shopping addiction

ढेरों वैरायटी और आकर्षक डिस्काउंट के कारण लोगों को ऑनलाइन शॉपिंग की लत-सी लग जाती है, जिसके कारण उनकी इनकम का ज़रूरत से ज़्यादा हिस्सा शॉपिंग में ख़र्च होने लगता है और उन्हें इसका एहसास भी नहीं होता. जब एहसास होता है, तब तक बहुत देर हो चुकी होती है. आपके साथ ऐसा न हो, इसलिए हम बता रहे हैं कुछ संकेत, जिनसे आपको पता चल सके कि शॉपिंग हद से ज़्यादा हो रही है.

Shopping Addiction

1) जब घर में बेकार की चीज़ों के ढेर लग जाए
डिस्काउंट ऑफर्स के चलते जब आपके घर में ऐसी चीज़ों के ढेर लग जाएं जिनकी आपको कोई ज़रूरत नहीं या जिनका इस्तेमाल आप नहीं करतीं, तो समझ जाइए कि आप ऑनलाइन शॉपिंग की आदी हो गई हैं और अपनी मेहनत की गाढ़ी कमाई को ऑनलाइन शॉपिंग के नाम पर बर्बाद कर रही हैं.

2) जब सेविंग अकाउंट बन जाए एक्सपेंस अकाउंट
ऑनलाइन बैंकिंग सुविधा के कारण अब आप एक क्लिक पर कोई भी चीज़ आसानी से ख़रीद सकती हैं. यदि आप इस सुविधा का ज़रूरत से ज़्यादा उपयोग ऑनलाइन शॉपिंग के लिए कर रही हैं और इसके कारण आपका सेविंग अकाउंट एक्सपेंस अकाउंट में बदल चुका है, तो इसका मतलब यही है कि आप अनलिमिटेड शॉपिंग करने लगी हैं.

3) जब क्रेडिट कार्ड का बिल बेहिसाब आने लगे
ऑनलाइन शॉपिंग के कारण यदि पहले की तुलना में क्रेडिट कार्ड का बिल दुगुना आने लगे, तो इसे ख़तरे की घंटी समझकर सतर्क हो जाइए, वरना ऑनलाइन शॉपिंग के चक्कर में बहुत जल्द बैंक वालों की नज़र में आप ब्लैक लिस्टेड हो सकती हैं.

4) जब लेना पड़े उधार
अपने ऑर्डर का पेमेंट करने के लिए जब आपको दोस्त या सहकर्मी से उधार लेने की ज़रूरत पड़ जाए, तो इसका सीधा अर्थ यही निकलता है कि आप अपनी हैसियत से ज़्यादा शॉपिंग करने लगी हैं. अगर आपने ऑनलाइन शॉपिंग बंद नहीं की, तो बहुत जल्द दूसरे कामों के लिए भी आपको उधार लेना पड़ सकता है.

5) जब तोड़ना पड़ जाए पिगी बैंक
अपनी सहूलियत के हिसाब से आप पिगी बैंक में इसलिए पैसे जमा करती हैं ताकि बुरे वक़्त में इसे तोड़कर आप अपनी सारी तो नहीं, मगर कुछ ज़रूरतें तो पूरी कर ही सकती हैं, लेकिन ज़रूरत की बजाय ऑनलाइन शॉपिंग का बिल भरने के लिए यदि आपको पिगी बैंक तोड़ना पड़े, तो ये ख़तरे की घंटी है. बेहतर होगा, अब अपनी शॉपिंग की लत पर लगाम लगाएं

यह भी पढ़ें: कम पैसे में ज्यादा शॉपिंग करनी है तो ऐसे करें शॉपिंग (20+ Budget Friendly Fashion Ideas)

6) जब ट्राई करने के लिए करने लगें शॉपिंग
वन पीस ड्रेस में मैं कैसी लगूंगी? क्या हाई हील सैंडल मुझ पर जंचेगी? अगर आप भी ऐसे ही सवालों के जवाब ढूंढ़ने के लिए या चीज़ों को महज़ ट्राई करने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग कर रही हैं, तो अपनी इस आदत को सुधारिए, वरना बहुत जल्द आप भी ओवर ऑनलाइन शॉपिंग करने वालों की लिस्ट में शामिल हो जाएंगी.

7) कूपन कोड के इस्तेमाल के लिए शॉपिंग
ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग साइट्स कूपन कोड ऑफर करती हैं, जिनके इस्तेमाल से अगली ख़रीददारी में ग्राहकों को 25% से 30% की छूट मिलती है. ऐसे में कुछ शॉपर्स अपनी ज़रूरत के लिए नहीं, बल्कि कूपन कोड को भुनाने के लिए शॉपिंग करते चले जाते हैं. यदि आप भी ऐसी बेवकूफी करती हैं, तो अपनी आदत बदल दीजिए.

8) जब याद न रहे कि कब ख़रीदा था
ऑनलाइन शॉपिंग किसी नशे से कम नहीं, जिन्हें एक बार इसकी लत लग जाती है, उन्हें शॉपिंग के अलावा और कुछ नज़र नहीं आता. कुछ शॉपर्स ऐसे भी होते हैं जो ऑनलाइन शापिंग के नशे में इस कदर डूब जाते हैं कि उन्हें याद ही नहीं रहता कि जो पैकेट आज डिलीवरी ब्वॉय लेकर आया है, वो उन्होंने कब ऑर्डर किया था. यदि आपका हाल भी कुछ ऐसा ही हाए, तो सतर्क हो जाइए.

9) हर दूसरे दिन डोर पर खड़ा हो डिलीवर ब्वॉय
जब आपके दरवाज़े पर हर दूसरे दिन डिलीवर ब्वॉय खड़ा रहने लगे या उसका आना-जाना इतना बढ़ जाए कि पड़ोसी भी उसे आपके घर का मेहमान समझने लगें, तो समझ जाइए कि अब आप शॉपिंग की लिमिट क्रॉस कर रही हैं.

10) जब बॉक्स से भर जाए पूरा घर
क्या आपने इस हद तक शॉपिंग कर ली है कि आपके घर के हर एक कोने में बॉक्स पड़े हुए हैं और आप उन्हें ठिकाने लगाने की सोच रही हैं, मगर समझ नहीं पा रहीं कि कहां रखें? अगर हां, तो बॉक्स ठिकाने लगाने की नहीं, बल्कि शॉपिंग बंद करने की सोचें.