solo travelling

दुनिया में कई लोग हैं जो एक समूह के साथ किसी यात्रा (Trip) पर जाना पसंद करते हैं, जबकि कई लोग ऐसे भी हैं जो हर सफर पर अकेले (सोलो) ही निकलना चाहते हैं, अगर आप भी अकेले कहीं जाना पसंद करते हैं, तो ये टूरिस्ट डेस्टिनेशन्स (Tourist Destination) आपके लिए परफेक्ट हैं..

Tourist Destination For Solo Travelling

धर्मशाला

Dharamshala

 हिमालय की धौलाधार पर्वत श्रृंखलाओं में बसा धर्मशाला हिमाचल प्रदेश का एक जाना-माना टूरिस्ट स्पॉट है. सालभर देसी और विदेशी टूरिस्टों का जमावड़ा यहां लगा रहता है. पास में बीड़ और बीलिंग गांव हैं, जहां पैरा-ग्लाइडिंग करने निकल जाएं. ट्रेकिंग का मन हो तो त्रियुंड चले जाएं. टेंट में रहने का मन हो तो त्रियुंड में कैंपिंग भी की जा सकती है. नजदीकी रेलवे स्टेशन पठानकोट है और एयरपोर्ट है गग्गल, कांगड़ा.

ऋषिकेश

Rishikesh

किसी आश्रम में जाकर योग और ध्यान करना चाहते हों या गंगा की तेज धाराओं में राफ्टिंग, तो ऋषिकेश में आपका स्वागत है. यहां आएंगे तो आपको अपनी तरह के कितने ही सोलो ट्रैवलर्स अपना बैकपैक टांगे नजर आ जाएंगे। भारत आने वाले ज्यादातर विदेशी बैकपैकर्स ऋषिकेश जरूर आते हैं. मन करे तो यहां से लोकल बस पकड़कर उत्तराखंड के पहाड़ों में कहीं भी निकल जाएं। नजदीकी रेलवे स्टेशन ऋषिकेश है और एयरपोर्ट है जॉली ग्रांट, देहरादूऩ.

ये भी पढ़ेंः बीच वेकेशन के लिए दमन-दीव जाएं (Top 5+ Beaches In Daman And Diu)

सिक्किम

Sikkim

पूर्वोत्तर में भारत का छोटा-सा राज्य सिक्किम सोलो ट्रैवलर्स के लिए काफी सुरक्षित है। चारों तरफ हिमालय है, जहां चाहे निकल जाएं. आने-जाने के लिए टैक्सी रिजर्व कर सकते हैं. कम पैसों में घूमना हो तो शेयर्ड टैक्सी ले सकते हैं. राजधानी गंगटोक में होटलों और गेस्टहाउसों की कमी नहीं है. पेलिंग, लाचेन, लाचुंग, गुरूडोंगमार झील और नाथू ला जैसी जगहें जरूर जाएं. यहां जैसे नजारे शायद ही कहीं और मिलें. यहां के लिए नजदीकी रेलवे स्टेशन न्यू जलपाईगुड़ी है और एयरपोर्ट है बागडोगरा.

मणिपुर

Manipur

सुदूर पूर्वोत्तर भारत में मणिपुर भी कम खूबसूरत नहीं है. हालांकि यह जगह अनुभवी सोलो ट्रैवलर्स के लिए सही है. उखरूल की पहाड़ियों में शिरोय चोटी से म्यांमार के पहाड़ साफ देखे जा सकते हैं. भारत के अंतिम गांव मोरे से भारतीय एक दिन के लिए म्यांमार में बिना वीजा आ-जा सकते हैं. मणिपुर के साथ म्यांमार की झलक भी देखने को मिल जाए, तो सोने पे सुहागा. तामेंगलॉन्ग की पहाड़ियों पर होने वाले संतरों की मिठास नागपुर के संतरों से कम नहीं है. नागा और दूसरी जनजातियों के किसी भी गांव में जाना न भूलें. नजदीकी रेलवे स्टेशन दीमापुर है और एयरपोर्ट इम्फाल.

केरल

Kerala

शुरुआती सोलो ट्रैवलर्स के लिए केरल मुफीद जगह है. इस छोटे-से राज्य में पब्लिक ट्रांसपोर्ट की अच्छी सुविधा है. एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए सड़क, रेल और यहां तक कि स्टीमर से भी यात्रा कर सकते हैं. एक तरफ मुन्नार की पहाड़ियों पर फैले चाय के बागान हैं तो दूसरी तरफ एलेप्पी के बैकवाटर्स. कोवलम और वरकला के बीच विदेशी टूरिस्टों को बहुत लुभाते हैं. एर्णाकुलम/कोचीन और तिरुवनंतपुरम में बड़े रेलवे स्टेशन और इंटरनैशनल एयरपोर्ट हैं.

जैसलमेर

Jaisalmer

 सोने जैसी रेत वाला रेगिस्तान, किले, हवेलियां और राजसी ठाठबाट की झलक देखनी हो तो चलिए भारत के पश्चिमी कोने में. दिन में जैसलमेर किला देखने के बाद सम के रेगिस्तान की ओर निकल जाएं. शाम को वहां मीलों फैले रेगिस्तान में ऊंट की सवारी करते हुए रेत के टीलों के पीछे ढलते सूरज को देखने का अहसास अलौकिक होता है. रात में रेगिस्तान में तारों भरे आसमान के नीचे कैंपिंग कर सकते हैं. दूर-दूर तक शहरी चकाचौंध का नामोंनिशान नहीं मिलेगा. केर-सांगरी की सब्जी, दाल बाटी और चूरमा खाने को मिल जाए तो समझिए आपकी यात्रा सफल हो गई. नजदीकी रेलवे स्टेशन जैसलमेर है और एयरपोर्ट है जोधपुर.

ये भी पढ़ेंः छुट्टियों में करें अंडमान की सैर (Andaman: Enjoy Your Vacation At This Island)