Sports Career

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और महान क्रिकेटर कपिल देव को गुरुवार रात एक बजे सीने में दर्द की शिकायत हुई, उन्हें दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां इमेर्जेंसी में उनकी एंजियोप्लास्टी की गई. फ़िलहाल उनकी हालत स्थिर बताई जा रही है और कहा जा रहा है कि वो ख़तरे से बाहर हैं.

फैंस इस खबर से घबरा गए हैं और उनके जल्द ठीक होने की दुआ कर रहे हैं. उनके जानकार बता रहे हैं कि कुछ दिन पहले जब उन्होंने देखा था तो काफ़ी कमज़ोर लग रहे थे. कपिल का कहना था कि वो डायबिटीज के कारण स्वास्थ्य समस्याओं से जूझ रहे हैं.

Kapil Dev

सभी जानते हैं कि कपिल ने भारत को 1983 में उस वक़्त विश्व विजेता बनाया था जब क्रिकेट की दुनिया में वेस्ट इंडीज़ की तूती बोलती थी और भारत को बेहद कमज़ोर टीम माना जाता था.

Kapil Dev

कई सेलिब्रिटीज़ उनके जल्द ठीक होने की दुआएँ कर रहे हैं और सोशल मीडिया के ज़रिए उनके बेहतर स्वास्थ्य की कामनाएँ भेज रहे हैं.

Kapil Dev
Kapil Dev
Kapil Dev

हम भी उनके बेहतर स्वास्थ्य की दुआ करते हैं.

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन- संयुक्त परिवार में रहने के फ़ायदे… (Lockdown- Advantages Of Living In A Joint Family)

महेंद्र सिंह धोनी सबसे पॉप्यूलर क्रिकेटर हैं और ipl में भी उनकी टीम चेन्नई सबकी फ़ेवरेट है. देखें धोनी के यंग एज और बचपन की ऐसी तस्वीरें जो आपको हैरान कर देंगी.

विराट के बचपन की क्यूट तस्वीरें सिर्फ़ इस रिवाइंड लुक में, देखें उनका यह वीडियो और जानें कितना बदला है उनका लुक इस दौरान.

रोहित शर्मा का रिवाइंड लुक आपको ज़रूर पसंद आएगा.

दादा सौरव गांगुली बहुत फ़ेमस हैं और उनकी ये अनसीन तस्वीरें यंग एज से लेकर बचपन तक की आपको ज़रूर गुज़रे दौर में के जायेंगी.

यह भी पढ़ें: कोकिला मोदी से लेकर कमोलिका तक, देखें अपने फेवरेट टीवी स्टार्स के रिवाइंड लुक्स! (Watch Rewind Looks Of Your Favourite TV Actresses)

बच्चे तो बच्चे होते हैं बेहद प्यारे और क्यूट. सानिया मिर्ज़ा भी अक्सर अपने बेटे इज़हान की क्यूट पिक्स सोशल मीडियापर शेयर करती रहती हैं और हाल ही में वो अपने इंस्टाग्राम से बता रही हैं कि लॉकडाउन के दौरान खुद को बिज़ी रखने केलिए वो आजकल क्या कर रही है. 

तो आजकल सानिया अपने बेटे की अडोरेबल पिक्स शेयर कर रही हैं और हाल ही में एक पिक्चर उन्होंने पोस्ट की हैजिसमें इज़हान मलिक टेनिस कोर्ट में हाथ में रैकेट लिए नज़र आ रहे हैं और वो सच में लग रहे हैं क्यूट लिटल चैम्प.

स्पोर्ट्स मैनेजमेंट
खेल में दिलचस्पी रखने वालों के लिए स्पोर्ट्स मैनेजमेंट एक अच्छा करियर ऑप्शन है. इसके ज़रिए वे अपनी पसंद और शौक़ को प्रो़फेशन बना सकते हैं. आइए, स्पोर्ट्स मैनेजमेंट से जुड़े क्षेत्रों के बारे में जानने की कोशिश करते हैं.

करियर ऑप्शन
प्लेयर (खिलाड़ी), फ़िज़िकल एज्युकेशन इंस्ट्रक्टर, कोच, स्पोर्ट्स मैनेजर, स्पोर्ट्स एडमिनिस्ट्रेटर, एम्पायर या रेफ़री, स्पोर्ट्स मेडिसिन (यदि आप मेडिकल फ़ील्ड से जुड़े हैं), स्पोर्ट्स जर्नलिस्ट आदि स्पोर्ट्स मैनेजमेंट से जुड़े पद हैं. इसके अलावा कई निजी व सरकारी स्पोर्ट्स इंस्टिट्यूट भी कई तरह के स्पोर्ट्स स्पॉन्सर करते हैं. वहां भी स्पोर्ट्स टीचर, कोच आदि की ज़रूरत होती है. आप किसी स्पोर्ट्स क्लब में मैनेजर के रूप में भी काम कर सकते हैं.

शैक्षणिक योग्यता
ग्रेज्युएशन में कम से कम 40% मार्क्स होने ज़रूरी हैं. स्पोर्ट्स से जुड़ा कोई कोर्स करना भी ज़रूरी है, जैसे-बैचलर इन फ़िज़िकल एज्युकेशन आदि.

क्या सिखाया जाता है?
स्पोर्ट्स मैनेजमेंट में सोशल और एथिकल रिलेवेन्स ऑफ़ स्पोर्ट्स मैनेजमेंट, स्पॉन्सरशिप, मार्केटिंग एंड मर्चन्डाइस ऑफ़ स्पोर्ट्स, इंटररिलेशनशिप बिटवीन फ़ायनांस एंड स्पोर्ट्स, कम्युनिकेशन विद इलेक्ट्रॉनिक एंड प्रिंट मीडिया, स्पोर्ट्स संबंधी क़ानून का ज्ञान, स्पोर्ट्स एथिक्स की जानकारी, स्पोर्ट्स ऑर्गनाइजेशन आदि बातों पर ज़ोर दिया जाता है.

स्पोर्ट्स मैनेजर का क्या काम होता है?
स्पोर्ट्स मैनेजर को स्पोर्ट्स एजेंट भी कहते हैं. प्लेयर्स के शेड्यूल, करियर प्रोग्रेशन, बिज़नेस प्रमोशन, मीडिया एंड पब्लिक रिलेशन संबंधी काम स्पोर्ट्स मैनेजर के होते हैं. साथ ही बजटिंग, फ़ायनांस से जुड़ी ज़िम्मेदारी भी उसी के कंधों पर होती है.

स्पोर्ट्स एडमिनिस्ट्रेटर का काम
सुपरवाइज़िंग के साथ-साथ स्पोर्ट्स एडमिनिस्ट्रेटर स्पोर्ट्स एक्टिविटी व इवेंट की प्लानिंग और उसे मैनेज भी करता है, जैसे- नेशनल व डोमेस्टिक क्रिकेट, फुटबॉल, हॉकी, गोल्फ़ टूर्नामेंट आदि.

ज़रूरी योग्यताएं
कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होनी चाहिए.
क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल आदि में से किसी एक खेल के प्रति पैशनेट होना ज़रूरी है.
खेल के प्रति ईमानदार व उत्सुक होना चाहिए.
संबंधित खेल के रूल्स, रेग्युलेशन और क़ानून की पूरी जानकारी होनी ज़रूरी है.
लीडरशिप या कैप्टनशिप क्वालिटी होनी चाहिए.
शारीरिक रूप से पूरी तरह स्वस्थ होना भी ज़रूरी है.

प्रमुख विश्वविद्यालय व संस्थान
अलगप्पा यूनिवर्सिटी, तमिलनाडु- (पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन स्पोर्ट्स मैनेजमेंट)
इंदिरा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ़ फ़िज़िकल एज्युकेशन एंड स्पोर्ट्स साइन्स, नई दिल्ली (पोस्ट ग्रेज्युएट डिप्लोमा इन स्पोर्ट्स मैनेजमेंट)
इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट, अहमदाबाद (मैनेजमेंट डेवलपमेंट प्रोग्राम इन प्रो़फेशनल मैनेजमेंट एंड स्पोर्ट्स ऑर्गनाइज़ेशन)