sex studies

बदलती लाइफस्टाइल और बढ़ते काम के दबाव के चलते ज़्यादातर वर्किंग कपल्स के बीच तनाव बढ़ने लगा है. घर-बाहर दोनों की जगह की तमाम ज़िम्मेदारियां निभाते-निभाते कपल्स कब स्ट्रेस, डिप्रेशन आदि के शिकार हो जाते हैं, उन्हें ख़ुद पता नहीं चल पाता. धीरे-धीरे इसका असर उनकी सेक्स लाइफ पर भी पड़ने लगता है और पति-पत्नी के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं. व्यस्त दिनचर्या में भी सेक्स लाइफ को रिचार्ज करना ज़रूरी है, वरना सेहत और रिश्ते दोनों कमज़ोर हो सकते हैं.

Sex Life

तनाव का सेक्स लाइफ पर असर
तनाव का असर न सिर्फ हमारे शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है, बल्कि ये हमारी सेक्स लाइफ को भी प्रभावित करता है. तनाव किस तरह काम जीवन को प्रभावित करता है? आइए,जानते हैं.

एनर्जी लेवल
ज़्यादा स्ट्रेस लेने से एनर्जी लेवल कम हो जाता है, जिससे सेक्स की इच्छा नहीं होती. ऐसे में पति-पत्नी दोनों वर्किंग हों, तो उनके पास सेक्स के लिए न ज़्यादा समय होता है और न ही एनर्जी, जिसके कारण उनके बीच दूरियां बढ़ती चली जाती हैं.

नशे की लत
कुछ लोगों को लगता है कि सिगरेट या शराब पीने से तनाव कम हो जाता है या तनाव सहने की शक्ति मिलती है, जो कि बिल्कुल ग़लत है. सिगरेट, शराब या अन्य किसी भी प्रकार का नशा आपको शारीरिक रूप से कमज़ोर बनाने के साथ ही आपकी सेक्सुअल लाइफ को भी प्रभावित करता है.

पति-पत्नी के बीच दूरी
पति या पत्नी किसी एक का भी तनाव में, रहना लेकिन व्यक्त ना करना दूसरे के मन में शक़ पैदा कर सकता है, जिसके कारण कई बार दोनों के बीच शारीरिक दूरियां बढ़ जाती हैं और कामोत्तेजना कम होने लगती है.

Sex Life

इंफर्टिलिटी की समस्या
तनाव के दुष्परिणामों में इंफर्टिलिटी भी शामिल है. इंफर्टिलिटी की शिक़ायत स्त्री या पुरुष दोनों में से किसी को भी हो सकती है. शारीरिक दोषों के अलावा सेक्स में असंतुष्टि इसका मुख्य कारण है.

बेडौल शरीर
तनाव से मोटापा बढ़ता है और शरीर बेडौल हो जाता है, जिससे आत्मविश्‍वास कम होने लगता है. हमें लगने लगता है कि पार्टनर अब हमें पहले की तरह प्यार नहीं करता, जिससे चलते रिश्ते में दूरियां आने लगती हैं.

यह भी पढ़ें: सेक्स लाइफ से जुड़े 10 सवाल-जवाब हर कपल को मालूम होने चाहिए (10 Sex Questions All Happy Couples Know The Answers To)

Sex Life

क्या हैं तनाव का कारण?
शरीर में हार्मोन्स का असंतुलित होना, पीरियड के दौरान टेंशन, शारीरिक बीमारी, कॉम्पटीशन, बच्चों की पढ़ाई आदि के तनाव से भी सेक्स लाइफ प्रभावित होती है.

तनाव को कैसे करें छूमंतर?
तनाव को अपने बेडरूम से दूर रखने के लिए एक-दूसरे को पर्याप्त समय दें और इन बातों का ध्यान रखें:

टाइम मैनेजमेंट
अक्सर देर रात तक ऑफिस में काम करने के कारण वर्किंग कपल्स थकान और तनाव महसूस करते हैं, जिससे उनमें सेक्स की इच्छा कम होने लगती है. एक-दूसरे को पर्याप्त समय न दे पाने के कारण उनका तनाव बढ़ता चला जाता है. यदि आपकी स्थिति भी कुछ ऐसी ही है, तो अपनी सेक्स लाइफ को बिल्कुल नज़रअंदाज़ न करें और पार्टनर के साथ कुछ वक़्त बिताने की कोशिश ज़रूर करें. रात में यदि समय नहीं मिलता, तो आप सुबह सेक्स का लुत्फ़ उठा सकते हैं या वीकेंड में फ्रेश मूड के साथ अपनी सेक्स लाइफ को रोमांचक बना सकते हैं.

आपसी समझदारी
अपनी यौन इच्छा पूरी करने के लिए पार्टनर पर दबाव न डालें. अगर वे तनावग्रस्त हैं, तो उनके तनाव की वजह जानने की कोशिश करें. यदि इसमें आप उनकी मदद कर सकती हैं, तो ज़रूर करें. इसके साथ ही बेडरूम में सेक्स का माहौल बनाएं. पार्टनर के साथ प्यार भरी बातें करें और फोरप्ले के ज़रिए उन्हें सेक्स के लिए तैयार करें.

Sex Life

पसंद-नापसंद का ध्यान रखें
सेक्स क्रिया में आपका परफॉर्मेंस पाटर्नर को उत्तेजित करेगा या नहीं? इस बारे में सोचकर पार्टनर के साथ उन ख़ास पलों को ज़ाया न होने दें. पार्टनर को सेक्सुअल संतुष्टि देने के लिए अपने परफॉर्मेंस पर नहीं, बल्कि पार्टनर की पसंद-नापसंद पर ध्यान दें.

तनाव भी बांटें
सेक्सोलॉजिस्ट डॉ. अरविंद भावे के अनुसार, “पार्टनर के साथ अपनी ख़ुशी ही नहीं, तनाव भी बांटें. ऐसा करने से आपसी समझ और प्यार बढ़ता है. यदि पार्टनर को आपकी परेशानी के बारे में मालूम ही नहीं होगा, तो वो आपको कैसे समझ पाएंगे? ऐसा में आपके तनाव का असर आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ेगा ही. अतः पार्टनर के साथ तनाव बांटकर उसे दूर करने की कोशिश करें.”

यह भी पढ़ें: 15 साल उम्र बढ़ाती है हेल्दी सेक्स लाइफ, इसके लिए अपनाएं ये 7 तरीके (7 Ways Sex Helps You Live Longer)

Sex Life

सेक्सी टिप्स
दिनभर तनाव में रहने के बाद शाम को उदास रहने की बजाय पार्टनर के साथ उन ख़ास पलों को एंजॉय करने की कोशिश करें. मूड को सेक्सी बनाने के लिए ट्राई कीजिए ये रिफ्रेशिंग टिप्स.

  • शाम को पति जब घर आने वाले हों तब उनकी पसंद का रोमांटिक म्यूज़िक लगाएं. यह उनके तनाव को दूर करने के साथ ही उन्हें आपके क़रीब ले आएगा.
  • पार्टनर के साथ रोमांटिक फिल्म देखें.
  • दिनभर घर के काम में व्यस्त रहने के कारण यदि पत्नी तनावग्रस्त है, तो उसे सरप्राइज़ रोमांटिक डिनर पर ले जाएं.
  • सेक्स के दौरान पार्टनर को मानसिक और शारीरिक रूप से रिलैक्स करने के लिए फोरप्ले का मज़ा लें.
  • योगा, मेडीटेशन और व्यायाम की मदद से मूड को फ्रेश बनाने की कोशिश करें.
  • पार्टनर को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए मनमोहक ख़ुशबू वाले परफ्यूम का इस्तेमाल करें.
  • रोमांटिक और सेक्सी मैसेज भेजकर पार्टनर के मूड को तनावरहित बनाने की कोशिश करें.
  • सेक्सी ड्रेसेस, लॉन्जरीज़ आदि पहनकर पार्टनर को आकर्षित करने के साथ ही सेक्स को रोमांचक बनाएं.
  • सेक्स में असंतुष्टि तनाव बढ़ा सकती है इसलिए पार्टनर की सुविधा को ध्यान में रखकर अंतरंग पलों को एंजॉय करें.

हेल्दी डायट
डायट का हमारी सेहत और सेक्स लाइफ पर भी असर पड़ता है इसलिए पौष्टिक और संतुलित आहार लें.

यह भी पढ़ें: पुरुषों की 6 सेक्स समस्याएं और उनके आसान समाधान (Men’s Sexual Problems And Easy Solutions)

Sex Life

क्या खाएं?

  • कार्बोहाइड्रेेट युक्त आहार, जैसे- चावल, आलू, ब्रेड आदि को डायट में शामिल करें.
  • शरीर के ताप को सामान्य रखने के लिए अपनी डायट में विटामिन बी युक्त आहार शामिल करें.
  • पीले और नारंगी रंग के फल और सब्ज़ियां (सिट्रस फूड), जैसे- मोसंबी, संतरा, नींबू, पपीता, कद्दू आदि तनाव कम करने में सहायक होते हैं.
  • हरी पत्तेदार सब्ज़ियां भी तनाव कम करती हैं.
  • फाइबरयुक्त फल, सब्ज़ियां और साबूत अनाज सोचने-समझने की क्षमता बढ़ाने के साथ ही तनाव कम करते हैं.

क्या न खाएं?

  • कॉफी, ब्लैक टी आदि का सेवन करने से बचें, क्योंकि कैफीन युक्त चीज़ें स्ट्रेस हार्मोन के स्तर को बढ़ाती हैं.
  • तले-भुने, मसालेदार भोजन से परहेज करें.
  • शुगर की ज़्यादा मात्रा भी तनाव बढ़ाती है, इससे भी बचने की कोशिश करें.
  • सिगरेट-शराब से भी दूर रहें.

सेक्स लाइफ से जुड़े कुछ सवाल ऐसे होते हैं, जिनका जवाब ढूंढना तो दूर हम वो सवाल किसी से शेयर भी नहीं कर पाते. सेक्स लाइफ से जुड़े आपके ऐसे ही 10 अनसुलझे सवालों के जबाव आप तक पहुंचा रहे हैं सेक्सोलॉजिस्ट डॉ. अरविंद भावे.

Sex Questions

1) सेक्स के दौरान मुझे हल्का दर्द महसूस होता है. मैं जानना चाहती हूं, इसकी क्या वजह हो सकती है? – मनाली माथुर, पणजी

सेक्स के दौरान हल्का दर्द होने की वजह योनि में सिकुड़न या रूखापन हो सकता है. योनि के मसल्स सिकुड़ जाने से या फिर ड्रायनेस की वजह से भी पेनिट्रेशन के दौरान दर्द महसूस होता है. रूखेपन को दूर करने के लिए आप जेल की सहायता ले सकती हैं. इसी तरह फोरप्ले का समय बढ़ाकर भी योनि के रूखेपन को कम किया जा सकता है, परंतु ध्यान रहे, यदि तेज़ दर्द या ब्लीडिंग आदि की शिकायत हो, तो तुरंत डॉक्टर से मिलें. हो सकता है दर्द की वजह कुछ और हो.

2) मेरे पति डायबिटीज़ से पीड़ित हैं. मैं जानना चाहती हूं कि डायबिटीज़ का सेक्स लाइफ पर क्या असर होता है? – देवकी शाह, कलकत्ता

डायबिटिज़ ही नहीं, ऐसी कई और भी बीमारियां हैं, जिनका सेक्स लाइफ पर गहरा असर होता है. डायबिटिज़ न सिर्फ रोगी की कामेच्छा को प्रभावित करता है, बल्कि सेक्स के दौरान उनकी सक्रिएता पर भी गहरा असर डालता है, जिसके कारण ऐसे लोग सेक्सुअल एक्ट में अपना बेस्ट नहीं दे पाते. डायबिटिज़ में ब्लड शुगर पर सख़्त नियंत्रण रखना ज़रूरी है. इसके लिए डॉक्टर की देखरेख में नियमित दवाइयां लेना, रोज़ाना एक्सरसाइज़ करना तथा अपने खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए.

3) क्या रोज़ाना सेक्स करना सही है? – अर्जुन रस्तोगी, हरियाणा

रोज़ाना सेक्स करने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन इस बात का ध्यान रहे कि पार्टनर के साथ किसी भी तरह की ज़ोर-जबर्दस्ती न करें और न ही उन पर सेक्स का दबाव बनाएं, वरना रोज़ाना सेक्स करना उचित नहीं होगा. हां, यदि दोनों पार्टनर की रज़ामंदी है, तो आप रोज़ाना सेक्स कर सकते हैं. इससे आपके रिश्ते और मज़बूत होंगे.

यह भी पढ़ें: इस प्यार को क्या नाम दें: आज के युवाओं की नजर में प्यार क्या है? (What Is The Meaning Of Love For Today’s Youth?)

Sex Questions

4) स्ट्रेस के चलते मैं अपनी सेक्सुअल लाइफ को एंजॉय नहीं कर पा रहा. सेक्स में भी मेरा मन नहीं लगता. मैं क्या करूं? – रमेश ठाकुर, उदयपुर

अपनी सेक्सुअल लाइफ को पहले की तरह आनंददायक बनाने के लिए सबसे पहले आप स्ट्रेस से छुटकारा पाने की कोशिश करें. जब तक आप तनावमुक्त नहीं होंगे तब तक अपनी सेक्सुअल लाइफ को एंजॉय नहीं कर पाएंगे. तनाव दूर करने के लिए योगा, ध्यान या एक्सरसाइज़ करें. यदि फिर भी समस्या हल न हो, तो मनोवैज्ञानिक से संपर्क करें और उनसे ‘सेन्सेट फोकस’ मैथड के बारे में जानकारी लें, वरना स्ट्रेस का असर न सिर्फ आपकी सेक्सुअल, बल्कि पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ पर भी हो सकता है.

5) प्रेग्नेंसी के बाद मैं अचानक ओवरवेट हो गई हूं. अब सेक्स के दौरान मैं काफ़ी शर्मिंदगी महसूस करती हूं और डरती हूं कि कहीं मेरे पति की दिलचस्पी कम न हो जाए. क्या ऐसा हो सकता है?
– अंजु सिंह, नवी मुंबई

आपकी तरह कई महिलाएं यही सोचती हैं कि मोटापे की वजह से उनकी सेक्सुअल लाइफ में दरार आ सकती है, जबकि ऐसा कतई नहीं है. महिलाओं की तरह पुरुष अपने पार्टनर की किसी एक अदा पर फिदा नहीं होते, वो समस्त गुणों का आकलन करके ही अपनी लेडी लव का चयन करते हैं. उनके लिए आपका बढ़ता मोटापा या शेपलेस बॉडी मायने नहीं रखती. यक़ीन न हो, तो अपने पार्टनर से इस विषय में खुलकर बात करें.

6) मेरे पति पॉर्न मूवीज़ देखना काफ़ी पसंद करते हैं. क्या ऐसा करना नॉर्मल है? – रजनी कदम, मुंबई

कभी-कभार पॉर्न मूवीज़ देखने में कोई बुराई नहीं है, लेकिन बात यदि रोज़ाना या बार-बार पॉर्न मूवीज़ देखने की हो, तो यह ज़रूर चिंता का विषय बन सकता है. ख़ासकर तब जब आपके पति आपकी तुलना पॉर्न स्टार्स के बॉडी शेप से करने लगें या फिर पॉर्न मूवीज़ में दिखाए जाने वाले मूव्स आपकी मर्ज़ी के बिना या फिर ज़ोर-जबर्दस्ती के साथ ट्राई करने की कोशिश करें.

यह भी पढ़ें: पुरुषों की 6 सेक्स समस्याएं और उनके आसान समाधान (Men’s Sexual Problems And Easy Solutions)

Sex Questions

7) प्रेग्नेंसी के दौरान भी मेरी इच्छा सेक्स की होती है, लेकिन मेरे पति ये कहकर नकार देते हैं कि प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना अनसेफ है. क्या ये बात सच है? – सुषमा पाण्डेय, भोपाल

ऐसा नहीं है. प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना सेफ है, लेकिन कुछ बातों को ध्यान में रखते हुए, जैसे- प्रेग्नेंसी के दौरान वॉयलेंट सेक्स से बचें, सेक्स के मूव्स में एक्सपेरिमेंट न करें, ऐसे सेक्स पोज़ीशन न अपनाएं जिससे पेट पर दबाव पड़े इत्यादि. मगर ध्यान रहे, सेक्स के दौरान ब्लीडिंग, दर्द जैसी समस्या उत्पन्न हो, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें. और हां, यदि आपकी प्रेग्नेंसी असामान्य है, तो बिना डॉक्टर की सलाह के सेक्स संबंध बनाने की ग़लती न करें.

8) मेरे पति काफ़ी शर्मीले हैं. सेक्स के दौरान उन्हें थोड़ा शरारती बनाने के लिए क्या करना चाहिए? – संध्या वर्मा, दिल्ली

हम सोचते हैं, सेक्स के दौरान महिलाओं की अपेक्षा पुरुष ज़्यादा सक्रिए होते हैं, परंतु ये ज़रूरी नहीं. आपके पति की तरह ही और भी कई पुरुष हैं, जो शर्मीले स्वभाव के चलते पार्टनर की अपेक्षाओं को अधूरा ही छोड़ देते हैं. ऐसे पार्टनर को शरारती बनाने के लिए उन्हें अपनी सेक्सी अदाओं से लुभाने की कोशिश करें. उदाहरण के लिए- सेक्सी नाइटी या लॉन्जरी पहनें, ख़ुशबूदार परफ्यूम का इस्तेमाल करें. साथ ही पार्टनर के साथ बातचीत का सिलसिला जारी रखें, उन्हें अपनी सेक्स इच्छाओं के बारे में बताएं और उनकी इच्छा जानने की कोशिश करें. यदि उनके मन में किसी तरह की हिचकिचाहट है, तो उसे दूर करने की कोशिश करें. यदि तब भी बात न बने तो मनोवैज्ञानिक या सेक्सोलॉजिस्ट की सलाह लें.

9) अपनी सेक्सुअल लाइफ में शादी के शुरुआती दिनों वाली गरमाहट वापस लाने के लिए क्या किया जा सकता है? – सुशांत उपाध्याय, जयपुर

अपनी सेक्सुअल लाइफ में शादी के शुरुआती दिनों वाली गरमाहट लाने के लिए कई तरी़के आज़माए जा सकते हैं, जैसे- सेक्स के नए मूव्स ट्राई करें, सेक्स के नए पोज़ीशन आजमाएं, बेडरूम की बजाय लिविंग रूम या डायनिंग रूम में या फिर बेड की बजाय फर्श या सोफे पर सेक्स एंजॉय करें. सेक्सी बातें, मसाज से सेक्स की पहल करें. बेहतर होगा कि सेक्स के दौरान यहां-वहां की बातें दिमाग़ में न आने दें, ख़ुद को एक बेहतरीन सेक्सुअल पार्टनर समझते हुए अपना बेस्ट देने की कोशिश करें. बिज़ी शेड्यूल से समय निकालकर पार्टनर के साथ कहीं घूमने निकल जाएं. चाहें तो सेकेंड हनीमून की प्लानिंग भी कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: प्यार में क्या चाहते हैं स्री-पुरुष? (Love Life: What Men Desire, What Women Desire)

Sex Questions

10) सही गर्भ निरोधक गोली का चयन कैसे करना चाहिए? – राजश्री राज, नागपुर

गर्भ निरोधक गोली का चयन करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखें कि गर्भ निरोधक गोलियों का असर आपकी सेहत पर भी होता है और ये ज़रूर भी नहीं है कि आप जिस गर्भ निरोधक गोली का चयन कर रही हैं वो आपकी बॉडी को सूट करे. इसलिए बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें और उनकी देखरेख में सही गर्भ निरोधक गोली का चयन करें. अपनी मर्ज़ी से कोई भी गर्भ निरोधक गोली ख़रीदने की भूल न करें.

हेल्दी सेक्स लाइफ न सिर्फ कपल्स को ख़ुश रखती है बल्कि नियमित सेक्स उनकी उम्र भी बढ़ाती है. रेग्युलर सेक्स से हार्मोन लेवल और ब्रेन पावर तो बढ़ता ही है, साथ ही ये दिल की सेहत के लिए भी अच्छा होता है. आइए, सेक्स लाइफ और उम्र के कनेक्शन के बारे में विस्तार से जानते हैं.

Sex Helps To Live Longer

यदि आपकी सेक्स लाइफ़ में ठहराव आ गया है, तो उसे दुबारा रोमांचक बनाने की कोशिश करें. क्योंकि नीरस सेक्स लाइफ न सिर्फ आपकी शादी, बल्कि सेहत के लिए भी ख़तरनाक है. हेल्दी सेक्स लाइफ का सेहत और उम्र से कितना गहरा रिश्ता है? आइए, जानते हैं.

Sex Helps To Live Longer

1) क्वांटिटी नहीं क्वालिटी है ज़रूरी
रेग्युलर सेक्स लाइफ उम्र बढ़ाती है, लेकिन यहां क्वांटिटी नहीं क्वालिटी ज़रूरी है. यानी ये मायने नहीं रखता कि सेक्स कितनी बार किया गया, महत्वपूर्ण ये है कि कपल्स ने सेक्सुअल एक्ट को कितना एन्जॉय किया, यानी ऑर्गेज़्म को पाना जरूरी है. ऑर्गेज़्म मिलने से बीमारियों से लड़ने की क्षमता 20 प्रतिशत तक बढ़ जाती है. एक शोध के मुताबिक, सेक्स न करने वाले पुरुषों की तुलना में नियमित ऑर्गेज़्म प्राप्त करने वाले पुरुषों के लंबे समय तक जीने की संभावना ज़्यादा होती है. इतना ही नहीं हफ़्ते में 2 बार ऑर्गेज़्म फील करने वाली महिलाओं में हार्ट डिसीज़ का ख़तरा 30 प्रतिशत तक कम हो जाता है.

उम्र बढ़ती है 8 साल तक
चरमोत्कर्ष (ऑर्गेज़्म) की प्राप्ति से न सिर्फ शरीर में मूड-बूस्टिंग केमिकल्स का प्रवाह होता है, बल्कि ये कपल्स को रिलैक्स करके उनके बीच के भावनात्मक रिश्ते को भी मज़बूत बनाता है. कई शोध में ये बात सामने आई है कि ख़ुशहाल कपल्स अकेले रहने वाले या नकारात्मक रिश्ते में रहने वाले लोगों के मुक़ाबले ज़्यादा दिनों तक जीते हैं.

Sex Helps To Live Longer

2) प्यार से गले लगाना
पार्टनर को प्यार से गले लगाने और छूने से न सिर्फ कपल्स के बीच रोमांस बढ़ता है, बल्कि इससे ‘बॉन्डिंग हार्मोन’ ऑक्सिटॉसीन का भी ज़्यादा स्राव होता है, इस हार्मोन को लंबी उम्र से जोड़कर देखा जाता है. रिसर्च से भी ये बात साबित हो चुकी है कि ऑक्सिटोसीन हार्मोन उम्र बढ़ाने के साथ ही कपल्स को ख़तरनाक बीमारियों और डिप्रेशन से भी बचाता है.

उम्र बढ़ती है 7 साल तक
अगर कभी पार्टनर का मूड ख़राब है, तो आपका प्यार भरा स्पर्श न सिर्फ उनका मूड ठीक कर सकता है, बल्कि उन्हें कामोत्तेजित भी करता है. पार्टनर के छूने से शरीर में ऑक्सिटोसीन हार्मोन का स्राव होता है, जिससे कपल्स एक-दूसरे के क़रीब आने की कोशिश करते हैं.

Sex Helps To Live Longer

3) ज़्यादा का फ़ायदा
कुछ लोगों का मानना है कि ज़्यादा सेक्स सेहत के लिए ठीक नहीं होता, लेकिन ऐसा नहीं है. आपकी सेक्सुअल लाइफ़ जितनी ज़्यादा एक्टिव रहेगी आप उतने ही स्वस्थ रहेंगे. एक रिसर्च के अनुसार, हफ़्ते में 3 बार सेक्स करने वाले पुरुषों को हार्ट अटैक और स्ट्रोक का ख़तरा 50 प्रतिशत तक कम रहता. इसके अलावा ख़ुश रहने व सकारात्मक सोच से भी उम्र बढ़ती है, और रेग्युलर सेक्स से फील गुड एंड्रॉफिन्स हार्मोन का स्राव होता है, जो आपको ख़ुश और तनाव मुक्त रखता है.

उम्र बढ़ती है 2 साल
सेक्सुअल लाइफ़ का ज़्यादा से ज़्यादा आनंद लेने के लिए पार्टनर के साथ मिलकर उन ख़ास लम्हों की प्लानिंग करें. प्यार के उन ख़ास पलों को एन्जॉय करने के लिए सिर्फ रात का ही इंतज़ार न करें, बल्कि बच्चों के घर से जाने के बाद या लंच टाइम में, जब कोई घर पर न हो तब भी आप अंतरंग पलों का मज़ा ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें: प्यार में क्या चाहते हैं स्री-पुरुष? (Love Life: What Men Desire, What Women Desire)

Sex Helps To Live Longer

4) मूड सेट करें
सेक्सुअल लाइफ़ एन्जॉय करने के लिए मूड होना ज़रूरी है. मूड बनाने के लिए कुछ ब्रेन केमिकल्स ज़िम्मेदार हैं, जिन्हें बैलेंस रखना ज़रूरी होता है. इसके अलावा भागदौड़ भरी व्यस्त जीवनशैली के कारण भी कपल्स की सेक्स में रुची नहीं रह जाती. ऐसे में ब्रेन केमिकल्स को बैलेंस रखने और अपनी सेक्स लाइफ़ को रोमांटिक व स्पाइसी बनाने के लिए खाने में कुछ ख़ास चीज़ें शामिल करें, जैसे- तुलसी, कालीमिर्च, जीरा, लहसुन, अदरक, हल्दी, रेड वाइन, केला और चॉकलेट्स आदि.

उम्र बढ़ती है 10 साल तक
अगर आप तुरंत पार्टनर का मूड सेट करना चाहती हैं, तो उन्हें डिनर में हैवी खाना देने की बजाय करी वाली हल्की सब्ज़ियां और केसर राइस ट्राई करें.

Sex Helps To Live Longer

5) रखे फिट एंड फाइन
युवावस्था में तो आपकी रोगों से लड़ने की क्षमता अधिक होती है, लेकिन बढ़ती उम्र के साथ ये घटने लगती है. अच्छी ख़बर ये है कि हेल्दी सेक्स लाइफ़ से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है. एक शोध के मुताबिक हफ़्ते में दो बार सेक्स करने वाले लोगों में एंटीबॉडिस का लेवल ज़्यादा होता है, जो उन्हें सर्दी और फ़्लू आदि से बचाता है. तो आप चाहे कितने भी बिज़ी क्यों न हों हफ्ते में कम-से-कम 2-3 दिन अपनी सेक्स लाइफ के लिए ज़रूर निकालें.

उम्र बढ़ती है 8 साल तक
हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए अल्कोहल की मात्रा घटा दें, क्योंकि ये शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति को कम कर देता है.

Sex Helps To Live Longer

6) एक्सरसाइज़ जैसा फ़ायदा
रेग्युलर एक्सरसाइज़ से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है, मसल टोन रहती है और आप जवां दिखते हैं. अच्छी ख़बर ये है कि सेक्स से आपको एक्सरसाइज़ के सारे फ़ायदे मिल सकते हैं, वो भी बिना जिम के चक्कर काटे. नियमित सेक्स से 20 मिनट में 30 कैलोरी बर्न होती है. इतना ही नहीं, आगे चलकर ये ऑस्टियोपोरोसिस के ख़तरे को भी कम करता है. एक अध्ययन के मुताबिक हफ्ते में एक बार सेक्स करने वाली मीडिल एज महिलाओं में एस्ट्रोजन लेवल बढ़ जाता है जो उनकी हड्डियों को सुरक्षित रखता है.

उम्र बढ़ती है 10 साल तक
हर बार एक ही पोज़िशन न दोहराएं, सेक्स लाइफ़ में नयापन लाने के लिए कुछ एक्सपेरिमेंट्स और नई पोज़िशन ट्राई करें.

पुरुषों की 6 सेक्स समस्याएं और उनके आसान समाधान (Men’s Sexual Problems And Easy Solutions)

Sex Helps To Live Longer

7) दिल को रखें स्वस्थ
मोटापा कम करके और सिगरेट छोड़कर आप अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं, इसके साथ ही हेल्दी और एक्टिव सेक्स लाइफ़ से भी आप अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं. हाल ही में न्यू इंग्लैंड रिसर्च इंस्टीट्यूट में हुए एक शोध के मुताबिक हफ़्ते में 2 बार सेक्स करने वालों को हार्ट अटैक का ख़तरा 45 प्रतिशत तक कम होता है, जबकि हफ़्ते में 3 बार सेक्स करने पर हार्ट अटैक की संभावना 50 फीसदी तक कम हो जाती है.

उम्र बढ़ती है 15 साल तक
एक-दूसरे का सेंसुअल मसाज करें, इससे तनाव दूर होगा. साथ ही अपने प्यार भरे स्पर्श से पार्टनर का मूड सेट करें.

Sex Helps To Live Longer


सफल सेक्स लाइफ़ पर हुए रिसर्च के अनुसार सेक्स लाइफ एंजॉय करने के लिए डेली एक्सरसाइज़ और हेल्दी डायट बहुत ज़रूरी है. आइए जानते हैं कुछ इंटरेस्टिंग सेक्स रिसर्च की रिपोर्ट्स की संक्षिप्त जानकारी.

 

Sex Research Reports

 

1. नियमित दौड़ से सेक्स पावर में वृद्धि

जो लोग नियमित तौर पर दौड़ लगाते हैं, उनका यौन जीवन उन लोगों की अपेक्षा ज़्यादा सक्रिय होता है, जो दौड़ नहीं लगाते. हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक हर 10 में से एक दौड़ लगानेवाले (जॉगर्स) ने कहा कि वह अपने दैनिक जीवन में कम से कम एक बार यौन संबंध स्थापित करता है, जबकि 3 फ़ीसदी जॉगर्स का कहना है कि वे दिन में 2 बार यौन क्रिया का लुत्फ़ उठाते हैं.
एक मशहूर समाचार पत्र में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक इस शोध के दौरान उन लोगों से भी बात की गई, जो दौड़ नहीं लगाते हैं. दौड़ नहीं लगानेवाले ऐसे चार में से एक व्यक्ति का कहना था कि वह महीने में स़िर्फ एक बार ही यौन संबंध स्थापित
करता है.
वैज्ञानिकों का मानना है कि यौन सक्रियता के लिए ज़रूरी सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरॉन की मात्रा दौड़ से बढ़ जाने के कारण ही उक्त फायदा जॉगर्स पुरुषों में देखा गया. यह तो सभी जानते हैं कि टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन का संबंध यौन क्रियाकलापों, रक्त संचरण और मांसपेशियों के परिणाम के साथ-साथ एकाग्रता, मूड और याद्दाश्त से भी होता है.

2. अनार के रस से बढ़ती है कामशक्ति

अगर आम फलों का राजा है, तो अनार की भूमिका उस डॉक्टर जैसी है, जिसके पास तमाम रोगों की दवा है. अनार की इसी उपयोगिता के कारण ही ङ्गएक अनार सौ बीमारफ वाली कहावत इतनी मशहूर है. अभी हाल ही में हुए एक वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि अनार के रस में कामशक्तिवर्द्धक अद्भुत क्षमता है. कैलिफोर्निया के वैज्ञानिकों के मुताबिक, एक महीने तक लगातार एक ग्लास अनार का रस पीना किसी भी पुरुष के लिए कामोत्तेजक औषधि वियाग्रा जैसा काम करता है, क्योंकि अनार के रस से शरीर में एंटीऑक्सीडेंट बढ़ता है और यौनांगों में रक्तसंचार तेज़ होता है. इससे व्यक्ति सेक्स क्रिया में अधिक सक्रिय होता है.

यह भी पढ़ें: सेक्स रिसर्च: सेक्स से जुड़ी ये 20 Amazing बातें, जो हैरान कर देंगी आपको

3. सेक्स की कमज़ोरी में मछली का तेल

अमेरिकी वैज्ञानिकों के एक शोध के अनुसार मछली का तेल स्त्री व पुरुष की अनेक सेक्स संबंधी कमज़ोरियों को दूर करता है. आज के युवा अपने पार्टनर को पूरी तरह से सेक्स संतुष्टि प्रदान करने में अक्षम होते जा रहे हैं, जिससे विवाह के कुछ दिनों बाद ही तलाक़ की नौबत आ जाती है. वैज्ञानिकों के अनुसार, ऐसे पुरुष मछली का एक चम्मच तेल रोज़ाना भोजन में उपयोग करके अपने सेक्स की कमज़ोरी से निजात पा सकते हैं. हाल ही में कैलिफोर्निया के वैज्ञानिकों ने 50 स्त्री-पुरुषों के जोड़ों पर इसका प्रयोग किया और पाया कि तीन माह पहले, जो लोग सेक्स से बचते थे, वे तीन महीने बाद प्रसन्नता से सेक्स में दिलचस्पी लेने लगे.

4. कॉफी से यौन सक्रियता

एक अध्ययन से पता चला है कि लगभग पचास वर्ष की उम्र के बाद भी जो लोग कॉफी का सेवन करते रहते हैं, वे कॉफी न पीनेवालों की अपेक्षा सेक्स क्रिया में अधिक सक्रिय होते हैं. ब्राज़ील में हुए एक शोध में यह बात सामने आई है कि कॉफी पीने से शुक्राणुओं में क्रियाशीलता आती है और सुस्त पड़े शुक्राणु फुर्तीले बन जाते हैं.
शोधकर्ताओं के मुताबिक, कॉफी में पाए जानेवाले रासायनिक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट शुक्राणुओं के अंडाणुओं से मिलने की संभावना को भी बढ़ा देते हैं, जिसके परिणामस्वरूप गर्भधारण होता है. अधिक आयु के दंपतियों में सेक्स सक्रियता के लिए कॉफी का सेवन बहुत ही लाभप्रद होता है. अधिक उम्र में कॉफी पीने से सेंट्रल नर्वस सिस्टम (स्नायु तंत्र) की सक्रियता बढ़ जाती है और कुछ ख़ास मांसपेशियां सेक्स के अनुकूल हो जाती हैं.

5. वियाग्रा से गर्भधारण की क्षमता में कमी

एक समाचार के अनुसार, सेक्स पावर बढ़ाने के लिए वियाग्रा का सेवन करने से प्रजनन शक्ति प्रभावित होती है. हाल ही में ब्रिटिश वैज्ञानिकों द्वारा किए गए एक अनुसंधान से यह बात सामने आई है कि वियाग्रा का सेवन करनेवाले लोगों के शुक्राणु एंजाइम के अंडाणुओं की बाहरी परत हटाने से पहले ही बिना निषेचन किए ही लौट जाते हैं, जिससे प्रजनन चक्र पूरा नहीं होता है और महिलाएं गर्भधारण करने से वंचित रह जाती हैं.
अनुसंधान के लिए वैज्ञानिकों ने कई लोगों के शुक्राणुओं के सैंपल लिए और उनकी जांच की, तो पाया कि लगभग 80% शुक्राणु वियाग्रा से कुछ ज़्यादा सक्रिय हो जाते हैं. वियाग्रा के कारण कुछ शक्राणु ही कभी-कभी अंडाणु को विकसित कर पाने में सक्षम होते हैं. इससे पता चलता है कि वियाग्रा का प्रयोग पुरुषों का सेक्स पावर बढ़ाने के लिए तो किया जा सकता है, लेकिन परिवार बढ़ाने के लिए इसका इस्तेमाल नहीं किया जा सकता.

6. पीरियड्स के दौरान कामोत्तेजना अधिक

वैज्ञानिक शोधों से पता चला है कि पीरियड्स के दिनों में स्त्री के एस्ट्रोजन और प्रोजेस्टेरॉन हार्मोंस का स्तर बहुत तेज़ी से बदलता रहता है, जिससे वो इन दिनों अधिक कामोत्तेजना का अनुभव करती हैं. साथ ही सेक्स में ऑर्गेज़्म के कारण गर्भाशय में होनेवाली ऐंठन व दर्द में भी उसे राहत महसूस होती है, परंतु इस समय कंडोम का प्रयोग अवश्य करें, क्योंकि यह न स़िर्फ हाइजीन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है, बल्कि इस समय भी गर्भधारण की दो प्रतिशत संभावना होती है, जिससे बचाव होता है. इसके अलावा महिलाएं भी हाइजीन की दृष्टिकोण से डायफ्राम का इस्तेमाल कर सकती हैं.

7. मोबाइल के अधिक प्रयोग से संभव है नपुंसकता

एक वैज्ञानिक शोध से पता चला है कि जो लोग मोबाइल फ़ोन का अधिक प्रयोग करते हैं, उनके शुक्राणुओं की न स़िर्फ संख्या कम होती जाती है, बल्कि उनमें असामान्यता के लक्षण भी पाए जाते हैं. शोध के अनुसार, जो पुरुष मोबाइल फ़ोन का ज़्यादा इस्तेमाल करते हैं, उनमें शुक्राणुओं की 30% तक की कमी पाई जाती है और बाकी शुक्राणुओं में भी असामान्यता के लक्षण पाए जाते हैं. विश्‍व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट के मुताबिक मोबाइल फ़ोन की रेडियो फ्रीक्वेंसी फील्ड शरीर के ऊतकों को गहराई से प्रभावित करती है.

8. हेल्दी सेक्स लाइफ़ से दिल की बीमारियां कम

एक वैज्ञानिक सर्वेक्षण से पता चला है कि हेल्दी सेक्स लाइफ़ से दिल की बीमारियों का ख़तरा कम रहता है. इस सर्वेक्षण में 42 से 50 साल की महिलाओं को शामिल किया गया. इससे पता चला कि वैवाहिक जीवन से संतुष्ट महिलाओं में दिल की बीमारी की आशंका अन्य महिलाओं के मुक़ाबले एक तिहाई कम थी. विधवा महिलाओं में तो दिल की बीमारियां उत्पन्न होने की आशंका साढ़े पांच गुना अधिक पाई गई, जबकि तलाक़शुदा व अकेली रह रही महिलाओं में यह आशंका हेल्दी सेक्स लाइफ़ बिता रही महिलाओं की तुलना में दुगुनी थी.

यह भी पढ़ें: 6 AMAZING लव रूल्स हैप्पी लव लाइफ के लिए

 

×