Tag Archives: Sexual Problems in Men

न छुपाएं गुप्तरोगों के ये 5 लक्षण ( 5 Signs That Men Should See A Urologist)

Signs Men Venereal Disease

बढ़ती उम्र के साथ बीमारियों का घेरना स्वाभाविक है, लेकिन कई लोग इन समस्याओं को गंभीरता से न लेते हुए उनके संकेतों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं. ऐसी समस्याओं में यूरिनरी ट्रैक्ट सिस्टम व रिप्रोडक्टिव ऑर्गन्स संबंधी परेशानियां बेहद आम हैं. इन समस्याओं से पीड़ित व्यक्ति को जल्द से जल्द स्पेशलिस्ट डॉक्टर यानी यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए, ताकि समय रहते इससे निजात मिल सके. हीरानंदानी अस्पताल, वाशी, नवी मुंबई के कंसल्टेंट यूरोलॉजी, एंड्रोलॉजी और किडनी ट्रांसप्लांट सर्जन डॉक्टर सुमित मेहता ऐसे ही 5 लक्षण बता रहे हैं, जिनसे रू-ब-रू होने पर मरीज़ को जल्द से जल्द डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए.

Signs Men Venereal Disease

इरेक्टाइल डिसफंक्शन
संतोषजनक संभोग के लिए पर्याप्त इरेक्शन न होने की समस्या को इरेक्टाइल डिसफंक्शन कहा जाता है. यह एक ऐसी स्थिति है, जिसमें पुरुष संभोग के लिए पर्याप्त इरेक्शन बनाए रखने में असमर्थ होते हैं. इस समस्या को पुरुषों में नपुसंकता के तौर पर भी देखा जाता है. 40-70 वर्ष की आयु वाले तक़रीबन 30-50 फ़ीसदी पुरुष इस समस्या से पीड़ित हैं. ऐसी परेशानी होने पर व्यक्ति को तुरंत यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए, क्योंकि यह हाइपरटेंशन, वैस्कुलर डिज़ीज़, मोटापा जैसी कई गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है. समय रहते इसका इलाज कराकर आप ख़ुद को इन गंभीर बीमारियों से बचा सकते हैं.

यूरिन लीकेज (पेशाब न रोक पाना)
अति सक्रिय मूत्राशय या असंयम मूत्र एक ऐसी समस्या है, जिससे ग्रसित होने की कल्पना कोई पुरुष या महिला नहीं करना चाहती, बावजूद इसके तक़रीबन 11-16 फ़ीसदी पुरुष वृद्धावस्था में इस समस्या से पीड़ित हो ही जाते हैं. इस समस्या के पीछे बढ़ा हुआ प्रोस्टेट भी ज़िम्मेदार हो सकता है. दरअसल, बढ़ा हुआ प्रोस्टेट मूत्राशय की मांसपेशियों और नसों को क्षति पहुंचाकर मूत्र के प्रवाह को बाधित करता है, लेकिन लाइफस्टाइल में सकारात्मक बदलाव, दवाइयों और सर्जरी की मदद से इस स्थिति पर काफ़ी हद तक काबू पाया जा सकता है.

ये भी पढ़ेंः सेक्स के दौरान हो दर्द तो करें ये 5 आसान घरेलू उपाय (5 Home Remedies For Vaginal Pain And Dryness)

यूरिन से ब्लड आना
अगर आपके यूरिन से ब्लड आता है तो इस समस्या को मामूली समझकर, इसे नज़रअंदाज़ करने की ग़लती न करें और फौरन यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करें. यूरिन से ब्लड आना ब्लैडर या किडनी कैंसर का संकेत हो सकता है. यह कैंसर के कारण हो रहा है या फिर इसके पीछे कोई और स्वास्थ्य समस्या है. इसका पता लगाने के लिए डॉक्टर यूरीन टेस्ट, एक्स रे, सिस्टोस्कॉपी करने का सुझाव दे सकते हैं. दरअसल, यूरीन से बल्ड आना एक गंभीर स्वास्थ्य समस्या है, इसलिए इसका समय पर इलाज कराना बेहद आवश्यक है.

अंडकोष में दर्द या सूजन
अगर आपके टेस्टिकुलर यानी अंडकोष में दो हफ़्ते या उससे अधिक समय से दर्द और सूजन की समस्या है तो इसे नज़रअंदाज़ करने की बजाय यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करें. यह समस्या टेस्टिकुरल कैंसर का एक लक्षण हो सकता है, इसलिए व़क्त रहते चेकअप कराएं, ताकि आपको अपनी इस स्वास्थ्य समस्या की असली वजह का पता चल सके. अगर सही समय पर इसकी पहचान करके इलाज कराया जाए, तो इससे बचने की गुंजाइश बढ़ जाती है.

यूरिन के समय दर्द और तकलीफ़
बैक्टीरिया से होनेवाला इंफेक्शन मूत्र मार्ग के किसी भी हिस्से को संक्रमित कर सकता है, ऐसे में यूरोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए, ताकि वो इसकी असली वजह का पता लगाकर आपको उचित इलाज का सुझाव दे सके. हालांकि यह बहुत गंभीर रोग तो नहीं है, लेकिन यह समस्या होने पर पेशाब करते व़क्त दर्द और तकलीफ़ होती है. इस समस्या के पीछे दूसरा कारण प्रोस्टेट का आकार बढ़ना भी हो सकता है, जो बढ़ती उम्र के साथ लोगों में होनेवाली आम समस्या है. हालांकि समय पर इलाज कराकर इस समस्या से छुटकारा पाना आसान है.

ये भी पढ़ेंः सेक्स ड्राइव घटाते हैं ये 5+ आहार (5+ Foods That Decrease Your Sex Drive)