Tag Archives: stay fit

मॉनसून में फिटनेस के लिए इंडोर एक्टिविटीज़ (Fitness Special: Indoor Activities For Monsoon)

Fitness Special
मॉनसून में फिटनेस के लिए इंडोर एक्टिविटीज़ (Fitness Special: Indoor Activities For Monsoon)

ख़ुद को फिट रखना आपका पैशन है, लेकिन बारिश की वजह से आप जिम नहीं जा पा रहे हैं. कोई बात नहीं, इंडोर एक्टिविटीज़ करके भी आप फिट रह सकते हैं. ट्रेडमिल, स्किपिंग, सूर्य नमस्कार, ऐरोबिक्स आदि बहुत सारी इंडोर एक्टिविटीज़ हैं, जिनके लिए किसी इक्विपमेंट की ज़रूरत नहीं होती और न ही जिम जाने की.

सूर्य नमस्कार
यह अपने आप में कंप्लीट एक्सरसाइज़ है. सूर्य नमस्कार करने के बाद अन्य वर्कआउट करने की ज़रूरत नहीं होती, क्योंकि इसमें इतने सारे स्टेप्स होते हैं, जिनसे पूरी बॉडी स्ट्रेच होती है और बॉडी भी शेप में रहती है. यदि आप भी मॉनसून में फिट एंड फाइन रहना चाहते हैं, तो प्रतिदिन कम से कम 20 बार सूर्य नमस्कार करें. धीरे-धीरे अपने स्टैमिना के अनुसार सूर्य नमस्कार का समय बढ़ाएं.

ब्रिस्क वॉक
मॉनसून में अगर वर्कआउट करने का मूड नहीं है, तो कोई बात नहीं. कान में ईयर फोन लगाकर म्यूज़िक सुनते हुए आप घर के अंदर ही 15-20 मिनट की ब्रिस्क वॉक कर सकते हैं.

स्किपिंग
मॉनसून में स्किपिंग करके भी आप फिट रह सकते हैं. फिटनेस एक्सपर्ट्स का मानना है कि रोज़ाना 20 मिनट स्किपिंग करने से 700 कैलोरीज़ बर्न होती है. हड्डियां व जोड़ मज़बूत होते हैं और मांसपेशियां लचीली बनती हैं.

पुशअप्स एंड प्लैंक्स
पुशअप और प्लैंक्स करने के लिए किसी इक्विपमेंट की ज़रूरत नहीं होती. इसे करने से पीठ, पेट और पैर मज़बूत होते हैं, साथ ही फिज़िकल स्टैमिना बढ़ता है. मॉनसून में अगर फिट रहना चाहते हैं, तो प्रतिदिन कम से कम 20 पुशअप एंड प्लैंक्स करें. धीरे-धीरे अपने स्टैमिना के अनुसार बढ़ाते जाएं.

ट्रेडमिल
मॉनसून वर्कआउट के बारे में सोचते ही सबसे पहला नाम ट्रेडमिल का आता है. ट्रेडमिल पर रोज़ाना 15 मिनट से 45 मिनट तक चल सकते हैं. इसके अलावा ट्रेडमिल पर आप ब्रिस्क वॉक और जॉगिंग भी कर सकते हैं.

इंडोर साइकिलिंग
पार्क जैसी खुली हवादार जगह पर साइकिलिंग करने का मज़ा ही अलग है, लेकिन बारिश में साइकिलिंग करना थोड़ा ख़तरनाक हो सकता है, पर परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. टे्रडमिल की तरह इंडोर साइकिलिंग करके भी आप मॉनसून में एक्टिव रह सकते हैं.

होम कार्डियो वर्कआउट
जिम जाने का मूड नहीं, तो होम कार्डियो वर्कआउट करें. इस वर्कआउट की शुरुआत क्विक वॉर्मअप सेशन से करें, फिर जंपिंग जैक, डंबल्स, बाईसेप्स कर्ल, ट्राईसेप्स कर्ल, स्कवैट्स और माउंटेन क्लाइंबर भी ट्राई कर सकते हैं. इन एक्सरसाइज़ को प्रतिदिन 30 मिनट करने से बांहें और पैर मज़बूत होते हैं.

डांस
इंडोर मॉनसून वर्कआउट को एंजॉय करने का बेस्ट तरीक़ा है डांस. वर्कआउट के लिए ऐसे सॉन्ग का सिलेक्शन करें, जो हाई एनर्जीवाले हों. इन हाई एनर्जीवाले सॉन्ग पर आप सोलो डांस भी कर सकते हैं और पार्टनर के साथ भी. डांस करने से एक्स्ट्रा कैलोरीज़ बर्न होती है और मांसपेशियां भी स्ट्रेच होती हैं.

ऐरोबिक्स
ऐरोबिक्स करने का सबसे बड़ा फ़ायदा यह है कि आप जिम गए बिना अपना वज़न कम कर सकते हैं और अपने को फिट रख सकते हैं. इस इंडोर एक्टिविटी को करने से मसल्स टोन्ड होती हैं और आप ख़ुद को भी एक्टिव महसूस करते हैं.

योगा
बारिश के कारण अगर जिम नहीं जा पा रहे हैं, तो आप योगा करके ख़ुद को फिट रख सकते हैं. क्या आप जानते हैं कि रोज़ाना 45 मिनट योगा करने से 700 कैलोरीज़ बर्न होती हैं. इसे करने से बॉडी में फ्लेक्सिबिलिटी बढ़ती है, इम्यूनिटी स्ट्रॉन्ग होती है और श्‍वसन तंत्र में होनेवाली समस्याएं दूर होती हैं, जो मॉनसून में होना आम बात है.

यह भी पढ़ें: Personal Problems: पैप स्मियर टेस्ट क्यों कराया जाता है? (Why Do I Need A Pap Smear Test?)

Indoor Fitness

हाउसहोल्ड एक्टिविटीज़
मॉनसून में हाउसहोल्ड एक्टिविटीज़ करके आप एक्टिव रह सकते हैं. शेल्फ्स और अलमारियां साफ़ करें, मशीन की जगह हाथों से कपड़े धोएं, पोछा लगाएं आदि. इन एक्टिविटीज़ से आप फिट भी रहेंगे और धीरे-धीरे आपका घर भी क्लीन हो जाएगा.

सीढ़ियां चढ़ना-उतरना
बारिश के मौसम में वॉकिंग या जॉगिंग करना संभव नहीं है, तो रोज़ाना 20 मिनट तक सीढ़ियां चढ़ें और उतरें. इस मौसम में एक्स्ट्रा कैलोरीज़ बर्न करने के लिए यह बेस्ट वर्कआउट है. फिटनेस एक्सपर्ट्स का मानना है कि अगर आप रोज़ाना 15 मिनट भी सीढ़ियां चढ़ते-उतरते हैं, तो आपका 80% तक वर्कआउट होता है. यह ट्रेडमिल पर चलने जैसा ही वर्कआउट है. अगर आपके पास ट्रेडमिल नहीं है, तो ख़रीदने की बजाय सीढ़ियां चढ़ें-उतरें. सीढ़ियां चढ़ने व उतरने से न केवल मांसपेशियां लचीली होती हैं, बल्कि मेटाबॉलिक रेट भी बढ़ता है.

स्पोर्ट्स
अगर आपके घर के आसपास कोई क्लब हाउस या जिम है, तो वहां जाकर इंडोर गेम्स भी खेल सकते हैं, जैसे- बैडमिंटन, टेबल टेनिस, स्न्वैश आदि. स्पोर्ट्स बॉडी में एकत्रित फैट्स को कम करने और ख़ुद को एनर्जेटिक रखने का बेस्ट ऑप्शन है.

यह भी पढ़ें: आम रोगों की होम रेमेडीज़ (Home Remedies For Common Ailments)

Home Fitness

बच्चों के लिए बेस्ट इंडोर एक्टिविटीज़
आर्ट एंड क्राफ्ट: इसमें बच्चों को कलरफुल क्राफ्ट पेपर की मदद से फ्लावर मेकिंग, ग्रीटिंग कॉर्ड आदि बनाना सिखा सकते हैं.
कार्ड और बोर्ड गेम्स: इन गेम्स में बच्चों को फ्रूट्स, वेजीटेबल्स, अल्फाबेट्स, एनीमल कार्ड को अलग-अलग शेप्स और डिज़ाइन में अरेंज करना सिखा सकते हैं.

फन गेम्स: चेस, कैरम, पज़ल्स, लूडो, मैकेनिकल गेम्स आदि.

मूवी टाइम: बच्चों को एनिमेटेड 3डी/4डी मूवी दिखा सकते हैं. उनके मूवी टाइम को फन टाइम बनाने के लिए स्नैक्स का अरेंजमेंट ज़रूर करें.

इंडोर गार्डनिंग: इसमें बच्चे बैंगन, टमाटर, लहसुन, प्याज़ और हरे धनिया को छोटे गमलों में उगा सकते हैं. ये पौधे मॉनसून के लिए परफेक्ट प्लान्ट्स हैं, क्योंकि इन्हें अधिक सनलाइट की आवश्यकता नहीं होती.

स्टोरी टाइम: बच्चों के लिए ऐसा स्टोरी टाइम प्लान करें, जिसे वे एंजॉय कर सकें. बड़े बच्चों को स्टोरी बुक पढ़ने के लिए कहें और छोटे बच्चों को पिक्चर बुक्स और बोर्ड बुक्स दिखाकर स्टोरी सुनाएं.

पार्टी टाइम: बिना किसी कारण के बच्चों और उनके दोस्तों के लिए इनहाउस पार्टी प्लान करें, जैसे- गुड़िया का बर्थडे, उसकी शादी, पप्पी का बर्थडे. डांस और यम्मी स्नैक्स के साथ उनकी पार्टी को सफल बनाएं.

असिस्टेंट बनाएं: बच्चों को कुकिंग, क्लीनिंग, डस्टिंग में मदद करने के लिए प्रेरित करें. रिवॉर्ड के तौर पर उन्हें मूवी दिखाएं, फेवरेट गेम और फेवरेट ट्रीट दें.

कुकिंग एंड बेकिंग: इसमें बच्चों को सलाद, सैंडविच, कपकेक बनाना सिखा सकते हैं.

– पूनम कोठारी

यह भी पढ़ें: वज़न घटाने के 25 ईज़ी टिप्स (25 Easy Tips For Weight Loss)

 

हेक्टिक वर्क शेड्यूल में कैसे रहें फिट? (How to Stay Fit despite a Busy Work Schedule?)

Hectic work schedule,stay fit

मॉडर्न लाइफस्टाइल और हेक्टिक वर्क शेड्यूल के बीच हम इस कदर बिज़ी हो गए हैं, मानो हमारी दुनिया ही ऑफिस और घर तक सिमट कर रह गई है. सुबह ऑफिस पहुंचने की जल्दी… ऑफिस में क़रीब 8 से 10 घंटे लगातार कंप्यूटर के सामने बैठकर काम करने के बाद फिर शाम को थक-हार कर घर पहुंचने की जल्दी… इस भागती-दौड़ती ज़िंदगी के बीच हम अपनी सेहत को अक्सर नज़रअंदाज़ कर जाते हैं, लेकिन शायद हम यह नहीं जानते हैं कि ऐसा करके हम न जाने कितनी बीमारियों को न्योता दे रहे हैं.

Professional look_work_life-balance

हेक्टिक जॉब शेड्यूल में अपनी सेहत पर ध्यान देना भले ही मुश्किल लगता हो, लेकिन कुछ बातों को रूटीन में शामिल करके ख़ुद को फिट रखा जा सकता है.

क्या करें ?

  • हेक्टिक शेड्यूल के बीच थोड़ा समय अपनी सेहत को बेहतर बनाने के लिए निकालें.
  • प्लानिंग के साथ अपने डेली रूटीन के काम को पूरा करें.
  • डेली रूटीन में फिज़िकल वर्कआउट को शामिल करें.
  • थोड़ी देर ही सही, पर अपनी पसंदीदा एक्सरसाइज़ करें. मानसिक और शारीरिक फिटनेस के लिए एक्सरसाइज़ ज़रूरी है.
  • लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें.
  • अपनी कार को ऑफिस के गेट से दूर पार्क करें और पैदल चलें.
  • लंच के लिए घर का बना खाना ले जाएं, बाहर का खाना खाने से बचें.

ऑफिस में वर्कआउट के फ़ायदे

  • ऑफिस में 2 मिनट के वॉक से सेहत पर सकारात्मक असर पड़ता है.
  • आंखों और रीढ़ की हड्डियों को आराम मिलता है.
  • टहलने से शरीर में रक्त का संचार सही तरी़के से होता है.
  • टहलने से शरीर को ऊर्जा मिलती है.
  • वर्कआउट से मूड दिनभर अच्छा रहता है.
  • एक्सरसाइज़ करने से बीमारियों के होने का ख़तरा कम होता है.
  • व्यायाम करने से मानसिक और शारीरिक तनाव कम होता है.

काम के साथ वर्कआउट भी

ऑफिस में एक ही जगह पर बैठकर घंटों काम करने के बावजूद हम ख़ुद को फिट रख सकते हैं. कुछ ऐसे एक्सरसाइज़ हैं, जिन्हें ऑफिस में काम के साथ किया जा सकता है.

  • ऑफिस में लगातार बैठने का काम है, तो अच्छी सेहत के लिए हर घंटे में दो मिनट वॉक करें.
  • ऑफिस में अपनी फाइलें, रजिस्टर जैसी चीज़ें ख़ुद उठाकर रखें.
  • पीने के लिए पानी ख़ुद लेने जाएं और आते व़क्त अपनी चेयर तक पहुंचने के लिए लंबा रास्ता अपनाएं.
  • लंच करने के बाद अपनी केबिन में कुछ देर तक टहलें.
  • कंप्यूटर पर काम करते-करते थक जाएं, तो कुर्सी पर ही विश्रामदायक मुद्रा में बैठ जाएं.
  • लगातार चेयर पर बैठने की बजाय ज़्यादा से ज़्यादा फिज़िकल मूवमेंट करें.
  • चेयर पर बैठे-बैठे अपने कंधों को 10 बार पीछे की तरफ़ घुमाएं, फिर 10 बार आगे की तरफ़ घुमाएं.
  • चेयर पर बैठकर अपने पैरों को स्ट्रेच करें, चेयर के बराबर ज़मीन से ऊपर उठाएं.
  • अपने दोनों हाथों को अपनी पीठ की ओर ले जाएं, दोनों हाथों की उंगलियों को लॉक करें और अपने हाथ को जितना मुमक़िन हो, उतना पीछे की तरफ़ स्ट्रेच करें.
  • अपने दोनों हाथों को कंधे के बराबर में लाएं. मुट्ठी बंद करके 10 बार अंदर की तरफ़ घुमाएं, फिर 10 बार बाहर की तरफ़ घुमाएं.