Sonu Sood

लॉकडाउन के दौरान सोनू सूद का अलग ही व्यक्तित्व उभरकर आया और वो बन गए ग़रीबों के मसीहा. जब जहां से जो भी मदद मांगता सोनू उनकी मदद के लिए आगे हाथ बढ़ा देते. सोनू को इस काम के लिए काफ़ी वाहवाही और लोगों का प्यार भी मिला. इसके बाद भी सोनू कई तरह के समाजिक काम करते रहे, कभी किसी बच्चे के इलाज के लिए आगे आए तो कभी किसी की अन्य मदद के लिए… लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जिन्हें सोनू की नेकी रास नहीं आ रही और वो इसे शक की निगाह से देख रहे हैं.

Sonu Sood

ऐसा ही एक बंदा ट्वीटर पर सोनू से सवाल करने लगा और उनकी मंशा पर संदेह जताने लगा. उसने लिखा- एक नया ट्विटर अकाउंट, सिर्फ 2 या 3 ही फॉलोअर, एक ही ट्वीट, कभी सोनू को टैग भी नहीं किया… कोई लोकेशन नहीं, कोई कॉन्टैक्ट डीटेल, इमेल एड्रेस नहीं, पर फिर भी सोनू ने इस ट्वीट को ढूंढ लिया और मदद की पेशकश की. पीआर टीम इसी तरह काम करती है.
पहले भी जो हैंडल्स मदद मांगने आए थे, वे सब अपने ट्वीट डिलीट कर चुके हैं. कुल मिलाकर इस बंदे ने सोनू की मदद को पीआर स्टंट बता दिया.

Sonu Sood
Sonu Sood

सोनू ने भी इसे जवाब देने में देर नहीं की, सोनू ने रसीद और टेस्ट्स की रिपोर्ट्स के स्क्रीन शॉट शेयर करते हुए लिखा- ये सही है भाई, मैंने ज़रूरतमंद को खोजा और उन्होंने ने भी किसी तरह मुझे ढूँढ लिया, ये सब इरादों की बात है जो तुम नहीं समझोगे! आगे सोनू ने लिखा कि वो मरीज़ कल अस्पताल में होगा बेहतर होगा उसके लिए कुछ फल भेज दें, 2-3 फॉलोअर वाला व्यक्ति भी बहुत खुश होगा, जब उसे कई फॉलोअर्स वाले व्यक्ति से कुछ प्यार मिलेगा…

Sonu Sood

लेकिन हैरानी की बात यह है कि यह व्यक्ति इसके बाद भी बाल की खाल निकालते हुए सोनू पर सवाल उठाता रहा और अपनी बात को सही साबित करने के लिए मदद माँगने की तारीख़, मदद की पेशकश की तारीख़ ढूँढता रहा और कहता रहा कि आपने पहले से इलाज करवा रहे किसी व्यक्ति को मदद का आश्वासन दिया. यह सब पीआर स्टंट ही है और आप फ़र्ज़ी काम कर लोगों को धोखा दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: ना अश्लील डायलॉग, ना फूहड़ता, अपनी नेचुरल कॉमेडी से दर्शकों को खूब हंसाया और जीता सबका दिल इन 12 क्लासिक हास्य कलाकारों ने! (12 Classic Bollywood Comedians Who Made Us Laugh Really Hard)


बॉलीवुड में एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर नई बात नहीं है. दिलीप कुमार से लेकर अमिताभ बच्चन तक, अजय देवगन से लेकर आमिर खान तक, ऐसे कई बॉलीवुड एक्टर्स हैं, जिनके शादी के बाद भी अफेयर रह चुके हैं, लेकिन इन सबके बीच कुछ एक्टर्स ऐसे भी हैं, जो शादी के बाद अपनी वाइफ के प्रति लॉयल रहे और शादी के बाद अफेयर तो दूर की बात है, इनका नाम भी कभी किसी फीमेल से नहीं जुड़ा.

1. सोनू सूद ने भले ही बॉलीवुड में बतौर विलन पहचान बनाई हो, लेकिन वो इतने हैंडसम हैं और इतनी बेहतरीन पर्सनालिटी है उनकी कि लड़कियां उन पर जान छिड़कती हैं. यहां तक कि जब सोनू सूद कोरोना काल में लोगों की मदद कर रहे थे, तो सोशल मीडिया पर कई लड़कियां उन्हें मैरेज प्रोपोजल भेजा करती थीं, लेकिन सोनू इंडस्ट्री में एंट्री लेने से पहले ही अपनी कॉलेज लव सोनाली के साथ शादी के बंधन में बंध चुके थे. और इंडस्ट्री में इतना नाम कमाने के बाद भी सोनू ने कभी अपनी वाइफ के साथ चीटिंग नहीं की और उनका नाम किसी एक्ट्रेस या लड़की के साथ कभी नहीं जुड़ा.

Sonu Sood



2. अभिषेक बच्चन-ऐश्वर्या की शादी को 13 साल हो चुके हैं. ऐश्वर्या से शादी होने से पहले अभिषेक ने करिश्मा कपूर और रानी मुखर्जी को डेट किया था. करिश्मा से तो अभिषेक की एंगेजमेंट भी हो गई थी, लेकिन फैमिली इश्यूज की वजह से दोनों की शादी नहीं हो पाई. रानी मुखर्जी ने भी बच्चन फैमिली की बहू बनने का सपना देखा था, लेकिन आखिर बच्चन परिवार की बहू बनीं ऐश्वर्या रॉय. ऐश्वर्या से शादी के बाद अभिषेक ने कभी किसी लड़की की तरफ आंख उठाकर भी नहीं देखा और पूरी तरह से फैमिली मैन बन गए. उनके लिए ऐश्वर्या और बेटी आराध्या ही उनकी पूरी दुनिया है.

Abhishek Bachchan-Aishwarya



3. लॉयल हस्बैंड की लिस्ट में शाहिद कपूर भी शामिल हैं. शाहिद भी पहले दिलफेंक आशिक हुआ करते थे, लेकिन जब से मीरा राजपूत उनकी ज़िंदगी में आई हैं और दोनों की शादी हुई है, तब से शाहिद कपूर भी परफेक्ट हस्बैंड बन गए. करीना से लेकर प्रियंका चोपड़ाऔर विद्या बालन तक, शादी से पहले शाहिद के रोमांस के कई किस्से थे, लेकिन शादी के बाद उनके दिल पर सिर्फ और सिर्फ मीरा ही राज करती हैं.

Shahid Kapoor



4. रितेश देशमुख को वन वुमन मैन कहा जाए, तो गलत नहीं होगा. रितेश और जेनेलिया बॉलीवुड के परफेक्ट कपल्स में से एक हैं. 10 साल तक डेट करने के बाद दोनों ने शादी की थी. शादी के इतने साल बीत जाने के बाद भी रितेश की किसी एक्ट्रेस के साथ लिंक अप की खबर तक नहीं आई.

Ritesh Deshmukh



5. लॉयल हस्बैंड की लिस्ट में बॉलीवुड के अन्ना सबसे टॉप पर हैं. शादी के 39 साल बाद भी वो परफेक्ट हस्बैंड ही कहलाते हैं. 90 के दशक में जब बतौर एक्शन हीरो सुनील शेट्टी ने बॉलीवुड में एंट्री ली थी, तो न जाने कितनी लड़कियां उन पर फिदा थीं. यहां तक कि ये जानते हुए भी कि सुनील शेट्टी शादीशुदा हैं, सोनाली बेंद्रे उन्हें दिल दे बैठी थीं, लेकिन सुनील अपनी पत्नी माना के प्रति इतने लॉयल हैं कि उन्होंने सोनाली के साथ अपने रिश्ते को दोस्ती से आगे कभी नहीं बढ़ने दिया.

Sunil Shetty



6. बॉबी देओल भी परफेक्ट हस्बैंड की लिस्ट में शामिल हैं. बॉबी देओल और तान्या की शादी को 24 साल हो चुके हैं. बॉबी न सिर्फ तान्या को दिलो जान से चाहते हैं, बल्कि उनके होम डेकोर के बिजनेस में उन्हें पूरा सपोर्ट भी करते हैं. तान्या पॉपुलर इंटीरियर डिज़ाइनर हैं.

Bobby deol

टीवी शो मन की आवाज़- प्रतिज्ञा में ठाकुर सज्जन सिंह की भूमिका निभानेवाले एक्टर अनुपम श्याम पिछले कई महीनों से किडनी की समस्या से जूझ रहे थे. सोमवार रात अचानक तबियत ज़्यादा ख़राब हो जाने के कारण उन्हें गोरेगांव के लाइफ लाइन अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां उन्हें आईसीयू में रखा गया है. आर्थिक बदहाली से गुज़र रहे उनके परिवार की मदद के लिए सिने एंड टीवी आर्टिस्ट असोसिएशन ने ट्वीट किया था, जिसमें उन्होंने सोनू सूद और आमिर खान को टैग किया था. जहां सोनू सूद ने तुरंत मदद का हाथ बढ़ाया, वहीं आमिर खान की तरफ़ से अभी तक कोई जवाब नहीं आया है. मनोज बाजपेयी भी उनकी मदद के लिए आये आगे.

Anupam Shyam

आपको बता दें कि अनुपम श्याम पिछले कई सालों से टीवी और फिल्मों में काफी एक्टिव हैं. अक्सर नकारात्मक भूमिका निभानेवाले अनुपम श्याम पिछले छह महीनों से किडनी की समस्या से जूझ रहे थे. दरअसल उनकी किडनी में इंफेक्शन हो गया था, जिसके लिए करीब डेढ़ महीने तक हिंदुजा अस्पताल में उनका इलाज कराया गया. तब उनकी तबीयत ठीक हो गयी थी, पर डॉक्टर ने उन्हें नियमित समय पर डायलिसिस की सलाह दी थी. पर क्योंकि डायलिसिस का ख़र्च ज़्यादा होता है, तो उन्होंने आयुर्वेदिक इलाज लेना शुरू किया. पर डायलिसिस न करवाने के कारण उनकी छाती में पानी भर गया था, जिससे उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने लगी और सोमवार रात को वो अचानक बेहोश होकर गिर पड़े. हिंदुजा की बजाय उन्हें नज़दीकी अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका डायलिसिस फिर से शुरू किया गया है. उनके भाई ने बताया कि डॉक्टर ने उन्हें किडनी ट्रांसप्लांट की सलाह दी है.

मसीहा के रूप में उभरे सोनू सूद ने तुरंत ट्वीट क् जवाब दिया और उनकी मदद के हाथ आगे बढ़ाया. वहीं इस ट्वीट के बाद एक्टर मनोज बाजपेयी भी अनुपम श्याम की मदद के लिए आगे आये और उन्होंने उनके इलाज के लिए 1 लाख रुपये की मदद दी. अनुपम श्याम के भाई अनुराग ने समाचारपत्र से हुई बातचीत अनुपम श्याम की तबियत के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि इलाज के कारण अब उनकी तबीयत पहले से बेहतर है. उन्होंने सोनू सूद और मनोज बाजपेयी के तुरंत मदद की सराहना की और उन्हें धन्यवाद कहा. साथ ही अनुपम श्याम के कई और दोस्त भी मदद के लिए आगे आये हैं.

अनुपम श्याम के भाई अनुराग ने बताया कि अनुपम श्याम पिछले 40 सालों से डायबिटीज से जूझ रहे हैं और साथ ही उन्हें हाई बीपी की समस्या भी है. बीच में उन्हें हार्ट प्रॉब्लम भी होने लगी तो, डॉक्टर ने बताया कि हार्ट में ब्लॉकेज है. जिसके लिए उन्हें काफ़ी हैवी दवा शुरू की गई, जिसका उनकी किडनी पर असर पड़ा.

मन की आवाज़ प्रतिज्ञा से पहचान बनानेवाले अनुपम श्याम ने सत्या, प्यार तो होना ही था, कच्चे धागे, नायक-द रियल हीरो और मुन्ना माइकल जैसी फिल्मों में नज़र आए. इसके अलावा वो टीवी शोज़ हमने ली है शपथ, डोली अरमानों की और हाल ही में कृष्णा चली लंदन में नज़र आये थे.

यह भी पढ़ें: सुशांत केस में रिया चक्रवर्ती के ख़िलाफ़ FIR के बाद अंकिता लोखंडे ने पोस्ट किया- Truth Wins यानी सत्य की जीत! (Sushant Singh Rajput Case: Ankita Lokhande Says Truth Wins)

सोनू सूद आज यानी 30 जुलाई को अपना 47वां जन्मदिन मना रहे हैं. लॉकडाउन के दौरान हज़ारों प्रवासी मजदूरों की मदद करके लोगों का दिल जीत चुके सोनू अपने जन्मदिन के अवसर पर भी लोगों की मदद करने का सिलसिला जारी रखेंगे.

Sonu Sood


– अपने जन्मदिन के मौके पर सोनू ने देशभर में जरूरतमंद लोगों के लिए फ्री मेडिकल कैंप लगवाने का फैसला किया है.
– इस फ्री मेडिकल कैम्प के आयोजन के लिए वे उत्तर प्रदेश, झारखंड, पंजाब और ओड़िशा के कई डॉक्टर्स के संपर्क में हैं, जहां लोग आकर अपना चेकअप करा सकेंगे.
– इन मेडिकल कैम्प्स के ज़रिए 50 हजार से ज्यादा लोग फ्री में अपना हेल्थ चेकअप करवा सकेंगे.
– इसके अलावा जैसे ही सोनू को पता चला कि टीवी सीरियल ‘मन की आवाज प्रतिज्ञा’ में ठाकुर सज्जन सिंह के रोल से फेमस हुए अभिनेता अनुपम श्याम ओझा मुंबई के एक अस्पताल के आईसीयू वार्ड में हैं और उन्हें इलाज के लिए फाइनेंसियल हेल्प की ज़रूरत है तो सोनू ने तुरंत मदद करने का आश्वासन दे दिया.

सोनू सूद: हर तरफ किस्से उनके, चर्चे उनके

Sonu Sood


– रील लाइफ में अक्सर विलेन बनकर दिल जीतने वाले सोनू सूद रियल लाइफ में लाखों लोगों के लिए मसीहा साबित हुए हैं.
– उन्होंने लॉकडाउन में प्रवासियों को उनके घर तक पहुंचाने में कड़ी मेहनत की. वह खुद सड़कों पर डटे रहे और हर छोटी-छोटी बात का ख्याल खुद रखा.
– उन्होंने लोगों के लिए बसों से लेकर खाने-पीने तक की चीजों तक का इंतजाम किया.
– इतना ही नहीं सोनू ने कुछ दिन पहले प्रवासियों के लिए नई पहल की शुरुआत की है. उन्होंने रोजगार ढूंढने वालों के लिए ‘प्रवासी रोजगार’ ऐप शुरू किया. ये ऐप प्रवासियों को रोजगार संबंधी आवश्यक जानकारी और जॉब से संबंधित सही लिंक प्रदान करेगा. ये ऐप देशभर के विभिन्न क्षेत्रों में रोजगार के अवसर ढूंढने वाले श्रमिकों की मदद करेगा.
– अब तो हालत ये हो गयी है कि देश भर में किसी को किसी भी तरह की मदद की ज़रूरत होती है, तो लोग सोनू को याद कर लेते हैं. सोनू भी किसी को निराश नहीं करते और तुरन्त उनकी मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा देते हैं.

Sonu Sood


– पिछले कुछ वक्त में सोनू सूद को सोशल मीडिया पर सुपरहीरो से लेकर भगवान तक कहा जाने लगा है.
 – सोनू के नेक कामों को देखते हुए लोग उन पर जमकर प्यार लुटा रहे हैं.
– सोनू को लोग इस कदर पसन्द करने लगे हैं कि किसी ने अपनी दुकान का नाम सोनू के नाम पर रख लिया तो किसी ने सोनू सूद की मूर्ति बनाकर मंदिर बनाना चाहा.
– यहां तक कि एक महिला, जिसे प्रेगनेंसी में बिहार पहुंचाने में सोनू ने मदद की थी, उस महिला ने अपने बच्चे का नाम ही सोनू सूद रख दिया.
– इस मुसीबत की घड़ी में जिस तरह से सोनू लोगों की मदद कर रहे हैं, उसे देखते हुए कुछ लोगों ने उन्हें महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनाने की तक की मांग कर दी थी.
– कुछ लोग उन्हें पद्मभूषण देने की बात कर रहे हैं.


जानें सोनू की पर्सनल लाइफ के बारे में कुछ दिलचस्प बातें

Sonu Sood


– सोनू बचपन से ही एक्टर बनना चाहते थे, पर पैरेंट्स के कहने पर उन्होंने नागपुर में इंजीनियरिंग में ऐडमिशन ले लिया.
– वो इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियर भी बन गए, लेकिन एक्टिंग का नशा उन पर बना ही रहा और वो मां से ये कहकर मुम्बई आ गए कि उन्हें बस एक साल का समय दें, अगर इस एक साल में वो एक्टिंग में कुछ नहीं कर पाए तो आकर पापा की कपड़े की दुकान संभाल लेंगे.
– सोनू ने पिछले 10 सालों से बर्थडे सेलिब्रेट नहीं किया. इसके पीछे बड़ी ही इमोशनल वजह है. दरअसल सोनू अपनी माँ से बहुत प्यार करते थे. इसलिए जब से उनकी मां का निधन हुआ है, इसके बाद उन्होंने कभी बर्थडे सेलेब्रेट नहीं किया.
– इंजीनियरिंग पूरी करने के बाद सोनू ने मॉडलिंग की शुरुआत की और मिस्टर इंडिया कॉन्टेस्ट में भी हिस्सा लिया.
– सोनू सूद बिग बी अमिताभ बच्चन से भी लम्बे हैं. जहां बिग बी की हाइट 6 फ़ीट है, वहीं सोनू 6 फीट 1 इंच के हैं.
– सोनू मुंबई में अपनी पत्नी सोनाली और दो बेटों अयान और ईशांत के साथ रहते हैं. सोनू की पत्नी और दोनों बच्चे लाइमलाइट से दूर रहते हैं. 


– बॉलीवुड में आने से पहले सोनू सूद करीब दो साल तक साउथ इंडियन फिल्मों में काम करते रहे.
– सोनू की पहली हिंदी फिल्म 2002 में आई ‘शहीद ए आजम’ थी, जिसमें उन्होंने भगत सिंह का किरदार निभाया था.
– सोनू ने तमिल, तेलुगु, कन्नड़, हिंदी और पंजाबी फिल्में भी की हैं.


– सोनू सूद को असली पहचान मिली 2010 में रिलीज हुई फिल्म ‘दबंग’ में छेदी लाल के रोल से. इस फ़िल्म के लिए उन्हें आईफा अवॉर्ड से भी नवाजा गया.
– बेहतरीन अभिनेता होने के साथ ही सोनू सूद अच्छे डायलॉग भी लिख भी लेते हैं. फिल्म ‘दबंग’ का फेमस डायलॉग ‘हम तुममें इतने छेद करेंगे’ सोनू ने ही लिखा है.
– फ़िल्म का छेदी सिंह का एक और पॉपुलर डायलॉग ‘कानून के हाथ और छेदी सिंह की लात, दोनों बहुत लंबी है भैया’ भी सोनू ने ही लिखा था.

कोरोना वायरस से जब पूरी दुनिया जूझ रही थी और सब लोग घरों में लॉकडाउन थे, तब बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद हजारों लोगों की मदद कर रहे थे. कोरोना काल में सोनू सूद मुसीबत में फंसे लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आए और उनकी मदद की. सोनू सूद ने हज़ारों प्रवासी मज़दूरों को उनके घरों तक पहुंचाने का नेक काम किया, जिससे आम जनता उनकी कायल हो गई. अब सोनू सूद अब किसान की मदद के लिए आगे आए हैं और उन्होंने मदद का ऐलान भी कर दिया. है.

Sonu Sood

सोनू सूद ने बेटियों से खेत जुतवा रहे किसान की मदद का ऐलान किया है
इन दिनों सोशल मीडिया पर एक किसान और उसके परिवार का एक वीडियो बहुत तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में एक किसान अपनी दो बेटियों को बैल की जगह रखकर उनसे खेत जुतवा रहा है. वीडियो देखकर साफ पता चल रहा है कि पैसे की तंगी के कारण ये परिवार बैल नहीं खरीद पा रहा होगा, इसीलिए मजबूरन बेटियों को बैल की जगह रखकर उनसे खेत जुतवाया जा रहा है. बता दें कि किसान का ये वीडियो आंध्र प्रदेश का है. इस वीडियो को देखकर किसी का भी दिल पसीज जाएगा. ऐसे में सोनू सूद की नज़र इस वीडियो पर पड़ी और उन्होंने वीडियो देखने के बाद तुरंत किसान के परिवार की मदद करने का फैसला किया. सोनू सूद ने इस वीडियो पर ट्वीट के जरिए प्रतिक्रिया दी है और किसान परिवार को दो बैल देने की बात कही है.

सोनू सूद ने अपने ट्वीट में लिखा है, ‘कल सुबह से दो बैल इसके खेत जोतेंगे. इन बच्चियों को पढ़ने दें. किसान हमारे देश का गौरव हैं, उनकी रक्षा करें.’
सोनू सूद का ये ट्वीट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. सोनू सूद के इस फैसले से उनके फैन्स बहुत खुश हैं और उनके ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: कंगना रनौत ने सुशांत सिंह राजपूत का वीडियो शेयर कर करीना कपूर पर ऐसे निशाना साधा (Kangana Ranaut Take An Indirect Dig At Kareena Kapoor)

जैसा कि सोनू सूद ने प्रॉमिस किया था, उन्होंने अपना वादा पूरा किया और किसान के लिए ट्रैक्टर भिजवा दिया. सोनू सूद ने ट्वीट करके इसकी जानकारी दी है. सोनू ने अपने ट्वीट में कहा है, इस परिवार के लिए बैल की बजाय ट्रैक्टर सही है.

सोनू सूद ने एक और मदद ये भी की है
सोनू सूद ने हाल ही में माउंटेनमैन के नाम से पहचाने जाने वाले दशरथ मांझी के परिवार के लिए भी मदद का हाथ आगे बढ़ाया. इस मदद की शुरुआत ऐसे हुई. दरअसल ट्विटर पर एक फैन ने सोनू सूद को टैग करते हुए एक अखबार की कटिंग के साथ दशरथ मांझी के परिवार की मदद के लिए गुहार लगाई थी. सोनू सूद ने इस ट्वीट का जवाब देते हुए कहा, ‘आज से तंगी ख़त्म. आज ही हो जाएगा भाई.’ सोनू का ये ट्वीट भी बहुत तेजी से वायरल हुआ. और हर किसी ने सोनू की तारीफ की.

बॉलीवुड और टॉलीवुड फिल्मों में विलेन का किरदार निभानेवाले सोनू सूद इस महामारी की मुसीबत में फंसे लोगों के लिए रियल हीरो बनकर उभरे हैं. बता दें कि पिछले के महीनों में सोनू सूद ने उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, तमिलनाडु और देहरादून के लोगों को कभी बस, कभी ट्रेन, तो कभी फ्लाइट के ज़रिए उनके घरों तक पहुंचने में मदद की है. मुसीबत की इस घड़ी में वो ऐसे लोगों के लिए किसी मसीहा से कम नहीं हैं.

यह भी पढ़ें: सोनू सूद एक बार फिर बने मसीहा, किर्गिस्तान में फंसे स्टूडेंट्स के लिए कर रहे हैं चार्टर फ्लाइट्स का इंतज़ाम (Bollywood Actor Sonu Sood Arranges Charter Flights For Indian Students In Kyrgyzstan)

आज नागपंचमी के दिन एकता कपूर को अपना नाग आख़िर मिल ही गया. जी हां, एकता कपूर के नागिन सीरियल के पांचवे सीजन में नाग की भूमिका में नज़र आएंगे धीरज धूपर. यह वही धीरज हैं, जिन्होंने ‘ससुराल सिमर का’ और ‘कुंडली भाग्य’ में अपने अभिनय का जौहर दिखाया था. वे अपने इस नई भूमिका को लेकर काफ़ी उत्साहित और रोमांचित हैं. उनके अनुसार, उन्होंने अब तक इस तरह की कोई भूमिका नहीं की है, इसलिए अपने इस सीरियल की शूटिंग को लेकर वे काफ़ी उत्सुक हैं.
धीरज का कहना है कि उन्हें हमेशा ही नागिन सीरियल के किरदार, भव्य सेट, नागिन के रूप में ख़ूबसूरत अभिनेत्रियों के नृत्य लुभाते रहे हैं. उन्हें काफ़ी पसंद करते रहे हैं. वे ख़ुद भी चाहेंगे कि नाग की भूमिका में उनका भी डांस परफॉर्मेंस हो. उनका मानना है कि इस तरह के चमत्कारिक शो में स्पेशल इफेक्ट्स का भी भरपूर इस्तेमाल होता है, उसी के अनुसार थोड़ी अधिक मेहनत करनी पड़ती है.
धीरज की पत्नी विन्नी भी काफ़ी उत्साहित हैं, उनकी इस भूमिका को लेकर. एकता कपूर का कहना है कि अगर लॉकडाउन नहीं होता, तो कब का नागिन 4 पूरा हो गया होता. इसकी शूटिंग कंप्लीट होने के बाद नागिन 5 की शूटिंग शुरू होगी. फ़िलहाल आज नागपंचमी के मुबारक मौक़े पर उन्हें अपना अगले सीजन के लिए नाग मिल ही गया, इससे बड़ी ख़ुशी की बात उनके लिए और क्या हो सकती है.

Dheeraj Dhoopar
Web Series on Vikas Dubey

विकास दुबे पर वेब सीरीज का ऐलान…

कुख्यात अपराधी विकास दुबे पर बनेगी वेब सीरीज़.
गैंगस्टर अपराधी सरगना विकास दुबे के जीवन पर आधारित वेब सीरीज बनने जा रही हैं. निर्देशक मनीष वात्सल्य की टीम ने उनके गांव बिकरू में जाकर सभी गांववालों से और विकास के अपनों से बातचीत की. अपराधी के जीवनशैली और उसकी दिनचर्या को समझने की कोशिश की गई. उनके दंबगई के क़िस्से जाने.
यह और बात है कि विकास दुबे उज्जैन के महाकाल मंदिर से पुलिस की गिरफ्त में आ गया था. बाद में विकास द्वारा पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश करने पर मुठभेड़ में मौत हो गई. इसे लेकर राजनीति भी ख़ूब हुई. एनकाउंटर को लेकर कई सवाल उठे. फ़िलहाल वह इस दुनिया में नहीं है, लेकिन जब से विकास आठ पुलिसकर्मियों को मारकर फरार हुआ था, तब से उसके जीवन के बारे में रोज़ तमाम ख़बरें और वीडियो आते रहे हैं. लोगों की भी उत्सुकता बनी थी कि आख़िर एक आम इंसान से वो इतना बड़ा सरगना और अपराधी कैसे बना.
लोगों की विकास के बारे में जानने की इच्छा और समझने के लिए ही मनीष वेब सीरीज हनक बना रहे हैं. इसमें हमारे रील और रियल दोनों के हीरो रह चुके सोनू सूद ख़ास भूमिका में नज़र आएंगे. वे आईजी एसटीएफ की भूमिका अदा करेंगे. विकास दुबे की भूमिका के लिए पंकज त्रिपाठी से बातचीत हो रही है. पंकज इसके पहले मिर्ज़ापुर में कालीन भैया का लाजवाब प्रभावशाली भूमिका निभा चुके हैं, जो लोगों ने ख़ूब पसंद किया था. डायलॉग सुबोध पांडेय लिख रहे हैं. सीओ की किरदार में जयदीप अहलावत हैं.
सब ठीक-ठाक रहा, तो जल्द ही इसकी शूटिंग शुरू कर दी जाएगी. अब आनेवाले दिनों में हमें नागिन 5 में धीरज के रूप में नाग के दर्शन तो होंगे ही, साथ ही विकास दुबे की विवादास्पद ज़िंदगी से जुड़ी कहानी भी देखने मिलेगी.

बॉलीवुड और टॉलीवुड फिल्मों में विलेन का किरदार निभानेवाले सोनू सूद इस महामारी की मुसीबत में फंसे लोगों के लिए रियल हीरो बनकर उभरे हैं. सोनू सूद ने अब तक हज़ारों प्रवासी मज़दूरों को उनके घरों तक पहुंचाया और अब इस एक्टर ने विदेशों में भी फंसे भारतीयों की मदद करने का बीड़ा उठाया है. सोनू सूद ने किर्गिस्तान में फंसे कई स्टूडेंट्स की गुहार पर उन्हें वहां से निकालने के लिए अब चार्टर फ्लाइट्स का इंतज़ाम कर रहे हैं.

Sonu Sood

यकीनन लॉकडाउन के कारण अपने घरों से दूर जहां-तहां फंसे लोगों के लिए सोनू सूद मसीहा बन गए हैं. पिछले के महीनों से वो उत्तर प्रदेश, बिहार, असम, तमिलनाडु और देहरादून के लोगों को कभी बस, कभी ट्रेन तो कभी फ्लाइट के ज़रिए उनके घरों तक पहुंचने में मदद की. मुसीबत की इस घड़ी में वो ऐसे लोगों के लिए किसी मसीहा से कम नहीं हैं.

Sonu Sood

मदद की इस कड़ी में एक कदम और बढ़ाते हुए 22 जुलाई को बिश्केक से भारत आनेवाली पहली फ्लाइट को वो स्पॉन्सर कर रहे हैं. इस खुशखबरी को सोनू ने ख़ुद अपने सोशल मीडिया हैंडल के ज़रिए ज़रूरतमंद लोगों तक पहुंचाई. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा- किर्गिस्तान के सभी स्टूडेंट्स को सूचित किया जाता है कि घर वापस आने का समय आ गया है. 22 जुलाई को हम बिश्केक से वाराणसी की पहली चार्टर फ्लाइट शुरू कर रहे हैं. जिसकी जानकारी आपके ईमेल आईडी और मोबाइल नंबर्स पर थोड़ी देर में भेज दी जाएगी. दूसरे राज्यों के लिए भी फ्लाइट का इंतज़ाम इसी हफ़्ते किया गया है.

आपको बता दें कि कुछ मेडिकल स्टूडेंट्स किर्गिस्तान में फंसे हुए हैं और उनकी तरफ़ से जब सोनू सून को इस बात की खबर लगी, तभी उन्होंने उनकी मदद की प्रक्रिया शुरू कर दी. दूसरे देश में फंसे भारतीयों को लाना इतना आसान नहीं है, पर सोनू सूद ने बड़ी ही तत्परता से इस काम को अंजाम दिया है.

Sonu Sood

यकीनन सोनू सूद प्रवासी मज़दूरों की तरह इन मेडिकल स्टूडेंट्स के लिए भी किसी मसीहा से कम नहीं हैं. उनके इस ट्वीट के बाद बहुत से लोगों ने उन्हें धन्यवाद कहते हुए उनका आभार व्यक्त किया है. संकट की इस घड़ी में मदद करनेवाले सोनू सूद को इस नेक काम के लिए ढेरों आशीष और शुभकामनाएं भी मिल रही हैं.

यह भी पढ़ें: ‘ये रिश्ते हैं प्यार के’ एक्टर शाहिर शेख या ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के मोहसीन खान, कौन है आपका फेवरेट टीवी स्टार? (Mohsin Khan Or Shaheer Sheikh Who Is Your Favourite TV Star?)

आजकल बॉलीवुड में नेपोटिज़्म का मुद्दा गरमाया हुआ है. स्टार किड्स को लेकर तरह-तरह की बातें कही जा रही हैं. वहीं इन सब से दूर इंडस्ट्री में कुछ सेलेब्स ऐसे हैं, जिनका भाई-भतीजावाद से कोई संबंध नहीं है. इन सेलेब्स ने अपने दम पर बॉलीवुड में खास जगह बनाई है, आइये हम आपको बताते हैं कौन हैं वो?

१. कंगना रनौत

kangana ranaut

हिमांचल प्रदेश के एक छोटे से शहर से आई कंगना रनौत आज अपने दम पर बॉलीवुड की क्वीन बनी है. नॉन फिल्मी परिवार से होने के बावजूद बॉलीवुड के मंजे हुए कलाकारों में उनका नाम आता है. आज वे जिस जगह पर हैं, वहां पर पहुंचने के लिए कंगना ने बहुत मेहनत की है, अपने किरदार में जान डालने के लिए वह बहुत मेहनत करती हैं, तभी तो उनका नाम बॉलीवुड की सक्सेसफुल एक्ट्रेसेस में आता है.

2.  सोनू सूद

sonu sood

पंजाब के लुधियाना शहर में रहनेवाले सोनू सूद के पिताजी एंटरप्रेन्‍योर और उनकी मां अध्‍यापिका थीं. उनका कोई फिल्मी बैक राउंड नहीं था, इसके बावजूद वह इंडस्ट्री में अपने दम पर खास मुकाम हासिल किया. कई फिल्मों में छोटी-बड़ी भूमिकाएं निभाई लेकिन आज उनका नाम सक्सेसफुल एक्टर्स में आता है, कोरोना वायरस के चलते हुए लॉक डाउन के कारण उन्होंने प्रवासी मजदूरों को घर पहुंचने का जो काम किया,उससे प्रभावित होकर लोग उनके फैन हो चुके हैं, पहले तो लोग उनकी एक्टिंग के मुरीद थे, अब उनकी दरिया दिली के दीवाने बन गए हैं.

3. प्रियंका चोपड़ा

priyanka chopra

आर्मी परिवार से ताल्लुक रखने वाली प्रियंका चोपड़ा ने अपनी स्कूलिंग यूएस से की है. वह सॉफ्टवेयर इंजीनियर या क्रिमिनल साइकोलोजिस्ट बनना चाहती थी, लेकिन उनकी मम्मी ने उन्हें फेमिना मिस इंडिया कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के प्रोत्साहित किया. पेजेंट जीतने के बाद प्रियका ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. उन्होंने साल २००० में मिस वर्ल्ड का खिताब भी जीता। फिर बॉलीवुड में ही नहीं हॉलीवुड में भी अपनी खास जगह बना चुकी है. प्रियंका सिर्फ एक्टिंग में ही नहीं म्यूजिक वीडियो में काम कर चुकी है.

4. शाहरूख खान

shah rukh khan

शाहरुख़ खान का कोई फिल्मी बैकराउंड नहीं है, लेकिन आज वे बॉलीवुड के किंग खान है. शाहरूख खान ने बहुत संघर्ष के बाद बॉलीवुड में ये मुकाम हासिल किया है. आज वे लाखों लोगों की प्रेरणा है. उन्होने अपने करियर की शुरुआत  टीवी शो फौजी से की थी उसके बाद बॉलीवुड की और रुख किया. १९९२ में उन्ही पहली फिल्म दीवाना आई. इस फिल्म में उनकी शानदार एक्टिंग के लिए उन्हें  फिल्मफेयर का “बेस्ट डेब्यूटेंट” अवार्ड भी मिला. एक्टिंग के अलावा  उनका खुद का रेड  चिल्लीज नाम से  प्रोडक्शन हाउस भी है.

5. अक्षय कुमार

akshay kumar

प्रियंका चोपड़ा के बाद दूसरे आर्मी किड, अमृतसर से आये फिर दिल्ली और मुंबई रह रहे. अक्षय कुमार की फिटनेस, स्टाइल और एक्टिंग का कायल बच्चा-बच्चा है. टायक्वोंडो में ब्लैक बेल्ट करने वाले अक्षय कुमार ने वेटर के तौर पर भी काम किया है. कुछ फाइनेंसियल रीज़न की वजह उन्होंने मॉडलिंग की शुरुआत की और फिर फ़िल्में मिलने लगी. आज अक्षय कुमार केवल अपनी एक्टिंग की वजह से ही नहीं, बल्कि सामाजिक कार्यों में भी वे आगे रहते है,

6. अमिताभ बच्चन

amitabh bachchan

इंडस्ट्री के महानायक अमिताभ बच्चन के जब अपने बॉलीवुड में डेब्यू किया, तब उनका कोई गॉड फादर नहीं था. अपनी शानदार एक्टिंग, दमदार आवाज़ और आकर्षक पर्सनलिटी के कारण आज अमिताभ बॉलीवुड में ही नहीं, बल्कि इंटरनेशनल पर्सनालिटी बन चुके हैं.

7. विद्या बालन 

vidya balan

आज विद्या बालन इंडस्ट्री की स्ट्रॉन्गेस्ट एक्ट्रेसेस में से एक हैं. बॉलीवुड में अपनी जगह बनाने के लिए विद्या को अनेक मुश्किलों का सामना करना पड़ा. फेमस कॉमेडी टीवी शो हम पांच में विद्या ने राधिका का रोल अदा किया था. उसके बाद मलयाली और फ़िल्में कीं. लेकिन वहां पर असफल होने के बाद फिल्म परिणीता से बॉलीवुड में डेब्यू किया. विद्या बॉलीवुड की ऐसे अभिनेत्री है, जिन्हें लगातार तीन बार फ़िल्मफेयर अवार्ड मिला.

8. जॉन अब्राहम

john abraham

जॉन सबसे पहले पंकज उदास से वीडियो में दिखाई दिए. अपने क्यूट लुक से दर्शकों को अपना दीवाना बना दिया. शुरुआत में वे बिलकुल भी कैमरा फ्रेंडली नहीं थे, लेकिन अपने कॉन्फिडेंस और एक्टिंग के कारण बॉलीवुड में अपने लिए जगह बनाई. उनका भी कोई फ़िल्मी बैक राउंड नहीं है.  उनके पिता मलयाली और मां  ईरानी है. जॉन ज्यादातर मुंबई में ही रहते हैं. अपना फिल्मी करियर जिस्म से शुरू किया. इस फिल्म में उनके अपोजिट बिपाशा बसु थी.

9. राजकुमार राव

rajkumar rao

अपने बेहतरीन अभिनय से राजकुमार राव ने सबको हैरान कर दिया है. गुड लुकिंग होने के साथ थिएटर से जुड़े हुए कलाकार हैं, जिन्होंने एफटीआई से ग्रेजुएशन किया है. फिल्म शाहिद में उनका यादगार किरदार से उनको प्रसिद्धि मिली. बाद में क्वीन में लीडिंग मेन का रोल मिला, राजकुमार राव नॉन फिल्मी फॅमिली से हैं, पर आज बॉलीवुड में अच्छा खासा नाम है.

10. नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी

nawazuddin siddiqui

आज इंडस्ट्री में नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी को कौन नहीं पहचानता है. अपनी शानदार एक्टिंग से उन्होंने अपने को बॉलीवुड में साबित किया है. मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखने वाले नवाज़ुद्दीन का जन्म उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के एक छोटे से शहर में हुआ था. उनके पिता किसान थे. सिद्दीकी के नौ भाई-बहन है. कुछ समय दिल्ली में बिताने के बाद मुंबई आये और बहुत संघर्षों के बाद बॉलीवुड में अपने लिए खास जगह बनाई. ब्लैक फ्राइडे और पतंग जैसी फिल्मों में काम करके दर्शकों का दिल जीत लिया.

11. रणदीप हुड्डा

randeep hooda

जिन्होंने मेलबर्न से डिग्री हासिल की. मॉडलिंग और थिएटर का काम करने के लिए एयरलाइन में मार्केटिंग का काम किया. उनकी शुरुआत मीरा नायर की बेहतरीन फिल्मों हुई. मानसून वेडिंग, वंस अपॉन ए टाइम इन मुंबई ने उन्हें आखिरकार स्टार बना दिया।

12. अनुष्का शर्मा

anushka sharma

अनुष्का शर्मा का आर्मी बैकराउंड है. उनके पिता आर्मी में कर्नल थे और मम्मी हाउसवाइफ.  उनके पहली फिल्म यशराज बैनर की रब ने बना दी जोडी थी. इस फिल्म में उनके अपोजिट शाहरुख खान थे. उनकी पहली फिल्म ही सुपरहिट रही. उसके बाद अनुष्का ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा. आज वे सक्सेसफुल प्रोडूसर हैं.

13. बोमन ईरानी

boman irani

बहुमुखी और नेचुरल एक्टिंग की बात करें, तो सबसे पहला नाम बोमन ईरानी का आता है. उनकी खासियत है कि वे जो भी रोल करते हैं पूरी सहजता से करते हैं. पॉलिटेक्निक की डिग्री प्राप्त करने के बाद बोमन ईरानी ने एक होटल में वेटर का काम भी किया है. फिर अपने मम्मी का बेकरी का काम भी चलाया, साथ ही फोटोग्राफी में भी अपना करियर बनाया। मुन्ना भाई एम एम बी एस, ३ इडिट्स और पीके जैसे ब्लॉकबस्टर्ड में काम करके अपनी अलग पहचान बनाई है.

14. कपिल शर्मा

kapil sharma

मशहूर कॉमेडियनसे एक्टर बने कपिल शर्मा का नाम भी शामिल भी इस लिस्ट में शामिल है. कॉमेडियन से एक्टर बनने के सफर में बहुत संघर्ष किया है. वे फिल्मी परिवार से ताल्लुक नहीं रखते हैं, फिर भी छोटे परदे के साथ बड़े परदे पर भी अपने पैर जमाए. उन्होंने फिल्म किस किससे प्यार करूं और फिरंगी में बतौर लीड एक्टर काम किया है.

15. दीपिका पादुकोण

deepika padukone

आज बॉलीवुड की टॉप एक्ट्रेस में शामिल हैं दीपिका, क्योंकि ये मुकाम उन्होंने अपनी मेहनत और टैलेंट के दम पर पाया है. दीपिका नॉन फिल्मी बैकग्राउंड से हैं. उनके पिता प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन प्लेयर थे. दीपिका ने मॉडलिंग से अपने करियर की शुरुआत की और फिल्म ओम शांति ओम उनकी पहली फिल्म थी, जो बॉक्स ऑफिस पर ब्लॉकबस्टर्ड रही.

यह भी पढ़ें: बॉलीवुड के ऐसे 7 स्टार्स शादी के बाद जिनकी पहली फिल्म ही फ्लॉप हो गई! जाने कौन हैं वो? (7 Bollywood Stars Whose First Film Flopped After Their Marriage)

हिंदी फिल्म इंडस्ट्री में सोनू सूद, आर माधवन, कृति सनोन और तापसी पन्नू समेत कई कलाकार ऐसे जो यदि आज फ़िल्मी परदे पर दिखाई नहीं देते, तो शायद बड़ी-बड़ी मशीनों के साथ किसी मल्टीनेशन कंपनी में काम में ९-६ का जॉब करते हुए अपना समय बिता रहे होते. लेकिन इन मास्टरमाइंड लोगों के लिए नियति ने शायद कुछ और ही सोच रखा था, इसीलिए तो इंजीनियरिंग की मोटी-मोटी किताबें पढ़ने के बाद भी एक्टिंग की दुनिया में एंट्री की और उनका नाम सुपरस्टार्स की लिस्ट में आता है. आइये हम आपको आपके फेवरेट स्टार्स के एजुकेशनल बैकराउंड के बारे में बताते हैं, जो इंजीनियर बनने के बाद भी बॉलीवुड के सुपरस्टार हैं –

  1. सोनू सूद
Sonu Sood

हम में से बहुत से लोगों को यह मालूम भी नहीं होगा कि कोरोनो वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के चलते प्रवासी लोगों को घर पहुंचने का काम करके मसीहा बने सोनू सूद साउथ फिल्मों के सुपर हिट हीरो हैं. सोनू ने नागपुर में यशवंतराव चव्हाण कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग से इलेक्ट्रॉनिक्स में इंजीनियरिंग की डिग्री रखते हैं. सोनू फिटनेस फ्रीक भी हैं. सोनू एक्टर बनने से पहले मॉडलिंग में अपना हाथ आजमाया. उन्होंने तेलुगु फिल्म ‘अरुंधति’ के लिए कई पुरस्कार जीते हैं और बॉलीवुड में  ‘दबंग’, ‘आर … राजकुमार’, ‘जोधा अकबर’ में और कई प्रमुख हिट फिल्मों में बेहतरीन रोल अदा  किया हैं.

2. विकी कौशल

vicky kaushal

रमन राघव और 2.0 के एक्टर विकी कौशल को उनकी अवार्ड विनिंग फिल्म मसान में अपनी शानदार एक्टिंग के लिए बहुत प्रशंसा मिली. विकी ने राजीव गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से इलेक्ट्रॉनिक्स एंड टेली-कम्युनिकेशन में इंजीनियरिंग की. पढाई पूरी करने के बाद इंजीनियर की नौकरी करने की बजाय वह असिस्टेंट डायरेक्ट बने. विकी ने अपने एक इंटरव्यू में भी कहा है कि जॉब लेटर को अलग रख दिया था, क्योंकि उन्हें पता था कि फिल्म इंडस्ट्री में कोई भी उनका इंटरव्यू नहीं लेगा.

3. तापसी पन्नू

taapsee pannu

महिला प्रधान फिल्मों में अपनी शानदार परफॉरमेंस से ऑडियंस का दिल जीतने वाली तापसी पन्नू  ने  दिल्ली के गुरु तेग बहादुर इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी से कंप्यूटर इंजीनियरिंग की. तापसी ने पहले मॉडलिंग से शुरुआत की.उन्होंने फिल्म  चश्मे बद्दूर से बॉलीवुड में कदम रखा. उनके अभिनय में बहुत वैरायटी है. तापसी ने यह साबित कर दिखाया है कि सफलता के लिए प्रोफेशनल कोर्स  की जरुरत नहीं हटो. अपने दिल की सुनो और अपने करियर को सफलता के उचाईयों तक पहुचाओ.

4. कार्तिक आर्यन

kartik aryaan

फिल्म प्यार का पंचनामा से अपने करियर की शुरुआत करने वाले कार्तिक आर्यन के पास डिग्री और डिप्लोमा दोनों है. ग्वालियर के रहनेवाले कार्तिक ने मुंबई मुंबई से बायोटेक्नोलॉजी में अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है। इंजीनियरिंग की पढाई के साथ-साथ  कार्तिक ने एक्टिंग का कोर्स भी किया, लेकिन इस एक्टिंग कोर्स के बारे में उन्होंने अपने पेरेंट्स को नहीं बताया। उनकी पहली फिल्म प्यार का पंचनामा ब्लॉकबस्टर्ड रही. इस फिल्म में उनका रोल छोटा सा था, लेकिन दर्शकों ने उनकी परफॉरमेंस को बखूबी सहारा, विशेष रूप से उनके  मोनोलॉग्स को. उन्होंने इस फिल्म के सीक्वल में भी काम किया, जो उनकी दूसरी फिल्म थी. उसके बाद तो  कार्तिक ने सोनू के टीटू की स्वीटी, लुका छिप्पी  और पति-पत्नी और वो में काम किया और सभी फिल्मों में दर्शकों का दिल जीत लिया.

5. कृति सेनोन

kriti sanon

कृति सेनोन पेशे से इंजीनियर है. उन्होंने नोएडा के जीपी इंस्टिट्यूट से इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार में इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की है. उसके बाद अभिनय  के क्षेत्र में कदम रखा. कृति ने टाइगर श्रॉफ के साथ फिल्म हीरोपंती से अपने एक्टिंग करियर की शुरुआत की. इस फिल्म के लिए उनको फिल्मफेयर का बेस्ट फीमेल डेब्यू का अवार्ड भी मिला. इसके बाद वे सुशांत सिंह राजपूत के साथ राब्ता और शाहरुख़ के साथ दिलवाले में दिखाई दी.

6. आर माधवन

R. Madhavan

स्टूडेंट लाइफ के दौरान आर माधवन का एकेडेमिक्स परफॉरमेंस बेहद शानदार रहा. कोहलपुर से माधवन ने इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग की थी. माधवन १ साल के लिए एक प्रोग्राम का कल्चरल एंम्बैसेडर बनकर कनाडा गए. इसके लिए उन्हें स्कालरशिप भी मिली थी.एनसीसी में भी महाराष्ट्र के बेस्ट कैडेट्स में गिने जाते थे. माधवन ने पब्लिक स्पीकिंग में पोस्ट-ग्रैजुएशन भी किया है. मुंबई में रहने के दौरान मन में मॉडलिंग की इच्छा जगी और फिर मॉडलिंग के रास्ते एक्टिंग में आ गए. माधवन ने फिल्म रहना है तेरे दिल में, रंग दे बसंती, ३ इडियट्स, गुरु और तनु वेड्स मनु जैसी ब्लॉकबस्टर्ड फिल्मों में काम किया है.

7. अमीषा पटेल

Amisha Patel

ब्लॉकबस्टर्ड फिल्म कहो न प्यार है से रातों-रात स्टार बनने वाली अमीषा पटेल  भी पेशे से इंजीनियर है और बायो-जेनेटिक इंजीनियरिंग में डिग्री रखती हैं. टफ्ट यूनिवर्सिटी, मैसाचुसेट्स से अर्थशास्त्र में पोस्ट-ग्रेजुएशन किया है. वह गोल्ड मेडेलिस्ट थीं. अमीश ने थोड़ा प्यार थोड़ा मैजिक, बॉर्डर और हमराज फिल्म में काम किया है.

8. अमोल पाराशर

Amol Parashar

अमोल पाराशर पेशे से मैकेनिकल इंजीनियर हैं, जिन्होंने IIT दिल्ली से B.Tech किया है।उन्होंने कई पॉपुलर ब्रांड्स के साथ काम किया। रॉकेट सिंह- सेल्समैन द ईयर ’जैसी फिल्म के अलावा कई वेब सीरीज में काम किया है. आजकल अमोल पाराशर वेब सीरीज  का जाना पहचाना नाम है.

 यह भी पढ़ें: बिना मेकअप के बेहद खूबसूरत दिखती हैं टीवी की ये १० एक्ट्रेसेस (10 Tv Actresses Who Look Beautiful Without Makeup)

आज जब सोनू सूद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिले, तब से पूरे दिन उनको लेकर हुई सियासत को एक नया मोड़ मिला. यूं लगता है आख़िरकार संजय रावत, जो शिवसेना के सामना समाचार पत्रिका के संपादक हैं, के द्वारा की गई आलोचना के सुधार के लिए यह कदम उठाया गया.
आज सामना में संजय राउत ने सोनू सूद को लेकर काफ़ी निशाना साधा था कि वे बीजेपी का चेहरा है, वे किसी कहने पर ही प्रवासियों को घर भेजने का काम कर रहे हैं, जल्द ही वे बीजेपी के लिए प्रचार करेंगे आदि. उन्होंने सोनू सूद के निस्वार्थ कार्य की तारीफ़ करने की बजाय ना केवल उनकी आलोचना की, बल्कि काफ़ी ऐसी बातें कहीं, जो उन्हें नहीं कहनी चाहिए थी.
संजय राउत का कहना था कि बहुत जल्द ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरफ़ से उन्हें ऑफर आएगा और वह उत्तर प्रदेश और बिहार के लिए भारतीय जनता पार्टी का प्रचार करेंगे यानी अप्रत्यक्ष रूप से उन्होंने सोनू की निस्वार्थ सेवा को एक स्वार्थ के रंग में रंगने की कोशिश की.
इस बयानबाजी की वजह से हर तरफ़ आलोचना का बाज़ार गर्म हो गया. फिल्ममेकर अशोक पंडित ने उनकी कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि वे ख़ुद तो कुछ कर नहीं रहे हैं और जो कर रहा है, उसे भला-बुरा कह रहे हैं. और अब कहां पर चुप बैठे हैं, वो सो कॉल्ड फिल्म इंडस्ट्री के लोग, जो हर बार अपनी आवाज़ ऊंची कर देते हैं, जब कोई कुछ ग़लत बोलता है तो.. सोनू सूद के लिए कोई क्यों कुछ नहीं बोल रहा?.. अशोक पंडित ने फिल्म इंडस्ट्री को भी सवालों के घेरे में ला खड़ा किया.
महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अमेय ने भी इस टीका-टिप्पणी की निंदा की. उन्होंने कहा कि संजय राउत बस लिख ही सकते हैं, काम करना उनके बस में नहीं है. और जो कर रहा है, उसकी तारीफ़ करने की बजाय उसके बारे में उल्टी-सीधी बातें कर रहे हैं.
गौर करनेवाली बात है कि महाराष्ट्र के त्रिकोणी सरकार में कांग्रेस के संजय निरुपम ने भी संजय राउत की इन बातों की निंदा की.
देखा जाए तो सरकार के लोगों में भी कितनों की अलग-अलग राय है. महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुखजी ने सोनू सूद की प्रशंसा की थी. उनके इस सराहनीय कार्य को काफ़ी बढ़िया और अच्छा बताया था. जब उनसे पूछा गया कि संजय राउत के बयान पर उनका क्या कहना है, तो उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है, इसलिए वे कुछ कह नहीं सकते.
पूरे दिन सामना के लेख और संजय राउत द्वारा सोनू सूद को लेकर कही गई बातों को लेकर राजनीति होती रही. बयानबाजी होती रही.
राजनीतिक गलियारा और कहानी में ट्विस्ट तब आया, जब सोनू सूद मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मिलने उनके निवास मातोश्री पहुंचे. उन्होंने उद्धव ठाकरे और उनके बेटे आदित्य ठाकरे और असलम शेख मंत्री से मुलाक़ात की. जब उनसे मिलकर बाहर निकले, तो मीडिया को उन्होंने कहा कि वे कश्मीर से कन्याकुमारी तक अपना योगदान देते रहेंगे. इसी तरह से लोगों को उनके घर पहुंचाते रहेंगे.
उनका कहना- मुझे ख़ुशी है कि हर राज्य की सरकार और गवर्नर मेरी मदद कर रही है और सहयोग दे रही है… सोचने वाली बात यह है कि सोनू को ऐसा कहने की क्या ज़रूरत पड़ गई. सुबह सामना द्वारा आलोचना और शाम होते-होते मुलाक़ात और मुख्यमंत्री से मिलना और उसके बाद इस तरह का बयान. इस पर उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से इस बात की ख़ुशी ज़ाहिर की कि सोनू अच्छा काम कर रहे हैं और सरकार उन सबसे जुड़ी है, जो इस महामारी में काम कर रहे हैं, लोगों की मदद कर रहे हैं, उन्हें सहयोग दे रहे हैं…
इस महामारी के चलते, कोरोना वायरस का कहर, बीमारी या लोगों पर नियंत्रण नहीं रख पाना… बहुत सारी चीज़ें ऐसी हुईं, जो नहीं होनी चाहिए थी. सबसे अधिक कोरोना वायरस से जुड़े मामले महाराष्ट्र और मुंबई में ही है. सरकार ने काफ़ी कोशिशें की हैं. सराहनीय कार्य किए हैं और फिल्म इंडस्ट्री के लोगों ने भी पूरा सहयोग दिया है. लोगों को कोरोना वायरस के प्रति जागरूक करने के लिए, महामारी में अपना ध्यान देने के लिए, लॉकडाउन के नियमों का पालन करने के लिए… इन सब में कलाकारों ने हर तरह से सहयोग दिया है.
ऐसा नहीं है की कोशिशें नहीं हो रही है. हर तरफ से मदद हो रही है, पर इन सभी कार्यों के बीच में इंसानियत का होना भी बहुत ज़रूरी है.. आपसी भाईचारा होना बहुत ज़रूरी है.. इसमें कोई राजनीति नहीं होनी चाहिए. हर कार्य व्यक्ति को देश के प्रति, राज्य के प्रति और सब के प्रति पूरी ईमानदारी से करनी होगी.
सोनू सूद ने महाराष्ट्र सरकार से मिलकर मुलाक़ात के बाद में अपने ट्विटर अकाउंट पर कई ट्वीट्स किए. जिनमें ख़ास बात यह रही कि उन्होंने आगाह किया कि जिन्हें ज़रूरत है और जो सही लोग हैं, जो अपने घर वाक़ई जाना चाहते हैं, वे ही संदेश भेजें. देखा गया है कि काफ़ी लोग संदेश भेजने के बाद उसे मिटा दे रहे हैं. इस पर उन्होंने आगाह किया. इसके अलावा उन्होंने सभी राज्यों सरकारों व अन्य लोगों की तारीफ़ भी की और उन्हें धन्यवाद भी कहा कि उनके सहयोग के बिना यह कार्य संभव न था. तो सोनू सूद के इन संदेशों से इसकी गहराई को समझा जा सकता है कि उन्हें काफ़ी सोच-समझकर इन बातों को लिखना पड़ रहा है.
चलिए, जाने दीजिए पर सोनू सूद को लेकर कोई सियासत नहीं होनी चाहिए. वे बहुत नेक और बढ़िया काम कर रहे हैं. सभी का उनको साथ भी है और सहयोग भी है. फिल्म इंडस्ट्री के लोग, अन्य राज्यों के लोग, हमारे फौजी भाइयों ने भी उनके इस नेक कार्य के बेइंतहा तारीफ़ की. हम भी उनका धन्यवाद करते हैं और उन्हें शुभकामनाएं देते हैं कि वे यूं ही काम करते रहें.. आगे बढ़ते रहें, बस राजनीति से थोड़ी दूरी बनाए रखें…

Sonu Sood Meets Maharashtra CM Uddhav Thackeray Aditya Thackeray

इस कोरोना संकट के समय बॉलीवुड भी हर तरह से सबकी मदद कर रहा है. अक्षय कुमार से लेकर शाहरुख- सलमान तक, अजय देवगन से लेकर सोनू सूद तक सभी हर तरह की मदद के हाथ बढ़ा रहे हैं. अब इसी कड़ी में बॉलीवुड सुपरस्टार अजय देवगन ने सभी से अपील की है कि वे मुंबई में स्थित एशिया की सबसे बड़ी झुग्गी बस्ती धारावी के निवासियों के लिए डोनेशन के लिए आगे आएं, क्योंकि यहां के लोगों को सच में मदद की ज़रूरत है. बता दें कि मुम्बई स्थित धारावी कोरोनावायरस महामारी का केंद्र बना हुआ है और घनी झुग्गी होने की वजह से वहां सबसे ज़्यादा कोरोना केसेस मिल रहे हैं.

Ajay Devgan

धारावी की हालत सच में खराब ही होती जा रही है.ऐसे में अजय देवगन उनकी मदद के लिए आगे आए हैं और उन्होंने खुद वहां के 700 परिवारों की जिम्मेदारी ली है और लोगों से भी मदद की अपील कर रहे हैं. इस पहल को उन्होंने नाम दिया है ‘फीड धारावी, मिशन धारावी’
लोगों से मदद की अपील करने के लिए उन्होंने ट्वीट किया, “धारावी कोविड-19 का एपी सेंटर बना हुआ है. एमसीजीएम की मदद से कई लोग यहां दिन रात काम कर रहे हैं. कई एनजीओ की मदद से जरूरतमंद लोगों को राशन और हाइजीन किट्स उपलब्ध कराए जा रहे हैं. हमने (एडीएफएफ) भी 700 परिवारों की मदद की ज़िम्मेदारी ली है. मैं लोगों से रिक्वेस्ट करता हूं कि आप लोग भी आगे आएं और डोनेट करें.”

अजय देवगन के इस कदम की सब सराहना कर रहे हैं. उम्मीद है कि उनकी अपील पर ज़्यादा से ज़्यादा लोग आगे आएंगे.

Ajay Devgan Kajol

बता दें कि कोरोना वायरस के लिए अजय देवगन पहले ही अपनी प्रोडक्शन कंपनी की ओर से पीएम केयर्स फंड में 1.10 करोड़ रुपये दान कर चुके हैं. इसके अलावाबॉलिवुड इंडस्‍ट्री में काम करनेवाले तमाम वर्कर्स की भी अजय देवगन ने खुले दिल से सहायता की और मजदूरों की मदद के लिए 51 लाख डोनेट किया. आरोग्य सेतु app डाउनलोड करने के प्रति लोगों में जागरूकता फैलाने के लिए खास एक वीडियो शूट करके पोस्ट किया. इतना ही नहीं अजय देवगन ने लॉकडाउन के दौरान कोरोना वारियर्स के लिए एक और वीडियो बनाकर ट्वीट किया और मुंबई पुलिस के काम की न सिर्फ सराहना की, बल्कि अपनी जिम्मेदारियां निभाने के लिए मंबई पुलिस का शुक्रिया अदा किया.

Ajay Devgan


और आज जबकि सोनू सूद प्रवासी मजदूरों की सहायता में दिन रात लगे हुए हैं, तो अजय देवगन सोनू सूद के काम की भी जमकर तारीफ कर रहे हैं. सोनू की हौसलाअफजाई करने के लिए उन्होंने ट्वीट किया, “आप प्रवासी श्रमिकों को सुरक्षित उनके घर वापस भेजने जैसा जो संवेदनशील काम कर रहे हो, वह काबिले तारीफ है. ईश्वर आपको खूब ताकत बख्शे. यानी अजय देवगन हर तरह से लोगों की मदद कर रहे हैं, सबकी हौसला अफजाई कर रहे हैं, लगातार ट्वीट करके लोगों से मदद की अपील कर रहे हैं, ताकि ज़्यादा से ज्यादा लोग आगे आएं और सब एक साथ मिलकर इस संकट का सामना कर सकें.
वर्क फ्रंट की बात करें तो अजय देवगन की इस साल ओम् राउत की ऐतिहासिक फ़िल्म ‘तानाजी’ रिलीज़ हुई थी. इस फ़िल्म ने बॉक्स ऑफ़िस में शानदार कलेक्शन किया. इस फ़िल्म में उनके साथ काजोल और सैफ़ अली खान भी लीड रोल में नज़र आए थे. उनकी आगामी फिल्मों में भुज, मैदान आदि फ़िल्में प्रमुख हैं.

आज प्रवासी मजदूरों, गरीब, ज़रूरतमंद और वे सभी लोग जो अपने घर जाना चाह रहे थे और पहुंच गए के लिए सोनू मसीहा बन गए हैं. उन मजदूरों को घर पहुंचाने की मुहिम के चलते सोनू सूद को हर तरफ से प्यार, आशीर्वाद, सराहना और दुआएं दी जा रही हैं. उन्हें सुपर हीरो, बाहुबली, रियल लाइफ हीरो, सिंघम, नायक जैसे तमाम उपाधियों से नवाजा जा रहा है. उन्हें खूब शाबाशी दी जा रही है.
आज सोनू सूद सबसे बड़े मददगार व मसीहा बने हुए हैं प्रवासी मजदूरों के लिए. पिछले कई दिनों से लगातार घंटों वे काम करते रहे हैं, हर उस प्रवासी, हर उस गरीब मजदूर को उसके घर पहुंचाने की व्यवस्था करने के लिए. अपने इस काम का ना वह कभी श्रेय ले रहे हैं.. ना इसकी पब्लिसिटी कर रहे हैं. बस सभी को घर पहुंचाना है उनकी यही धुन है और वह उसी में निरंतर लगातार लगे हुए हैं. उनका कहना है कि ये लोग हमारी देश की धड़कन हैं. इनकी वजह से ही अपना काम कर पा रहे हैं. सड़क पर चल रहे हैं. ऐसे में उनकी सहायता करके उन्हें असीम शांति मिल रही है. उनके प्यार से प्रोत्साहन और ताक़त उन्हें मिल रही है लोगों की और अधिक मदद करने के लिए.
उनका कहना है कि जब वे किसी प्रवासी मजदूर या किसी ग़रीब को उसके घर पहुंचा देते हैं. और जब वो अपने घर पहुंचता है और उन्हें फोन करता है, तब उन्हें दिली सुकून मिलता है. बेहद ख़ुशी मिलती है, जो किसी भी अवार्ड से कम नहीं है. सोनू सूद की हर तरफ से हर कोई उनके इस नेक काम की तारीफ़ कर रहा है. इसमें हमारे फिल्मी हीरो भी पीछे नहीं है. अजय देवगन ने भी सराहना करते हुए सोनू के इस संवेदनशील कार्य की काफ़ी तारीफ की. क्रिकेटर शिखर धवन ने भी सोनू सूद के इस बेहतरीन काम की सराहना की और उनका उत्साह बढ़ाया.
सोनू सूद ने अजय देवगन और शिखर धवन को इसके लिए धन्यवाद देते हुए कहा कि आप लोगों का प्यार और भरोसा ही मेरे लिए बहुत बड़ी ताक़त है. सोनू मजदूरों को सुरक्षित उनके घर पहुंचाने का नेक काम तो कर ही रहे हैं, इसके अलावा वे लगातार सोशल मीडिया से भी उनकी सहायता कर रहे हैं. उनके हर सवाल, प्रार्थना का वे सभी को लगातार जवाब भी दे रहे हैं. उनके तमाम रिप्लाय को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि वे ना केवल समझदार, सुलझे हुए इंसान हैं, बल्कि उनकी हाजिरजवाबी भी लाजवाब है.
उन्होंने अपना एक हेल्पलाइन फोन नंबर 18001213711 भी शेयर किया है. लोगों से कहा है कि जिस किसी प्रवासी मजदूरों को घर जाना है, जो कोई अपने यहां पर फंसा हुआ है और अपने गांव, अपने घर जाना चाहता है, तो इस फोन नंबर पर संपर्क करें या अपने डिटेल दें. तब वे उनके जाने की व्यवस्था करेंगे. इस काम में वे लगातार लगे हुए हैं. उनके दोस्त, अपनों की पूरी टीम बनी हुई है, जो दिन-रात इसी काम में लगी हुई है. लोगों का आधार कार्ड वेरीफाई करना, पेपर्स वर्क करना, एक राज्य से दूसरे राज्य की अनुमती लेना, बस के साथ-साथ भोजन-पानी का बंदोबस्त करना… सभी इसी काम में लगे हुए हैं. कह सकते कि एक छोटा-सा कॉल सेंटर जैसा बन गया है उनके दोस्तों और इस मुहिम में लगे लोगों के बीच में.
सोनू सूद का कहना कि जब तक वह उस आख़िरी व्यक्ति को जो अपने घर जाना चाहता है, उसके घर सही सलामत पहुंचा नहीं देंगे, तब तक वह इसी तरह से लगातार काम करते रहेंगे.. सड़क पर रहेंगे.. उन लोगों के बीच में रहेंगे.. उनकी मदद करते रहेंगे.. उन्हें प्रोत्साहन, दिलासा देते रहेंगे कि वे घबराए नहीं.. परेशान ना हो.. वे सभी उनके घर, अपनों के बीच, अपने माता-पिता के पास ज़रूर जाएंगे और उन्हें मिलेंगे.
सोनू के इसी प्रशंसनीय कार्य और मदद को देखते हुए किसी के लिए वह सुपर हीरो, बाहुबली, सिंघम आदि बन गए हैं, तो किसी ने तो उन्हें भगवान का दर्जा दे दिया.. इन सभी प्रवासी मजदूरों के लिए वे भाई, बेटा, मामा, दोस्त, आदर्श जाने क्या-क्या बन गए हैं. प्यार और आशीर्वाद की बरसात उन पर हो रही है. हर कोई उन्हें दुआएं दे रहा है. कितने ही लोग ऐसे भी हैं, जो आर्थिक रूप से मदद भी करना चाहते हैं, तो सोनू उन्हें प्यार से कहते हैं कि बस वो किसी और ज़रूरतमंद, ग़रीब की मदद कर दे, वहीं उनकी सबसे बड़ी सहायता होगी. यह सोनू का बड़प्पन है कि वह अपने बलबूते पर यह सब कार्य कर रहे हैं, बिना किसी पब्लिसिटी के.. बिना किसी स्वार्थ के.. इस नेक व समाज सेवा के कार्य में लगे हुए हैं. वे अब तक बारह हज़ार से अधिक लोगों को उनके घर पहुंचा चुके हैं.
ऐसे ही एक व्यक्ति, जो बिहार के सिवान के हैं, जिन्हें सोनू सूद ने घर पहुंचाया था. उन्होंने ट्विटर पर उनसे कहा कि उनके गांव के लोग उनकी मूर्ति बनानेवाले हैं. इस पर सोनू ने नम्रता से कहा कि सुनो भाई उन पैसों से किसी ज़रूरतमंद की मदद कर देना. वे नहीं चाहते कि उनको महिमामंडित किया जाए. बस इस तरह के लोगों से यही कहते हैं कि आप किसी ग़रीब, दुखी, ज़रूरतमंद की पैसों से या जैसे मदद हो सके कर दीजिएगा. वही उनके लिए बहुत बड़ा पुरस्कार और मदद होगा.
सोनू सूद को यह ज़ज्बा और समर्पण की प्रेरणा उनकी मां सरोज से मिली है. वे हमेशा कहती थीं कि अगर दाएं हाथ से दान दो, तो बाएं हाथ को भी ख़बर नहीं होनी चाहिए. मां की परवरिश इतनी बेहतरीन रही है कि आज उनका बेटा कितने ही भले काम करता जा रहा है.
इस बार मदर्स डे पर भी उन्होंने अपनी मां को बड़ी शिद्दत से याद किया. उनके अनुसार, आख़िर मां के लिए एक ही दिन क्यों..? उनके लिए तो हर एक दिन ख़ास हो जाते हैं. जैसे मां के लिए बच्चे का हर एक दिन ख़ास होता है. उसी तरह बच्चों का भी मां के लिए होना चाहिए. मां तो वो होती है, जो एक चम्मच घी अधिक डाल देती है.. जो भिगोया हुआ बादाम खिलती है, कहती है इससे दिमाग़ तेज होगा. आज उन सब बातों को याद करता हूं, तो मुझे लगता है कि वाक़ई दिमाग़ कितना तेज हो गया कि मैं अपनी मां पर कुछ लिख सका. वैसे भी मेरी मां को बड़ी ख़ुशी होती थी जब मैं कुछ लिखता था.. वे कहतीं बहुत अच्छा लिखते हो, लिखा करो… तो इस बार मदर्स डे पर उन्होंने बहुत ही प्यारी बातें अपनी मां को लेकर लिखी थीं. एक प्यारा-सा वीडियो भी शेयर किया था.
जिस तरह से सोनू सूद लगातार इतने दिनों से हर एक प्रवासी मजदूरों और ग़रीब ज़रूरतमंद को उनके घर, अपनों के बीच, उनके माता-पिता के बीच पहुंचा रहे हैं.. उनसे वे हज़ारों दुआएं भी पा रहे हैं. सोशल मीडिया पर सभी उनके तरह-तरह के तस्वीरें, स्केच, दिलचस्प कार्टून भी शेयर कर रहे हैं. ये दुआएं अनमोल और बेमिसाल हैं. सोनू सूद हम सभी के लिए प्रेरणास्रोत भी हैं. बिना किसी स्वार्थ के काम करना ही सही मायने में सार्थक जीवन जीना है. यह अनमोल पुरस्कार है और इसके हक़दार सोनू सूद हैं. हम उनके इस जज़्बे को सलाम करते हैं और उन्हें शुभकामनाएं देते हैं कि वे यूं ही आगे बढ़ते रहें. सबकी मदद करते रहें और हर किसी को एक उम्मीद और एक हौसला दें कि वह अपने घर ज़रूर पहुंच जाएंगे.

Sonu Sood Super Hero
View this post on Instagram

Stay home stay safe 😷

A post shared by Sonu Sood (@sonu_sood) on