Tag Archives: stretch marks

सेक्स प्रॉब्लम्स- सेक्सुअल बातों से उत्तेजित हो जाती हूं… (Sex Problems- I get aroused by ‘sexual talks’)

Sex Problems

Sex Problems

 

सेक्सुअल बातों से उत्तेजित हो जाती हूं…

मेरी समस्या यह है कि पिछले 4-5 सालों से मैं सेक्स संबंधी किसी भी प्रकार की बातों से उत्तेजित हो जाती हूं. योनिमार्ग से चिपचिपा-सा स़फेद द्रव निकलता है, जिससे मैं परेशान हो जाती हूं. इसकी वजह से विवाह के बाद मुझे किसी तरह की द़िक़्क़तों का सामना तो नहीं करना पड़ेगा?
– डॉली शर्मा, बाबतपुर.
आप बेवजह ही घबरा रही हैं. आपको जो कुछ भी महसूस हो रहा है, वह आपकी उम्र के अनुरूप है. इस उम्र में जो भी शारीरिक व मानसिक विकास होता है, उसमें इस तरह की उत्तेजना एकदम स्वाभाविक है. कोई उत्तेजक चीज़ या दृश्य सामने आ जाएं तो ज़ाहिर है मन व शरीर पर इसका प्रभाव पड़ेगा. ऐसे में प्रतिक्रिया स्वरूप ही आपकी योनि से चिपचिपा द्रव भी निकलता है. अतः परेशान होने की ज़रूरत नहीं है. उपरोक्त बातों का आपके वैवाहिक जीवन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा.  आप निश्‍चित होकर शादी कर सकती हैं.
यह भी पढ़े: सेक्स लाइफ को बेहतर बनाने के ट्रिक्स
यह भी पढ़े: सेक्स लाइफ के 12 दुश्मन

फीमेल कंडोम कितना सुरक्षित है?

मैं व मेरे पति अभी बच्चा नहीं चाहते, परन्तु मेरे पति कंडोम का भी इस्तेमाल नहीं करते. यूं तो मैं गर्भनिरोधक गोलियां लेती हूं, पर मैंने महिला कंडोम के बारे में सुना है. क्या इसका इस्तेमाल करना सुरक्षित है?
– शैली वर्मा, रांची.
महिला कंडोम यानी कि फीमेल कंडोम इन दिनों काफ़ी चर्चा में है और आजकल इसे एक विकल्प के रूप में भी आज़माया जा रहा है. इसे संभोग के पहले योनि में डाला जाता है, जो वीर्य को अंदर जाने से रोकता है. इससे फ़ायदा यह होता है कि यदि पुरुष साथी कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहता तो स्त्री कर सकती है. फीमेल कंडोम सुरक्षित भी है, लेकिन मेल कंडोम जितना नहीं. गर्भनिरोधक गोलियां यक़ीनन एक सुरक्षित विकल्प हैं, परन्तु फीमेल कंडोम ने महिलाओं को और अधिक विकल्प दिए हैं जिसका लाभ ख़ासकर वे महिलाएं उठा सकती हैं, जो गर्भनिरोधक गोलियां नहीं लेना चाहतीं या फिर इनके साइडइ़फेक्ट से बचना चाहती हैं.

 

स्ट्रेच मार्क्स से परेशान हूं…

मेरी बॉडी पर काफ़ी स्ट्रेच मार्क्स हैं. मैंने  सुना है कि ये मार्क्स प्रेग्नेंसी के बाद होते हैं तो फिर मेरी बॉडी पर क्यों हैं? क्या मेरी सेक्स लाइफ़ इससे प्रभावित होगी?
– श्रद्धा गिल, जालंधर.
यह सोच ग़लत है कि स्ट्रेच मार्क्स स़िर्फ प्रेग्नेंसी के बाद होते हैं. यह कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है. बहुत-सी लड़कियों के साथ ऐसा होता है. अगर बार-बार शरीर का वज़न कम-ज़्यादा हो तो भी स्ट्रच मार्क्स पड़ जाते हैं, क्योंकि स्किन लूज़ और टाइट होती रहती है तो उसका लचीलापन थोड़ा कम होकर वो लूज़ रह जाती है, जो स्ट्रेच मार्क्स के रूप में हमें दिखती है. इसके अलावा ग़लत एक्सरसाइज़ से भी ऐसा हो सकता है. यह कोई सेक्स से संबंधित समस्या नहीं है. अत: मन से सारे डर निकाल दें. निश्‍चिंत रहें, आपकी सेक्सुअल लाइफ़ में कोई मुश्किलें नहीं आएंगी.

 

पढ़ने में मन नहीं लगता…

मुझे आजकल सेक्स की इच्छा होती है, जिससे पढ़ने में मन नहीं लगता, बेचैनी बनी रहती है. ऐसे में मैं हस्तमैथुन करता हूं. क्या मैं ग़लत करता हूं?
– पूजा सिंह, जयपुर.
किशोरावस्था में सेक्स की इच्छा बेहद बढ़ जाती है, ऐसे में हस्तमैथुन करना इस बात का संकेत है कि आपका सेक्सुअल विकास स्वस्थ व सामान्य रूप से हो रहा है. किसी ग़लत जगह जाकर सेक्स करने से तो यह ज़रिया बेहतर व सुरक्षित है. हस्तमैथुन पूर्णत: सामान्य है, जब तक आप इसे ह़फ़्ते में 4-5 बार या रोज़ाना भी करें तो भी. हां, अति किसी भी चीज़ की अच्छी नहीं होती.

 

सेक्स संबंधित अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करेंSex Problems Q&A

 

Dr. Rajiv Anand Resize image 2.1.17

डॉ. राजीव आनंद
सेक्सोलॉजिस्ट
([email protected])