Tag Archives: sex and romance

सेक्सुअल पावर बढ़ाने की अमेज़िंग किचन रेमेडीज़ (Amazing Kitchen Remedies To Increase Sexual Stamina)

How to Increase Sexual Stamina

सुखी वैवाहिक जीवन के लिए सेक्स लाइफ का हेल्दी होना बहुत ज़रूरी है. यदि किन्हीं कारणों से आपकी सेक्सुअल लाइफ में पहले जैसी गर्माहट नहीं रह गई, तो परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. किचन में मौजूद आसानी से उपलब्ध खाद्य पदार्थोंं की मदद से आप अपनी बेजान सेक्स लाइफ में नई ऊर्जा का संचार कर सकते हैं.

How to Increase Sexual Stamina

–     सेब न सिर्फ़ हमें बीमारियों से बचाता है, बल्कि शहद के साथ सेब का सेवन करने से कामेच्छा जागृत होती है. इसके लिए एक सेब को छीलकर काट लें और मिक्सी में ब्लेंड करें. इसमें 1 टीस्पून शहद, 3-4 बूंद गुलाबजल, चुटकीभर केसर, चुटकीभर जायफल और चुटकीभर इलायची पाउडर डालकर अच्छी तरह मिलाएं. इस सेक्स टॉनिक को खाना खाने के आधा घंटे बाद लें और इसे लेने के बाद चार घंटे तक दूध, दही या मछली का सेवन न करें.

–     आंवला में पर्याप्त मात्रा में आयरन, ज़िंक और विटामिन सी पाया जाता है, जो न स़िर्फ सेहत के लिए फ़ायदेमंद होता है, बल्कि कामोत्तेजना बढ़ाने में भी मदद करता है. दो टेबलस्पून आंवले के रस में एक टीस्पून सूखे आंवले का पाउडर व एक टेबलस्पून शुद्ध शहद मिलाकर दिन में दो बार खाएं. इस नुस्ख़े केइस्तेमाल से आपका और आपके पार्टनर दोनों का सेक्स पावर धीरे-धीरे बढ़ने लगेगा.

–     कामेच्छा बढ़ाने में बादाम भी बेहद फ़ायदेमंद होता है. बादाम को दूध में मिलाकर नियमित सेवन करें. इसके लिए 10 बादाम को रात में पानी में भिगो दें. सुबह छीलकर खाएं या बादाम का दूध बनाकर पीएं. दूध बनाने के लिए भिगोए हुए बादाम को छील लें. एक कप दूध में छिले हुए बादाम, चुटकीभर केसर, चुटकीभर जायफल, स्वादानुसार शक्कर मिलाकर मिक्सी में ब्लेंड करें.

–     लो सेक्स ड्राइव के मामले में खजूर का सेवन करने से फ़ायदा होता है. इसके लिए 10 ताज़े खजूर को एक कटोरी घी में भिगो दें. इसमें एक टीस्पून सोंठ पाउडर, आधा टीस्पून इलायची पाउडर और चुटकीभर केसर मिलाएं. इस मिश्रण को जार में डालें और जार का मुंह ढंककर किसी गर्म स्थान पर 12 दिन के लिए रख दें. रोज़ाना सुबह इस मिश्रण का सेवन करें.

–     प्याज़ और लहसुन कामेच्छा बढ़ाने में प्रभावी हैं. एक टेबलस्पून प्याज़ के रस में एक टीस्पून लहसुन का रस मिलाएं. इस मिश्रण को रोज़ाना खाली पेट शहद के साथ पीएं.

–     यौन रोग, स्वप्नदोष, सेक्स डिज़ायर में कमी, शीघ्रपतन, कमज़ोरी, थकान… आदि किसी भी तरह की सेक्सुअल समस्या को दूर करने के लिए स़फेद प्याज़ बेहद कारगर होता है. 10 मिलीग्राम स़फेद प्याज़ के रस में उतनी ही मात्रा में  शहद, अदरक का रस और घी मिलाकर रोज़ाना पीने से कामेच्छा बढ़ती है.

यह भी पढ़ें: सेक्स लाइफ का राशि कनेक्शन (What Does Your Zodiac Sign Say About Your Sex Life?)

How to Increase Sexual Stamina

–     सेक्सुअल पावर बढ़ाने में कालीमिर्चवाला दूध बहुत लाभकारी होता है. इसके लिए एक ग्लास गर्म दूध में एक चौथाई टीस्पून कालीमिर्च पाउडर मिलाकर सोने से पहले पीएं. इससे शारीरिक शक्ति बढ़ेगी और आप व आपके पति सेक्स को ज़्यादा समय तक एंजॉय कर पाएंगे.

–     यौन शक्ति बढ़ाने में जायफल बेहद असरकारी होता है. रोज़ सुबह पानी के साथ एक ग्राम जायफल पाउडर का सेवन करें. इससे काफ़ी फ़ायदा होगा.

–     अजवायन भी सेक्स इच्छा बढ़ाने में मदद करती है. दरअसल अजवायन में एंड्रोस्टेरोन होता है, जो एक तरह  का सेक्स हार्मोन है. इसलिए इसके इस्तेमाल से कामेच्छा जागती है.

–     सेक्स पावर बढ़ाना हो, तो सुबह-शाम दूध के साथ दो ग्राम दालचीनी पाउडर का सेवन करें.

–     उड़द की दाल का इस्तेमाल यौन शक्ति के लिए किया जाता है. आधा टेबलस्पून  उड़द की दाल को कौंच के साथ पीसकर सुबह-शाम लेने से सेक्स पावर बढ़ता है.

–     30 ग्राम काली किशमिश को 200 मिलीलीटर दूध में उबालकर रोज़ाना सुबह-शाम सेवन करने से शारीरिक शक्ति के साथ-साथ कामेच्छा में भी वृद्धि होगी.

–    सेक्सुअल स्टैमिना बढ़ाने में गाजर बेहद कारगर है. इसके लिए 150 ग्राम गाजर को बारीक़ काट लें. इसमें आधा उबला हुआ अंडा और एक टेबलस्पून शहद मिलाकर रोज़ाना दिन में एक बार खाएं.

– शिल्पी शर्मा

यह भी पढ़ें: कितना फ़ायदेमंद है हस्तमैथुन? (Health Benefits Of Masturbation)

यह भी पढ़ें: जानें सुबह के वक़्त सेक्स के 5 फ़ायदे (5 Health Benefits Of Morning Sex)

हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए बेस्ट योगासन (Best Yogasan For Healthy Sex Life)

धर्म, अर्थ, काम (सेक्स) और मोक्ष- ये चार पुरुषार्थ कहे गए हैं. इन्ही चारों की प्राप्ति के लिए हर मनुष्य प्रयत्नशील रहता है. यह तभी संभव है, जब शरीर और मन पूर्ण रूप सें स्वस्थ (Health) हों, क्योंकि शरीर के स्वास्थ्य से ही अर्थ, काम (सेक्स) जैसे लौकिक कार्यों का संपादन होता है. अस्वस्थ तन-मन से न तो धनोपार्जन किया जा सकता है और न ही यौन सुख प्राप्त किया जा सकता है. शरीर की पुष्टी, अंगों की दृढ़ता, मन और इंद्रियों की प्रसन्नता, शरीर की आरोग्यता आदि योग और यौगिक क्रियाओं से ही संभव है. योग (Yoga) मन और शरीर को स्वस्थ करने के साथ-साथ उनकी कार्यक्षमता भी बढ़ाता है. योग से ही मानसिक शक्ति का विकास होता है. मन ही काम (सेक्स) का नियंत्रक और संचालक है. स्वस्थ मन और स्वस्थ शरीर से ही सही मायने में यौन-आनंद प्राप्त किया जा सकता है.

Yogasan For Healthy Sex Life
यौनांगों को विकारमुक्त रखता है योग

– शरीर का मध्य  भाग काम-ऊर्जा से संबंधित है. यदि शरीर का यह भाग पूर्णतया विकसित न हो अथवा विकारग्रस्त हो तो सेक्स क्रिया का संपादन संभव नहीं है. शरीर स्वस्थ भी हो और पूर्णतया विकसित भी हो, ये योग से ही संभव है. योग में प्राय: अधिकांश आसन ऐसे हैं, जो शरीर के मध्य भाग पर किसी न किसी रूप में सीधा प्रभाव डालते हैं, चाहे वह सूर्य नमस्कार हो, उत्तानपादासन हो, भुजंगासन हो अथवा पवनमुक्तासन- ऐसे अनेक यौगिक आसन शरीर के मध्य भाग को स्वस्थ और सशक्त बनाकर सेक्स शक्ति
बढ़ाते हैं.

– वैज्ञानिक शोधों से भी पता चला है कि यौगिक आसनों से यौन विकारों का शमन तथा प्रजनन अंगों की पुष्टी होती है. यूनिवर्सिटी ऑफ़ टेक्सास की सायकोलॉजिस्ट सिंडी मेस्टन के अनुसार, योगासन करने से महिलाओं के दिल की धड़कन और रक्त प्रवाह में जो तेज़ी आती है, उसका सीधा प्रभाव योनि पर भी पड़ता है, जिसके कारण योनि की मांसपेशियों में रक्तसंचार बढ़ जाता है. इसलिए योग करने वाली स्त्रियों की सेक्स क्षमता आम स्त्रियों से  बेहतर होती है.

– कुछ लोग मन की दुर्बलता के कारण नपुंसकता महसूस करते हैं, उनके लिए योगासन किसी वरदान से कम नहीं, क्योंकि योगासन से मन के सभी विकार दूर हो जाते हैं और वह शक्तिशाली बनता है. हाल ही में हुए अध्ययनों से पता चला है कि जो पुरुष नियमित रूप से योगासन करते हैं, उनके नपुंसक होने की आशंका तीन गुना कम हो जाती है. यह अध्ययन अमेरिका के मेसाच्यूसेट्स के एक शोध संस्थान में किया गया.

कामग्रंथियों पर योगासनों का प्रभाव

– योग हमारे सेक्स जीवन पर किस प्रकार प्रभाव डालता है, ये जानने के लिए शरीर स्थित ग्लैंड्युलर सिस्टम (ग्रंथियों की कार्य प्रणाली) को जान लेना ज़रूरी है, क्योंकि ये ग्रंथियां ही यौनशक्ति और सेहत के लिए ज़िम्मेदार हैं. इन्हें ङ्गएन्डोक्राइन ग्लैंड्सफ कहते हैं.

– ये ग्रंथियां ऐसे हार्मोंस का स्राव करती हैं, जिनसे शरीर की अधिकांश क्रियाएं नियंत्रित होती हैं. इन्हीं में से कुछ काम ग्रंथियां हैं (स्त्रियों मे डिंब ग्रंथि और पुरुषों में वृषण ग्रंथि), जिनसे सेक्स हार्मोंस का स्राव होता है. इन्हीं ग्रंथियों पर हमारा सेक्सुअल हेल्थ निर्भर है. यह तभी संभव है, जब ये ग्रंथियां स्वस्थ और विकार रहित हों.

– ग्रंथियों को विकारहित और स्वस्थ रखने में योग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. हलासन, सेतुबंध, सर्वांगासन, शीर्षासन ऐसे आसन हैं, जिनके अभ्यास से ग्रंथियों की कार्यप्रणाली दुरुस्त बनी रहती है, जिससे हार्मोंस का स्राव सुचारु रूप से होता है – न कम और न अधिक. यही कारण है कि यौगिक आसनों के अभ्यास से जहां अतिकामुकता पर नियंत्रण होता है, वहीं कामशीतलता की स्थिति में कामेच्छा भी जागृत होती है.

– सामान्यत: जहां यौगिक आसन हमारे शरीर में प्राणशक्ति एवं लचीलापन बढ़ाकर हमें यौन दृष्टी से स्वस्थ रखते हैं, वहीं दूसरी ओर कुछ विशेष यौगिक मुद्राएं एवं बंध हैं, जो हमारी खोई हुई यौनशक्ति को पुन: प्राप्त करने में हमारी सहायता करते हैं, जैसे – महामुद्रा, उद्दीय मुद्रा, अश्‍विनी मुद्रा, मूलबंध, जालंधर बंध आदि. ये मुद्राएं कामेच्छा को बढ़ाकर शरीर में यौन ग्रंथियों एवं प्रजनन अंगों को दृढ़ता तथा उत्तेजना प्रदान करती हैंै. पेल्विक और स्पाइन को भी गतिशीलता एवं लचीलापन प्रदान करने के साथ-साथ ये मुद्राएं शीघ्रपतन, मासिक रक्तस्राव एवं मेनोपॉज़ में आने वाली कठिनाइयों, प्रोस्टेट ग्रंथि का बढ़ जाना, स्त्रियों में कामशीतलता तथा पुरुषों में नपुंसकता आदि विकारों को रोकने में भी सहायक होती हैं.

सेक्सुअल हेल्थ में कुछ उपयोगी आसन

काम की उत्तेजना के लिए कोई विशेष आसन नहीं है. यौगिक आसनों का काम यही है कि वे यौन संस्थानों को स्वस्थ और शरीर के अंग-प्रत्यंगों को शक्तिवान बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. इससे जहां कामशक्ति व्यवस्थित होती है, वहीं यौन रोगों से मुक्ति मिलती है. ऐसे ही कुछ आसन यहां दिए जा रहे हैं, जो हमारे सेक्सुअल हेल्थ को बढ़ाते हैं.

यह भी पढ़ें: 5 ग़लतियां जो महिलाएं सेक्स के दौरान करती हैं (5 Mistakes Women Make In Bed)

Yogasan For Healthy Sex

चक्रासन

–     पीठ के बल लेटकर घुटनों को मोड़ें. एड़ियां नितंबों के समीप लगी हुई हों.

–     दोनों हाथों को उल्टा करके कंधों के पीछे थोड़े अंतर पर रखें. इससे संतुलन बना रहता है.

–     सांस अंदर भरकर कमर एवं छाती को ऊपर उठाएं.

–     धीरे-धीरे हाथ एवं पैरों को समीप लाने का प्रयत्न करें, जिससे शरीर की चक्र जैसी आकृति बन जाए.

–     आसन छोड़ते समय शरीर को ढीला करते हुए कमर ज़मीन पर टिका दें. यह क्रिया 3-4 बार करें.

यह आसन करने से कामशक्ति बढ़ती है. थायरॉइड, थायमस तथा काम ग्रंथियां उत्प्रेरित होती हैं, जिससे हार्मोंस का स्त्राव संतुलित ढंग से होता है. महिलाओं के डिंबाशय और गर्भाशय को अत्याधिक प्रभावित कर यह आसन उनके समस्त रोगों को दूर करता है. बच्चियों और किशोरियों को यह आसन अवश्य करना चाहिए, क्योंकि इससे उनके जननांगों एवं स्तनों का उचित विकास होता है.

यह भी पढ़ें: माथे पर क्यों किस करते हैं पार्टनर्स? (What It Means When Partner Kisses On Forehead?)

Yogasan For Sex
जानुशिरासन

–   दण्डासन में बैठकर दाएं पैर को मोड़कर पंजे को बाएं जंघा के मूल में लगाएं और एड़ी को सिवनी (उपस्थ व गुदाभाग के बीच का भाग) से सटाकर रखें.

–    दोनों हाथों से बाएं पैर के पंजे को पकड़कर सांस बाहर निकालकर सिर को घुटने से लगाएं. थोड़ी देर रुकने के पश्‍चात् सांस लेते हुए ऊपर उठ जाएं और दूसरे पैर से भी इसी प्रकार दोहराएं.

सेक्स के प्रति उदासीन स्त्रियों में इस आसन से कामवासना जागृत होती है. स्त्री-पुरुष दोनों के यौनांग बलवान होते हैं.

Yogasan For Healthy Sex Life
सुप्त वज्रासन

–     वज्रासन में बैठकर हाथों को पीछे की तरफ़ रखकर उनकी सहायता से शरीर को पीछे झुकाते हुए ज़मीन पर सिर को टिका दें. घुटने मिले हुए तथा ज़मीन पर टिके हुए हों.

–     धीरे-धीरे कंधे, गले और पीठ को भी ज़मीन पर टिकाने की कोशिश करें. हाथों को जंघाओं पर सीधा रखें.

–    आसन को छोड़ते समय कोहनियों और हाथों का सहारा लेते हुए वज्रासन में बैठ जाएं.

इससे स्त्रियों का योनि प्रदेश मज़बूत होता है तथा उन्हें प्रसव के समय अधिक पीड़ा नहीं होती. स्त्री-पुरुष दोनों की जांघें मज़बूत होती हैं. सेक्स संबंध में यह आसन बहुत उपयोगी है.

इनके अतिरिक्त और भी अनेक आसन और मुद्राएं हैं, जो यौनांगों के विकारों को दूर कर उन्हें सबल और क्रियाशील बनाते हैं. ये आसन कामशक्ति को बढ़ाने के साथ-साथ उसे संतुलित और नियंत्रित भी करते हैं. लेकिन इन आसनों का अभ्यास किसी योग विशेषज्ञ गुरु के निर्देशन में करने से ही समुचित लाभ उठाया जा सकता है.

– आलोक शुक्ल

यह भी पढ़ें: जानें वो 10 कारण जो आपको ऑर्गैज़्म से वंचित रख रहे हैं? (10 Reasons You’re Not Having An Orgasm)

5 ग़लतियां जो महिलाएं सेक्स के दौरान करती हैं (5 Mistakes Women Make In Bed)

हर महिला (Woman) चाहती है कि उसका दांपत्य जीवन रोमांच से भरपूर रहे, लेकिन इसके लिए सारी मेहनत पति (Husband) करें, उन्हें अपनी तरफ से एफर्ट लेना न पड़े. इस चक्कर में उनकी सेक्स लाइफ (Sex Life) भी प्रभावित होती हैं और उनकी अपनी भावनाएं पूरी नहीं हो पातीं. जानें वो कौन-सी ऐसी ग़लतियां (Mistakes) हैं, जो महिलाएं सेक्स के दौरान करती हैं और जिसके कारण उनकी सेक्स लाइफ बुरी तरह प्रभावित हो सकती है. अगर आप भी ये ग़लतियां करती हैं, तो आज ही इन्हें सुधार लें.

Mistakes Women Make In Bed

1. पति को ख़ुद ही पहल करना चाहिए

अक्सर महिलाएं ये सोचकर पहल नहीं करतीं कि ये तो उनके पार्टनर का काम है. वे सोचती हैं कि सेक्स में वे क्या चाहती हैं, उनके पार्टनर को ख़ुद ही समझ जाना चाहिए और वे अपने दिल की बात कहती नहीं, लेकिन ये सोच बिल्कुल ही ग़लत है. आप क्या चाहती हैं, ये आप जब तक बताएंगी नहीं तब तक वे कैसे समझ पाएंगे? इसलिए बेहतर होगा कि आप खुलकर उन्हें अपनी चाहत के बारे में बताएं. अगर इसमें शर्म महसूस हो तो व्यवहार व इशारों में उन्हें समझाएं.

2. वे आपके दिल की बात नहीं समझते

अक्सर पुरुष सेक्स में जल्दबाज़ी करते हैं और स्त्रियों की चाहत ङ्गकुछ औरफ की होती है. पुरुष फोरप्ले में ़ज़्यादा व़क़्त नहीं लगाते, जबकि स्त्रियों के लिए फोरप्ले ज़रूरी होता है. अगर आपके पार्टनर को ये बात नहीं पता तो उन्हें बताएं कि सेक्स के पहले फोरप्ले आपके लिए कितना आनंददायक होता है. फोरप्ले के दौरान कुछ नया करें और उन्हें बताएं कि उन्हें भी कुछ ऐसा ही करना चाहिए. एक बार उन्होंने आपकी ज़रूरत समझ ली तो यक़ीनन वे आपकी हर इच्छा पूरी करने की कोशिश करेंगे और आपका सेक्स जीवन और भी आनंददायक बन जाएगा.

3. अपने शरीर को लेकर हीनभावना

महिलाएं ये बात नहीं मानतीं, लेकिन ये सच है कि वे अपने शरीर   को लेकर हीनभावना से ग्रस्त रहती हैं और सेक्स के दौरान भरसक कोशिश करती हैं कि उनका पार्टनर उनके इन अंगों को देखने न पाए और इस बात से वो कई बार चिढ़ जाता है. अगर आप भी ऐसा ही सोचती हैं और ये आश्‍वासन चाहती हैं कि आपकी बॉडी पऱफेक्ट है तो उनसे खुलकर पूछें कि मैं अपने अंगों को लेकर इनसिक्योर महसूस करती हूं. क्या आपको ये आकर्षक लगते हैं?

यह भी पढ़ें: हर किसी को जाननी चाहिए सेक्स से ज़ुड़ी ये 35 रोचक बातें (35 Interesting Facts About Sex)

Mistakes Women Make

4. सेक्स के लिए हमेशा नाना कहना

सेक्स के मामले में ये हमारे यहां पहले से ही होता आया है. पुरुष ङ्गहां-हांफ करते जाएंगे और महिलाएं ङ्गना-नाफ. लेकिन सेक्स के लिए हमेशा ऐसा करना ठीक नहीं है, बल्कि कभी-कभी उल्टा भी होना चाहिए. सेक्स की पहल आपकी तरफ़ से भी होनी चाहिए और उस शाम के लिए आपकी तरफ़ से ख़ास तैयारी होनी चाहिए, ताकि वो शाम ख़ास बन जाए.

5. सेक्स के बाद पार्टनर से व्यवहार

अक्सर महिलाएं सेक्स के बाद ङ्गतुम तो बड़े बेशर्म हो….बच्चे इतने बड़े हो गए, लेकिन तुम्हारी आदतें नहीं बदलीं…फ जैसी बातें कहकर अपने पार्टनर का मूड ऑफ़ कर देती हैं, लेकिन ऐसा करना ठीक नहीं. ध्यान रखें कि सेक्स जीवन का ज़रूरी हिस्सा है और स्वस्थ और आनंददायक जीवन के लिए महत्वपूर्ण भी.

यह भी पढ़ें: माथे पर क्यों किस करते हैं पार्टनर्स? (What It Means When Partner Kisses On Forehead?)

जानें वो 10 कारण जो आपको ऑर्गैज़्म से वंचित रख रहे हैं? (10 Reasons You’re Not Having An Orgasm)

सेक्स (Sex) और रोमांस (Romance) का इतना एक्सपोज़र होने के बावजूद आज भी बहुत-सी ऐसी महिलाएं (Women) है, जो ऑर्गैज़्म (Orgasm) से वंचित रह जाती हैं. ऑर्गैज़्म न आने के कई कारण हैं, पर ज़्यादातर मामलों में देखा गया है कि महिलाएं ख़ुद इसके लिए कोई ख़ास कोशिश नहीं करतीं. ऑर्गैज़्म एक ऐसा एहसास है, जो न स़िर्फ महिलाओं को आत्मिक सुख का एहसास कराता है, बल्कि उन्हें पूर्णता का एहसास भी कराता है. अपनी शादीशुदा ज़िंदगी को और रोमानी बनाना चाहती है, तो ऑर्गैज़्म बहुत ज़रूरी है. तो फिर ऐसा क्या है, जो आपको इस एहसास से वंचित रख रहा है, आइए जानते हैं.

Reasons Of Not Having An Orgasm

1. आप डेस्क जॉब करती हैं

लगातार बैठकर काम करनेवाली महिलाओं की पेल्विक मसल्स शॉर्ट होने लगती हैं, जिससे उन्हें पेल्विक पेन होता है. पेल्विक पेन आपके ऑर्गैज़्म में बाधा बनता है. इसके लिए मैरिज काउंसलर और सेक्स थेरेपस्टिस्ट काम के दौरान हर आधे घंटे में अपनी सीट से उठने की सलाह देते हैं. बीच-बीच में ये ब्रेक आपकी पेल्विक मसल्स को मज़बूती प्रदान करते हैं.  स्न्वैट्स और बटरफ्लाई एक्सरसाइज़ेस पेल्विक मसल्स की मज़बूती के लिए बेस्ट हैं.

2. बहुत ज़्यादा हाई हील्स पहनती हैं

हाई हील्स पहनना न स़िर्फ आपके पैरों में दर्द का कारण बनता है, बल्कि यह आपको ऑर्गैज़्म से भी वंचित रख सकता है. दरअसरल, पैरों की सोअस मसल्स पेल्विक नर्व्स से जुड़ी होती हैं, जिनके डैमेज होने से ऑगैऱ्ज्मवाला सिग्नल आप तक जल्दी नहीं पहुंचता. इसलिए ज़रूरी है कि आप अपने सोअस मसल्स को ध्यान में रखते हुए बहुत ज़्यादा हाई हील्स न पहनें और न ही बहुत ज़्यादा देर तक पहनें.

3. पानी कम पीती हैं

पानी की कमी से न स़िर्फ रोज़मर्रा की हेल्थ प्रॉब्लम्स, जैसे- कब्ज़ और थकान की समस्या होती है, बल्कि यह आपके ऑर्गैज़्म को भी प्रभावित करता है. आपके शरीर में मौजूद अरॉउज़ल टिश्यूज़ को बेहतर ढंग से काम करने के लिए फ्लूइड की ज़रूरत होती है, जिसकी पूर्ति शरीर को हाइड्रेटेड रखकर ही की जा सकती है. अगर आप डिहाइड्रेशन का शिकार हैं, तो आपके लिए ऑगैऱ्ज्म पाना और भी मुश्किल हो जाता है. इसलिए कोशिश करें कि रोज़ाना 7-8 ग्लास पानी ज़रूर पीएं.

4. सेक्स के दौरान चुप रहना

शायद आपको यह बात पता नहीं होगी कि सेक्स के दौरान की चुप्पी आपको ऑर्गैज़्म से वंचित रख सकती है. अगर सेक्स के दौरान आप आवाज़ नहीं करतीं या सिसकारी नहीं भरतीं, तो ऑर्गैज़्म मिलने में आपको काफ़ी व़क्त लगता है. अगर सेक्स के दौरान आप आवाज़ करती हैं, तो आपको ऑर्गैज़्म जल्दी और लंबे समय तक मिलता है.

 

5. दवाइयां हैं ज़िम्मेदार

दवाइयों में मौजूद प्रोलैक्टिन एक ऐसा तत्व है, जो आपकी सेक्स ड्राइव को कमज़ोर बनाता है. इसके लगातार इस्तेमाल से महिलाओं में सेक्स में रुचि कम हो जाती है. अगर आप भी लंबे समय से ब्लड प्रेशर की दवाइयां, बर्थ कंट्रोल पिल्स या फिर एंटीडिप्रेसेंट का इस्तेमाल कर रही हैं, तो समझ जाएं कि आपके और आपके ऑर्गैज़्म के बीच कौन दुश्मन बनकर खड़ा है. ऐसी स्थिति से निपटने के लिए सेक्स थेरेपिस्ट महिलाओं को लुब्रिकेंट इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं.

यह भी पढ़ें: जानें सुबह के वक़्त सेक्स के 5 फ़ायदे (5 Health Benefits Of Morning Sex)

Orgasm
6. ऑक्सीटॉसिन लेवल बहुत कम है

एक्सपर्ट्स के मुताबिक ऑर्गैज़्म के लिए ‘फील गुड’ या ‘लव हार्मोन’ कहा जानेवाला ऑक्सीटॉसिन हार्मोन का लेवल बहुत मायने रखता है. अगर आपके शरीर में इसका लेवल कम है, तो आपको ऑर्गैज़्म मिलने में मुश्किल होती है. ऑक्सीटॉसिन की कमी का कारण स्ट्रेस है, जो आजकल अमूनन हर किसी को परेशान करता है. पार्टनर के साथ ज़्यादा से ज़्यादा व़क्त बिताना, किसिंग और हगिंग इस हार्मोन के प्रोडक्शन को बढ़ाने में मदद करता है.

7. ब्लैडर का फुल रहना

जिस तरह सेक्स के बाद यूरिन पास करना आपको यूरिनरी ट्रैक्ट से बचा सकता है, ठीक उसी तरह सेक्स से पहले ब्लैडर खाली करके आप ऑर्गैज़्म जल्दी पा सकती हैं. ब्लैडर फुल होने पर ऑर्गैज़्म की फीलिंग जल्दी नहीं आती. ख़ासतौर से महिलाएं संबंध बनाने से पहले यूरिन पास करें, ताकि ब्लैडर खाली रहे और आप उस व़क्त को एंजॉय कर सकें.

8. आप मास्टरबेशन नहीं करतीं

आज भी बहुत-सी महिलाएं इसे ग़लत मानती हैं, जिसका सीधा असर उनकी सेक्स लाइफ और उनके ऑर्गैज़्म पर पड़ता है. मास्टरबेशन एक ऐसी प्रक्रिया है जसिके ज़रिए आप ख़ुद को संतुष्ट करती हैं. मास्टरबेशन के दौरान आपकी फैंटसीज़ चरम पर होती हैं और आप खुद को संतुष्ट करने के लिए अपनी बॉडी को बेहतर समझती हैं, जो पार्टनर के साथ सेक्स करते वक़्त आपको ऑर्गैज़्म दिलाने में आपको मदद करता है. एक्सपर्ट भी सप्ताह में एक बार मास्टरबेशन की सलाह देते हैं.

9. पार्टनर को अपनी फैंटसीज़ नहीं बतातीं

यह भी एक कारण है कि आप ऑर्गैज़्म तक नहीं पहुंच पातीं. आप क्या चाहती हैं, क्या नहीं चाहती इस बारे में पार्टनर को खुलकर्र नहीं बतातीं। आपको दर है कि कहीं वो आपको ग़लत न समझ ले. पर ज़रूरी नहीं ऐसा हो. हो सकता है उसे अच्छा लगे कि आपने अपने दिल की बात उनसे कही. जब आपकी फैंटसीज़ पूरी होंगी, तो आपको ऑर्गैज़्म मिलना ही है.

10.  दिमाग़ ही दुश्मन है

आपने अपने दिमाग में यह बात बिठा ली है कि ऑर्गज़्म आपके लिए नहीं बना है. अगर शादी के इतने सालों में इसका एहसास नहीं हुआ तो, अब कभी नहीं होगा. लेकिन ऐसा है नहीं, हो सकता है, आपने इसके लिए कोशिश ही नहीं की. महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले ऑर्गैज़्म मिलने में थोड़ा समय लगता है और यह बात बहुत काम पुरुषों को पता होती है. महिलाओं को भी उस सुख का एहसास हो इसके लिए महिलाओं को ही पहल करनी होगी. आप टॉप पोज़िशन ट्राय करें आपको इसका जल्द एहसास होगा.

 

 – अनीता सिंह   

यह भी पढ़ें: माथे पर क्यों किस करते हैं पार्टनर्स? (What It Means When Partner Kisses On Forehead?)

यह भी पढ़ें: कितना फ़ायदेमंद है हस्तमैथुन? (Health Benefits Of Masturbation)

जानें परफेक्ट सेक्स पार्टनर की 5 ख़ूबियां (5 Signs Of Perfect Sex Partner)

सेक्स (Sex) एक कला (Art) है और ज़रूरी नहीं की हर कोई इस कला में पारंगत हो, लेकिन कुछ बातों का ध्यान रखकर आप इसमें महारत हासिल कर सकते हैं. सेक्सुअल एक्ट (Sexual Act) में परफेक्शन हासिल करके आप कैसे बन सकते हैं पऱफेक्ट सेक्स पार्टनर (Sex Partner)? आइए, जानते हैं.

Signs Of Perfect Sex Partner

आमतौर पर कपल्स एक-दूसरे की पसंद-नापंसद और ज़िंदगी की अन्य ज़रूरतों का तो पूरा ख़्याल रखते हैं. मगर जब बात सेक्स की आती है, तो वे कुछ छोटी-छोटी, मगर अहम् बातों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं और यही बातें उनके अंतरंग पलों का मज़ा किरकिरा करके रिश्ते में तनाव ला देती हैं. अगर आप ऐसी स्थिति से बचकर अपनी सेक्स लाइफ़ को पूरी तरह एन्जॉय करना चाहते हैं, तो निम्न बातों का ध्यान रखें.

1. रखें हाइजीन का ख़्याल

अंतरंग पलों का भरपूर आनंद उठाने के लिए अपने शरीर की साफ़-सफ़ाई का ख़ास ध्यान रखें. स्किन को अच्छा बनाए रखने के लिए समय-समय पर मसाज कराते रहें, क्योंकि आपकी साफ-सुथरी त्वचा का स्पर्श पार्टनर को कामोत्तेजित करके सेक्स का मज़ा दुगुना कर देगा. इसके अलावा बेड पर जाने से पहले ये भी सुनिश्‍चित कर लें कि आपके तन से पसीने आदि की दुर्गंध न आए. बेहतर होगा कि नहाकर अच्छी
क्वॉलिटी का कोई बॉडी स्प्रे या परफ़्यूम लगाएं. फिर देखिए आपके शरीर की ख़ुशबू पार्टनर को कैसे मदहोश कर देती है.

एक्सपर्ट स्पीक

सेक्सुअल एक्ट के दौरान हर कोई अपने पार्टनर को नीट, क्लीन और फ्रेश देखना पसंद करता है, क्योंकि इससे काम क्रिया का आनंद दुगुना हो जाता है. अतः बेड पर जाने से पहले आप भी थकान और तनाव दूर रखकर फ्रेश दिखने की कोशिश करें.

2. ओरल सेक्स है ज़रूरी

सेक्स का पूरा मज़ा लेने के लिए ज़रूरी है कि आप बिना किसी शर्त के हर एक्ट में पार्टनर का पूरा सहयोग करें. याद रखिए, एक अच्छा सेक्स पार्टनर वही होता है, जो अपने साथी की इच्छाओं का पूरा ख़्याल रखे. अगर आपके पार्टनर को ओरल सेक्स में आनंद आता है, तो बेझिझक आप इसमें उनका साथ दें. अगर आपकी पत्नी को ओरल सेक्स करने में झिझक हो रही हो तो पहले उसकी झिझक दूर करने की कोशिश करें. अपने मूड व कंफर्ट के हिसाब से आप ओरल सेक्स एन्जॉय कर सकते हैं. लीक से हटकर प्यार का ये नया अंदाज़ निश्‍चय ही आपकी सेक्स लाइफ में नया जोश भर देगा.

एक्सपर्ट स्पीक

हर बार पार्टनर से ही पहल की उम्मीद न रखें. कभी-कभार उनका मूड भांप कर ख़ुद ही आगे बढ़ें. सेक्स एक्सपर्ट्स के मुताबिक ओरल सेक्स सुरक्षित है, इसलिए इससे घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है. हाइजीन का ख़्याल रखकर इंटरकोर्स की तरह ही ओरल सेक्स से भी चरमानंद की प्राप्ति की जा सकती है.

3. बनें एडवेंच लवर

सेक्स को अगर आप किसी काम की तरह करते हैं यानी सेक्सुअल एक्टिविटी में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाते या फिर काम क्रिया के दौरान आपका रवैया बोरिंग बना रहता है, तो पार्टनर के मूड के साथ ही सेक्स का सारा मज़ा किरकिरा हो जाता है और आप सुखद सेक्स लाइफ़ का अनुभव नहीं कर पाते. अच्छा सेक्स पार्टनर बनने के लिए अपने साथी की सेक्स की भूख को बढ़ाने की कोशिश करें व उसे कामोत्तेजित करें. इसके लिए पार्टनर से सेक्सी बातें करें, एक साथ नहाएं, लव गेम्स खेलें व कामुक किताबों आदि का सहारा लें. पार्टनर के साथ थोड़ी-सी शरारत करके तो देखें, आपकी ज़िंदगी के साथ ही सेक्स लाइफ़ भी रोमांचक बन जाएगी.

एक्सपर्ट स्पीक

पूरे हफ़्ते काम की थकान के बाद शायद आपका मस्ती का मूड न करें. साथ ही अगर रोज़ाना एक ही चीज़ की जाए, तो वो नीरस लगने लगती है. इसलिए छुट्टी के दिन का भरपूर फ़ायदा उठाएं और सेक्स लाइफ़ को रोमांचक बनाने के लिए नई-नई चीज़ें ट्राई करें.

यह भी पढ़ें: सेक्स लाइफ का राशि कनेक्शन (What Does Your Zodiac Sign Say About Your Sex Life?)

Perfect Sex Partner
4. पत्नी को पहल करना सिखाएं

यह टिप आपकी पत्नी के लिए फ़ायदेमंद हो सकता है, क्योंकि आमतौर पर महिलाएं सेक्स के लिए पहल करने से झिझकती हैं. साथ ही कुछ नया ट्राई करने में भी ख़ास दिलचस्पी नहीं दिखाती हैं, जिससे वे सेक्स को पूरी तरह एन्जॉय नहीं कर पातीं. अगर आप अपनी बोरिंग सेक्स लाइफ़ में प्यार के नए रंग भरना चाहते हैं, तो पत्नी को सेक्स के लिए पहल करना सिखाएं. यक़ीन मानिए आपका ये नया रूप पार्टनर को ज़रूर पसंद आएगा. सेक्स में हमेशा नई-नई चीज़ें ट्राई करने की भी कोशिश करें, जैसे-सेक्स टॉयज़ का इस्तेमाल, क्लाइमेक्स का नया तरीक़ा. कामोत्तेजित करने और फोरप्ले के तरी़के में बदलाव करके आप सेक्स को और भी सेक्सी बना सकते हैं.

एक्सपर्ट स्पीक

सेक्स में नए एक्सपेरिमेंट के बारे में स़िर्फ सोचें ही नहीं, बल्कि उस पर अमल भी करें. आपकी पॉज़िटीव अप्रोच पार्टनर को भी सेक्स के लिए उत्तेजित करेगी.

5. शेयर करें फैन्टसी

अच्छा सेक्स पार्टनर वही है जो अपने साथी से अन्य बातों के साथ ही सेक्सुअल फैन्टसी (सेक्स संबंधी काल्पनिक बातें) को भी शेयर करता है. अपने सेक्स की चाहत और फैन्टसी को पार्टनर से शेयर करके आप सेक्स लाइफ़ का भरपूर आनंद उठा सकते हैं. सेक्सुअल फैन्टसी यानी सेक्स की कल्पनाओं को हक़ीकत बनाकर काम क्रिया को दिलचस्प बनाया जा सकता है. एक बात हमेशा ध्यान रखें कि सफ़ल सेक्स लाइफ के लिए कपल्स के बीच बातचीत बहुत ज़रूरी है. पार्टनर की इच्छा को जाने बिना आप उन्हें संतुष्ट नहीं कर सकते. इसी तरह जब तक आप अपने दिल की बात उनसे नहीं कहेंगे वो भी आपको संतुष्ट नहीं कर पाएगी, इसलिए संवाद के पुल को हमेशा मज़बूत बनाए रखें.

एक्सपर्ट स्पीक

अगर आप अपनी सेक्सुअल फैन्टसी को पार्टनर के साथ डिस्कस नहीं कर सकते, तो उसे किसी काग़ज़ पर लिख लें या फिर टेप कर लें, लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि ये चीज़ें पार्टनर तक सही समय पर पहुंच जानी चाहिए, यानी बिस्तर पर जाने से पहले.

यह भी पढ़ें:  महिलाओं की संभोग की इच्छा कम क्यों हो जाती है? (How To Get Your Sex Drive Back)

सेक्सुअल समस्या कहीं आपके रिश्ते को प्रभावित तो नहीं कर रही? (Are Sexual Problems Affecting Your Relationship?)

पति-पत्नी का रिश्ता (Relationship) आपसी सामंजस्य, सहयोग और प्यार (Love) का होता है, लेकिन इन सबके बीच इस रिश्ते में सेक्स (Sex) की भी अलग अहमियत होती ही है, क्योंकि सेक्स प्यार के इज़हार का सबसे ख़ूबसूरत ज़रिया माना जाता है. ऐसे में आपसी रिश्ता अच्छा बना रहे, इसके लिए बहुत ज़रूरी है कि आपकी सेक्स लाइफ भी अच्छी हो, वरना रिश्तों में दूरियां पैदा होने में देर नहीं लगती. अक्सर ऐसा होता है कि कभी शर्म, संकोच या फिर डर व झिझक के चलते कपल्स सेक्सुअल क्रिया या उससे जुड़ी समस्याओं (Problems) के बारे में बात नहीं करते, जिससे समस्याएं वहीं की वहीं बनी रहती हैं और रिश्ता प्रभावित होने लगता है. यहां हम ऐसी ही समस्याओं पर बात करेंगे, जो आपके रिश्ते पर असर डाल सकती हैं.

Sexual Problems

प्री-मैच्योर इजैकुलेशन (स्खलन)

काफ़ी पुरुषों में यह समस्या होती है, लेकिन अच्छी ख़बर यह है कि यह इतनी बड़ी समस्या भी नहीं कि ठीक न हो सके. प्री-मैच्योर इजैकुलेशन किसे कहते हैं? क्या आपके पार्टनर को ऑर्गैज़्म तक पहुंचने में एक मिनट से अधिक का समय लगता है या फिर उससे कम? अगर वो एक मिनट से भी कम समय में स्खलित हो जाता है, तो उसे यह समस्या है. ऐसे पुरुष अक्सर सेक्स को लेकर काफ़ी आशंकित रहते हैं. उनका प्रयास रहता है कि वो ऐसी महिला के साथ रिश्ता बनाएं, जिसे सेक्स का अनुभव न हो, ताकि उनकी समस्या के बारे में वो जान न सके. लेकिन कुछ समय बाद ही सही, समस्या तो सामने आ ही जाती है, इसलिए बेहतर होगा कि समस्या को छिपाने की बजाय उसका इलाज करवाया जाए.

पेनफुल सेक्स (सेक्स के दौरान दर्द)

काफ़ी महिलाएं इसे महसूस करती हैं और जब सेक्स एक सुखद अनुभव की बजाय दर्दनाक एहसास बनने लगता है, तो सेक्स से वो कतराने लगती हैं. सेक्स के दौरान दर्द के कई कारण हो सकते हैं, जैसे- फोरप्ले की कमी, भावनात्मक लगाव की कमी, हार्मोनल बदलाव, मानसिक उलझन, डर, संकोच आदि. कारण जो भी हों, उन्हें नज़रअंदाज़ करना सही नहीं, क्योंकि ये आपके रिश्ते को बुरी तरह प्रभावित करने लगते हैं.

ऑर्गैज़्म का अनुभव न होना

अक्सर महिलाओं को ऑर्गैज़्म का अनुभव नहीं होता. इसकी कई वजहें हो सकती हैं, जैसे- हार्ड सेक्स, फोरप्ले की कमी, मानसिक रूप से सेक्स के लिए तैयार न होना आदि… पर कभी-कभी बढ़ती उम्र व हार्मोनल बदलाव की वजह से भी ऐसा होता है. ऐसे में सेक्स के प्रति अनिच्छा बढ़ती जाती है और जब आप संतुष्टि व आनंद प्राप्त नहीं करते, तो उसका सीधा असर आपके रिश्ते पर पड़ता है.

सेक्सुअल इच्छा में कमी

पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन की कमी के चलते सेक्सुअल इच्छा की कमी आ जाती है और न स़िर्फ कमी, बल्कि इरेक्शन वगैरह पर भी इसका असर पड़ता है. महिलाओं में हार्मोनल बदलाव या सेक्स को लेकर बुरा अनुभव उनकी सेक्सुअल डिज़ायर पर असर डालता है. रिश्तों पर इसका सीधा-सीधा असर यह पड़ता है कि आप सेक्स करने से कतराने लगते हैं, ज़ाहिर है कि जब सेक्स लाइफ नहीं होगी, तो रिश्ते पर बुरा असर होगा.

इरेक्टाइल डिस्फंक्शन

इरेक्शन होने में परेशानी यानी पेनिस का हार्ड न हो पाना, जिससे सेक्सुअल क्रिया नहीं हो पाती, उसे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहते हैं. कभी दवाओं के साइड इफेक्ट्स की वजह से, कभी मानसिक परेशानी के चलते, तो कभी किन्हीं अन्य वजहों से यह समस्या हो सकती है. इसमें सबसे बड़ी द़िक्क़त यह है कि आसानी से ठीक होने के बावजूद अधिकांश पुरुष अपनी समस्या छुपाते हैं. न वो अपने पार्टनर से, न ही एक्सपर्ट्स से इस बारे में सलाह लेने की पहल करते हैं. इस वजह से रिश्तों पर भी बुरा असर पड़ता है.

सेक्सुअल डिस्फंक्शन

रिसर्च बताते हैं कि 30% पुरुष और 40% महिलाएं सेक्सुअल क्रिया के दौरान सेक्सुअल डिस्फंक्शन का अनुभव करती हैं. सेक्सुअल डिस्फंक्शन का अर्थ है सेक्सुअल क्रिया में सुख या संतुष्टि न मिलना. यह किसी भी स्तर पर हो सकता है, जैसे- उत्तेजना महसूस न होना, सेक्स के लिए तैयार न हो पाना, ऑर्गैज़्म न मिलना, दर्द होना या फिर सेक्स के बाद कोई समस्या होना. सेक्स से जुड़ी कोई भी समस्या इसके अंतर्गत आती है और ये आपके रिश्ते को काफ़ी प्रभावित करती है.

यह भी पढ़ें: पुरुषों को सेक्स में पसंद हैं ये 10 बातें (10 Things Men Want During Sex)

Relationship Problems
क्या करें?

–     छिपाएं नहीं. समस्या को छिपाना कोई समाधान नहीं है, इससे वो और बढ़ेगी.

–     कम्यूनिकेट करें. अपने पार्टनर से बात करें और अपने डर, झिझक व संकोच के बारे में बताएं.

–     एक्सपर्ट की सलाह लें. यह बेहद ज़रूरी है, क्योंकि ये तमाम समस्याएं इलाज के दायरे में आती हैं. इनका आसानी से इलाज संभव है, पर लोग संकोच के चलते डॉक्टर के पास जाते ही नहीं.

–     अपनी समस्या को स्वीकार करें और उसको सामान्य मानें. अक्सर लोग सेक्स से जुड़ी समस्याओं को सामान्य नहीं मानते. उनको लगता है कि किसी के सामने यह बात आ गई, तो उनकी बेइज़्ज़ती हो जाएगी, इसी चक्कर में वो इलाज भी नहीं करवा पाते.

–     अधिकतर सेक्सुअल समस्याएं वैसे भी मानसिक होती हैं और आसानी से ठीक हो सकती हैं, बेहतर होगा कि उन्हें छुपाएं नहीं. उनके कारणों को जानकर उचित इलाज करवाएं, वरना समय के साथ-साथ आपका रिश्ता प्रभावित होता चला जाएगा.

ईज़ी होम रेमेडीज़

–    तरबूज़ इरेक्शन की समस्या से निजात दिलाता है, क्योंकि इसमें मौजूद सिट्रूलाइन एक तरह का अमीनो एसिड है, जो इरेक्शन को बेहतर बनाता है और पेनिस की तरफ़ ब्लड फ्लो को तेज़ करता है.

–     प्याज़ न स़िर्फ सेक्स की इच्छा जगाता है, बल्कि सेक्सुअल ऑर्गन्स को भी मज़बूती प्रदान करता है.

–     लहसुन का सेवन करें. इसमें कई ऐसे गुण होते हैं, जो न स़िर्फ सेक्स की इच्छा की कमी को दूर करते हैं, बल्कि इरेक्शन की समस्या से भी निजात दिलाते हैं.

–     सेब का सेवन करें. यह सेक्सुअल स्टैमिना को बढ़ाता है.

–     बादाम, अखरोट, पिस्ता, काजू, किशमिश आदि में भी सेक्स बूस्टर तत्व होते हैं. मूंगफली, अखरोट और पिस्ता में मौजूद अमीनो एसिड इरेक्टाइल डिस्फंक्शन को ठीक करता है.

–     बादाम में ज़िंक, सेलेनियम और विटामिन ई होता है, जो बेहतर सेक्स के लिए ज़रूरी होते हैं. सेलेनियम इंफर्टिलिटी से भी बचाता है और ज़िंक पुरुषों में सेक्स हार्मोंस के निर्माण को बेहतर बनाता है.

–     हरी सब्ज़ियों में सेक्स बूस्टर तत्व भी होते हैं. ये इरेक्शन को लंबे समय तक बनाए रखने में बेहद कारगर हैं, क्योंकि इनमें आर्जिनाइन नामक अमीनो एसिड भरपूर मात्रा में होता है.

–     तिल में मौजूद ज़िंक सेक्स की इच्छा बढ़ाने में कारगर है.

–     अनार में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो सेक्स ड्राइव को बेहतर बनाता है.

–     गाजर सेक्सुअल एनर्जी के लिए काफ़ी फ़ायदेमंद है.

–     छुहारा सेक्स के लिए आपको ऊर्जा प्रदान करता है.

–     डार्क चॉकलेट्स भी सेक्स बूस्टर फूड है. इसमें मौजूद कोको में मूड बूस्टिंग हार्मोंस को बढ़ाने की क्षमता होती है.

– विजयलक्ष्मी

यह भी पढ़ें: सेक्सुअल परफॉर्मेंस बढ़ाने के 10 मैजिक ट्रिक्स (10 Magic Tricks For Best Sexual Performance)

हेल्थ प्रॉब्लम्स प्रभावित करती हैं आपकी सेक्स लाइफ (Health Problems That Affect Your Sex Life)

Sex Life

हेल्थ प्रॉब्लम्स प्रभावित करती हैं आपकी सेक्स लाइफ (Health Problems That Affect Your Sex Life)

बीमारियों के चलते हम न स़िर्फ सेहतमंद ज़िंदगी के सुख से वंचित रह जाते हैं, बल्कि सेक्स क्रिया का सुख भी नहीं भोग पाते हैं. बीमारियों का हमारी सेक्स लाइफ पर क्या असर होता है तथा ये हमारी सेक्स लाइफ को किस तरह प्रभावित करती हैं? आइए, हम आपको बताते हैं.

 

धूल-मिट्टी, प्रदूषण, बदलती लाइफ स्टाइल और बदलते मौसम के चलते आए दिन हमें कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है. ये बीमारियां हमारी सेहतमंद ज़िंदगी को प्रभावित करने के साथ ही हमारी सेक्स लाइफ पर भी गहरा असर डालती हैं. जानिए कौन-सी बीमारी से कैसे निपटना चाहिए?

डायबिटीज़

डायबिटीज़ का सेक्स लाइफ पर गहरा असर होता है. यह रोगी की कामेच्छा, परफॉर्मेंस और ऑर्गेज़्म को बुरी तरह से प्रभावित करता है. कई बार डायबिटीज़ के रोगी नपुंसक तक हो जाते हैं. जो लोग इंसुलिन लेते हैं, वो कई बार सेक्स क्रिया के दौरान अधिक उत्तेजना के चलते हाइपोग्लेसेमिया की चपेट में भी आ जाते हैं. सेक्स क्रिया के दौरान चक्कर आना, कंपन, धड़कनों का तेज़ होना, ध्यान केद्रिंत न कर पाना जैसी तकली़फें हाइपोग्लेसेमिया के संकेत हैं.

कैसे निपटें?

यदि हाइपोग्लेसेमिया का कोई भी संकेत नज़र आए, तो तुरंत शुगर की गोलियां लें. सेक्स क्रिया से पहले एक्स्ट्रा स्टार्ची कार्बोहाइड्रेट युक्त फूड, जैसे-पास्ता, चावल या ब्रेड खाने से बचें. साथ ही शुगर लेवल को भी नियंत्रण में रखें.

कोरोनरी हार्ट डिसीज़

कोरोनरी हार्ट पेशेंट को सेक्स के दौरान सांस लेने में तकलीफ़ या छाती में दर्द होने की संभावना हो सकती है, क्योंकि सेक्स क्रिया को अंजाम देते वक़्त अधिकांशतः कोरोनरी हार्ट डिसीज़ पेशेंट का हार्ट रेट बढ़ने लगता है तथा ब्लड प्रेशर भी हाई हो जाता है. ऐसे में यदि लगातार दो घंटे तक सेक्स क्रिया चलती रहे, तो अटैक आने की संभावना और भी बढ़ जाती है.

कैसे निपटें?

जिन हार्ट पेशेंट को हाल ही में हार्ट अटैक आया हो, उन्हें 3 से 6 सप्ताह तक सेक्स से परहेज़ करना चाहिए. कोरोनरी हार्ट डिसीज़ से पीड़ित रोगी को यदि डायबिटीज़ हो, तो अटैक आने की गुंज़ाइश और अधिक बढ़ जाती है. ऐसे पेशेंट को तभी सेक्स करना चाहिए, जब उनका ब्लड प्रेशर व पल्स रेट नॉर्मल हो. साथ ही ऐसे पेशेंट्स को भोजन के 3 घंटे बाद तक सेक्स से परहेज़ करना चाहिए.

मोटापा

हालांकि मोटापा एक आम समस्या है, लेकिन मोटापा सेक्स लाइफ को काफ़ी हद तक प्रभावित करता है. मोटापा न स़िर्फ संबंधित व्यक्ति की कामेच्छा को प्रभावित करता है, बल्कि उसके परफॉर्मेंस पर भी गहरा असर डालता है. कई बार मोटे व्यक्ति ऑर्गेज़्म का सुख भी नहीं भोग पाते हैं.

कैसे निपटें?

मोटापा न स़िर्फ आपकी सेक्स लाइफ को प्रभावित करता है, बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी ठीक नहीं है. अतः सबसे पहले मोटापा कम करने की कोशिश करें. तली-भुनी चीज़ों के सेवन से परहेज़ करें. एक्सरसाइज़ एवं योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें, ताकि आप सेक्स का भरपूर आनंद उठा सकें.

यह भी पढ़ें: पार्टनर को रोमांचित करेंगे ये 10 हॉट किसिंग टिप्स

Sex Life
अस्थमा

अस्थमा से पीड़ित रोगियों में सेक्स क्रिया के दौरान अधिक उत्तेजना के चलते अस्थमा का अटैक आने की संभावना होती है. कई बार महिलाओं में उनके पार्टनर के सेमिनल फ्लूइड में मौजूद प्रोटीन्स की एलर्जी के कारण भी सेक्स के दौरान अस्थमैटिक अटैक आने का ख़तरा बना रहता है. कई महिलाओं एवं पुरुषों को लैटेक्स एलर्जी के कारण कंडोम यूज़ करने पर अस्थमैटिक अटैक आने की गुंजाइश होती है.

कैसे निपटें?

सेक्स क्रिया से पहले ब्रोंकोडिलेटर थेरेपी लें. इससे आपको आराम मिलेगा. डॉक्टर की सलाह पर उचित एक्सरसाइज़ एवं दवाइयां भी आपको राहत दिलाएंगी.

हाइपोथायरॉइज़्म

हाइपोथायरॉइज़्म से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव आते हैं, जैसे- अचानक से वज़न का बढ़ना, ज़्यादा गर्मी का एहसास होना आदि. नतीजतन ऐसे व्यक्ति की कामेच्छा भी कम हो जाती है.

कैसे निपटें?

डॉक्टर की मदद से थायरॉइड को कंट्रोल में रखने की कोशिश करें. इससे आपकी सेक्स लाइफ में संतुलन बना रहेगा.

पीठदर्द

पीठदर्द की वजह से न स़िर्फ आपकी दिनचर्या की गति धीमी हो जाती है, बल्कि आपकी सेक्स लाइफ भी प्रभावित होती है. कई बार सेक्स के दौरान ग़लत पोश्‍चर भी पीठदर्द का कारण बन जाता है, तो कई बार पीठदर्द के चलते सेक्स क्रिया का भरपूर आनंद नहीं लिया जा सकता.

कैसे निपटें?

सही एवं उचित पोश्‍चर में सेक्स क्रिया को अंजाम देने की कोशिश करें. पति-पत्नी दोनों में से जिसे पीठदर्द की शिकायत न हो, उसे टॉप पोजीशन अपनाने को कहें, जैसे- यदि पति को पीठदर्द की शिकायत है, तो पत्नी को तथा पत्नी को पीठदर्द की शिकायत है, तो पति को टॉप पोजीशन लेने को कहें. इसके साथ ही भुजंगासन, शलभासन, सुलभ उत्तासन, सर्पासन आदि आसन करें. इससे पीठदर्द से आराम मिलेगा.

आर्थराइटिस

आर्थराइटिस से पीड़ित रोगी की सेक्स लाइफ भी काफ़ी प्रभावित होती है. सेक्स में अधिक एक्सपेरिमेंट या मुद्राओं का प्रयोग ऐसे व्यक्तियों के लिए घातक साबित होता है तथा नए एक्सपेरिमेंट से उन्हें कई तरह की तकली़फें भी होती हैं.

कैसे निपटें?

सेक्स के दौरान ऐसे आसनों का प्रयोग करें, जिनसे जोड़ों पर अधिक दबाव न पड़े. हो सके तो पार्टनर को ही सेक्स क्रिया के दौरान एक्टिव रहने की सलाह दें.

 

यह भी पढ़ें: कंडोम से जुड़े 10 Interesting मिथ्स और फैक्ट्स

यह भी पढ़ें:  नहीं जानते होंगे आप ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये 10 बातें

 

सेक्स अलर्टः क्यों आ जाती है सेक्स ड्राइव में कमी?(Sex Alert: Sex-Drive Killer)

Affect My Married And Sexual Life
पार्टनर की पहल पर भी कई बार ऐसा होता होगा कि आप उनके क़रीब नहीं आना चाहतीं, प्यार भरे उन पलों का आनंद लेने का मन नहीं करता, कभी-कभार ऐसा होना आम बात है, लेकिन आपके साथ यदि अक्सर ऐसा होता है, तो सतर्क हो जाइए. ये आपके रिश्ते के लिए ठीक नहीं है. सेक्स ड्राइव में कमी के कई कारण हो सकते हैं. 

 

ब्रेन गेम

शायद आप भी सेक्स को फिज़िकल एक्ट ही मानती होंगी, मगर इसमें शरीर से ज़्यादा अहम् दिमाग़ होता है. मस्तिष्क के कुछ हिस्सों की सेक्सुअल एक्ट में महत्वपूर्ण भूमिका होती है. यहीं पर अंतरंग पलों की चाहत उभरती है. यदि किसी कारणवश ये हिस्से प्रभावित होते हैं, तो इससे आपकी सेक्स डिज़ायर पर असर होगा. यदि कुछ समय से आप भी अंतरंग पलों से दूर भाग रही हैं और आपका पार्टनर के साथ उन ख़ास पलों का आनंद लेने का मन नहीं करता, तो बहुत ज़रूरी है कि डॉक्टर से जांच करवाएं.

 

उम्र से संबंध

आमतौर पर माना जाता है कि उम्र बढ़ने के साथ ही सेक्स की इच्छा घट जाती है, मगर ये सच नहीं है. कई अध्ययनों से ये साबित हुआ है कि बढ़ती उम्र के साथ महिलाएं बेहतर सेक्स पार्टनर साबित होती हैं. हां,  उनकी फर्टिलिटी ज़रूर कम हो जाती है, मगर उन ख़ास पलों की चाहत नहीं. विशेषज्ञों के मुताबिक़, मेनोपॉज़ के बाद महिलाओं का कंसीव करने का डर ख़त्म हो जाता है, जिससे वो अपने अंतरंग पलों को बेहतर तरी़के से एंजॉय करती हैं.

ये भी पढें: 7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं

स्ट्रेस और सेक्स

तनाव का असर पुरुष और महिला दोनों पर अलग तरह से होता है. स्ट्रेस का महिलाओं की सेक्सुअल लाइफ पर बहुत नकारात्मक असर होता है, जिससे कई बार उनके रिश्ते में भी दूरियां आ जाती हैं, इसलिए बहुत ज़रूरी है कि स्ट्रेस से दूर रहने की कोशिश करें. स्ट्रेस दूर करने के लिए दिनभर में कम से कम एक काम अपनी पसंद का करें. 24 घंटे में से कुछ समय स़िर्फ अपने लिए निकालें और अपने मन की करें. जब आप रिलैक्स होंगी तभी पार्टनर के साथ उन ख़ास पलों का आनंद ले पाएंगी.

 

दवाइयों का असर

कई बार दवाइयों के कारण भी कामेच्छा में कमी आती है. यदि आप किसी बीमारी की दवा ले रही हैं और कुछ समय से आपको ऐसा महसूस हो रहा है कि आप अंतरंग पलों का आनंद नहीं ले पा रही हैं  या उन पलों में आपकी दिलचस्पी कम हो रही है, तो बेझिझक इस मुद्दे पर डॉक्टर से बात करें. हो सकता है, ये दवाइयों का ही असर हो. ऐसे में डॉक्टर आपको दवा चेंज करके देंगे. कुछ बर्थ कंट्रोल पिल्स और ब्लड प्रेशर की दवाइयों के असर से भी सेक्स में दिलचस्पी ख़त्म हो सकती है. अतः ऐसा होने पर अपने डॉक्टर से संपर्क करें.

[amazon_link asins=’B017IJGG44,B00ICJ451G,B0160WXSWS,B01DQTPO98′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’4fe7afc2-b8b3-11e7-8dca-0963007a61ad’]

डायट पर फोकस

कुछ फूड ऐसे हैं, जो आपका मूड अच्छा करके कामेच्छा बढ़ाते हैैं, जैसे- स्ट्रॉबेरी, ब्लूबेरीज़, वॉटरमेलन, एवोकाडो, चना, शहद आदि. अतः अपनी बोरिंग सेक्स लाइफ में रोमांच भरने के लिए डायट में ये फूड ज़रूर शामिल करें. सेक्स ड्राइव में कमी को अधिकांश महिलाएं गंभीरता से नहीं लेतीं. उन्हें लगता है कि व़क्त के साथ यह समस्या ठीक हो जाएगी, मगर ऐसा होता नहीं है. कई बार यह कपल्स के बीच दूरियां बढ़ा देता है. अतः अपने रिश्ते को बचाने के लिए ज़रूरी है कि आप समस्या को समझें और बेझिझक उसके समाधान के लिए डॉक्टर/एक्सपर्ट की हेल्प लें.

योगा फॉर सेक्स 

योगा न स़िर्फ आपको फिट एंड फाइन रखता है, बल्कि कुछ योगा पोज़ीशन कामेच्छा बढ़ाने में भी मदद करते हैं. तो देर मत कीजिए, एक्सपर्ट्स से सलाह लेकर आज से ही ख़ास योगाभ्यास शुरू कर दीजिए. मगर ध्यान रखिए इससे बेनिफिट तभी होगा जब आप लगातार कुछ महीनों तक ऐसा करेंगी.

ये भी पढें: सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे

कामेच्छा बढ़ाने के घरेलू उपाय
  • जिन महिलाओं की सेक्स की इच्छा कम हो जाती है, उन्हें अजवायन का सेवन करना चाहिए. इसमें एंड्रोस्टेरोन होता है, जो कामेच्छा बढ़ाने में बहुत मददगार है
  • कई पोषक तत्वों से भरपूर एवोकाडो में फॉलिक एसिड भी होता है जो महिलाओं के लिए बहुत ज़रूरी है. ये उन्हें ताकत और ऊर्जा प्रदान करता है.
  • प्रोटीन और विटामिन का बेहतरीन स्रोत  अंडा खाने से भी महिलाओं को फ़ायदा होता है. कामेच्छा बढ़ाकर ये आपकी बोरिंग सेक्स लाइफ को दिलचस्प बनाने में मदद करता है.
  • एक शोध से पता चला है कि सेब खाने से भी महिलाओं की कामेच्छा में वृद्धि होती है. अतः रोज़ाना 1-2 सेब खाएं.

7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं (7 Types Of Sexual Partner: What type of partner are you?)

सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि सेक्स को लेकर हर पार्टनर की एक-दूसरे से अलग-अलग उम्मीदें होती हैं, इसलिए जब भी पार्टनर्स सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाते हैं, तो उनका व्यवहार और प्रतिक्रिया भी अलग-अलग ही होती है. तो आइए जानते हैं आप और आपके पार्टनर की सेक्सुअल कॉम्पैटिबिलिटी कैसी है?

romance-27a
1. रोमांटिक पार्टनर

ऐसे कपल सेक्स के दौरान बहुत मस्ती करते हैं. पार्टनर को उत्तेजित करने के लिए अनेक चीज़ों और आइडियाज़ का इस्तेमाल करते हैं, साथ ही अपने पार्टनर से भी ऐसी ही उम्मीद रखते हैं कि वह भी उसके साथ ऐसा व्यवहार करे, ऐसी ही ट्रिक्स यूज़ करे. ये कपल रिलेशनशिप के दौरान ऐसी सेक्सुअल फैंटसी से प्रेरित होते हैं, जो उन्होंने कहीं देखी या पढ़ी होती है. सेक्स एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस तरह की सेक्सुअल फैंटसी सेक्सुअल ऐक्ट को मज़ेदार बनाती है. ऐसे पार्टनर्स को ङ्गथ्रिलिंग पार्टनर्सफ कहते हैं. उनकी ऐसी एक्टिविटीज़ यह दर्शाती है कि ये पार्टनर कभी ऐसे सेक्सुअल ऐक्ट से बोर नहीं होते हैं.

2. उदासीन पार्टनर

कुछ कपल्स में काम के बढ़ते बोझ, बीमारी, पारिवारिक उलझनों व परेशानियों, आपसी रिश्तों में तनाव के कारण सेक्स के प्रति रुचि कम होने लगती है. सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि कई बार तो चीज़ों के बदलने और स्थितियों में सुधार होने के बाद भी पार्टनर्स सेक्स के प्रति उदासीन रहते हैं. जो पार्टनर्स सेक्स के प्रति उदासीन रहते हैं, वे यौन क्षमताओं के प्रति अपना आत्मविश्‍वास खो देते हैं और फिर दूसरे पार्टनर की भावनाओं व इच्छाओं को समझने की कोशिश नहीं करते. ऐसे उदासीन पार्टनर्स अपनी सेक्स डिज़ायर्स को भी छुपाने का प्रयास करते हैं. उन्हें लगता है कि रिश्ते में सेक्स की बजाय अन्य चीज़ें ज़्यादा महत्वपूर्ण हैं.

ये भी पढें: सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे

यदि दूसरा पार्टनर सेक्स के लिए पहल भी करता है, तो वे उसे अनदेखा करने लगते हैं. पार्टनर के आग्रह करने पर वे उसे सपोर्ट तो करते हैं, लेकिन सेक्स में पहल कभी नहीं करते. उदासीन पार्टनर की यह ख़ासियत होती है कि वह सेक्स में दिलचस्पी नहीं दिखाते, लेकिन यदि दूसरा पार्टनर उसे एक्साइट करता है, तो ख़ुद को संतुष्ट करने में कमी नहीं छोड़ते.

3. भावनात्मक रूप से जुड़े पार्टनर

ऐसे कपल्स सेक्स के दौरान भावनात्मक रूप से एक-दूसरे से जुड़ने में विश्‍वास रखते हैं. उनके लिए फिज़िकल एक्टिविटी सेकंडरी होती है. ऐसे कपल्स को ङ्गसेन्शुअस कपलफ कहते हैं. इन कपल्स के लिए सेक्स एक तरीक़ा है अपने पार्टनर के साथ रिलेशनशिप विकसित करने का. ऐसे कपल कभी भी अपने पार्टनर पर सेक्सुअल रिलेशन के लिए दबाव नहीं डालते, बल्कि मान-मनुहार से पार्टनर को सेक्स के लिए तैयार कर लेते हैं. ऐसे लवर्स मिलनसार क़िस्म के होते हैं, जो अपने पार्टनर की भावनाओं और इच्छाओं का पूरा ध्यान रखते हैं. रिलेशनशिप बनाते समय इनमें इमोशनल इन्वॉल्वमेंट अधिक होती है और फिज़िकल प्रेज़ेंस को कम महत्व देते हैं.
एक-दूसरे से दूर होने पर वे कभी अंतरंग होने का प्रयास नहीं करते.

4. अधिक भरोसेमंद पार्टनर

इस तरह के पार्टनर लाइफ को ख़ुशनुमा बनाने के लिए रोमांस करते हैं, ताकि रोज़मर्रा की ज़िंदगी में होनेवाले तनाव को कम किया जा सके. ऐसे पार्टनर अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए नियमित रूप से योग,
एक्सरसाइज़ और मेडिटेशन करते हैं. सेक्सोलॉजिस्ट के अनुसार, ऐसे पार्टनर के लिए सेक्स ङ्गस्टे्रस रिलीवरफ का काम करता है, क्योंकि उन्हें लगता है कि सेक्स ही एक ऐसा तरीक़ा है, जो उनके तनाव को कम कर सकता है. कई बार ऐसे पार्टनर सेक्स में संतुष्टि न मिलने पर अपना आपा खो बैठते हैं.

5. सेक्स एडिक्टेड पार्टनर

ऐसे पार्टनर सेक्स एन्जॉय करने का कोई अवसर नहीं छोड़ते और न ही रिलेशनशिप बनाने के लिए एक-दूसरे की स्वीकृति लेते हैं. वे इस बात की परवाह नहीं करते हैं कि उनका पार्टनर रिलेशनशिप बनाने के मूड में है या नहीं, उसकी तबीयत ठीक है या नहीं. ऐसे पार्टनर के लिए केवल सेक्स है. सेक्स एक्सपर्ट्स का मानना है कि सेक्स के लिए इंकार करने पर सेक्स एडिक्ट लोग अपने पार्टनर को कभी भी धोखा दे सकते हैं. ऐसे सेक्स एडिक्ट लोगों के मल्टीपल पार्टनर्स होते हैं.

ये भी पढें: महिलाओं के इन 6 सिग्नल्स से जानें क्या चाहती है वो?

6. कामुक पार्टनर

ये कपल कामुक प्रवृति के होते हैं. उनमें सेक्स के प्रति इच्छा बहुत तीव्र होती है. उनके रिश्तों में हमेशा गर्माहट बनी रहती है. सेक्सोलॉजिस्ट का मानना है कि सेक्स इनके रिश्ते का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा होता है. इसी वजह से कई बार ये कपल रिलेशनशिप के दौरान एग्रेसिव भी हो जाते हैं.

7. स्वार्थी पार्टनर

ऐसे पार्टनर स्वार्थी क़िस्म के होते हैं, जो सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाते समय स़िर्फ अपनी आत्मसंतुष्टि के बारे में सोचते हैं. उनको लगता है कि वे बेडरूम में अपने पार्टनर के साथ जो चाहें वो कर सकते हैं. हर एक्टिविटी को वे अपने पर्सनल तरी़के से करना चाहते हैं, चाहे उसके लिए दूसरा पार्टनर तैयार हो या न हो. सेक्स के दौरान वे केवल अपने पर्सनल प्लेज़र (निज़ी ख़ुशी) के बारे में सोचते हैं. अपने पार्टनर की इच्छाओं व ख़ुशी को महत्व देने की बज़ाय अपनी इच्छाओं को अधिक महत्व देते हैं. उसके साथ किसी तरह का समझौता करने के लिए तैयार नहीं होते. अपनी सेक्सुअल डिज़ायर पूरी न होने पर कई बार ग़ुस्सा और उग्र भी हो जाते हैं.

– पूनम कोठारी

ये भी पढें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको

[amazon_link asins=’B0768K2GV1,B00G4EZOLG,B00ICJ451G’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’dadcf568-b8b3-11e7-8602-9741712c643e’]

सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे (30+ Homemade Tips For Improving Sexual Health)

अक्सर सेक्सुअल पावर की कमी, ग़लत खानपान, ग़लतफ़हमियां, डर या फिर आधी-अधूरी जानकारी के कारण सेक्सुअल हेल्थ प्रभावित होती है. तो क्यों न सेक्स से जुड़े कुछ आसान ट्रिक्स के बारे में जानें और अपनी सेक्स लाइफ को ख़ुशहाल बनाएं.

 

image-couple-in-love-in-bed-copy

सेक्स पावर बढ़ानेवाले फूड

– हर दिन लहसुन खाएं. लहसुन में मौजूद कामोत्तेजक गुण स्त्री-पुरुष दोनों में सेक्स की इच्छा को बढ़ाते हैं.
– पोटैशियम से भरपूर ऐवोकैडो फ्रूट में कामेच्छा को बढ़ाने के सारे गुण होते हैं. इसमें मौजूद फॉलिक एसिड से एनर्जी व स्टेमिना भी बढ़ता है.
– तरबूज़ में सिट्रुलिन नाम का अमीनो एसिड होता है, जो रक्त धमनियों को आराम देकर सेक्स की इच्छा को बढ़ाता है.
– एक शोध के अनुसार, केसर के इस्तेमाल से सेक्सुअल डिज़ायर बढ़ती है, इसलिए अपने भोजन में केसर को भी ज़रूर शामिल करें.
– चॉकलेट हमेशा से रोमांस व पैशन का प्रतीक रहा है. ऐसा कहा जाता है कि एक पैशनेट फोरप्ले के बाद महिलाएं जितना इंडॉरफिन हार्मोन उत्पन्न करती हैं, उससे चार गुना अधिक इंडॉरफिन केवल चॉकलेट खाने से महिलाओं के शरीर में बन जाता है.
– अंडे में मौजूद विटामिन बी5 व बी6 स्ट्रेस को कम करने व सेक्स को आसान करने में मदद करते हैं. इसके अलावा अंडा खाने से हेल्थ व फिटनेस भी बनी रहती है.
– सेब, केला, चेरीज़, नारियल, खजूर, अंजीर, अंगूर, आम, पपीता, नाशपाती, अनार, रसभरी आदि फल सेक्स पावर को बढ़ाते हैं.
– गाजर, प्याज़, खीरा, बैंगन व अन्य मौसमी ताज़ी हरी सब्ज़ियां आदि अपने कामोत्तेजक गुणों के लिए जानी जाती हैं. वैज्ञानिकों ने भी अपने शोधों द्वारा यह प्रमाणित कर दिया है कि फलों व सब्ज़ियों में कामोत्तेजक शक्ति अधिक होती है.
– उड़द की दाल पकाकर उसमें नींबू निचोड़कर भोजन के साथ लेने, दूध में उड़द की खीर या उड़द दाल का लड्डू बनाकर खाने से कामशक्ति बढ़ती है.
– दालचीनी, अश्‍वगंधा व मूसली- तीनों को समभाग में लेकर कपड़छान चूर्ण बनाकर रख लें. इसे 3 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम दूध के साथ लेने से सेक्स पावर बढ़ता है.
– 3 ग्राम इलायची चूर्ण अनार के रस के साथ सेवन करने से कामशक्ति में वृद्धि होती है.
– रात को सोने से पहले उबले हुए दूध में शतावरी चूर्ण मिलाकर सेवन करें.
– दूध में छुहारे या अंजीर पकाकर दूध के साथ चबाकर खाना बहुत पौष्टिक होता है, जिससे सेक्सुअल डिज़ायर बढ़ता है.
– मूंगफली व गुड़ की पट्टी व भिगोए हुए चने भी यौनशक्तिवर्द्धक भोजन माने जाते हैं.
– 10-15 ग्राम उड़द की दाल रात को पानी में भिगो दें. सुबह इसको दरदरा पीसकर 250 मि.ली. दूध में डालकर 15-20 मिनट तक पकाएं. थोड़ी-सी शक्कर भी डाल दें. फिर आंच पर से उतारकर ठंडा होने के लिए रख दें. सुबह खाली पेट खाएं.
– साठी चावल का भात उड़द की दाल के साथ घी मिलाकर सुबह-शाम सेवन करने से पुरुषों का सेक्सुअल पावर बढ़ता है.
– रात को सोते समय गुनगुने मीठे दूध में पाचनशक्ति के अनुसार थोड़ा घी डालकर पीना, पके केले को दूध या मलाई के साथ खाना व सुबह खाली पेट मक्खन, कालीमिर्च, कच्चा नारियल व सौंफ उचित व अनुकूल मात्रा में सेवन करने से चमत्कारिक रूप से सेक्स पावर बढ़ता है.
– 5 ग्राम प्याज़ का रस, 2 ग्राम घी व 3 ग्राम शहद मिलाकर सुबह-शाम सेवन करें और ऊपर से एक ग्लास दूध पीएं.
हेल्थ अलर्ट
– शक्कर, नमक, सैचुरेटेड फैट व प्रोसेस्ड खाद्य पदार्थों के अधिक सेवन से सेक्स की इच्छा में कमी आती है.
– गरिष्ठ, अधिक मिर्च-मसालेवाले पदार्थ, तले हुए व्यंजन, चटनी, अचार, क्रीमवाले सॉसेज के सेवन से भी सेक्सुअल पावर प्रभावित होता है.

यह भी पढ़ें: 30 इफेक्टिव टिप्स, जो सेक्स लाइफ को बोरिंग बनने से बचाएं

Uyumadan önce sevgiliye söylenecek en güzel sözler, en güzel aşk mesajları (2015) 3

सेक्सुअल प्रॉब्लम्स

यदि आपको स्वप्नदोष (नाइट फॉल) की समस्या है, तो-

– मुलहठी को कूट-पीसकर बारीक़ चूर्ण बना लें. इसे 3 ग्राम की मात्रा में एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर चाटें.
– इलायची के दानों का चूर्ण व शक्कर सम मात्रा में लेकर आंवले के रस में खरल करके गोलियां बना लें. 1-1 गोली
सुबह-शाम सेवन करें.
– 150 ग्राम त्रिफला (हरड़, आंवला व बहेड़ा) का बारीक़ चूर्ण लेकर उसमें 30 ग्राम कपूर व 150 ग्राम गुड़ मिलाकर
छोटी-छोटी गोलियां बनाकर रख लें. 1-1 गोली सुबह व रात को सोने से पहले पानी के साथ लें.
– 10 ग्राम ताज़े आंवले का रस, 10 ग्राम गिलोय का रस व चुटकीभर शिलाजीत- सभी को मिलाकर मिश्री के चूर्ण के साथ सुबह-शाम सेवन करने से स्वप्नदोष की शिकायत दूर हो जाती है.
– 10-15 छुहारा घी में भूनकर सुबह चबाकर खाएं व ऊपर से इलायची, शक्कर व कौंच बीज का चूर्ण मिलाकर उबला हुआ दूध पीएं.

शीघ्रपतन (प्री-इजैकुलेशन) की शिकायत होने पर-

– 4-5 छुहारों को दूध में उबालकर खाएं व दूध पीएं. ऐसा सुबह-शाम 2-3 महीने तक करें.
– आंवले का मुरब्बा बनाकर रख लें. 2-3 मुरब्बे हर रोज़ 40 दिनों तक खाएं. इससे सीमन (वीर्य) गाढ़ा होता है व शीघ्रपतन की समस्या भी दूर होती है.
– 2 गोली चंद्रप्रभावटी व 3 ग्राम शतावरी चूर्ण सुबह-शाम दूध के साथ लें.
– 10 ग्राम तुलसी के बीज, 20 ग्राम अकरकरा व 30 ग्राम मिश्री का चूर्ण बना लें व उसे बॉटल में भरकर रख दें.
सुबह-शाम एक ग्राम चूर्ण दूध के साथ सेवन करें.
– तुलसी की जड़ को सुखाकर चूर्ण बना लें. 1 ग्राम तुलसी का चूर्ण व 1 ग्राम अश्‍वगंधा का चूर्ण मिलाकर खाएं व ऊपर से गाय का दूध पीएं.
– 30 ग्राम जैतून का तेल व 10 ग्राम दालचीनी तेल को मिलाकर रख लें. इस तेल की 1-2 बूंद प्राइवेट पार्ट पर लगाकर मालिश करें.

यह भी पढ़ें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको

नपुंसकता (इंपोटेंसी)

– कद्दूकस किए हुए नारियल में 4-5 चम्मच बरगद का दूध व 2 चम्मच शहद मिलाकर सेवन करें. इस नुस्ख़े का
एक-डेढ़ महीने तक सेवन करें. ध्यान रहे, इस दौरान सेक्सुअल रिलेशन न रखें.
– एक ग्लास दूध में 2 छुहारे डालकर पकाएं. थोड़ा-सा केसर भी डाल दें. जब दूध आधा रह जाए, तो आंच पर से उतार लें. ठंडा होने पर छुहारे को चबा-चबाकर खाएं और ऊपर से वही दूध पीएं. पानी बिल्कुल न पीएं. इसे रात को सोने से पहले लें.
– 300 ग्राम कद्दूकस किया हुआ नारियल, 150 ग्राम नारियल का पानी, 150 ग्राम गाय का घी व 300 ग्राम शक्कर- सब को मिलाकर धीमी आंच पर रखकर पाक तैयार करें. फिर 5-5 ग्राम दालचीनी, तमालपत्र, इलायची, जायफल, जावित्री, कालीमिर्च, सोंठ, जीरा, वायविडंग व सौंफ- सभी का चूर्ण उसमें मिलाकर पाक तैयार कर लें. ठंडा होने पर ढंक दें. इस पाक को 10 ग्राम की मात्रा में हर रोज़ खाकर ऊपर से दूध पीएं.

– ऊषा गुप्ता

सेक्स और रोमांस के इन्फोर्मटिवे आर्टिकल्स के लिए यहां क्लिक करें: Sex & Romance

[amazon_link asins=’B007M5QJYW,B00LB06TZI,B00MDEBHNA,B00LB07KQ0,B00858WOG2′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’bccd3b7c-b8b4-11e7-a1ff-5b084f8ae374′]

11 सेक्स किलर फूड, जो बिगाड़ सकते हैं आपकी सेक्स लाइफ(11 Sex Killer Food That Are Killing Your Sex Life)

सेक्स लाइफ के लिए अच्छा खानपान बेहद ज़रूरी है. इसके लिए अपने डायट में ऐसी चीज़ें शामिल करें, जो आपकी सेक्सुअल डिज़ायर को बढ़ाएं. यदि आप बेहतर सेक्स लाइफ चाहते हैं, तो बचें इन सेक्स किलर फूड्स से, जो आपकी सेक्सुअल डिज़ायर को कम कर सकते हैं.

चॉकलेट

इसे सेक्स किलर फूड भी कहते हैं, क्योंकि इसमें ऐसे कंपाउंड्स मिक्स होते हैं, जो सेक्स लाइफ को प्रभावित करते हैं. हालांकि इसे प्यार, उत्साह और रोमांस का प्रतीक मानते हैं, लेकिन एक्सपर्ट्स का मानना है कि यह टेस्टोस्टेरॉन के लेवल को कम करता है.

2727D28200000578-3018945-image-a-51_1427780589612
कॉफी

कॉफी का एक कप आपके मूड को फ्रेश तो करता है, लेकिन इसका बुरा असर आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ता है. यह जितनी जल्दी थकान को दूर करती है, उतनी ही जल्दी सेक्स क्षमता को भी कम करती है. अधिक मात्रा में कॉफी का सेवन करने पर एड्रेनल ग्लैंड्स को नुक़सान होता है, जिससे तनाव बढ़ानेवाले हार्मोंस का उत्पादन होता है. यदि एड्रेनल ग्लैंड्स सुचारू रूप से काम नहीं करता है, तो धीरे-धीरे सेक्स हार्मोंस प्रभावित होने लगते हैं.

ये भी पढें: सेक्स का राशि कनेक्शनः जानें किस राशिवाले कितने रोमांटिक?

तेल

घटिया क्वालिटी के तेल और प्रोसेस्ड वेजीटेबल ऑयल का सेवन करने से फैट्स बढ़ता है, जो शरीर को एक्टिव नहीं रहने देता और सेक्स लाइफ के दौरान उत्तेजना को भी कम करता है. घटिया क्वालिटी के तेल का इस्तेमाल करने से कंसीव करने में प्रॉब्लम होती है. इसी तरह से डायटरी फैट्स भी अनेक प्रकार के होते है. इनमें से कुछ फैट्स फ़ायदेमंद होते हैं और कुछ फैट्स को नज़रअंदाज़ करना चाहिए, जो सेक्स एनर्जी को कम करते हैं.

सोयाबीन

यह सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद होता है, लेकिन सेक्स लाइफ में रुकावट पैदा करता है. शाकाहारी लोगों के लिए मीट की जगह सोयाबीन बेस्ट ऑप्शन है, लेकिन सोयाबीन में मौजूद फोटोएस्ट्रोजन पुरुषों के सेक्स हार्मोंस में बदलाव लाता है, जिससे सेक्स इच्छा में कमी आती है.

पुदीना (मिंट)

मिंट या मिंट बेस्ड प्रोडक्ट्स न केवल माउथफ्रेशनर का काम करते हैं, बल्कि भोजन को पचाने का काम भी करते हैं. मिंट का लगातार सेवन करने से सेक्सुअल डिज़ायर में कमी आती है, साथ ही यह सेक्स ड्राइव को भी शांत करता है. इसीलिए माउथफ्रेशनर के तौर पर मिंट की जगह अन्य हर्ब का इस्तेमाल करें.

पनीर (डेयरी प्रोडक्ट)

इसमें विटामिन और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है, लेकिन बाज़ार में मिलनेवाले इस डेयरी प्रोडक्ट में प्राकृतिक तत्व नहीं होते है, जो सेक्स क्षमता को प्रभावित करते हैं. बाज़ार में मिलनेवाले इस डेयरी प्रोडक्ट में एस्ट्रोजन, टेस्टोस्टेरॉन और प्रोजेस्टेरॉन होते हैं, जो हार्मोंस के उत्पादन को प्रभावित करने के साथ-साथ शरीर में टॉक्सिन्स को बढ़ाते हैं. इन टॉक्सिन्स से यौन रोग होने की संभावना होती है.

फ्राइड और जंक फूड

फ्रेंच फ्राइज़, प़िज़्ज़ा और बर्गर को रोमांस किलर फूड कहते हैं. इनमें मिश्रित हाइड्रोजेनटेड फैट्स टेस्टोस्टेरॉन के स्तर को कम
करते हैं, जिसके कारण पुरुषों में शुक्राणुओं का उत्पादन असामान्य होता है और उनकी गुणवत्ता भी अच्छी नहीं होती. अगर आप अपने पार्टनर को रोमांटिक डेट पर ले जा रहे हैं, तो फास्ट फूड का सेवन न करें, विशेष रूप से तब जब कंसीव करने की प्लानिंग कर रहे हों.

couple-snacking
मीट

इसमें प्रोटीन और जिंक नहीं होता, साथ ही कोलेस्ट्रॉल और वसा की मात्रा भी बहुत अधिक होती है, जो ब्लड सर्कुलेशन और सेक्सुअल लाइफ को स्लो करता है. भोजन में मीट का सेवन करने से सेक्सुअल डिज़ायर में कमी आती है, इसीलिए सेक्सुअल रिलेशन बनाने से पहले भोजन में मीट न खाएं.

एमएसजी

मोनोसोडियम ग्लूटामेट का इस्तेमाल भोजन में स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है. इसका अधिकतर प्रयोग डिब्बाबंद खाद्य पदार्थों में किया जाता है, ताकि उनका स्वाद बना रहे. मेडिकल एक्सपर्ट्स के अनुसार, खाने में एमएसजी का अधिक उपयोग करने पर कार्डियोवैस्कुलर और डिप्रेशन संबंधी समस्याएं होती हैं और डिप्रेशन बढ़ने पर सेक्सुअल डिज़ायर कम होने लगती है.

ये भी पढें: 7 Unbelievable सेक्स एटीकेट्स, जो आपकी रिश्ते को बनाएंगे सुपर रोमांटिक

ऐरिएटेड ड्रिंक्स

द न्यू इंग्लैंड जनरल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, शुगर स्वीटेन्ड बे्रवरेज (चीनी मिश्रित पेय ड्रिंक्स) का सेवन करने से वज़न बढ़ना और डायबिटीज़ जैसी बीमारियां होती हैं, इसके अतिरिक्त मीठे जहर (जिन ऐरिएटेड ड्रिंक्स में शुगर बहुत अधिक मात्रा में हो) का सेवन करने से डेंटलकैवेटीज़, मोटापा, डीहाइड्रेशन और हड्डियों का कमज़ोर होना जैसी समस्याएं होती हैं इन सब बीमारियों के कारण भी सेक्सुअल डिज़ायर कम होती है.

अल्कोहलिक ड्रिंक्स 

इनका लगातार सेवन करने से शरीर में सेक्स हार्मोन प्रभावित होता है और सेक्स पावर कम होने लगती है. शोधों से भी यह साबित हुआ है कि अधिक मात्रा में अल्कोहल का सेवन करनेवाले पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन का स्तर कम होता है, जिसका असर उनकी सेक्स लाइफ पर पड़ता है.

– पूनम शर्मा

[amazon_link asins=’B01FU537L8,B0739THB4W,B0096B7D40,1592336523′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’dfc110cf-b8b6-11e7-a19a-9d9067f89e11′]

30 इफेक्टिव टिप्स, जो सेक्स लाइफ को बोरिंग बनने से बचाएंगे (30 Effective Tips For Making Your Sex Life More Exciting)

Sex Tips in Hindi

शादी के शुरुआती साल बेहद हसीन होते हैं. पार्टनर एक-दूसरे को समझने के साथ-साथ एक-दूसरे की कंपनी, क़रीब होने का एहसास और प्यार-मुहब्बत को काफ़ी एंजॉय करते हैं. लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि धीरे-धीरे ज़िम्मेदारियां बढ़ती हैं और एक्साइटमेंट की जगह रूटीन लाइफ कपल्स की ज़िंदगी का हिस्सा हो जाती है. इसमें कहीं न कहीं सेक्स भी रूटीन-सा ही होने लगता है, जिसका असर आपसी रिश्तों पर पड़ने लगता है. बेहतर होगा कि आप अपनी सेक्स लाइफ को बोरिंग न होने दें, ताकि आपके रिश्ते में गर्माहट बनी रहे.

 

couple-enjoying-with-each-other

साथ बिताने के लिए अगर समय नहीं है, तो ज़ाहिर है भावनात्मक लगाव पर नकारात्मक प्रभाव होगा और बिना भावनात्मक लगाव के सेक्स भी बोरियत का ही एहसास कराएगा. 
क्या करें: भले ही आप कितने भी बिज़ी हों, आपको एक-दूसरे के लिए समय निकालना ही होगा. वीकेंड पर बाइक राइड या लॉन्ग ड्राइव पर जाएं. आप बीच, वॉटर पार्क, मूवी या आसपास के गार्डन में भी जाकर कुछ समय एक-दूसरे के साथ बिता सकते हैं. आपस में बिताए इस समय का असर आपकी बेडरूम लाइफ पर काफ़ी सकारात्मक होगा.

ये भी पढें: कैसा हो पार्टनर का पोस्ट सेक्स बिहेवियर?

कुछ साल साथ रहने के बाद सेक्स को लेकर एक्साइटमेंट कम हो जाता है और सेक्स लाइफ बेहद बोरिंग होने लगती है.
क्या करें: कुछ नया करें. बेडरूम में कैंडल्स जलाएं और रोमांटिक माहौल बनाएं. अपने पार्टनर से पूछें कि वो सेक्स में क्या नया चाहते हैं और ख़ुद भी अपनी चाहत के बारे में बताएं. सेक्सी आउटफिट पहनें और सेक्सी बातें करें. इससे नयापन आएगा.

अक्सर कपल्स बिज़ी रहते हैं और थक जाते हैं. यही थकान उनके रिश्तों और सेक्स लाइफ में भी नज़र आने लगती है.
क्या करें: अपने रिश्ते को सबसे अधिक अहमियत दें. अपनी प्रायोरिटी लिस्ट में अपने रिश्ते को टॉप पर रखेंगे, तो रिश्ते में थकान कभी नहीं आएगी. इसके अलावा यदि आप एक-दूसरे को अधिक महत्व देंगे और सपोर्ट करेंगे, तो बाकी चीज़ों व समस्याओं से बेहतर तरी़के से निपट सकेंगे. इससे तनाव और थकान दोनों ही नहीं होगी.

अक्सर कपल्स एक-दूसरे से कहने में झिझकते हैं कि वो सेक्स लाइफ में बदलाव चाहते हैं और कुछ नया करना चाहते हैं. उन्हें लगता है कि कहीं पार्टनर बुरा न मान जाए और उसे यह न लगे कि वो उससे संतुष्ट नहीं.
क्या करें: बात करें, लेकिन बात करने का तरीक़ा ऐसा हो कि पार्टनर को बुरा भी न लगे. आप ये न कहें कि आप बोर हो गए/गई हैं, बल्कि यह कहें कि हमको कुछ अलग और न्यू ट्राय करना चाहिए. कम्यूनिकेशन बहुत ज़रूरी है. पॉज़िटिव कम्यूनिकेशन आपकी सेक्स लाइफ को और बेहतर बनाता है.

रूटीन लाइफ के चलते छोटी-छोटी ख़ुशियों के महत्व को भी आप भूलने लगते हैं. एक-दूसरे को छूना, कॉम्प्लीमेंट देना, गिफ्ट देना, सरप्राइज़ देना आदि एकदम से रिश्ते में से ग़ायब ही हो जाते हैं.
क्या करें: इन बातों को कभी भी अपने रिश्ते से ग़ायब न होने दें. एक-दूसरे के लुक्स व फिटनेस को सराहें. प्यारभरी शरारतें, एक-दूसरे को छूना, गले लगाना, किस करना… इस तरह की तमाम छोटी-छोटी बातें रिश्ते को ताज़ा रखती हैं. कभी एक छोटा-सा मैसेज, एक सरप्राइज़ गिफ्ट किस तरह से आपकी रूटीन लाइफ में ताज़गी भर देगा, आप सोच भी नहीं सकते. इन सबका असर आपकी सेक्स लाइफ पर भी ज़रूर पड़ता है.

बहुत कोशिश के बाद भी साथ समय नहीं बिता पाते, तो ऐसे में रिश्ते में बासीपन और स्वभाव में चिड़चिड़ापन आ जाता है, जो सेक्स लाइफ को बुरी तरह प्रभावित करता है.

क्या करें: कुछ रोचक व इनोवेटिव सोचें, जहां आप साथ में समय बिता सकें. एक साथ वर्कआउट करेें, जॉगिंग या वॉक के लिए जाएं. स्विमिंग क्लास या डांस क्लास जॉइन करें. ये बातें आपको एक-दूसरे के क़रीब लाएंगी. थोड़ा समय निकालकर एक-दूसरे को सेक्सी मसाज दें, इससे नयापन आएगा और आप दोनों फ्रेश फील करेंगे.

अलर्ट्स जो बताएंगे कहीं आपकी सेक्स लाइफ बोरिंग तो नहीं?

 

COUPLE-FIGHTING-4-ways-to-stop-fighting-1024x512

यह भी पढ़ें: 7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं

– सेक्स अब पहले की अपेक्षा कम होता है.
– रोमांटिक बातें लगभग बंद हो गई हैं.
– सेक्स में कुछ नया करने की चाह नहीं होती.
– सेक्स मात्र शारीरिक क्रिया बनकर रह गई है.
– एक-दूसरे की बात सुनने या चाहत जानने की जिज्ञासा नहीं रही.
– पार्टनर सेक्स को टालने लगे हैं.
– हमेशा थकान या बिज़ी रहने के कारण सेक्स में दिलचस्पी कम हो गई है.
– सेक्स को पहले की तरह एंजॉय नहीं करते.
– सेक्स के समय पार्टनर की दिलचस्पी और सहयोग नहीं मिलता.
– पार्टनर अब पहले की तरह आकर्षक नहीं लगता, फिर भले ही वो कितने ही आकर्षक कपड़ों में सामने आए और सेक्स में पहल भी करे, लेकिन आपका ध्यान ही नहीं जाता उसकी तरफ़.

[amazon_link asins=’B00TPBOZQ0,B010BJEIOI,B075JJVVMG,B01A8IIO9W’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’ac50504b-b8b7-11e7-9bba-596ecf93b503′]

ये तमाम लक्षण आपके लिए सिग्नल हैं कि आपको कुछ करना होगा, ताकि आपकी सेक्स लाइफ बोरिंग रूटीन बनकर न रह जाए.
फिर से लाएं खोई गर्माहट और ताज़गी
– पार्टनर की दिलचस्पी सेक्स में कम हो गई है, तो आपका फर्ज़ बनता है कि आप पहल करें और पार्टनर की दिलचस्पी फिर से जगाएं.
– पार्टनर से पूछें कि उसे कोई मानसिक या शारीरिक समस्या तो नहीं. यदि है, तो एक्सपर्ट से संपर्क करें.
– सेक्स में ज़बर्दस्ती कभी भी न करें, क्योंकि इससे पार्टनर की सेक्स के प्रति दिलचस्पी और आपके प्रति लगाव भी कम होता जाएगा.
– उससे प्यार से बात करें, बात करते समय सहलाएं, चूमें और बालों में हल्के-हल्के उंगलियां फेरें. ऐसा करने पर मूड न होने पर भी धीरे-धीरे मूड बनने लगता है और पार्टनर बेहतर महसूस करता है.
– हाइजीन का पूरा ख़्याल रखें. कई बार इस तरह की बातें भी सेक्स में दिलचस्पी कम कर देती हैं और पार्टनर चाहकर भी कुछ बोल नहीं पाता. बेहतर होगा कपल्स साफ़-सफ़ाई का पूरा ध्यान रखें.
– कमरे का माहौल भी शांत और रोमांटिक हो. चादर वगैरह भी साफ़-सुथरी होनी चाहिए.
– अपने स्मार्ट फोन और लैपटॉप को बेडरूम से दूर ही रखें. इनका बहुत ज़्यादा प्रयोग या टीवी देखना भी सेक्स लाइफ पर नकारात्मक प्रभाव डालता है. आजकल इन गैजेट्स ने हमारी लाइफ में बहुत हद तक जगह बना ली है, लेकिन इन्हें हम-तुम के बीच ङ्गवोफ न बनने दें. इससे पार्टनर को लगेगा कि आपको उसमें दिलचस्पी ही नहीं है और न आपका ध्यान उसकी बातों की तरफ़ है.
– पर्सनल टाइम में पार्टनर को पूरा अटेंशन दें, उसे यह लगना चाहिए कि यह व़क्त स़िर्फ और स़िर्फ आप दोनों का है, जिसमें किसी और के लिए कोई जगह नहीं.
– पार्टनर को यह महसूस कराएं कि सेक्स से भी कहीं अधिक ज़रूरी आपके लिए उनका साथ है. इस तरह का भावनात्मक लगाव एक-दूसरे को और क़रीब लाता है.
– सेक्स में क्या नयापन लाना चाहिए इस पर भी खुलकर न स़िर्फ चर्चा करें, बल्कि साथ मिलकर प्लान करें कि आज की रात या इस वीकेंड को कैसे और भी रोमांटिक बनाया जा सकता है.
– कलर्स भी सेक्स लाइफ पर प्रभाव डालते हैं, तो एक-दूसरे की पसंद-नापसंद को ध्यान में रखते हुए कमरे में कलर्स ऐड करें. अपने आउटफिट्स और इनर वेयर में भी सेक्सी कलर्स और स्टाइल सिलेक्ट करें.
– सेक्स के व़क्त काम व तनाव को भूलकर पार्टनर पर ही पूरा ध्यान केंद्रित होना चाहिए, वरना अक्सर लोग उस व़क्त भी दूसरी बातें करते हैं और सेक्स को एक क्रिया मात्र बना देते हैं, जिससे पार्टनर को लगता है कि उनका साथी उन्हें स़िर्फ इच्छा पूरी करनेवाला जिस्म समझता है.
– दूसरी तरफ़ कुछ लोग सेक्स को एक हथियार के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं, ख़ासकर महिलाएं सेक्स को इमोशनल ब्लैक मेलिंग का बेहतरीन हथियार समझती हैं और सेक्स के व़क्त ही तरह-तरह की डिमांड करके पति से बातें मनवाने की कोशिश करती हैं. ऐसा करने से पति के मन में पत्नी के प्रति वो सम्मान नहीं रह जाता और वो भी प्रैक्टिकल अप्रोच अपनाने लगता है.
– सेक्स के समय रोमांटिक बातें ही करें. ताने-उलाहने व शिकवे-शिकायत से बचें.
– पुरानी रोमांटिक बातें व साथ गुज़ारे हसीन पलों को याद करें, उन पर बात करें, साथ हंसें, खिलखिलाएं, क्योंकि ये तमाम बातें आपको ताज़गी का एहसास कराती हैं.
– सेक्स लाइफ को बोरिंग होने से बचाने का मतलब स़िर्फ बेडरूम तक ही सीमित नहीं होता, बल्कि हर पल, हर लम्हे को आपको बेहतर बनाना होगा. एक-दूसरे को अटेंशन देना होगा, क्योंकि पूरे दिन के क्रियाकलापों का निचोड़ ही सेक्स लाइफ में झलकता है. दिन अच्छा होगा, मूड अच्छा होगा, तो रिश्ता बेहतर होगा… और बेहतर रिश्ते का मतलब है बेहतर सेक्स लाइफ और मज़बूत-अटूट बंधन.

– विजयलक्ष्मी

यह भी पढ़ें: सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे