Skin Care Myths

क्या आप जानती हैं कि कुछ गलत आदतें आपकी खूबसूरती बिगाड़ सकती हैं? यदि आप में भी हैं ये गलत आदतें, तो अपनी ये आदतें बदल दीजिए, नहीं तो आपकी बैड ब्यूटी हैबिट्स आपकी खूबसूरती बिगाड़ सकती हैं. आइए, हम आपको बताते हैं उन गलत आदतों के बारे में, जो आपके खूबसूरत चेहरे की रंगत बिगाड़ सकती हैं.

These Habits Can Spoil Your Beauty

ये आदतें बिगाड़ सकती हैं आपकी खूबसूरती

बार-बार चेहरे को छूना
आदत से मजबूर कुछ लड़कियां बार-बार अपने चेहरे को छूती रहती हैं. उन्हें नहीं पता कि हमारे हाथ न जाने कितने बैक्टीरिया वाली जगहों व चीज़ों को छूते हैं. हाथों में चिपके बैक्टीरिया, धूल-मिट्टी, तेल और पसीने को आप अनजाने में ही अपने चेहरे तक पहुंचा देती हैं और फिर शुरू होती हैं त्वचा संबंधी समस्याएं. इस आदत को सुधारकर आप अपनी कई स्किन प्रॉब्लम्स को ख़ुद ख़त्म कर सकती हैं.

मुंहासों को फोड़ना
मुंहासों को फोड़ने से प्रॉब्लम और बढ़ सकती है. दरअसल, ऐसा करने से उसमें मौजूद बैक्टीरिया त्वचा के और भीतर चले जाते हैं, जिससे चेहरे पर दाग़-धब्बे पड़ जाते हैं. दाग़-धब्बों रहित त्वचा चाहती हैं, तो प्यूरिफाइंग फेस मास्क लगाएं. रात को सोते समय मुंहासों पर टूथपेस्ट लगाकर भी आप इनसे जल्द छुटकारा पा सकती हैं.

बार-बार साबुन से चेहरा धोना
नर्म-मुलायम व सुंदर त्वचा की चाहत में बहुत-सी लड़कियां बार-बार साबुन से चेहरा धोने की ग़लती करती हैं. दरअसल, बार-बार साबुन से चेहरा धोने से त्वचा को प्राकृतिक रूप से सुरक्षा प्रदान करनेवाला तत्व सीबम निकलने लगता है, जिससे आप सनबर्न, ड्राई स्किन या असमय एजिंग की शुरुआत जैसी समस्याओं से परेशान हो सकती हैं. अपनी स्किन टाइप के अनुसार क्लींज़र चुनें और दिन में दो बार से ज़्यादा चेेहरा न धोएं.

पुराने मेकअप ब्रश इस्तेमाल करना
अक्सर बहुत-सी लड़कियों का ध्यान इस ओर जाता ही नहीं कि पिछले कुछ समय से वो जो मेकअप ब्रश इस्तेमाल कर रही हैं, उन्हें न तो कभी साफ़ किया है, न ही बदला है. दरअसल, उन्हें मालूम ही नहीं कि लगातार इस्तेमाल से ब्रश में मेकअप प्रोडक्ट्स की परत जम जाती है, जिससे वहां बैक्टीरिया व फंफूदी पनपने लगते हैं. ऐसे ब्रशेज़ के इस्तेमाल से आप इंफेक्शन या डर्मटाइटिस की शिकार हो सकती हैं. इसके अलावा गंदे ब्रशेज़ से मेकअप करने पर फ्लॉलेस फिनिश भी नहीं मिलती और न ही त्वचा हेल्दी रहती है. इसलिए सप्ताह में एक बार अपने मेकअप ब्रश को ज़रूर साफ़ करें.

यह भी पढ़ें: गर्मियों में दिखना है फ्रेश और गोरी, तो लगाएं ये 10 होममेड फेस पैक (Summer Skin Care: 10 Best Homemade Face Packs For Summer)

सनस्क्रीन लोशन न लगाना
आज भी ज़्यादातर लड़कियां घर से बाहर निकलते समय सनस्क्रीन लोशन नहीं लगातीं, जो ग़लत है. रोज़ाना सनस्क्रीन लोशन को नज़रअंदाज़ करके आप सनटैन और झुर्रियों को न्योता देती हैं, जो आपकी त्वचा के लिए बिल्कुल भी ठीक नहीं है. हर रोज़ घर से बाहर निकलने से पहले अच्छा एसपीएफयुक्त सनस्क्रीन लोशन ज़रूर लगाएं. साथ ही आप एसपीएफ युक्त मॉइश्‍चराइज़र भी इस्तेमाल कर सकती हैं.

मेकअप रिमूव न करना
रोज़ाना रात को सोने से पहले मेकअप रिमूव करना बहुत ज़रूरी है, अगर आप आलस के कारण मेकअप रिमूव नहीं करतीं, तो रातभर आपकी त्वचा सांस नहीं ले पाती. मेकअप रोमछिद्रों के ज़रिए त्वचा के अंदर चला जाता है, जिससे आंखों के नीचे कालापन और मुंहासों जैसी समस्याएं हो सकती हैं. इसलिए रोज़ाना रात को सोने से पहले चेहरे को क्लींज़ करके मॉइश्‍चराइज़ ज़रूर करें.

अक्सर बालों को आयरन या स्टाइल करना
आजकल मार्केट में कई हेयर स्टाइलिंग प्रोडक्ट्स मिलते हैं, जिनकी मदद से आप अपने बालों को बेहद आकर्षक व स्टाइलिश लुक दे सकती हैं. पर यह कभी-कभार किसी फंक्शन या पार्टी के लिए बढ़िया है, लेकिन अगर आप हर दूसरे दिन अपने बालों को हॉट ब्लो करेंगी या आयरन करेंगी, तो वो डैमेज होकर रूखे व बेजान होने लगेंगे. इसलिए ज़रूरत व ओकेज़न के अनुसार ही इनका इस्तेमाल करें.

बहुत ज़्यादा एक्सफोलिएट करना
एक्सफोलिएशन आपकी त्वचा से डेड सेल्स निकालकर उसे सॉफ्ट-स्मूद व हेल्दी बनाते हैैं, पर बहुत ज़्यादा स्क्रबिंग भी ठीक नहीं. यह आपको ओवर-सेंसिटिव और रेडिश स्किन के साथ-साथ त्वचा की गहराई में छोटे-छोटे व्हाइट हेड्स भी दे सकती है. इसलिए हफ़्ते में 1 या 2 बार ही एक्सफोलिएट करें और हेल्दी व ग्लोइंग त्वचा पाएं.

यह भी पढ़ें: डार्क सर्कल दूर करने के आसान घरेलू उपाय (Natural Home Remedies To Remove Dark Circles)

Skin Care Myths

* स्क्रब का इस्तेमाल करने से डेड स्किन निकल जाती है और स्किन सॉफ्ट हो जाती है. 

ऐसा नहीं है. स्क्रब के बहुत ज़्यादा इस्तेमाल से स्किन ड्राई हो सकती है. झुर्रियां और पिग्मेंटेशन बढ़ सकता है. इसलिए सबसे अच्छा उपाय यही है कि अपनी स्किन टाइप के अनुसार ही स्क्रबिंग करें. यदि आपकी स्किन ऑयली है, तो हफ़्ते में एक दिन से ज़्यादा स्क्रब न करें. यदि स्किन ड्राई है, तो दो से तीन हफ़्ते में एक बार स्क्रब किया जा सकता है.

Skin Care Myth

* स्किन को ख़ूबसूरत और फ्रेश बनाए रखने के लिए चेहरे को बार-बार धोना चाहिए.
कई महिलाएं सोचती हैं कि बार-बार चेहरा धोकर वे अपने चेहरे पर मौजूद धूल-मिट्टी व ऑयल को हटा रही हैं. कुछ हद तक तो यह सही भी है, पर बार-बार फेस वॉश करने से स्किन को पोषण देनेवाले ज़रूरी ऑयल्स भी हट जाते हैं, इसलिए स्किन को पीएच बैलेंस्ड सोप से ही धोएं और हल्के हाथों से पोंछें, ताकि त्वचा की नमी बरक़रार रहे.

* स्पाइसी और ऑयली खाने की वजह से ही मुंहासे होते हैं.
चेहरे पर मुंहासे सीबम द्वारा ऑयल के अधिक सेक्रीशन से आते हैं, जिस वजह से रोमछिद्र (स्किन पोर्स) बंद हो जाते हैं और मुंहासे होने लगते हैं. सीबम के अधिक सक्रिय होने के लिए केवल हमारे हार्मोंस ही ज़िम्मेदार होते हैं, न कि हमारा भोजन चॉकलेट, तेल-मसालेदार खाना, सोडा या फास्ट फूड.

* सन एक्सपोज़र केवल धूप में ही होता है.
कार, ऑफिस और घर की खिड़कियों से आनेवाली सूर्य की किरणों के अलावा बादलों वाले मौसम में जब सूरज दिखाई ही नहीं देता, तब भी अल्ट्रा वायलेट किरणें आपकी त्वचा को नुक़सान पहुंचाती हैं. इसलिए हमेशा 15 एसपीएफवाले सनस्क्रीन का इस्तेमाल ज़रूर करें.

* रिंकल रिमूविंग क्रीम से रिंकल्स (झुर्रियां) पूरी तरह से मिट सकती हैं.
उम्र बढ़ती है, तो त्वचा पर झुर्रियां यानी रिंकल्स आ ही जाते हैं, लेकिन यदि आप यह सोचती हैं कि रिंकल रिमूविंग क्रीम लगाने से आपकी झुर्रियां पूरी तरह मिट जाएंगी, तो यह सही नहीं है. हां, थोड़ा फ़र्क़ ज़रूर पड़ सकता है.

* प्रेग्नेंसी के दौरान बालों को कलर कराने में कोई नुक़सान नहीं है.
प्रेग्नेंसी के दौरान बालों को कलर कराने में विशेष सावधानी बरतनी पड़ती है. यदि आपको इससे एलर्जी की शिकायत हो, तो इस दौरान हेयर कलर न कराएं. बेहतर होगा कि आप इस दौरान केमिकल युक्त हेयर कलर के इस्तेमाल से बचें.

* अधिक पानी पीने से कॉम्प्लेक्शन निखरता है और स्किन ख़ूबसूरत होती है.
हम जो पानी पीते हैं, उसका बहुत थोड़ा हिस्सा ही सीधे हमारी स्किन तक पहुंचता है. लेकिन हक़ीक़त यह भी है कि जितना अधिक पानी हम पीते हैं, उतनी ही अधिक मात्रा में हमारे शरीर से टॉक्सिन्स बाहर निकलते हैं, जिससे हमारी स्किन ग्लो करती है.

* कुछ लोगों का मानना है कि महंगी क्रीम सस्ती क्रीम से ज़्यादा इफेक्टिव होती है.
शॉप्स पर मिलनेवाली क्रीम्स में महंगे या सस्ते द्वारा अच्छी क्रीम होने का अंदाज़ा लगाने की बजाय आप उसके इंग्रेडिएन्ट्स (उसमें मौजूद तत्व) देखें. यदि इंग्रेडिएन्ट्स एक से हैं, तो इनका प्रभाव भी एक-सा ही होगा.

* क्रीम का इस्तेमाल करके रोमछिद्रों (पोर्स) को छोटा कर सकते हैं यानी वे सिकुड़ सकते हैं.
अब तक ऐसी कोई स्किन क्रीम नहीं बनी है, जो स्किन के पोर्स को छोटा कर सके. उम्र बढ़ने के साथ इन पोर्स का बड़ा होना तय है.

* स्किन की ख़ूबसूरती के लिए चेहरे को हमेशा गर्म पानी से धोना चाहिए.
गर्म पानी चेहरे की स्किन को नुक़सान पहुंचा सकता है, इसके लिए गुनगुने पानी का इस्तेमाल करना बेहतर है.

healthy skin

* ख़ूबसूरत स्किन जिनेटिक देन है.
हां, यह कुछ हद तक सही है, पर स़िर्फ इसलिए कि आपकी मां की स्किन बेहद ख़ूबसूरत और अच्छी है, तो आपकी भी होगी, ऐसा नहीं है. इसलिए बेहतर होगा कि आप अपनी स्किन के प्रति लापरवाही न बरतें.

* यह एक आम मिथ है कि गर्मियों में स्किन वैसे ही ऑयली रहती है, इसलिए इसे अतिरिक्त मॉइश्‍चराइज़र की ज़रूरत नहीं रहती.
यदि आपकी स्किन ऑयली है, तब भी आपको वॉटर बेस या माइश्‍चराइज़र जेल का इस्तेमाल करना चाहिए.

  – ऊषा गुप्ता