soldiers

Anupam Kher

अनुपम खेर का फूटा गुस्सा. कश्मीरी युवाओं द्वारा सेना के जवानों के साथ दुर्व्यवहार वाले वीडियो पर अनुपम खेर से नाराज़गी जताई है और इस घटना की निंदा की है. अनुपम ने उन लोगों पर निशाना साधते हुए जो इस वीडियो को देखकर भी चुप हैं, कहा है कि कई बार राष्ट्रवाद दिखाना भी ज़रूरी होता है. करीना अरोड़ा की बुक द स्पिरिट ऑफ द रीवर के लॉन्च के मौक़े पर अनुपम ने ये बातें कहीं. बेबाक अनुपम ने कहा जब भी कोई देश के लिए बोलता है उसे आरएसएस या बीजेपी से जोड़ दिया जाता है. उन्होंने कड़े शब्दों में कहा कि हम अपने दिलों में राष्ट्रवाद को रखते हैं, लेकिन मुझे लगता है कि कभी-कभी राष्ट्रवाद दिखाना ज़रुरी हो जाता है.

श्रीनगर में उपचुनाव के दौरान बड़गाम ज़िले में सैनिकों के साथ हुए बुरे बर्ताव के इस वायरल वीडियो से अनुपम इतने आहात हुए है कि उन्होंने ने ये तक कह दिया कि हम जवानों को बेटों, पतियों और पिताओं के रूप में नहीं, बल्की वर्दी पहने हुए एक व्यक्ति के रुप में देखते हैं.

मानवाधिकारों के बारे में बात करने वाले लोगों पर निशाना साधते हुए अनुपम ने कहा कि अब ये वीडियो देखकर ये खामोश क्यों हैं? इन लोगों ने सैनिकों के बारे में तब बातें क्यों की, जब सेना ने नौ लोगों को डूबने से बचाया था.

कश्मीरी लोग सेना और आतंकवादियों, दोनों के हाथों मारे जा रहे हैं, इस बयान को भी अनुपम ने बेहद ही बेवकूफी भरा बताया है.

AK21478593068_bigअक्षय कुमार न केवल देशभक्ति पर बेस्ड फिल्में करते हैं, बल्कि उनमें देशभक्ति का जज़्बा भी है. चाहे किसानों की मदद के लिए हाथ बढ़ाना हो, पाकिस्तान में हुए सर्जिकल स्ट्राइक पर सेना को सपोर्ट करना हो या फिर देश सेवा का कोई दूसरा मौक़ा हो, अक्की हर वक़्त देश के लिए हाजिर रहते हैं. अब अक्षय कुमार जम्मू एवं कश्मीर में सीमा सुरक्षा बल (BSF) के बेस कैंप तक पहुंच गए. अक्षय ने वहां मौजूद जवानों से मुलाकात की, साथ ही सीज़फायर उल्लंघन और मुठभेड़ में मारे गए सैनिकों को श्रद्धांजलि भी दी. उन्होंने कहा, “मैं यहां उन्हें यह बताने आया हूं कि पूरे देश को उन पर गर्व है और हम सभी इनके साथ मज़बूती से खड़े हैं.” akshay-kumar-759

जवानों को देश का रियल हीरो बताते हुए अक्षय ने कहा, ”मैं तो एक रील हीरो हूं, फिल्मी हीरो, आप लोग रियल हीरो हैं, मैं तो नकली बंदूको से खेलता हूं, आप असली बंदूकों से खेलते हैं, उसका इस्तेमाल करते हैं, मैं कहता हूं कि मुझे वहां नीचे होना चाहिए और आप लोगों को इस मंच पर.”