Sonu Sood’s Next Mission

सोनू सूद इन दिनों हर तरफ छाए हुए हैं. सोशल मीडिया पर सोनू सूद काफी एक्टिव रहते हैं.अब सोनू सूद ने अपने सोशल अकाउंट पर एक मज़ेदार वीडियो शेयर किया है. सोनू का ये वीडियो खूब वायरल हो रहा है. इस वीडियो में सोनू सिलाई करते दिखाई दे रहे हैं. पैर वाली सिलाई मशीन से सोनू शानदार सिलाई करते दिख रहे हैं.

सोनू सूद ने इस वीडियो के साथ एक बढ़िया सा कैप्शन लिखा है,’यहां मुफ्त में सिलाई की जाती है।पैंट की जगह निकर बन जाए, इसकी हमारी गारंटी नहीं’ .बता दें कि सोनू सूद का कपड़ों के साथ एक खास कनेक्शन भी है. सोनू सूद के पिता का कपड़ों का शोरूम है,जहाँ उन्होंने काम किया है और सोनू को कपड़ों के अलग फैब्रिक की काफी जानकारी भी है.

Sonu Sood

आपकी याद ही होगा कि कोरोना महामारी के दौरान प्रवासी मज़दूरों के लिए सोनू एक मसीहा की तरह सामने आये थे. सोनू ने प्रवासी कामगारों की खूब मदद की थी,और घर से दूर रह रहे लोगों को उनके घर तक पहुंचाया था. सोनू सूद के इस कदम से उन्हें दुनिया भर से सराहना मिली।

Sonu Sood

सोनू सूद ने मुसीबत में फंसे हज़ारों लोगों की मदद की, जिसके कारण सोनू सबके पसंदीदा कलाकार हो गए. किसी ने उन्हें मसीहा कहा तो किसी ने अपने घर में उनकी तस्वीर लगा ली. कुछ लोगों ने अपने नए जन्मे बच्चों के नाम भी सोनू सूद पर रख दिए.सोनू आज भी जरुरत मंदों की काफी मदद करते दिखाई देते हैं.सोनू ने तय किया है कि वे अब से फिल्मों में नेगेटिव किरदार नहीं करेंगे.

सोनू सूद ने कोरोना काल में जरूरतमंदों की मदद करने के लिए एक और पहल की है. कोरोना के चलते जो लोग अपनी रोजी-रोटी खो चुके हैं, सोनू उन जरूरतमंद लोगों को मुफ्त ई-रिक्शा बांट रहे हैं. सोनू सूद के इस नए इनीशिएटिव का नाम हाउ ‘खुद कमाओ घर चलाओ’. सोनू सूद ने अपने इस इनीशिएटिव को सोशल मीडिया पर शेयर किया है.

Sonu Sood

कोरोना काल में सोनू सूद गरीबों के मसीहा बनकर सामने आए हैं, जिसके चलते आम लोगों के बीच वो एक सुपर हीरो बन चुके हैं. एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, सोनू ने कहा, “‘मुझे ऐसा लगता है कि सामान देने से ज्यादा महत्वपूर्ण है लोगों को रोजगार के अवसर देना. मुझे यकीन है कि इस पहल से उन्हें फिर से अपने पैरों पर खड़े होने में मदद मिलेगी.”

ख़बरों के अनुसार, सोनू सूद 10 करोड़ रुपये जुटाने और जरूरतमंदों की मदद करने के लिए मुंबई में अपनी आठ संपत्तियों को गिरवी रख चुके हैं. सोनू ने बैंक से प्रॉपर्टी के बदले लोन लिया है. खबरों की मानें, तो सोनू ने 10 करोड़ के लोन पर 5 लाख रुपये के पंजीकरण शुल्क का भुगतान किया है.

कोरोना वायरस से जब पूरी दुनिया जूझ रही थी और सब लोग घरों में लॉकडाउन थे, तब बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद हजारों लोगों की मदद कर रहे थे. कोरोना काल में सोनू सूद मुसीबत में फंसे लोगों के लिए मसीहा बनकर सामने आए और उनकी मदद की. सोनू सूद ने हज़ारों प्रवासी मज़दूरों को उनके घरों तक पहुंचाने का नेक काम किया, जिससे आम जनता उनकी कायल हो गई.

यह भी पढ़ें: सिद्धार्थ शुक्ला पर नशे की हालत में मारपीट का आरोप, वीडियो हुआ वायरल, सिद्धार्थ ने इस बारे में कहा ये… (Sidharth Shukla Accused For Drunk Driving, Video Goes Viral On Social Media)

एक्टर सोनू सूद को लोग अब ग़रीबों का मसीहा मानते हैं. लॉकडाउन में उन्होंने प्रवासी मज़दूरों को जो घर भेजकर मदद करने का सिलसिला शुरू किया था वो अब और विस्तृत रूप ले चुका है. कभी किसी का इलाज कराते हैं वो तो कभी स्टूडेंट्स की मदद करते हैं. लोगों के मन में एक यह भी प्रश्न रहता है कि इतना फंड वो लाते कहां से हैं. ज़ाहिर है पैसे जुटाना भी आसान काम नहीं है और इसीलिए सोनू ने मुंबई के जुहू इलाक़े में स्थित अपनी आठ प्रॉपर्टीज़ गिरवी रख दी हैं.
सोनू ने अपनी दो दुकानें और छह फ़्लैट्स गिरवी रख दस करोड़ रुपये जुटाए हैं ताकि वो खुले दिल से लोगों की मदद कर सकें.

Sonu Sood

हालाँकि सोनू की ओर से इस बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है, पर रिपोर्ट्स की मानें तो यह प्रॉपर्टी सोनू और उनकी पत्नी के नाम हैं और उन्होंने बैंक से प्रॉपर्टी के बदले लोन लिया है. बताया गया है कि सोनू ने 10 करोड़ के लोन पर 5 लाख रुपये के पंजीकरण शुल्क का भुगतान किया है. सोनू के जज़्बे को सभी सलाम करते हैं और हाल ही में उन्हें पंजाब में चुनाव आयोग ने ब्रांड ऐम्बैसडर भी बनाया था जिसके तहत वो लोगों में एथिकल वोटिंग के लिए जागरूकता फैलाएंगे. सोनू ने तब भी ख़ुशी ज़ाहिर की थी कि उनके राज्य में उन्हें यह सम्मान मिला.
सोनू के समाज सेवा के जज़्बे को अब हर स्टेट पर पहचान मिलने लगी है और वो भी अब इससे पीछे नहीं हटना चाहते, तभी तो अपना घर और दुकानें तक गिरवी रख वो फ़ंड्स जुटा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: जैस्मिन भसीन ने माना अली गोनी संग है रिश्ता, 3 साल से डेट कर रहे हैं दोनों (Big Boss 14: Jasmin Bhasin Confesses Love For Aly Goni)

याहू की बेस्ट पर्सनैलिटीज़ ऑफ 2020 की लिस्ट जारी हो चुकी है. याहू की इस टॉपर्स की लिस्ट में शुमार होनेवाले में सोनू सूद का भी नाम है. एक्टर सोनू सूद ने जिस तरह पैनडेमिक में लोगों की मदद की, वो सच में एक रियल लाइफ हीरो के रूप में उभरकर सामने आए हैं…

Sonu Sood

लाखों माइग्रेंट वर्कर्स को घर पहुंचाने से लेकर, ज़रूरतमंदों की मदद तक, छात्रों को स्कॉलरशिप दिलाने से लेकर बेरोजगारों को रोजगार दिलाने तक सोनू ने बहुत कुछ किया है और लोगों के दिलों में असली हीरो के रूप में अपनी एक अलग पहचान बना ली है और अब सोनू बुजुर्गों के लिए एक पहल की शुरुआत करने जा रहे हैं.

अब ‘रुक जाना नहीं’ मिशन के तहत कराएंगे बुजुर्गों के घुटनों की सर्जरी

Sonu Sood

और अब नए साल में सोनू सूद नए मिशन की शुरुआत करने जा रहे हैं. 2021 में सोनू सूद ने बुजुर्गों के घुटनों की मुफ्त सर्जरी यानी फ्री नी रिप्लेसमेंट सर्जरी कराने का फैसला किया है.अपने इस मिशन की घोषणा उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए किया है. उन्होंने ट्विटर पर एक पोस्टर शेयर किया है, जिसमें वह नजर आ रहे हैं और साइड में व्हीलचेयर पर बैठे लोग और छड़ी पकड़े हुए लोगों की प्रतीकात्मक तस्वीरें दिख रही हैं. पोस्टर पर तिरंगे में ‘रुक जाना नहीं’ लिखा है. साथ ही पोस्टर में ये भी लिखा है कि ये वरिष्ठ नागरिकों के लिए एक मिशन है जो जल्द ही लॉन्च होगा. ये पोस्टर शेयर करते हुए उन्होंने लिखा- ‘हमारा अस्तित्व हमारे बड़े-बुजुर्ग हैं.’ सोनू सूद का ये मिशन वरिष्ठ नागरिकों को घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी कराने में मदद करेगा.

‘अब हमारी बारी है यह सुनिश्चित करने की कि हमारे बुजुर्ग चल सकें’- सोनू सूद

Sonu Sood

एक इंटरव्यू में अपने इस मिशन पर बात करते हुए सोनू ने बताया कि हमारे यहां अक्सर देखा गया है कि बुजुर्गों को तब तक चिकित्सा की मुहैया नहीं होती जब तक कि यह जीवन के लिए खतरनाक बीमारी न हो. लोग मुझसे कहते हैं, ‘जब आप बच्चों के दिल के ऑपरेशन करा सकते हैं तो बुजुर्गो की नी ट्रांसप्लांट सर्जरी क्यों नहीं? मेरा मानना है कि जब आप बच्चे थे, तो आपके माता-पिता ने आपको चलना सिखाया था. अब आपकी बारी है यह सुनिश्चित करने की कि वे चल सकें. ”

‘मैं चाहता हूँ, बुजुर्ग खुद को उपेक्षित न महसूस करें

Sonu Sood

सोनू ने आगे कहा, “ऐसा नहीं है कि सभी बच्चे अपने माता-पिता की जरूरतों के प्रति लापरवाह हैं. वे माता पिता की घुटने की सर्जरी के लिए आगे आते हैं, लेकिन अक्सर माता-पिता बच्चों के पैसे खर्च होंगे, ये सोचकर उन्हें रोक देते हैं और फिर बच्चे भी उन पैसों का इस्तेमाल दूसरी जरूरतों के लिए करते हैं. इस तरह बुजुर्ग उपेक्षित ही रह जाते हैं. मैं ऐसे बुजुर्गों के घुटनों की सर्जरी के लिए कुछ करना चाहता हूं, ताकि उन्हें यह महसूस न हो कि वे हमारे समाज का एक बेकार हिस्सा हैं. 2021 में मैं नी ट्रांसप्लांट सर्जरी को अपनी प्राथमिकता बनाना चाहता हूं.”

एक बार फिर फैन्स का दिल जीत लिया सोनू सूद ने

Sonu Sood

कहना न होगा कि सोनू के इस मिशन की लोग जमकर तारीफ कर रहे हैं और कॉमेंट्स लिखकर उनकी हौसला अफजाई कर रहे हैं. लोग लिख रहे हैं कि ‘एक ही दिल है, कितनी बार जीतोगे सर’ जबकि एक ने लिखा कि ‘इससे अच्छा क्या हो सकता है…एक नई सुबह..’ तो एक अन्य फैन ने लिखा- ‘महान लोगों के विचार’.

सोनू के अन्य मिशन

Sonu Sood

सोनू सूद ने कुछ दिनों पहले विदेशों में मेडिकल की पढ़ाई करनेवाले स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप देने के लिए SONUISM की शुरुआत की थी. इससे पहले, वह टेक्निकल कोर्स में स्कॉलरशिप देने के लिए, रोजगार उपलब्ध कराने के लिए, सर्जरी कराने के लिए, सिविल सर्विसेज की एक्जाम्स के प्रशिक्षण जैसी बहुत सी चीजों के लिए कई प्लेटफॉर्म लॉन्च कर चुके हैं. इसके अलावा पेंडमिक में मजदूरों की हर तरह से सहायता करके पहले ही वो रियल लाइफ हीरो का खिताब जीत चुके हैं.