sexual fitness

बदलती लाइफस्टाइल और बढ़ते काम के दबाव के चलते ज़्यादातर वर्किंग कपल्स के बीच तनाव बढ़ने लगा है. घर-बाहर दोनों की जगह की तमाम ज़िम्मेदारियां निभाते-निभाते कपल्स कब स्ट्रेस, डिप्रेशन आदि के शिकार हो जाते हैं, उन्हें ख़ुद पता नहीं चल पाता. धीरे-धीरे इसका असर उनकी सेक्स लाइफ पर भी पड़ने लगता है और पति-पत्नी के बीच दूरियां बढ़ने लगती हैं. व्यस्त दिनचर्या में भी सेक्स लाइफ को रिचार्ज करना ज़रूरी है, वरना सेहत और रिश्ते दोनों कमज़ोर हो सकते हैं.

Sex Life

तनाव का सेक्स लाइफ पर असर
तनाव का असर न सिर्फ हमारे शारीरिक-मानसिक स्वास्थ्य पर पड़ता है, बल्कि ये हमारी सेक्स लाइफ को भी प्रभावित करता है. तनाव किस तरह काम जीवन को प्रभावित करता है? आइए,जानते हैं.

एनर्जी लेवल
ज़्यादा स्ट्रेस लेने से एनर्जी लेवल कम हो जाता है, जिससे सेक्स की इच्छा नहीं होती. ऐसे में पति-पत्नी दोनों वर्किंग हों, तो उनके पास सेक्स के लिए न ज़्यादा समय होता है और न ही एनर्जी, जिसके कारण उनके बीच दूरियां बढ़ती चली जाती हैं.

नशे की लत
कुछ लोगों को लगता है कि सिगरेट या शराब पीने से तनाव कम हो जाता है या तनाव सहने की शक्ति मिलती है, जो कि बिल्कुल ग़लत है. सिगरेट, शराब या अन्य किसी भी प्रकार का नशा आपको शारीरिक रूप से कमज़ोर बनाने के साथ ही आपकी सेक्सुअल लाइफ को भी प्रभावित करता है.

पति-पत्नी के बीच दूरी
पति या पत्नी किसी एक का भी तनाव में, रहना लेकिन व्यक्त ना करना दूसरे के मन में शक़ पैदा कर सकता है, जिसके कारण कई बार दोनों के बीच शारीरिक दूरियां बढ़ जाती हैं और कामोत्तेजना कम होने लगती है.

Sex Life

इंफर्टिलिटी की समस्या
तनाव के दुष्परिणामों में इंफर्टिलिटी भी शामिल है. इंफर्टिलिटी की शिक़ायत स्त्री या पुरुष दोनों में से किसी को भी हो सकती है. शारीरिक दोषों के अलावा सेक्स में असंतुष्टि इसका मुख्य कारण है.

बेडौल शरीर
तनाव से मोटापा बढ़ता है और शरीर बेडौल हो जाता है, जिससे आत्मविश्‍वास कम होने लगता है. हमें लगने लगता है कि पार्टनर अब हमें पहले की तरह प्यार नहीं करता, जिससे चलते रिश्ते में दूरियां आने लगती हैं.

यह भी पढ़ें: सेक्स लाइफ से जुड़े 10 सवाल-जवाब हर कपल को मालूम होने चाहिए (10 Sex Questions All Happy Couples Know The Answers To)

Sex Life

क्या हैं तनाव का कारण?
शरीर में हार्मोन्स का असंतुलित होना, पीरियड के दौरान टेंशन, शारीरिक बीमारी, कॉम्पटीशन, बच्चों की पढ़ाई आदि के तनाव से भी सेक्स लाइफ प्रभावित होती है.

तनाव को कैसे करें छूमंतर?
तनाव को अपने बेडरूम से दूर रखने के लिए एक-दूसरे को पर्याप्त समय दें और इन बातों का ध्यान रखें:

टाइम मैनेजमेंट
अक्सर देर रात तक ऑफिस में काम करने के कारण वर्किंग कपल्स थकान और तनाव महसूस करते हैं, जिससे उनमें सेक्स की इच्छा कम होने लगती है. एक-दूसरे को पर्याप्त समय न दे पाने के कारण उनका तनाव बढ़ता चला जाता है. यदि आपकी स्थिति भी कुछ ऐसी ही है, तो अपनी सेक्स लाइफ को बिल्कुल नज़रअंदाज़ न करें और पार्टनर के साथ कुछ वक़्त बिताने की कोशिश ज़रूर करें. रात में यदि समय नहीं मिलता, तो आप सुबह सेक्स का लुत्फ़ उठा सकते हैं या वीकेंड में फ्रेश मूड के साथ अपनी सेक्स लाइफ को रोमांचक बना सकते हैं.

आपसी समझदारी
अपनी यौन इच्छा पूरी करने के लिए पार्टनर पर दबाव न डालें. अगर वे तनावग्रस्त हैं, तो उनके तनाव की वजह जानने की कोशिश करें. यदि इसमें आप उनकी मदद कर सकती हैं, तो ज़रूर करें. इसके साथ ही बेडरूम में सेक्स का माहौल बनाएं. पार्टनर के साथ प्यार भरी बातें करें और फोरप्ले के ज़रिए उन्हें सेक्स के लिए तैयार करें.

Sex Life

पसंद-नापसंद का ध्यान रखें
सेक्स क्रिया में आपका परफॉर्मेंस पाटर्नर को उत्तेजित करेगा या नहीं? इस बारे में सोचकर पार्टनर के साथ उन ख़ास पलों को ज़ाया न होने दें. पार्टनर को सेक्सुअल संतुष्टि देने के लिए अपने परफॉर्मेंस पर नहीं, बल्कि पार्टनर की पसंद-नापसंद पर ध्यान दें.

तनाव भी बांटें
सेक्सोलॉजिस्ट डॉ. अरविंद भावे के अनुसार, “पार्टनर के साथ अपनी ख़ुशी ही नहीं, तनाव भी बांटें. ऐसा करने से आपसी समझ और प्यार बढ़ता है. यदि पार्टनर को आपकी परेशानी के बारे में मालूम ही नहीं होगा, तो वो आपको कैसे समझ पाएंगे? ऐसा में आपके तनाव का असर आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ेगा ही. अतः पार्टनर के साथ तनाव बांटकर उसे दूर करने की कोशिश करें.”

यह भी पढ़ें: 15 साल उम्र बढ़ाती है हेल्दी सेक्स लाइफ, इसके लिए अपनाएं ये 7 तरीके (7 Ways Sex Helps You Live Longer)

Sex Life

सेक्सी टिप्स
दिनभर तनाव में रहने के बाद शाम को उदास रहने की बजाय पार्टनर के साथ उन ख़ास पलों को एंजॉय करने की कोशिश करें. मूड को सेक्सी बनाने के लिए ट्राई कीजिए ये रिफ्रेशिंग टिप्स.

  • शाम को पति जब घर आने वाले हों तब उनकी पसंद का रोमांटिक म्यूज़िक लगाएं. यह उनके तनाव को दूर करने के साथ ही उन्हें आपके क़रीब ले आएगा.
  • पार्टनर के साथ रोमांटिक फिल्म देखें.
  • दिनभर घर के काम में व्यस्त रहने के कारण यदि पत्नी तनावग्रस्त है, तो उसे सरप्राइज़ रोमांटिक डिनर पर ले जाएं.
  • सेक्स के दौरान पार्टनर को मानसिक और शारीरिक रूप से रिलैक्स करने के लिए फोरप्ले का मज़ा लें.
  • योगा, मेडीटेशन और व्यायाम की मदद से मूड को फ्रेश बनाने की कोशिश करें.
  • पार्टनर को अपनी ओर आकर्षित करने के लिए मनमोहक ख़ुशबू वाले परफ्यूम का इस्तेमाल करें.
  • रोमांटिक और सेक्सी मैसेज भेजकर पार्टनर के मूड को तनावरहित बनाने की कोशिश करें.
  • सेक्सी ड्रेसेस, लॉन्जरीज़ आदि पहनकर पार्टनर को आकर्षित करने के साथ ही सेक्स को रोमांचक बनाएं.
  • सेक्स में असंतुष्टि तनाव बढ़ा सकती है इसलिए पार्टनर की सुविधा को ध्यान में रखकर अंतरंग पलों को एंजॉय करें.

हेल्दी डायट
डायट का हमारी सेहत और सेक्स लाइफ पर भी असर पड़ता है इसलिए पौष्टिक और संतुलित आहार लें.

यह भी पढ़ें: पुरुषों की 6 सेक्स समस्याएं और उनके आसान समाधान (Men’s Sexual Problems And Easy Solutions)

Sex Life

क्या खाएं?

  • कार्बोहाइड्रेेट युक्त आहार, जैसे- चावल, आलू, ब्रेड आदि को डायट में शामिल करें.
  • शरीर के ताप को सामान्य रखने के लिए अपनी डायट में विटामिन बी युक्त आहार शामिल करें.
  • पीले और नारंगी रंग के फल और सब्ज़ियां (सिट्रस फूड), जैसे- मोसंबी, संतरा, नींबू, पपीता, कद्दू आदि तनाव कम करने में सहायक होते हैं.
  • हरी पत्तेदार सब्ज़ियां भी तनाव कम करती हैं.
  • फाइबरयुक्त फल, सब्ज़ियां और साबूत अनाज सोचने-समझने की क्षमता बढ़ाने के साथ ही तनाव कम करते हैं.

क्या न खाएं?

  • कॉफी, ब्लैक टी आदि का सेवन करने से बचें, क्योंकि कैफीन युक्त चीज़ें स्ट्रेस हार्मोन के स्तर को बढ़ाती हैं.
  • तले-भुने, मसालेदार भोजन से परहेज करें.
  • शुगर की ज़्यादा मात्रा भी तनाव बढ़ाती है, इससे भी बचने की कोशिश करें.
  • सिगरेट-शराब से भी दूर रहें.

हेल्दी सेक्स लाइफ न सिर्फ कपल्स को ख़ुश रखती है बल्कि नियमित सेक्स उनकी उम्र भी बढ़ाती है. रेग्युलर सेक्स से हार्मोन लेवल और ब्रेन पावर तो बढ़ता ही है, साथ ही ये दिल की सेहत के लिए भी अच्छा होता है. आइए, सेक्स लाइफ और उम्र के कनेक्शन के बारे में विस्तार से जानते हैं.

Sex Helps To Live Longer

यदि आपकी सेक्स लाइफ़ में ठहराव आ गया है, तो उसे दुबारा रोमांचक बनाने की कोशिश करें. क्योंकि नीरस सेक्स लाइफ न सिर्फ आपकी शादी, बल्कि सेहत के लिए भी ख़तरनाक है. हेल्दी सेक्स लाइफ का सेहत और उम्र से कितना गहरा रिश्ता है? आइए, जानते हैं.

Sex Helps To Live Longer

1) क्वांटिटी नहीं क्वालिटी है ज़रूरी
रेग्युलर सेक्स लाइफ उम्र बढ़ाती है, लेकिन यहां क्वांटिटी नहीं क्वालिटी ज़रूरी है. यानी ये मायने नहीं रखता कि सेक्स कितनी बार किया गया, महत्वपूर्ण ये है कि कपल्स ने सेक्सुअल एक्ट को कितना एन्जॉय किया, यानी ऑर्गेज़्म को पाना जरूरी है. ऑर्गेज़्म मिलने से बीमारियों से लड़ने की क्षमता 20 प्रतिशत तक बढ़ जाती है. एक शोध के मुताबिक, सेक्स न करने वाले पुरुषों की तुलना में नियमित ऑर्गेज़्म प्राप्त करने वाले पुरुषों के लंबे समय तक जीने की संभावना ज़्यादा होती है. इतना ही नहीं हफ़्ते में 2 बार ऑर्गेज़्म फील करने वाली महिलाओं में हार्ट डिसीज़ का ख़तरा 30 प्रतिशत तक कम हो जाता है.

उम्र बढ़ती है 8 साल तक
चरमोत्कर्ष (ऑर्गेज़्म) की प्राप्ति से न सिर्फ शरीर में मूड-बूस्टिंग केमिकल्स का प्रवाह होता है, बल्कि ये कपल्स को रिलैक्स करके उनके बीच के भावनात्मक रिश्ते को भी मज़बूत बनाता है. कई शोध में ये बात सामने आई है कि ख़ुशहाल कपल्स अकेले रहने वाले या नकारात्मक रिश्ते में रहने वाले लोगों के मुक़ाबले ज़्यादा दिनों तक जीते हैं.

Sex Helps To Live Longer

2) प्यार से गले लगाना
पार्टनर को प्यार से गले लगाने और छूने से न सिर्फ कपल्स के बीच रोमांस बढ़ता है, बल्कि इससे ‘बॉन्डिंग हार्मोन’ ऑक्सिटॉसीन का भी ज़्यादा स्राव होता है, इस हार्मोन को लंबी उम्र से जोड़कर देखा जाता है. रिसर्च से भी ये बात साबित हो चुकी है कि ऑक्सिटोसीन हार्मोन उम्र बढ़ाने के साथ ही कपल्स को ख़तरनाक बीमारियों और डिप्रेशन से भी बचाता है.

उम्र बढ़ती है 7 साल तक
अगर कभी पार्टनर का मूड ख़राब है, तो आपका प्यार भरा स्पर्श न सिर्फ उनका मूड ठीक कर सकता है, बल्कि उन्हें कामोत्तेजित भी करता है. पार्टनर के छूने से शरीर में ऑक्सिटोसीन हार्मोन का स्राव होता है, जिससे कपल्स एक-दूसरे के क़रीब आने की कोशिश करते हैं.

Sex Helps To Live Longer

3) ज़्यादा का फ़ायदा
कुछ लोगों का मानना है कि ज़्यादा सेक्स सेहत के लिए ठीक नहीं होता, लेकिन ऐसा नहीं है. आपकी सेक्सुअल लाइफ़ जितनी ज़्यादा एक्टिव रहेगी आप उतने ही स्वस्थ रहेंगे. एक रिसर्च के अनुसार, हफ़्ते में 3 बार सेक्स करने वाले पुरुषों को हार्ट अटैक और स्ट्रोक का ख़तरा 50 प्रतिशत तक कम रहता. इसके अलावा ख़ुश रहने व सकारात्मक सोच से भी उम्र बढ़ती है, और रेग्युलर सेक्स से फील गुड एंड्रॉफिन्स हार्मोन का स्राव होता है, जो आपको ख़ुश और तनाव मुक्त रखता है.

उम्र बढ़ती है 2 साल
सेक्सुअल लाइफ़ का ज़्यादा से ज़्यादा आनंद लेने के लिए पार्टनर के साथ मिलकर उन ख़ास लम्हों की प्लानिंग करें. प्यार के उन ख़ास पलों को एन्जॉय करने के लिए सिर्फ रात का ही इंतज़ार न करें, बल्कि बच्चों के घर से जाने के बाद या लंच टाइम में, जब कोई घर पर न हो तब भी आप अंतरंग पलों का मज़ा ले सकते हैं.

यह भी पढ़ें: प्यार में क्या चाहते हैं स्री-पुरुष? (Love Life: What Men Desire, What Women Desire)

Sex Helps To Live Longer

4) मूड सेट करें
सेक्सुअल लाइफ़ एन्जॉय करने के लिए मूड होना ज़रूरी है. मूड बनाने के लिए कुछ ब्रेन केमिकल्स ज़िम्मेदार हैं, जिन्हें बैलेंस रखना ज़रूरी होता है. इसके अलावा भागदौड़ भरी व्यस्त जीवनशैली के कारण भी कपल्स की सेक्स में रुची नहीं रह जाती. ऐसे में ब्रेन केमिकल्स को बैलेंस रखने और अपनी सेक्स लाइफ़ को रोमांटिक व स्पाइसी बनाने के लिए खाने में कुछ ख़ास चीज़ें शामिल करें, जैसे- तुलसी, कालीमिर्च, जीरा, लहसुन, अदरक, हल्दी, रेड वाइन, केला और चॉकलेट्स आदि.

उम्र बढ़ती है 10 साल तक
अगर आप तुरंत पार्टनर का मूड सेट करना चाहती हैं, तो उन्हें डिनर में हैवी खाना देने की बजाय करी वाली हल्की सब्ज़ियां और केसर राइस ट्राई करें.

Sex Helps To Live Longer

5) रखे फिट एंड फाइन
युवावस्था में तो आपकी रोगों से लड़ने की क्षमता अधिक होती है, लेकिन बढ़ती उम्र के साथ ये घटने लगती है. अच्छी ख़बर ये है कि हेल्दी सेक्स लाइफ़ से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बनी रहती है. एक शोध के मुताबिक हफ़्ते में दो बार सेक्स करने वाले लोगों में एंटीबॉडिस का लेवल ज़्यादा होता है, जो उन्हें सर्दी और फ़्लू आदि से बचाता है. तो आप चाहे कितने भी बिज़ी क्यों न हों हफ्ते में कम-से-कम 2-3 दिन अपनी सेक्स लाइफ के लिए ज़रूर निकालें.

उम्र बढ़ती है 8 साल तक
हेल्दी सेक्स लाइफ के लिए अल्कोहल की मात्रा घटा दें, क्योंकि ये शरीर की रोगों से लड़ने की शक्ति को कम कर देता है.

Sex Helps To Live Longer

6) एक्सरसाइज़ जैसा फ़ायदा
रेग्युलर एक्सरसाइज़ से ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है, मसल टोन रहती है और आप जवां दिखते हैं. अच्छी ख़बर ये है कि सेक्स से आपको एक्सरसाइज़ के सारे फ़ायदे मिल सकते हैं, वो भी बिना जिम के चक्कर काटे. नियमित सेक्स से 20 मिनट में 30 कैलोरी बर्न होती है. इतना ही नहीं, आगे चलकर ये ऑस्टियोपोरोसिस के ख़तरे को भी कम करता है. एक अध्ययन के मुताबिक हफ्ते में एक बार सेक्स करने वाली मीडिल एज महिलाओं में एस्ट्रोजन लेवल बढ़ जाता है जो उनकी हड्डियों को सुरक्षित रखता है.

उम्र बढ़ती है 10 साल तक
हर बार एक ही पोज़िशन न दोहराएं, सेक्स लाइफ़ में नयापन लाने के लिए कुछ एक्सपेरिमेंट्स और नई पोज़िशन ट्राई करें.

पुरुषों की 6 सेक्स समस्याएं और उनके आसान समाधान (Men’s Sexual Problems And Easy Solutions)

Sex Helps To Live Longer

7) दिल को रखें स्वस्थ
मोटापा कम करके और सिगरेट छोड़कर आप अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं, इसके साथ ही हेल्दी और एक्टिव सेक्स लाइफ़ से भी आप अपने दिल को स्वस्थ रख सकते हैं. हाल ही में न्यू इंग्लैंड रिसर्च इंस्टीट्यूट में हुए एक शोध के मुताबिक हफ़्ते में 2 बार सेक्स करने वालों को हार्ट अटैक का ख़तरा 45 प्रतिशत तक कम होता है, जबकि हफ़्ते में 3 बार सेक्स करने पर हार्ट अटैक की संभावना 50 फीसदी तक कम हो जाती है.

उम्र बढ़ती है 15 साल तक
एक-दूसरे का सेंसुअल मसाज करें, इससे तनाव दूर होगा. साथ ही अपने प्यार भरे स्पर्श से पार्टनर का मूड सेट करें.

Sex Helps To Live Longer

यह सच है कि सेक्स और सेक्स से जुड़े विषयों पर हमारा समाज थोड़ा-बहुत खुलकर बात करने लगा है, लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि सेक्स को लेकर आज भी लोगों के मन में भ्रांतियां और ग़लतफ़हमियां हैं, क्योंकि सेक्स को लेकर कुछ खुलापन भले ही आ गया हो, लेकिन परिपक्वता अब भी नहीं आई है. ऐसे में यह सवाल अक्सर लोगों के मन में आता है कि क्या हम सेक्सुअली फिट हैं?

Sexual Fitness

– एक सामान्य इंसान को सेक्स की ज़रूरत और चाहत होती है.

– यह चाहत व ज़रूरत अलग-अलग लोगों में अलग-अलग हो सकती है. किसी को कम, किसी को ज़्यादा.

– इसी तरह आकर्षण होना भी स्वाभाविक है.

– फैंटसीज़ यानी कल्पना करना, जैसे- किसी ख़ास व्यक्ति की ओर यदि हम आकर्षित होते हैं, तो उसके बारे में सोचना और कल्पना में उसके साथ             सेक्स करना भी स्वाभाविक व सामान्य है.

– सेक्स की चाह होने पर मास्टरबेट करना भी हेल्दी माना जाता है.

– यदि आप में ऊपर बताए तमाम लक्षण मौजूद हैं, तो आप सेक्सुअली फिट हैं और यदि आप में सेक्स ड्राइव यानी सेक्स की चाह कम है या कम हो           रही है, तो आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम है.

–  अगर आप शादीशुदा हैं, तो आपकी सेक्स लाइफ कितनी अच्छी है?

– क्या सेक्स से आपको और आपके पार्टनर को पहले जैसी संतुष्टि नहीं मिलती?

– क्या सेक्स से आपको ऊब और बोरियत होने लगी है?

– क्या यह महज़ शारीरिक क्रिया बन गया है आपके लिए या अब भी भावनात्मक रूप से आप इसे आनंददायक क्रिया मानते हैं?

– ये तमाम सवाल ख़ुद से और अपने पार्टनर से करें, तो आप ख़ुद जान जाएंगे कि आप सेक्सुअली कितने फिट हैं.

व्यस्त ज़िंदगी में भी अगर सेक्स आपकी प्राथमिकताओं में से बाहर हो गया है, तो सचेत हो जाइए. शोधों में भी यह बात कई बार साबित हो चुकी है कि शादीशुदा लोग कुंवारे लोगों की अपेक्षा अधिक हेल्दी और लंबी ज़िंदगी जीते हैं. ऐसे में सेक्स के महत्व और सेक्सुअल फिटनेस को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता. सेक्सुअल फिटनेस को आप इस तरह से बांटकर देख सकते हैं-

भावनात्मक पहलू: अगर आपका अपने पार्टनर से भावनात्मक लगाव है, तो ज़ाहिर है सेक्स लाइफ बेहतर बनेगी, लेकिन अगर आप दोनों ही मशीनी ज़िंदगी जीने के आदी हो चले हैं, तो सेक्स की चाह भी कम होती चली जाएगी यानी आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम होती जाएगी.

स्पेशल टिप: ऐसे में ज़रूरी है पार्टनर के साथ समय बिताएं. प्यार भरी बातें करें, एक-दूसरे को सहयोग करें, जिसका सीधा प्रभाव आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ेगा.

मानसिक स्थिति: मानसिक तनाव, काम का बोझ और घरेलू ज़िम्मेदारियां भी आपको सेक्स के प्रति उदासीन बना देती हैं. बेहतर होगा कि अपने काम का तनाव बेडरूम में न ले जाएं. आप मिल-जुलकर हर समस्या का समाधान निकाल सकते हैं, इसलिए अपने रिश्ते और सेक्स लाइफ पर इन रोज़मर्रा की बातों का असर न पड़ने दें.

स्पेशल टिप: पुरुषों की 90% सेक्स समस्या, जैसे- शीघ्रपतन आदि मानसिक अवस्था से ज़्यादा जुड़ी होती है, बजाय शारीरिक समस्या के. ठीक इसी तरह महिलाओं में योनि में सूखापन, दर्दयुक्त सेक्स आदि भी सेक्स के प्रति उदासीनता की वजह से हो सकता है.

शारीरिक पहलू: सेक्सुअल फिटनेस बहुत हद तक आपकी शारीरिक फिटनेस से भी जुड़ी होती है. अगर आपको कोई सेक्सुअल या शारीरिक समस्या है, तो काउंसलर या एक्सपर्ट की मदद लेने से परहेज़ न करें.

स्पेशल टिप: योग व एक्सरसाइज़ को भी अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं. साथ में जॉगिंग या योगा क्लासेस जॉइन करें, इससे आप दोनों में नज़दीकियां बढ़ेंगी, जिसका सकारात्मक असर आपकी सेक्सुअल फिटनेस पर पड़ेगा.

 Sexual Fitness
नकारात्मक सोच से बचें

मन में बैठी भ्रांतियों व ग़लतफ़हमियों के कारण अपनी सेक्सुअल फिटनेस कम न होने दें- अधिकतर लोगों को लगता है कि फैंटसाइज़ करना, मास्टरबेट करना या किसी की तरफ़ आकर्षण महसूस करना ग़लत है. जबकि ये तमाम चीज़ें आपकी सेक्सुअल फिटनेस का अहम् हिस्सा हैं और आपकी फिटनेस को दर्शाती हैं.

सामाजिक व पारिवारिक पहलू

जहां तक महिलाओं की बात है, तो बचपन से ही पालन-पोषण अलग ढंग से होने के कारण या अन्य कारणों से भी वो सेक्स को लेकर उतनी उत्साहित नहीं रहतीं. उन्हें लगता है कि सेक्स के बारे में बात करना ग़लत है या चाहत होने पर भी सेक्स के लिए पहल न करना ही सही है, क्योंकि स्त्रियों को शर्मीला होना चाहिए और यही शर्मीलापन उनके संस्कार व चरित्र की सही व्याख्या करेगा. तमाम ऐसी बातें महिलाओं को सेक्सुअली अनफिट बनाती हैं और वो अपने पार्टनर को ठीक से सहयोग नहीं करतीं. इसके अलावा वो अपनी बॉडी को लेकर भी काफ़ी कॉन्शियस रहती हैं, उन्हें लगता है कि उनका फिगर या उनकी शारीरिक ख़ूबसूरती उनके पार्टनर को आकर्षित करने के लिए नाकाफ़ी है.

स्पेशल टिप: इस तरह की नकारात्मक सोच न रखें. फिज़िकल फिटनेस पर ध्यान ज़रूर दें, लेकिन मानसिक रूप से भी पॉज़ीटिव बनी रहें. आपका सहयोग और आपका प्यार आपकी शारीरिक ख़ूबसूरती से कहीं ज़्यादा ज़रूरी है रिश्ते व सेक्स लाइफ को हेल्दी बनाए रखने के लिए.

क्या करें?

– फोरप्ले ज़रूर करें. अच्छे सेक्स के लिए अच्छा फोरप्ले बहुत ज़रूरी है.

– इसी तरह से अच्छे सेक्स के लिए रोमांस होना भी बहुत ज़रूरी है, इसलिए व्यस्त दिनचर्या से रोमांटिक पलों को ज़रूर चुराएं.

– खान-पान हेल्दी हो. फिज़िकल फिटनेस आपको सेक्सुअली भी फिट रखेगी.

– सेक्स बूस्टर फूड को अपने डायट का हिस्सा बनाएं, जैसे- हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, फ्लैक्स सीड(अलसी), सोयाबींस, सनफ्लावर सीड्स, सी फूड,                नट्स, ताज़ा फल, ख़ासकर विटामिन सी युक्त आदि. साथ ही एक्सरसाइज़ भी करें.

– जंक फूड, अल्कोहल का सेवन कम करें.

– तनाव से दूर रहें.

– अगर कोई समस्या हो, तो काउंसलर व एक्सपर्ट से सलाह लें.

– योगिनी भारद्वाज

यह भी पढ़ें: बचें इन टॉप 10 सेक्स ड्राइव किलर्स से (10 Things That Can Kill Your Sex Drive)

यह भी पढ़ें: सेक्स पावर बढ़ाने के 5 चमत्कारी उपाय (5 Home Remedies To Increase Your Sexual Power)

Sex Problems

उनकी बॉडी अब मुझे आकर्षित नहीं करती

मुझे लगता है सेक्सुअल डिज़ायर को लेकर मैं एक सामान्य लड़की हूं, लेकिन पिछले दो सालों से मैं अपने पति के प्रति आकर्षण महसूस नहीं कर रही. जबकि वो अच्छे इंसान हैं, लेकिन उनकी बॉडी अब मुझे आकर्षित नहीं करती. क्या यह समस्या दवाओं से ठीक हो सकती है या मुझे काउंसलर की मदद लेनी होगी?

– ईला पारिख, भुज.

आपकी समस्या मैं समझ सकता हूं. बहुत-से लोगों में पार्टनर के प्रति शारीरिक आकर्षण का महत्व इतना नहीं होता, बल्कि आपसी प्यार व सामंजस्य अधिक ज़रूरी होता है और उनका रिश्ता काफ़ी अच्छा भी होता है, क्योंकि रिश्ते की नींव में तो प्यार, केयर व अपनेपन जैसी भावनाएं ही महत्वपूर्ण होती हैं. आपकी समस्या का समाधान काउंसलर के पास ज़रूर होगा, जिससे आप अपनी ज़िंदगी फिर से एंजॉय कर पाएंगी.
यह भी पढ़े: सेक्सुअल प्रॉब्लम्स के घरेलू नुस्ख़े
यह भी पढ़े: रखें सेक्सुअल हाइजीन का ख़्याल

 

मेरे पति के बड़े भाई मुझसे कई बार सेक्स की ख़्वाहिश ज़ाहिर कर चुके हैं

मैं असमंजस में हूं, क्योंकि मेरे पति के बड़े भाई मुझसे कई बार सेक्स की ख़्वाहिश ज़ाहिर कर चुके हैं. मेरे पति बार-बार टूर या देश से बाहर जाते रहते हैं. मैं उन्हें उस समय काफ़ी मिस करती हूं और सेक्स की चाह होने पर भी अब तक मैंने अपने जेठजी को ख़ुद से दूर ही रखा है. क्या यह सही होगा अगर मैं अपने जेठजी के साथ सेक्स करूं? क्या इससे मेरी शादी व सेक्स लाइफ पर असर पड़ेगा?
– उमा दुबे, गोरखपुर.
बेहतर होगा कि आप अपनी समस्या अपने पति के साथ या काउंसलर से डिसकस करें, ताकि अपनी शादी में आप कुछ बेहतर व हेल्दी सोच सकें. ज़ाहिर है आपके जेठ के अप्रोच पर आप असमंजस में पड़ जाती हैं, क्योंकि शायद आप भी कहीं न कहीं अपनी लालसा को रोक नहीं पा रहीं, लेकिन यह कंफ्यूज़न सही नहीं है. पति के बड़े भाई से ऐसा रिश्ता आपकी शादी को नुक़सान पहुंचाएगा, इसलिए सतर्क रहें.
सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेंSex Problems Q&A

Dr.-Rajiv-Anand-Resize-image-2.1.17-170x250

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])

 

सेक्स को लेकर आज भी लोगों के मन में भ्रांतियां और ग़लतफ़हमियां हैं, क्योंकि सेक्स (Sexual fitness) को लेकर कुछ खुलापन भले ही आ गया हो, लेकिन मैच्योरिटी अब भी नहीं आई है. ऐसे में यह सवाल अक्सर लोगों के मन में आता है कि क्या हम सेक्सुअली फिट हैं?

Sexual fitness
– एक सामान्य इंसान को सेक्स की ज़रूरत और चाहत होती है.
– यह चाहत व ज़रूरत अलग-अलग लोगों में अलग-अलग हो सकती है. किसी को कम, किसी को ज़्यादा.
– इसी तरह आकर्षण होना भी स्वाभाविक है.
– फैंटसीज़ यानी कल्पना करना, जैसे- किसी ख़ास व्यक्ति की ओर यदि हम आकर्षित होते हैं, तो उसके बारे में सोचना और कल्पना में उसके साथ सेक्स करना भी स्वाभाविक व सामान्य है.
– सेक्स (Sexual fitness) की चाह होने पर मास्टरबेट करना भी हेल्दी माना जाता है.
– यदि आप में ऊपर बताए तमाम लक्षण मौजूद हैं, तो आप सेक्सुअली फिट हैं और यदि आप में सेक्स ड्राइव यानी सेक्स की चाह कम है या कम हो रही है, तो आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम है.
– अगर आप शादीशुदा हैं, तो आपकी सेक्स लाइफ कितनी अच्छी है?
– क्या सेक्स से आपको और आपके पार्टनर को पहले जैसी संतुष्टि नहीं मिलती?
– क्या सेक्स से आपको ऊब और बोरियत होने लगी है?
– क्या यह महज़ शारीरिक क्रिया बन गया है आपके लिए या अब भी भावनात्मक रूप से आप इसे आनंददायक क्रिया मानते हैं?
ये तमाम सवाल ख़ुद से और अपने पार्टनर से करें, तो आप ख़ुद जान जाएंगे कि आप सेक्सुअली कितने फिट हैं.
व्यस्त ज़िंदगी में भी अगर सेक्स आपकी प्राथमिकताओं में से बाहर हो गया है, तो सचेत हो जाइए. शोधों में भी यह बात कई बार साबित हो चुकी है कि शादीशुदा लोग कुंवारे लोगों की अपेक्षा अधिक हेल्दी और लंबी ज़िंदगी जीते हैं. ऐसे में सेक्स के महत्व और सेक्सुअल फिटनेस को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता.
सेक्सुअल फिटनेस को आप इस तरह से बांटकर देख सकते हैं-

यह भी पढ़ें: महिलाओं के इन 6 सिग्नल्स से जानें क्या चाहती है वो?

भावनात्मक पहलू:

अगर आपका अपने पार्टनर से भावनात्मक लगाव है, तो ज़ाहिर है सेक्स लाइफ बेहतर बनेगी, लेकिन अगर आप दोनों ही मशीनी ज़िंदगी जीने के आदी हो चले हैं, तो सेक्स की चाह भी कम होती चली जाएगी यानी आपकी सेक्सुअल फिटनेस कम
होती जाएगी.
स्पेशल टिप: ऐसे में ज़रूरी है पार्टनर के साथ समय बिताएं. प्यार भरी बातें करें, एक-दूसरे को सहयोग करें, जिसका सीधा प्रभाव आपकी सेक्स लाइफ पर पड़ेगा.

मानसिक स्थिति:

मानसिक तनाव, काम का बोझ और घरेलू ज़िम्मेदारियां भी आपको सेक्स के प्रति उदासीन बना देती हैं. बेहतर होगा कि अपने काम का तनाव बेडरूम में न ले जाएं. आप मिल-जुलकर हर समस्या का समाधान निकाल सकते हैं, इसलिए अपने रिश्ते और सेक्स लाइफ पर इन रोज़मर्रा की बातों का असर न पड़ने दें.
स्पेशल टिप: पुरुषों की 90% सेक्स समस्या, जैसे- शीघ्रपतन आदि मानसिक अवस्था से ज़्यादा जुड़ी होती है, बजाय शारीरिक
समस्या के.
ठीक इसी तरह महिलाओं में योनि में सूखापन, दर्दयुक्त सेक्स आदि भी सेक्स के प्रति उदासीनता की वजह से हो सकता है.

शारीरिक पहलू:

सेक्सुअल फिटनेस बहुत हद तक आपकी शारीरिक फिटनेस से भी जुड़ी होती है. अगर आपको कोई सेक्सुअल या शारीरिक समस्या है, तो काउंसलर या एक्सपर्ट की मदद लेने से परहेज़ न करें.
स्पेशल टिप: योग व एक्सरसाइज़ को भी अपनी लाइफस्टाइल का हिस्सा बनाएं. साथ में जॉगिंग या योगा क्लासेस जॉइन करें, इससे आप दोनों में नज़दीकियां बढ़ेंगी, जिसका सकारात्मक असर आपकी सेक्सुअल फिटनेस पर पड़ेगा.

नकारात्मक सोच से बचें

मन में बैठी भ्रांतियों व ग़लतफ़हमियों के कारण अपनी सेक्सुअल फिटनेस कम न होने दें-
अधिकतर लोगों को लगता है कि फैंटसाइज़ करना, मास्टरबेट करना या किसी की तरफ़ आकर्षण महसूस करना ग़लत है. जबकि ये तमाम चीज़ें आपकी सेक्सुअल फिटनेस का अहम् हिस्सा हैं और आपकी फिटनेस को दर्शाती हैं.

सामाजिक व पारिवारिक पहलू

जहां तक महिलाओं की बात है, तो बचपन से ही पालन-पोषण अलग ढंग से होने के कारण या अन्य कारणों से भी वो सेक्स को लेकर उतनी उत्साहित नहीं रहतीं. उन्हें लगता है कि सेक्स के बारे में बात करना ग़लत है या चाहत होने पर भी सेक्स के लिए पहल न करना ही सही है, क्योंकि स्त्रियों को शर्मीला होना चाहिए और यही शर्मीलापन उनके संस्कार व चरित्र की सही व्याख्या करेगा. तमाम ऐसी बातें महिलाओं को सेक्सुअली अनफिट बनाती हैं और वो अपने पार्टनर को ठीक से सहयोग नहीं करतीं.
इसके अलावा वो अपनी बॉडी को लेकर भी काफ़ी कॉन्शियस रहती हैं, उन्हें लगता है कि उनका फिगर या उनकी शारीरिक
ख़ूबसूरती उनके पार्टनर को आकर्षित करने के लिए नाकाफ़ी है.
स्पेशल टिप: इस तरह की नकारात्मक सोच न रखें. फिज़िकल फिटनेस पर ध्यान ज़रूर दें, लेकिन मानसिक रूप से भी पॉज़ीटिव बनी रहें. आपका सहयोग और आपका प्यार आपकी शारीरिक ख़ूबसूरती से कहीं ज़्यादा ज़रूरी है रिश्ते व सेक्स लाइफ को हेल्दी बनाए रखने के लिए.

यह भी पढ़ें: सेफ सेक्स के 20+ असरदार ट्रिक्स

क्या करें?

– फोरप्ले ज़रूर करें. अच्छे सेक्स के लिए अच्छा फोरप्ले बहुत ज़रूरी है.
– इसी तरह से अच्छे सेक्स के लिए रोमांस होना भी बहुत ज़रूरी है, इसलिए व्यस्त दिनचर्या से रोमांटिक पलों को ज़रूर चुराएं.
– खान-पान हेल्दी हो. फिज़िकल फिटनेस आपको सेक्सुअली भी फिट रखेगी.
– सेक्स बूस्टर फूड को अपने डायट का हिस्सा बनाएं, जैसे- हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, फ्लैक्स सीड(अलसी), सोयाबींस, सनफ्लावर सीड्स, सी फूड, नट्स, ताज़ा फल, ख़ासकर विटामिन सी युक्त आदि. साथ ही एक्सरसाइज़ भी करें.
– जंक फूड, अल्कोहल का सेवन कम करें.
– तनाव से दूर रहें.
– अगर कोई समस्या हो, तो काउंसलर व एक्सपर्ट से सलाह लें.

– योगिनी भारद्वाज

 

सेक्स और रोमांस के अन्य आर्टिकल्स के लिए यहां क्लिक करें: Sex & Romance
×