविधाएं

1. बैंकों में नक़द जमा कराने और निकालने के लिए बुज़ुर्गों के लिए अलग से लाइनें हैं. श्

2. अधिकतर बैंकों में बुज़र्गों के लिए विशेष खाते हैं, जिनमें उनके लिए वरिष्ठ नागरिक कार्ड जारी करने, ज़्यादा ब्याज दर, शाखाओं में प्राथमिक सेवा आदि जैसी सेवाएं उपलब्ध हैं.

3. 60 वर्ष से अधिक आयुवाले वरिष्ठ नागरिक अपने मामले की अधिमान्य (पहले) सुनवाई के लिए अदालत से अपील कर सकते हैं.

4. पासपोर्ट विभाग वरिष्ठ नागरिकों को पोस्ट पासपोर्ट वेरिफिकेशन के आधार पर पासपोर्ट जारी कर सकता है. अगर वे अपने आवेदन पत्र के साथ एक अतिरिक्त दस्तावेज के तौर पर विदेश में रहनेवाले अपने बच्चे (18 साल से अधिक) के पासपोर्ट की एक प्रति जमा कराएं तो.

5. सरकारी अस्पतालों में डॉक्टर को दिखाने के लिए कराए जानेवाले पंजीकरण और जांच कराने के लिए बुज़ुर्गों की अलग से कतारें हैं. उन्हें सामान्य मरीज़ों के साथ कतार में लगने की ज़रूरत नहीं है.

कुल मिलाकर कह सकते हैं कि ये ‘लाभ’ यह सुनिश्‍चित करते हैं कि वरिष्ठ नागरिकों को सेवानिवृत्ति के दौरान आर्थिक रूप से निराश होने की ज़रूरत नहीं है, साथ ही ये ‘लाभ’ इस बात का भी अहसास कराते हैं कि वे किसी पर आर्थिक रूप से निर्भर नहीं हैं.

और भी पढ़ें:  जानें पोस्ट ऑफिस की 9 स्कीमों के बारे में (9 Post Office Schemes You Must Be Aware Of)

– पूनम नागेंद्र शर्मा