Sex Tips

सेक्स समस्याएं पुरुषों को न सिर्फ शारीरिक तकलीफ़ देती हैं, बल्कि उनका आत्मविश्‍वास भी कम करती हैं. सेक्स में परफॉर्म न कर पाना किसी भी पुरुष के लिए चिंता का विषय है. क्या हैं पुरुषों की 6 सेक्स समस्याएं और क्या हैं उनसे बचने के आसान घरेलू उपाय? आइए, जानते हैं.

Men's Sexual Problems

1) नपुंसकता
पुरुष के मन में भी यदि सेक्स का विचार आता है, तो उसके लिंग में उत्तेजना आ जाती है और स्पर्श से भी पुरुष सेक्स के लिए उत्तेजित हो जाता है. ऐसी स्थिति में शरीर के साथ लिंग में भी खून का प्रवाह तेज हो जाता है, लेकिन उत्तेजना के लिए उचित हार्मोन का होना भी ज़रूरी है. जब ऐसा नहीं हो पाता, तो वो स्थिति नपुंसकता कहलाती है. हालांकि ज़्यादातर मामलों में लोग वहम के शिकार होते हैं कि उनमें नपुंसकता के लक्षण हैं.

  • 15 ग्राम तुलसी के बीज और 30 ग्राम सफ़ेद मुसली का पाउडर तैयार करें. फिर इसमें 60 ग्राम मिश्री पीसकर मिला दें और बॉटल में भरकर रखें. इस पाउडर का 3 से 5 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम दूध के साथ सेवन करें.
  • 10 से 20 मि.ली. सफ़ेद प्याज़ का रस, 5-10 ग्राम शहद और 1-3 मि.ली. अदरक का रस तथा 1 से 2 ग्राम घी लेकर सबको एक साथ मिलाकर 21 दिन तक लेने से नपुंसकता से मुक्ति मिल जाती है.
  • 200 ग्राम लहसुन पीसकर उसमें 600 ग्राम शहद मिलाकर एक साफ़ शीशी में भरकर अच्छी तरह से ढक्कन बंद करके गेहूं की बोरी में रख दें. 31 दिनों बाद उसे बाहर निकालें. 10 ग्राम की मात्रा में 40 दिनों तक इसे लेने से नपुंसकता दूर होती है.
  • बेल की 15 पत्तियां, 2 बादाम की गिरी और 150 ग्राम शक्कर तीनों को पीसकर उसमें पानी डालकर धीमी आंच पर पकाएं. एक चौथाई रह जाने पर उतार लें और ठंडा होने पर सेवन करें.

2) शीघ्रपतन
पुरुष की इच्छा के विरूद्ध उसका वीर्य अचानक स्खलित हो जाना शीघ्रपतन कहलाता है. शीघ्र पतन की सबसे खराब स्थिति यह होती है कि संभोग क्रिया शुरू होते ही या होने से पहले ही वीर्यपात हो जाता है.

  • 2 ग्राम दालचीनी का पाउडर सुबह-शाम दूध के साथ सेवन से वीर्य में वृद्धि होती है और शीघ्रपतन ख़त्म होता है.
  • इलायचीदाना, जावित्री, बादाम, गाय का मक्खन और शक्कर सभी को बराबर मात्रा में एक साथ मिलाकर रोज़ाना सुबह खाने से धातु पुष्ट होती है और शीघ्रपतन की शिकायत दूर हो जाती है.

यह भी पढ़ें: अपनी सेक्स लाइफ को किस तरह बेहतर बना सकते हैं पुरुष? (How Men Can Make Their Sex Life Better?)

3) धातु दुर्बलता
धातु दुर्बलता से कई पुरुष पीड़ित हैं. यह रोग अत्यधिक कामुक विचारों, अश्लील साहित्य, अश्लील फ़िल्में देखने आदि के कारण होता है. इस तरह के क्रियाकलापों के बाद व्यक्ति अधिक कामुक महसूस करता है तथा अपनी वासनाओं की पूर्ति के लिए अप्राकृतिक मैथुन आदि को अपनाता है. अप्राकृतिक मैथुन के कारण उसे अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिनमें से एक है धातु दुर्बलता. इसमें व्यक्ति का वीर्य पतला हो जाता है जिसके कारण संभोग के समय वह जल्दी स्खलित हो जाता है. पेशाब के साथ वीर्य की लार निकलना, लिंग में अपूर्ण उत्थान, उत्थान से पहले ही लिंग से धातु का गिरना शुरू होना आदि समस्याओं को धातु दुर्बलता कहा जाता है.

  • सुबह 2-3 खजूर को घी में भूनकर नियमित रूप से खाइए. ऊपर से इलायची, शक्कर और कौंच डालकर उबाला हुआ दूध पीएं. इससे धातु पुष्ट होती है.
  • इलायचीदाना व जावित्री का चूर्ण, बादाम गिरी, गाय का मक्खन तथा शक्कर एक साथ मिलाकर खाने से धातु पुष्ट होती है और वीर्य गाढ़ा होता है
  • 20 मि.ली. ताज़े आंवले का रस निकालकर उसमें शहद मिलाकर सेवन करने से धातु पुष्ट होती है.
Men's Sexual Problems

4) धातु स्राव
कई पुरुषों को पेशाब करने से पहले या बाद में तथा शौच के लिए अधिक जोर लगाने पर धातु स्राव होने लगता है. धातु स्राव की यह समस्या पुरुषों को अधिक कामुकता और कामुक विचारों के कारण होती है. धातु स्राव की समस्या से निदान पाने के लिए पुरुष घरेलू उपचारों का प्रयोग कर सकते हैं.

  • 20 ग्राम उड़द की दाल का आटा लेकर उसे गाय के दूध में उबालिए. फिर उसमें थोड़ा घी मिलाकर कुनकुना ही पीएं. इसका नियमित एक महीने तक सेवन करने से मूत्रमार्ग से होने वाला धातुस्राव बंद हो जाता है.
  • इलायचीदाने और सेंकी हुई हींग का लगभग 3 रत्ती चूर्ण घी और दूध के साथ सेवन करने से पेशाब में धातु जाती हो तो उसमें लाभ होता है.
  • 50 ग्राम इलायची, 10 ग्राम मिश्री और 15 तुलसी के पत्तों का क्वाथ बनाकर नियमित सेवन करें.
  • तुलसी की जड़ सुखाकर चूर्ण बना लें. एक ग्राम यह चूर्ण और एक ग्राम अश्‍वगंधा का चूर्ण मिलाकर खाएं और ऊपर से गाय का दूध पीएं.

5) सिफिलिस
सिफिलिस एक ऐसा यौन संक्रामक रोग (एसटीडी) है जो ट्रिपोनीमा पैलीडियम नामक जीवाणु से होता है. सिफ़िलिस का इलाज आसानी से किया जा सकता है, लेकिन अधिकांश संक्रमित व्यक्तियों को पता नहीं चलता कि उन्हें सिफ़िलिस हो गया है. यदि आप सिफ़िलिस का इलाज नहीं कराते हैं तो आगे चलकर आप अंधे हो सकते हैं, दिमागी संतुलन बिगड़ सकता है अथवा मृत्यु भी हो सकती है. अतः सिफिलिस का इलाज अवश्य कराएं.

  • मेहंदी के पत्तों का रस 40 मि.ली. निकालकर उसमें 20 ग्राम मिश्री मिलाकर पीने से सिफिलिस रोग ठीक होता है.
  • पुराने सिफिलिस (उपदंश) रोग में छोटी अरणी के पत्तों का रस 15 मि.ग्रा. दिन में 2-3 बार सेवन करने से लाभ होता है.
  • धतूरे की सूखी जड़ का चूर्ण बनाकर रख लें. इसे 2 चावल की मात्रा में पान में रखकर खाने से सिफिलिस रोग ठीक हो जाता है.

यह भी पढ़ें: लव गेम: पार्टनर से पूछें ये नॉटी सवाल (Love Game: Some Naughty Questions To Ask Your Partner)

6) सूजाक
सूजाक एक संक्रामक यौन रोग है. ये नीसेरिया गानोरिआ नामक जीवाणु से होता है जो महिला तथा पुरुषों में प्रजनन मार्ग के गर्म तथा गीले क्षेत्र में आसानी और बड़ी तेजी से बढ़ता है. इसके जीवाणु मुंह, गला, आंख तथा गुदा में भी बढ़ते हैं. सूजाक उन स्त्री-पुरुषों को होता है जो इस रोग से ग्रस्त व्यक्ति से यौन संपर्क करते हैं.

  • चंदन का तेल सूजाक के लिए रामबाण औषधि है. इसे 4-6 बूंद बताशे में रखकर सुबह-शाम खाने से 5-6 दिन में सूजाक ठीक हो जाता है.
  • गुलाब के पत्ते 5 ग्राम लेकर रात को 250 मि.ली. पानी में भिगो दें. सुबह उसे मसल-छानकर मिश्री मिलाकर पीएं.

पहली बार सेक्स करने की अनुभूति बेहद अलग होती है. हर किसी ने अपने कल्पना में फ़िल्मी सीन की तरह अपना पहला सेक्स अनुभव संजोया होता है लेकिन जब वैसा कुछ नहीं होता तो निराशा हाथ लगती है और सेक्स खूबसूरत अनुभव की जगह तकलीफ़देह लगने लगता है और कई कुंठाओं को जन्म देता है. लेकिन अगर आप कुछ बातों का ख्याल रखें तो सेक्स आपके लिए बेहद खूबसूरत क्रिया होगी.

  • क्या आप मानसिक रूप से तैयार हैं सेक्स के लिए? जी हां सेक्स कोई शारीरिक क्रिया नहीं, बल्कि भावनाओं से जुड़ा सम्बंध होता है. इसके लिए आपको मानसिक रूप से तैयार होने की ज़रूरत अधिक होती है. मन तैयार होगा तो शरीर बेहतर साथ देगा.
  • फ़ोरप्ले को कितना महत्वपूर्ण समझते हैं? कुछ लोग इसे बेहद तकनीकी क्रिया की तरह से महज़ शरीर की ज़रूरत मानकर करते हैं लेकिन ये मशीनी क्रिया नहीं है. अगर आप फ़ोरप्ले करेंगे तो और अधिक क़रीब आएँगे और ज़्यादा संतुष्ट भी होंगे. सेक्स के दौरान दर्द नहीं होगा और चरम पर पहुँचना आसान होगा.
  • सेक्स से पहले एक दूसरे के साथ रोमांस करें. किस करें. बातें करें. एक दूसरे को हल्के हल्के स्पर्श करें.
  • कमरे का माहौल रोमांटिक रखें. साफ़ सुथरा कमरा, महकता माहौल, बेड भी सुविधाजनक हो. हल्की रोशनी रखें.
  • पर्सनल हाइजीन का ख़याल भी रखें ख़याल. यह बेहद ज़रूरी है लेकिन लोग इसे नज़रअंदाज़ करते हैं. प्राइवेट पार्ट्स से लेकर ओरल हाइजीन का ध्यान रखें.
First Time Sex Tips
  • दिमाग़ से यह फ़ितूर निकाल दें कि आपका पहला सेक्स किसी फ़िल्मी सीन की तरह होगा. मन में पूर्वाग्रहों को ना पलने दें, वर्ना निराशा हाथ लगेगी. फ़िल्में काल्पनिक होती हैं. हक़ीक़त इससे अलग होती है. पहली बार में कुछ भी परफेक्ट नहीं होता. सेक्स सिर्फ़ प्रैक्टिस से ही दिन ब दिन बेहतर होता है क्योंकि आपको पहली बार में एक दूसरे की पसंद और सेक्स पॉइंट्स के बारे में ज़्यादा नहीं पता होता. मन में झिझक भी होती है. इसलिए खुले दिमाग़ से पहले अनुभव को स्वीकारें.
  • यह भी ज़रूरी नहीं कि पहली बार में दर्द हो या खून निकले. अगर आप दोनों मानसिक रूप से बेहतर तैयार हो तो ना दर्द होगा और ना खून निकलेगा.
  • फ़ीमेल पार्टनर भी बेझिझक होकर सेक्स में पहल करे. इसको चरित्र से जोड़कर ना देखें। दोनों को ही सहयोग ज़रूरी है ताकि अनुभव बेहतर हो.
  • प्राईवेसी का ख़याल ज़रूर रखें. कोई डिसटर्ब ना करे और मन में किसी बात का डर ना हो.
  • पहली बार में ज़्यादा एक्सपेरिमेंट करने आस बचें.
  • पोर्न को अपना आदर्श ना मानें, वर्ना बात बिगड़ सकती है क्योंकि पोर्न फ़िल्में महज़ पैसा कमाने के लिए आपको उत्तेजित करने के इरादे से बनाई जाती हैं जिसमें वैज्ञानिक तथ्य नहीं होते.
  • मन में शंका हो तो सही जगह से जानकारी व मदद लें और अपनी सेक्स की पहली अनुभूति को यादगार बनाएँ.

यह भी पढ़ें: Sex Life: इन 7 संकेतों से जानें कहीं आपके पार्टनर को सेक्स से एलर्जी तो नहीं? (These 7 Signs Indicate That Your Partner Is Allergic To Sex)

भारतीय समाज में शादी के बाद तो क्या शादी के पहले भी मास्टरबेशन को सहज नहीं माना जाता. यहां मानसिकता यही है कि मास्टरबेट करना किसी पाप या घिनौने काम से कम नहीं. जबकि विशेषज्ञ कहते हैं कि हस्तमैथुन एक हेल्दी प्रक्रिया है बशर्ते उसकी अति ना हो.

ऐसे बहुत से लोग हैं जो शादी के बाद भी हस्तमैथुन करते हैं लेकिन वो खुलकर किसी को यह बात कहते नहीं हैं, क्योंकि उन्हें खुद भी यही लगता है कि वो कुछ ग़लत कर रहे हैं या अपने पार्टनर के साथ ग़लत कर रहे हैं. ऐसे में आइए जानने की कोशिश करते हैं कि शादी के बाद मास्टरबेट करना कितना सही है और कितना ग़लत.

मास्टरबेशन को लेकर अमेरिकन फिल्ममेकर वूडी एलन के कुछ कोट्स और बातें मशहूर हैं. उन्होंने मास्टरबेशन को सेल्फ लव से जोड़ा है. वो कहते हैं कि मास्टरबेशन क्यों छोड़ें? सेक्स उसी के साथ किया जाता है जिसे आप प्यार करते हैं तो ऐसे में क्या शादी के बाद आप खुद से प्यार नहीं करते या प्यार करना बंद कर देते हैं? अगर नहीं तो मास्टरबेशन क्यों छोड़ना.
मास्टरबेशन आपको अपने शरीर और सेकसुअल ज़रूरतों को बेहतर तरीक़े से समझने में मदद करता है.

शादी के बाद मास्टरबेशन करने का यह बिल्कुल अर्थ नहीं है कि आपकी सेक्स लाइफ सही नहीं और ना ही शादी के बाद मास्टरबेशन से आपकी सेक्स लाइफ पर बुरा असर होता है.
बल्कि यह इस बात का संकेत है कि आपकी सेक्स लाइफ ज़्यादा एक्टिव और हेल्दी है. यह दर्शता है कि आप सेकसुअली हेल्दी हैं.

महिलायें शुरू शुरू में सेक्स में सहज नहीं हो पातीं और ना ही वो ऑर्गैज़्म प्राप्त कर पाती हैं, ऐसे में मास्टरबेशन उन्हें तनाव से छुटकारा दिलाकर रिलैक्स फील कराता है.

Masturbation And Marriage

मास्टरबेशन से आप अपने शरीर और प्लेज़र पॉइंट्स को बेहतर तरीक़े से समझ पाते हैं जिससे आप सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को यह बता सकते हैं कि आपको क्या ज़्यादा एक्साइटिंग लगता है, कौन से पार्ट को छूने से ज़्यादा उत्तेजित महसूस करते हैं.

अगर पार्टनर से दूर हैं तो मास्टरबेशन से खुद को संतुष्ट करना बेहतरीन होता है ताकि आप ग़लत रिश्तों में या अवैध सम्बंधों की गिरफ़्त में ना आ जाएँ.

बहुत से कपल तो सीधे सेक्स ना करके एक दूसरे को मास्टरबेशन से ही संतुष्ट करने में ज़्यादा आनंद महसूस करते हैं.

कुछ देश तो ऐसे हैं जो युवाओं को नियमित रूप से मास्टरबेशन के लिए एजुकेट करते हैं ताकि युवा ग़लत रास्तों पर ना भटकें.

दरअसल मास्टरबेशन से आप अकेले में खुद को प्यार करके संतुष्ट कर सकते हैं जिससे आपके सेक्स की तीव्र इच्छा भी पूरी होती है और एक संतुष्टी का आभास भी होता है. ऐसे में एक्सपर्ट्स मास्टरबेशन को और शादी के बाद भी मास्टरबेशन को ग़लत नहीं बल्कि हेल्दी ही मानते हैं.

Masturbation And Marriage

मास्टरबेशन आपकी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाता है क्योंकि आपको अपने शरीर व उसकी ज़रूरतों की अब बेहतर जानकारी होती है और यही जानकारी आपको बेहतर सेक्स के अनुभव की दिशा में काम आती है.
यह अलग बात है कि हमारे समाज में अब भी यह सोच विकसित नहीं हुई और ख़ासतौर से लड़कियों के मास्टरबेशन को लेकर तो संकुचित सोच बरक़रार है. लेकिन पार्टनर्स को चाहिए कि इन बातों से ऊपर उठें और सहज चीज़ों को स्वभाविक व सहज ही मानें.

एक्सपर्ट्स की माने तो सेक्स और मास्टरबेशन दोनों ही अलग अलग चीज़ें हैं. बेहतर होगा कि पति-पत्नी इस विषय पर आपस में खुलकर बात करें, रोमांस और सेक्स व शरीर की ज़रूरतों के बीच के अंतर को पहचाने और बेहतर सेक्स लाइफ को एंजॉय करें.

यह भी पढ़ें: अपनी सेक्स लाइफ को किस तरह बेहतर बना सकते हैं पुरुष? (How Men Can Make Their Sex Life Better?)

आज भी हमारे देश में सेक्स को लेकर वही पारंपरिक सोच चली आ रही है कि सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने की ज़िम्मेदारी पुरुषों की होती हैं. आम तौर पर महिलाएं पहल नहीं करतीं, क्योंकि उन्हें लगता है कि यह पुरुषों का काम है और कहीं न कहीं दिमाग में यह डर भी रहता है कि पहल करने पर पति कहीं उसके चरित्र पर उंगली न उठाए. इन सब कारणों से पुरुषों पर ही सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने का जिम्मा होता है. आइए जानें, कैसे इन टिप्स के ज़रिये आप अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं.

couples making love

क्या है बेहतर सेक्स लाइफ?

एक्सपर्ट्स कहते हैं कि किसी पुरुष के लिए अपनी पार्टनर को मल्टीपल ऑर्गैज़्म दिलाना ही बेहतर सेक्स है, तो किसी के लिए 3 मिनट तक बने रहना बेहतरीन है. अगर आपकी पार्टनर आपके सेक्स बेहेवियर से खुश और संतुष्ट है, तो वही आपके लिए बेहतर सेक्स लाइफ है. यहां हम आपको कुछ टिप्स बता रहे हैं, जिससे आप अपनी असंतुष्ट सेक्स लाइफ को बेहतर बना सकते हैं.

पिलो टॉक है ज़रूरी

अक्सर पुरुष इसे नज़रंदाज़ करते हैं. उन्हें लगता है बात करना उतना ज़रूरी नहीं, जितना किस करना है. यकीं मानिए सेक्स की शुरुआत से पहले पिलो टॉक आप दोनों को काफ़ी एक्साइटेड कर सकता है. पार्टनर को पूछें उसे क्या पसंद है, वो चाहती क्या है और उसके उसकी फैंटासीज़ को जानिये. आप दोनों इसके बाद एक अच्छा और प्लेज़र वाला सेक्स सेशन एन्जॉय कर सकते हैं.

ग़लतफ़हमी से बाहर निकलें

ज़्यादातर पुरुष अपनी सेक्स लाइफ किसी और से डिस्कस करना पसंद नहीं करते. इसीलिए उनके मन में बहुत सी ग़लतफ़हमियां पलने लगती हैं. उन्हें लगता है कि दूसरे बहुत अच्छी सेक्स लाइफ एन्जॉय कर रहे हैं, पर मैं कुछ अच्छा नहीं कर पा रहा. एक्सपर्ट के मुताबिक ज़्यादातर लोग 10 दिन में एक बार सेक्स करते हैं, अगर आपके साथ भी ऐसा ही हो रहा है, परेशान न हों और इस गलतफहमी से बाहर निकलें.

पॉर्न से तुलना न करें

अगर आप पॉर्न लाइफ से अपनी सेक्स लाइफ की तुलना करेंगे, तो कभी खुश नही रहेंगे. पॉर्न इंडस्ट्री का काम लोगों का एंटरटेनमेंट है. यह उनका काम है, इसके लिए वो तरह तरह के ड्रग्स आदि का सहारा लेते हैं, जिसके कारण इतने बड़े वीडिओज़ शूट होते हैं. वो एक फिल्म है और फिल्म एक बार में शूट नहीं की जाती, उसमें कई अलग अलग शॉट्स होते हैं. उसमें दर्शाए गए स्टंट्स कभी अपने पार्टनर पर न आज़माएं और न ही उनसे उम्मीद करें कि वो पॉर्न जैसा सबकुछ आपके लिए करें.

साइज़ के चक्कर को भूल जाएं

अक्सर पुरुष अपने पेनिस साइज़ को लेकर कंफ्यूज रहते हैं. उन्हें ये डर रहता है कि कहीं उनकी पार्टनर असंतुष्ट न रहे, क्योंकि ऐसा हुआ तो उनकी सेक्स लाइफ बर्बाद हो जाएगी. लेकिन आपको ये बात समझने की ज़रुरत है कि साइज़ उतना मायने नहीं रखता, जितना आप दोनों का प्लेज़र. अगर आप दोनों खुश हैं, तो क्या फर्क पड़ता है कि आपका साइज़ क्या है, क्या नहीं.

कामोत्तेजक अंगों का रखें ख़्याल

हर पुरुष को महिलाओं के कामोत्तेजक अंगों के बारे में पता होना चाहिए, इससे सेक्स में दोनों को ही प्लेज़र ज़्यादा मिलता है और सेक्स लाइफ बेहतर होती है. आप दोनों को एक दूसरे के सेंसेशन वाले पार्ट्स के बारे में पता होना चाहिए. यह आपकी सेक्स लाइफ में एक अलग एहसास पैदा करता है. अगर आप यह ट्रिक आजमाएंगे तो यक़ीनन आपकी सेक्स लाइफ एक्साइटिंग होगी.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: जानें सेक्स और कोरोना वायरस से जुड़े सवालों के जवाब (Sex And Covid 19 Related Questions Answered)

हर कपल अपनी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के लिए हमेशा कुछ न कुछ नया करता रहता है, लेकिन फिर भी उनकी सेक्स लाइफ उतनी एक्साइटिंग नहीं होती, जितनी होनी चाहिए. ज़्यादातर महिलाएं सेक्स का सारा दारोमदार पुरुषों पर छोड़ देती हैं, लेकिन उनके पार्टनर चाहते हैं कि वो भी एक्टिवली पार्टिसिपेट करें, उसके लिए प्लान करें, सरप्राइज़ दें आदि. महिलाओं के लिए कौन से वो सेक्स टिप्स हैं, जो उनके पार्टनर चाहते हैं कि उन्हें पता हों, तो आइए जानते हैं.

couples

1. सेक्सुअल परफॉर्मेंस पर तारीफ़ अच्छी लगती है

ज़्यादातर पुरुष चाहते हैं कि उनकी पार्टनर उनके सेक्सुअल परफॉर्मेंस की तारीफ़ करे. पुरुषों को अपने परफॉर्मेन्स के बारे में जानना अच्छा लगता है. उनके मन में हमेशा एक डर रहता है कि मैं पार्टनर को संतुष्ट कर पाऊंगा या नहीं और ऐसे में अगर आप ख़ुद उनकी तारीफ़ कर दें, तो उनका मनोबल बढ़ जाता है. आज का सेशन अच्छा था, आपकी वो हरकत मुझे अच्छी लगी आदि कहकर उनकी तारीफ़ करने की शुरुआत करें.

2. आपका टच उन्हें पसंद है

महिलाओं की तरह पुरुषों के भी कामोत्तेजक अंग होते हैं, लेकिन वो महिलाओं से इस बारे में कहने में संकोच करते हैं. पुरुषों की इनर थाइज़, चेस्ट और फेस पर अपनी पार्टनर का टच उन्हें अच्छा लगता है. अपने पार्टनर के मन को समझें और सेक्स के दौरान ये टच बनाए रखें.

3. पुरुषों की भी सेक्सुअल फैंटसीज़ होती हैं

महिलाओं की तरह पुरुषों की भी सेक्सुअल फैंटसीज़ होती हैं, लेकिन उनकी पार्टनर उनकी बात सुनकर हंसेगी या मज़ाक उड़ाएगी, इस डर से वो अपनी फैंटसीज़ शेयर नहीं करते. महिलाओं को अपने पार्टनर की सेक्स फैंटसीज़ के बारे में जानने की कोशिश करनी चाहिए. हो सकता है कि वो कोई लव गेम ट्राई करना चाहते हों.

couple sex

4. एक्टिविटी के दौरान हो सेक्सी टॉक

सेक्सुअल एक्टिविटी के दौरान सेक्सी बातें करना ज़्यादातर पुरुषों को अच्छा लगता है. सेक्स के दौरान उनके कान में कुछ कहें, उनका ध्यान अपनी बातों को ओर खींचें, उनके लिए अपनी भावनाएं शेयर करें, इस समय आप कैसा महसूस कर रही हैं, उन्हें बताएं. ये सब बातें आपकी सेक्सुअल एक्टिविटी को और बेहतर बनाएंगी और यकीनन पार्टनर का परफॉर्मेन्स इम्प्रूव होगा.

5. आई कॉन्टैक्ट रखें

सेक्स के दौरान ज़्यादातर महिलाएं आंखें बंद कर लेती हैं, जबकि उनके पार्टनर चाहते हैं कि वो उनसे आई कॉन्टैक्ट रखें. उन्हें प्यार से देखें, उनकी आंखों में झांकें और उनके मन को समझें.

अब आपको पता है कि आपके पार्टनर को क्या चाहिए, तो उन्हें खुश करने के लिए आज़माएं ये स्मार्ट सेक्स टिप्स.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: बेटर सेक्स लाइफ़ के लिए गोल्डन आयुर्वेदिक रूल्स (Golden Ayurvedic Rules For Better Sex Life)

सेक्स प्यार का ही एक स्वरूप है और आपके रिश्ते को जोड़े रखनेवाली मज़बूत कड़ी व नींव भी है. यदि यह नींव किन्हीं कारणों से कमज़ोर पड़ गई, तो इसका सीधा असर आपके रिश्ते पर ही पड़ेगा. सेक्स को लेकर आज भी बहुत सी भ्रांतियां व डर हैं हमारे समाज में, जो आपके रिश्ते पर नकारात्मक असर डालते हैं. क्या हैं ये मिथ्स और क्या है सच्चाई यह जानना ज़रूरी है, ताकि आपका रिश्ता बना रहे व मज़बूती से टिका भी रहे.

रोज़ाना सेक्स नहीं करना चाहिए

यह मात्र ग़लतफ़हमी है. आप दोनों अगर रोज़ाना सेक्स करने की इच्छा रखते हो, तो ख़ुद को रोके रखने में समझदारी नहीं. पति का मन है, लेकिन पत्नी के मन में यह बात घर कर गई है कि यह रोज़ करनेवाली क्रिया नहीं है. ऐसे में पति का नाराज़ होना जायज़ है. बेहतर होगा कि इस बात को मन से निकाल दें और अपनी सेक्स लाइफ को क्रिएटिव बनाने की तरफ़ ध्यान दें.

दिन में बस एक बार ही सेक्स करना चाहिए

यह दूसरी सबसे बड़ी भ्रांति है. भूल जाइए कि आपके दोस्त व रिश्तेदार क्या कहते हैं, क्योंकि ऐसा कोई फिक्स नंबर नहीं है और न ही कोई मैजिक नंबर है, जो आपको पता चल जाए और आप उसको फॉलो करें. सेक्स हमेशा सहज और स्वाभाविक होना चाहिए. कपल जब भी एक-दूसरे के लिए यह महसूस करें, उन्हें सेक्स करना चाहिए और यदि दोनों में से एक का भी मन न हो, तो इंतज़ार करना ही बेहतर होगा, क्योंकि यह किसी एक को ख़ुश व संतुष्ट करने की क्रिया नहीं, बल्कि आपके रिश्ते को और भी ख़ूबसूरत बनाने की क्रिया है, तो यह जितना सहज होगा, उतना
बेहतर होगा.

सेक्स के लिए नियम नहीं बनाना चाहिए

जी नहीं, आप इसका टाइम टेबल ज़रूर बना सकते हो और यह आपको फन का एक्सपीरियंस देगा. यह सच है कि सेक्स सहज होना चाहिए, लेकिन याद करें रिश्ते के शुरुआती दिन, जब आप बन-ठनकर, कैंडल्स जलाकर, सेक्सी ड्रेस पहनकर मूड ऑन करते थे. तो क्यों न अपने कैलेंडर पर नए तरी़के से काम करें और सेक्स के लिए भी टाइम टेबल बनाकर रिश्ते में नयापन व ताज़गी लाएं.

सभी पुरुष रोज़ सेक्स करने की चाह रखते हैं

अधिकांश महिलाएं पुरुषों के बारे में यही राय रखती हैं. उन्हें लगता है पुरुष हमेशा सेक्स के लिए तैयार रहते हैं और यदि उन्हें ख़ुश न रखा गया, तो वो रिश्ते से बाहर सेक्स व प्यार ढूंढ़ने लगते हैं. जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैं. पुरुष ही नहीं, बहुत सी महिलाएं भी हैं, जिनके सेक्स की चाहत अपेक्षाकृत अधिक होती है. यह व्यक्ति पर निर्भर करता है कि उसकी सेक्स की इच्छा कब और कितनी होती है.

महिलाएं सेक्स को एंजॉय नहीं करतीं

यह भी बहुत बड़ी ग़लतफ़हमी है और इसका शिकार भी सबसे ज़्यादा महिलाएं ही हैं. महिलाओं को ख़ुद लगता है कि सेक्स स़िर्फ पुरुषों को ख़ुश करने के लिए होता है. ऐसे में वो सेक्स में पहल करने से भी कतराती हैं और सेक्स की इच्छा या अनिच्छा होने पर व्यक्त भी नहीं कर पातीं. वो अपने पार्टनर के मन व मूड के अनुसार सेक्स करती हैं. लेकिन इस तरह का सेक्स मशीनी प्रक्रिया से अधिक कुछ नहीं होगा. सेक्स भावना है, कोई रूटीन काम नहीं, जिसे बस निपटाना है. इस भावना को जब तक महसूस नहीं करेंगे, तब तक पार्टनर से कैसे जुड़ाव महसूस करेंगे?

उम्र बढ़ने पर सेक्स की इच्छा कम हो जाती है, इसलिए ख़ुद पर कंट्रोल रखना चाहिए

अधिकांश भारतीयों में यह सोच होती है कि बच्चे बड़े हो रहे हैं, तो ऐसे में यह सब शोभा नहीं देता. सेक्स से उम्र या बच्चों का कोई लेना-देना नहीं होता. आप जब तक हेल्दी हैं और जब तक आपकी इच्छा है आप सेक्स कर सकते हैं. इसमें कोई बुराई नहीं है.

मेरे पार्टनर को पता होना चाहिए कि मुझे सेक्स के दौरान क्या पसंद है, क्या नहीं

सबसे पहले तो यह जान लें कि आपका पार्टनर माइंड रीडर नहीं है. जब तक आप दोनों कम्यूनिकेट नहीं करेंगे, तब तक किसी को कुछ पता नहीं चलेगा. आप दोनों बस अंदाज़ा ही लगाते रह जाओगे. जिस तरह रिश्ते की मज़बूती के लिए कम्यूनिकेशन ज़रूरी है, उसी तरह अच्छी सेक्स लाइफ के लिए भी कम्यूनिकेशन बेहद ज़रूरी है. आप दोनों को एक-दूसरे से बात करनी चाहिए. अपनी फैंटसीज़, अपने प्लेज़र पॉइंट्स आदि बताने चाहिए, ताकि सेक्स आप दोनों के लिए संतोषजनक हो.

शादीशुदा कपल पारंपरिक सेक्स ही करते हैं

अधिकांश कपल्स की सेक्स को लेकर कई तरह की फैंटसीज़ होती हैं. उनकी कल्पना का सेक्स अलग ही होता है, जबकि हक़ीक़त इससे कोसों दूर होती है, क्योंकि सेक्स को लेकर आपके मन में बहुत से मिथ्स होते हैं. आपको लगता है कि शादी के बाद सेक्स में ज़्यादा एक्सपेरिमेंट नहीं कर सकते हैं. जबकि आप अपनी फैंटसीज़ एक-दूसरे के साथ डिसकस कर सकते हैं और जितना संभव हो, उन्हें पूरा करने का प्रयास भी कर सकते हैं. चाहे सेक्स पोज़ीशन की बात हो या नई जगह पर सेक्स करना… आप सब कुछ ट्राई कर सकते हो. ज़रूरी नहीं कि आप अपनी सेक्स लाइफ को पारंपरिक सेक्स का नाम देकर बोरिंग बना दें और अपने रिश्ते को कमज़ोर करने की नींव रख दें.

बढ़ती उम्र के साथ फोरप्ले और नॉटी बातें कम होती जाती हैं

यह सच नहीं है. आपकी उम्र से इन सब बातों का कोई लेना-देना नहीं होता. फोरप्ले हमेशा ही ज़रूरी होता है और नॉटी बातें आपके रोमांस को बरक़रार रखती हैं. बेहतर सेक्स व रिलेशनशिप के लिए दोनों का ही नॉटी होना बेहद ज़रूरी है, चाहे आपकी उम्र कितनी भी हो.

किसी यंग के साथ सेक्स का अनुभव बेहतर होता है

यह भी बहुत बड़ी भ्रांति है. सेक्स अनुभव व उम्र के साथ बेहतर होता जाता है और आप दोनों ही समय के साथ एक-दूसरे को बेहतर समझने लगते हैं. ऐसे में उम्र का सेक्स के अनुभव व बेहतर सेक्स से कोई लेना-देना नहीं होता. यह कतई ज़रूरी नहीं कि यंग पार्टनर के साथ सेक्स का अनुभव ज़्यादा अच्छा रहेगा. यहां मामला उल्टा भी हो सकता है.

यह भी पढ़ें: हेल्दी है मास्टरबेशन, जानें इसके 10 हेल्थ बेनीफिट्स (10 Amazing Health Benefits Of Masturbation)

पत्नी को ऑर्गैज़्म न मिला, तो वो पति को कमज़ोर समझेगी

यह सोच पुरुष व महिलाएं दोनों में होती है. यदि सही तरी़के से फोरप्ले किया जाए, तो दोनों को ही एक साथ ऑर्गैज़्म मिल सकता है. लेकिन यदि इस क्रिया में कभी ज़्यादा एक्साइटमेंट के चलते या कभी अन्य कारणों से कोई एक जल्दी स्खलित हो जाए, तो इसका यह कतई अर्थ नहीं कि वो कमज़ोर है. ऐसा होना स्वाभाविक है. समय के साथ-साथ जब आप दोनों की कंपैटिबिलिटी व समझ बढ़ेगी, तो सेक्स को लेकर सहजता भी बढ़ेगी और आपका अनुभव बेहतर होता जाएगा. कई बार तो पत्नियां भी मात्र इस बात का प्रदर्शन करती हैं कि उन्हें ऑर्गैज़्म मिला है, पर बेहतर होगा सेक्स को लेकर खुलकर बात करें. इससे आपका रिश्ता भी बेहतर होगा, वरना कुंठाएं जन्म लेंगी.

सेक्स से कमज़ोरी आती है

यह सोच आज भी है. लंबे समय तक एथलीट्स को भी यही सलाह दी जाती थी कि अपनी परफॉर्मेंस से पहले की रात वो सेक्स न करें. इस सोच के पीछे की धारणा यह होती थी कि सेक्स न करने से आपकी ऊर्जा बचती है और वो एग्रेशन आप अपनी परफॉर्मेंस में देते हैं, जिससे आपका प्रदर्शन बेहतर होता है. पर अब कई शोध यह साबित कर चुके हैं कि इसमें सच्चाई कम ही है. बेहतर सेक्स आपके प्रदर्शन को बेहतर करता है, न कि कमज़ोर.

पोर्न फिल्म्स से आप अपनी सेक्स लाइफ में नई ताज़गी ला सकते हैं

बहुत से लोग यह सोचते हैं कि इस तरह की फिल्म्स में जो दिखाया जाता है वह सच में संभव है, जबकि यह मात्र सेक्स को ग़लत संदर्भ में ग़लत तरी़के से दिखाती हैं. यह स़िर्फ पैसे कमाने की इंडस्ट्री है, इसे आपकी सेक्स लाइफ या आपको एजुकेट करने में कोई दिलचस्पी नहीं होती. ये आपको वही दिखाती हैं, जो आपको अधिक उत्तेजक लगे, लेकिन यथार्थ में वह संभव नहीं हो सकता. कई लोग जब अपने पार्टनर पर पोर्न फिल्म देखकर उसी तरह परफॉर्म करने का दबाव बनाते हैं, तो रिश्तों में दूरियां व दरार आने लगती है. बेहतर सेक्स के लिए पार्टनर की भावनाओं का ख़्याल रखना सबसे ज़रूरी है. साथ ही यह भी ध्यान रखें कि पोर्न देखने की लत से आपका सेक्स जीवन पूरी तरह से ख़त्म होने की कगार पर आ सकता है, क्योंकि उसके बाद आपको रियल सेक्स बोरिंग लगने लगता है और आपको वो नकली दुनिया ज़्यादा हसीन व रंगीन नज़र आती है. बेहतर होगा कि इन फिल्मों की लत से बचें.

अल्कोहल सेक्सुअल परफॉर्मेंस बेहतर करता है

शुरुआती दौर में आपको ऐसा लगता है, लेकिन अल्कोहल आगे चलकर आपकी परफॉर्मेंस व सेहत दोनों को ख़राब ही करता है. साथ ही यह रिश्तों पर नकारात्मक असर डालता है. इसलिए कभी-कभार इसका सेवन आपका मूड बेहतर कर सकता है, पर इसकी भी लत अच्छी नहीं और इसे लेकर यह भ्रम ख़तरनाक है कि आपकी सेक्सुअल परफॉर्मेंस इससे बेहतर होगी.

सेक्स को लेकर क्यों हैं इतने मिथ्स?


– हमारे समाज में सेक्स पर आज भी अधिक कम्यूनिकेशन या बातचीत नहीं की जाती. इस वजह से बहुत से सवाल मन में ही रह जाते हैं.
– ग़लत जगह से जानकारी हासिल करना भी मिथ्स को बढ़ाता है.
– दोस्तों व सहेलियों की सेक्स को लेकर बढ़ा-चढ़ाकर बातें करने की आदत मन में कई ग़लत धारणाएं बना देती हैं.
– घर-परिवार में भी सेक्स की बातें करने की मनाही होती है.
– लड़कियों को हमेशा ही सेक्स की इच्छा को दबाकर रखने की सीख दी जाती है.
– उनकी परवरिश के दौरान उन्हें यही सिखाया जाता है कि सेक्स बुरी चीज़ है, जिसे ख़राब चरित्र के लोग ही तवज्जो देते हैं.
– बेटियों को यही बताया जाता है कि पति को ख़ुश करना ही उनके लिए सेक्स का उद्देश्य होना चाहिए.
– पर्सनल व सेक्सुअल हाइजीन व सेफ सेक्स की बातों को बताना ज़रूरी नहीं समझा जाता.
– रिलेशनशिप एक्सपर्ट या सेक्स थेरेपिस्ट के पास जाने की सलाह कभी नहीं दी जाती.
– रिश्ते की मज़बूती के लिए किस तरह से सेक्स को लेकर मैच्योरिटी होनी चाहिए इस ओर किसी का ध्यान नहीं जाता और न ही इसे महत्वपूर्ण माना जाता.
– लड़कों की परवरिश काफ़ी लापरवाही से की जाती है, जिसमें उनको यह भ्रम हो जाता है कि महिलाएं मात्र उनकी संतुष्टि का ज़रिया हैं.
– उन्हें महिलाओं की सेक्सुअल ज़रूरतों का ध्यान देने की हिदायतें कभी नहीं दी जातीं.
– सेक्स और भावनाओं के समन्वय को समझाया नहीं जाता.

कैसे दूर हों ये मिथ्स?

– ज़रूरी है सही समय पर सेक्स की सही शिक्षा.
– लिंग के आधार पर सेक्स की ज़रूरतों व ज़िम्मेदारियों को न बांटा जाए.
– सेक्स को लेकर बात करने में बच्चे सहज हों, पैरेंट्स को यह बच्चों को समझाना व ख़ुद भी समझना चाहिए.
– सेक्स को बुरा काम बताने की ग़लती न करें.
– यह एक सहज व प्राकृतिक क्रिया है, यह समझें व समझाएं.
– सेक्स को लेकर अपनी सोच में मैच्योरिटी लाएं. ऐसे में एक्सपर्ट्स की सलाह लेने से न हिचकें.
– पैरेंट्स ध्यान दें कि बच्चे ग़लत जगहों से जानकारी न लें.
– अलग-अलग तरीक़ों से उन्हें एजुकेट करें.
– रिश्ते की मज़बूती के लिए सेक्स व सेक्स को लेकर सही सोच के महत्व को समझाएं.
– कोई सेक्सुअल समस्या हो, तो उसे शेयर करने में न तो कमज़ोरी होगी, न ही बुराई.इसे छिपाना सेहत व रिश्ते के लिए घातक हो सकता है.

– विजयलक्ष्मी

यह भी पढ़ें: पहली बार सेक्सुअल रिलेशन से पहले जानें ये 10 बातें (10 Things To Know Before Having Sex For The First Time)

अपनी रोमांटिक लव लाइफ और सेक्स लाइफ को लेकर हर न्यूली मैरिड कपल बेहद एक्साइटेड रहता है. दोनों यही सोचते हैं कि सेक्स लाइफ को और बेहतर कैसे बनाएं, क्या करें कि पार्टनर आपके प्यार और रोमांस से हर व़क्त सराबोर रहे. यहां हम आपको कुछ ऐसे ही लेटेस्ट सेक्स फॉर्मूले बता रहे हैं, जिससे आपकी सेक्स लाइफ में रोमांच हमेशा बना रहेगा.

Sex Formulas For Newly Married

सुहागरात को हौवा न बनाएं

–     सबसे पहले तो अपने दिमाग़ से यह निकाल दीजिए कि सुहागरात में आपको सेक्स करना ही है, क्योंकि ज़्यादातर कपल्स शादी की रस्मों में इतने थक जाते हैं कि वो सेक्स को एंजॉय ही नहीं कर पाते.

–     बेहतर होगा कि आप सुहागरात को स़िर्फ रिलैक्स करें और अगली सुबह जब सोकर उठें, तब एक नए जोश और जुनून के साथ रिश्ता बनाएं. यक़ीनन इस सेक्सुअल एक्टिविटी को आप ज़्यादा एंजॉय करेंगे.

–     अगर आप सुहागरात को यादगार बनाना चाहते हैं, तो कमरे में मुहब्बत का ऐसा समां बांधें कि आपका पार्टनर ख़ुद आपकी तरफ़ खिंचता चला आए.

–     रोमांटिक म्यूज़िक, फूलों से सजी सेज के साथ, एसेंशियल ऑयल्स की ख़ुशबू पूरे कमरे में आपके प्यार को महकाएगी.

फोरप्ले से शुरू करें लव गेम

–     फोरप्ले यानी सेक्सुअल रिलेशन के पहले का वॉर्मअप है. एक-दूसरे को बांहों में भरकर प्यार करना, किस करना, एक-दूसरे को हग करना, नॉटी बातें करना ही फोरप्ले है.

–     फोरप्ले को स़िर्फ बेडरूम में ही सीमित न रखें. दिनभर में पार्टनर को नॉटी मैसेजेस भेजकर भी उनका मूड रोमांटिक बनाए रख सकते हैं.

–     किस करते व़क्त कभी-कभार आंखें खोलकर अपने पार्टनर को देखें. किस करते हुए पूरी तरह खोया हुआ पार्टनर बहुत प्यारा लगता है. उस पर और प्यार लुटाने का मन करता है.

–     पार्टनर से पूछें कि उसे क्या पसंद है. सेक्स के दौरान आपकी कौन-सी हरकत उसे सबसे ज़्यादा अच्छी लगती है.

–     शुरुआत में ही लंबे सेशन की उम्मीद न करें. आप दोनों नए हैं, इसलिए शुरू-शुरू में रिलेशन बनाने में आपको थोड़ा व़क्त लगेगा. इसे किसी तरह की कमी या कमज़ोरी न समझें, ऐसा सभी कपल्स के साथ होता है.

–     फोरप्ले के व़क्त एक्ट में खोने के साथ-साथ यह भी देखें कि आपके पार्टनर का रिएक्शन क्या है. क्या वो पूरी तरह इन्वॉल्व हो गया है या वो स़िर्फ आपकी ख़ुशी के लिए ज़बर्दस्ती एक्ट में बना हुआ है.

न्यूली मैरिड के लिए सेक्स फॉर्मूले

–     शादी के शुरुआती दिनों में कपल एक-दूसरे के साथ के लिए हर पल एक्साइटेड रहते हैं. हर पल एक-दूसरे में खोए रहने का जुनून, एक-दूसरे को निहारते रहना, एक-दूसरे की गोद में सिर रखकर पूरी दुनिया को भुला देने का उत्साह इसी समय चरम पर होता है.

–     हर दिन की शुरुआत ‘गुड मॉर्निंग किस’ से करें. शाम को काम पर से लौटने पर एक-दूसरे को गले ज़रूर लगाएं. जब भी मौक़ा मिले ‘आई लव यू’ ज़रूर कहें.

–     बहुत-से कपल्स अपने पार्टनर से अपनी इच्छाओं और चाहतों को बयां नहीं कर पाते, जिससे उन्हें एक कमी का एहसास होता है. आप अपने पार्टनर से उनके दिल की बातें जानें और अपनी ख़्वाहिशों की बातें करें.

–     सेक्सुअल लाइफ जितनी रोमांटिक होगी, आपकी मैरिड लाइफ उतनी ही ख़ुशहाल होगी, इसलिए एक-दूसरे की केयर करें. एक-दूसरे का ख़्याल रखने से प्यार और गहरा होता है.

–     शादी के शुरुआती कुछ महीने बहुत रोमांटिक होते हैं. हर रात कुछ अलग और नया करने का दोनों में बेहद उत्साह रहता है, लेकिन ज़रूरी नहीं कि हर रात आपका परफॉर्मेंस बेस्ट हो. कभी-कभार कम-ज़्यादा हो सकता है.

–     किसी दिन पार्टनर का मूड अच्छा न हो, तो उसे मनाने की पूरी कोशिश करें, लेकिन उसके लिए नाराज़ न हों.

–     शुरू-शुरू में ऑर्गैज़्म पर बहुत ज़्यादा फोकस न करें. बस, एक-दूसरे को प्यार करें और एक-दूसरे को ख़ुश रखने की कोशिश करें, बाकी सब अपने आप हो जाएगा.

–     दोनों के लिए ही ज़रूरी है कि अपनी सेक्सुअल हाइजीन का ख़्याल रखें. अपने प्राइवेट पार्ट्स को हमेशा क्लीन और हाइजीनिक बनाए रखें.

–     बेडरूम और बेड के अलावा भी अलग-अलग जगहों पर एडवेंचरस सेक्स ट्राई करें. आप चाहें, तो सोफे पर, शावर में और किचन प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल कर सकते हैं.

–     रात को ग़ुस्सा होकर कभी न सोने जाएं. मन में जो भी शिकायतें हों कह दें और उनकी भी सुनें. अक्सर सुननेभर से बहुत-से मामले सुलझ जाते हैं. छोटी-छोटी अनबन को अपने रिश्ते पर हावी न होने दें.

–     आप दोनों को ही अपने पार्टनर के कामोत्तेजक अंगों के बारे में पता होना चाहिए, ताकि दोनों को ही बेस्ट सेक्सुअल एक्सपीरियंस मिले.

–     सेक्स लाइफ को रूटीन न बनाएं. रोज़ाना एक ही सेक्स पोज़ीशन ट्राई करने की बजाय कुछ नया करें.

–     शादी के पहले ही रिलेशनशिप के बारे में कुछ अच्छी किताबें पढ़ें.

–     सुहागरात के लिए फिल्मी ख़्वाब न पालें. फिल्मों और हक़ीक़त में बहुत फ़र्क़ होता है. अगर फिल्मोंवाली चीज़ें रियल लाइफ में एक्सपेक्ट करेंगे, तो आपको निराशा ही हाथ लगेगी.

–     अधिकांश पुरुषों को यह भ्रम होता है कि उन्हें पता है कि उनकी पार्टनर क्या चाहती है, जबकि उन्हें पता नहीं होता. इस भ्रम से बाहर निकलें और पार्टनर से बात करें.

–     महिलाओं के लिए सेक्स शारीरिक रूप से जुड़ने की बजाय भावनात्मक रूप से जुड़ना है, इसलिए पार्टनर से पहले इमोशनली जुड़ें.

यह भी पढ़ें: सेक्स से पहले ग़लती से भी न खाएं ये 6 चीज़ें (6 Foods You Should Never Eat Before Sex)

Sex Formulas
आफ्टरप्ले भी है बहुत ज़रूरी

–     सेक्स के बाद कहीं आप भी तो मुंह घुमाकर सो नहीं जाते, क्योंकि सेक्सुअल एक्टिविटी के बाद भी एक्ट तब तक पूरा नहीं होता, जब तक आफ्टरप्ले न हो.

–     एक्ट के बाद पार्टनर को गले लगाएं, प्यार से किस करें और उसकी ज़ुल्फ़ों को सहलाएं.

–     एक्ट के बाद महिलाओं को सहज होने में पुरुषों से ज़्यादा समय लगता है, इसलिए जब आप उसे प्यार से सहलाते हैं, तो उसे आपका प्यार महसूस होता हैै.

–     एक-दूसरे को बताएं कि आपको आज का सेशन कितना अच्छा लगा. इससे पार्टनर का कॉन्फिडेंस और बढ़ता है.

–     रिसर्च में यह बात सामने आई है कि महिलाएं इंटरकोर्स से ज़्यादा फोरप्ले और आफ्टरप्ले एंजॉय करती हैं, इसलिए इन्हें कभी अनदेखा न करें.

–     कभी-कभार आपका आफ्टरप्ले फोरप्ले बन जाता है और आप दूसरे राउंड के लिए भी तैयार हो जाते हैं, इसलिए आफ्टरप्ले में हमेशा कुछ सेंसुअल और अलग करने की कोशिश करें.

हनीमून गाइड

–     महीनों की शादी की प्लानिंग और रस्मों-रिवाज़ में कपल्स काफ़ी थक जाते हैं, इसलिए इस समय को टूरिज़्म की बजाय स़िर्फ ‘चिल आउट’ के लिए रखें.

–     हनीमून के लिए मोस्ट पॉप्युलर डेस्टिनेशन की बजाय किसी ऐसी जगह जाएं, जहां बहुत ज़्यादा भीड़-भाड़ न हो.

–     हनीमून पैकेज लेते व़क्त ध्यान रखें कि आपके टूर का शेड्यूल बहुत टाइट न हो. सुबह जल्दी निकलकर दिनभर घूमना, फिर देर रात लौटकर आना काफ़ी थकानेवाला होता है. ऐसे पैकेज लेने से बेहतर होगा, आप ख़ुद गाड़ी किराए पर लेकर एक्सप्लोर करें.

–     सुबह देर तक आराम से सोकर उठें, ब्रेकफास्ट रूम में ही ऑर्डर करें. ज़्यादा-से-ज़्यादा समय एक-दूसरे के साथ रिलैक्स करने में बिताएं.

–     हनीमून का सामान पैक करते व़क्त लुब्रिकेशन कभी न भूलें. शुरुआती दिनों में यह आपके बहुत काम आता है.

–     सेक्सी लॉन्जरी और परफ्यूम से अपने हनीमून को और रोमांटिक बनाएं.

–     हनीमून की तैयारी भी शादी की तैयारी के साथ ही कर लें. कपड़ों से लेकर लॉन्जरी तक में क्या ख़रीदना है, पहले से ही ले लें.

एक्सपर्ट एडवाइस

–    सेक्स को बेहतर बनाना चाहते हैं, तो एक्ट से पहले शावर ज़रूर लें.

–    रिलेशनशिप से पहले बहुत हैवी न खाएं.

–    परफ्यूम या डियो का इस्तेमाल ज़रूर करें.

–    इलायची या कोई माउथ फ्रेशनर खाएं.

–    अपनी फिटनेस का ध्यान रखें.

 

– सुनीता सिंह

यह भी पढ़ें: सुहागरात में काम आएंगे ये सुपर सेक्स टिप्स (Super Sex Tips For Your First Night)

यह भी पढ़ें: लव बाइट से जुड़ी से 5 दिलचस्प बातें नहीं जानते होंगे आप (5 Surprising Facts About Love Bites You Didn’t Know

शादी के बंधन में बंधनेवाले हर कपल के मन में सुहागरात को लेकर कई हसीन ख़्वाब पलते रहते हैं. नई ज़िंदगी की पहली रात को लेकर वैसे तो ज़्यादातर लोग एक्साइटेड रहते हैं, पर कुछ ऐसे भी हैं, जिनके मन में संकोच और आशंकाएं भी होती हैं. इसमें कोई ग़लत बात नहीं है. यह बिल्कुल सामान्य है. सुहागरात को लेकर दिमाग़ में स़िर्फ सेक्स का ख़्याल आता है, लेकिन अगर कोई कपल सही तरी़के से सेक्सुअल रिलेशन नहीं बना पाता, तो उन्हें लगता है कि उनमें ही कोई कमी है, जबकि ऐसा बहुत-से कपल्स के साथ होता है. सेक्स एक कला है, जो तर्जुबे से सीखी जाती है, इसलिए सुहागरात के नाम पर स्ट्रेस न लें. हम यहां इसी से जुड़े कुछ सुपर सेक्स टिप्स दे रहे हैं, ताकि आपकी सेक्स लाइफ सुपर रोमांंटिक बनी रहे.

Sex Tips For First Night

– दिनभर शादी की रस्मों के कारण ज़्यादातर कपल्स थक जाते हैं और रात को इन्वॉल्व नहीं हो पाते. हो सकता है आपके साथ भी ऐसा हुआ हो, इसलिए रात को ही संबंध बनाना है, इसके लिए जल्दबाज़ी न करें. थकान मिटाने के लिए भरपूर नींद लें और सुबह उठकर अपने प्यार से अपने पार्टनर को सराबोर कर दें.

– सुहागरात रोमांटिक हो, इसके लिए आपको शादी के दिन ही थोड़ी फ्लर्टिंग करनी होगी. एक-दूसरे को छेड़ें, इशारों में बातें करें और देखिए कैसे आपका मूड सेट होता है.

– सुहागरात है, इसलिए स़िर्फ आपकी चलेगी, ऐसा न सोचें. अपने पार्टनर की पसंद-नापसंद के बारे में जानें और उसे तवज्जो दें. याद रखें, ख़ुशहाल शादीशुदा ज़िंदगी की नींव सुहागरात को ही पड़ती है, इसलिए अपने पार्टनर को बिल्कुल भी ऐसा महसूस न होने दें कि आप अपनी भावनाएं उन पर थोप रहे हैं.

– सुहागरात से पहले अगर कुछ सेक्स बुक्स पढ़ेंगे, तो आपको अपने पार्टनर को ख़ुश करने के कई बेहतरीन आइडियाज़ भी मिल जाएंगे. पर कोई भी सेक्स बुक न पढ़ें. बुक स्टोर से अच्छी किताब ख़रीदें और उसे समझें.

– बेड पर आते ही एक्शन की उम्मीद किए बिना एक-दूसरे से बातें करें. पहली रात को लेकर एक-दूसरे ने क्या सोच रखा था, इस बारे में बात करें.

– पार्टनर को इंप्रेस करने के लिए आप सेक्सी लिंगरी ट्राई कर सकती हैं. आजकल मार्केट में बहुत सेक्सी लिंगरीज़ मिलती हैं. इनका इस्तेमाल करके आप अपने पार्टनर को सरप्राइज़ दे सकते हो.

– ख़ासतौर से महिलाओं को रिलैक्स रहने की ज़रूरत है. नई जगह और नए लोगों के बीच उनके मन में कई भावनाएं आती रहती हैं, ऐसे में सेक्सुअल रिलेशन के बारे में वो सोच भी नहीं पातीं, लेकिन अगर आप रिलैक्स रहेंगी, तो बेहतर महसूस करेंगी और अपने पार्टनर के साथ अच्छी तरह रेस्पॉन्ड करेंगी.

यह भी पढ़ें: पहली बार सेक्सुअल रिलेशन से पहले जानें ये 10 बातें (10 Things To Know Before Having Sex For The First Time)

Sex Tips For Wedding Night

– बॉलीवुड फिल्मों जैसी सुहागरात की कल्पना करेंगे, तो अपने साथ-साथ अपने पार्टनर को भी निराश करेंगे. ख़ुद पर परफेक्ट सेक्सुअल रिलेशन का दबाव न बनाएं. बस, पार्टनर को प्यार से छू लें, वो ख़ुद निहाल हो जाएगा.

– पहली बार सेक्सुअल रिलेशन बनाने में असहजता होती ही है, इसलिए लुब्रिकेंट अपने पास ज़रूर रखें. यह आपको रिलेशन बनाने में मदद करेगा.

– अगर आप पहली ही बार में ऑर्गैज़्म की उम्मीद कर रही हैं, तो शायद ऐसा न हो. लेकिन इसका यह मतलब नहीं कि आपने सेक्स एंजॉय नहीं किया. अपने पार्टनर को पा लेने की ख़ुशी कपल्स के चेहरे पर साफ़ दिखाई देती है. इसलिए ऑर्गैज़्म को दिमाग़ से निकाल दें और स़िर्फ पार्टनर पर ध्यान लगाएं.

– भले ही सुहागरात में संबंध बने या ना बने, फिर भी यह रात आप दोनों पूरी जिंदगी नहीं भूलेंगे. इसलिए हंसे, मुस्कुराएं, खिलखिलाएं और एक-दूसरे को जीवनभर के लिए अपना बना लें.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: लव बाइट से जुड़ी से 5 दिलचस्प बातें नहीं जानते होंगे आप (5 Surprising Facts About Love Bites You Didn’t Know)

Sex Tips

स्मार्ट सेक्स टिप्स (Sex Tips)

1. अपनी सेक्स लाइफ को थोड़ा स्पाइसी बनाएं. कभी-कभार रूटीन से हटकर कुछ नया ट्राई करें.

2. पार्टनर को आकर्षित करने के लिए सेक्सी कपड़े पहनें. यह आपकी कामोत्तेजना का बढ़ाता है.

3. अरोमा कैंडल्स की ख़ुशबू सेक्स के प्रति आकर्षित करने में आपकी मदद करती हैं. अपने बेडरूम को मनपसंद ख़ुशबू से महकाएं.

4. कोशिश करें कि साल में एक बार स़िर्फ पति-पत्नी 2-4 दिनों के लिए बाहर जाएं. यह आपकी सेक्स लाइफ को दोबारा रिवाइव कर देता है.

5. पार्टनर को मॉर्निंग किस और गुडनाइट किस देना कभी न भूलें.

6. रोमांटिक बातें आपके रिश्ते में अहम् भूमिका निभाती हैं. अपनी बातों से उन्हें रिझाने का कोई मौक़ा हाथ से न जाने दें.

7. अगर दोनों ही वर्किंग हैं, तो वर्किंग आवर्स के बीच एक बार आई लव यू या मिस यू जैसे मैसेजेस आपकी सेक्स लाइफ के रोमांच को बनाए रखते हैं.

8. पार्टनर के शौक़ को जानते हैं, तो कभी-कभार उन्हें सरप्राइज़ ज़रूर दें.

9. सिर्फ़ गिफ़्ट ही आपके पार्टनर को ख़ुश नहीं करता, बल्कि किसी दिन बिन बताए उन्हें ऑफिस से पिक अप करने पहुंच जाएं या फिर सरप्राइज़ लंच प्लान करें.

10. एक-दूसरे को अपनी फैंटसीज़ के बारे में बताएं.

11. कुछ अलग करना चाहते हैं, तो शनिवार रात की बजाय रविबार की सुबह आपके प्यार के लिए बेस्ट टाइम होगा.

12. अक्सर महिलाएं पुरुष के पहल का इंतज़ार करती हैं. इस बार आप पहल करके उन्हें ख़ुश कर सकती हैं.

यह भी पढ़ें: सेक्स पावर बढ़ाने के 5 चमत्कारी उपाय (5 Home Remedies To Increase Your Sexual Power)

Sex Tips

ट्राई करें ये सेक्स बूस्टर फूड्स 

स्ट्रॉबेरी

ये विटामिन सी का बेहतरीन स्रोत है, जो पुरुषों में स्पर्म काउंट को बढ़ाता है. साथ ही यह हार्ट और आर्टरीज़ में रक्त संचार को सुचारू बनाए रखता है. स्ट्रॉबेरीज़ को डार्क चॉकलेट में डुबोकर खाएं, यह कामोत्तेजना को बढ़ाता है.

बादाम

ज़िंक, सेलेनियम और विटामिन ई के गुणों से भरपूर बादाम सेक्स बूस्टर का काम करता है. सेलेनियम जहां इंफर्टिलिटी की समस्या को दूर रखता है, वहीं ज़िंक सेक्स हार्मोन की बढ़ोत्तरी करता है और विटामिन ई हार्ट को हेल्दी रखता है.
रोज़ाना बादाम का सेवन याद्दाश्त बढ़ाने के साथ-साथ सेक्सुअल लाइफ को भी हेल्दी बनाता है.

तरबूज़

इसमें कामोत्तेजना बढ़ानेवाले फाइटोन्यूट्रिएंट्स भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं. इसमें मौजूद लाइकोपीन और बीटा-कैरोटीन सेक्स ड्राइव को बूस्ट करने में मदद करता है.

शकरकंद

पोटैशियम से भरपूर शकरकंद हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करने में काफ़ी मददगार होता है, जिससे पुरुष इरेक्टाइल डायस्फंक्शन के ख़तरे से बचे रहते हैं. बीटा कैरोटीन और विटामिन ए इंफर्टिलिटी को दूर रखते हैं.

सफेद तिल

ज़िंक से भरपूर तिल बेहतरीन सेक्स बूस्टर फूड है. यह टेस्टोस्टेरॉन और स्पर्म प्रोडक्शन की बढ़ोत्तरी में मदद करता है.

सेक्स किलर फूड्स

चीज़, डायट सोडा, सोया, आर्टिफीशियल स्वीटनर्स, फ्राई व फैटी फूड्स, कैन्ड फूड आदि अवॉइड करें.

– सुनीता सिंह

यह भी पढ़ें: बचें इन टॉप 10 सेक्स ड्राइव किलर्स से (10 Things That Can Kill Your Sex Drive)

शादी के शुरुआती साल बेहद हसीन होते हैं. पार्टनर एक-दूसरे को समझने के साथ-साथ एक-दूसरे की कंपनी, क़रीब होने का एहसास और प्यार-मुहब्बत को काफ़ी एंजॉय करते हैं. लेकिन अक्सर ऐसा होता है कि धीरे-धीरे ज़िम्मेदारियां बढ़ती हैं और एक्साइटमेंट की जगह रूटीन लाइफ कपल्स की ज़िंदगी का हिस्सा हो जाती है. इसमें कहीं न कहीं सेक्स भी रूटीन-सा ही होने लगता है, जिसका असर आपसी रिश्तों पर पड़ने लगता है. बेहतर होगा कि आप अपनी सेक्स लाइफ को बोरिंग न होने दें, ताकि आपके रिश्ते में गर्माहट बनी रहे.

 

couple-enjoying-with-each-other

साथ बिताने के लिए अगर समय नहीं है, तो ज़ाहिर है भावनात्मक लगाव पर नकारात्मक प्रभाव होगा और बिना भावनात्मक लगाव के सेक्स भी बोरियत का ही एहसास कराएगा. 
क्या करें: भले ही आप कितने भी बिज़ी हों, आपको एक-दूसरे के लिए समय निकालना ही होगा. वीकेंड पर बाइक राइड या लॉन्ग ड्राइव पर जाएं. आप बीच, वॉटर पार्क, मूवी या आसपास के गार्डन में भी जाकर कुछ समय एक-दूसरे के साथ बिता सकते हैं. आपस में बिताए इस समय का असर आपकी बेडरूम लाइफ पर काफ़ी सकारात्मक होगा.

ये भी पढें: कैसा हो पार्टनर का पोस्ट सेक्स बिहेवियर?

कुछ साल साथ रहने के बाद सेक्स को लेकर एक्साइटमेंट कम हो जाता है और सेक्स लाइफ बेहद बोरिंग होने लगती है.
क्या करें: कुछ नया करें. बेडरूम में कैंडल्स जलाएं और रोमांटिक माहौल बनाएं. अपने पार्टनर से पूछें कि वो सेक्स में क्या नया चाहते हैं और ख़ुद भी अपनी चाहत के बारे में बताएं. सेक्सी आउटफिट पहनें और सेक्सी बातें करें. इससे नयापन आएगा.

अक्सर कपल्स बिज़ी रहते हैं और थक जाते हैं. यही थकान उनके रिश्तों और सेक्स लाइफ में भी नज़र आने लगती है.
क्या करें: अपने रिश्ते को सबसे अधिक अहमियत दें. अपनी प्रायोरिटी लिस्ट में अपने रिश्ते को टॉप पर रखेंगे, तो रिश्ते में थकान कभी नहीं आएगी. इसके अलावा यदि आप एक-दूसरे को अधिक महत्व देंगे और सपोर्ट करेंगे, तो बाकी चीज़ों व समस्याओं से बेहतर तरी़के से निपट सकेंगे. इससे तनाव और थकान दोनों ही नहीं होगी.

अक्सर कपल्स एक-दूसरे से कहने में झिझकते हैं कि वो सेक्स लाइफ में बदलाव चाहते हैं और कुछ नया करना चाहते हैं. उन्हें लगता है कि कहीं पार्टनर बुरा न मान जाए और उसे यह न लगे कि वो उससे संतुष्ट नहीं.
क्या करें: बात करें, लेकिन बात करने का तरीक़ा ऐसा हो कि पार्टनर को बुरा भी न लगे. आप ये न कहें कि आप बोर हो गए/गई हैं, बल्कि यह कहें कि हमको कुछ अलग और न्यू ट्राय करना चाहिए. कम्यूनिकेशन बहुत ज़रूरी है. पॉज़िटिव कम्यूनिकेशन आपकी सेक्स लाइफ को और बेहतर बनाता है.

रूटीन लाइफ के चलते छोटी-छोटी ख़ुशियों के महत्व को भी आप भूलने लगते हैं. एक-दूसरे को छूना, कॉम्प्लीमेंट देना, गिफ्ट देना, सरप्राइज़ देना आदि एकदम से रिश्ते में से ग़ायब ही हो जाते हैं.
क्या करें: इन बातों को कभी भी अपने रिश्ते से ग़ायब न होने दें. एक-दूसरे के लुक्स व फिटनेस को सराहें. प्यारभरी शरारतें, एक-दूसरे को छूना, गले लगाना, किस करना… इस तरह की तमाम छोटी-छोटी बातें रिश्ते को ताज़ा रखती हैं. कभी एक छोटा-सा मैसेज, एक सरप्राइज़ गिफ्ट किस तरह से आपकी रूटीन लाइफ में ताज़गी भर देगा, आप सोच भी नहीं सकते. इन सबका असर आपकी सेक्स लाइफ पर भी ज़रूर पड़ता है.

बहुत कोशिश के बाद भी साथ समय नहीं बिता पाते, तो ऐसे में रिश्ते में बासीपन और स्वभाव में चिड़चिड़ापन आ जाता है, जो सेक्स लाइफ को बुरी तरह प्रभावित करता है.

क्या करें: कुछ रोचक व इनोवेटिव सोचें, जहां आप साथ में समय बिता सकें. एक साथ वर्कआउट करेें, जॉगिंग या वॉक के लिए जाएं. स्विमिंग क्लास या डांस क्लास जॉइन करें. ये बातें आपको एक-दूसरे के क़रीब लाएंगी. थोड़ा समय निकालकर एक-दूसरे को सेक्सी मसाज दें, इससे नयापन आएगा और आप दोनों फ्रेश फील करेंगे.

अलर्ट्स जो बताएंगे कहीं आपकी सेक्स लाइफ बोरिंग तो नहीं?

 

COUPLE-FIGHTING-4-ways-to-stop-fighting-1024x512

यह भी पढ़ें: 7 तरह के सेक्सुअल पार्टनरः जानें आप कैसे पार्टनर हैं

– सेक्स अब पहले की अपेक्षा कम होता है.
– रोमांटिक बातें लगभग बंद हो गई हैं.
– सेक्स में कुछ नया करने की चाह नहीं होती.
– सेक्स मात्र शारीरिक क्रिया बनकर रह गई है.
– एक-दूसरे की बात सुनने या चाहत जानने की जिज्ञासा नहीं रही.
– पार्टनर सेक्स को टालने लगे हैं.
– हमेशा थकान या बिज़ी रहने के कारण सेक्स में दिलचस्पी कम हो गई है.
– सेक्स को पहले की तरह एंजॉय नहीं करते.
– सेक्स के समय पार्टनर की दिलचस्पी और सहयोग नहीं मिलता.
– पार्टनर अब पहले की तरह आकर्षक नहीं लगता, फिर भले ही वो कितने ही आकर्षक कपड़ों में सामने आए और सेक्स में पहल भी करे, लेकिन आपका ध्यान ही नहीं जाता उसकी तरफ़.

ये तमाम लक्षण आपके लिए सिग्नल हैं कि आपको कुछ करना होगा, ताकि आपकी सेक्स लाइफ बोरिंग रूटीन बनकर न रह जाए.
फिर से लाएं खोई गर्माहट और ताज़गी
– पार्टनर की दिलचस्पी सेक्स में कम हो गई है, तो आपका फर्ज़ बनता है कि आप पहल करें और पार्टनर की दिलचस्पी फिर से जगाएं.
– पार्टनर से पूछें कि उसे कोई मानसिक या शारीरिक समस्या तो नहीं. यदि है, तो एक्सपर्ट से संपर्क करें.
– सेक्स में ज़बर्दस्ती कभी भी न करें, क्योंकि इससे पार्टनर की सेक्स के प्रति दिलचस्पी और आपके प्रति लगाव भी कम होता जाएगा.
– उससे प्यार से बात करें, बात करते समय सहलाएं, चूमें और बालों में हल्के-हल्के उंगलियां फेरें. ऐसा करने पर मूड न होने पर भी धीरे-धीरे मूड बनने लगता है और पार्टनर बेहतर महसूस करता है.
– हाइजीन का पूरा ख़्याल रखें. कई बार इस तरह की बातें भी सेक्स में दिलचस्पी कम कर देती हैं और पार्टनर चाहकर भी कुछ बोल नहीं पाता. बेहतर होगा कपल्स साफ़-सफ़ाई का पूरा ध्यान रखें.
– कमरे का माहौल भी शांत और रोमांटिक हो. चादर वगैरह भी साफ़-सुथरी होनी चाहिए.
– अपने स्मार्ट फोन और लैपटॉप को बेडरूम से दूर ही रखें. इनका बहुत ज़्यादा प्रयोग या टीवी देखना भी सेक्स लाइफ पर नकारात्मक प्रभाव डालता है. आजकल इन गैजेट्स ने हमारी लाइफ में बहुत हद तक जगह बना ली है, लेकिन इन्हें हम-तुम के बीच ङ्गवोफ न बनने दें. इससे पार्टनर को लगेगा कि आपको उसमें दिलचस्पी ही नहीं है और न आपका ध्यान उसकी बातों की तरफ़ है.
– पर्सनल टाइम में पार्टनर को पूरा अटेंशन दें, उसे यह लगना चाहिए कि यह व़क्त स़िर्फ और स़िर्फ आप दोनों का है, जिसमें किसी और के लिए कोई जगह नहीं.
– पार्टनर को यह महसूस कराएं कि सेक्स से भी कहीं अधिक ज़रूरी आपके लिए उनका साथ है. इस तरह का भावनात्मक लगाव एक-दूसरे को और क़रीब लाता है.
– सेक्स में क्या नयापन लाना चाहिए इस पर भी खुलकर न स़िर्फ चर्चा करें, बल्कि साथ मिलकर प्लान करें कि आज की रात या इस वीकेंड को कैसे और भी रोमांटिक बनाया जा सकता है.
– कलर्स भी सेक्स लाइफ पर प्रभाव डालते हैं, तो एक-दूसरे की पसंद-नापसंद को ध्यान में रखते हुए कमरे में कलर्स ऐड करें. अपने आउटफिट्स और इनर वेयर में भी सेक्सी कलर्स और स्टाइल सिलेक्ट करें.
– सेक्स के व़क्त काम व तनाव को भूलकर पार्टनर पर ही पूरा ध्यान केंद्रित होना चाहिए, वरना अक्सर लोग उस व़क्त भी दूसरी बातें करते हैं और सेक्स को एक क्रिया मात्र बना देते हैं, जिससे पार्टनर को लगता है कि उनका साथी उन्हें स़िर्फ इच्छा पूरी करनेवाला जिस्म समझता है.
– दूसरी तरफ़ कुछ लोग सेक्स को एक हथियार के रूप में भी इस्तेमाल करते हैं, ख़ासकर महिलाएं सेक्स को इमोशनल ब्लैक मेलिंग का बेहतरीन हथियार समझती हैं और सेक्स के व़क्त ही तरह-तरह की डिमांड करके पति से बातें मनवाने की कोशिश करती हैं. ऐसा करने से पति के मन में पत्नी के प्रति वो सम्मान नहीं रह जाता और वो भी प्रैक्टिकल अप्रोच अपनाने लगता है.
– सेक्स के समय रोमांटिक बातें ही करें. ताने-उलाहने व शिकवे-शिकायत से बचें.
– पुरानी रोमांटिक बातें व साथ गुज़ारे हसीन पलों को याद करें, उन पर बात करें, साथ हंसें, खिलखिलाएं, क्योंकि ये तमाम बातें आपको ताज़गी का एहसास कराती हैं.
– सेक्स लाइफ को बोरिंग होने से बचाने का मतलब स़िर्फ बेडरूम तक ही सीमित नहीं होता, बल्कि हर पल, हर लम्हे को आपको बेहतर बनाना होगा. एक-दूसरे को अटेंशन देना होगा, क्योंकि पूरे दिन के क्रियाकलापों का निचोड़ ही सेक्स लाइफ में झलकता है. दिन अच्छा होगा, मूड अच्छा होगा, तो रिश्ता बेहतर होगा… और बेहतर रिश्ते का मतलब है बेहतर सेक्स लाइफ और मज़बूत-अटूट बंधन.

– विजयलक्ष्मी

यह भी पढ़ें: सेक्सुअल हेल्थ के 30+ घरेलू नुस्खे

सेक्स को लेकर आज भी लोगों के मन में भ्रांतियां और ग़लतफ़हमियां हैं, क्योंकि सेक्स (Sexual fitness) को लेकर कुछ खुलापन भले ही आ गया हो, लेकिन मैच्योरिटी अब भी नहीं आई है. ऐसे में यह सवाल अक्सर लोगों के मन में आता है कि क्या हम सेक्सुअली फिट हैं?

Sexual fitness
– एक सामान्य इंसान को सेक्स की ज़रूरत और चाहत होती है.
– यह चाहत व ज़रूरत अलग-अलग लोगों में अलग-अलग हो सकती है. किसी को कम, किसी को ज़्यादा.
– इसी तरह आकर्षण होना भी स्वाभाविक है.
– फैंटसीज़ यानी कल्पना करना, जैसे- किसी ख़ास व्यक्ति की ओर यदि हम आकर्षित होते हैं, तो उसके बारे में सोचना और कल्पना में उसके साथ सेक्स करना भी स्वाभाविक व सामान्य है.
– सेक्स (Sexual fitness) की चाह होने पर मास्टरबेट करना भी हेल्दी माना जाता है.
– यदि आप में ऊपर बताए तमाम लक्षण मौजूद हैं, तो आप सेक्सुअली फिट हैं और यदि आप में सेक्स ड्राइव यानी सेक्स की चाह कम है या कम हो रही है, तो आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम है.
– अगर आप शादीशुदा हैं, तो आपकी सेक्स लाइफ कितनी अच्छी है?
– क्या सेक्स से आपको और आपके पार्टनर को पहले जैसी संतुष्टि नहीं मिलती?
– क्या सेक्स से आपको ऊब और बोरियत होने लगी है?
– क्या यह महज़ शारीरिक क्रिया बन गया है आपके लिए या अब भी भावनात्मक रूप से आप इसे आनंददायक क्रिया मानते हैं?
ये तमाम सवाल ख़ुद से और अपने पार्टनर से करें, तो आप ख़ुद जान जाएंगे कि आप सेक्सुअली कितने फिट हैं.
व्यस्त ज़िंदगी में भी अगर सेक्स आपकी प्राथमिकताओं में से बाहर हो गया है, तो सचेत हो जाइए. शोधों में भी यह बात कई बार साबित हो चुकी है कि शादीशुदा लोग कुंवारे लोगों की अपेक्षा अधिक हेल्दी और लंबी ज़िंदगी जीते हैं. ऐसे में सेक्स के महत्व और सेक्सुअल फिटनेस को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता.
सेक्सुअल फिटनेस को आप इस तरह से बांटकर देख सकते हैं-

यह भी पढ़ें: महिलाओं के इन 6 सिग्नल्स से जानें क्या चाहती है वो?

भावनात्मक पहलू:

अगर आपका अपने पार्टनर से भावनात्मक लगाव है, तो ज़ाहिर है सेक्स लाइफ बेहतर बनेगी, लेकिन अगर आप दोनों ही मशीनी ज़िंदगी जीने के आदी हो चले हैं, तो सेक्स की चाह भी कम होती चली जाएगी यानी आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम
होती जाएगी.
स्पेशल टिप: ऐसे में ज़रूरी है पार्टनर के साथ समय बिताएं. प्यार भरी बातें करें, एक-दूसरे को सहयोग करें, जिसका सीधा प्रभाव आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ेगा.

मानसिक स्थिति:

मानसिक तनाव, काम का बोझ और घरेलू ज़िम्मेदारियां भी आपको सेक्स के प्रति उदासीन बना देती हैं. बेहतर होगा कि अपने काम का तनाव बेडरूम में न ले जाएं. आप मिल-जुलकर हर समस्या का समाधान निकाल सकते हैं, इसलिए अपने रिश्ते और सेक्स लाइफ पर इन रोज़मर्रा की बातों का असर न पड़ने दें.
स्पेशल टिप: पुरुषों की 90% सेक्स समस्या, जैसे- शीघ्रपतन आदि मानसिक अवस्था से ज़्यादा जुड़ी होती है, बजाय शारीरिक
समस्या के.
ठीक इसी तरह महिलाओं में योनि में सूखापन, दर्दयुक्त सेक्स आदि भी सेक्स के प्रति उदासीनता की वजह से हो सकता है.

शारीरिक पहलू:

सेक्सुअल फिटनेस बहुत हद तक आपकी शारीरिक फिटनेस से भी जुड़ी होती है. अगर आपको कोई सेक्सुअल या शारीरिक समस्या है, तो काउंसलर या एक्सपर्ट की मदद लेने से परहेज़ न करें.
स्पेशल टिप: योग व एक्सरसाइज़ को भी अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं. साथ में जॉगिंग या योगा क्लासेस जॉइन करें, इससे आप दोनों में नज़दीकियां बढ़ेंगी, जिसका सकारात्मक असर आपकी सेक्सुअल फिटनेस पर पड़ेगा.

नकारात्मक सोच से बचें

मन में बैठी भ्रांतियों व ग़लतफ़हमियों के कारण अपनी सेक्सुअल फिटनेस कम न होने दें-
अधिकतर लोगों को लगता है कि फैंटसाइज़ करना, मास्टरबेट करना या किसी की तरफ़ आकर्षण महसूस करना ग़लत है. जबकि ये तमाम चीज़ें आपकी सेक्सुअल फिटनेस का अहम् हिस्सा हैं और आपकी फिटनेस को दर्शाती हैं.

सामाजिक व पारिवारिक पहलू

जहां तक महिलाओं की बात है, तो बचपन से ही पालन-पोषण अलग ढंग से होने के कारण या अन्य कारणों से भी वो सेक्स को लेकर उतनी उत्साहित नहीं रहतीं. उन्हें लगता है कि सेक्स के बारे में बात करना ग़लत है या चाहत होने पर भी सेक्स के लिए पहल न करना ही सही है, क्योंकि स्त्रियों को शर्मीला होना चाहिए और यही शर्मीलापन उनके संस्कार व चरित्र की सही व्याख्या करेगा. तमाम ऐसी बातें महिलाओं को सेक्सुअली अनफिट बनाती हैं और वो अपने पार्टनर को ठीक से सहयोग नहीं करतीं.
इसके अलावा वो अपनी बॉडी को लेकर भी काफ़ी कॉन्शियस रहती हैं, उन्हें लगता है कि उनका फिगर या उनकी शारीरिक
ख़ूबसूरती उनके पार्टनर को आकर्षित करने के लिए नाकाफ़ी है.
स्पेशल टिप: इस तरह की नकारात्मक सोच न रखें. फिज़िकल फिटनेस पर ध्यान ज़रूर दें, लेकिन मानसिक रूप से भी पॉज़ीटिव बनी रहें. आपका सहयोग और आपका प्यार आपकी शारीरिक ख़ूबसूरती से कहीं ज़्यादा ज़रूरी है रिश्ते व सेक्स लाइफ को हेल्दी बनाए रखने के लिए.

यह भी पढ़ें: सेफ सेक्स के 20+ असरदार ट्रिक्स

क्या करें?

– फोरप्ले ज़रूर करें. अच्छे सेक्स के लिए अच्छा फोरप्ले बहुत ज़रूरी है.
– इसी तरह से अच्छे सेक्स के लिए रोमांस होना भी बहुत ज़रूरी है, इसलिए व्यस्त दिनचर्या से रोमांटिक पलों को ज़रूर चुराएं.
– खान-पान हेल्दी हो. फिज़िकल फिटनेस आपको सेक्सुअली भी फिट रखेगी.
– सेक्स बूस्टर फूड को अपने डायट का हिस्सा बनाएं, जैसे- हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, फ्लैक्स सीड(अलसी), सोयाबींस, सनफ्लावर सीड्स, सी फूड, नट्स, ताज़ा फल, ख़ासकर विटामिन सी युक्त आदि. साथ ही एक्सरसाइज़ भी करें.
– जंक फूड, अल्कोहल का सेवन कम करें.
– तनाव से दूर रहें.
– अगर कोई समस्या हो, तो काउंसलर व एक्सपर्ट से सलाह लें.

– योगिनी भारद्वाज

 

सेक्स और रोमांस के अन्य आर्टिकल्स के लिए यहां क्लिक करें: Sex & Romance

Healthy Sex Recipes

अगर आप सेक्स पावर बढ़ाना चाहते हैं या आपको कोई सेक्स प्रॉब्लम है, तो ये सेक्स बूस्टर रेसिपीज़ (Healthy Sex Recipes) आज़माएं, जो आसानी से घर पर ही तैयार की जा सकती हैं. ये रेसिपीज़ न स़िर्फ आपकी सेक्स पावर को बढ़ाएंगी, बल्कि आपको सेहतमंद भी बनाएंगी.

  1. उड़द के लड्डू

सामग्री- 500 ग्राम उड़द की दाल, 750 ग्राम देशी घी, 125 ग्राम छुहारा, 500 ग्राम कद्दूकस किया गाजर, 350 ग्राम कद्दूकस  किया हुआ पेठा (स़फेद कुम्हड़ा), 2 लीटर गाय का दूध, 50-50 ग्राम- छिलकारहित बादाम गिरी, पिस्ता, अखरोट, खसखस, 10-10 ग्राम सोंठ और दालचीनी, सूखे मेवे आवश्यकतानुसार व 1 किलो गुड़ की चाशनी.

विधि- उड़द की धुली हुई दाल पीसकर 250 ग्राम देशी घी में अच्छी तरह से भूनें. फिर गाय के दूध में छुहारा, गाजर और पेठा डालकर पकाएं. जब दूध जलकर खोवा (मावा) बन जाए, तो उसमें 500 ग्राम देशी घी डालकर उसे भूनें और भुनी हुई दाल भी उसमें मिला दें. बादाम गिरी, पिस्ता, अखरोट, खसखस के बीज पीसकर व घी में भूनकर मिला दें. अब आंच से उतारकर सूखे मेवे, सोंठ और दालचीनी का चूर्ण मिला दें. इसके बाद गुड़ की चाशनी बनाकर उसमें सभी चीज़ों को मिलाकर 50-50 ग्राम के लड्डू बनाकर रख लें.

कैसे और कितनी मात्रा में खाएं? 1 से 2 लड्डू सुबह नियमित रूप से खाएं और ऊपर से दूध पीएं.

फ़ायदे- इससे मर्दाना कमज़ोरी, नपुंसकता, शीघ्रपतन आदि यौन विकार दूर होते हैं और शारीरिक शक्ति बढ़ती है.

  1. बादाम के लड्डू

सामग्री- 400 ग्राम छिलकारहित बादाम, 100 ग्राम मावा, 600 ग्राम शक्कर, 200 ग्राम घी, 10-10 ग्राम – छोटी इलायची, दालचीनी, तमालपत्र, नागकेशर व 5-5 ग्राम – लौंग, जायफल, जावित्री व केसर.

विधि- बादाम को बारीक पीस लें. फिर पिसे हुए बादाम और मावा को अलग-अलग घी में भूनें. इसके बाद अन्य सभी चीज़ों का बारीक चूर्ण बनाकर रख लें. अब शक्कर की चाशनी बनाकर उसमें चूर्ण को मिलाएं. बादाम और मावा डालकर मिला लें और 40-40 ग्राम के लड्डू बनाकर रख लें.

कैसे और कितनी मात्रा में खाएं? रोज़ाना एक लड्डू खाकर ऊपर से दूध पीएं.

फ़ायदे- यह स्वादिष्ट और पौष्टिक होने के साथ-साथ शक्तिवर्द्धक  भी है. इसका सेवन करने से शीघ्रपतन की समस्या से छुटकारा मिलता है और वीर्य की वृद्धि होती है. इससे सेक्स पावर बढ़ता है. अगर ठंडी के मौसम में बादाम लड्डू खाया जाए तो और भी लाभ होता है.

यह भी पढ़ें: सेफ सेक्स के 20 + असरदार ट्रिक्स

  1. गाजर का हलवा

सामग्री- 1 किलो कद्दूकस किया हुआ गाजर, 500 ग्राम मावा, 500 ग्राम घी, डेढ़ किलो शक्कर, ढाई लीटर दूध, 10 ग्राम- छुहारा, 25 ग्राम मिश्री चूर्ण, 50 ग्राम बादाम गिरी, 15-15 ग्राम- पिस्ता, चिरौंजी व आवश्यकतानुसार गुलाबजल.

विधि- पहले गाजर को दूध में डालकर पकाएं. जब वह पककर सूख जाए, तो मावा व घी डालकर उसे अच्छी तरह भूनें. फिर उसमें शक्कर डालकर हलवा बना लें. सभी सूखे मेवों को गुलाबजल में पीसकर तथा अन्य चीज़ों का बारीक चूर्ण बनाकर हलवे में मिला दें और सुरक्षित रख लें.

कैसे और कितनी मात्रा में खाएं? इस हलवा को 50 ग्राम की मात्रा में रोज़ सुबह खाकर ऊपर से दूध पीएं.

फ़ायदे- यह हलवा मर्दाना शक्ति और वीर्य को बढ़ाकर पूरे शरीर को शक्ति देता है. इसका सेवन करने से बूढ़े व्यक्ति भी युवाओं की तरह शक्तिशाली हो जाते हैं. इसे खाने से शरीर सुंदर तथा सभी रोगों से मुक्त हो जाता है.

  1. सिंघाड़े का हलवा

सामग्री- 150 ग्राम सिंघाड़े का आटा, 50 ग्राम पिसा हुआ छुहारा, 15 ग्राम सोंठ का चूर्ण, 150 ग्राम घी, 500 ग्राम शक्कर व दो लीटर दूध.

विधि- पहले सिंघाड़े का आटा, छुहारा और सोंठ चूर्ण को दूध में डालकर धीमी आंच पर पकाएं. जब यह खोवा की तरह बन जाए, तो उसे घी में भून लें. इसके बाद शक्कर डालकर अच्छी तरह मिलाकर रख लें.

कैसे और कितनी मात्रा में खाएं? यह हलवा स्वादिष्ट तथा पौष्टिक होता है. इसे 10 से 20 ग्राम की मात्रा में सुबह-शाम दूध के साथ लें.

फ़ायदे- इससे पुरुषों में कामशक्ति की कमी दूर होती है. यह धातुस्राव, स्वप्नदोष और वीर्य के पतलेपन की रामबाण औषधि है. स्त्रियों में कामशीतलता में भी यह बेहद उपयोगी है.

Healthy Sex Recipes

  1. मेथी पाक

सामग्री-  350-350 ग्राम मेथी, सोंठ व घी, ढाई किलो शक्कर, 40-40 ग्राम प्रत्येक का सूक्ष्म चूर्ण- पीपर, सोंठ, पीपरामूल,  अजवायन, जीरा, धनिया, कलौंजी, सौंफ, जायफल, जावित्री, दालचीनी, तेजपत्ता एवं नागरमोथा, 60 ग्राम कालीमिर्च का चूर्ण और साढ़े पांच लीटर दूध.

विधि- पहले मेथी व सोंठ को कूट-पीसकर कपड़छान चूर्ण बना लें. फिर दूध में इस चूर्ण और घी को डालकर धीमी आंच पर पकाएं. जब यह अच्छी तरह से मिलकर गाढ़ा हो जाए, तो इसमें शक्कर डालकर अच्छी तरह पाक बनाकर उतार लें. अब इसमें सभी चूर्ण को डालकर अच्छी तरह मिला लें और रख लें.

कैसे और कितनी मात्रा में खाएं? 10 से 15 ग्राम की मात्रा में इस पाक को सुबह दूध के साथ लें.

फ़ायदे- यह शरीर के लिए काफ़ी पौष्टिक है और वीर्यवर्द्धक भी है. साथ ही मेथीपाक खाने से आमवात एवं अन्य वातरोग, मलेरिया, जॉन्डिस, अम्लपित्त, सिरदर्द, प्रदररोग आदि दूर होते हैं.

यह भी पढ़ें: सेक्स से जुड़े टॉप 12 मिथ्सः जानें हक़ीकत क्या है

यह भी पढ़ें: 7 टाइप के किस: जानें कहां किसिंग का क्या होता है मतलब?

  1. पेठा पाक

सामग्री- 2 किलो पेठा (स़फेद कुम्हड़ा), 325 ग्राम घी, ढाई किलो पुराना गुड़, 40-40 ग्राम प्रत्येक का बारीक चूर्ण- दालचीनी, तेजपत्ता, धनिया, सोंठ, कालीमिर्च, पिप्पली, स़फेद जीरा, छोटी इलायची, पीपरामूल, सोंठ, सिंघाड़ा, 150 ग्राम शहद व आवश्यकतानुसार पानी.

विधि- पेठे (स़फेद कुम्हड़ा) को छीलकर उसे काटकर बीज निकाल दें. फिर उसके छोटे-छोटे टुकड़े करके उबाल लें. उबल जाने पर उसका पानी निचोड़कर अलग रख लें और इस निचोड़े हुए पेठे को  घी में भूनें. इसके बाद पेठे के स्वरस यानी पेठे के निचोड़े हुए पानी को ढाई लीटर की मात्रा में लेकर उसमें ढाई किलो पुराना गुड़ घोलकर छान लें और उसे धीमी आंच पर रखकर दो तार की चाशनी बनाएं. चाशनी बन जाने पर उसमें भुने हुए पेठे को डालकर पाक बना लें. फिर दालचीनी, तेजपत्ता, धनिया, सोंठ, कालीमिर्च, पिप्पली, स़फेद जीरा, छोटी इलायची, पीपरामूल, सोंठ व सिंघाड़े को पाक में डालकर अच्छी तरह मिलाएं. फिर पाक को आंच  पर से नीचे उतार लें और ठंडा होने पर उसमें शहद मिलाकर रख लें.

कैसे और कितनी मात्रा में खाएं? इसे 25-30 ग्राम की मात्रा में रोज़ाना खाएं.

फ़ायदे- यौनक्षमता बढ़ाता है.

  1. पौष्टिक खीर

सामग्री- 250 मि.ली. गाय का दूध, 1 लीटर गोखरू का काढ़ा, 1 किलो विदारीकंद का रस, 50-50 ग्राम उड़द व साठी चावल व घी.

विधि- गाय का दूध, गोखरू का काढ़ा व विदारीकंद का रस सबको एक साथ मिलाकर धीमी आंच पर पकाएं. जब दूध आधा रह जाए, तब उसमें उड़द और साठी चावल डालकर अच्छी तरह धीमी आंच पर पकाएं. इसमें थोड़ा घी भी डाल दें. जब चावल अच्छी तरह पक जाए, तब उतार लें.

फ़ायदे- इस खीर के सेवन से यौनशक्ति बढ़ती है.

Healthy Sex Recipes

  1. रतिशक्तिवर्द्धक वटी

सामग्री- 200 ग्राम मिश्री, 100 ग्राम घी, 50 ग्राम शहद व 50 ग्राम गेहूं का आटा.

विधि- मिश्री, घी व शहद लेकर उसमें थोड़ा-सा पानी मिलाकर चाशनी बनाएं. जब चाशनी गाढ़ी हो जाए, तब उसमें ताज़ा घी मिलाएं. फिर गेहूं का आटा मिलाकर अच्छी तरह गूंध लें. फिर इसकी छोटी-छोटी रोटियां बनाकर सेंक लें.

फ़ायदे- यह एक असरदार सेक्स बूस्टर रेसिपी है, जिससे पुरुषों की सेक्स पावर बढ़ती है.

Amazing! सेक्स पावर बढ़ाने के 25 चमत्कारी फॉर्मूले (25 Homemade Tips To Boost Your Sex Power)