Sunny Singh

अपने फेवरेट स्टार के बारे में वैसे तो हम कुछ जानते हैं कि वो क्या खाते हैं, क्या पहनते हैं, कैसे रहते हैं, उनकी फैमिली-रिलेशनशिप की बातें… सब कुछ, लेकिन आज हम आपको बताने जा रहे हैं इन फ़िल्म स्टार्स के उन सुपर डैड के बारे में, जो बॉलीवुड से ताल्लुक नहीं रखते, लेकिन अपने फील्ड में मास्टर हैं और बेहद सक्सेसफुल भी.

आयुष्मान के पापा पी खुराना हैं ज्योतिषी

Ayushmann's father P. Khurana

आयुष्मान खुराना बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता हैं जो न सिर्फ बेहतरीन एक्टर हैं बल्कि लाजवाब गायक और लेखक भी हैं. पर शायद आप नहीं जानते होंगे कि आयुष्मान के फादर पी खुराना मशहूर ज्योतिषी और अंकशास्त्री हैं और उनके क्लाइंट लिस्ट में काफी बड़े लोग शामिल हैं. पापा के कहने पर ही आयुष्मान ने अपने नाम की स्पेलिंग में बदलाव किए और आज कामयाब भी हैं. उनके नाम में जितने भी शब्द (Alphabets) एक्स्ट्रा हैं वो उनके पिता ने जोड़े हैं. इतना ही नहीं, करियर की शुरुआत से ही आयुष्मान पापा की ज्योतिष सलाह मानते आ रहे हैं, एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा था, ”मेरा जर्नलिज्म का एग्जाम चल रहा था और मेरा दिल्ली शिफ्ट होने का प्लान था. लेकिन मैंने सोचा था एक साल बाद जाऊंगा, लेकिन पापा ने कहा कि एक साल बाद जाओगे तो काम नहीं मिलेगा अभी जाओ. मैं एग्जाम खत्म होने के दूसरे दिन ही दिल्ली चला गया. यहां दो साल तक था रेडियो जॉकी का काम किया. वहां सब अच्छा चल रहा था, तो पापा का एक दिन कॉल आया कि मुम्बई चला जा, वहां सक्सेस तेरा इंतज़ार कर रही है और मैं मुम्बई चला आया.” हालांकि आयुष्मान ने कहा कि वो ज्योतिष में विश्वास नहीं करते, लेकिन अपने पिता की बात मानते हैं.

कार्तिक आर्यन के फादर है बच्चों के डॉक्टर

Karthik aryan and His Father

कार्तिक आर्यन का असली नाम कार्तिक तिवारी है. एक नॉर्मल मिडल क्लास फैमिली से आने वाले आर्यन का नाता बॉलीवुड से दूर-दूर तक नाता नहीं था. उनकी फैमिली में ज़्यादातर लोग डॉक्टर हैं, लेकिन कार्तिक को एक्टिंग में इंटरेस्ट था, तो वो इंजीनियरिंग छोड़कर यहां आ गए और अपने एक्टिंग के दम पर और किसी से भी मदद लिए बिना, आज एक कामयाब कलाकार बन गए हैं.
पर शायद बहुत कम लोगों को पता है कि उनके पिता मनीष तिवारी डॉक्टर हैं. वो बच्चों के डॉक्टर यानी बाल रोग विशेषज्ञ हैं. इतना ही नहीं कार्तिक की मां माला तिवारी भी गायनाकोलोजिस्ट यानी स्त्रीरोग विशेषज्ञ हैं. इसके अलावा कार्तिक की एक छोटी बहन भी है, जिसका नाम किट्टू है ओर वो भी एक डॉक्टर है.

सिद्धार्थ मल्होत्रा के फादर हैं मर्चेंट नेवी में ऑफिसर

Siddharth Malhotra and His Father

ज़्यादातर लोगों को लगता है कि सिद्धार्थ मल्होत्रा स्टार किड हैं. पर ये बिल्कुल सच नहीं है. ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ फ़िल्म से बॉलीवुड में डेब्यू करने वाले सिद्धार्थ के पिता का नाम सुनील मल्होत्रा है और वो मर्चेंट नेवी के फॉर्मर कैप्टेन रह चुके है जबकि मां रीमा मल्होत्रा एक डॉक्टर हैं. पर सिद्धार्थ ने 18 साल की उम्र से ही मॉडलिंग करनी शुरू कर दी थी. बाद में फिल्ममेकर करण जौहर ने उन्हें अपनी फिल्म ‘माय नेम इज खान’ में सह-निर्देशक के तौर पर काम करने का मौका दिया और करण ने ही उन्हें ‘स्टूडेंट ऑफ द ईयर’ में ब्रेक दिया. आज वो इंडस्ट्री में अपनी अच्छी खासी पहचान बना चुके हैं और उनकी ज़बरदस्त फीमेल फैन फॉलोइंग है.

रणदीप हुडा के पापा हैं जाने माने सर्जन

Randeep Hooda and His Father

रणदीप ने हालांकि गिनती की फिल्में की हैं, लेकिन कम फिल्मों में ही अपनी दमदार एक्टिंग से उन्होंने दर्शकों के दिल पर एक गहरी छाप छोड़ी है. रणदीप की अपने पापा के साथ एक खास तरह की केमिस्ट्री है और अपने पापा के साथ फोटोज वो अक्सर सोशल मीडिया पर शेयर करते रहते हैं. बहुत कम लोगों को पता होगा कि उनके पापा रणबीर हुडा पेशे से सर्जन हैं. रणदीप भी बॉलीवुड के उन चंद एक्टर्स में से हैं, जो हाइली एडुकेटेड हैं. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया से मॉर्केटिंग में स्‍नातक की डिग्री प्राप्‍त की और बिजनेस मैनेजमेंट और ह्यूमन रिर्सोस मैनेजमेंट में स्‍नाकोत्‍तर की डिग्री प्राप्‍त की है, लेकिन उन्हें करियर एक्टिंग में ही बनाना था और आखिरकार काफी स्ट्रगल के बाद उन्हें मीरा नायर की चर्चित फिल्म ‘मॉनसून वेडिंग’ से बॉलीवुड में ब्रेक मिल ही गया.

आर माधवन के पापा रंगनाथन हैं टाटा स्टील में मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव

R. Madhavan and His Father

बॉलीवुड और टॉलीवुड दोनों जगह फिल्मों में कई बेहतरीन कैरेक्टर निभानेवाले आर माधवन एक उच्च शिक्षित परिवार से ताल्लुक रखते हैं. पापा रंगनाथन टाटा स्टील में मैनेजमेंट एग्जीक्यूटिव के पद पर कार्यरत हैं, जबकि उनकी मां सरोजा बैंक ऑफ़ इंडिया में मैनेजर हैं. उनकी छोटी बहन यूके में सॉफ्टवेयर इंजीनियर के पद पर कार्यरत हैं. माधवन भी हमेशा से पढ़ाई में बेहद अव्वल थे. उन्हें साल 1988 में अपने स्कूल को बतौर कल्चरल एम्बैसडर के तौर पर कनाडा में रिप्रेजेंट करने का अवसर भी मिला था. माधवन की कभी भी एक्टर बनने की ख्वाइश नहीं थी. वह एक आर्मी ऑफिसर बनना चाहते थे, लेकिन किस्मत उन्हें यहां ले आई और उन्होंने बतौर एक्टर खुद को साबित भी किया.

सनी सिंह के फादर जय सिंह निज्जर हैं स्टंट कोऑर्डिनेटर

Sunny Singh and His Father

प्यार का पंचनामा, सोनू के टीटू की स्वीटी’ और ‘उचड़ा चमन’ जैसी फ़िल्मों में एक्टिंग कर चुके सन्नी सिंह को हर कोई पहचानता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि उनके पापा जय सिंह निज्जर बॉलीवुड में बतौर स्टंट डाइरेक्टर कई फिल्मों में काम कर चुके हैं. उनकी कुछ चुनिंदा फिल्मों में शिवाय, हिम्मतवाला, चेन्नई एक्सप्रेस, सिंघम सीरीज की फिल्में प्रमुख हैं.

सिद्धांत चतुर्वेदी के पापा हैं चार्टर्ड अकाउंटेंट

Siddhant Chaturvedi and His Father


पिछले साल फ़िल्म ‘गली बॉय’ में एमसी शेर का किरदार निभाकर चर्चा में आनेवाले सिद्धांत चतुर्वेदी की इस फ़िल्म में एक्टिंग की खूब तारीफें हुईं. बिना कोई फिल्मी बैकग्राउंड के बावजूद सिद्धांत ने बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाई है. आपको बता दें कि उनके पापा चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और
सिद्धांत भी अपने पिता की तरह चार्टर्ड अकाउंटेट बनना चाहते थे, लेकिन 2012 में मुंबई टाइम्स का नेशनल टैलेंट हंट जीतना उनके लिए टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ. इसके बाद उन्होंने एक्टिंग पर ही फोकस करना शुरू कर दिया.

Daal Ke Vyanjan (E-Book)

Rs.30

Party Recipes (E-Book)

Rs.30

Hair Style (E-Book)

Rs.30

उजड़ा चमन (Ujda Chaman) नाम से ही ज़ाहिर होता है कि किसी की दुनिया लूट गई हो जैसे. हां जी, जिनके सिर पर जवानी में ही बहुत कम बाल हो यानी की वे गंजे हों, तो दर्द-ए-दास्तान कुछ ऐसी ही होती है जैसे फिल्म उजड़ा चमन के नायक की है. एक अछूते विषय को कहीं मनोरंजन, तो कहीं गंभीरता से छूने की सार्थक कोशिश की गई है.

Ujda Chaman

 

फिल्म के हीरो चमन यानी सनी सिंह दिल्ली के कॉलेज में हिंदी के शिक्षक हैं. उनके सिर पर बाल न होने पर अक्सर क्लास में उनका मज़ाक उड़ाया जाता है. वहीं वे अपनी शादी को लेकर भी परेशान रहते हैं. ऐसे में काफ़ी मशक्कत के बाद अप्सरा यानी मानवी गगरू मिलती भी है, तो वो ओवरवेट है.

दोनों परफेक्ट कपल, पर कुछ कमी के साथ हैं. गंजेपन के कारण कई रिश्तों का ठुकराया जाना, पंडितजी का अल्टीमेटम कि इस साल शादी नहीं हुई, तो ज़िदगीभर कुंवारा रहना पड़ सकता है, गंजेपन को लेकर शर्मिंदगी, तो मोटापे को लेकर जगहंसाई… इन तमाम बातों से जुड़ी भावनाओं व प्रतिक्रियाओं से होकर गुज़रती है फिल्म.

कन्नड़ फिल्म ओंदु मोट्टया कथे, जिसकी कहानी राज बी. शेट्टी ने लिखी थी, पर आधारित उजड़ा चमन अलग तरह की फिल्म है. यह इस बात पर भी कटाक्ष करती है कि आज भी हमारे देश में गंजापन और मोटापा कितना बड़ा मुद्दा बना हुआ है. ये शादी में रोड़ा होने के साथ-साथ चिंता का विषय भी बना हुआ है.

Ujda Chaman Ujda Chaman

अजय देवगन के सेक्रेटरी कुमार मंगत फिल्म के निर्माता है. उन्हीं के बेटे अभिषेक पाठक ने इस फिल्म से निर्देशन की शुरुआत की है. फिल्म के प्रमोशन में अजय देवगन, कार्तिक आर्यन, पुलकित सम्राट ने भी काफ़ी सहयोग दिया था. इसी विषय पर आयुष्मान खुराना की बाला फिल्म भी अगले हफ़्ते रिलीज होनेवाली है. दोनों ही फिल्मों को लेकर काफ़ी विवाद भी हुआ था. फिर भी यक़ीनन दोनों ही फिल्में दर्शकों का अलग तरह से मनोरंजन करने में कामयाब रहेंगी.

अन्य कलाकारों में सौरभ शुक्ला, ग्रूशा कपूर, अतुल कुमार, शारिब हाशमी, गगन अरोड़ा, करिश्मा शर्मा सभी ने अपनी भूमिकाओं के साथ न्याय किया है.

Ujda Chaman

गौरव रोशिन का संगीत ठीकठाक है. गुरु रंधावा के गीत कर्णप्रिय पर सामान्य है. सुधीर चौधरी की फोटोग्राफी ख़ूबसूरत व दर्शनीय है. सनी सिंह प्यार का पंचनामा, सोनू के टीटू की स्वीटी, टीवी आदि में अपने अभिनय का जलवा दिखा चुके हैं. यह फिल्म उनके लिए अभिनय सफ़र की एक और मज़बूत कड़ी साबित होगी. गंजापन किसी के जीवन के लिए कितना बड़ा अभिशाप बन जाता है, उजड़ा चमन इसका बेहतरीन उदाहरण है. लीक से हटकर कुछ अलग देखने की चाह हो, तो इसे ज़रूर देखें.

Ujda ChamanUjda Chaman

यह भी पढ़ेHappy Birthday Principessa: अभिषेक बच्चन ने रोमांटिक अंदाज़ में पत्नी ऐश्‍वर्या को किया बर्थडे विश.. (Happy Birthday To Aishwarya Rai Bachchan)

Daal Ke Vyanjan (E-Book)

Rs.30

Upwas Ke Vyanjan (E-Book)

Rs.30
150 North Indian Recipes

150 North Indian Recipes

Rs.30