Tag Archives: sports

मोदीजी के ‘भारत की लक्ष्मी’ मुहिम को दीपिका पादुकोण व पीवी सिंधु का साथ… (Deepika Padukone And PV Sindhu Join Modiji’s ‘Bharat Ki Laxmi’ Movement)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाए जा रहे मुहिम ‘भारत की लक्ष्मी’ को अभिनेत्री दीपिका पादुकोण व बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधु का भरपूर समर्थन मिल रहा है. दरअसल, नवरात्रि-दशहरा के समय मोदीजी ने बेटियों व महिलाओं के सशक्तिकरण को लेकर कई अहम् बातें की थीं. उसमें से एक था कि इस बार त्योहारों पर ख़ासकर दिवाली पर देवी पूजा के साथ-साथ भारत की बेटियां यानी स्त्रियों को भी पूजा जाएं यानी उन्हें उचित मान-सम्मान दिया जाए. महिला सशक्तिकरण को और भी मज़ूबत बनाया जाए.

 

उनकी इस अभियान का नारी जगत में काफ़ी सकारात्मक प्रभाव देखने को मिला. सभी ने प्रधानमंत्री के इस पहल की काफ़ी सराहना की. अब शटलर पीवी सिंधु व दीपिका पादुकोण ने पीएम के इस आंदोलन की प्रशंसा करने के साथ-साथ इससे जुड़ने को लेकर सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है.

सिंधु ने अपनी बात कुछ इस तरह कही- समाज तब आगे बढ़ता है, जब स्त्रियों को मज़बूत बनाया जाता है. उनकी उपलब्धियों को मान-सम्मान दिया जाता है. मैं नरेंद्र मोदीजी का और भारत की लक्ष्मी मूवमेंट का समर्थन करती हूं. इसके ज़रिए देश की उल्लेखनीय स्त्रियों की असाधारण उपलब्धियों का उत्सव मनाएं. इस बार दीपावली पर नारीत्व का जश्‍न मनाएं.

वीडियो में दीपिका पादुकोण व पीवी सिंधु सोशल वर्कर सिंधुताई सप्काल का भी ज़िक्र करते दिखाई देती हैं. वे कहती हैं कि एक लक्ष्मी अपने घर में समृद्धि और सुख लाती है, पर सिंधु ताई जैसे देश की बेटियां पूरे देश का नाम रोशन करती हैं. यह दिवाली ऐसी ही भारत की लक्ष्मियों के नाम करें.

प्रधानमंत्री ने भी इनके शेयर वीडियो का उत्तर बहुत ही सुंदर तरी़के से देते हुए कहा कि भारत की नारी शक्ति, प्रतिभा व दृढ़ता, समर्पण तथा दृढ़ संकल्प का प्रतीक है. हमें स्त्रियों के कल्याण के लिए हमेशा कोशिश करते रहना चाहिए, इस तरह के संस्कार दिए गए हैं. सिखाया गया है.

पीएम मोदी द्वारा शुरू की गई मुहिम बेटियों को सम्मानित करने के अलावा महिला सशक्तीकरण पर ध्यान केंद्रित करती है, जिन्होंने जनता की भलाई के लिए विभिन्न क्षेत्रों में अपनी उपलब्धियों के साथ एक अलग पहचान बनाई है. नारी अपनी मेहनत, लगन व टैलेंट से परिवार, समाज और देश का नाम रोशन कर रही हैं. हम सभी को भारतीय नारी पर गर्व है.

चलें हम सभी इस अभियान से जुड़े और इस बार दिवाली पर ही नहीं हर दिन नारी को मान-सम्मान, अधिकार और भरपूर स्नेह दें.

Bharat Ki Laxmi Movement

यह भी पढ़ेBirthday Special: रानी मुखर्जी की पीए रह चुकी हैं परिणीति चोपड़ा (Happy Birthday Parineeti Chopra)

 

#Congratulations Golden Girl Sindhu: बधाई!..पीवी सिंधु ने स्वर्ण पदक जीतकर रचा इतिहास… (BWF World Championships 2019: PV Sindhu Wins Historic Gold)

भारत की बैडमिंटन स्टार खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप में ऐतिहासिक जीत के साथ गोल्ड मेडल अपने नाम किया.

स्विट्जरलैंड के बसेल में रविवार को खेले गए फाइनल मुक़ाबले में सिंधु ने जापान की नोजोमी ओकुहारा को सीधे सेटों में 21-7, 21-7 से मात देकर इतिहास रच दिया. साथ ही ओलंपिक मेडलिस्ट 24 वर्षीय सिंधु ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैम्पियनशिप में गोल्ड जीतनेवाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनने का गौरव भी हासिल किया. पीवी सिंधु ने यह जीत अपनी माँ को समर्पित करते हुए ‘हैप्पी बर्थडे मॉम’ कहकर उन्हें जन्मदिन की मुबारकबाद भी दी. हम सभी की तरफ़ से बहुत-बहुत बधाई!

विश्व विजेता सिंधु की गोल्ड जर्नी…
* वर्ल्ड रैंकिंग में पांचवें पायदान पर काबिज पीवी सिंधु ने इस बार टूर्नामेंट के शुरुआत से ही हर मैच में अपना दबदबा बनाए रखा.
* जहां क्वार्टर फाइनल में पूर्व वर्ल्ड चैंपियन को हराया, वहीं सेमीफाइनल में चीन की खिलाड़ी शेन यू फेई को मात्र 40 मिनट में ही हराकर बाहर कर दिया.
* फाइनल में वर्ल्ड रैंकिंग में चौथे नोज़ोमी ओकुहारा के ख़िलाफ सिंधु ने टॉस जीतकर पहले सर्व करने का फ़ैसला किया.
* मात्र सोलह मिनट में 21-7 से उन्होंने पहला सेट जीत लिया.
* दूसरा सेट भी सिंधु ने 21-7 से अपनी चिर प्रतिद्वंद्वी ओकुहारा को हराकर सीधे सेटों में एकतरफ़ा जीत हासिल की.
* फाइनल मुक़ाबला 37 मिनट तक चला. इस ऐतिहासिक जीत के साथ ही सिंधु ने नोज़ोमी के विरुद्ध अपना करियर रिकॉर्ड 9-7 का कर लिया है.
* पीवी सिंधु साल 2017 से लगातार तीसरे साल यानी 2019 में बैडमिंटन वर्ल्ड चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंची थीं.
* उन्होंने साल 2014 और 2015 में कांस्य पदक जीता था.
* दो साल से वे रजत पदक से ही संतोष कर रही थीं.
* आख़िरकार फाइनल में हार के क्रम को तोड़ते हुए पहली बार गोल्ड मेडल जीतकर उन्होंने इतिहास रच ही दिया.
* इस तरह सिंधु ने अपने करियर का पहला स्वर्ण पदक और इस टूर्नामेंट का अब तक का अपना पांचवां पदक जीता.
* पिछले कई सालों से पीवी सिंधु बड़े मैचों में हारती आ रही थीं. ऐसे में यह यादगार जीत उन्हें साल 2020 में टोक्यो, जापान में होनेवाले ओलंपिक के लिए यक़ीनन बेहद प्रोत्साहित करेगा.

 

शानदार उपलब्धियां
*रियो ओलिंपिक में  एकल खिताब में सिल्वर मेडल जीतनेवाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी.

* साल 2016 में चीन ओपन जीती.
* पद्मश्री, राजीव गांधी खेल रत्न आदि पुरस्कारों से सम्मानित.
* साल 2018 के फोर्ब्स इंडिया सेलिब्रिटी १०० की सूची में १८ महिलाओं में से एक सिंधु रही हैं. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अब तक उन्होंने बेहतरीन प्रदर्शन किया है.
* विश्व चैंपियनशिप, कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियाई खेल, थाइलैंड ओपन व इंडिया ओपन में सिल्वर मेडल जीत चुकी हैं.
* दस सबसे अधिक कमाई करनेवाले स्पोर्ट्स खिलाड़ियों में से एक हैं पीवी सिंधु.
* १६ दिसंबर को वर्ल्ड टूर फाइनल्स जीतकर पहली भारतीय शटलर द्वारा यह उपलब्धि हासिल करने का रिकॉर्ड भी अपने नाम किया.

वर्ल्ड टूर फाइनल्स अपडेट
* वर्ल्ड टूर फाइनल्स इसके पहले सुपर सीरीज़ फाइनल के नाम से जाना जाता था.
* इस प्रतियोगिता में विश्व के आठ टॉप प्लेयर हिस्सा लेते हैं.
* अब तक भारतीय शाइनिंग स्टार साइना नेहवाल ने इसमें सात बार हिस्सा लिया है और साल २०११ में उपविजेता रही थीं.
* इसके अलावा साल 2009 में मिक्स डबल्स में ज्वाला गट्टा-वी दीजू की जोड़ी उपविजेता रही थी.
* पीवी सिंधु लगातार तीन बार से इस प्रतियोगिता में भाग लिया.

पीवी सिंधु- आपको पूर्ण भागीदारी व प्रतिबद्धता के साथ चीज़ें करनी चाहिए. जब भी मैं फाइनल में हारी थी, तो कुछ समय के लिए उदास ज़रूर हुई थी, लेकिन मुझे कभी नहीं लगा कि खेल मेरे लिए खत्म हो गया है, क्योंकि यह एक विकल्प नहीं है. याद रहे जीत के लिए ख़ुद पर विश्वास बेहद ज़रूरी है…

देशभर में बधाइयों की गूंज…
पीवी सिंधु की ऐतिहासिक जीत ने भारतीयों को ख़ुशी व गर्व से भर दिया. हर तरफ़ बधाइयों का तांता सा लग गया. नेता, अभिनेता, खिलाड़ी, तमाम हस्तियों ने उन्हें मुबारकबाद दी. आख़िर शान-अभिमान की बात जो थी, पहली भारतीय बैडमिंटन विश्‍व विजेता बनने की राह में उनकी कड़ी मेहनत, लगन, जीत के जज़्बे को सभी ने सलाम किया.

गौरवशाली पल…
* माँ पी. विजया की आँखों में तो ममता व गौरव से ख़ुशी के आंसू भर गए. क्यों ना हो, आज बेटी ने माँ को जन्मदिन पर स्वर्ण पदक जीतकर अनमोल तोहफ़ा जो दिया था. हैदराबाद में विजयाजी ने भी बेटी की कड़ी मेहनत का ज़िक्र करते हुए कहा- हम सभी बेहद ख़ुश हैं. हमें गोल्ड मेडल का इंतज़ार था.
* प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने विदेश से अपनी स्वदेश की इस होनहार चैंपियन को बधाई देते हुए कहा- प्रतिभाशाली पीवी सिंधु की शानदार जीत ने एक बार फिर भारत को गौरवान्वित किया है. बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने के लिए उन्हें बधाई. बैडमिंटन के प्रति उनकी लगन और समर्पण प्रेरणादायक है. पीवी सिंधु की कामयाबी खिलाड़ियों को प्रेरित करेगी. बी. साई प्रणीत को भी ब्रॉन्ज़ मेडल जीतने के लिए बधाई.
(इसी बीडब्ल्यूएफ वर्ल्ड चैंपियनशिप में भारत के स्टार बैडमिंटन प्लेयर बी. साई प्रणीत ने भी कांस्य पदक जीता है. यह भी उल्लेखनीय इसलिए है कि 36 साल बाद इस प्रतियोगिता में पुरुष वर्ग से किसी ने मेडल जीता है.)
* खेल मंत्री किरण रिजिजू ने फोन करके सिंधु के साथ-साथ कोच पी. गोपीचंद व साई प्रणीत को भी भारतवासियों की तरफ़ से बधाई दी. इसके अलावा उन्होंने पैरा वर्ल्ड चैंपियनशिप में तीन स्वर्ण, चार रजत व पांच कांस्य पदक जीतनेवाले बैडमिंटन खिलाड़ियों मानसी जोशी, प्रमोद भगत, मनोज सरकार को भी मुबारकबाद दी.
* उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू– बेसल में आयोजित बैडमिंटन की वर्ल्ड चैंपियनशिप जीतने पर पी वी सिंधु को हार्दिक बधाई देता हूं. आपकी सफलता देश की नई प्रतिभाओं को भी प्रेरित करेंगी. भावी सफलताओं के लिए शुभकामनाएं!
* भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, राजनाथ सिंह, पीयूष गोयल, स्मृति ईरानी, गौतम गंभीर तमाम राजनीतिक शख्सियतों ने पीवी सिंधु की भूरि-भूरि प्रशंसा की और ढेर सारी बधाइयां दीं.
* शुभकामनाएं देने में खिलाड़ी भी पीछे नहीं रहे. साइना नेहवाल से लेकर सचिन तेंदुलकर तक ने इस यादगार लम्हे को सिंधु को बधाई देते हुए साझा किया.
* फिल्मी सितारे भी पीवी सिंधु की इस विशेष उपलब्धी पर ख़ुद फख्र महसूस करते हुए तारीफों के पुल बांधे. महानायक अमिताभ बच्चन ने गर्वित होते हुए उनके साथ ‘कौन बनेगा करोड़पति शो’ में कुछ वक़्त बिताने का भी ज़िक्र किया.

* पीवी सिंधु फिल्म स्टार रणवीर सिंह की ज़बर्दस्त फैन हैं. पिछले साल रणवीर से हुई अपनी मुलाक़ात को उन्होंने तब शेयर करते हुए उनकी ख़ूब तारीफ़ की थी. सिंधु के वर्ल्ड चैंपियन बनने पर इसी को फिर से शेयर करते हुए रणवीर ने कहा- हां, आख़िरकार, यह सचमुच ख़ुशी का पल था और मेरे लिए भी एक फैन मूमेंट था. आपने हम सभी को गौरवान्वित किया है. चैंप, आपका उत्साह पसंद है. आप हमेशा चमकती रहें.

* साथ ही सुष्मिता सेन, अनुष्का शर्मा, तापसी पन्नू, कोईना मित्रा, रितिक रोशन, शाहरुख ख़ान, आमिर ख़ान आदि अनेक स्टार्स ने बधाइयां दीं.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेसितारों ने दी अरुण जेटलीजी को भावभीनी श्रद्धांजलि… (RIP: Celebrities Mourns Arun Jaitley’s Death)

गोल्डन गर्ल हिमा दास को देश का सलाम (Nation Salutes Hima Das)

  • Hima Das

महीने भर में दौड़ में पांचवा गोल्ड मेडल जीतकर हिमा दास ने इतिहास रच दिया. बधाई+कॉन्ग्रैचुलेशन्स हिमा! गोल्डन जर्नी बरकरार है..

Hima Das

आख़िरकार महीनेभर के अंदर हिमा ने 5 वां गोल्ड भी जीत ही लिया. इस तरह भारत की उड़न परी ने जुलाई महीने में एक और गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया. उन्होंने चेक गणराज्य में नोवे मेस्टो नाड मेटुजी ग्रां प्री में महिलाओं की 400 मीटर रेस में 52.09 सेकंड का समय लेते हुए गोल्ड जीता.
भारत की स्टार धाविका हिमा ने अपने मेहनत, लगन व जज़्बे से हर किसी को प्रभावित किया. आज हर कोई खिलाड़ी, नेता, अभिनेता, सिलेब्रिटीज हिमा दास की उपलब्धियों की तारीफ कर रहे हैं और उन्हें बधाई दे रहे हैं. हिमा भी नम्रतापूर्वक सभी को धन्यवाद देते हुए बधाई स्वीकार कर रही हैं. प्रधानमंत्री से लेकर राष्ट्रपति तक, फिल्म स्टार से लेकर स्पोर्ट्स स्टार तक सभी हिमा दास की लगातार स्वर्णिम जीत को सलाम कर रहे हैं.
बिग बी अमिताभ बच्चनजी ने तो यहां तक कह दिया कि हम सबको आप पर गर्व है हिमा दासजी, आपने भारत का नाम स्वर्ण अक्षरों में लिख दिया!..
ऐक्टर अक्षय कुमार हिमा के प्रदर्शन से इस कदर प्रभावित हुए कि उन्होंने बधाई देते हुए उन पर फिल्म बनाने का प्रस्ताव भी रख दिया. अजय देवगन, तापसी पन्नूू, रवीना टंडन, विवेक ओबेरॉय, प्रीति जिंटा, अर्जुन कपूर, सोनम कपूर आदि फिल्म स्टार्स ने भी हिमा को ढेर सारी बधाइयां दीं.

Hima Das
आज हिमा युवा खिलाड़ियों के लिए एक रोल मॉडल बनकर उभर रही हैं. देश को हिमा दास पर गर्व है. ऐसा लगता है जैसे कल की ही बात हो, जब पिछ्ले साल 2018 में एआईआईएफ वर्ल्ड कप अंडर 20 चैम्पियनशिप के 400 मीटर रेस में उड़न परी हिमा ने गोल्ड जीतकर इतिहास रच दिया था. वे पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं, जिन्होंने इस प्रतियोगिता में यह कारनामा कर दिखाया. इसके पहले एथलीट पी. टी. उषा, मिल्खा सिंह इसके क़रीब भर ही पहुंच पाए थे.

Hima Das
मेरी सहेली की तरफ़ से हिमा दास को उनकी तमाम उपलब्धियों के लिए बहुत-बहुत बधाइयां!.. साथ ही जीत का सिलसिला यूं ही बरकरार रहें, इसकी ढेर सारी शुभकामनाएं!…

– ऊषा गुप्ता

Hima Das

यह भी पढ़े: हिमा दास की गोल्डन दौड़… (Hima Das Wins Fourth International Gold Medal In 15 Days)

 

हिमा दास की गोल्डन दौड़… (Hima Das Wins Fourth International Gold Medal In 15 Days)

विदेश में 15 दिनों में चार गोल्ड मेडल जीत देश का नाम किया रौशन…

भारत की उड़नपरी असम की स्टार धाविका हिमा दास (Hima Das) ने पंद्रह दिनों में चार गोल्ड मेडल (Gold Medal) जीतकर देश का नाम दुनियाभर में रौशन कर दिया. उन्होंने न केवल ख़ुद को, बल्कि देश को कई बार गौरवान्वित होने का मौक़ा दिया. टैलेंटेड यंग स्प्रिंटर ने विदेश में चार अलग-अलग प्रतियोगिता में 200 मीटर की दौड़ में चार स्वर्ण पदक जीतकर अपने हुनर का लोहा मनवाया.

Hima Das

स्वर्णिम सफ़र

* इसी महीने यानी जुलाई की दो तारीख़ को पोलैंड के पोज़नान एथलेटिक्स ग्रांड प्रिक्स में हिमा दास ने 200 मीटर के रेस में 23.65 सेकंड समय लेते हुए अपना साल 2019 का पहला गोल्ड मेडल जीता.

* जीत के सिलसिले को बरक़रार रखते हुए आठ जुलाई को कुंटो एथलेटिक्स प्रतियोगिता में 23.97 सेकंड का समय निकालकर उन्होंने दूसरा स्वर्ण पदक भी जीत लिया.

* उनके जीतने का जुनून इस कदर चरम पर था कि 14 जुलाई को हुए क्लांदो मेमोरियल एथलेटिक्स टूर्नामेंट के 200 मीटर के ही रेस में 23.43 सेकंड में पूरा करते हुए हिमा ने जीत की व गोल्ड की हैट्रिक मारी.

* अपने ज़बर्दस्त दौड़ को जारी रखते हुए उन्होंने चेक गणराज्य में 17 जुलाई को हुए टाबोर एथलेटिक्स प्रतियोगिता में एक बार फिर 200 मीटर की दौड़ में गोल्ड पर बाजी मारी. अपने चौथे गोल्ड को हासिल करने के लिए उन्होंने मात्र 23.25 सेकंड का समय लिया, जो उनके नेशनल रिकॉर्ड के काफ़ी क़रीब रहा. गौर करनेवाली बात यह है कि इसी दौड़ में भारत की ही धाविका वी. के विसमाया ने 23.43 सेकंड का समय लेते हुए रजत पदक जीता. खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई!

अचीवमेंट्स

* हिमा दास वर्ल्ड जूनियर चैंपियन हैं.

* 400 मीटर के रेस में नेशनल रिकॉर्ड होल्डर हैं और उनका सर्वश्रेष्ठ समय 23.10 है, जो अभी तक जीते चारों पदक में वे इसके क़रीब भी नहीं पहुंच पाई हैं.

* वे आईएएएफ वर्ल्ड अंडर 20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर रेस टूर्नामेंट में गोल्ड मेडल जीतनेवाली पहली भारतीय महिला एथलिट हैं.

* 400 मीटर के रेस में भी 51.46 सेकंड का समय लेकर सोने के तमगे पर उन्होंने कब्ज़ा जमाया.

* हिमा ने हाल ही में गुवाहाटी में हुए इंटर स्टेट चैंपियनशिप में भी स्वर्ण पदक जीता.

* साल 2018 में जकार्ता में हुए 18 वें एशियन गेम्स में 400 मीटर में नेशनल रिकॉर्ड तोड़ते हुए सिल्वर मेडल जीता था.

* एक तरफ़ जहां हिमा दास का राज्य असम बाढ़ के कहर से जूझ रहा हैे, तो दूसरी तरफ़ अपनी मेहनत-लगन और मज़बूत इरादों के साथ हिमा असम व भारत का नाम रौशन कर रही हैं.

* उन्होंने अपनी आधी तनख़्वाह भी बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए दी है.

* पीठदर्द की समस्या से जूझने के बावजूद दिनोंदिन हिमा बेहतरीन प्रदर्शन कर रही हैं. वेलडन!

सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन

* 100 मीटर में 11.74 सेकंड

* 200 मीटर में 23.10 सेकंड

* 400 मीटर में 50.79 सेकंड

* 4द400 मीटर रिले में 3.33.61 में.

पर्सनल लाइफ

* हिमा दास का जन्म 9 जनवरी, 2000 को असम के नगांव जिले के कांधूलिमारी गांव में हुआ था.

* माता-पिता जोनाली व रोनजीत दास की चावल की खेती है.

* वे चार भाई-बहनों में सबसे छोटी हैं.

* हिमा स्कूल के दिनों में लड़कों के साथ फुटबॉल खेलती थीं और इसी में अपना करियर बनना चाहती थीं.

* जवाहर नवोदय स्कूल के पीटी टीचर शमशुल हक की सलाह पर उन्होंने दौड़ना शुरू किया.

* ट्रैक एंड फील्ड की इस प्रतिभावान खिलाड़ी के कोच निपोन दास हैं.

* वे ढिंग एक्सप्रेस के नाम से मशहूर हैं.

भविष्य में होनेवाली अन्य प्रतियोगिता के लिए मेरी सहेली की ओर से ढेर सारी शुभकामनाएं! ऑल द बेस्ट!

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेगोल्डन गर्ल हिमा दास को देश का सलाम (Nation Salutes Hima Das)

आईपीएल में क्रिकेटर्स के बच्चों की धूम… (Children Bring Joy To IPL)

यूं तो हर आईपीएल सीजन (IPL Season) मनोरंजन से भरपूर रहता है. लेकिन इस बार क्रिकेटर्स (Cricketers) से अधिक उनकी फैमिली, बच्चे व साथी सुर्ख़ियों में रहें. बच्चों में ज़ीवा धोनी, समायरा शर्मा, हिनाया हीर, ग़्रेशिया, ज़ोरावर ख़ास आकर्षण का क्रेंद रहें. इसमें ज़ीवा-ग्रेशिया की जोड़ी तो विशेष रूप से अपनी चुलबुली-शरारतभरी हरकतों के कारण सोशल मीडिया पर छाई रहीं.

Cricketer Kids in IPL

साक्षी धोनी, प्रियंका रैना, गीता बसरा, रितिका सचदेह, आयशा धवन, अनुष्का शर्मा, हैजल कीच अपने-अपने क्रिकेटर पतियों को चीयर्स करने के लिए हर मैच में ख़ासतौर पर स्टेडियम में मौजूद रहतीं. इनके साथ बच्चों का हुजूम भी ख़ूब धूम मचाता रहता. आईपीएल के आगाज़ से लेकर अब तक के अंतिम पड़ाव पर हर रोज़ क्रिकेटर्स के बच्चों की मस्ती, मासूम अदाएं, कुछ बदमाशियां तस्वीरों, वीडियो के रूप में देखने को मिलती रही हैं.

लीग के अंतिम मैच में मुंबई इंडियंस के कैप्टन रोहित शर्मा अपनी बेटी समायरा के साथ मैदान में खेलते-खिलाते सभी को ख़ूब पसंद आए. इसके पिक्चर्स व वीडियो दिनभर सोशल मीडिया पर छाए रहे. इन ख़ूबसूरत लम्हों की सेल्फी लेना नहीं भूली उनकी पत्नी रितिका.

स्टार किड ज़ीवा की लोकप्रियता देखते हुए लगता है कि वे जल्द ही पॉप्लुरिटी में तैमूर को भी मात दे देंगी. वैसे भी इस बार के आईपीएल में बच्चों में बेटियां ने अधिक जमकर धमाल मचाया. ज़ीवा, हिनाया, ग्रेशिया की तस्वीरें-वीडियो तो रोज़ ही कुछ न कुछ नया कमाल व धमाचौकड़ी का नज़ारा पेश करती रहतीं. ये मासूम भविष्यवाणी करने में भी पीछे नहीं रहे, जैसे चेन्नई के एक मैच से पहले हिनाया ने डंके की चोट पर ऐलान कर दिया था कि आज पापा (हरभजन सिंह) की टीम जीतेगी. ज़ीवा-ग्रेशिया की शॉपिंग के वीडियो ने भी सभी का ख़ूब मनोरंजन किया. साथ ही ज़ीवा द्वारा चीखते-चिल्लाते हुए अपने पापा महेन्द्र सिंह धोनी को चीयर्स करना लोगों को ख़ूब लुभाया. क्रिकेटर्स भी अपने बच्चों के साथ खेलते-मस्ती करते हुए ख़ूब नज़र आए. जहां एमएस धोनी अपनी बिटिया के साथ अक्सर धूम मचाते रहे, तो वहीं हरभजन सिंह, सुरेश रैना, शिखर धवन,

रोहित शर्मा ने भी अपने बच्चों के साथ कभी स्विमिंग करते, टेबल टेनिस खेलते, खाते-पीते मस्ती करते हुए रिश्तों के कई रंग भरते रहे. इन खिलाड़ियों ने यह साबित किया है कि वे दमदार प्लेयर के साथ-साथ प्यारे व ज़िम्मेदार पिता व जीवनसाथी भी हैं.

भारतीय ही नहीं विदेशी खिलाड़ियों के बच्चों ने भी रंग जमाया. डेविड वॉरर्न, क्रिस गेल, कीरोन पोलॉर्ड, ब्रावो क्रिकटर्स ने भी हर मैच, हर लम्हे का लुत्फ़ उठाया. ईस्टर डे पर सभी बच्चों ने अपनी मासूम अदाओं से हर किसी का दिल जीत लिया. इसमें कोई दो राय नहीं कि इस बार का आईपीएल इन नन्हें फ़रिश्तों के नाम रहा. हां, थ्री चीयर्स फॉर ऑल लिटिल एंजेल्स भी. सच, हम सभी को इन बच्चों ने अपनी धमाचौकड़ी से धूम मचाते हुए ख़ूब क्रेज़ी किया. आइए, आईपीएल के मैचेस में क्रिकेटर्स व बच्चों के साथ कैमरे में कैद हुए ख़ास लम्हों पर एक नज़र डालें…

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPL

Cricketer Kids in IPLCricketer Kids in IPL

 

 

 

 

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़ेस्पोर्ट्स लवर के लिए स्पोर्ट्स मैनेजमेंट है बेस्ट करियर विकल्प (Best Career Option For Sports’ Lover

Congratulations! रोहित शर्मा बन गए हैं पापा… (Rohit Sharma And Ritika Blessed With A Baby Girl)

Rohit Sharma

Rohit Sharma

Congratulations! रोहित शर्मा बन गए हैं पापा… (Rohit Sharma And Ritika Blessed With A Baby Girl)

  • क्रिकेटर रोहित शर्मा अब बन गए हैं पापा. जी हां, रितिका ने रविवार रात को एक प्यारी सी बिटिया को जन्म दिया.
  • रितिका की बहन सीमा ने यह ख़ुशख़बरी सोशल मीडिया के ज़रिये सबसे शेयर की.
  • ग़ौरतलब है कि रोहित और रितिका की शादी को तीन साल हो चुके हैं और अब वो प्राउड पैरेंट्स बन चुके हैं.
  • जहां तक रोहित के क्रिकेटिंग करियर की बात है कि यह साल उनके लिए काफ़ी बेहतरीन रहा, उन्होंने कई नए रेकॉर्ड्स बनाए और अब पर्सनल लाइफ में भी उनकी ख़ुशियां दोगुनी हो चुकी है.
  • हम सबकी तरफ़ से रोहित-रितिका को शुभकामनाएं!

यह भी पढ़ें: हर किसी को जानने चाहिए व्हाट्सऐप के ये 5 हिडेन फीचर्स (5 Hidden Features Of Whatsapp Everyone Must Know)

शादी मुबारक साइना और पी कश्यप! (Congratulations To Saina Nehwal And P Kashyap On Their Marriage)

Saina Nehwal And P Kashyap
शादी मुबारक साइना और पी कश्यप! (Congratulations To Saina Nehwal And P Kashyap On Their Marriage)

बैडमिंटन सुपरस्टार्स साइना नेहवाल (Saina Nehwal) और पी कश्यप (P Kashyap) बंध चुके हैं शादी (Wedding) के बंधन में. साइना ने सोशल मीडिया पर तस्वीर (Pictures) शेयर करके यह ख़ुशख़बरी अपने फैंस को दी. हमारी तरफ़ से दोनों को शुभकामनाएं!

दोनों काफ़ी समय से रिलेशनशिप में थे और बैडमिंटन की दुनिया में दोनों ने ही अपना ख़ास मुकाम हासिल किया है. सोशल मीडिया पर भी दोनों की साथ-साथ की कई तस्वीरें देखी जाती थीं और फैंस इसी इंतज़ार में थे कि कब दोनों मिस्टर एंड मिसेज़ कश्यप बनें.

सिंपल से आउटफिट्स में दोनों ही बेहद प्यारे और शालीन लग रहे थे.

जानें किसकी दुल्हन बनेंगी साइना?… (Find Out Who Saina Is Getting Married T0!)

बधाई हो, बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल (Saina Nehwal) शादी (Wedding) के बंधन में बंध रही हैं. वे अपने साथी खिलाड़ी पी. कश्यप (P. Kashyap) के साथ 16 दिसंबर को शादी कर रही हैं. शादी सिंपल व निजी तरी़के से होगी, पर 21 दिसंबर को ग्रैंड रिसेप्शन भी रखा जाएगा. दोनों के परिवारवालों ने इस रिश्ते के लिए हामी भर दी है और बेहद ख़ुश भी हैं.

 

साइना का सफ़र…

* साइना और परुपल्ली कश्यप दोनों ही हैदराबाद के हैं.

* साल 2005 में पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी में ट्रेनिंग के दौरान दोनों की मुलाक़ात हुई.

* खेल में कश्यप साइना को हमेशा अपना पार्टनर बनाते रहे हैं.

* खेल के अलावा दोनों अक्सर कई मौक़ों पर साथ-साथ देख गए. अभी हाल ही में 8 सितंबर को कश्यप के जन्मदिन पर दोनों ने साथ बिताए लम्होंं को साइना ने अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया था.

* बैडमिंटन की नंबर वन प्लेयर रह चुकी साइना फ़िलहाल वर्ल्ड रैंकिंग में दसवें नंबर पर हैं.

* साइना ओलिंपिक में कांस्य पदक के अलावा विश्‍व कप चैंपियनशिप की उपविजेता भी रही हैं और अब तक बीस से भी अधिक पदक अपने नाम कर चुकी हैं.

* पी. कश्यप ने साल 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था. कभी वे छठे नंबर के प्लेयर हुआ करते थे, पर अपनी इंजरी के चलते फ़िलहाल वर्तमान में 57 रैंकिंग पर हैं.

* 28 की शाइना और 32 साल के हुए कश्यप दोनों की जोड़ंी एक परफेक्ट कपल से कम नहीं है.

* साइना की बायोपीक पर फिल्म भी बन रही है, जिसमें श्रद्धा कपूर उनकी भूमिका निभा रही हैं.

* श्रद्धा कपूर इस रोल के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं.

* बैडमिंटन की बारीक़ियां सीखने के साथ-साथ वे साइना के घर पर भी गई थीं.

* बकौल श्रद्धा साइना की मां उषा ने उन्हें पूरी-छोले, खीर, हलवा, फ्रूट मिल्क जूस आदि एक से एक व्यंजन बड़े ही प्यार से खिलाया.

* साइना के रोल के लिए श्रद्धा साइना के घर-परिवार, ट्रेनिंग सेंटर अन्य सभी छोटी-छोटी चीज़ों का गहराई से अध्ययन कर रही हैं.

* भूषण कुमार निर्मित और अमोल गुप्ते के निर्देशन में बन रही साइना की इस फिल्म की शूटिंग के समय साइना नेहवाल के माता-पिता डॉ. हरवीर सिंह और उषा भी शामिल हुई थीं. उन्होंने श्रद्धा कपूर को बधाई और शुभकामनाएं भी दीं.

*  बकौल साइना के उन्होंने अमोलजी को कहा था कि जब तक श्रद्धा उनकी तरह बैडमिंटन खेलना अच्छी तरह से सीख नहीं जाती, तब तक फिल्म की शूटिंग न करें.

* श्रद्धा ने इसके लिए साइना के कोच पी. गोपीचंद, प्रवीण नायर और साइना से भी बाकायदा ट्रेनिंग ली.

यह भी पढ़े: Oh No: शादीशुदा हैं ये 10 मशहूर सेलेब्रिटीज़ (These Celebrities Are Married And We Didn’t Know)

 

एशियन गेम्स- जीत का सिलसिला यूं ही रहे बरकरार (Asian Games- Well Done Indian Team)

एशियन गेम्स में भारत का शानदार प्रदर्शन रहा. खिलाड़ियों ने बेहतरीन उपलब्धियां हासिल कीं, ख़ासकर जिग्सन जॉनसन, स्वप्ना बर्मन, विकास कृष्ण, विनेश फोगाट, दुती चंद, हिमा दास, पीवी सिंधु आदि का दमदार प्रदर्शन रहा. यह एशियन गेम्स भारत का अब तक का सबसे कामयाब एशियन गेम्स रहा है. सभी खिलाड़ियों ने अपना सौ प्रतिशत दिया.

Asian Games

यह खिलाड़ियों की मेहनत लगन और जीत का जज़्बा ही था कि हर दिन पदक जीतने का सिलसिला चलता रहा. कुश्ती, बैडमिंटन, जैवलिन थ्रो, लॉन्ग जंप, नौकायान, घुड़सवारी, दौड़ आदि में खिलाड़ियों ने कई कीर्तिमान स्थापित किए. इसमें कोई दो राय नहीं कि इस प्रतियोगिता में महिलाओं का काफ़ी दबदबा रहा. पहली बार इस प्रतियोगिता में ब्रिज खेल में भी भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड अपने नाम किया.
उम्मीद के अनुकूल प्रदर्शन ना करने के बावजूद कबड्डी में महिला/पुरुष की टीम ने सिल्वर, हॉकी में महिलाओं ने सिल्वर और पुरुष टीम ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता.
भले ही हम कुछ पदक जीतने से चूक गए, पर इसके बावजूद सभी भारतीय खिलाड़ियों ने लाजवाब खेल का नजारा पेश किया. पदकों के हिसाब से भी इस बार हमारा प्रदर्शन उम्दा रहा. सभी खिलाड़ियों को हमारी ढेर सारी शुभकामनाएं और बधाइयां. साथ ही इसी तरह आनेवाली हर प्रतियोगिताओं में वे अपना लाजवाब प्रदर्शन करते रहें, इसके लिए ऑल द बेस्ट! देशवासियों को सभी खिलाड़ियों पर नाज है. हमारे लिए प्रत्येक भारतीय खिलाड़ी विजेता है!

यह भी पढ़ें: खेल-खेल में बच्चों से करवाएं एक्सरसाइज़ और ख़ुद भी रहें फिट (Indulge In Fitness With Your Children And Get In Shape)

कुछ उपलब्धियों की झलकियांं

स्वप्ना/अरपिंदर ने रचा इतिहास
जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में हर रोज़ भारतीय खिलाड़ियोंं ने उपलब्धियां दर्ज कराई. हेप्टाथलोन में स्वप्ना बर्मन ने और ट्रिपल जंप में अरपिंदर सिंह ने तो इतिहास रच दिया. दोनों ही खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई. 48 सालों में पहली बार देश को ट्रिपल जंप में स्वर्ण पदक हासिल हुआ. मनिका बत्रा व अचंता शरत कमल ने मिक्स्ड टेबल टेनिस में कांस्य पदक जीता. चीन को सेमीफाइनल में हराकर महिला हॉकी टीम बीस साल में पहली बार हॉकी के फाइनल में पहुंची थी.

नौकायन टीम का संघर्ष व जीत

इंडोनेशिया के जकार्ता-पालेमंबर्ग के 18वें एशियाई खेल में जैसे-जैसे एशियन गेम्स आगे बढ़ता रहा, वैसे-वैसे भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन में भी निखार आता रहा. पहली बार रोइंग टीम ने एक स्वर्ण व दो कांस्य के साथ तीन पदक पर कब्ज़ा किया. दत्तू भोकानाल, स्वर्ण सिंह, ओमप्रकाश व सुखमीत सिंह रोइंग मैन्स टीम ने 6:17:17 के समय के साथ गोल्ड अपने नाम किया. दुष्यंत ने बीमार होने के बावजूद कांस्य पदक जीता. भगवान सिंह व रोहित ने लाइटवेट डबल स्कल्स में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. रोइंग टीम को बधाई. रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी ने डबल्स टेनिस में कज़ाकिस्तान के एलेक्सांद्र बुबलिक व डेनिस येवसेयेव को हराकर गोल्ड अपने नाम किया. अनुभवी निशानेबाज़ हीना सिद्धू ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. ख़ुशी के साथ थोड़े ग़म भी भारत के हिस्से में आए यानी पहली बार जहां पुरुष कबड्डी टीम को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा, वहीं महिला कबड्डी टीम ने सिल्वर मेडल जीता.

शार्दुल-अंकिता की सराहनीय जीत

जकार्ता में हर रोज़ देश के युवा खिलाड़ियों ने भी अपना दमख़म दिखाया. 15 साल के शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप इवेंट में रजत पदक जीत देशवासियों को ख़ुश कर दिया. इसके अलावा टेनिस के एकल में अंकिता रैना ने कांस्य पदक अपने नाम किया. अंकिता से पहले साल 2006 में सानिया मिर्ज़ा ने रजत व साल 2010 में कांस्य पदक जीता था.

राही का सटीक निशाना

एशियाड खेल में भारतीय खिलाड़ी दिनोंदिन अपने बेहतरीन प्रदर्शन से सुर्खियां बटोरते रहे. 18 अगस्त-2 सितंबर तक चले इस खेल कुंभ में हर रोज़ एक नया कीर्तिमान स्थापित होता रहा. निशानेबाज़ी में राही सरनबोत ने 25 मीटर पिस्टल में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास ही रच दिया. इसके अलावा भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने हांगकांग को 26-0 से हराकर रिकॉर्ड बनाया.

* एथलेटिक्स में भारत में सबसे अधिक पदक यानी कुल १९ पदक जीते.

* मुक्केबाज़ी में अमित पंघाल के स्वर्ण पदक के साथ भारत के पदकों की संख्या कुल 69 हो गई. यह अब तक का भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है.

*  भारत ने १५ स्वर्ण, २४ रजत और ३० कांस्य के साथ ६९ पदकों पर कब्जा किया.

* १९५१ से शुरू हुए एशियाई खेलों में भारत का यह अब तक का बेस्ट परफॉर्मेंस रहा है.

इंडोनेशिया के जर्काता में हुए एशियन गेम्स में बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, सौरभ चौधरी, लक्ष्य, संजीव राजपूत, अपूर्वी चंदेला, रवि कुमार, अभिषेक वर्मा, दिव्या काकरान के सराहनीय उपलब्धियां रहीं. वैलडन टीम इंडिया!

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (News Time- Today’s Top 5 News)

स्वप्ना/अरपिंदर ने रचा इतिहास
जकार्ता में हो रहे एशियन गेम्स में हर रोज़ भारतीय खिलाड़ी सुनहरी उपलब्धियां दर्ज करा रहे हैं. हेप्टाथलोन में स्वप्ना बर्मन ने और ट्रिपल जंप में अरपिंदर सिंह ने तो इतिहास रच दिया. दोनों ही खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई. 48 सालों में पहली बार देश को ट्रिपल जंप में स्वर्ण पदक हासिल हुआ है. मनिक बत्रा व अचंता शरत कमल ने मिक्स्ड टेबल टेनिस में कांस्य पदक जीता. इसके अलावा चीन को सेमीफाइनल में हराकर महिला हॉकी टीम बीस साल में पहली बार हॉकी के फाइनल में पहुंची है. पदक तालिका में भारत के कुल 54 पदक हो चुके हैं, जिनमें 11 स्वर्ण, 20 रजत और 23 कांस्य पदक हैं.

Top News

बाल वैज्ञानिकों ने बनाया एंटी लैंडमाइन रोबोट
बस्तर के नक्सलियों द्वारा भारतीय जवानों को लैंडमाइन से उड़ाने की क्रिया की प्रतिक्रिया बाल वैज्ञानिकों ने एंटी लैंडमाइन रोबोट बनाकर दी है. इसकी सबसे बड़ी ख़ूबी यह है कि यह रोबोट ज़मीन के नीचे छिपे बारूद, अन्य विस्फोटक सामग्रियों का न केवल पता लगाएगा, बल्कि बम को डिफ्यूज़ भी करेगा. बाल वैज्ञानिकों की टीम ने चार महीने की कड़ी मेहनत के बाद इस रोबोट को बनाने में सफलता हासिल की है. रोबोट में लगे सेंसर से दो सौ मीटर की दूरी पर ज़मीन के सात मीटर तक गहरे छिपे गोलाबारूद का आसानी से पता लगाया जा सकता है. सबसे पहले रोबोट लैंड माइन के बारे बें बताएगा और उसके बाद वहां जाकर बम को निष्क्रिय करेगा. देखा जाए, तो एंटी लैंडमाइन मेटल डिटेक्टर मार्केट में पचास हज़ार से लेकर लाख तक में मिलती है, पर इन होनहार बाल वैज्ञानिकों ने मात्र 6 हज़ार में बनाया है.

ऐसी दीवानगी देखी नहीं
ट्रेन की मुलाक़ात में आंखें चार हुईं. दोनों एक-दूसरे की ओर आकर्षित हुए, पर बात न हो सकी. कुछ ऐसी ही प्रेमकहानी है पश्‍चिम बंगाल के विश्‍वजीत की. अपने प्यार को पाने, बात करने और मिलने की चाहत ने उन्हें इस कदर दीवाना कर दिया कि उन्होंने पूरे शहर में क़रीब चार हज़ार पोस्टर लागा दिया. इतना ही नहीं यूट्यूब पर एक वीडियो अपलोड कर दिया, ताकि उस अनजान हसीना से एक बार फिर रू-ब-रू हो सके.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

जैक्सन को टाइगर की श्रद्धांजलि
दुनियाभर में मशहूर पॉप सिंगर माइकल जैक्सन की डांस का हर कोई दीवाना है. 29 अगस्त पर उनके जन्मदिन पर टाइगर श्रॉफ ने उनकी तरह पहनावे व स्टाइल में उनके गाने पर डांस करके उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर यह वीडियो अपलोड किया था, जिसे अब तक सात लाख से भी अधिक लोगों ने देखा है. बकौल टाइगर वे माइकल जैक्सन की वजह से ही आज इस मुकाम पर है, क्योंकि टाइगर के डांस में अक्सर उनकी झलक देखने को मिलती है.
* माइकल जैक्सन का जन्म 29 अगस्त, 1958 में हुआ था.
* वे मूनवॉक, रोबोट डांस के जनक माने जाते हैं.
* रॉक, पॉप, हिप-हॉप, कंटेम्पररी, पोस्ट डिस्को आदि में उन्हें महारात हासिल थी और हर कोई उनके डांस का फैन था.
* 25 जून, 2009 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया.

आईटीआर न भरने पर पेनाल्टी
मात्र एक दिन रह गया है आईटीआर यानी इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए. यदि आपने अब तक न भरा हो, तो समय पर भर दीजिए, वरना पेनाल्टी भरना पड़ सकता है. क्योंकि 31 अगस्त के बाद जिन लोगों ने आयकर रिटर्न फाइल नहीं की होगी, उन्हें ब्याज़ के भुगतान के साथ पेनाल्टी भी भरना पड़ेगा. ध्यान रहे कि पासपोर्ट बनवाने से लेकर लोन लेने तक में आईटीआर काफ़ी फ़ायदेमंद साबित होता है. उदाहरण के तौैर पर यदि आपकी इनकम 5 लाख रुपए है, तो आपको आईटीआर न भरने पर कम से कम एक हज़ार तक की पेनाल्टी भरनी पड़ सकती है. यदि 5 लाख से अधिक आय है, तो एक दिन की देरी होने पर 5 हज़ार तक की पेनाल्टी भरनी होगी. साथ ही 31 दिसंबर तक आरटीआई फाइल करनी होगी. इन सब के अलावा यदि आप जनवरी से मार्च 2019 में रिटर्न फाइल करते हैं, तो दस हज़ार तक पेनाल्टी भरनी पड़ सकती है.

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

हॉकी के जादूगर की जादूगरी
हॉकी के जादूगर कहे जानेवाले खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है. आज उनकी 113 वीं जयंती है. हर साल आज ही के दिन खेल में बेहतरीन प्रदर्शन करनेवाले खिलाड़ियों को द्रोणाचार्य, अर्जुन, खेल रत्न, राजीव गांधी आदि पुरस्कार दिए जाते हैं. यूं तो ध्यानचंदजी को लेकर कई क़िस्से मशहूर हैं, आइए, उन पर एक नज़र डालते हैं-
* 1936 के बर्लिन ओलिंपिक के फाइनल में मेज़बान जर्मनी को भारत ने हराकर गोल्ड जीता था. इस मैच में घायल होने व खेल के समय दांत टूटने के बावजूद ध्यानचंदजी न केवल मैदान में वापस आए, बल्कि अपनी कप्तानी में 8-1 से जीत दर्ज की. इसमें 3 गोल ध्यानचंदजी ने और 2 उनके भाई रूपसिंह ने किए थे.
* उनके बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए हिटलर ने उन्हें जर्मन नागरिकता व आर्मी में कर्नल के पद का प्रस्ताव दिया था, जिसे 31 साल के ध्यानचंदजी ने विनम्रता से मना कर दिया था.
* इसके अलावा हिटलर उनका हॉकी स्टिक भी ख़रीदने की ख़्वाहिश रखते थे.
* इस ओलिंपिक सबसे ख़ास बात यह रही थी कि इसमें भारत ने कुल 38 गोल किए थे, जिसमें 11 गोल ध्यानचंद ने किए थे.
* इसके पहले इंटरनेशनल मैचों में उन्होंने 59 गोल किए थे.
* 1928 के एम्सटर्डम ओलिंपिक में ध्यानचंद ने 5 मैचों में कुल 14 गोल किए थे. फाइनल में मेज़बान हॉलैंड को 3-0 से हराकर गोल्ड जीता था. इसमें 2 गोल ध्यानचंद ने किए थे.
* नीदरलैंड्स में उनके हॉकी स्टिक को तोड़कर इसकी जांच की गई थी कि कहीं उनके स्टिक में चुंबक यानी मैग्नेट तो नहीं है.
* हॉकी के इस महान खिलाड़ी ने अपने करियर में 400 से भी अधिक गोल किए थे.
* उनके नाम साल 1928, 1932 व 1936 में जीते गए 3 ओलिंपिक गोल्ड मेडल है.

Today's News

हेल्थ इंश्योरेंस का बढ़ता दायरा
आईआरडीआई (इंश्योरेंस एंड रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने हेल्थ इंश्योरेंस के ऑप्शनल कवर से कई बीमारियों को हटा दिया है. उनके अनुसार, इसमें से अब डेंटल, इंफर्टिलिटी, स्टेम सेल, हार्मोंस रिप्लेसमेंट थरेपी, साइकेट्रिक व ओबेसिटी ट्रीटमेंट, सेक्सुअली ट्रांसमिटेड आदि जैसी बीमारियों को अलग कर दिया गया है. इसके पहले अधिकतर हेल्थ इंश्योरेंस कंपनिया उपरोक्त ऑप्शनल कवर का इंश्योरेंस नहीं करवाती थीं. लेकिन अब आईआरडीआई के निर्देश पर सभी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों को इन्हें शामिल करना होगा. यदि एक नज़र नेशनल हेल्थ इंश्योरेंस रिकॉर्ड पर डालें, तो अब तक देश के केवल 34 प्रतिशत जनता यानी क़रीब 43 करोड़ लोगों ने ही अपना हेल्थ इंश्योरेंस करवाया है. इसमें कोई दो राय नहीं कि इस उल्लेखनीय क़दम के कारण अब अधिक से अधिक लोग अपना हेल्थ इंश्योरेंस करवाने के लिए आगे आएंगे.

विदेशियों को ड्रोन उड़ाने की मनाही
भारतीयों को दिसंबर से ड्रोन उड़ाने की मंजूरी मिल जाएगी, पर विदेशी ऐसा नहीं कर सकते, क्योंकि उनको इसकी अनुमति नहीं दी गई है. देशवासियों के लिए रिमोटली पायलेटेड एयरक्राफ्ट सिस्टम चलाने के नियमों को भी जारी किया गया है, जो दिसंबर महीने से लागू हो जाएगा. ड्रोन उड़ान के लिए विमानन नियामक डीजीसीए से एक ख़ास पहचान नंबर (यूआईएन) प्राप्त करना होगा. इसके अलावा नागर विमानन महानिदेशालय से हर उड़ान के लिए परमिट भी लेना ज़रूरी होगा. ड्रोन प्लेन को उनके वज़न उठाने के सार्मथ्य के अनुसार 5 कैटेगरी में रखा गया है, जिसमें अति सूक्ष्म, सूक्ष्म, लघु, मध्यम व दीर्घ हैं.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates:Top 5 Breaking News)

हिट होता सॉन्ग हार्ड हार्ड
शाहिद-श्रद्धा कपूर स्टारर बत्ती गुल मीटर चालू के कॉन्सेप्ट, गाने व ट्रेलर को दर्शक बेहद पसंद कर रहे हैं. इसके ट्रेलर को तो अब तक 28 मिलियन से भी अधिक लोगों ने देखा है. अब इसका रिलीज नया गाना हार्ड हार्ड ख़ूब धूम मचा रहा है. इसमें शाहिद-श्रद्धा के अलावा दिव्येंदू शर्मा की गज़ब की जुगलबंदी देखने को मिलती है. उस पर मीका सिंह व सचेत टंडन की सुमधुर आवाज़ सोने पे सुहागा है. बिजली की समस्या और उसमें होनेवाले करप्शन पर आधारित यह फिल्म 21 सितंबर को रिलीज़ होनेवाली है. इसमें शाहिद कपूर व यामी गौतम एडवोकेट के रोल में दमदार डॉयलाग्स बोलते नज़र आएंगे.

मनजीत ने जीता सबका मन
इंडोनेशिया में हो रहे एशियाई खेल में भारत के मनजीत सिंह ने तो हर किसी दिल व मन दोनों ही जीत लिया. उन्होंने 800 मीटर की दौड़ में गोल्ड जीता. साथ ही इसी स्पर्धा में भारत के ही जिनसन जॉनसन ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया. साल 1962 के बाद पहली बार भारतीय खिलाड़ियों ने यह कमाल दोबारा दिखाया है. इसके अलावा भारतीय बॉक्सर विकास कृष्ण ने 75 किग्रा के सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं. गौर करनेवाली बात यह है कि लगातार तीन एशियन गेम्स में मेडल जीतनेवाले वे पहले भारतीय बॉक्सर होंगे. विकास ने साल 2010 के ग्वांग्झू एशियन में 60 किग्रा कैटेगरी में गोल्ड और साल 2014 के इंचियोन में मिडिलवेट में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. उनके अलावा अमित पंघाल ने भी 49 किग्रा में सेमीफाइनल में पहुंच अपना मेडल पक्का कर लिया है. इसी साल कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेहल जीतनेवाले विकास ने बाईं आंख घायल होने उसमें कट लगने के बावजूद चीन के तूहेता इर्बीके टी को 3-2 से हराकर जीत हासिल की.

– ऊषा गुप्ता

 

 

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates:Top 5 Breaking News)

रेशमी कपड़े पर भागवत गीता
62 वर्षीया हेमप्रभा चुटिया ने रेशमी कपड़े पर संस्कृत में पूरी भागवत गीता बुन डाली है. महाभारत का हिस्सा रहे हिंदू शास्त्र गीता में संस्कृत में 700 पद हैं. असम के डिब्रूगढ़ के मोरन की रहनेवाली हेमप्रभाजी ने दिसंबर 2016 में इसे करना शुरू किया था और अब जाकर इसे पूरा किया. 150 फीट लंबा व दो फीट चौड़े मुगा रेशम के इस कपड़े पर उन्होंने एक अध्याय इंग्लिश में भी बुना है. बहुमुखी प्रतिभा की धनी हेमप्रभाजी ने इसके पहले महादेव के नाम व उनके गुणमाला को रेशमी कपड़े पर बुना था. गौर करनेवाली बात यह है कि उनके इस प्रशंसनीय कार्य को म्यूजियम में संरक्षित करके रखा जाएगा. हेमप्रभाजी को उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं, जैसे- कनकलता अवॉर्ड, बाकुल बोन अवॉर्ड, हैंडलूम एंड टेक्सटाइल अवॉर्ड आदि.

News

विद्यार्थियों की मदद करेगा सीबीएसई
केरल में आई तबाही से अनेक स्टूडेंट्स के सर्टिफिकेट, मार्कशीट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट आदि बाढ़ के पानी में बह गए और कईयों के तो बुरी तरह ख़राब भी हो गए हैं. उनकी इसी परेशानी को सुलझाने के लिए सीबीएसई ने सराहनीय क़दम उठाया है. अब वे उन सभी विद्यार्थियों को डिजिटल डॉक्यूमेंट्स उपलब्ध कराएंगे. इसके लिए उन्होंने डिजिटल कोष परिणाम मंजुषा बनाया है. यह डिगिलॉकर ऐप (DigiLocker) से जुड़ा है. केरल स्टूडेंट्स अपने डॉक्यूमेंट्स इस ऐप की वेबसाइट पर लॉग इन कर बड़ी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं. फ़िलहाल केरल में क़रीब एक हज़ार तीन सौ से अधिक स्कूल सीबीएसई बोर्ड से एफिलिएटेड हैं. इसके अलावा वे विद्यार्थी जिनका मोबाइल फोन नंबर रजिस्टर नहीं हैं, वे वेबसाइट पर जाकर अपने आधार कार्ड को लिंक करके अपने डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड कर सकते हैं.

सांप प्रकोप से बचने के लिए यज्ञ
आंध्र प्रदेश के कृष्णा ज़िले में पिछले दो महीनों से सांप के काटे जाने की कई घटनाएं हुईं. इनमें जहां दो लोगों की मौत हो गई, वहीं सैकड़ों लोग अस्पताल में भर्ती हुए. सांप के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिए सरकार ने सर्पयज्ञम यज्ञ करवाने का निर्णय लिया है. उनके इस फैसले की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. कुछ इसे अंधविश्‍वास को बढ़ावा देना कह रहे, तो कुछ सही कह रहे हैं. मोपादेवी के मशहूर सुब्रमण्येश्‍वर स्वामी मंदिर में सर्प दोष निवारण व सर्पयज्ञम पूजा अनुष्ठान किया जाएगा. इसके पहले भी सरकार बरसात के लिए वरूण यज्ञ कराती रही है.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन बरकरार
एशियन गेम्स के दसवें दिन का आकर्षण रहा बैडमिंटन में पीवी सिंधु का रजत पदक जीतना. साथ ही तीरंदाजी में भी भारत ने रजत पदक जीता. अब तक भारत को तीन रजत और एक कांस्य पदक मिल चुके हैं. भारत ने तीरंदाजी में महिलाओं व पुरुषों की कंपाउंड टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीता है. टेबल टेनिस में पुरुष टीम ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. वहीं हॉकी में अपने आख़री लीग मैच में पुरुषों की टीम ने श्रीलंका को 20-0 से हराया. इसके पहले नौवें दिन एथलेटिक्स में खिलाड़ियों देशवासियों को गर्वित होने के कई मौ़के दिए और एक गोल्ड व तीन सिल्वर पर कब्ज़ा जमाया. भारतीय महिला एथलीट दुती चंद व हीमा दास ने महिलाओं की 200 मीटर रेस के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है.

आमिर की महाभारत के कलाकार
आमिर ख़ान ने अक्सर ही महाभारत पर फिल्म बनाने की बात कही है और यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट भी रहा है. वे इस पर मूवी की सीरीज़ बनाने के भी इच्छुक है, क्योंकि उनके अनुसार, इस विषय को तीन घंटे में नहीं समेटा जा सकता, इसलिए वे इसे तीन पार्ट में बनाएंगे. सूत्रो के अनुसार, कुछ कलाकारों का सिलेक्श भी हो चुका है, जिसमें बाहुबली प्रभास अर्जुन की भूमिका में, तो दीपिका पादुकोण द्रोपदी का क़िरदार निभाएंगी. निर्देशक के तौर पर उनकी पहली पसंद एसएस राजामौली हैं. दिलचस्प होगा आमिर ख़ान का रोल और इसमें कोई दो राय नहीं कि वे कृष्ण बनाना चाहेंगे, ताकि वे इस मूवी सीरिज़ के हर पार्ट में हों. इस बनाने के लिए रिलायंस एंटरटेनमेंट राजी हो गया है. अनुमानित इस मूवी सीरीज़ की बजट एक हज़ार करोड़ लगाई जा रही है.

– ऊषा गुप्ता