Tag Archives: sex life

सेक्स प्रॉब्लम्स- मुझे और मेरे पति को सेक्स में प्लेज़र नहीं मिलता… (Sex Problems- My Husband And I Aren’t Able To Enjoy Sex…)

Sex Problems

Sex Problems

मैं 37 वर्षीया महिला हूं और 10 साल से शादीशुदा हूं. हमारी लव मैरिज हुई थी और शादी से 4 साल पहले से ही हमने फिज़िकल रिलेशन बना लिए थे. समस्या यह है कि मुझे और मेरे पति को सेक्स में इतना प्लेज़र नहीं मिलता, जितना पहले मिलता था. क्या इसकी वजह मेरे वेजाइना का लूज़ होना है?

– राधिका सक्सेना, मध्य प्रदेश.

आप ही की तरह अधिकांश महिलाएं वेजाइना के लूज़ होने की समस्या से चिंतित रहती हैं. समय के साथ वेजाइना का लूज़ होना स्वाभाविक है, लेकिन सेक्सुअल प्लेज़र न मिलने का मात्र यही एक कारण नहीं होता. आपके केस में क्या वजह है यह अभी कहना संभव नहीं. यदि वेजाइना का लूज़ होना ही कारण है, तो आप कुछ एक्सरसाइज़ और टेक्नीक सीखकर वेजाइनल मसल्स को टोन कर सकती हैं.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- सेक्स के दौरान मेरी पत्नी को दर्द महसूस होता है (Sex Problems- My Wife Feels Pain During Sex)

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेरी सेक्स की चाह भी बढ़ती जा रही है… (Sex Problems- My Desires For Sex Is Also Increasing With Age…)

मैं 21 साल की हूं और आजकल मैं देखती-सुनती हूं कि शादी से पहले सेक्स काफ़ी आम हो गया है. यहां तक कि मुझे भी मेरे क्लासमेट्स और अंजान लोग तक भी सेक्स के लिए ऑफर करते हैं, पर मैंने अब तक एक्सेप्ट नहीं किया. मैं जानना चाहती हूं कि अगर मैं सेक्स करती हूं, तो इसके क्या नुक़सान हो सकते हैं?

– सान्या, अजमेर.

आजकल कैज़ुअल सेक्स आम बात हो गई है. कॉन्ट्रासेप्शन से लेकर प्राइवेसी तक सब चीज़ आसानी से मिल जाती है. प्रीमैरिटल सेक्स पर्सनल चॉइस है कि आपको करना है या नहीं. जहां तक फ़ायदे-नुक़सान की बात है, तो हर चीज़ की क़ीमत तो अदा करनी ही पड़ती है. कुछ चीज़ों का फ़ायदा-नुक़सान फ़ौरन नज़र आ जाता है, तो कुछ का भविष्य में. इस तरह के कैज़ुअल सेक्स का असर आगे चलकर आपकी शादीशुदा ज़िंदगी पर पड़ सकता है. बेहतर होगा सोच-समझकर फैसला करें.

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A

हेल्थ प्रॉब्लम्स प्रभावित करती हैं आपकी सेक्स लाइफ (Health Problems That Affect Your Sex Life)

Sex Life

हेल्थ प्रॉब्लम्स प्रभावित करती हैं आपकी सेक्स लाइफ (Health Problems That Affect Your Sex Life)

बीमारियों के चलते हम न स़िर्फ सेहतमंद ज़िंदगी के सुख से वंचित रह जाते हैं, बल्कि सेक्स क्रिया का सुख भी नहीं भोग पाते हैं. बीमारियों का हमारी सेक्स लाइफ पर क्या असर होता है तथा ये हमारी सेक्स लाइफ को किस तरह प्रभावित करती हैं? आइए, हम आपको बताते हैं.

 

धूल-मिट्टी, प्रदूषण, बदलती लाइफ स्टाइल और बदलते मौसम के चलते आए दिन हमें कई बीमारियों का सामना करना पड़ता है. ये बीमारियां हमारी सेहतमंद ज़िंदगी को प्रभावित करने के साथ ही हमारी सेक्स लाइफ पर भी गहरा असर डालती हैं. जानिए कौन-सी बीमारी से कैसे निपटना चाहिए?

डायबिटीज़

डायबिटीज़ का सेक्स लाइफ पर गहरा असर होता है. यह रोगी की कामेच्छा, परफॉर्मेंस और ऑर्गेज़्म को बुरी तरह से प्रभावित करता है. कई बार डायबिटीज़ के रोगी नपुंसक तक हो जाते हैं. जो लोग इंसुलिन लेते हैं, वो कई बार सेक्स क्रिया के दौरान अधिक उत्तेजना के चलते हाइपोग्लेसेमिया की चपेट में भी आ जाते हैं. सेक्स क्रिया के दौरान चक्कर आना, कंपन, धड़कनों का तेज़ होना, ध्यान केद्रिंत न कर पाना जैसी तकली़फें हाइपोग्लेसेमिया के संकेत हैं.

कैसे निपटें?

यदि हाइपोग्लेसेमिया का कोई भी संकेत नज़र आए, तो तुरंत शुगर की गोलियां लें. सेक्स क्रिया से पहले एक्स्ट्रा स्टार्ची कार्बोहाइड्रेट युक्त फूड, जैसे-पास्ता, चावल या ब्रेड खाने से बचें. साथ ही शुगर लेवल को भी नियंत्रण में रखें.

कोरोनरी हार्ट डिसीज़

कोरोनरी हार्ट पेशेंट को सेक्स के दौरान सांस लेने में तकलीफ़ या छाती में दर्द होने की संभावना हो सकती है, क्योंकि सेक्स क्रिया को अंजाम देते वक़्त अधिकांशतः कोरोनरी हार्ट डिसीज़ पेशेंट का हार्ट रेट बढ़ने लगता है तथा ब्लड प्रेशर भी हाई हो जाता है. ऐसे में यदि लगातार दो घंटे तक सेक्स क्रिया चलती रहे, तो अटैक आने की संभावना और भी बढ़ जाती है.

कैसे निपटें?

जिन हार्ट पेशेंट को हाल ही में हार्ट अटैक आया हो, उन्हें 3 से 6 सप्ताह तक सेक्स से परहेज़ करना चाहिए. कोरोनरी हार्ट डिसीज़ से पीड़ित रोगी को यदि डायबिटीज़ हो, तो अटैक आने की गुंज़ाइश और अधिक बढ़ जाती है. ऐसे पेशेंट को तभी सेक्स करना चाहिए, जब उनका ब्लड प्रेशर व पल्स रेट नॉर्मल हो. साथ ही ऐसे पेशेंट्स को भोजन के 3 घंटे बाद तक सेक्स से परहेज़ करना चाहिए.

मोटापा

हालांकि मोटापा एक आम समस्या है, लेकिन मोटापा सेक्स लाइफ को काफ़ी हद तक प्रभावित करता है. मोटापा न स़िर्फ संबंधित व्यक्ति की कामेच्छा को प्रभावित करता है, बल्कि उसके परफॉर्मेंस पर भी गहरा असर डालता है. कई बार मोटे व्यक्ति ऑर्गेज़्म का सुख भी नहीं भोग पाते हैं.

कैसे निपटें?

मोटापा न स़िर्फ आपकी सेक्स लाइफ को प्रभावित करता है, बल्कि स्वास्थ्य की दृष्टि से भी ठीक नहीं है. अतः सबसे पहले मोटापा कम करने की कोशिश करें. तली-भुनी चीज़ों के सेवन से परहेज़ करें. एक्सरसाइज़ एवं योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें, ताकि आप सेक्स का भरपूर आनंद उठा सकें.

यह भी पढ़ें: पार्टनर को रोमांचित करेंगे ये 10 हॉट किसिंग टिप्स

Sex Life
अस्थमा

अस्थमा से पीड़ित रोगियों में सेक्स क्रिया के दौरान अधिक उत्तेजना के चलते अस्थमा का अटैक आने की संभावना होती है. कई बार महिलाओं में उनके पार्टनर के सेमिनल फ्लूइड में मौजूद प्रोटीन्स की एलर्जी के कारण भी सेक्स के दौरान अस्थमैटिक अटैक आने का ख़तरा बना रहता है. कई महिलाओं एवं पुरुषों को लैटेक्स एलर्जी के कारण कंडोम यूज़ करने पर अस्थमैटिक अटैक आने की गुंजाइश होती है.

कैसे निपटें?

सेक्स क्रिया से पहले ब्रोंकोडिलेटर थेरेपी लें. इससे आपको आराम मिलेगा. डॉक्टर की सलाह पर उचित एक्सरसाइज़ एवं दवाइयां भी आपको राहत दिलाएंगी.

हाइपोथायरॉइज़्म

हाइपोथायरॉइज़्म से पीड़ित व्यक्ति के शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव आते हैं, जैसे- अचानक से वज़न का बढ़ना, ज़्यादा गर्मी का एहसास होना आदि. नतीजतन ऐसे व्यक्ति की कामेच्छा भी कम हो जाती है.

कैसे निपटें?

डॉक्टर की मदद से थायरॉइड को कंट्रोल में रखने की कोशिश करें. इससे आपकी सेक्स लाइफ में संतुलन बना रहेगा.

पीठदर्द

पीठदर्द की वजह से न स़िर्फ आपकी दिनचर्या की गति धीमी हो जाती है, बल्कि आपकी सेक्स लाइफ भी प्रभावित होती है. कई बार सेक्स के दौरान ग़लत पोश्‍चर भी पीठदर्द का कारण बन जाता है, तो कई बार पीठदर्द के चलते सेक्स क्रिया का भरपूर आनंद नहीं लिया जा सकता.

कैसे निपटें?

सही एवं उचित पोश्‍चर में सेक्स क्रिया को अंजाम देने की कोशिश करें. पति-पत्नी दोनों में से जिसे पीठदर्द की शिकायत न हो, उसे टॉप पोजीशन अपनाने को कहें, जैसे- यदि पति को पीठदर्द की शिकायत है, तो पत्नी को तथा पत्नी को पीठदर्द की शिकायत है, तो पति को टॉप पोजीशन लेने को कहें. इसके साथ ही भुजंगासन, शलभासन, सुलभ उत्तासन, सर्पासन आदि आसन करें. इससे पीठदर्द से आराम मिलेगा.

आर्थराइटिस

आर्थराइटिस से पीड़ित रोगी की सेक्स लाइफ भी काफ़ी प्रभावित होती है. सेक्स में अधिक एक्सपेरिमेंट या मुद्राओं का प्रयोग ऐसे व्यक्तियों के लिए घातक साबित होता है तथा नए एक्सपेरिमेंट से उन्हें कई तरह की तकली़फें भी होती हैं.

कैसे निपटें?

सेक्स के दौरान ऐसे आसनों का प्रयोग करें, जिनसे जोड़ों पर अधिक दबाव न पड़े. हो सके तो पार्टनर को ही सेक्स क्रिया के दौरान एक्टिव रहने की सलाह दें.

 

यह भी पढ़ें: कंडोम से जुड़े 10 Interesting मिथ्स और फैक्ट्स

यह भी पढ़ें:  नहीं जानते होंगे आप ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये 10 बातें

 

सेक्स प्रॉब्लम्स- सेक्स के दौरान मेरी पत्नी को दर्द महसूस होता है (Sex Problems- My Wife Feels Pain During Sex)

Sex Problems

मैं 28 साल का हूं. मेरी पत्नी 25 साल की है. हमारी शादी को दो साल हो गए. पहले हम सेक्स को काफ़ी एंजॉय करते थे, लेकिन पिछले कुछ समय से सेक्स के दौरान मेरी पत्नी को दर्द महसूस होता है. इसका क्या कारण हो सकता है?

– आनंद पटेल, दिल्ली.

आप दोनों पहले सेक्स को एंजॉय करते थे, इसका मतलब है कि अब कोई न कोई समस्या ज़रूर होगी. बेहतर होगा कि आप इस समस्या को इग्नोर न करें, क्योंकि हो सकता है आपकी पत्नी को कोई वेजाइनल इंफेक्शन हो गया हो, जिस वजह से यह दर्द होने लगा है. आप बिना देर किए डॉक्टर की सलाह लें.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- मैं बहुत फ्रस्ट्रेशन महसूस करने लगी हूं, क्या करूं? (Sex Problems- I Feel Frustrated What Should I Do?)

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या जिम जाने से सेक्सुअल प्रॉब्लम होती है? (Sex Problems- Does Going To The Gym Cause Sexual Problems?)

मैं 26 साल की हूं. मेरी शादी को एक साल हो गया है, लेकिन मेरे पति सेक्स को लेकर काफ़ी नीरस हैं. हम महीने में मात्र दो-तीन बार ही सेक्स करते हैं, जबकि मेरी इच्छा होती है कि हमें हफ़्ते में दो-तीन बार तो सेक्स करना ही चाहिए. हालांकि वो मेरा काफ़ी ख़्याल रखते हैं, लेकिन सेक्स को लेकर इतने नीरस क्यों हैं, पता नहीं. क्या मैं अपनी बहन या मम्मी से इस बारे में बात करूं?

– नीता शिंदे, पुणे.

सबसे पहले आपको अपने पति से ही बात करनी चाहिए. हो सकता है उनको इस बात का अंदाज़ा भी न हो कि आप क्या महसूस कर रही हैं. दरअसल, सेक्स को लेकर हर इंसान की सोच व ज़रूरत अलग होती है. इसके लिए कोई नियम नहीं है कि किसे कितना सेक्स करना चाहिए. हो सकता आपके पति के सेक्स की ज़रूरत आपसे कम हो. जैसा कि आपने बताया कि वो आपका ख़्याल रखते हैं, तो इसका मतलब है कि ऐसी कोई बड़ी समस्या नहीं है. आप उनसे बात करें और अपनी इच्छा ज़ाहिर करें, वो ज़रूर इस पर ध्यान देंगे. बेवजह अपने परिवारवालों को पर्सनल बातों में शामिल न करें, क्योंकि यह बात आपके पति को बुरी लग सकती है.

Dr. Rajiv Anand

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A

सेक्स प्रॉब्लम्स- पहले मैं सेक्स को ज़्यादा एंजॉय करता था (Sex Problems- First I Used To Enjoy Sex More)

Sex Problems

मैं 34 साल का हूं. मेरी शादी को 3 साल हो गए हैं. पिछले कुछ समय से मैं सेक्स के दौरान बहुत जल्दी डिस्चार्ज हो जाता हूं, जिससे मुझे तो संतुष्टि मिल जाती है, लेकिन मेरी पत्नी को ऑर्गेज़्म नहीं मिल पाता, जबकि पहले ऐसा नहीं होता था. पहले मैं सेक्स को ज़्यादा एंजॉय करता था और ऑर्गेज़्म तक पहुंचने में भी व़क्त लगता था.

– सुरेश मुखर्जी, पटना.

इसकी कई वजहें हो सकती हैं. हो सकता है आप सेक्स के दौरान बहुत अधिक उत्तेजित हो जाते हों, जिससे डिस्चार्ज हो जाता है. हो सकता है आप मानसिक रूप से कुछ परेशान हों या फिर आपकी डायट व नींद ठीक से न हो रही हो. बेहतर होगा कि आप इस बात को दिमाग़ से निकाल दें और सेक्स से पहले रिलैक्स रहें. इसके अलावा आप कंडोम का प्रयोग करें, इससे भी काफ़ी फ़र्क़ पड़ेगा.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेरी सेक्स की चाह भी बढ़ती जा रही है… (Sex Problems- My Desires For Sex Is Also Increasing With Age…)

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या यह मेरी हेल्थ पर या रिश्तों पर बुरा असर डाल सकता है? (Sex Problems- Can It Have A Bad Effect On My Health Or Relationship?)

मैं 24 साल की हूं और मेरी हाल ही में शादी हुई है. हम अभी बच्चा प्लान नहीं करना चाहते, लेकिन पिछले कुछ समय से हम मेरे पीरियड्स के दौरान बिना प्रोटेक्शन के सेक्स कर रहे हैं. मैं कोई कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स भी नहीं ले रही. क्या ऐसे में मैं प्रेग्नेंट हो सकती हूं?

– आशा मिश्रा, अहमदाबाद.

पीरियड्स के दौरान सेक्स करने से प्रेग्नेंसी की संभावना बहुत कम रहती है, लेकिन इस दौरान अनप्रोटेक्टेड सेक्स करने से बीमारियां हो सकती हैं. यह बेहद ख़तरनाक है. आपके लिए भी यह कष्टदायक होगा और आपके पति भी कई तरह की बीमारियों के शिकार हो सकते हैं. इस दौरान भी अगर सेक्स करना ही है, तो बेहतर होगा कि कंडोम का इस्तेमाल ज़रूर करें.

Dr. Rajiv Anand

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A

कंडोम से जुड़े 10 Interesting मिथ्स और फैक्ट्स (10 Interesting Myths And Facts Related To Condoms)

यह सच है कि आज भी समाज में सेक्स और सुरक्षित यौन संबंधों को लेकर ज़्यादा बात नहीं होती और न ही इसे अधिक तवज्जो दी जाती है, जिसके परिणाम गंभीर हो सकते हैं और होते भी हैं. दरअसल, लोगों में आज भी कंडोम को लेकर बहुत-सी भ्रांतियां और ग़लतफ़हमियां हैं, जिन्हें दूर करना ज़रूरी है, ताकि आप सुरक्षित यौन संबंध बना सकें और कई तरह के यौन रोगों से बचे रहें.

Myths And Facts Related To Condoms

1. दो कंडोम एक साथ यूज़ करना ज़्यादा सुरक्षित रहता है.

ये सबसे बड़ी ग़लतफ़हमी है. एक साथ दो कंडोम का इस्तेमाल करने से आपको किसी भी तरह से अधिक सुरक्षा नहीं मिलेगी, बल्कि उससे असुविधा अधिक होगी. बेहतर होगा एक ही कंडोम यूज़ करें.

2. अगर मेरी पार्टनर कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स ले रही है, तो कंडोम यूज़ करना ज़रूरी नहीं.

कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स आपको अनचाहे गर्भ से कुछ हद तक सुरक्षा प्रदान तो करती हैं, लेकिन सेक्सुअली ट्रान्समिटेड डिसीज़ से नहीं. बेहतर होगा कि सुरक्षित यौन संबंधों के लिए कंडोम भी यूज़ करें.

3. कंडोम से मेरी सेंसिटिविटी कम हो जाती है और सेक्स सुख उतना अधिक नहीं मिल पाता.

यह महज़ एक ग़लत धारणा है. कंडोम से आपकी सेक्सुअल क्रिया अपेक्षाकृत लंबी चल सकती है. आजकल अलग-अलग फ्लेवर्स और प्रकार के कंडोम उपलब्ध हैं, आपको अपनी सुविधानुसार सही कंडोम सिलेक्ट करना है.

4. कंडोम आसानी से फट जाते हैं.

नहीं, आपको स़िर्फ उन्हें सही ढंग से पहनने की ज़रूरत है. पहनते व़क्त यह ध्यान रहे कि टिप पर कोई एयर बबल न हो.

5. कंडोम्स की एक्सपायरी डेट नहीं होती.

जी नहीं, उनकी भी एक्सपायरी डेट होती है. आप पैकेट पर तारीख़ चेक करें और एक्सपायर्ड कंडोम यूज़ न करें, क्योंकि उससे खुजली, जलन, रैशेज़ जैसी समस्या हो सकती है. वो फट सकता है, क्योंकि उसकी फ्लैक्सीबिलिटी और इलास्टिसिटी ख़त्म हो चुकी होती है.

यह भी पढ़ें: पार्टनर को रोमांचित करेंगे ये 10 हॉट किसिंग टिप्स

6. एक्स्ट्रा लुब्रिकेशन की ज़रूरत होती है कंडोम के साथ.

कंडोम्स लुब्रिकेटेड ही होते हैं, लेकिन यदि आप और लुब्रिकेशन चाहते हैं, तो वॉटर या सिलिकॉन बेस्ड लुब्रिकेंट्स ही यूज़ करें, क्योंकि ऑयल बेस्ड लुब्रिकेंट्स से कंडोम फट सकता है. दरअसल ऑयल में कंडोम का रबर घुलने लगता है, जिससे वो फट सकता है.

7. लैटेक्स एलर्जी आपको कंडोम के इस्तेमाल से रोकती है.

लैटेक्स एलर्जी आपको अनप्रोटेक्टेड सेक्स करने के लिए बाध्य नहीं कर सकती. नॉन लैटेक्स कंडोम भी बाज़ार में मिलते हैं. आप इनके बारे में पता करें और यूज़ करें.

8. ओरल या ऐनल सेक्स के लिए कंडोम यूज़ करना ज़रूरी नहीं.

बहुत-सी सेक्सुअल बीमारियां और इंफेक्शन्स ओरल व ऐनल सेक्स से भी फैलते हैं, इसलिए कंडोम को नज़रअंदाज़ न करें.

9. कंडोम ख़रीदने के लिए आपको 18 साल का होना ज़रूरी है.

आप किसी भी उम्र में कंडोम ख़रीद सकते हैं. इसके लिए उम्र की बंदिश नहीं है.

10. मैं स़िर्फ अच्छे और डीसेंट पार्टनर के साथ ही सेक्स करता/करती हूं, जिसमें कंडोम यूज़ करने की ज़रूरत नहीं.

आप किसी को देखकर या महज़ अनुमान लगाकर यह पता नहीं लगा सकते कि उसकी सेक्स लाइफ कैसी है और वो किन-किन लोगों के साथ सेक्स कर चुका है. बेहतर होगा यौन रोगों से सुरक्षित रहने के लिए कंडोम यूज़ करें और महिलाएं भी अपने पार्टनर से बेझिझक कंडोम यूज़ करने को कहें.

– योगिनी भारद्वाज

यह भी पढ़ें:  नहीं जानते होंगे आप ऑर्गैज़्म से जुड़ी ये 10 बातें

यह भी पढ़ें: ओरल सेक्स से जुड़े 5 मिथ्स और फैक्ट्स

सेक्स प्रॉब्लम्स- उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेरी सेक्स की चाह भी बढ़ती जा रही है… (Sex Problems- My Desires For Sex Is Also Increasing With Age…)

My Desires For Sex

मेरी उम्र 45 वर्ष है और मेरे पति 50 के हैं. मुझे यह महसूस हो रहा है कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ मेरी सेक्स की चाह भी बढ़ती जा रही है. मुझे महीने में 8-10 बार सेक्स करने की इच्छा होती है, जबकि 30-40 की उम्र में यह चाह कम थी (5 बार महीने में). क्या यह ग़लत है?

– गुलशन साहनी, फिजी.

जब तक कि आप दोनों सहज महसूस करते हों, इसमें कुछ भी ग़लत नहीं है. अक्सर ऐसा होता है कि बड़ी उम्र में महिलाएं अधिक रिलैक्स महसूस करती हैं, क्योंकि इस उम्र तक आते-आते वो बच्चों से लेकर अन्य तमाम ज़िम्मेदारियों से मुक्त हो चुकी होती हैं. यह सामान्य है, तो घबराएं नहीं.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- कैसे पता चले कि सेक्स प्रॉब्लम है?

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- पत्नी को संतुष्ट नहीं कर पाता हूं

मैं 17 साल की कॉलेज स्टूडेंट हूं. मेरा बॉयफ्रेंड हमेशा इस बात पर ज़ोर देता है कि हमें नियमित रूप से सेक्स करना चाहिए. हालांकि मुझे उसका साथ अच्छा लगता है, लेकिन हमेशा सेक्स करना मुझे ठीक नहीं लगता. पर वो स़िर्फ सेक्स की ही चाह रखता है.

– स्मृति, मुंबई.

सबसे पहले आपको यह जानना होगा कि क्या वो लड़का आपके साथ भविष्य में सेटल होगा? अगर हां, तो उसे आपकी इच्छाओं और भावनाओं का सम्मान करना चाहिए. लेकिन अगर उसका सेटल होने का कोई इरादा नहीं है, तो वो स़िर्फ आपको व आपके शरीर को यूज़ कर रहा है. ऐसे में आप ख़ुद निर्णय लें, क्योंकि इस तरह के रिश्ते आगे चलकर सामाजिक व भावनात्मक तौर पर काफ़ी प्रभावित करते हैं. बेहतर होगा काउंसलर की मदद लें.

 Dr. Rajiv Anand

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A

 

सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या यह मेरी हेल्थ पर या रिश्तों पर बुरा असर डाल सकता है? (Sex Problems- Can It Have A Bad Effect On My Health Or Relationship?)

 

Sex Problems

मैं 43 साल की शादीशुदा महिला हूं. मुझे अपने फैमिली डॉक्टर के प्रति आकर्षण महसूस होता है. वो 40 साल के हैं. काफ़ी हैंडसम और व्यवहारकुशल हैं. मैं उनके बारे में फैंटसाइज़ करती हूं, जिससे मुझे सेक्सुअल संतुष्टि में भी सहायता मिलती है. पति के साथ मेरे सेक्स रिलेशन बहुत अच्छे नहीं हैं, लेकिन क्या यह मेरी हेल्थ पर या रिश्तों पर बुरा असर डाल सकता है?

 – सुनीता कुमारी, गोरखपुर.

अगर आप अपने क्रश को लेकर सेक्सुअली संतुष्ट होती हैं, तो इसमें कोई बुराई नहीं है. जब तक आप इस स्थिति को समझदारी व एक दायरे में रहकर हैंडल करेंगी, तब तक यह आपको नुक़सान नहीं पहुंचाएगी. सेक्सुअल संतुष्टि के लिए अगर आप किसी को ध्यान में भी ला रही हैं, तो यह पूरी तरह आपका पर्सनल मामला है, बशर्ते इससे सामाजिक तौर पर कोई ऐसी परिस्थिति खड़ी न हो, जिससे आपको असहज महसूस हो. जब तक आप ख़ुद पर नियंत्रण रखेंगी और इस फैंटसी व आकर्षण को सीमा में रखेंगी, तब तक कोई द़िक्क़त नहीं होगी.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- कहीं मेरे पति मुझे ग़लत न समझ लें…

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या उम्रदराज़ होने पर सेक्स कर सकते हैं? 

मैं कामकाजी महिला हूं. ऑफिस के काम से अक्सर टूर पर रहती हूं. मैं पोस्ट मेनोपॉज़ल फेज़ से गुज़र रही हूं. मैं न जाने क्यों ख़ुद को अनअट्रैक्टिव व उपेक्षित महसूस करती हूं, जबकि मैं देखने में काफ़ी आकर्षक हूं. एक टूर के दौरान ही 35 साल के युवक के साथ मैंने कुछ समय बिताया, लेकिन उससे भी मैं असंतुष्ट ही रही. मुझे काफ़ी बुरा भी लगा. क्या यह सब मेनोपॉज़ की वजह से हो रहा है?

– रंजना पी, सूरत.

मेनोपॉज़ एक अहम् भूमिका अदा करता है किसी भी महिला के जीवन में, लेकिन उससे न तो ज़िंदगी रुकती है, न ही सेक्स की चाह ख़त्म हो जाती है.  आप एक सामान्य महिला हैं और परिस्थितियों में बहकर ऐसा क़दम उठाना भी सामान्य बात है. आपने उस संबंध को एंजॉय नहीं किया, इसके कई अन्य कारण हो सकते हैं. सेक्सुअल रिलेशन में एक-दूसरे के प्रति सम्मान, सहजता व प्यार का भाव काफ़ी महत्वपूर्ण होता है. इस तरह के रिश्ते दो शरीर को तो क़रीब ला सकते हैं, लेकिन मन को नहीं, जिससे असंतुष्टि का भाव बना रह सकता है.

Dr. Rajiv Anand

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A

सेक्स से जुड़े 7 मिथक जिन्हें सच मान लेते हैं पुरुष (7 Sex Myths Men Think Are True)

जब कोई पुरुष पहली बार किसी के साथ शारीरिक संबंध बनाने जाता है तो उसके मन में सेक्स से जुड़े कई सवाल आते हैं. हालांकि अपने मन में उठ रही इन शंकाओं को दूर करने के लिए वो इंटरनेट के अलावा कई माध्यमों से जानकारी भी इकट्ठा करता है. बावजूद इसके जिन लोगों ने पहले कभी किसी के साथ सेक्स नहीं किया है वो सेक्स से जुड़े मिथकों पर ज़्यादा ध्यान देते हैं. इसलिए जो लोग पहली बार किसी के साथ सेक्स संबंध बनाने जा रहे हैं, उन्हें इससे जुड़े 7 मिथकों की सच्चाई ज़रूर जान लेनी चाहिए.

 

Sex Myths

 

क्यों ज़रूरी है सेक्स?

अपनी सुख-सुविधा वाली चीज़ों को पाकर व्यक्ति जितना ख़ुश होता है, उतनी ही ख़ुशी उसे सेक्स के ज़रिए मिलने वाले चरम सुख से मिलती है. इसलिए सेक्स को इंसान के लिए सबसे आनंददायक चीज़ों में से एक माना जाता है. सेक्स स़िर्फ जिस्मानी नहीं, बल्कि यह एक रूहानी संबंध होता है. यही वजह है कि कई विशेषज्ञ भी इस बात पर ज़ोर देते हैं कि एक बेहतर और सुखद जीवन के लिए अच्छी सेक्स लाइफ का होना बेहद ज़रूरी है.

1. मिथक- ज़्यादा देर तक इरेक्शन बनाए रखना ज़रूरी है.

सच्चाई- अधिकांश पुरुष या लड़के पहली बार सेक्स करने से पहले कई पोर्न वीडियोज़ देखते हैं, ताकि वो सेक्स के अलग-अलग पोज़ीशन ट्राई कर सकें. इसके साथ ही वीडियो में यह भी देखते हैं कि पुरुष 30-40 मिनट तक नॉनस्टॉप परफॉर्म कर रहा है, लेकिन रियल लाइफ में भी आप ज़्यादा देर तक परफॉर्म कर पाएं, ऐसा होना मुश्किल है. कई अध्ययनों में यह ख़ुलासा हुआ है कि अधिकांश पुरुषों में इरेक्शन 3-5 मिनट से ज़्यादा देर तक बरकरार नहीं रहता है.

2. मिथक- सेक्सुअल इंटरकोर्स के लिए फोरप्ले की ज़रूरत नहीं होती.

सच्चाई- कुछ अध्ययनों के मुताबिक़ महिला पार्टनर को ऑर्गेज़्म का अहसास दिलाने के लिए स़िर्फ वेजाइनल इंटरकोर्स ही काफ़ी नहीं है. सेक्सुअल इंटरकोर्स में फोरप्ले बहुत अहम् किरदार निभाता है. फोरप्ले से दोनों की कामोत्तेजना बढ़ती है और सेक्स का आनंद दोगुना हो जाता है. इसलिए अगर आप एक अच्छा पार्टनर बनना चाहते हैं तो इंटरकोर्स से पहले फोरप्ले करना न भूलें, क्योंकि यह सुखद सेक्स का सबसे बेसिक फंडा है.

3. मिथक- पहली बार में ही बेड पर बेहतर परफॉर्म करना ज़रूरी होता है.

सच्चाई- पहली बार सेक्स करने से पहले अधिकांश पुरुष यही सोचते हैं कि अगर उन्होंने बेड पर बेहतर तरी़के से परफॉर्म नहीं किया तो पार्टनर के सामने उनकी इमेज ख़राब हो जाएगी, लेकिन यह बिल्कुल भी ज़रूरी नहीं है कि पहली बार के सेक्स से ही आपको बेहतर अनुभव मिल जाए. इसलिए निराश होने के बजाय आपको धैर्य से काम लेना चाहिए, क्योंकि समय के साथ-साथ आपके परफॉर्मेंस में सुधार आएगा और आपको सेक्स का आनंददायक अनुभव भी प्राप्त होगा.

4. मिथक- सेक्स के लिए पेनिस का साइज़ बहुत अहमियत रखता है.

सच्चाई- अगर आपको लगता है कि आनंददायक सेक्स के लिए पेनिस का साइज़ बहुत मायने रखता है तो आप ग़लत हैं. कुछ अध्ययनों में इस बात का ख़ुलासा हुआ है कि सेक्स का भरपूर आनंद उठाने के लिए पेनिस का छोटा या बड़ा होना कोई मायने नहीं रखता. एक अध्ययन के मुताबिक़, माइक्रोपेनिस (यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें व्यक्ति के पेनिस का साइज़ 3 इंच से भी कम हो जाता है) होने पर भी आप सेक्स का आनंद ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है

यह भी पढ़ें: 7 टाइप के किस: जानें कहां किसिंग का क्या होता है मतलब?

Sex Myths

5. मिथक- दो कंडोम साथ लगाने से डबल सेफ्टी मिलती है.

सच्चाई- कुछ लड़के या पुरुष ये सोचते हैं कि वो पहली बार सेक्स दो कंडोम लगाकर करेंगे, ताकि उन्हें डबल सेफ्टी भी मिले और अनचाही प्रेग्नेंसी का ख़तरा भी टल जाए, लेकिन हकीकत में ऐसा बिल्कुल भी नहीं होता है. डबल कंडोम के इस्तेमाल से भले ही प्रेग्नेंसी का ख़तरा टल जाए, लेकिन इसके फटने की संभावना भी डबल हो जाती है.

6. मिथक- हस्तमैथुन करना सेहत के लिए हानिकारक है.

सच्चाई- हस्तमैथुन करना ग़लत नहीं है और यह सेहत के लिए किसी भी तरह से हानिकारक नहीं है. एक अध्ययन के अनुसार, मास्टरबेशन यानी हस्तमैथुन स्ट्रेस दूर करने का एक हेल्दी तरीक़ा है. इससे स्पर्म क्वालिटी बेहतर होती है, तनाव दूर होता है और प्रोस्टेट कैंसर का ख़तरा भी कम होता है.

7. मिथक- पीरियड्स में असुरक्षित सेक्स से कोई ख़तरा नहीं होता.

सच्चाई- इंटरनेट और दूसरे माध्यमों से सेक्स के बारे में जानकारी इकट्ठा करनेवाले कुछ लोग यह सोचते हैं कि पीरियड्स के दौरान असुरक्षित सेक्स में कोई हर्ज़ नहीं है. हालांकि वो इस बात को भूल जाते हैं कि इससे भले ही प्रेग्नेंसी की संभावना थोड़ी कम हो जाती है, लेकिन सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिज़ीज़ का ख़तरा कई गुना बढ़ जाता है.

डर को दूर भगाएं, आत्मविश्वास जगाएं

पहली बार सेक्स करते व़क्त कई पुरुषों को यह डर भी सताता है कि कहीं उनका शरीर उनके पार्टनर को पसंद नहीं आया तो? लेकिन यकीन मानिए अगर आप यही सोचते रहेंगे तो पार्टनर के साथ सेक्स एन्जॉय नहीं कर पाएंगे. हर व्यक्ति में कोई न कोई ख़ामी होती है इसलिए अपनी बॉडी को लेकर मन में उठ रहे डर को दूर भगाएं और आत्मविश्वास बनाए रखें.

ये भी पढें: सेक्स का राशि कनेक्शनः जानें किस राशिवाले कितने रोमांटिक?

सेक्स प्रॉब्लम्स- मैं बहुत फ्रस्ट्रेशन महसूस करने लगी हूं, क्या करूं? (Sex Problems- I Feel Frustrated What Should I Do?)

Sex Problems

मेरे पति मुझसे 3 साल छोटे हैं और हमारी शादी को 5 साल हो चुके हैं. मैं 34 साल की हूं और वे 31 के हैं, लेकिन वो दिन-ब-दिन अपने काम में बहुत व्यस्त होते जा रहे हैं और उनकी सेक्स में रुचि घटती जा रही है, जबकि मेरी डिज़ायर बढ़ती जा रही है. वो कहते हैं कि वो थक जाते हैं और एनर्जी महसूस नहीं करते. मैं बहुत फ्रस्ट्रेशन महसूस करने लगी हूं, क्या करूं?

– सोनल रहेजा, पुणे.

समस्या यह है कि अधिकांश पुरुष आज भी यह समझते हैं कि सेक्स एक मशीनी क्रिया है, जिसमें बहुत अधिक ऊर्जा की ज़रूरत होती है, इसलिए जब वो लो फील करते हैं, तो उन्हें यह डर रहता है कि हम सेक्स में अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाएंगे, यही वजह है कि वो ऐसे में सेक्स से दूर भागते हैं. आप उन्हें समझा सकती हैं कि भले ही वो थके हुए हों, लेकिन यह ज़रूरी नहीं कि आपको सेक्स ही करना है, आप दोनों एक-दूसरे की कंपनी में प्यारभरे लम्हे गुज़ारें यह भी बहुत है. इससे वो रिलैक्स्ड और एनर्जेटिक महसूस करेंगे. कुछ दिनों तक आप दोनों ऐसा करें, ज़रूर आपके रिश्ते में प्रगाढ़ता आएगी और सेक्स लाइफ भी बेहतर होगी.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- ज़्यादा सेक्स करेंगे, तो कमज़ोर हो जाएंगे…

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- मास्टरबेशन की आदत से भविष्य में कोई समस्या तो नहीं होगी?

आपके एक्सपर्ट ओपिनियन से मुझे मेरी शादीशुदा ज़िंदगी में बहुत मदद मिलती रही है. मेरी एक छोटी-सी समस्या है, मेरे पति स्खलित होने के बाद पूरी तरह से थक जाते हैं, जबकि मुझे थकान महसूस नहीं होती. क्या इसकी वजह यह है कि मुझे ऑर्गेज़्म नहीं मिलता?

– अंबा पारेख, कच्छ.

स्त्री और पुरुष का ऑर्गेज़्म अलग-अलग होता है. पुरुषों में जहां स्खलन इसका संकेत होता है, स्त्रियों में वहां ऐसा कोई संकेत नहीं होता, लेकिन इसका यह अर्थ नहीं कि उन्हें ऑर्गेज़्म नहीं मिलता, वे इसे कई अलग-अलग तरह से महसूस करती हैं.

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A

 

नहीं सुने होंगे आपने ये 10 हॉटेस्ट सेक्स फैक्ट्स (10 Hottest Sex Facts Ever)

नहीं सुने होंगे आपने ये 10 हॉटेस्ट सेक्स फैक्ट्स (10 Hottest Sex Facts Ever)

हर शादीशुदा कपल को लगता है कि सेक्स के बारे में उसे सब कुछ पता है, जबकि ऐसा है नहीं. माना कि आपके कई सेक्स आर्टिकल्स पढ़े हैं, कई वीडियोज़ देखे हैं, कई रिसर्च भी पढ़ी हैं, पर अभी भी बहुत कुछ है, जो आपको पता नहीं. यकीन नहीं आता तो ख़ुद देख लें, क्या हैं वो हॉटेस्ट सेक्स टिप्स.

 Sex Facts

1. सबसे लंबा ऑर्गैज़्म

सभी की तरह आपको भी लगता है कि पुरुषों का ऑर्गैज़्म पीरियड महिलाओं के मुकाबले लंबा होता है, तो आपको बता दें कि ऐसा बिल्कुल नहीं है. जी हां. जहां पुरुषों का ऑर्गैज़्म पीरियड महज़ 6 सेकंड्स का होता है, वहीं महिलाओं का ‘ओ’ पीरियड 20 सेकंड्स का होता है.

2. वाइब्रेटर्स का अविष्कार किसी और के लिए हुआ था

जी हां, सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने और आपको रोमांचित करनेवाले वाइब्रेटर्स का अविष्कार 19वीं शताब्दी में हीस्टिरिया जैसी बीमारी के प्रभाव को कम करने के लिए हुआ था.

3. सरप्राइज़िंग है स्पर्म रेशियो

एक सामान्य स्वस्थ पुरुष के 1 टीस्पून सिमेन में लगभग 300 मिलियन स्पर्म होते हैं और आपकी पार्टनर को फर्टिलाइज़ करने के लिए आपको स़िर्फ एक हेल्दी स्पर्म की ज़रूरत होती है, जो 6 दिनों तक आपके अंदर ज़िंदा रह सकता है.

4. सेक्स के बाद लोग क्या करते हैं?

ज़्यादातर लोग यही सोचते हैं कि सेक्स के बाद पोस्ट सेक्स बिहेवियर करते हैं, जैसे एक-दूसरे को हग करना, किस करना, पिलो टॉक आदि. पर स्टडी में यह बात सामने आई है कि 35 की उम्र के 36% कपल्स सेक्स के बाद फेसबुक और ट्विटर चेक करते हैं.

5. ऑर्गैज़्म है बहुत हेल्दी

क्या आप जानते हैं कि ऑर्गैज़्म आपकी सेहत के लिए बहुत हेल्दी है? जी हां, यह महिलाओं को हार्ट प्रॉब्लम्स, स्ट्रोक, ब्रेस्ट कैंसर और डिप्रेशन जैसी गंभीर बीमरियों से बचाता है. तो अपने सेक्स लाइफ को एंजॉय करें और हेल्दी रहें.

यह भी पढ़ें: 30 इफेक्टिव टिप्स, जो सेक्स लाइफ को बोरिंग बनने से बचाएं

Sex Facts

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है

यह भी पढ़ें: 7 टाइप के किस: जानें कहां किसिंग का क्या होता है मतलब?

6. सेक्सरसाइज़ मिथ नहीं है

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि 30 मिनट की सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान क़रीब 200 कैलोरीज़ बर्न करते हैं. और हां वर्कआउट के दौरान भी आप ऑर्गैज़्म पा सकते हैं.

7. और भी तरीकों से महिलाएं होती हैं रोमांचित

अगर आपको लगता है कि आपकी पार्टनर आपकी सेक्सुअल एक्ट से ही रोमांचित होती है, तो ऐसा नहीं है. महिलाएं पुरुषों की न्यूड बॉडी, फीमेल बॉडी, होमोसेक्सुअल सेक्स, हेट्रोसेक्सुअल सेक्स और एनिमल सेक्स देखकर भी रोमांचित हो जाती हैं.

8. कौन करता है ज़्यादा सेक्स?

पुरुष हमेशा सेक्स के बारे में सोचते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि महिलाएं पुरुषों के मुकाबले 17% ज़्यादा सेक्सुअल एक्टिविटीज़ में इन्वॉल्व रहती हैं. हालांकि पुरुष सेक्स के बारे में ज़्यादा सोचते हैं, पर महिलाएं एक्टिव ज़्यादा हैं.

9. सेक्स से मेमोरी बढ़ती है

महिलाओं की सेक्स लाइफ का सकारात्मक प्रभाव उनकी याद्दाश्त पर पड़ता है. महिलाओं की मेमोरी अच्छी हो जाती है.

10. पीरियड्स सेक्स रिलैक्सिंग है

पीरियड्स के दौरान ज़्यादातर कपल्स सेक्सुअल एक्टिविटीज़ से दूर रहते हैं, पर जिन महिलाओं को बहुत ज़्यादा दर्द नहीं होता, अगर वो उस दौरान सेक्स करें, तो न स़िर्फ उन्हें दर्द में राहत मिलती है, बल्कि उन्हें काफ़ी रिलैक्स भी करता है.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: पति की इन 7 आदतों से जानें कितना प्यार करते हैं वो आपको

 

सेक्स के दौरान हो दर्द तो करें ये 5 आसान घरेलू उपाय (5 Home Remedies For Vaginal Pain And Dryness)

सेक्स के दौरान हो दर्द तो करें ये 5 आसान घरेलू उपाय और पाएं दर्द से छुटकारा. सेक्स के दौरान योनि में दर्द या ड्राइनेस हो तो दादीमां के घरेलू नुस्ख़े आपके बहुत काम आएंगे. सेक्स के दौरान कई महिलाओं को दर्द और योनि में ड्राइनेस हो जाती है, जिसके कारण वो अपनी सेक्स लाइफ को इंजॉय नहीं कर पाती हैं. यदि आपको भी सेक्स के दौरान दर्द होता है, तो ये घरेलू उपाय आपके बहुत काम आएंगे.

Vaginal Pain And Dryness

1) शुद्ध एरंडी का तेल रुई में भिगोकर योनि में लगाने से लाभ होता है.
2) सोंठ और एरंडी की जड़ का बारीक चूर्ण पानी या घी में पीसकर लेप करने से सेक्स के दौरान दर्द में राहत मिलती है.
3) सुपारी का चूर्ण 5 ग्राम घी के साथ मिलाकर खाएं और ऊपर से गाय या बकरी का दूध पीएं.
4) पुनर्नवा की जड़ व पत्तों का रस निकालकर उसमें रुई के फाहे को भिगोकर योनि में रखने से सेक्स के दौरान होनेवाले दर्द से राहत मिलती है.
5) गोरखमुंडी को घी और दूध में पकाकर हलुवा बनाएं. इसे योनि में रखें, आराम मिलेगा.

सेक्स के दौरान हो दर्द तो करें ये 5 आसान उपाय, देखें वीडियो:

सेक्स प्रॉब्लम्स- कहीं मेरे पति मुझे ग़लत न समझ लें…(Sex Problems- What If My Husband Misunderstands me?)

 

 

Sex Problems

मैं 28 साल की हूं. मेरी शादी को एक साल हुआ है. हमारी लव मैरिज हुई थी और मेरे पति मुझसे दो साल छोटे हैं. अक्सर सेक्स के समय मैं यह महसूस करती हूं कि मेरी जानकारी मेरे पति से बेहतर है, लेकिन यदि मैं यह उनके साथ शेयर करूं, तो मुझे डर है कि कहीं वो मुझे ग़लत न समझ लें. दूसरी तरफ़ अगर मैं उन्हें मार्गदर्शन नहीं देती हूं, तो मेरी स्थिति ऐसी ही रहेगी, क्योंकि मैं सेक्स के समय न तो उत्तेजित होती हूं और न ही सेक्स को पूरी तरह एंजॉय कर पाती हूं.

– बंदिनी माथुर, मध्य प्रदेश.

एक बार जब आप शादी जैसे बंधन में बंध जाते हैं, तो आप दो से एक हो जाते हैं. शेयरिंग बहुत ज़रूरी होती है किसी भी रिश्ते में, क्योंकि इससे आप दोनों और क़रीब आएंगे. बेहतर होगा कि आप उनसे अपनी नॉलेज शेयर करें, इससे उन्हें अच्छा लगेगा. आप उन्हें कह सकती हैं, क्योंकि वो काम में बिज़ी रहते हैं, इसलिए आप अपनी सेक्स लाइफ को स्पाइसी बनाने के नए-नए तरीक़ों के बारे में जानकारी इकट्ठा कर रही हैं.

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- मेरे पति चाहते हैं कि मैं उनके दोस्त के साथ सेक्स करूं…

यह भी पढ़े: सेक्स प्रॉब्लम्स- क्या इसका कोई उपाय है, जिससे मैं नॉर्मल फील करूं? 

मैं अपने पति के साथ सेक्स एंजॉय नहीं कर पाती, जबकि वो बहुत ही अच्छे हैं. दरअसल, जब मैं 18 साल की थी, तब एक लड़के के साथ मेरा रिलेशन हुआ था, जो फिज़िकली बहुत स्ट्रॉन्ग था. अब मैं 30 साल की हूं, लेकिन मैं तभी उत्तेजित होती हूं, जब उस लड़के के बारे में फैंटसाइज़ करती हूं. क्या मैं अपने प00ति के साथ सेक्स एंजॉय कर पाऊंगी?         

 – रीटा बंसल, बीकानेर.

ऐसा होता है कि हमारा पहला अनुभव मन-मस्तिष्क में बस जाता है और हम चाहकर भी उससे बाहर नहीं निकल पाते. आप उस लड़के को फैंटसाइज़ कर सकती हैं, लेकिन अपने पति से कनेक्ट करने और उनके साथ इंवॉल्व होने की कोशिश करें. चाहें तो आप प्रोफेशनल से भी मदद ले सकती हैं.

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
(dr.rajiv[email protected])

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें: Sex Problems Q&A