sexual relationship

Adults in sex position
  • आयुर्वेद की मानें तो बेटर सेक्स इक्स्पिरीयन्स के लिए आपको फ़िज़िकली फिट होना ज़रूरी है. 
  • अगर आप ओवर वेट हैं तो बेहतर होगा वज़न कम करने का प्रयास करें.
  • पिरीयड्स के दौरान सेक्स अवॉड करना चाहिए. 
  • सेक्स के बेहतर अनुभव के लिए अपने प्राइवट पार्ट्स क्लीन रखने ज़रूरी हैं.
  • यहां तक कि ओवर ऑल हाइजीन भी बहुत ज़रूरी है. 
  • अपनी ओरल हेल्थ का ख़याल रखें. सांस में बदबू, शरीर से पसीने की दुर्गंध सेक्स अनुभव को ख़राब कर सकती है.
  • मौसम का भी आपकी सेक्स लाइफ़ पर प्रभाव होता है. मॉन्सून और गर्मी में शरीर को शक्ति कम होती है, इस दौरानकम सेक्स करना सही होता है और सर्दियों में शरीर को शक्ति बेहतर होती है, इसलिए यह बेस्ट सीज़न है रोज़ सेक्स करने का.
  • हालाँकि हर किसी को क्षमता अलग होती है और वो खुद इसे बेहतर जानते हैं.
  • अगर कोई सेक्स समस्या है तो नीम हकीमों के चक्कर में ना पड़ें बल्कि सही आयुर्वेदिक उपचार का सहारा लें.
  • सेक्स में एक दूसरे को तकलीफ़ ना दें, हिंसक सेक्स का आयुर्वेद विरोध करता है.
  • सेक्स हमेशा सॉफ़्ट और सूदिंग होना चाहिए.
  • भूखे पेट सेक्स ना करें, क्योंकि ऐसा करने पर आपको थकान, कमज़ोरी, सिर दर्द और चक्कर आने की समस्या होसकती है.
  • खाना खाने के फ़ौरन बाद भी सेक्स ना करें, क्योंकि खाने के बाद सेक्स करने से आपको गैस, असिडिटी, अपच, सीने में जलन, हृदय में भारीपन व सेक्स के दौरान भी थकान और सांस लेने में तकलीफ़ हो सकती है.
  • सबसे सही वक्त है खाने के २-३ घंटे बाद ही सेक्स करें.
  • योग व ध्यान से खुद को फिट रखें.
  • जब तक दोनों तैयार ना हों सेक्स ना करें.
  • फ़ोरप्ले और आफ़्टरप्ले ज़रूरी है.
  • शादी या पार्ट्नर के अलावा कहीं और सेक्स ना करें.
  • सेक्स को मशीनी क्रिया ना समझें, प्यार और भावनाओं से जोड़कर देखें.

सेक्स बूस्टर फ़ूड्स

Sex booster fruits
  • लहसुन, प्याज़ काफ़ी लाभकारी हैं, इन्हें देसी घी में पकाकर खायें.
  • बीटरूट, शकरकंद, पालक, कद्दू, भिंडी, सहेजन आदि देसी घी में पकाकर खायें.
  • ड्राई फ़्रूट्स और नट्स.
  • मसाले- अजवायन, हल्दी, लौंग, जीरा, केसर आदि.
  • गन्ना, गुड़.
  • दूध, दही, चीज़, देसी घी, पनीर.
  • आम, केला, अनार, कटहल, ख़रबूज़ा, तरबूज़, ऐवोकैडो, आडू, आलूबुखारा, नाशपाती.
  • अंडा, चिकन, सूप्स.
  • चावल, गेहूं और उड़द दाल.
  • शिलाजीत, अश्वगंधा, स्वर्णभस्म काफ़ी शक्तिवर्धक पदार्थ हैं. लेकिन ये विशेषज्ञ की सलाह से ही लें.

क्या ना खायें?

  • बहुत अधिक मसालेदार, तला-भुना, तेल वाला भोजन ना करें.
  • हल्का, सुपाच्य खाना खायें.
  • शराब, तम्बाकू व सिगरेट अवॉइड करें.
  • बहुत ज़्यादा चाय, कोल्ड ड्रिंक्स आदि भी ना पियें.
  •  देर रात तक ना जागें. 
  • टीवी बहुत ज़्यादा ना देखें.
  • एक ही जगह पर बहुत देर तक बैठे ना रहें. 
  • मोबाइल और कम्प्यूटर का ज़रूरत से ज़्यादा इस्तेमाल ना करें.
  • पोर्न देखने की लत ना लगायें.

क्यों ज़रूरी हैं सेक्स बूस्टर फ़ूड्स?

Sex booster fruit
  • अखरोट स्पर्म की क्वालिटी बढ़ने में मदद करता है.
  • बादाम में मौजूद अमीनो ऐसिड इरेक्शन को बेहतर करने में मदद करता है. साथ ही रक्त संचार को बेहतर करता हैऔर रक्त धमनियों को रिलैक्स करता है.
  • तरबूज़ सेक्स एनर्जी, सेक्स की इच्छा और इरेक्शन को बेहतर करता है.
  • अंडे में भी मौजूद अमीनो ऐसिड इरेक्टायल डिसफ़ंक्शन को ठीक करने में मदद करता है.
  • केसर में प्राकृतिक रूप से सेक्स ड्राइव को बेहतर करने के गुण होते हैं और ये आपको सेक्स ऊर्जा को भी बढ़ाते है.
  • ऐवोकैडो में फ़ॉलिक ऐसिड और विटामिन बी 6 होता है जो हेल्दी सेक्स ड्राइव के लिए बहुत फायदेमंद रहता है.
  • पालक में फोलेट की भरपूर मात्रा होती है, जो रक्त संचार को बेहतर करने का महत्वपूर्ण तत्व है. इसमें मौजूदफ़ॉलिक ऐसिड सेक्स की क्रिया को बेहतर करने के लिए ज़रूरी है क्योंकि इसकी कमी से इरेक्शन की समस्या होसकती है.
मैं 47 वर्षीया महिला हूं. पिछले कुछ दिनों से मैंने ग़ौर किया है कि पति से शारीरिक संबंध (Sexual Relationship) के बाद मुझे 1-2 दिन ब्लीडिंग (Bleeding) होती है, फिर रुक जाती है. ऐसा पहले कभी नहीं हुआ. मैं क्या करूं?
– ख़ुशबू मलिक, अलीगढ़.

पहली बात तो आप घबराएं नहीं. यह अच्छी बात है कि इस ओर आपका ध्यान गया. आप तुरंत अपने गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें. आपकी जांच करके ही डॉक्टर आपको बता पाएंगे कि कहीं किसी तरह की असामान्यता तो नहीं. अगर ऐसा हुआ, तो वे आपको पैप स्मियर टेस्ट या अल्ट्रासाउंड करने की सलाह दे सकते हैं. जांच के बाद ही इसका कारण पता चल पाएगा. इसलिए आप तुरंत डॉक्टर से मिलकर ज़रूरी टेस्ट करवाएं.

यह भी पढ़ें: बार-बार वेजाइनल इंफेक्शन क्यों होता है?
Bleeding 2 Days After Sexual Relationship
मैं 35 वर्षीया महिला हूं. हाल ही में पता चला कि मुझे ट्युबरकुलॉसिस (टीबी) है, इसलिए डॉक्टर ने गर्भनिरोधक गोलियों की बजाय कोई और उपाय करने की सलाह दी है. मुझे समझ में नहीं आ रहा है कि मैं क्या करूं? कृपया, उचित सलाह दें.
– वनिता झा, भागलपुर.

जब आप टीबी की दवाइयां लेती हैं, तो लिवर को अतिरिक्त मेहनत करनी पड़ती है, जिससे गर्भनिरोधक गोलियों का असर कम हो जाता है. यही कारण है कि आपके डॉक्टर ने गर्भनिरोध के किसी और उपाय को अपनाने की सलाह दी है. इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने गायनाकोलॉजिस्ट से मिलें. आपकी पेल्विक जांच के बाद वो आपको इस बारे में सही सलाह दे पाएंगे.

यह भी पढ़ें: मुझे हमेशा कमज़ोरी क्यों महसूस होती है?
rajeshree-kumar-167x250
डॉ. राजश्री कुमार
स्त्रीरोग व कैंसर विशेषज्ञ
[email protected]

 

 

 

हर बीमारी का आयुर्वेदिक उपचार  उपाय जानने के लिए इंस्टॉल करे मेरी सहेली आयुर्वेदिक होम रेमेडीज़ ऐप