Tag Archives: sports

जानें किसकी दुल्हन बनेंगी साइना?… (Find Out Who Saina Is Getting Married T0!)

बधाई हो, बैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल (Saina Nehwal) शादी (Wedding) के बंधन में बंध रही हैं. वे अपने साथी खिलाड़ी पी. कश्यप (P. Kashyap) के साथ 16 दिसंबर को शादी कर रही हैं. शादी सिंपल व निजी तरी़के से होगी, पर 21 दिसंबर को ग्रैंड रिसेप्शन भी रखा जाएगा. दोनों के परिवारवालों ने इस रिश्ते के लिए हामी भर दी है और बेहद ख़ुश भी हैं.

 

साइना का सफ़र…

* साइना और परुपल्ली कश्यप दोनों ही हैदराबाद के हैं.

* साल 2005 में पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी में ट्रेनिंग के दौरान दोनों की मुलाक़ात हुई.

* खेल में कश्यप साइना को हमेशा अपना पार्टनर बनाते रहे हैं.

* खेल के अलावा दोनों अक्सर कई मौक़ों पर साथ-साथ देख गए. अभी हाल ही में 8 सितंबर को कश्यप के जन्मदिन पर दोनों ने साथ बिताए लम्होंं को साइना ने अपने सोशल मीडिया पर शेयर किया था.

* बैडमिंटन की नंबर वन प्लेयर रह चुकी साइना फ़िलहाल वर्ल्ड रैंकिंग में दसवें नंबर पर हैं.

* साइना ओलिंपिक में कांस्य पदक के अलावा विश्‍व कप चैंपियनशिप की उपविजेता भी रही हैं और अब तक बीस से भी अधिक पदक अपने नाम कर चुकी हैं.

* पी. कश्यप ने साल 2014 में कॉमनवेल्थ गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था. कभी वे छठे नंबर के प्लेयर हुआ करते थे, पर अपनी इंजरी के चलते फ़िलहाल वर्तमान में 57 रैंकिंग पर हैं.

* 28 की शाइना और 32 साल के हुए कश्यप दोनों की जोड़ंी एक परफेक्ट कपल से कम नहीं है.

* साइना की बायोपीक पर फिल्म भी बन रही है, जिसमें श्रद्धा कपूर उनकी भूमिका निभा रही हैं.

* श्रद्धा कपूर इस रोल के लिए कड़ी मेहनत कर रही हैं.

* बैडमिंटन की बारीक़ियां सीखने के साथ-साथ वे साइना के घर पर भी गई थीं.

* बकौल श्रद्धा साइना की मां उषा ने उन्हें पूरी-छोले, खीर, हलवा, फ्रूट मिल्क जूस आदि एक से एक व्यंजन बड़े ही प्यार से खिलाया.

* साइना के रोल के लिए श्रद्धा साइना के घर-परिवार, ट्रेनिंग सेंटर अन्य सभी छोटी-छोटी चीज़ों का गहराई से अध्ययन कर रही हैं.

* भूषण कुमार निर्मित और अमोल गुप्ते के निर्देशन में बन रही साइना की इस फिल्म की शूटिंग के समय साइना नेहवाल के माता-पिता डॉ. हरवीर सिंह और उषा भी शामिल हुई थीं. उन्होंने श्रद्धा कपूर को बधाई और शुभकामनाएं भी दीं.

*  बकौल साइना के उन्होंने अमोलजी को कहा था कि जब तक श्रद्धा उनकी तरह बैडमिंटन खेलना अच्छी तरह से सीख नहीं जाती, तब तक फिल्म की शूटिंग न करें.

* श्रद्धा ने इसके लिए साइना के कोच पी. गोपीचंद, प्रवीण नायर और साइना से भी बाकायदा ट्रेनिंग ली.

यह भी पढ़े: Oh No: शादीशुदा हैं ये 10 मशहूर सेलेब्रिटीज़ (These Celebrities Are Married And We Didn’t Know)

 

एशियन गेम्स- जीत का सिलसिला यूं ही रहे बरकरार (Asian Games- Well Done Indian Team)

एशियन गेम्स में भारत का शानदार प्रदर्शन रहा. खिलाड़ियों ने बेहतरीन उपलब्धियां हासिल कीं, ख़ासकर जिग्सन जॉनसन, स्वप्ना बर्मन, विकास कृष्ण, विनेश फोगाट, दुती चंद, हिमा दास, पीवी सिंधु आदि का दमदार प्रदर्शन रहा. यह एशियन गेम्स भारत का अब तक का सबसे कामयाब एशियन गेम्स रहा है. सभी खिलाड़ियों ने अपना सौ प्रतिशत दिया.

Asian Games

यह खिलाड़ियों की मेहनत लगन और जीत का जज़्बा ही था कि हर दिन पदक जीतने का सिलसिला चलता रहा. कुश्ती, बैडमिंटन, जैवलिन थ्रो, लॉन्ग जंप, नौकायान, घुड़सवारी, दौड़ आदि में खिलाड़ियों ने कई कीर्तिमान स्थापित किए. इसमें कोई दो राय नहीं कि इस प्रतियोगिता में महिलाओं का काफ़ी दबदबा रहा. पहली बार इस प्रतियोगिता में ब्रिज खेल में भी भारत ने शानदार प्रदर्शन करते हुए गोल्ड अपने नाम किया.
उम्मीद के अनुकूल प्रदर्शन ना करने के बावजूद कबड्डी में महिला/पुरुष की टीम ने सिल्वर, हॉकी में महिलाओं ने सिल्वर और पुरुष टीम ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता.
भले ही हम कुछ पदक जीतने से चूक गए, पर इसके बावजूद सभी भारतीय खिलाड़ियों ने लाजवाब खेल का नजारा पेश किया. पदकों के हिसाब से भी इस बार हमारा प्रदर्शन उम्दा रहा. सभी खिलाड़ियों को हमारी ढेर सारी शुभकामनाएं और बधाइयां. साथ ही इसी तरह आनेवाली हर प्रतियोगिताओं में वे अपना लाजवाब प्रदर्शन करते रहें, इसके लिए ऑल द बेस्ट! देशवासियों को सभी खिलाड़ियों पर नाज है. हमारे लिए प्रत्येक भारतीय खिलाड़ी विजेता है!

यह भी पढ़ें: खेल-खेल में बच्चों से करवाएं एक्सरसाइज़ और ख़ुद भी रहें फिट (Indulge In Fitness With Your Children And Get In Shape)

कुछ उपलब्धियों की झलकियांं

स्वप्ना/अरपिंदर ने रचा इतिहास
जकार्ता में हुए एशियन गेम्स में हर रोज़ भारतीय खिलाड़ियोंं ने उपलब्धियां दर्ज कराई. हेप्टाथलोन में स्वप्ना बर्मन ने और ट्रिपल जंप में अरपिंदर सिंह ने तो इतिहास रच दिया. दोनों ही खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई. 48 सालों में पहली बार देश को ट्रिपल जंप में स्वर्ण पदक हासिल हुआ. मनिका बत्रा व अचंता शरत कमल ने मिक्स्ड टेबल टेनिस में कांस्य पदक जीता. चीन को सेमीफाइनल में हराकर महिला हॉकी टीम बीस साल में पहली बार हॉकी के फाइनल में पहुंची थी.

नौकायन टीम का संघर्ष व जीत

इंडोनेशिया के जकार्ता-पालेमंबर्ग के 18वें एशियाई खेल में जैसे-जैसे एशियन गेम्स आगे बढ़ता रहा, वैसे-वैसे भारतीय खिलाड़ियों के प्रदर्शन में भी निखार आता रहा. पहली बार रोइंग टीम ने एक स्वर्ण व दो कांस्य के साथ तीन पदक पर कब्ज़ा किया. दत्तू भोकानाल, स्वर्ण सिंह, ओमप्रकाश व सुखमीत सिंह रोइंग मैन्स टीम ने 6:17:17 के समय के साथ गोल्ड अपने नाम किया. दुष्यंत ने बीमार होने के बावजूद कांस्य पदक जीता. भगवान सिंह व रोहित ने लाइटवेट डबल स्कल्स में ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. रोइंग टीम को बधाई. रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की जोड़ी ने डबल्स टेनिस में कज़ाकिस्तान के एलेक्सांद्र बुबलिक व डेनिस येवसेयेव को हराकर गोल्ड अपने नाम किया. अनुभवी निशानेबाज़ हीना सिद्धू ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. ख़ुशी के साथ थोड़े ग़म भी भारत के हिस्से में आए यानी पहली बार जहां पुरुष कबड्डी टीम को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा, वहीं महिला कबड्डी टीम ने सिल्वर मेडल जीता.

शार्दुल-अंकिता की सराहनीय जीत

जकार्ता में हर रोज़ देश के युवा खिलाड़ियों ने भी अपना दमख़म दिखाया. 15 साल के शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप इवेंट में रजत पदक जीत देशवासियों को ख़ुश कर दिया. इसके अलावा टेनिस के एकल में अंकिता रैना ने कांस्य पदक अपने नाम किया. अंकिता से पहले साल 2006 में सानिया मिर्ज़ा ने रजत व साल 2010 में कांस्य पदक जीता था.

राही का सटीक निशाना

एशियाड खेल में भारतीय खिलाड़ी दिनोंदिन अपने बेहतरीन प्रदर्शन से सुर्खियां बटोरते रहे. 18 अगस्त-2 सितंबर तक चले इस खेल कुंभ में हर रोज़ एक नया कीर्तिमान स्थापित होता रहा. निशानेबाज़ी में राही सरनबोत ने 25 मीटर पिस्टल में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास ही रच दिया. इसके अलावा भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने हांगकांग को 26-0 से हराकर रिकॉर्ड बनाया.

* एथलेटिक्स में भारत में सबसे अधिक पदक यानी कुल १९ पदक जीते.

* मुक्केबाज़ी में अमित पंघाल के स्वर्ण पदक के साथ भारत के पदकों की संख्या कुल 69 हो गई. यह अब तक का भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन रहा है.

*  भारत ने १५ स्वर्ण, २४ रजत और ३० कांस्य के साथ ६९ पदकों पर कब्जा किया.

* १९५१ से शुरू हुए एशियाई खेलों में भारत का यह अब तक का बेस्ट परफॉर्मेंस रहा है.

इंडोनेशिया के जर्काता में हुए एशियन गेम्स में बजरंग पूनिया, विनेश फोगाट, सौरभ चौधरी, लक्ष्य, संजीव राजपूत, अपूर्वी चंदेला, रवि कुमार, अभिषेक वर्मा, दिव्या काकरान के सराहनीय उपलब्धियां रहीं. वैलडन टीम इंडिया!

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (News Time- Today’s Top 5 News)

स्वप्ना/अरपिंदर ने रचा इतिहास
जकार्ता में हो रहे एशियन गेम्स में हर रोज़ भारतीय खिलाड़ी सुनहरी उपलब्धियां दर्ज करा रहे हैं. हेप्टाथलोन में स्वप्ना बर्मन ने और ट्रिपल जंप में अरपिंदर सिंह ने तो इतिहास रच दिया. दोनों ही खिलाड़ियों को बहुत-बहुत बधाई. 48 सालों में पहली बार देश को ट्रिपल जंप में स्वर्ण पदक हासिल हुआ है. मनिक बत्रा व अचंता शरत कमल ने मिक्स्ड टेबल टेनिस में कांस्य पदक जीता. इसके अलावा चीन को सेमीफाइनल में हराकर महिला हॉकी टीम बीस साल में पहली बार हॉकी के फाइनल में पहुंची है. पदक तालिका में भारत के कुल 54 पदक हो चुके हैं, जिनमें 11 स्वर्ण, 20 रजत और 23 कांस्य पदक हैं.

Top News

बाल वैज्ञानिकों ने बनाया एंटी लैंडमाइन रोबोट
बस्तर के नक्सलियों द्वारा भारतीय जवानों को लैंडमाइन से उड़ाने की क्रिया की प्रतिक्रिया बाल वैज्ञानिकों ने एंटी लैंडमाइन रोबोट बनाकर दी है. इसकी सबसे बड़ी ख़ूबी यह है कि यह रोबोट ज़मीन के नीचे छिपे बारूद, अन्य विस्फोटक सामग्रियों का न केवल पता लगाएगा, बल्कि बम को डिफ्यूज़ भी करेगा. बाल वैज्ञानिकों की टीम ने चार महीने की कड़ी मेहनत के बाद इस रोबोट को बनाने में सफलता हासिल की है. रोबोट में लगे सेंसर से दो सौ मीटर की दूरी पर ज़मीन के सात मीटर तक गहरे छिपे गोलाबारूद का आसानी से पता लगाया जा सकता है. सबसे पहले रोबोट लैंड माइन के बारे बें बताएगा और उसके बाद वहां जाकर बम को निष्क्रिय करेगा. देखा जाए, तो एंटी लैंडमाइन मेटल डिटेक्टर मार्केट में पचास हज़ार से लेकर लाख तक में मिलती है, पर इन होनहार बाल वैज्ञानिकों ने मात्र 6 हज़ार में बनाया है.

ऐसी दीवानगी देखी नहीं
ट्रेन की मुलाक़ात में आंखें चार हुईं. दोनों एक-दूसरे की ओर आकर्षित हुए, पर बात न हो सकी. कुछ ऐसी ही प्रेमकहानी है पश्‍चिम बंगाल के विश्‍वजीत की. अपने प्यार को पाने, बात करने और मिलने की चाहत ने उन्हें इस कदर दीवाना कर दिया कि उन्होंने पूरे शहर में क़रीब चार हज़ार पोस्टर लागा दिया. इतना ही नहीं यूट्यूब पर एक वीडियो अपलोड कर दिया, ताकि उस अनजान हसीना से एक बार फिर रू-ब-रू हो सके.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

जैक्सन को टाइगर की श्रद्धांजलि
दुनियाभर में मशहूर पॉप सिंगर माइकल जैक्सन की डांस का हर कोई दीवाना है. 29 अगस्त पर उनके जन्मदिन पर टाइगर श्रॉफ ने उनकी तरह पहनावे व स्टाइल में उनके गाने पर डांस करके उन्हें श्रद्धांजलि दी. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर यह वीडियो अपलोड किया था, जिसे अब तक सात लाख से भी अधिक लोगों ने देखा है. बकौल टाइगर वे माइकल जैक्सन की वजह से ही आज इस मुकाम पर है, क्योंकि टाइगर के डांस में अक्सर उनकी झलक देखने को मिलती है.
* माइकल जैक्सन का जन्म 29 अगस्त, 1958 में हुआ था.
* वे मूनवॉक, रोबोट डांस के जनक माने जाते हैं.
* रॉक, पॉप, हिप-हॉप, कंटेम्पररी, पोस्ट डिस्को आदि में उन्हें महारात हासिल थी और हर कोई उनके डांस का फैन था.
* 25 जून, 2009 को उन्होंने दुनिया को अलविदा कह दिया.

आईटीआर न भरने पर पेनाल्टी
मात्र एक दिन रह गया है आईटीआर यानी इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए. यदि आपने अब तक न भरा हो, तो समय पर भर दीजिए, वरना पेनाल्टी भरना पड़ सकता है. क्योंकि 31 अगस्त के बाद जिन लोगों ने आयकर रिटर्न फाइल नहीं की होगी, उन्हें ब्याज़ के भुगतान के साथ पेनाल्टी भी भरना पड़ेगा. ध्यान रहे कि पासपोर्ट बनवाने से लेकर लोन लेने तक में आईटीआर काफ़ी फ़ायदेमंद साबित होता है. उदाहरण के तौैर पर यदि आपकी इनकम 5 लाख रुपए है, तो आपको आईटीआर न भरने पर कम से कम एक हज़ार तक की पेनाल्टी भरनी पड़ सकती है. यदि 5 लाख से अधिक आय है, तो एक दिन की देरी होने पर 5 हज़ार तक की पेनाल्टी भरनी होगी. साथ ही 31 दिसंबर तक आरटीआई फाइल करनी होगी. इन सब के अलावा यदि आप जनवरी से मार्च 2019 में रिटर्न फाइल करते हैं, तो दस हज़ार तक पेनाल्टी भरनी पड़ सकती है.

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

हॉकी के जादूगर की जादूगरी
हॉकी के जादूगर कहे जानेवाले खिलाड़ी मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन पर हर साल 29 अगस्त को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है. आज उनकी 113 वीं जयंती है. हर साल आज ही के दिन खेल में बेहतरीन प्रदर्शन करनेवाले खिलाड़ियों को द्रोणाचार्य, अर्जुन, खेल रत्न, राजीव गांधी आदि पुरस्कार दिए जाते हैं. यूं तो ध्यानचंदजी को लेकर कई क़िस्से मशहूर हैं, आइए, उन पर एक नज़र डालते हैं-
* 1936 के बर्लिन ओलिंपिक के फाइनल में मेज़बान जर्मनी को भारत ने हराकर गोल्ड जीता था. इस मैच में घायल होने व खेल के समय दांत टूटने के बावजूद ध्यानचंदजी न केवल मैदान में वापस आए, बल्कि अपनी कप्तानी में 8-1 से जीत दर्ज की. इसमें 3 गोल ध्यानचंदजी ने और 2 उनके भाई रूपसिंह ने किए थे.
* उनके बेहतरीन प्रदर्शन को देखते हुए हिटलर ने उन्हें जर्मन नागरिकता व आर्मी में कर्नल के पद का प्रस्ताव दिया था, जिसे 31 साल के ध्यानचंदजी ने विनम्रता से मना कर दिया था.
* इसके अलावा हिटलर उनका हॉकी स्टिक भी ख़रीदने की ख़्वाहिश रखते थे.
* इस ओलिंपिक सबसे ख़ास बात यह रही थी कि इसमें भारत ने कुल 38 गोल किए थे, जिसमें 11 गोल ध्यानचंद ने किए थे.
* इसके पहले इंटरनेशनल मैचों में उन्होंने 59 गोल किए थे.
* 1928 के एम्सटर्डम ओलिंपिक में ध्यानचंद ने 5 मैचों में कुल 14 गोल किए थे. फाइनल में मेज़बान हॉलैंड को 3-0 से हराकर गोल्ड जीता था. इसमें 2 गोल ध्यानचंद ने किए थे.
* नीदरलैंड्स में उनके हॉकी स्टिक को तोड़कर इसकी जांच की गई थी कि कहीं उनके स्टिक में चुंबक यानी मैग्नेट तो नहीं है.
* हॉकी के इस महान खिलाड़ी ने अपने करियर में 400 से भी अधिक गोल किए थे.
* उनके नाम साल 1928, 1932 व 1936 में जीते गए 3 ओलिंपिक गोल्ड मेडल है.

Today's News

हेल्थ इंश्योरेंस का बढ़ता दायरा
आईआरडीआई (इंश्योरेंस एंड रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया) ने हेल्थ इंश्योरेंस के ऑप्शनल कवर से कई बीमारियों को हटा दिया है. उनके अनुसार, इसमें से अब डेंटल, इंफर्टिलिटी, स्टेम सेल, हार्मोंस रिप्लेसमेंट थरेपी, साइकेट्रिक व ओबेसिटी ट्रीटमेंट, सेक्सुअली ट्रांसमिटेड आदि जैसी बीमारियों को अलग कर दिया गया है. इसके पहले अधिकतर हेल्थ इंश्योरेंस कंपनिया उपरोक्त ऑप्शनल कवर का इंश्योरेंस नहीं करवाती थीं. लेकिन अब आईआरडीआई के निर्देश पर सभी हेल्थ इंश्योरेंस कंपनियों को इन्हें शामिल करना होगा. यदि एक नज़र नेशनल हेल्थ इंश्योरेंस रिकॉर्ड पर डालें, तो अब तक देश के केवल 34 प्रतिशत जनता यानी क़रीब 43 करोड़ लोगों ने ही अपना हेल्थ इंश्योरेंस करवाया है. इसमें कोई दो राय नहीं कि इस उल्लेखनीय क़दम के कारण अब अधिक से अधिक लोग अपना हेल्थ इंश्योरेंस करवाने के लिए आगे आएंगे.

विदेशियों को ड्रोन उड़ाने की मनाही
भारतीयों को दिसंबर से ड्रोन उड़ाने की मंजूरी मिल जाएगी, पर विदेशी ऐसा नहीं कर सकते, क्योंकि उनको इसकी अनुमति नहीं दी गई है. देशवासियों के लिए रिमोटली पायलेटेड एयरक्राफ्ट सिस्टम चलाने के नियमों को भी जारी किया गया है, जो दिसंबर महीने से लागू हो जाएगा. ड्रोन उड़ान के लिए विमानन नियामक डीजीसीए से एक ख़ास पहचान नंबर (यूआईएन) प्राप्त करना होगा. इसके अलावा नागर विमानन महानिदेशालय से हर उड़ान के लिए परमिट भी लेना ज़रूरी होगा. ड्रोन प्लेन को उनके वज़न उठाने के सार्मथ्य के अनुसार 5 कैटेगरी में रखा गया है, जिसमें अति सूक्ष्म, सूक्ष्म, लघु, मध्यम व दीर्घ हैं.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates:Top 5 Breaking News)

हिट होता सॉन्ग हार्ड हार्ड
शाहिद-श्रद्धा कपूर स्टारर बत्ती गुल मीटर चालू के कॉन्सेप्ट, गाने व ट्रेलर को दर्शक बेहद पसंद कर रहे हैं. इसके ट्रेलर को तो अब तक 28 मिलियन से भी अधिक लोगों ने देखा है. अब इसका रिलीज नया गाना हार्ड हार्ड ख़ूब धूम मचा रहा है. इसमें शाहिद-श्रद्धा के अलावा दिव्येंदू शर्मा की गज़ब की जुगलबंदी देखने को मिलती है. उस पर मीका सिंह व सचेत टंडन की सुमधुर आवाज़ सोने पे सुहागा है. बिजली की समस्या और उसमें होनेवाले करप्शन पर आधारित यह फिल्म 21 सितंबर को रिलीज़ होनेवाली है. इसमें शाहिद कपूर व यामी गौतम एडवोकेट के रोल में दमदार डॉयलाग्स बोलते नज़र आएंगे.

मनजीत ने जीता सबका मन
इंडोनेशिया में हो रहे एशियाई खेल में भारत के मनजीत सिंह ने तो हर किसी दिल व मन दोनों ही जीत लिया. उन्होंने 800 मीटर की दौड़ में गोल्ड जीता. साथ ही इसी स्पर्धा में भारत के ही जिनसन जॉनसन ने सिल्वर मेडल अपने नाम किया. साल 1962 के बाद पहली बार भारतीय खिलाड़ियों ने यह कमाल दोबारा दिखाया है. इसके अलावा भारतीय बॉक्सर विकास कृष्ण ने 75 किग्रा के सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं. गौर करनेवाली बात यह है कि लगातार तीन एशियन गेम्स में मेडल जीतनेवाले वे पहले भारतीय बॉक्सर होंगे. विकास ने साल 2010 के ग्वांग्झू एशियन में 60 किग्रा कैटेगरी में गोल्ड और साल 2014 के इंचियोन में मिडिलवेट में ब्रॉन्ज मेडल जीता था. उनके अलावा अमित पंघाल ने भी 49 किग्रा में सेमीफाइनल में पहुंच अपना मेडल पक्का कर लिया है. इसी साल कॉमनवेल्थ गेम्स में गोल्ड मेहल जीतनेवाले विकास ने बाईं आंख घायल होने उसमें कट लगने के बावजूद चीन के तूहेता इर्बीके टी को 3-2 से हराकर जीत हासिल की.

– ऊषा गुप्ता

 

 

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates:Top 5 Breaking News)

रेशमी कपड़े पर भागवत गीता
62 वर्षीया हेमप्रभा चुटिया ने रेशमी कपड़े पर संस्कृत में पूरी भागवत गीता बुन डाली है. महाभारत का हिस्सा रहे हिंदू शास्त्र गीता में संस्कृत में 700 पद हैं. असम के डिब्रूगढ़ के मोरन की रहनेवाली हेमप्रभाजी ने दिसंबर 2016 में इसे करना शुरू किया था और अब जाकर इसे पूरा किया. 150 फीट लंबा व दो फीट चौड़े मुगा रेशम के इस कपड़े पर उन्होंने एक अध्याय इंग्लिश में भी बुना है. बहुमुखी प्रतिभा की धनी हेमप्रभाजी ने इसके पहले महादेव के नाम व उनके गुणमाला को रेशमी कपड़े पर बुना था. गौर करनेवाली बात यह है कि उनके इस प्रशंसनीय कार्य को म्यूजियम में संरक्षित करके रखा जाएगा. हेमप्रभाजी को उनके उल्लेखनीय कार्य के लिए कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं, जैसे- कनकलता अवॉर्ड, बाकुल बोन अवॉर्ड, हैंडलूम एंड टेक्सटाइल अवॉर्ड आदि.

News

विद्यार्थियों की मदद करेगा सीबीएसई
केरल में आई तबाही से अनेक स्टूडेंट्स के सर्टिफिकेट, मार्कशीट, माइग्रेशन सर्टिफिकेट आदि बाढ़ के पानी में बह गए और कईयों के तो बुरी तरह ख़राब भी हो गए हैं. उनकी इसी परेशानी को सुलझाने के लिए सीबीएसई ने सराहनीय क़दम उठाया है. अब वे उन सभी विद्यार्थियों को डिजिटल डॉक्यूमेंट्स उपलब्ध कराएंगे. इसके लिए उन्होंने डिजिटल कोष परिणाम मंजुषा बनाया है. यह डिगिलॉकर ऐप (DigiLocker) से जुड़ा है. केरल स्टूडेंट्स अपने डॉक्यूमेंट्स इस ऐप की वेबसाइट पर लॉग इन कर बड़ी आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं. फ़िलहाल केरल में क़रीब एक हज़ार तीन सौ से अधिक स्कूल सीबीएसई बोर्ड से एफिलिएटेड हैं. इसके अलावा वे विद्यार्थी जिनका मोबाइल फोन नंबर रजिस्टर नहीं हैं, वे वेबसाइट पर जाकर अपने आधार कार्ड को लिंक करके अपने डॉक्यूमेंट्स डाउनलोड कर सकते हैं.

सांप प्रकोप से बचने के लिए यज्ञ
आंध्र प्रदेश के कृष्णा ज़िले में पिछले दो महीनों से सांप के काटे जाने की कई घटनाएं हुईं. इनमें जहां दो लोगों की मौत हो गई, वहीं सैकड़ों लोग अस्पताल में भर्ती हुए. सांप के प्रकोप से लोगों को बचाने के लिए सरकार ने सर्पयज्ञम यज्ञ करवाने का निर्णय लिया है. उनके इस फैसले की मिलीजुली प्रतिक्रियाएं सामने आ रही हैं. कुछ इसे अंधविश्‍वास को बढ़ावा देना कह रहे, तो कुछ सही कह रहे हैं. मोपादेवी के मशहूर सुब्रमण्येश्‍वर स्वामी मंदिर में सर्प दोष निवारण व सर्पयज्ञम पूजा अनुष्ठान किया जाएगा. इसके पहले भी सरकार बरसात के लिए वरूण यज्ञ कराती रही है.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

खिलाड़ियों का शानदार प्रदर्शन बरकरार
एशियन गेम्स के दसवें दिन का आकर्षण रहा बैडमिंटन में पीवी सिंधु का रजत पदक जीतना. साथ ही तीरंदाजी में भी भारत ने रजत पदक जीता. अब तक भारत को तीन रजत और एक कांस्य पदक मिल चुके हैं. भारत ने तीरंदाजी में महिलाओं व पुरुषों की कंपाउंड टीम इवेंट में सिल्वर मेडल जीता है. टेबल टेनिस में पुरुष टीम ने ब्रॉन्ज़ मेडल जीता. वहीं हॉकी में अपने आख़री लीग मैच में पुरुषों की टीम ने श्रीलंका को 20-0 से हराया. इसके पहले नौवें दिन एथलेटिक्स में खिलाड़ियों देशवासियों को गर्वित होने के कई मौ़के दिए और एक गोल्ड व तीन सिल्वर पर कब्ज़ा जमाया. भारतीय महिला एथलीट दुती चंद व हीमा दास ने महिलाओं की 200 मीटर रेस के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया है.

आमिर की महाभारत के कलाकार
आमिर ख़ान ने अक्सर ही महाभारत पर फिल्म बनाने की बात कही है और यह उनका ड्रीम प्रोजेक्ट भी रहा है. वे इस पर मूवी की सीरीज़ बनाने के भी इच्छुक है, क्योंकि उनके अनुसार, इस विषय को तीन घंटे में नहीं समेटा जा सकता, इसलिए वे इसे तीन पार्ट में बनाएंगे. सूत्रो के अनुसार, कुछ कलाकारों का सिलेक्श भी हो चुका है, जिसमें बाहुबली प्रभास अर्जुन की भूमिका में, तो दीपिका पादुकोण द्रोपदी का क़िरदार निभाएंगी. निर्देशक के तौर पर उनकी पहली पसंद एसएस राजामौली हैं. दिलचस्प होगा आमिर ख़ान का रोल और इसमें कोई दो राय नहीं कि वे कृष्ण बनाना चाहेंगे, ताकि वे इस मूवी सीरिज़ के हर पार्ट में हों. इस बनाने के लिए रिलायंस एंटरटेनमेंट राजी हो गया है. अनुमानित इस मूवी सीरीज़ की बजट एक हज़ार करोड़ लगाई जा रही है.

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

सिंधु ने रचा इतिहास
जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में बैडमिंटन सितारा पीवी सिंधु ने पहली बार इसके एकल फाइनल में पहुंचकर रिकॉर्ड बना दिया. अब तक यह कारनामा किसी प्लेयर ने नहीं किया था. वे इस प्रतियोगिता में बैडमिंटन फाइनल में पहुंचनेवाली पहली भारतीय हैं. उन्होंने सेमीफाइनल में दुनिया की नंबर 2 प्लेयर जापान की अकाने यामागुची को 21-17, 15-21, 21-10 से हराया. दूसरे सेमीफाइनल में साइना नेहवाल चीनी ताइपे की नंबर वन खिलाड़ी ताई जू यिंग से हारकर कांस्य पदक ही पा सकीं. फाइनल के लिए सिंधु को हमारी ढेर सारी शुभकामनाएं. हमें यक़ीन है कि हम गोल्ड ज़रूर जीतेंगे. ऑल द बेस्ट!

News

बहनों का प्रशंसनीय कार्य
राजस्थान के जोधपुर की बहनों ने केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए प्रशंसनीय कार्य किया. उन्होंने भाइयों को राखी बांधकर उपहार के तौर में चेक लिए और उसे केरल पीड़ितों की मदद के लिए भेज दिया. वाकई बहनों का यह क़दम सराहनीय है.
इस दिन की अन्य सुर्खियां
* प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी को उनकी बहन कमर मोहसिन शेख ने राखी बांधी. वे उन्हें आरएसएस कार्यकत्ता के दिनों से जानती हैं और पिछले चौबीस सालों से राखी बांध रही हैं.
* हमारे फौजी भाइयों के लिए बच्चों ने पंद्रह हज़ार राखियां भेजीं.
* आर्मी चीफ बिपिन रावतजी को उत्तराखंड व तमिलनाडु के बच्चों ने राखी बांधी.
* विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उप-राष्ट्रपति वेंकैया नायडू को राखी बांधी.
* इस ख़ास अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्रजी ने ट्विटर पर 55 महिलाओं को फॉलो किया, जिनमें कर्णम मल्लेश्‍वरी, सानिया मिर्ज़ा, शीला भट्ट, कोएना मित्रा, पीटी ऊषा, अश्‍विनी पोनप्पा आदि हैं. ट्विटर पर मोदीजी के चार करोड़ 37 लाख फॉलोअर्स हैं.

बायोफ्यूल से पहली उड़ान
भारत में पहली बार बायोफ्यूल से हवाई जहाज उड़ाकर इसका कामयाब परीक्षण किया गया. स्पाइसजेट के इस प्लेन ने देहरादून से दिल्ली तक की यात्रा 45 मिनट में पूरी की. बायोफ्यूल से उड़ान की लागत में बीस प्रतिशत की कमी आएगी. पेट्रोलियम विज्ञानी अनिल सिन्हा ने साल 2012 में जट्रोफा के बीज के कच्चे तेल से बायोफ्यूल बनाने की टेक्नोलॉजी का पेटेंट कराया था. इस परीक्षण प्लेन में इस्तेमाल किया गया फ्यूल उन्हीं की तकनीकी देखरेख में बना है. साथ ही इसे सफल बनाने के लिए बीस लोगों ने डेढ़ महीने तक दिन-रात मेहनत की. यदि प्लेन में बायोफ्यूल इस्तेमाल होने लगा, तो हर साल चार हज़ार टन कार्बन डाई ऑक्साइड एमिशन की बचत होने का अनुमान है. इसके अलावा ऑपरेटिंग लागत भी सत्रह से बीस प्रतिशत तक कम हो जाएगी.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

ज़रूरी होगा चिप डेबिट कार्ड
आरबीआई ने देशभर के सभी बैंकों को निर्देश दिया है कि वे अपने सभी अकाउंट होल्डर को केवल चिप आधारित पिन स्वीकार्य डेबिट कार्ड ही दें. इसी कड़ी में एसबीआई बैंक ने पहल करते हुए अपने सभी कस्टमर से कहा है कि वे मैग्नेटिक पट्टीवाले डेबिट कार्ड को 31 दिसंबर से पहले चिप आधारित ईएमवी डेबिट कार्ड से बदल लें. खाताधारकों को इस बात से आश्‍वस्त किया गया है कि इसके लिए बैंक उनसे कोई भी एक्स्ट्रा चार्जेस नहीं लेगा. ध्यान दें कि समय रहते सभी इस ज़रूरी बदलाव को कर लें, वरना वे एटीएम से पैसों की लेनदेन नहीं कर पाएंगे, क्योंकि एटीएम मशीन पुराने कार्ड एक्सेप्ट नहीं करेगी. खाताधारक इसे अपने बैंक की शाखाओं में जाकर कर सकते हैं. इसके अलावा इंटरनेट बैंकिंग द्वारा भी इसके लिए आवेदन कर सकते हैं.

पुराने गीत की याद दिलाता नया गीत...
फिल्म सुई धागा में पपॉन द्वारा गाया गाना चाव लागा बरबस पुराने हिट गाने मोह मोह के धागे की याद दिलाता है. पपॉन ने उसे उसी अंदाज़ में गाया भी है. संगीत अनु मलिक का है. वैसे आपनी जानकारी के लिए बता दे कि यशराज बैनर तले बनी दम लगाके हईशा में भी इसी जोड़ी ने कमाल दिखाया था. उसी की अधिकतर टीम सुई धागा में भी है. सरकार की मेक इन इंडिया थीम पर बनी अनुष्का शर्मा व वरुण धवन अभिनीत व शरत कटारिया द्वारा निर्देशित सुई धागा हाल ही में अपने प्रोमो, ट्रेलर, गाने आदि से इस कदर चर्चा में है कि हर किसी को इसका बेसब्री से इंतज़ार है. एक बेरोज़गार से रोज़गार बने आम इंसान के संघर्ष को दर्शक कितना पसंद करते हैं, देखना दिलचस्प होगा.

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

शार्दुल-अंकिता की सराहनीय जीत…

जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में हर रोज़ देश के युवा खिलाड़ी अपना दमख़म दिखा रहे हैं. आज 15 साल के शार्दुल विहान ने डबल ट्रैप इवेंट में रजत पदक जीत देशवासियों को ख़ुश कर दिया. इसके अलावा टेनिस के एकल में अंकिता रैना ने कांस्य पदक अपने नाम किया. अंकिता से पहले साल 2006 में सानिया मिर्ज़ा ने रजत व साल 2010 में कांस्य पदक जीता था. आनेवाले दिनों के लिए सभी खिलाड़ियों को ऑल द बेस्ट!

Breaking News

तीर्थ स्थान स्वच्छता पर सार्थक पहल…

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य छह मुख्य धार्मिक तीर्थ स्थानों को पूरी तरह से साफ़-सुथरा रखने व गंदगी हटाने के लिए 99 करोड़ के प्रारूप को पास किया है. ये प्रमुख स्थान टाललघाट (नागपुर), राजुर गणपति मंदिर (जालना) के अलावा शेंडगांव, अमरावती, बीड क्षेत्रों के धार्मिक स्थल हैं. इसमें कोई दो राय नहीं कि स्वच्छता अभियान के तहत यह सराहनीय व सार्थक पहल है.

 

राखी में विश्‍व गुरु भारत…

इंदौर के 18 कलाकारों ने दो महीने की मेहनत व लगन के साथ 45ु44 इंच की भव्य राखी बनाई है. इस राखी को खजराना गणेश मंदिर में गणपति भगवान को बांधी जाएगी. इस राखी की सबसे बड़ी ख़ासियत यह है कि इसमें भारत की भव्यता व विश्‍व गुरू की विशेषता को दर्शाया गया है. इसके ऊपरी हिस्से में भारत का नक्शा और नीचे की ओर राष्ट्रपति भवन, सुप्रीम कोर्ट, लाल किला, आरबीआई व सांसद बनाया गया है. इसके अलावा राखी के निचले हिस्से में शेषनाग बनाया है, जिसके सिर पर धरती टिकी है. पृथ्वी में हिंदुस्तान का नक्शा टॉप पर है, जो भारत को विश्‍व गुरु के रूप में दर्शाता है. देश के नक्शे को गणेश भगवान का आकार दिया गया है.

यह भी पढ़ें: न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News)

विदेश में पढ़ना हुआ आसान…

जिस तरह महाराष्ट्र सरकार अनुसूचित  जाति व अनुसूचित जनजाति के स्टूडेंट्स की विदेश शिक्षा के लिए स्कॉलरशिप देती है. उसी तरह अब 20 अन्य छात्रों, जिसमें ओबीसी व सामान्य वर्ग के बच्चे शामिल होंगे, को विदेश मेंं जाकर पढ़ाई करने के लिए सुविधा मुहैया करवाएगी. सरकार के बीस करोड़ रुपए के इस प्रावधान में तीस प्रतिशत लड़कियों को आरक्षण दिया जाएगा. सिलेक्टेड विद्यार्थियों को हर माह पंद्रह सौ डॉलर की स्कॉलरशिप दी जाएगी.

 

केरल को अमिताभ की मदद…

केरल राज्य में बारिश की कहर, बाढ़ व प्राकृतिक आपदा से हर कोई ग़मगीन है. इसी कारण मदद की पहल के लिए सभी के हाथ बढ़ रहे हैं, फिर चाहे वो वायु, थल, जल सेना हो, सरकार हो, आम आदमी या फिर फिल्म स्टार्स ही क्यों न हो. अब अमिताभ बच्चन ने केरल पीड़ितों के लिए 51 लाख रुपए देने के साथ-साथ अपनी ख़ुद की कई बहुमूल्य चीज़ें भी नीलाम कर दी. केरलवासियों के लिए चलाए जा रहे उनके रेजुल पुकुट्टी प्रोग्राम के तहत उन्होंने बड़े पैमाने पर अपने जैकेट्स, पैंट-शर्ट, स्कार्फ, शू आदि दान किए हैं. अमिताभ के पहले अक्षय कुमार, रजनीकांत, शाहरुख, सुशांत राजपूत आदि कलाकारों ने भी अपना उल्लेखनीय योगदान दिया है.

– ऊषा गुप्ता

न्यूज़ टाइम- आज की 5 ख़ास ख़बरें… (Today’s Updates: Top 5 Breaking News…)

एशियाड खेल- राही ने रचा इतिहास…

एशियाड खेल में भारतीय खिलाड़ी दिनोंदिन अपने बेहतरीन प्रदर्शन से सुर्खियां बटोर रहे हैं. 18 अगस्त से शुरू हुआ यह खेल कुंभ हर रोज़ एक नया कीर्तिमान स्थापित कर रहा है. आज का आकर्षण महिला निशानेबाज़ राही सरनबोत रहीं, जिन्होंने 25 मीटर पिस्टल में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास ही रच दिया. इसके अलावा भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने हांगकांग को 26-0 से हराकर रिकॉर्ड बनाया. भारतीय टीम को हमारी शुभकामनाएं. यूं ही हर रोज़ पदक जीतने का सिलसिला बरकरार रखें.

Breaking News

अटल पथ…

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने अटल बिहारी वाजपेयीजी को श्रद्धांजलि देते हुए कानपुर, आगरा, बलरामपुर व लखनऊ में चार स्मारक बनाने की घोषणा की थी. अब उनके सम्मान में बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे का नाम अटल पथ रखा है. इसके अलावा उन्होंने अटलजी की याद में कई योजनाओं की भी घोषणा की, जो उनके नाम पर होंगी. बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे 289 किलोमीटर लंबा चार लेन का राजमार्ग होगा, जो झांसी से शुरू होकर चित्रकूट, बांदा, हमीरपुर, औरैया व जालौन तक जाएगा. फिर यह इटावा से होकर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे में जुड़ जाएगा. इसके पहले छत्तीसगढ़ की रमन सिंह सरकार ने भी पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयीजी के उल्लेखनीय योगदान को देखते हुए नया रायपुर शहर का नाम अटल नगर रखने का निर्णय लिया था. वहां अटलजी की प्रतिमा स्थापित की जाएगी व वहां का सेंट्रल पार्क भी उनके नाम पर रखा जाएगा. साथ ही राज्य के सभी 27 जिलों के मुख्यालयों में वाजपेयीजी की मूर्ति लगाई जाएगी.

 

चांद पर मिली ब़र्फ…

नासा के वैज्ञानिकों ने भारतीय चंद्रयान 1 के ज़रिए चंद्रमा पर ब़र्फ की परत होने की पुष्टि की है. दरअसल, इसरो (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) द्वारा 2008 में प्रक्षेपित किए गए चंद्रयान-1 अंतरिक्षयान के साथ एम3 को भेजा गया था. उसी के आंकड़ों के आधार पर नासा ने चंद्रमा पर ब़र्फ होने की बात कही है. पीएनएएसफ जरनल के अनुसार, चंद्रमा पर कई जगहों पर ब़र्फ बिखरे हुए हैं. और ज़्यादातर ब़र्फ दक्षिण ध्रूव के लूनार क्रेटर्स के क़रीब एकत्र हैं. इसके अलावा उत्तरी ध्रुव की तरफ़ के ब़र्फ भी चारों तरफ़ बड़ी मात्रा में बिखरे हुए हैं. वैज्ञानिकों ने नासा के मून मिनरेलॉजी मैपर (एम3) से प्राप्त आंकड़ों का इस्तेमाल कर यह दिखाया है कि चंद्रमा की सतह पर बड़े पैमाने पर ब़र्फ फैले हुए हैं. ये ब़र्फ ऐसी जगहों पर पाए गए हैं, जहां चंद्रमा के थोड़ा झुके होने के कारण सूर्य की रोशनी कभी नहीं पहुंच पाती.

यह भी पढ़ें: 25 रोचक तथ्य (25 Interesting Fact)

फेक न्यूज़ पर लगाम…

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने वॉट्सएप के क्रिस डेनियल्स से मुलाक़ात कर इसके ज़रिए फैलनेवाले फेक न्यूज़ यानी झूठे/ग़लत संदेश/समाचारों पर लगाम लगाने के लिए कारगर क़दम उठाने की पेशकश की है. साथ ही उन्हें भारत में एक स्थानीय कंपनी बनाने की भी सलाह दी है, जो अफ़वाह फैलाने, ग़लत समाचार, संदेश भेजनेवालों पर नज़र रखेगी और उचित कार्यवाही करेगी. बकौल प्रसाद पिछले दिनों ग़लत मैसेजेस द्वारा अफ़वाह फैलाने के चलते भीड़ ने कई बेगुनाहों को पीट-पीटकर अधमरा कर दिया था. इसमें कोई दो राय नहीं कि सोशल मीडिया जागरूकता फैलाने में अहम् भूमिका निभाती है, तो कई बार इसके चलते बेक़सूर भी मारे जाते हैं. ऐसा न हो, इसलिए केंद्र सरकार सोशल साइट्स पर सख़्त क़दम उठा रही है.

 

सपना का बिंदास अंदाज़…

सपना चौधरी भोजपुरी सिनेमा, बिग बॉस 11, बॉलीवुड, पंजाबी मूवी के बाद अब हरियाणी छोरी के बिंदास अंदाज़ में अपने दिलकश ठुमके से सनसनी फैला रही हैं. राम की सू के टीजर में उनका ठेठ हरियाणवी लुक के साथ रोमांटिक डांस वायरल होने के साथ यूट्यूब पर ख़ूब धमाल मचा रहा है. लोग इसे अब तक क़रीब 5 लाख बार देख चुके हैं. इसे गाया सोमवीर कथूरवाल ने हैं. सोनोटेक के बैनर तले इस वीडियो का संगीत समेश जांगड़ा का निर्देशन कुलदीप राठी का है.

– ऊषा गुप्ता

Proud Moment: विनेश फोगाट ने रचा इतिहास… एशियाड में भारत का महिला कुश्ती वर्ग का पहला गोल्ड (Vinesh Phogat Creates History After Winning Gold At Asian Games)

Vinesh Phogat

Proud Moment: विनेश फोगाट ने रचा इतिहास… एशियाड में भारत का महिला कुश्ती वर्ग का पहला गोल्ड (Vinesh Phogat Creates History After Winning Gold At Asian Games)

एशियन गेम्स में स्वर्ण पदक जीतने पर ढेरों शुभकामनाएं… विदेश (Vinesh Phogat) ने इतिहास रच दिया, एशियाड में भारत का महिला कुश्ती वर्ग का पहला गोल्ड. पूरे देश को आप पर गर्व है! ग़ौरतलब है कि इन दिनों जकार्ता में चल रहे एशियन गेम्स में भारत का ये दूसरा गोल्ड है… रविवार को रेस्लर बजरंग पुनिया ने भी भारत की झोली में गोल्ड डाला था!

जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियन बने लक्ष्य (Lakshya Sen Created History By Winning Junior Badminton Championship)

Junior Badminton Championship

उड़ान

बधाई और शुभकामनाएं, नए उभरते बैडमिंटन चैंपियन बन गए है लक्ष्य सेन (Lakshya Sen). इंडोनेशिया के जर्काता में जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैंपियनशिप (Junior Badminton Championship) जीतकर उन्होंने यह कीर्तिमान अपने नाम किया. लक्ष्य ने देश को 53 साल बाद एशियाई पुरुष जूनियर वर्ग में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया. इस टूर्नामेंट में लक्ष्य को छठी वरीयता प्राप्त थी.
उन्होंने फाइनल में प्रथम वरीयता थाइलैंड के कुनलावुत वितिदसरन को सीधे सेटों में 21-19, 21-18 से मात दी. दोनों के बीच कड़ा मुक़ाबला हुआ, पर आख़िरकार जीत लक्ष्य की हुई. अंडर-19 के इस फाइनल में लक्ष्य ने 46 मिनटों के भीतर सीधे सेटों में कुनलावुत को हराया. दोनों के बीच यह पहली भिडंत थी.

Junior Badminton Championship

उन्होंने सेमीफाइनल में चौथी वरीयता के इंडोनेशिया के इखसान लियोनार्डो इमानुएल रुमबे को 21-7, 21-14 से हराया था.
बकौल लक्ष्य- वे यह टूर्नामेंट जीतकर बेहद ख़ुश हैं. इससे उनका आत्मविश्‍वास बढ़ा है. यह काफ़ी लंबा टूर्नामेंट रहा, क्योंकि मैं व्यक्तिगत व टीम स्पर्धा दोनों मेंं खेला. हर मैच के बाद मेरा पूरा ध्यान अपनी थकान से उबरना रहा. मुझे ख़ुशी है कि मैं अच्छा खेल सका और जीत हासिल कर सका.
लक्ष्य के स्वर्ण पदक जीतने व बेहतरीन परफॉर्मेंस पर बीएआई (भारतीय बैडमिंटन संघ) ने दस लाख रुपए की इनामी राशि देने की घोषणा की है.

Junior Badminton Championship

यह भी पढ़ें: श्रीकांत ने रचा इतिहास… (Shrikant Kidambi Creates History…)

डिफरेंट स्ट्रोक्स...
* लक्ष्य से पहले साल 1965 में गौतम ठक्कर ने यह जूनियर एशियाई बैडमिंटन का ख़िताब जीता था.
* और साल 2012 में पीवी सिंधु ने महिला वर्ग में इस ख़िताब का स्वर्ण पदक अपने नाम किया था.
* लक्ष्य सेन यूं तो दुनिया के नंबर नाइन प्लेयर हैं, पर एक समय में वे नंबर वन पर काबिज़ थे.
* अभी फ़िलहाल थाइलैंड के कुनलावुत वितिदसरन दुनिया के नंबर वन खिलाड़ी हैं.
* लक्ष्य एशिया जूनियर चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाले तीसरे भारतीय बन गए हैं.
* पिछले साल इस टूर्नामेंट में लक्ष्य ने कांस्य पदक हासिल किया था.
* प्रकाश पादुकोण व विमल कुमार से ट्रेनिंग हासिल करनेवाले लक्ष्य ने प्रकाश पादुकोण बैडमिंटन अकादमी में बैडमिंटन की बारीक़ियों को सिखा है.
* वैसे बैडमिंटन लक्ष्य के ख़ून में रहा है यानी उनके पिता डीके सेन व भाई चिराग़ भी बैडमिंटन खेलते रहे हैं. फ़िलहाल उनके पिता बैडमिंटन कोच हैं.
* लक्ष्य का जन्म उत्तराखंड के अल्मोड़ा में 16 अगस्त, 2001 में हुआ था.
* उन्होंने एशिया जूनियर चैैंपियनशिप व बीडब्ल्यूएफ इंटरनेशनल चैलेंज सीरीज़ जीता है.
* लक्ष्य अब तक जूनियर सिंगल टाइटल में अंडर 13, अंडर 17 व अंडर 19 का ख़िताब अपने नाम कर चुके हैं. साथ ही कई इंटरनेशनल मेडल भी जीते हैं.

– ऊषा गुप्ता

 

गोल्डन गर्ल हिमा दास की कामयाबी ने प्रधानमंत्री मोदी को किया भावुक (Seeing Her Passionately Search For The Tricolour Touched Me Deeply: PM Narendra Modi)

 

Athlete Hima Das

भारतीय ऐथ्लीट हिमा दास ने गुरुवार को आईएएएफ विश्व अंडर २० एथलेटिक्स चैम्पीयन्शिप की ४०० मीटर दौड़ में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है.

ये चैम्पीयन्शिप फ़िनलैंड के टेम्पेयर शहर में हुई थी. ऐसा करके अब हिमा ट्रैक स्पर्धा में गोल्ड मेडल जीतनेवाली पहली भारतीय खिलाड़ी बन गई हैं.

प्रधानमंत्री मोदी ने भी उनकी तारीफ़ करते हुए उन्हें बधाई दी… मोदी जी ने कहा…जीत के बाद तिरंगे के लिए जो प्यार हिमा के जज़्बे में दिखा और राष्ट्रगान के समय उनका भावुक होना मेरे मन को भीतर तक छू गया! यह देखने के बाद आख़िर किस भारतीय की आँखें नम ना होंगी!

आप देखें प्रधानमंत्री मोदी ने जो वीडियो ट्विटर पर शेयर किया

असम की रहनेवाली हिमा १८ साल की हैं और ग़रीब किसान की बेटी हैं… हम सबको उनपर गर्व है!

– गीता शर्मा

यह भी पढ़ें: संपत्ति में हक़ मांगनेवाली लड़कियों को नहीं मिलता आज भी सम्मान…

हैप्पी बर्थडे धोनी… पत्नी साक्षी ने कहा थैंक यू… शेयर किया स्पेशल और इमोशनल मेसेज…(Happy Birthday Dhoni: Wife Sakshi Shares Emotional Post)

Dhoni's Birthday  हैप्पी बर्थडे धोनी… पत्नी साक्षी ने कहा थैंक यू… साक्षी ने शेयर किया स्पेशल और इमोशनल मेसेज… (Happy Birthday Dhoni: Wife Sakshi Shares Emotional Post)

कैप्टन कूल का बर्थडे है और उनको पत्नी साक्षी ने थैंक यू कहा है… साक्षी ने कहा है कि शब्द भी कम हैं… और वो न्याय नहीं कर पायेंगे जो कुछ भी आपने मुझे १० सालों में दिया है… आपसे बहुत कुछ सिखा है और अब भी सीख रही हूँ… आपने जीवन को सही तरह से देखने का नज़रिया दिया है मुझे… मेरी ज़िंदगी को ख़ूबसूरत बनाने के लिए शुक्रिया!

क्रिकेट सफ़र

* माही.. एम.एस.धोनी.. से मशहूर महेंद्र सिंह धोनी का जन्म रांची, बिहार में 7 जुलाई, 1981 में हुआ था.

* विकेट कीपर-बल्लेबाज़ धोनी ने मध्यम गति से दाएं हाथ से गेंदबाज़ी भी की है.

* 2 दिसंबर, 2004 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ टेस्ट मैच से अपने क्रिकेट सफ़र की शुरुआत की.

* उन्होंने 25 दिसंबर, 2004 में बांग्लादेश के सामने अपने वनडे करियर का आगाज़ किया था.

* 1 दिसंबर, 2006 में साउथ अफ्रीका के विरुद्ध टी20 में पदार्पण किया.

* पद्यश्री से सम्मानित कूल कैप्टन के रूप में विख्यात धोनी ने भारत को कई कामयाबियां दिलाईं.

* उन्हीं की कप्तानी में भारत वर्ल्ड रैंकिंग में नंबर वन पर पहुंचा. साथ ही भारत ने पहली बार टी20 का वर्ल्ड कप (2007), फिर 1983 के बाद दोबारा वनडे का विश्‍व कप (2011), आईसीसी चैंपियनशिप ट्रॉफी जीती. ऐसे करिश्मा करनेवाले वे इकलौते कप्तान रहे हैं.

* अपनी कप्तानी में भारत को कई सफलताएं और उपलब्धियां दिलाने के बाद आख़िरकार साल 2014 में उन्होंने टेस्ट मैच को अलविदा कह दिया.

* फिर 4 जनवरी, 2017 से उन्होंने वनडे और टी20 की कप्तानी भी छोड़ दी. बकौल उनके अब वे रिलैक्स होकर बैटिंग का लुत्फ़ उठाना चाहते हैं.

कही-अनकही

* धोनी के पिता पान सिंह और मां देवकी देवी लावली, अल्मोड़ा (उत्तराखंड) के रहनेवाले थे, पर बाद में पिता काम के सिलसिले में रांची चले आए.

* माही की एक बहन जयंती और भाई नरेंद्र हैं.

* 4 जुलाई, 2010 को कोलकाता की साक्षी के साथ देहरादून में शादी करके उन्होंने सभी को चौंका दिया.

* दोनों का कई सालों तक मीडिया से छुप-छुपाकर मिलना-जुलना काफ़ी दिलचस्प रहा था.

* दोनों के परिवार एक-दूसरे को बहुत पहले से जानते थे. धोनी और साक्षी के पिता मैकॉन कंपनी में साथ काम करते थे.

* माही की प्यारी-सी बेटी जीवा उनकी जान है.

* माही फुटबॉल के क्रेज़ी थे. क्रिकेट से पहले वे

फुटबॉल खेला करते थे और अपनी स्कूल टीम के गोलकीपर थे. साथ ही स्कूली दिनों में बैडमिंटन में भी उनका सिलेक्शन हुआ था.

* उन्हें बतौर क्रिकेटर पहली नौकरी भारतीय रेलवे में टिकट कलेक्टर के रूप में मिली थी.

* इसके बाद उन्होंने एयर इंडिया में काम किया, फिर इंडिया सीमेंट्स के ऑफिसर बन गए.

* क्रिकेट के अलावा माही को बाइकिंग, मोटर रेसिंग से भी बेहद प्यार है. उनकी माही रेसिंग टीम भी है.

* एक ज़माने में धोनी के लंबे बाल के कई दीवाने थे, जबकि धोनी जॉन अब्राह्म के बालों के फैन थे. वे अक्सर अपना हेयर कट बदलते रहते थे.

* वे जहां एडम गिलक्रिस्ट के फैन रहे हैं, वही सचिन तेंदुलकर, अमिताभ बच्चन, लता मंगेशकर उनके फेवरेट सितारे हैं.

– ऊषा गुप्ता