sexual relation

भारतीय समाज में शादी के बाद तो क्या शादी के पहले भी मास्टरबेशन को सहज नहीं माना जाता. यहां मानसिकता यही है कि मास्टरबेट करना किसी पाप या घिनौने काम से कम नहीं. जबकि विशेषज्ञ कहते हैं कि हस्तमैथुन एक हेल्दी प्रक्रिया है बशर्ते उसकी अति ना हो.

ऐसे बहुत से लोग हैं जो शादी के बाद भी हस्तमैथुन करते हैं लेकिन वो खुलकर किसी को यह बात कहते नहीं हैं, क्योंकि उन्हें खुद भी यही लगता है कि वो कुछ ग़लत कर रहे हैं या अपने पार्टनर के साथ ग़लत कर रहे हैं. ऐसे में आइए जानने की कोशिश करते हैं कि शादी के बाद मास्टरबेट करना कितना सही है और कितना ग़लत.

मास्टरबेशन को लेकर अमेरिकन फिल्ममेकर वूडी एलन के कुछ कोट्स और बातें मशहूर हैं. उन्होंने मास्टरबेशन को सेल्फ लव से जोड़ा है. वो कहते हैं कि मास्टरबेशन क्यों छोड़ें? सेक्स उसी के साथ किया जाता है जिसे आप प्यार करते हैं तो ऐसे में क्या शादी के बाद आप खुद से प्यार नहीं करते या प्यार करना बंद कर देते हैं? अगर नहीं तो मास्टरबेशन क्यों छोड़ना.
मास्टरबेशन आपको अपने शरीर और सेकसुअल ज़रूरतों को बेहतर तरीक़े से समझने में मदद करता है.

शादी के बाद मास्टरबेशन करने का यह बिल्कुल अर्थ नहीं है कि आपकी सेक्स लाइफ सही नहीं और ना ही शादी के बाद मास्टरबेशन से आपकी सेक्स लाइफ पर बुरा असर होता है.
बल्कि यह इस बात का संकेत है कि आपकी सेक्स लाइफ ज़्यादा एक्टिव और हेल्दी है. यह दर्शता है कि आप सेकसुअली हेल्दी हैं.

महिलायें शुरू शुरू में सेक्स में सहज नहीं हो पातीं और ना ही वो ऑर्गैज़्म प्राप्त कर पाती हैं, ऐसे में मास्टरबेशन उन्हें तनाव से छुटकारा दिलाकर रिलैक्स फील कराता है.

Masturbation And Marriage

मास्टरबेशन से आप अपने शरीर और प्लेज़र पॉइंट्स को बेहतर तरीक़े से समझ पाते हैं जिससे आप सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को यह बता सकते हैं कि आपको क्या ज़्यादा एक्साइटिंग लगता है, कौन से पार्ट को छूने से ज़्यादा उत्तेजित महसूस करते हैं.

अगर पार्टनर से दूर हैं तो मास्टरबेशन से खुद को संतुष्ट करना बेहतरीन होता है ताकि आप ग़लत रिश्तों में या अवैध सम्बंधों की गिरफ़्त में ना आ जाएँ.

बहुत से कपल तो सीधे सेक्स ना करके एक दूसरे को मास्टरबेशन से ही संतुष्ट करने में ज़्यादा आनंद महसूस करते हैं.

कुछ देश तो ऐसे हैं जो युवाओं को नियमित रूप से मास्टरबेशन के लिए एजुकेट करते हैं ताकि युवा ग़लत रास्तों पर ना भटकें.

दरअसल मास्टरबेशन से आप अकेले में खुद को प्यार करके संतुष्ट कर सकते हैं जिससे आपके सेक्स की तीव्र इच्छा भी पूरी होती है और एक संतुष्टी का आभास भी होता है. ऐसे में एक्सपर्ट्स मास्टरबेशन को और शादी के बाद भी मास्टरबेशन को ग़लत नहीं बल्कि हेल्दी ही मानते हैं.

Masturbation And Marriage

मास्टरबेशन आपकी सेक्स लाइफ को बेहतर बनाता है क्योंकि आपको अपने शरीर व उसकी ज़रूरतों की अब बेहतर जानकारी होती है और यही जानकारी आपको बेहतर सेक्स के अनुभव की दिशा में काम आती है.
यह अलग बात है कि हमारे समाज में अब भी यह सोच विकसित नहीं हुई और ख़ासतौर से लड़कियों के मास्टरबेशन को लेकर तो संकुचित सोच बरक़रार है. लेकिन पार्टनर्स को चाहिए कि इन बातों से ऊपर उठें और सहज चीज़ों को स्वभाविक व सहज ही मानें.

एक्सपर्ट्स की माने तो सेक्स और मास्टरबेशन दोनों ही अलग अलग चीज़ें हैं. बेहतर होगा कि पति-पत्नी इस विषय पर आपस में खुलकर बात करें, रोमांस और सेक्स व शरीर की ज़रूरतों के बीच के अंतर को पहचाने और बेहतर सेक्स लाइफ को एंजॉय करें.

यह भी पढ़ें: अपनी सेक्स लाइफ को किस तरह बेहतर बना सकते हैं पुरुष? (How Men Can Make Their Sex Life Better?)

मोहब्बत को मुकम्मल करने की रुत आई है, दो आत्माओं के मिलन का मौसम आया है, घूंघट उठाकर उनके हुस्न के दीदार की घड़ी आई है, दिल के अरमानों को पूरा करने का हसीं व़क्त आया है, सारी दुनिया बहुत ख़ूबसूरत लगने लगी है, जब से मेरे महबूब से मिलन की रात आई है… शादी के बाद पहली बार सेक्स (First Time Sex) को लेकर हर शादीशुदा जोड़े के दिल में कई ख़्वाब और कई अरमान होते हैं. उन सपनों को पूरा करने से पहले उस रात की तैयारी तो कर लें. यहां हमने एक चेकलिस्ट दी है, आप भी देखें कि क्या आपने वो सारी तैयारी कर ली है?

Sex For The First Time

  1. दिमागी तौर से तैयार रहें

पहली बार सेक्स से पहले अपने दिमाग़ में यह क्लीयर कर लें कि शारीरिक संबंध बनाने का अर्थ स़िर्फ सेक्सुअल इंटरकोर्स ही हो, ऐसा ज़रूरी नहीं. दरअसल, यह हमारी पारंपरिक सोच का नतीजा है कि सेक्स यानी सेक्सुअल पेनिट्रेशन. जबकि पहली बार एक-दूसरे का सामना करना इतना आसान नहीं होता. अगर आप दोनों इमोशनली एक-दूसरे से जुड़े हैं, तो यह काफ़ी हद तक आसान हो जाता है. सेक्स से पहले इस बारे में बात करें, ताकि दोनों दिमागी तौर पर तैयार रहें. अगर सेक्सुअल पेनिट्रेशन में झिझक हो रही है, तो आप ओरल सेक्स एंजॉय करें.

  1. ज़रूरी नहीं ब्लीडिंग हो

आज भी बहुत-से लोगों की यही सोच है कि पहली बार सेक्स के दौरान ब्लीडिंग होती है, जबकि यह सच नहीं है. ब्लीडिंग का होना न होना पूरी तरह से हाइमन पर निर्भर होता है, जो फिज़िकली एक्टिव लड़कियों में साइकलिंग या स्विमिंग के दौरान भी रप्चर हो सकता है, जिसके कारण पहली बार सेक्स में ब्लीडिंग नहीं होती. पहली बार सेक्स से पहले इन दकियानूसी बातों को अपने दिमाग से निकाल दें.

  1. सेक्सुअल महसूस करें

पहली बार सेक्स करने जा रहे हैं, तो ज़रूरी है कि आप ख़ुद सेक्सुअल महसूस करें. सेक्स से पहले शावर लें, अच्छा-सा फ्रेगरेंस लगाएं और मनपसंद लिंगरी या इनरवेयर पहनें. लड़के शेव करके, फ्रेगरेंस लगाकर भी सेक्सुअल व कॉन्फिडेंट महसूस कर सकते हैं. यकीनन यह सेक्स में आप दोनों का मूड सेट करने में भी मदद करेगा.

  1. ल्युब्रिकेंट तैयार रखें

यह एक चीज़ है, जो ज़्यादातर कपल्स भूल जाते हैं. पहली बार सेक्स से पहले आपको एक ल्युब्रिकेंट अपने साथ ज़रूर रखना चाहिए. ज़रूरी नहीं कि यह आपके काम ही आए, पर अगर आपकी पार्टनर को सेक्स के दौरान असहजता या दर्द महसूस हो, तो यह आपकी उलझन सुलझाकर सेक्सुअल एक्सपीरियंस को कंफर्टेबल और रोमांटिक बना सकता है.

  1. जादुई एहसास

अगर आपको भी लगता है कि पहली बार सेक्स करने के बाद दुनिया बदल जाएगी, सब कुछ अलग लगने लगेगा, एक जादुई एहसास आपके साथ हमेशा बना रहेगा, तो हम आपको निराश नहीं करना चाहते, पर ज़रूरी नहीं कि ये सारी फिल्मी बातें हक़ीक़त में हों. हां, यह ज़रूर सच है कि आपके और आपके पार्टनर की बॉन्डिंग और मज़बूत होगी. यहां लड़कियों के लिए यह जानना ज़रूरी है कि पहली बार सेक्स के बाद आपके शरीर में कुछ बदलाव आपको महसूस हों, जैसे- ब्रेस्ट्स का सख़्त होना, निप्पल्स का सेंसिटिव होना, वेजाइना में बदलाव आदि. इसमें आपको डरने की ज़रूरत नहीं, क्योंकि यह नेचुरल है.

यह भी पढ़ें: 20 सेक्स फैक्ट्स, जो हर कपल जानना चाहता है (20 Sex Facts Every Couple Must Know)

First Time Sex Tips

  1. फोरप्ले-आफ्टरप्ले दोनों हैं ज़रूरी

पहली बार सेक्स से पहले यह बात आपको ज़रूरी जाननी चाहिए कि सेक्स के लिए फोरप्ले बहुत ज़रूरी है. यह न स़िर्फ आप दोनों का मूड सेट करता है, बल्कि एक-दूसरे को करीब भी लाता है. सेक्स से पहले थोड़ी देर एक-दूसरे को गले लगाना, किस करना, एक-दूसरे की ज़ुल्फों से खेलना, शरीर के कामोत्तेजक अंगों को छूना आदि शामिल है. इसके अलावा सेक्स के बाद आफ्टरप्ले भी उतना ही ज़रूरी है. सेक्स के बाद एकदम से अलग न हो जाएं. थोड़ी देर तक एक-दूसरे से लिपटे रहें, पिलो टॉक करें और एक-दूसरे को प्यार से देखें.

  1. कंडोम का इस्तेमाल करें

स़िर्फ प्रेग्नेंसी टालने के लिए ही नहीं, बल्कि सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ से बचने के लिए भी आपको कंडोम का इस्तेमाल ज़रूर करना चाहिए. यह एक हेल्दी हैबिट है, जो आपको सेक्स के दौरान ज़रूर ट्राई करनी चाहिए. इससे आप न स़िर्फ ख़ुद को, बल्कि अपने पार्टनर को भी इंफेक्शन से बचा सकते हैं. हां, इस बात का ख़्याल ज़रूर रखें कि आप दोनों में से किसी को लेटेक्स एलर्जी तो नहीं.

  1. नेचुरल है नर्वसनेस

अगर आपके दिल की धड़कनें तेज़ हो रही हैं, आपका मन कहीं और नहीं लग रहा, आपको बार-बार प्यास का एहसास हो रहा है, तो कोईब ात नहीं… पहली बार सेक्स से पहले हर कोई इसी तरह नर्वस होता है. यह कोई एग्ज़ाम नहीं है, जहां आपको आपकी परफॉर्मेंस के लिए मार्क्स मिलेंगे, यह आपकी लाइफ का एक बहुत ही ख़ास पल है, इसे एंजॉय करें. चाहें, तो पार्टनर से मिलने से पहले थोड़ी लंबी-घहरी सांसें लें. आप रिलैक्स महसूस करेंगे.

  1. सेक्स वीडियो में दिखी चीज़ें कॉपी न करें

ज़्यादातर युवा मनोरंजन के लिए ही सही पर सेक्स वीडियोज़ देखते हैं, पर उनके दिमाग में वो चीज़ें बैठ जाती हैं और वो वैसा ही अपने पार्टनर के साथ पूरा करने के अरमान बनाने लगते हैं. आपको बता दें कि ऐसे वीडियोज़ में दिखाई गई चीज़ें प्रोफेशनल्स द्वारा परफॉर्म की जाती हैं, जो हक़ीक़त में मुमकिन नहीं. इसलिए अगर आपके दिमाग में भी ऐसा कुछ है, तो उसे निकाल दें.

  1. सिर्फ़ ऑर्गैज़्म पर फोकस न करें

माना कि हर कपल की इच्छा होती है कि उनका प्यार चरम पर पहुंचे, पर यह पहली ही बार में हो, इस पर ज़्यादा फोकस न करें. पहली बार में एक-दूसरे को समझने और जानने की कोशिश करें. अपने पार्टनर से अपनी सेक्सुअल फैंटसीज़ सांझा करें. एक-दूसरे के प्रति प्यार-दुलार दिखाएं.

– अनीता सिंह

यह भी पढ़ें: 5 ग़लतियां जो महिलाएं सेक्स के दौरान करती हैं (5 Mistakes Women Make In Bed)

यह भी पढ़ें: माथे पर क्यों किस करते हैं पार्टनर्स? (What It Means When Partner Kisses On Forehead?)

मैं 37 वर्षीया अविवाहित महिला हूं. 2 साल पहले ही मैंने अपने एग्स फ्रीज़ करवाकर रखे हैं. अभी तक मेरे जीवनसाथी की तलाश जारी है और यही सोचकर मैंने अपने एग्स फ्रीज़ करवाए हैं कि भविष्य में अपनी प्रेग्नेंसी के लिए उनका इस्तेमाल कर सकूं. पर मुझे यह पूछना है कि कितने सालों तक एग्स को सुरक्षित फ्रीज़ करके रखा जा सकता है? 
– मोनाली दुबे, मुंबई.

फ़िलहाल जो वैज्ञानिक दावे हैं उनके मुताबिक, 10 सालों तक एग्स को फ्रीज़ करके रखा जा सकता है. हो सकता है कि भविष्य में यह आंकड़ा और बदले, फिर भी आपको
40-45 या 50 जैसी बड़ी उम्र में प्रेग्नेंसी से जुड़े रिस्क फैक्टर्स के बारे में भी पता होना चाहिए, क्योंकि जैसे-जैसे व्यक्ति की उम्र बढ़ती है, वह हाई ब्लड प्रेशर, डायबिटीज़ जैसी बीमारियों की चपेट में आने लगता है. इन सभी समस्याओं के बारे में आपको अपने फर्टिलिटी एक्सपर्ट से बात करनी चाहिए. आपने 30 की उम्र में अपने एग्स फ्रीज़ करके रख दिए हैं, इसका यह बिल्कुल मतलब नहीं कि कंसीव करने के लिए अभी आप 10-15 साल और इंतज़ार कर सकती हैं.

यह भी पढ़ें: क्या कॉन्ट्रासेप्टिव पिल्स से सर्वाइकल कैंसर हो सकता है?

How Long Can I Freeze Eggs For
हाल ही में मेरी शादी हुई है. गर्भनिरोध के लिए हम कंडोम का इस्तेमाल करते हैं, पर जब भी हम कंडोम इस्तेमाल करते हैं, मेरे प्राइवेट पार्ट्स एकदम लाल हो जाते हैं और उनमें खुजली व जलन होती है. मैं क्या करूं?
– सोनिया गोयल, पुणे.

आपकी बातों से लग रहा है कि आप लेटेक्स एलर्जी से परेशान हैं, जिससे कंडोम बनता है. लेटेक्स रबर के पेड़ से बननेवाला एक प्राकृतिक व फ्लेक्सिबल रबर होता है. कुछ लोगों को इसके कारण एलर्जी हो सकती है, पर अगर यह बार-बार हो रहा है, तो नुक़सानदेह भी हो सकता है. जिन्हें केला, अनन्नास, पीच, कीवी, अंगूर, पपीता, एवोकैडो, स्ट्रॉबेरी, काजू, गेहूं आदि से एलर्जी होती है, उन्हें लेटेक्स एलर्जी की संभावना अधिक होती  है. तुरंत अपने  डॉक्टर से मिलें, ताकि वो आपकी सही जांच कर सकें. फैमिली प्लानिंग के लिए कोई और उपाय अपनाएं.

यह भी पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी के दौरान ब्रेस्ट कैंसर हो सकता है?

जानें कंडोम से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें

– हर साल 100 में से 18 महिलाएं स़िर्फ इसलिए कंसीव कर लेती हैं, क्योंकि उनके पार्टनर सही तरी़के से कंडोम इस्तेमाल नहीं करते, इसलिए आप इस बात का ध्यान रखें कि आपके पार्टनर सही तरीक़ा जानते हों.

– बाज़ार में मिलनेवाले कलरफुल कंडोम्स की बजाय सिंपल कंडोम्स इस्तेमाल करें, क्योंकि ज़्यादातर मामलों में देखा गया है कि ऐसे कंडोम्स सेक्सुअली ट्रांसमिटेड डिसीज़ेस से आपको नहीं बचा पाते, जिसके लिए ख़ासतौर पर उनका इस्तेमाल किया जाता है.

– अगर आपको या आपके पार्टनर को लेटेक्स कंडोम की एलर्जी है, तो आप फीमेल कंडोम इस्तेमाल कर सकती हैं.

– कोशिश करें कि सेक्सुअल रिलेशन के दौरान कंडोम ज़रूर इस्तेमाल करें.

यह भी पढ़ें: ब्रेस्ट में गांठ के लिए क्या बार-बार मैमोग्राफी करानी होगी?

rajeshree-kumar-167x250

डॉ. राजश्री कुमार

स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

हेल्थ से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारा एेप इंस्टॉल करें: Ayurvedic Home Remedies