sex facts

सेक्स, रोमांस, प्यार, चाहत, मोहब्बत हर किसी के लिए प्यार के अपने मायने होते हैं. भले ही इसके अनगिनत नाम हों, पर एहसास तो एक ही है, एक-दूसरे को दुनिया जहां की ख़ुशियां देने का जुनून, एक-दूसरे पर मर-मिटने को तैयार, एक-दूसरे की ख़ातिर सब कुछ कुर्बान कर देने का जज़्बा… हर कपल (Couple) के लिए सेक्स (Sex) एक ऐसा विषय है, जिसके बारे में वो जानना तो बहुत कुछ चाहता है, पर बहुत बार आधी-अधूरी जानकारी ही उसके पास होती है. सेक्स से जुड़े ऐसे ही कई पहलुओं के बारे में हर कपल को हम रूबरू करा रहे हैं..

Sex Facts

  1. अक्सर ऐसा सोचा और कहा जाता है कि बच्चे के जन्म के बाद पत्नी को सेक्स में रुचि नहीं रह जाती, जो कि सरासर ग़लत है. रिसर्च बताते हैं कि बच्चे के जन्म के बाद क्लाइमेक्स (चरमोत्कर्ष) की तीव्रता बढ़ जाती है. इसका कारण है नर्व एंडिग का ज़्यादा सेंसिटिव होना.
  2. कम्युनिकेशन (संवाद) बनाए रखें. यह आपसी प्यार और रिश्ते की मज़बूती के लिए बहुत ज़रूरी है. इससे सेक्स लाइफ़ में भी सुधार होता है, क्योंकि बातचीत आपको क़रीब लाती है. इनके अभाव में रिश्ता पनप नहीं पाता.
  3. कभी-कभार आप भी सेक्स के लिए पहल करें. अक्सर महिलाएं ऐसा करने से हिचकिचाती हैं, पर ध्यान रहे, आपका पहल करना उन्हें सुखद एहसास में डुबा देता है. यदि बच्चे छोटे हैं तो सेक्स लाइफ़ में मुश्किलें भी आती हैं और महिलाएं इतनी खुली व रिलैक्स भी नहीं रह पातीं, ऐसे में बच्चों के सोने का इंतज़ार करने से अच्छा है जब भी मौक़ा लगे, प्यार में खो जाएं.
  4. कई बार महिलाएं समझ ही नहीं पातीं कि कौन-सी चीज़ उन्हें उत्तेजित करती है. पहले ख़ुद ही पता लगाएं. कई बार वे जानकर भी बताने से शरमाती हैं. अतः ख़ुद ही कल्पना करें व एन्जॉय करें. जब सहज लगे, तब पति को बताएं. इससे फोरप्ले मेंं आसानी होती है.
  5. शरीर का बेडौल होना या शेप में न होना कई बार महिलाओं में हीनता की भावना भर देता है. इसका एक कारण टीवी तथा फ़िल्मों में ङ्गजीरो फ़िगरफ को महत्व दिया जाना है. याद रखें, वास्तविक जीवन फिल्मों से बहुत अलग होता है. आत्मविश्‍वास बनाए रखें, तभी आप पति से जुड़ पाएंगी. हां, बैलेंस्ड डायट व व्यायाम के ज़रिए सुडौल शरीर पाने की कोशिश अवश्य करें.
  6. बच्चे होने के बाद उनकी देखभाल व घर के कामकाज महिलाओं को बहुत थका देते हैं. उन्हें सेक्स की इच्छा ही नहीं रह जाती. अपने आराम के लिए अवश्य समय निकालें, तभी आपका सेक्स जीवन संतुष्टिपूर्ण होगा. चिड़चिड़ाहट नहीं होगी और आप ख़ुश रहेंगी.
  7. सेक्स में आप क्या चाहती हैं? आपको क्या अच्छा लगता है? ये पति को बताएं, परंतु सेक्स के दौरान नहीं, जब आप दोनों रिलैक्स हों, सही समय हो और मूड भी हो, क्योंकि इन बातों के लिए सही समय होना बहुत ज़रूरी है.
  8. एक-दूसरे की कंपनी एन्जॉय करें. धीरे-धीरे प्यार की ओर बढ़ें. सेक्स से पूर्व काफ़ी देर तक किया गया फोरप्ले दोनों को चरम संतुष्टि देता है.
  9. आजकल अलग-अलग रंगों व ख़ुशबुओं में कंडोम मिलते हैं. ये कई प्रकार के होते हैं, जैसे- लुब्रिकेटेड, रिंड व डॉटेड. इससे फोरप्ले के दौरान उत्तेजना और आनंद बढ़ता है. अतः इसका उपयोग करें.
  10. सेक्स संबंधी क़िताबों, फ़िल्मों, कहानियों में सेक्स को बढ़ा-चढ़ाकर बताया जाता है. सत्य यह है कि सामान्य कपल्स ह़फ़्ते में 1 या 2 या इससे भी कम बार सेक्स करते हैं. अतिशयोक्ति पर विश्‍वास न करें. ध्यान रखें, क्वांटिटी की अपेक्षा क्वालिटी महत्वपूर्ण होती है.

    यह भी पढ़ें: महिलाओं के 10 कामोत्तेजक अंग (Top 10 Sexiest Erogenous Parts Of A Women’s Body)

Sex Facts

11. क्लाइमेक्स, चरमोत्कर्ष या ऑर्गेज़्म एक आनंददायी संतुष्टिपूर्ण अनुभव है. कई जोड़े इस बात से नाराज़ रहते हैं कि दोनों एक साथ चरमोत्कर्ष पर नहीं पहुंचते. ऐसा हो सकता है, परंतु इससे कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता. महिलाएं एक से अधिक बार ऑर्गेज़्म का अनुभव करती हैं.

12. अच्छी सेक्स लाइफ़ के लिए आपका शारीरिक व मानसिक रूप से स्वस्थ रहना बहुत आवश्यक है. इसके लिए महत्वपूर्ण है बैलेंस्ड डाइट, थोड़ी-बहुत एक्सरसाइज़, भरपूर नींद औैर ज़्यादा चाय, कॉफी, सिगरेट या शराब का सेवन न करना.

13. सस्ती सेक्स क़िताबों, पोर्नोग्राफ़िक फ़िल्मों और समाचार-पत्रों में आए दिन कई विज्ञापनों में पेनिस (लिंग) के आकार या लंबाई को बढ़ा-चढ़ाकर एवं कम लंबाई को एक समस्या के रूप में दिखाया जाता है, जिससे युवावर्ग भ्रमित हो जाता है और तनावग्रस्त रहकर उल्टे-सीधे उपाय करने लगता है. ये सब ग़लत है. छोटे आकार से ऑर्गेज़्म में कोई फ़र्क़ नहीं पड़ता, क्योंकि योनि का केवल एक तिहाई भाग ही सेंसिटिव होता है. अतः सही सेक्स पोज़ीशन में छोटा लिंग भी पूरी तरह चरमोत्कर्ष दे सकता है.

14. सेक्स करते समय किसी और पुरुष की कल्पना उत्तेजित करती है और सेक्स का आनंद बढ़ाती है. अतः कल्पना करें. इसके लिए मन में किसी तरह का अपराधबोध न आने दें. इसमें कोई बुराई नहीं है.

15. यदि पति-पत्नी दोनों वर्किंग हैं, व्यस्त हैं, रात को देर से आते हैं, तो उनकी सेक्स लाइफ़ न के बराबर होती है. ऐसे में बेहतर होता है कि सुबह उठकर फ्रेश मूड में सेक्स का
आनंद उठाएं.

16. कुछ सालों के बाद सेक्स लाइफ़ बोरिंग हो जाती है. इसलिए एक्सपेरिमेंट करते रहें. अलग-अलग पोज़ीशन ट्राई करें. कुछ ऐसा, जो ज़िंदगी में रंग भर दे.

17. सेक्स दोनों को शारीरिक ही नहीं, मानसिक रूप से भी क़रीब लाता है. यही जुड़ाव दांपत्य जीवन की नींव है. ख़ुद का ध्यान रखना, संवरना, ख़ूबसूरत दिखना ज़रूरी है.

18. बढ़ती उम्र के साथ-साथ सेक्स लाइफ़ को जीवंत रखना एक चुनौती है. इसके लिए फोरप्ले का समय बढ़ाएं. नए तरी़के आज़माएं. अपने पुराने दिनों को याद करें. परंतु सेक्स करना बंद ना करें.

19. यदि सेक्स की इच्छा है, परंतु आप बहुत थके हुए व तनावग्रस्त महसूस कर रहे हैं, तो डरावनी फ़िल्म या हॉरर शो देखें या 1 कप कॉफी पीएं. आपका दिल ज़ोरों से धड़कने लगेगा. इससे शरीर में एड्रीनलीन की मात्रा बढ़ जाएगी. यही वह केमिकल है, जो सेक्सुअल एक्साइटमेंट (उत्तेजना) पैदा करता है.

20. रिसर्च बताते हैं कि सिगरेट व शराब सेक्स की क्रिया को प्रभावित करते हैं, क्योंकि इनका सीधा संबंध आपके ब्लड सर्कुलेशन और नर्वस सिस्टम पर प़ड़ता है. इससे उत्तेजना, योनि की चिकनाहट और सेंसेशन कम होता है. शराब व सिगरेट पुरुषों व महिलाओं दोनों पर समान असर डालती है.

 

– डॉ. सुषमा श्रीराव

 

यह भी पढ़ें: हर किसी को जाननी चाहिए सेक्स से ज़ुड़ी ये 35 रोचक बातें (35 Interesting Facts About Sex)

नहीं सुने होंगे आपने ये 10 हॉटेस्ट सेक्स फैक्ट्स (10 Hottest Sex Facts Ever)

हर शादीशुदा कपल को लगता है कि सेक्स के बारे में उसे सब कुछ पता है, जबकि ऐसा है नहीं. माना कि आपके कई सेक्स आर्टिकल्स पढ़े हैं, कई वीडियोज़ देखे हैं, कई रिसर्च भी पढ़ी हैं, पर अभी भी बहुत कुछ है, जो आपको पता नहीं. यकीन नहीं आता तो ख़ुद देख लें, क्या हैं वो हॉटेस्ट सेक्स टिप्स.

 Sex Facts

1. सबसे लंबा ऑर्गैज़्म

सभी की तरह आपको भी लगता है कि पुरुषों का ऑर्गैज़्म पीरियड महिलाओं के मुकाबले लंबा होता है, तो आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल नहीं है. जी हां. जहां पुरुषों का ऑर्गैज़्म पीरियड महज़ 6 सेकंड्स का होता है, वहीं महिलाओं का ‘ओ’ पीरियड 20 सेकंड्स का होता है.

2. वाइब्रेटर्स का अविष्कार किसी और के लिए हुआ था

जी हां, सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने और आपको रोमांचित करनेवाले वाइब्रेटर्स का अविष्कार 19वीं शताब्दी में हीस्टिरिया जैसी बीमारी के प्रभाव को कम करने के लिए हुआ था.

3. सरप्राइज़िंग है स्पर्म रेशियो

एक सामान्य स्वस्थ पुरुष के 1 टीस्पून सिमेन में लगभग 300 मिलियन स्पर्म होते हैं और आपकी पार्टनर को फर्टिलाइज़ करने के लिए आपको स़िर्फ एक हेल्दी स्पर्म की ज़रूरत होती है, जो 6 दिनों तक आपके अंदर ज़िंदा रह सकता है.

4. सेक्स के बाद लोग क्या करते हैं?

ज़्यादातर लोग यही सोचते हैं कि सेक्स के बाद पोस्ट सेक्स बिहेवियर करते हैं, जैसे एक-दूसरे को हग करना, किस करना, पिलो टॉक आदि. पर स्टडी में यह बात सामने आई है कि 35 की उम्र के 36% कपल्स सेक्स के बाद फेसबुक और ट्विटर चेक करते हैं.

5. ऑर्गैज़्म है बहुत हेल्दी

क्या आप जानते हैं कि ऑर्गैज़्म आपकी सेहत के लिए बहुत हेल्दी है? जी हां, यह महिलाओं को हार्ट प्रॉब्लम्स, स्ट्रोक, ब्रेस्ट कैंसर और डिप्रेशन जैसी गंभीर बीमरियों से बचाता है. तो अपने सेक्स लाइफ को एंजॉय करें और हेल्दी रहें.

यह भी पढ़ें: 30 इफेक्टिव टिप्स, जो सेक्स लाइफ को बोरिंग बनने से बचाएं

Sex Facts

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है

यह भी पढ़ें: 7 टाइप के किस: जानें कहां किसिंग का क्या होता है मतलब?

6. सेक्सरसाइज़ मिथ नहीं है

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 30 मिनट की सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान क़रीब 200 कैलोरीज़ बर्न करते हैं. और हां वर्कआउट के दौरान भी आप ऑर्गैज़्म पा सकते हैं.

7. और भी तरीकों से महिलाएं होती हैं रोमांचित

अगर आपको लगता है कि आपकी पार्टनर आपकी सेक्सुअल एक्ट से ही रोमांचित होती है, तो ऐसा नहीं है. महिलाएं पुरुषों की न्यूड बॉडी, फीमेल बॉडी, होमोसेक्सुअल सेक्स, हेट्रोसेक्सुअल सेक्स और एनिमल सेक्स देखकर भी रोमांचित हो जाती हैं.

8. कौन करता है ज़्यादा सेक्स?

पुरुष हमेशा सेक्स के बारे में सोचते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि महिलाएं पुरुषों के मुकाबले 17% ज़्यादा सेक्सुअल एक्टिविटीज़ में इन्वॉल्व रहती हैं. हालांकि पुरुष सेक्स के बारे में ज़्यादा सोचते हैं, पर महिलाएं एक्टिव ज़्यादा हैं.

9. सेक्स से मेमोरी बढ़ती है

महिलाओं की सेक्स लाइफ का सकारात्मक प्रभाव उनकी याद्दाश्त पर पड़ता है. महिलाओं की मेमोरी अच्छी हो जाती है.

10. पीरियड्स सेक्स रिलैक्सिंग है

पीरियड्स के दौरान ज़्यादातर कपल्स सेक्सुअल एक्टिविटीज़ से दूर रहते हैं, पर जिन महिलाओं को बहुत ज़्यादा दर्द नहीं होता, अगर वो उस दौरान सेक्स करें, तो न स़िर्फ उन्हें दर्द में राहत मिलती है, बल्कि उन्हें काफ़ी रिलैक्स भी करता है.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको

 

सेक्स से जुड़ी बहुतसी ऐसी बातें हैं जिनके बारे में शायद ही आपको कोई जानकारी हो. आपकी सेक्स नॉलेज को बढ़ाने के लिए प्रस्तुत है वैज्ञानिकों द्वारा समयसमय पर किए गए सेक्स संबंधी शोध और सर्वे रिपोर्ट्स की संक्षिप्त जानकारी.

Interesting Facts About Sex

1. सप्ताह में दो या तीन बार सेक्स करनेवाले लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है.

2. एक सर्वे के अनुसार, 60% पुरुष चाहते हैं कि सेक्स के लिए औरत पहल करे.

3. सेक्स के दौरान हार्ट अटैक से मरनेवाले पुरुषों में से 85% पुरुष ऐसे होते हैं, जो अपनी पत्नी को धोखा दे रहे होते हैं.

4. जिन लोगों को अनिद्रा की शिकायत हो, उनके लिए सेक्स से बेहतर कुछ हो ही नहीं सकता, क्योंकि सेक्स के बाद अच्छी नींद आती है. रिसर्च के अनुसार, ये नींदवाली दूसरी दवाओं की तुलना में 10 गुना ज़्यादा कारगर है.

5. 20% पुरुषों को ओरल सेक्स से आनंद आता है, जबकि 6% महिलाओं को ये महज़ फोरप्ले का हिस्सा लगता है.

6. अमेरिका में 12-15 साल के किशारों में ओरल सेक्स का चलन तेज़ी से बढ़ रहा है और मज़ेदार बात तो ये है कि वो इसे सेक्सुअल क्रिया मानते ही नहीं.

7. 25 % महिलाएं सोचती हैं कि पुरुष रुपएपैसे से सेक्सी बनता है.

8. ज़्यादा सेक्स करनेवाले पुरुषों की दाढ़ी अपेक्षाकृत तेज़ी से बढ़ती है.

9. लेटेक्स कंडोम की औसत लाइफ़ 2 साल होती है.

10. रोमांटिक उपन्यास पढ़नेवाली औरतें ऐसे उपन्यास न पढ़नेवाली औरतों की तुलना में सेक्स का ज़्यादा आनंद उठा सकती हैं.

यह भी पढ़ें: 7 स्मार्ट ट्रिक्स से सुपरचार्ज करें अपनी सेक्स लाइफ

11. यूनिवर्सिटी ऑफ रोचेस्टर्स के मनोवैज्ञानिकों द्वारा किए गए शोध के अनुसार, पुरुष किसी भी दूसरे रंग के मुक़ाबले लाल रंग के परिधान में महिलाओं की ओर ज़्यादा आकर्षित होते हैं.

12. हाल ही में हुए शोध के अनुसार, जिन महिलाओं में इमोशनल इंटेलिजेन्स (अपनी भावनाओं को समझने के साथसाथ अपने आसपास रहनेवाले लोगों की भावनाओं व ज़रूरतों की समझ) बेहतर होती है, वे सेक्स में उतनी ही अच्छी पार्टनर साबित होती हैं.

13. अक्सर कहा जाता है कि महिलाओं को सेक्स के लिए उत्तेजित होने में कम से कम 20 मिनट का समय लगता है, परंतु शोध से पता चला है कि किसी पुरुष की कल्पना और फोरप्ले से उत्तेजित होने में उन्हें मात्र 10 मिनट लगता है.

14. पुरुष तथा महिलाएं दोनों ही एक दिन में कई बार ऑगैऱ्ज्म का अनुभव कर सकते हैं.

15. अगर किसी महिला में सेक्स उत्तेजना उत्पन्न नहीं होती, तो एक बार ‘बर्थ कंट्रोल पिल्स’ को बदलकर देखें, क्योंकि कई बार अलगअलग पिल्स में पाए जानेवाले हार्मोंस सेक्स की उत्तेजना को प्रभावित करते हैं. इन्हें बदलने से समस्या हल हो सकती है.

Interesting Facts About Sex

 

16. कई बार सीमेन (वीर्य) से ब्लीच जैसी गंध आती है. इससे कोई हानि नहीं है. यह प्राकृतिक डिसइंफेक्टेंट होता है एवं स्पर्म्स को योनि में पाए जानेवाले एसिड के बुरे प्रभाव से बचाता है.

17. एंकलबोन के नीचे एड़ी में सर्कुलर मसाज करने से सेक्सुअल उत्तेजना बढ़ती है.

18. पुरुष रात्रि की नींद के दौरान औसतन 4 या 5 बार इरेक्शन अनुभव करते हैं.

19. रिसर्च द्वारा पता चला है कि जो लड़कियां साइकिल रेस में हिस्सा लेती हैं या हर हफ़्ते 100 मील साइकिल चलाती हैं, उनकी बाह्य जननेंद्रियों का सेंसेशन कम हो जाता है.

20. पेनिस की लंबाई का ऑर्गैज़्म से कोई संबंध नहीं होता, क्योंकि योनि का केवल 1/3 भाग ही संवेदनशील होता है. अगर सेक्स पोज़ीशन सही हो, तो छोटा पेनिस भी ऑर्गैज़्म दे सकता है.

21. जर्मन शोधकर्ताओं के अनुसार, सुरक्षित रिलेशनशिप में महिलाओं की सेक्सुअल इच्छा कम हो जाती है. 4-5 साल साथसाथ रहने के बाद महिलाएं पुरुषों की इच्छानुसार सेक्स करती हैं.

22. ऐसे पुरुष, जिनके अनेक स्रियों से संबंध होते हैं, वे सेक्स को बहुत महत्वपूर्ण तो समझते हैं, परंतु अपने रिलेशनशिप से पूरी तरह संतुष्ट नहीं होते.

23. एक सर्वे के अनुसार, सेक्स के लिए कपल्स की सबसे पसंदीदा जगह बेडरूम के अलावा कार होती है.

24. यूनिवर्सिटी ऑफ ट्रॉम्प में हुए रिसर्च के अनुसार, नीली आंखोंवाले पुरुष अक्सर नीली आंखोंवाली स्री को ही पसंद करतेे हैं. यदि उनका बच्चा भूरी आंखोंवाला हुआ, तो वे सोचते हैं कि उनकी पत्नी ने उनके साथ धोखा किया है. वैसे आनुवांशिकता का नियम भी यही कहता है.

25. महिलाएं पीरियड्स के दौरान या उसके ठीक पहले ज़्यादा सुखद ऑर्गैज़्म का अनुभव करती हैं. ऐसा उनके पेल्विक एरिया में रक्तसंचार के बढ़ने के कारण होता है.

ये भी पढें: ज़िद्दी पार्टनर को कैसे हैंडल करेंः जानें ईज़ी टिप्स

26. सेक्स के दौरान पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं ज़्यादा कल्पनाशील हो जाती हैं. इस तरह की सेक्सुअल फेंटेसी से उन्हें संतुष्टि तो मिलती ही है, आपसी संबंध भी मज़बूत होते हैं.

27. जो पुरुष ज़्यादातर सेक्सुअल फेंटेसी में रहते हैं, वे अपने रोमांटिक रिलेशनशिप से कम संतुष्ट रहते हैं.

28. एक रिसर्च के अनुसार, कॉलेज के दौरान जो लड़के सेक्स में लिप्त रहते हैं, वे अक्सर डिप्रेशन में चले जाते हैं, जबकि सेक्स न करनेवाले विद्यार्थी नॉर्मल रहते हैं.

29. कुछ महिलाओं को सीमेन (वीर्य) से एलर्जी होती है. सीमेन में मौजूद प्रोटीन के कारण उनके जननांग एवंं शरीर के अन्य हिस्सों पर जलन व खुजली की समस्या हो जाती है.

30. अध्ययन बताते हैं कि सेक्स से सिरदर्द व जा़ेडों का दर्द दूर होता है. वास्तव में ऑर्गैज़्म के तुरंत बाद ऑक्सीटोसिन हार्मोन का लेवल 5 गुना बढ़ जाता है, जिससे एंडॉरफिन हार्मोन का स्राव होता है. यह दर्द को दूर भगाता है.

31. सामान्यतः ऐसा समझा जाता है कि प्रेग्नेंसी से सेक्स की इच्छा मर जाती है, परंतु ऐसा नहीं है. गर्भावस्था के दौरान ज़्यादातर महिलाओं की सेक्स की इच्छा या तो बढ़ जाती है या पहले जैसी ही होती है.

32. रिसर्च के अनुसार, सिगरेट नहीं पीनेवालों की सेक्स की इच्छा, आनंद व संतुष्टि सिगरेट पीनेवालों की अपेक्षा ज़्यादा होती है.

33. जर्नल ऑफ सेक्स रिसर्च के अनुसार, कपल्स सामान्य तौर पर फोरप्ले में 11 से 13 मिनट लगाते हैं.

34. एक सर्वे के अनुसार, हफ़्ते में 3 या 4 बार सेक्स करने की इच्छा रखनेवाले पुरुषों व महिलाओं की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है.

35. जर्नल ऑफ सेक्सुअल मेडिसिन में छपी रिपोर्ट के अनुसार, बर्थ कंट्रोल पिल्स लेने से महिलाओं में सेक्स करने की इच्छा कम हो जाती है.

ये भी पढें: बेहतर रिश्ते के लिए पति-पत्नी जानें एक-दूसरे के ये 5 हेल्थ फैक्ट्स

[amazon_link asins=’B018CET8KS,B00Y70VBMK,B01N5XIWFU,B00K6DHF0O’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’79f3b7d2-e54c-11e7-9e30-3bfaabaa1a6b’]

सेक्स से जुड़े मिथक किसी पहेली से कम नहीं. कोई इन्हें सच कहता है, तो कोई सरासर झूठ. ऐसे में क्या है सच और क्या है मिथक?

 

Sex Myths Busted

मिथकः सेक्स फूड खाने से सेक्स का मूड बन जाता है.

सच्चाईः ऐसी बातें महज़ क़िताबों तक सीमित होती हैं, असल ज़िंदगी में लागू नहीं होतीं. हां, ये कहा जा सकता है कि रोज़ाना या नियमित रूप से सेक्स फूड, जैसे- अनार, स्ट्रॉबेरी, तरबूज, गाजर, किशमिश, लहसुन आदि का सेवन सेक्स लाइफ को हेल्दी बनाता है, मगर सेक्स फूड के सेवन के तुरंत बाद सेक्स का मूड बन जाता है, ये स़िर्फ एक भ्रम है.

मिथकः पुरुषों की तरह महिलाएं सेक्स के बारे में कभी नहीं सोचतीं.

सच्चाईः हम ये कह सकते हैं कि पुरुषों के मुक़ाबले महिलाएं सेक्स के बारे में कम सोचती हैं, मगर ये कतई नहीं कह सकते कि महिलाएं सेक्स के विषय में सोचती ही नहीं हैं. रिसर्च की मानें तो न स़िर्फ पुरुष, बल्कि महिलाएं भी सेक्स के बारे में सोचती हैं, लेकिन ऐसा उस वक़्त होता है, जब वो हार्मोनल बदलाव के दौर से गुज़रती हैं.

ये भी पढें: जानें कौन-सी दवा का सेक्स लाइफ पर क्या साइड इफेक्ट होता है
मिथकः महिलाएं पॉर्न मूवी देखना पसंद नहीं करतीं.

सच्चाईः पॉर्न मूवी के नाम पर भले ही हमेशा से पुरुषों को बदनाम किया जाता है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि महिलाएं पॉर्न मूवी देखना पसंद नहीं करतीं. ये बात सर्वे से भी साबित हो चुकी है कि पुरुषों की तरह महिलाएं भी पॉर्न मूवी देखना पसंद करती हैं. हां, पुरुषों की तरह महिलाएं इस बात को स्वीकार नहीं करतीं, इसलिए लोग इस ग़लतफ़हमी में रहते हैं कि महिलाएं पॉर्न मूवी देखना पसंद नहीं करतीं.

मिथकः सेक्स के दौरान महिला पार्टनर अगर सुखद आवाज़ें न निकाले, तो इसका मतलब वो सेक्स क्रिया को एंजॉय नहीं कर रही.

 

Sex Myths Busted
सच्चाईः ये बात शत-प्रतिशत झूठ है. सेक्स के दौरान, ख़ासकर
ऑर्गेज़्म के वक़्त कुछ महिलाएं सुखद आवाज़ें निकालती हैं, मगर ये ज़रूरी नहीं कि सारी महिलाएं ऐसा ही करें. अगर वो ऐसा नहीं करतीं, तो वो सेक्स क्रिया को एंजॉय नहीं कर रही हैं, ऐसा नहीं है. विशेषज्ञों की मानें तो हर कोई अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करे, ये ज़रूरी नहीं, कई महिलाएं चुप रहकर ही सेक्स क्रिया का आनंद लेती हैं.

मिथकः सेक्स पोजीशन में बदलाव महिलाओं को प्रेग्नेंट होने से बचाता है.

सच्चाईः कई लोग इस बात को सच मानते हैं, लेकिन ये सरासर ग़लत है. प्रेग्नेंसी का संबंध स्पर्म से होता है न कि सेक्स की किसी ख़ास पोजीशन से. कोई भी महिला तभी प्रेग्नेंट होती है, जब वो पुरुष स्पर्म के संपर्क में आती है. ऐसे में सेक्स पोज़ीशन कैसी थी, कैसी नहीं, प्रेग्नेंसी के लिए ये बात मायने नहीं रखती.

मिथकः सुरक्षित सेक्स के लिए दो कॉन्डम का इस्तेमाल बेहतरीन विकल्प है.

सच्चाईः सेक्स के दौरान कॉन्डम फटने की वजह से लोग ऐसा सोचते हैं, लेकिन ये सच नहीं है. दो कॉन्डम का इस्तेमाल करने से इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि कॉन्डम को क्षति नहीं पहुंचेगी. हो सकता है, दो कॉन्डम इस्तेमाल करने पर भी वो फट जाएं.

मिथकः सेक्स के बाद अगर महिला प्रेग्नेंट होती है, तो प्रेग्नेंसी के लक्षण तुरंत दिखाई देते हैं.

सच्चाईः इस बात में ज़रा भी सच्चाई नहीं है. सेक्स के तुरंत बाद तो क्या, कई बार कई महीने बीत जाने पर भी प्रेग्नेंसी के लक्षण नहीं दिखते, जबकि कुछ मामलों में एक महीने के अंदर महिलाओं में ये लक्षण दिखने लगते हैं. विशेषज्ञों की मानें, तो ये बात महिलाओं के स्वास्थ्य पर निर्भर करती है.

मिथकः सेक्स पुरुष प्रधान क्रिया है.

सच्चाईः ये सोच सरासर ग़लत है कि सेक्स पुरुष प्रधान क्रिया है. सेक्स की न स़िर्फ इच्छा, बल्कि ज़रूरत भी स्त्री-पुरुष दोनों को होती है. हां, ये बात और है कि पुरुष अपनी इच्छा ज़ाहिर कर देते हैं, मगर महिलाएं कभी संकोचवश, तो कभी शर्म के मारे सेक्स की पहल नहीं करतीं, लेकिन सेक्स में उनकी रुचि नहीं होती, ऐसा नहीं कह सकते.

मिथकः ड्रिंक करके सेक्स करने से सेक्स का मज़ा दुगुना हो जाता है.

सच्चाईः ड्रिंक करने (शराब पीने) के बाद सेक्स करने से सेक्स का मज़ा बढ़ जाता है, ये बात भी ग़लत है. दरअसल, ड्रिंक से सेक्स का कोई संबंध नहीं होता, बल्कि कई बार शराब का सेवन सेक्स के अनुभव से आपको वंचित कर देता है, तो कई बार शराब पीने से सेक्स का सारा मज़ा किरकिरा हो जाता है.

मिथकः महिलाएं फैंटेसी सेक्स में शामिल नहीं होतीं.

सच्चाईः अगर आप भी ऐसा सोचते हैं, तो आप ग़लत हैं. सर्वे के अनुसार, पुरुष जिस तरह सेक्स क्रिया के दौरान फैंटेसी की दुनिया में खो जाते हैं, उसी तरह महिलाएं भी फैंटेसी की दुनिया में जाकर सेक्स क्रिया को एंजॉय करती हैं. हां, ये कहा जा सकता है कि इस मामले में पुरुषों की संख्या महिलाओं से अधिक है.

ये भी पढें: सेक्स अलर्टः इन 10 स्थितियों में न करें सेक्स
मिथकः अच्छे फिगर वाली महिलाएं बेहतर सेक्स पार्टनर साबित होती हैं.

सच्चाईः पुरुषों में ख़ासकर ये ग़लत धारणा होती है कि अच्छे फिगर वाली महिलाएं बेहतर सेक्स पार्टनर साबित होती हैं, लेकिन ये ज़रूरी नहीं है. सर्वे के ज़रिए कई पुरुषों ने इस बात को साबित कर दिया है कि सेक्स क्रिया के दौरान उनका ध्यान पार्टनर के फिगर पर नहीं, बल्कि सेक्स क्रिया पर होता है.

मिथकः अगर पहली बार आप सेक्स में असफल हो जाते हैं, तो इसका मतलब आप में कमी है.

सच्चाईः ये एक ग़लत धारणा है. जिस तरह हर चीज़ की प्रैक्टिस ज़रूरी होती है, उसी तरह बेहतर सेक्स का आनंद भी कई बार प्रैक्टिस करने के बाद मिलता है. हो सकता है, शुरुआती दौर में आप सेक्स को उस तरह एंजॉय न कर पाएं, जिस तरह कई बार प्रैक्टिस के बाद.

[amazon_link asins=’B00I3WXYCS,B007M5QJYW,B00LB06TZI,B00MDEBHNA’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’ec894d12-b8b2-11e7-b4dd-19a55a058182′]

 

– औसतन हर पुरुष हर सात सेकंड में एक बार सेक्स के बारे में सोचता है. (Interesting facts about sex)

– 25% महिलाएं सोचती हैं कि पुरुष पैसों से सेक्सी बनता है.

– अच्छी नींद के लिए सेक्स सबसे अच्छी दवा है. ये नींदवाली दूसरी दवाओं की तुलना में 10 गुना ज़्यादा कारगर है.

– ज़्यादा सेक्स करनेवाले पुरुषों की दाढ़ी अपेक्षाकृत तेज़ी से बढ़ती है.

– लेटेक्स कंडोम की औसत लाइफ 2 साल होती है.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

– सेक्स करने से प्रति घंटे 360 कैलोरी बर्न होती है. (Interesting facts about sex)

– रोमांटिक उपन्यास पढ़नेवाली महिलाएं ऐसे उपन्यास न पढ़नेवाली महिलाओं की तुलना में सेक्स का ज़्यादा आनंद उठा सकती हैं.

– औसतन इंसान अपनी पूरी ज़िंदगी में से लगभग दो ह़फ़्ते किस करने में बिताता है.

– क्या आप जानते हैं कि इंसान और डॉल्फिन ही मात्र ऐसे हैं, जो आनंद के लिए सेक्स करते हैं.

– सांप को दो सेक्स ऑर्गन होते हैं.

– कुछ शेर दिन में 50 बार सेक्स करते हैं.

यह भी पढ़ें: सेफ सेक्स के 20 + असरदार ट्रिक्स

– चूहे दिन में 20 बार तक सेक्स का आनंद उठा सकते हैं. (Interesting facts about sex)

– सेक्स के दौरान हार्ट अटैक से मरनेवाले पुरुषों में से 85% पुरुष ऐसे होते हैं, जो अपनी पत्नी को धोखा दे रहे होते हैं.

– सेक्स पेनकिलर का काम तो करता ही है, साथ ही ये तीन तरह से और फ़ायदेमंद है-
1. ये माहवारी के समय होनेवाली तकलीफ़ों को कम करता है.
2. माइग्रेन का ददर्र् उठने पर सेक्स करने से फ़ौरन राहत मिल जाती है.
3. ह़फ़्ते में दो बार सेक्स करनेवाले लोगों के शरीर में इम्यूनोग्लोब्यूलिन ए की मात्रा ज़्यादा पाई जाती है, जो सर्दी से शरीर को सुरक्षा करता है.

– सेक्स में रुचि कम हो गर्ई है, तो स्केटिंग या कोई एक्सरासाइ़ज़ करें, आपमें सेक्स की इच्छा दोबारा जाग जाएगी.

यह भी पढ़ें: नवविवाहितों के लिए 20 सेक्स रूल्स