Swara Bhaskar

बॉलीवुड में पंगा गर्ल के नाम से मशहूर कंगना रनौत अपने बेबाक बयानों के लिए पहले से ही जानी जाती है. लेकिन सुशांत सिंह राजपूत के सुसाइड कर लेने के बाद जब से बॉलीवुड में नेपोटिज़्म का मुद्दा गरमाया है, तब से एक बार फिर कंगना रनौत सुर्ख़ियों में आ गई है. नेपोटिज़्म के मुद्दे को लेकर कई बड़े स्टार्स और डायरेक्टर्स पर सीधे निशाना साधा है. सोशल मीडिया पर आए दिन किसी न किसी के साथ उनकी कैटफाइट होती रही है. कुछ दिन पहले दीपिका पादुकोण और पूजा भट्ट के साथ कंगना की सोशल मीडिया पर जबरदस्त फाइट हो चुकी है और अब तापसी पन्नू और स्वरा भास्कर के साथ भी कंगना ने खुलेआम पंगा ले लिया है. आज हम उन एक्ट्रेसेस के बारे में बताते हैं जिनसे कंगना ने पंगा लिया. 

  1. तापसी पन्नू और कंगना रनौत
Kangana Ranaut

तापसी  और कंगना ने बीच पंगा फिल्म “जजमेंटल है क्या” के ट्रेलर की रिलीज़ के वक्त शुरू हुआ. तापसी ने फिल्म के ट्रेलर की तारीफ़ तो बहुत की लेकिन फिल्म में कंगना की एक्टिंग की प्रशंसा नहीं की. बस फिर क्या था कंगना को मौका मिल गया और दोनों के बीच तब से सोशल मीडिया पर कैटफाइट शुरू हो गई. हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सुशांत सिंह राजपूत की मौत और नेपोटिज़्म के मुद्दे पर बात करते हुए कंगना से तापसी पन्नू और स्वरा भास्कर पर निशान साधते हुए उन्हें बी ग्रेड की हीरोइन तक कह डाला. कंगना के इस बयां के बाद तापसी ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी. इस ट्वीट में तापसी ने किसी का नाम नहीं लिया पर समझने वाले के लिए इशारा ही काफी था. ये ट्वीट अप्रत्यक्ष रूप से कंगना के लिए ही था.

2. स्वरा भास्कर और कंगना रनौत

Kangana Ranaut

कंगना रनौत ने सिर्फ तापसी का नहीं बल्कि स्वरा भास्कर का नाम भी बी ग्रेड की हीरोइन में शामिल किया है. उन्होंने स्वरा को नेपोटिज़्म जैसे मुद्दे पर चुप रहने को लेकर तंज़ कसा. एक इंटरव्यू में कंगना ने स्वरा को चापलूस तक कहा. यह बात स्वरा को बिलकुल भी पसंद नहीं आई. स्वरा भी कहां चुप रहने वाली थी. उन्होंने भी कंगन को करारा जवाब दिया.

3. आलिया भट्ट और कंगना रनौत

Alia and Kangana Ranaut

इन दोनों एक्ट्रेस के बीच सोशल मीडिया पर कई बार फाइट हुई है, लेकिन जबरदस्त फाइट फिल्म मणिकर्णिका: द क्वीन ऑफ झांसी के रिलीज़ के वक्त हुआ. कंगना ने आलिया पर आरोप लगाया है कि उनकी फिल्म को सपोर्ट नहीं किया. बाद में जब आलिया भट्ट की गली बॉय आई तो कंगना ने फिल्म में अलिया की परफॉर्मन्स और फिल्म के लिए अवॉर्ड मिलने पर भी सवाल उठाए कि आलिया को ‘गली बॉय’ में 10 मिनट के रोल के लिए मेन लीड अवॉर्ड स्वीकार करने में कोई शर्म नहीं थी. लेकिन आलिया ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी.

4. दीपिका पादुकोण और कंगना रनौत

Deepika and Kangana Ranaut

दीपिका और कंगना दोनों हो बॉलीवुड की टैलेंटेड एक्ट्रेसेस हैं. लेकिन दोनों के बीच होनेवाला मतभेद किसी से छिपा नहीं है. एक अवॉर्ड फंक्शन में बेस्ट ऐक्ट्रेस का अवॉर्ड ‘क्वीन’ के लिए कंगना को नहीं बल्कि ‘हैपी न्यू इयर’ के लिए दीपिका पादुकोण को मिला. जब दीपिका ने यह अवॉर्ड लिया तो इस अवॉर्ड को उन्होंने  ‘क्वीन’ में कंगना की बेहतरीन परफॉर्मेंस को डेडिकेट किया. बस यही बात कंगना को चुभ गई. इसके बाद दीपिका कंगना की फिल्म तनु वेड्स मनु रिटर्नस के प्रीमियर में नहीं गई. उसके बाद एक इंटरव्यू में भी कंगना ने खुलासा किया कि दीपिका उनकी दोस्त नहीं है और न ही उन्हें दीपिका से दोस्ती करने का मन है. दीपिका की फिल्म ‘छपाक’ के रिलीज होने से पहले दीपिका का एक टिकटॉक वीडियो सामने आया था. कंगना ने इस वीडियो को काफी असंवेदनशील बताया था और उनसे माफ़ी मानने को कहा. इसके बाद कंगना ने जेएनयू में हुई हिंसा के विरोध में छात्रों के सपॉर्ट में यूनिवर्सिटी पहुंची दीपिका की जमकर आलोचना की.

5. पूजा भट्ट और कंगना रनौत

Pooja Bhatt and Kangana Ranaut

पिछले दिनों कंगना ने नेपोटिज़्म के मुद्दे पर अपनी बात रखते हुए महेश भट्ट पर तंज़ कसा. कंगना ने ट्वीट करके पूछा कि टैलेंटेड लोगों से फ्री में काम करवाने का मतलब यह नहीं है कि उन्हें उन पर चप्पल फेंकने का लाइसेंस मिल जाता है. इसके साथ ही कंगना ने ट्वीट कर पूजा भट्ट से यह सवाल ही पूछा कि उनके पिता महेश भट्ट की सुशांत सिंह राजपूत और रिया चक्रवर्ती के रिलेशनशिप में इतनी रुचि क्यों थी. तो उनकी डायरेक्टर और एक्ट्रेस बेटी पूजा कहां चुप बैठनेवाली थी. पूजा ने उन्हें भी सोशल मीडिया पर ज्ञान देना शुरू कर दिया.

यह भी पढ़ें: जय-माही से लेकर गुरमीत-देबिना तक १० पॉप्युलर टीवी एक्टर्स जिन्होंने कानों-कान किसी को अपनी शादी की भनक नहीं लगने दी (From Jay-Mahi To Gurmeet-Debina: 10 Popular TV Actors Who Got Married Secretly)

पिछले कुछ सालों से देशप्रेम और राष्ट्रवाद को लेकर बहस तेज हो गई है. सोशल मीडिया पर भी अक्सर इन मुद्दों पर जमकर चर्चा होती है. बॉलिवुड सिलेब्रिटीज भी इस मामले पर बयानबाजी करके अक्‍सर लोगों के निशान पर आते रहते हैं और कई बार तो इन मुद्दों पर बोलना उन्हें काफी भारी भी पड़ गया है. आइए जानते हैं, कब-कब राष्‍ट्र से जुड़े बयानों को लेकर विवाद हुआ और स्‍टार्स जमकर ट्रोल हुए.

सैफ अली खान

Saif Ali Khan

सैफ कुछ दिनों पहले एक ई-कॉन्‍क्‍लेव में बातचीत के दौरान देश में फिलहाल बिगड़ रहे माहौल और राष्ट्रभक्त होने के सवाल पर कुछ बयान देकर चर्चा में आ गए थे. उन्होंने कहा था कि ऐसे सवाल पता नहीं कब खत्‍म होंगे और उन्‍होंने कभी इस पर अपना समय खर्च नहीं किया. ”आज लोगों में एक तरह की नई मानसिकता आ गई है जिसमें लोग खुद को राष्ट्रप्रेमी साबित करने की होड़ में लग गए हैं. इसका क्‍या मतलब है? कई मायनों में यह अच्छी चीज है लेकिन भारतीय होने का अर्थ क्या है? क्या इसका मतलब हिंदू होना है या सिर्फ भारत में पैदा होना काफी है? राजनीति वो चीज नहीं है जिसके बारे में मैं बहुत ज्यादा चिंता करता हूं. मैं एक कलाकार हूं और लोगों को जोड़ कर रखने में यकीन करता हूं. जिन लोगों ने हमें आजादी दिलाई वो अब इस दुनिया से जा चुके हैं और जो नए लोग हैं वो नए तरह के विचार लेकर आगे आ रहे हैं.”
सैफ के इस बयान पर लोगों ने कई तरह की प्रतिक्रियाएं दीं. उनके बेटे के नाम पर भी बहस शुरू हो गई थी.
– इससे पहले ‘तानाजी’ फ़िल्म की रिलीज के समय भी वो एक बयान देकर जबरदस्त ट्रोल हुए थे, जिसमें उन्होंने कहा था, ”तानाजी में जो दिखाया गया है, वह इतिहास का हिस्सा नहीं है.” उन्होंने ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ को गलत बताते हुए कहा, ”इस फिल्म में मेरा रोल दिलचस्प था और कुछ वजहों से मैं स्टैंड नहीं ले पाया, हो सकता है कि अगली बार करूं.” साथ ही सैफ ने यह भी कह दिया कि अग्रेजों के आने से पहले भारत का कोई अस्तित्व नहीं था. अब ऐसे बयान देकर उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोलिंग का शिकार होना ही था.

शाहरुख खान

Shahrukh Khan

साल 2015 में एक इंटरव्‍यू में शाहरुख खान ने अपने 50वें बर्थडे के मौके पर कहा कि भारत में असहिष्‍णुता बढ़ रही है. इसके बाद तमाम लोगों ने उनके देशप्रेम पर सवाल उठाए और कहा कि बेहतर होगा, शाहरुख पाकिस्‍तान चले जाएं. इसका असर किंग खान की फिल्‍मों पर भी पड़ने लगा. कुछ वक्‍त बाद एक न्यूज चैनल पर आकर शाहरुख को सफाई देनी पड़ी, ”कभी कभी मुझे दुख होता है, यहां तक कि मेरा रोने का मन करता है, जब मुझे यह कहने को मजबूर किया जाता है कि मैं इस देश से हूं, मैं एक देशभक्त हूं. मुझे खुद को देशभक्त साबित करने के लिए किसी से प्रतिस्पर्धा नहीं करनी. बस इतना कहना चाहूंगा कि धार्मिक असहिष्णुता से बुरा कुछ भी नहीं है और यह भारत को अंधेरे युग की ओर ले जाएगा.
उन्होंने कहा है कि भारत में उनसे बड़ा देशभक्त कोई नहीं है, ”मैं काफी निराश हो जाता हूं, जब मुझे हर बार अपने आपको एक अच्छा देशभक्त बताने की जरूरत पड़ती है. मेरे पिता सबसे युवा स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे. मैं कैसे सोच सकता हूं कि यह देश किसी के लिए अनुकूल नहीं है. मेरे जैसा आदमी जिसने सब कुछ इसी महान देश से पाया है, वो कभी ऐसा सोच भी नहीं सकता.”

आमिर खान

Aamir Khan

साल 2015 में जब प्रबुद्ध वर्ग के लोग देश में हो रही घटनाओं को देखते हुए अपने पुरस्‍कार लौटा रहे थे, तब आमिर खान ने भी कहा था कि देश में असहिष्‍णुता बढ़ रही है. उनकी पत्‍नी किरण राव ने उन्‍हें देश छोड़ देने तक का सुझाव दे दिया था. ऐक्‍टर ने कहा, ”एक व्यक्ति के तौर पर, एक नागरिक के रूप में इस देश के हिस्से के तौर पर हम न्यूज़पेपर में पढ़ते हैं, देखते हैं कि क्या हो रहा है, तो निश्चित तौर पर चिंतित होते हैं. मैं जब घर पर किरण के साथ बात करता हूं, वह कहती हैं कि ‘क्या हमें भारत से बाहर चले जाना चाहिए?’ किरण का यह बयान देना एक दुखद एवं बड़ा बयान है. उन्हें अपने बच्चे की चिंता है. यह बेचैनी बढ़ने की भावना का संकेत है. चिंता के अलावा निराशा बढ़ रही है और किसी भी समाज के लिए सुरक्षा की भावना और न्याय की भावना होनी जरूरी है.” इस बयान के बाद आमिर भी खूब ट्रोल हुए और उनकी भी देशभक्‍ति पर सवाल उठने लगे. उनके बयान की काफी निंदा भी हुई.

शबाना आजमी

Shabana Azmi

साल 2017 में अपने जमाने की मशहूर ऐक्‍ट्रेस और राइटर जावेद अख्‍तर की पत्‍नी शबाना आजमी ने कहा कि देश आज अति राष्ट्रवाद का गवाह बन रहा है और यह ऐसी चीज है जिसके बारे में सतर्क होना चाहिये. यह हमेशा से रहा है. संस्कृति और कला पर हमेशा हमला होता रहा है. आप बेहद राष्ट्रभक्त हो सकते हैं और इसके साथ ही साथ आप समाज के कुछ खास मुद्दों को लेकर आलोचनात्मक भी हो सकते हैं. यह आपको गैरराष्ट्रभक्त नहीं बनाता. इसके बाद सोशल मीडिया पर तमाम लोगों ने शबाना के बयान की भी आलोचना की थी.

अनुराग कश्‍यप

Anurag Kashyap

संजय लीला भंसाली की बहुचर्चित फिल्म ‘पद्मावत’ को लेकर देशभर में हिंसा की घटनाएं सामने आईं तो बॉलिवुड डायरेक्‍टर अनुराग कश्‍यप ने भी अपने विचार रखे. उन्होंने कहा, क्या आपको सच में लगता है कि एक फिल्म समाज को बांट सकती है? हम डायरेक्टर्स अपनी फिल्मों से समाज में प्यार बढ़ाते हैं. उन्होंने कहा, यह एक ऐसी सदी चल रही है जहां पर देशभक्ति को बेचा जा रहा है. हम आजकल हर चीज को बेच रहे हैं. अगर हम इस पर सवाल उठाते हैं तो लोग एंटी-नेशनल घोषित कर देते हैं. उन्होंने कहा, अगर आप राष्ट्रवाद का बैच नहीं पहनते तो देशद्रोही करार दे दिए जाएंगे. इन दिनों लोगों को देशद्रोही साबित करने पर जोर दिया जा रहा है. यह एक मार्केटिंग फॉर्मूला है, जिसे फायदे के लिए बेचा जा रहा है. उन्‍होंने यह भी कहा था कि ‘मुझे नहीं लगता कि सिनेमाघरों में राष्ट्रगान बजाने की कोई जरूरत है.’ इन बयानों के बाद अनुराग को काफी ट्रोल किया गया. लोगों ने उनकी फिल्‍मों को बायकॉट करने का कैंपेन तक चलाया. यही नहीं, रिपोर्ट्स के अनुसार उन्‍हें काफी धमकियां भी दी गईं.

नसीरुद्दीन शाह

Naseeruddin shah

बॉलिवुड के बेहद टैलेंटेड ऐक्‍टर कहे जाने वाले नसीरुद्दीन शाह ने कई बार देश, सम्मानित लोगों और सरकार के खिलाफ गलत बयानबाजी की और इस मामले पर कई बार ट्रोल हो चुके हैं.
– साल 2018 में उन्‍होंने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि वह न सिर्फ दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज हैं, बल्कि दुनिया के सबसे खराब व्यवहार करने वाले खिलाड़ी भी हैं.
– इसके अलावा देश में बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर भी उन्‍होंने विवादास्पद कॉमेंट किया था कि ऐसा माहौल देख उन्हें चिंता होती है कि कहीं उनकी औलाद से कोई यह न पूछ ले कि वो हिन्दू है या मुसलमान. उन्होंने कहा था, ”मेरे बच्चे ख़ुद को क्या बताएंगे, क्योंकि उन्हें तो मैंने धर्म की तालीम ही नहीं दी. मुझे इस माहौल से डर नहीं लगता बल्कि ग़ुस्सा आता है.” उन्होंने कहा था, देश में कई जगह एक गाय की मौत को किसी पुलिस अधिकारी की हत्या से ज्यादा तवज्जो दी गई है. देश के माहौल में काफ़ी ज़हर फैल चुका है. इसे जिन्न की बोतल में डालना मुश्किल दिख रहा है.
इस बयान पर नसीर की काफी निंदा हुई थी. बीजेपी के एक नेता ने तो उनका पाकिस्तान का प्लेन टिकट भी बुक करा दिया था और कहा था कि अगर नसीर को देश में डर लगता है तो वह वहीं चले जाएं.
– एक इंटरव्‍यू में नसीरुद्दीन देश में बढ़ती सांप्रदायिकता पर चिंता जाहिर की थी और अनुपम खेर को ‘जोकर’ बताते हुए कहा था कि उन्हें गंभीरता से नहीं लिया जाना वह जोकर हैं और एनएसडी और एफटीआईआई का कोई भी उनका समकालीन यह बात कह सकता है कि उनका बर्ताव साइकोपैथिक है. यह उनके खून में है और वह इसके बारे में कुछ नहीं कर सकते हैं.”
इसके बाद जवाब देते हुए अनुपम ने कहा था कि अगर मुझको गलत कहने से आपको 2 या 3 दिनों के लिए पब्‍लिसिटी मिल जाती है तो मैं आपकी इस खुशी के लिए कामना करता हूं. और आपको मालूम है कि मेरे खून में क्‍या है? हिंदुस्‍तान.

कमल हासन

Kamala hasan


अभिनेता से नेता बने कमल हासन भी राष्ट्रवाद पर कॉन्ट्रोवर्शियल बयान देकर घिर चुके हैं. अपनी एक फ़िल्म के प्रमोशन के दौरान उन्होंने कहा था कि राष्ट्रवाद को किसी के ऊपर जबरन नहीं थोपा जा सकता. उन्होंने कहा कि देशभक्ति और राष्ट्रवाद सच्चा और वास्तविक होना चाहिए. यही नहीं देशभक्ति भी वास्तविक ही होगी. इसके लिए बस आपको यह लोगों के ऊपर छोड़ना होगा, ताकि वह खुद इसको अपने अनुसार ढाल सकें.
इससे पहले वो नाथूराम गोडसे को आतंकवादी कहकर भी विवादों में घिर चुके हैं. दरअसल उन्होंने अपने एक बयान में कहा था कि आजाद भारत का पहला चरमपंथी (आतंकवादी) एक हिंदू था. उनका इशारा नाथूराम गोडसे की ओर था जिसने महात्मा गांधी की हत्या की थी. इतना ही नहीं जब इस बयान पर लोगों ने उन्हें घेरा और माफी मांगने को कहा तो उन्होंने ये कहते हुए माफी मांगने से साफ इनकार कर दिया कि उन्होंने वही कहा है जो एक ऐतिहासिक सच था.

स्‍वरा भास्‍कर

Swara Bhaskar

बॉलिवुड ऐक्‍ट्रेस स्‍वरा भास्‍कर भी जब तब राष्ट्रवाद मुद्दे पर अपनी डायलॉगबाजी को लेकर ट्रोल होती रहती हैं. पिछले साल अपनी फिल्‍म के पोस्‍टर लॉन्‍च के दौरान उन्होंने कहा था कि अगर अल्‍पसंख्‍यक कह रहे हैं कि देश में असहिष्‍णुता बढ़ी है तो उनकी बात सुनी जानी चाहिए. आप पर उसका कोई असर इसलिए नहीं हो रहा, क्योंकि आप अल्पसंख्यक समुदाय से नहीं हैं. अगर आपके साथ ऐसा नहीं हुआ है तो इसका मतलब नहीं है कि यह नहीं हो रहा है. इस बयान के बाद स्‍वरा तमाम लोगों के निशाने पर आई थीं और लोगों ने उन्हें आड़े हाथों लिया था.
– संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ भी स्वरा ने जमकर बयानबाज़ी की थी. सीएए को ‘निशाना बनाने वाला’ कानून बताते हुए उन्होंने कहा था कि यह भारत के संविधान पर हमला है. ‘टुकड़े टुकड़े’ गैंग जैसे शब्दों और सीएए और राष्ट्रीय नागरिकता पंजी जैसे कानूनों के माध्यम से नफरत को वैध बनाया जा रहा है. इसके बाद ट्रोलर्स ने उनकी जमकर क्लास लगाई.

भारतीय समाज में आज भी गोरे रंग को ही सुंदरता की पैमाना माना जाता है. वैवाहिक विज्ञापनों में भी ‘गोरी और सुन्दर’ वधु की ही डिमांड होती है. और ये हाल सिर्फ इंडियन फैमिली का नहीं है. ‘गोरी और सुन्दर’ वाला फार्मूला बॉलीवुड में भी चलता है. हालांकि पिछले कुछ सालों में लोगों की सोच थोड़ी बदली है, फिर भी ऐसे कई एक्टर एक्ट्रेसेस हैं, जिन्हें डार्क कॉम्प्लेक्शन की वजह से भेदभाव झेलना पड़ा, लोगों के ताने सुनने पड़े.

बिपाशा बासु
Bipasha basu

बिपाशा बासु को भले ही इंडस्ट्री की हॉट एंड सेक्सी गर्ल कहा जाता हो, एक समय था जब लोग उनके सांवले रंग पर बुली करते थे यहां तक कि करीना ने बिपाशा को काली बिल्ली तक कह दिया था. आज भले ही अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड की मौत उनके समर्थन में उतरीं करीना ने लिखा हो कि ‘सभी रंग खूबसूरत हैं और हम भले ही अलग-अलग रंगों में पैदा हुए हों लेकिन हम सब एक ही चीज की ख्वाहिश रखते हैं और वो है फ्रीडम और रिस्पेक्ट.’ लेकिन इसी करीना ने बिपाशा पर रेसिस्ट कमेंट करके उनके सांवले रंग को निशाना बनाया था. दरअसल फिल्म अजनबी में बिपाशा और करीना ने साथ काम किया था. उस दौरान खबर थी कि करीना और बिपाशा में कॉस्टयूम को लेकर कुछ विवाद हो गया था. इससे करीना इतनी नाराज हो गई थीं कि उन्होंने बिपाशा को काली बिल्ली कह दिया था और उन्हें थप्पड़ भी जड़ दिया था, ज़ाहिर है ये बिपाशा के डार्क कॉम्प्लेक्शन पर कमेंट था. ये बात और है कि बिपाशा ने कभी किसी कमेंट को सीरियसली नहीं लिया और बॉलीवुड की सेक्सिएस्ट एक्ट्रेस कहलाईं.

प्रियंका चोपड़ा

Priyanka Chopra


प्रियंका खुद कई बार ये कह चुकी हैं कि सांवलेपन की वजह से उन्हें यंग एज में कई बार तकलीफ झेलनी पड़ी. यहां तक कि जब वो यूएस में पढ़ाई के लिए गई थीं तो उनके सांवले रंग को लेकर लोग उनपर कमेंट किया करते थे. एक बार तो प्रियंका की इस बात पर किसी शख्स से लड़ाई भी हो गई थी. एक इंटरव्यू के दौरान प्रियंका ने कहा, “जब मैं बड़ी हो रही थी, तब टीवी पर मैंने कभी किसी को अपने स्किन टोन से मैच करते नहीं देखा. तब कॉस्मेटिक कंपनियां ऐसे शेड्स या प्रोडक्ट्स लाती ही नहीं थीं, जो एशियन या इंडियन स्किन टोन से मैच हो. पता नहीं क्यों सांवली लड़कियों पर सोसायटी का दबाव हमेशा रहता है कि खूबसूरती का पैमाना गोरी त्वचा ही होती हैं.” हालांकि अपने टैलेंट और मेहनत के बलबूते प्रियंका ने इन तमाम बातों को झुठला दिया है और आज बॉलीवुड ही नहीं, बल्कि हॉलीवुड का भी पॉपुलर फेस बन चुकी हैं.

मलाइका अरोड़ा

malaika arora


मलाइका ने एक शो में खुद खुलासा करते हुए बताया था कि करियर के शुरुआती दौर में डार्क रंग की वजह से उनका खूब मजाक उड़ाया जाता था. इंडस्ट्री में उनके साथ भेदभाव किया जाता था. उन्होंने बताया कि लोग डार्क स्किन और फेयर स्किन के बीच भेदभाव करते थे. मलाइका का इस बारे में कहना है, “मैं उस समय इंडस्ट्री में आई थी जब गोरी त्वचा को ही सुंदर माना जाता था और वहीं सांवली रंगत वाले को काम तक नहीं मिलता था. मुझे हमेशा डार्क कॉम्प्लेक्शन की कैटेगरी में रखा जाता था. त्वचा के रंग को लेकर खुले तौर पर पक्षपात हुआ करता था.”

नवाजुद्दीन सिद्दीकी

Nawazuddin Siddiqui


एक समय ऐसा था जब नवाजुद्दीन के लिए टेलीविजन की दुनिया में भी रोल पाना कितना मुश्किल था. वह काले रंग के कारण लोगों के मजाक और हंसी का पात्र बनते थे. नवाजुद्दीन कई इंटरव्यू में बता चुके हैं कि किस तरह गोरी अभिनेत्रियां उनके साथ काम करने से ही इनकार कर देती थीं और कई प्रोड्यूसर्स उन्हें फेयरनेस क्रीम लगाने की सीख दे देते थे. इसी से दुखी होकर एक बार नवाज ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक ट्वीट करते हुए लिखा था कि मुझे यह एहसास दिलाने के लिए शुक्रिया कि मैं किसी गोरे और हैंडसम के साथ काम नहीं कर सकता, क्योंकि मैं काला हूं और मैं दिखने में भी अच्छा नहीं. लेकिन मैंने कभी उन चीजों पर खास ध्यान ही नहीं दिया. ये ट्वीट उन्होंने फिल्म बाबूमोशाय बंदूकबाज़ के निर्देशक संजय चौहान के उस कथित बयान से दुखी होकर किया था, जिसमें संजय ने कहा था, ‘हम नवाज़ के साथ गोरे और सुंदर लोगों को कास्ट नहीं कर सकते. ये बहुत ख़राब लगेगा. उनके साथ जोड़ी बनाने के लिए आपको अलग नैन नक्श और व्यक्तित्व वाले लोगों को लेना होगा.’ ये बात अलग है कि नवाज ने इन सारी बातों को झुठलाते हुए खुद को बतौर एक्टर साबित किया और आज उनकी गिनती इंडस्ट्री के बेहतरीन एक्टरों में होती है.

शिल्पा शेट्टी

Shilpa Shetty


शिल्पा शेट्टी कुंद्रा आज चाहे फिटनेस और ब्यूटी क्वीन कहलाती हैं, लेकिन एक टाइम ऐसा भी था जब लोग उनके संवाले रंग का मजाक उड़ाते थे. बॉलीवुड में तो उन्हें सांवले रंग पर कमेंट सुनने ही पड़ते थे, आम जीवन में भी वो इसका शिकार हो चुकी हैं. एक बार तो वो सिडनी (ऑस्ट्रेलिया) एयरपोर्ट पर रेसिज्म (रंगभेद) का शिकार हुई थीं. इस बारे में उन्होंने एक पोस्ट भी शेयर की थी जिसमें लिखा था  ‘इस पर आपको ध्यान देना चाहिए!… मैं सिडनी से मेलबर्न की यात्रा पर गई थी. इसी दौरान एयरपोर्ट पर चेकइन काउंटर पर मुझे मेल नाम की एक एरोगेंट सी महिला मिली. उसका मानना था कि हमसे यानी ब्राउन लोगों के साथ बदतमीजी से ही बात की जाती है.’

स्वरा भास्कर

swara Bhaskar


स्वरा अपने बेबाक बयानों की वजह से सुर्ख़ियों में बनी रहती हैं. स्वरा के डस्की कॉम्प्लेक्शन का भी बहुत मज़ाक उड़ाया गया, लेकिन उन्होंने कभी किसी की बात पर ध्यान दिया ही नहीं. बल्कि उन्होंने तो कई फेयरनेस क्रीम ब्रांड्स के ऐड करने से मना कर दिया और ऐसा आफर लाने वालों को खरी खोटी भी सुना दी. उनका कहना है, ‘हमें गोरेपन की सनक को बढ़ावा नहीं देना चाहिए. चाहे आप सांवले हों, गेहुआं रंग के या डार्क, इससे कोई फर्क नहीं पड़ता.” 

काजोल

Kajol


काजोल की गिनती भी बॉलीवुड की डार्क एंड ब्यूटीफुल एक्ट्रेसेस में होती है. शुरुआती फिल्मों में उनके कॉम्प्लेक्शन ही नहीं, बल्कि चेहरे पर थ्रेडिंग न करवाने के लिए भी काफी कुछ कहा सुना गया. हालांकि काजोल ने इस बारे में कभी कोई कमेंट नहीं किया, लेकिन बाद में उन्होंने मेलानिन सर्जरी करवा ली, जो स्किन व्हाइटनिंग सर्जरी होती है. इसके बाद काजोल का कम्पलीट मेकओवर ही हो गया.

नन्दिता दास

Nandita das


नन्दिता दास को इंडस्ट्री की ब्लैक ब्यूटी कहा जाता है और अपने लिए ये शब्द ही उन्हें रेसिस्ट कमेंट लगता है,”पता नहीं क्यों जब भी मेरे बारे में कोई कुछ लिखता है, तो ये ज़रूर लिखता है कि ‘ब्लैक एंड डस्की’…क्या ये लिखे बिना मेरी पहचान नहीं हो सकती.” एक इंटरव्यू में अपने सांवलेपन पर नन्दिता ने खुलकर बोला था, “चूंकि मैं खूद सांवली हूं और आप जब खुद सांवले होते हैं तो आपको बचपन से ही कोई न कोई याद दिलाता रहता है कि आपका रंग औरों से कुछ कम है. या आपसे कहा जाता है कि धूप में मत जाओ और गहरी हो जाओगी या यह क्रीम इस्तेमाल करके देखो. कुल मिलाकर खूबसूरती की जो परिभाषा गढ़ी गई है, अगर आप उसमें आप फिट नहीं हो रहे, तो फिर आपका कोई काम नहीं है.” नंदिता दास ने साल 2009 में ‘डार्क इज ब्यूटीफ़ुल’ नाम से एक अभियान की शुरुआत भी की थी और इसी अभियान के तहत रंगभेद की समस्या को केंद्रित करके उन्होंने ‘इंडिया गॉट कलर’ नामक वीडियो भी बनाया था, जिसमें उन्होंने गोरे सांवले मुद्दे को बहुत इफेक्टिवली हैंडल किया था. उनका साफ कहना था कि हमारे समाज में गोरे व सांवले जैसे शब्दों का इस्तेमाल करना ही बंद हो जाना चाहिए. यह बात समझाना ज़रूरी है कि किसी व्यक्ति की त्वचा  का रंग उसके चरित्र और व्यक्तित्व को नहीं दर्शाता है.

स्मिता पाटिल 

smita patil


ये सच है कि स्मिता की फिल्में और उनकी एक्टिंग देखकर उनकी खूबसूरती के बहुत-से दीवाने बने. मगर फिल्मों में आने से पहले लोग उन्हें ‘काली’ कहकर बुलाते थे. मगर इन बातों से उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता था. कॉलेज के दिनों में ही वो मुंबई आ गई थीं. एक दूरदर्शन डायरेक्टर ने उनकी तस्वीरें देखीं और उन्हें ‘मराठी न्यूज रीडर’ की नौकरी दे दी. लेकिन कहते हैं तब उन्हें काली कहे जाने का डर इस कदर परेशान करता था कि पहले वो जींस पहनती थीं, फिर उसके ऊपर साड़ी पहना करती थीं. ऐसा वो अपने सांवले पैरों को छुपाने के लिए करती थीं. लेकिन सारी बातों को झुठलाते हुए अपने टैलेंट के दम पर उन्होंने इंडस्ट्री में ऐसी जगह बनाई कि आज उनकी मौत के इतने सालों बाद भी लोग उन्हें याद करते हैं.

बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) पॉलिटकली भी काफ़ी एक्टिव रहती हैं. हम सभी जानते हैं कि वे घोर मोदी विरोधी हैं और अक्सर भाजपा के खिलाफ बयान देती रहती हैं. यह बॉलीवुड अभिनेत्री  इन दिनों चुनावी प्रचार में जुटी हुई हैं. स्वरा भास्कर बीते द‍िनों ब‍िहार के बेगूसराय में कन्हैया कुमार और फिर दिल्ली में आम आदमी पार्टी के प्रचार अभियान में नजर आईं. अपनी बेबाकी के लिए पहचानी जाने वाली स्वरा राजनीत‍िक प्रचार के दौरान भी अपने व‍िचारों को खुलकर रखती हैं. लेकिन इस दौरान स्वरा को एयरपोर्ट पर एक ऐसा फैन मिला, ज‍िसे देखकर खुद स्वरा भी हैरान रह गईं.

Swara Bhaskar

दरअसल वायरल हो रहे वीड‍ियो में एयरपोर्ट पर स्वरा भास्कर से एक फैन मिलने आता है. उसने स्वरा से सेल्फी लेने की र‍िक्वेस्ट की. स्वरा को देखते ही उसने अपने कैमरे से वीडियो शेयर कर दिया और स्वरा को देखते ही बोला. मैडम… आएगा तो मोदी ही. आप भी देखिए वीडियो….

इस वीड‍ियो को खुद स्वरा भास्कर ने भी सोशल मीड‍िया पर शेयर किया है. स्वरा ने शेयर करते हुए ल‍िखा, मैं लोगों के राजनीतिक विचारधारा के आधार पर भेदभाव नहीं करती हूं. लेकिन उसने चोरी से वीडियो शूट कर लिया. स्वरा भास्कर ने लिखा,” घटिया और चालाकीपूर्ण हरकत भक्तों का ट्रेडमार्क है. इसलिए हैरान नहीं हूं. लेकिन भक्तों का जीवन सार्थक करवाकर मुझे खुशी मिलती है.”

Swara Bhaskar

बता दें कन्हैया कुमार के बाद स्वरा दक्षिण दिल्ली से आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार राघव चड्ढा के लिए प्रचार करेंगी. उन्होंने इसकी जानकारी अपने ट्विटर अकाउंट पर दी है. इन द‍िनों स्वरा भास्कर चुनावी रैल‍ियों में जोरदार प्रचार करते नजर आ रही हैं. जल्द ही एक्ट्रेस नए फिल्मी प्रोजेक्ट में नजर आने वाली हैं.

ये भी पढ़ेंः इस सुपरस्टार के साथ डेब्यू करेंगी मिस वर्ल्ड मानुषी चिल्लर (Miss World Manushi Chhillar To Make Bollywood Debut With This Super Star)

आज बॉक्स ऑफिस पर एक भाई और बहन के बीच कड़ी टक्कर हो रही है. जी हां, एक ओर जहां बहन सोनम कपूर की फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ रिलीज़ हुई है, तो वहीं भाई हर्षवर्धन कपूर की ‘भावेश जोशी सुपरहीरो’ इस फिल्म को कड़ी टक्कर देने के लिए बॉक्स ऑफिस पर उतरी है. इसके अलावा एक और फिल्म ‘फेमस’ ने सिनेमाघरों में दस्तक दी है. बॉक्स ऑफिस पर हो रहे इस कड़े मुक़ाबले में जीत किसकी होगी यह देखना बेहद दिलचस्प होगा.
यंगस्टर्स को पसंद आएगी ‘वीरे दी वेडिंग’ 
मूवी- वीरे दी वेडिंग 
स्टार कास्ट- करीना कपूर खान, सोनम कपूर, स्वरा भास्कर, शिखा तल्सानिया. 
डायरेक्टर- शशांक घोष 
टाइम- 2 घंटा 5 मिनट
रेटिंग- 3.5/5
कहानी-
‘वीरे दी वेडिंग’ बॉलीवुड की दूसरी फिल्मों से थोड़ी अलग और दिलचस्प है. फिल्म की कहानी 4 लड़कियों की दोस्ती की दास्तां बयां करती है, जो दिल्ली के एक स्कूल में साथ पढ़ा करती थीं. इनकी ख़ासियत है कि ये सभी सहेलियां अपने शर्तों पर जीती हैं और बेबाकी से बात करती हैं. ये चारों सहेलियां सेक्स और ऑर्गेज़्म पर निडरता से बातें करती हैं. डायरेक्टर ने उनकी ज़िंदगी की कमियों और समस्याओं को बेहद ख़ूबसूरत अंदाज़ में पेश करने की कोशिश की है.
फिल्म में शादी की उलझनों में उलझी कालिंदी (करीना कपूर) परिवार व रिश्तेदारों की उम्मीदों पर खरा उतरने की जद्दोजहद करती नज़र आती हैं, तो अवनी (सोनम कपूर) को कोई पार्टनर ही नहीं मिल रहा है और उनकी मां दिन-रात उनके लिए जीवनसाथी ढूंढने में लगी हैं. वहीं साक्षी (स्वरा भास्कर) रिलेशनशिप में बंधना ही नहीं चाहतीं और मीरा (शिखा तल्सानिया) एक विदेशी से शादी कर चुकी हैं और उनका एक बच्चा भी है, लेकिन उनकी शादीशुदा ज़िंदगी बहुत बोरिंग है. ये सभी सहेलियां कालिंदी (करीना कपूर) की शादी के लिए मिलती हैं और इस दौरान सभी की ज़िंदगी की कई सारी कहानियां सामने आती हैं.
डायरेक्शन- 
फिल्म के डायरेक्टर शशांक घोष ने फिल्म में इन चारों सहेलियों की केमेस्ट्री को बेहद तगड़े अंदाज़ में पेश किया है. फिल्म के कुछ डायलॉग्स को इन चारों अभिनेत्रियों ने शानदार तरीक़े से बोला है. फिल्म में कई ऐसे वन लाइनर्स हैं, जो आपको हंसने पर मजबूर कर सकते हैं. डायरेक्शन, सिनेमेटोग्राफी, लोकेशन के साथ कास्टिंग भी बेहतरीन है. फर्स्ट हाफ में फिल्म की कहानी दर्शकों को बांधे रखती है, लेकिन सेकेंड हाफ थोडा स्लो है.  फिल्म के ‘तारीफां’ और ‘भांगड़ा ता सजदा’ जैसे गाने आपको ख़ूब इंटरटेन करेंगे.
एक्टिंग-
फिल्म में करीना कपूर खान, स्वरा भास्कर, सोनम कपूर और शिखा तल्सानिया पूरी तरह से अपने किरदारों के साथ न्याय करती दिखाई दे रही हैं. हर फ्रेंम में ये चारों बेहतरीन आउटफिट्स पहने हुए नज़र आती हैं और सभी ने अपने डॉयलॉग्स को पूरे कॉन्फिडेंस के साथ पर्दे पर उतारा है. अगर आप ड्रामा और कॉमेडी के साथ-साथ सेक्स चैट के शौकीन हैं तो यह फिल्म आपके उम्मीदों पर खरी उतर सकती है.
करप्शन से जंग की कहानी है ‘भावेश जोशी सुपरहीरो’
मूवी- भावेश जोशी सुपरहीरो 
स्टार कास्ट- हर्षवर्धन कपूर,प्रियांशु पैन्यूली,निशिकांत कामत,राधिका आप्टे,आशीष वर्मा
डायरेक्टर- विक्रमादित्य मोटवाने
टाइम- 2 घंटा 35 मिनट
रेटिंग- 2.5/5
कहानी-
फिल्म की कहानी वाटर स्कैम और समाज में फैले दूसरे करप्शन के खिलाफ़ लड़ने वाले एक आम आदमी के सुपरहीरो बनने की है. भावेश जोशी (हर्षवर्धन कपूर) अपने दोस्तों प्रियांसु पैन्यूली और आशीष वर्मा के साथ कॉलेज में पढ़ता है. ये तीनों दोस्त समाज से बुराइयों को दूर करने के मिशन पर लग जाते हैं. फिल्म में हर्षवर्धन कागज़ का मास्क पहनकर करप्शन करने वालों का पर्दाफाश करने की कोशिश करते हैं, लेकिन भ्रष्टाचारियों को यह नागवार गुज़रता है और वो इस मास्क के पीछे छुपे सुपरहीरो को ढूंढ निकालते हैं और इस सुपरहीरो की खूब पीटाई करते हैं, लेकिन सुपरहीरो हार नहीं मानता और इन सबको सबक सिखाता है. फिल्म में निशिकांत कामत राजनेता बने विलेन के रोल में हैं.
डायरेक्शन-
फिल्म के डायरेक्टर विक्रमादित्य मोटवाने ने डार्क शेड में लीक से हटकर फिल्म बनाई है. इस फिल्म से पहले एक्टर हर्षवर्धन कपूर राकेश ओम प्रकाश की ‘मिर्जिया’ में नज़र आ चुके हैं, लेकिन वो फिल्म बॉक्स ऑफिस पर अपना कमाल नहीं दिखा पाई थी. फिल्म की कहानी अनुराग कश्यप और विक्रमादित्य मोटवाने ने मिलकर लिखी है. यह एक बहुत अच्छी कहानी बन सकती थी, लेकिन मेकर्स इसे दिलचस्प बनाने में असफल साबित हुए हैं. फिल्म की कहानी भले ही आम आदमी से जुड़ी है, लेकिन आम आदमी से यह कनेक्ट नहीं कर पाती है और फिल्म के संवाद भी कुछ ख़ास नहीं हैं.
एक्टिंग- 
हर्षवर्धन कपूर की यह दूसरी फिल्म है, लेकिन वो दर्शकों को आकर्षित करने में असफल दिख रहे हैं. हालांकि उन्होंने कोशिश बहुत अच्छी की है जो काबिले तारीफ़ है. फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर अच्छा है और साथ ही हर्षवर्धन कपूर के दोस्त के रूप में दोनों एक्टर्स ने बढ़िया काम किया है, जबकि विलेन के रूप में निशिकांत कामत की दबंगई काफ़ी कमज़ोर दिखाई पड़ रही है. बहरहाल, अगर आप लीक से हटकर कोई फिल्म देखना चाहते हैं तो ‘भावेश जोशी सुपरहीरो’ देख सकते हैं.
भारी भरकम स्टार कास्ट वाली फिल्म है फेमस 
मूवी- फेमस 
स्टार कास्ट- जिमी शेरगिल, केके मेनन, श्रिया सरन, पंकज त्रिपाठी, जैकी श्रॉफ, माही गिल. 
डायरेक्टर- करण ललित बुटानी 
रेटिंग- 2/5
इन दोनों फिल्मों के अलावा डायरेक्टर करण ललित बुटानी की फिल्म ‘फेमस’ भी रिलीज़ हुई है. इस फिल्म में जिमी शेरगिल, श्रिया सरन, केके मेनन, पंकज त्रिपाठी, जैकी श्रॉफ और माही गिल जैसे कलाकरों ने काम किया है. भारी भरकम स्टार कास्ट होने के बावजूद यह फिल्म आपको बांध नहीं पाएगी. फिल्म की स्क्रिप्ट से लेकर स्क्रीनप्ले हर जगह कमियां नज़र आएंगी. फिल्म की कहानी चंबल से जुड़ी है और इस फिल्म के हर एक किरदार की अपनी एक अलग कहानी है. जिसे समझते-समझते आपका सिर चकराने लगेगा. बावजूद इसके अगर आप जिमी शेरगिल, केके मेनन और जैकी श्रॉफ के जबरदस्त फैन हैं तो यह फिल्म देख सकते हैं.

 

लंबे इंतज़ार के बाद आख़िरकार फिल्म ‘वीरे दी वेडिंग’ का ट्रेलर रिलीज़ हो गया है. एक ओर जहां तैमूर अली खान के जन्म के बाद करीना कपूर खान की यह कमबैक फिल्म है, तो वहीं इस फिल्म में करीना के अलावा सोनम कपूर, स्वरा भास्कर और शिखा तल्सानिसा नज़र आएंगी. हालांकि फिल्म के ट्रेलर से पहले इसके दो पोस्टर रिलीज़ किए जा चुके हैं. फिल्म के एक पोस्टर में चारों एक्ट्रेस हैवी लहंगे में शादी की तैयारी करते दिख रही हैं, तो वहीं दूसरे पोस्टर में चारों मस्ती और डांस करती हुई नज़र आ रही हैं. डायरेक्टर शशांक घोष की यह फिल्म 1 जून को सिनेमाघरों में रिलीज़ होगी.

Kareena Kapoor, Film, Veere Di Wedding, Trailer Released

आप भी देखिए वीरे दी वेडिंग का ये मस्ती भरा ट्रेलर…

यह भी पढ़ें: रणबीर कपूर की फिल्म ‘संजू’ का टीज़र है बेहद शानदार, देखते ही देखते हुआ वायरल 

 

 

 

लगता है कि फिल्म पद्मावत से जुड़े विवादों का सिलसिला जल्दी ख़त्म नहीं होनेवाला. भारी विरोध के बाद भंसाली और उनकी टीम जैसे-तैसे फिल्म रिलीज़ करने में तो सफल  हो गई, लेकिन इसके बावजूद इससे जुड़ी कोई न कोई बात सुनने में आती ही रहती है.
आप तो जानते ही होंगे कि फिल्म देखने के बाद अभिनेत्री स्वरा भास्कर ने संजय लीला भंसाली को ओपन लेटर लिखकर उनपर आरोप लगाया कि वे फिल्म के माध्यम से जौहर जैसी कुप्रथा को महिमामंडित किया है. स्वरा की इस टिप्पणी पर सब अपने विचार दे रहे हैं. कुछ न उनका समर्थन किया तो कुछ ने कहा कि वे पब्लिसिटी के लिए कर रही हैं.

Deepika Takes A Dig At Swara
इस बारे में जब दीपिका ने पूछा गया तो उन्होंने कहा,” स्वरा ने तो शायद फिल्म की शुरुआत में डिस्क्लेमर नहीं देखा. वे शायद शुरुआत में पॉपकॉर्न ख़रीदने बाहर चली गई थीं, इसलिए उन्होंने डिस्क्लेमर मिस कर दिया.” उन्होंने अागे कहा कि फिल्म में 12 -13 सेंचरी का सेटअप है, जब जौहर जैसी प्रथाएं प्रचलित थीं.
शाहिद कपूर, जिन्होंने फिल्म में महारावल रतन सिंह का किरदार निभाया है, ने कहा, ”हर प्रथा के  पीछे कोई न कोई कारण होता है. फिल्म में पद्दावती को मानना था कि एक राक्षस शासक के चुंगल में फंसने के बजाय खुद को आग के हवाले करना ज़्यादा बेहतर है. ”

ये भी पढ़ेंः ट्विटर पर शाहरुख से पिछड़ने के बाद अमिताभ ने दी धमकी

करीना कपूर के बाद अब सोनम वीरे दी वेडिंगहालही में करीना कपूर खान को मुंबई से दिल्ली जाते हुए एयरपोर्ट पर देखा गया था. अब करीना के बाद सोनम कपूर भी फिल्म वीरे दी वेडिंग के पहले शेड्युल के लिए दिल्ली के लिए रवाना हो चुकी हैं. इसकी जानकारी उन्होंने टि्वटर पर दी.

https://twitter.com/sonamakapoor/status/903111316616839168

वीरे दी वेडिंग का पहला शेड्युल दिल्ली में है, जो एक महीने का होगा. एक महीने लंबे शेड्युल को देखते हुए ही करीना अपने छोटे नवाब तैमूर को साथ ले गई हैं.

करीना कपूर के बाद अब सोनम वीरे दी वेडिंग

करीना कपूर खान, सोनम कपूर, स्वरा भास्कर और शिखा तल्सानिया स्टारर ये फिल्म एक मज़ेदार फिल्म होगी, जो आधुनिक भारतीय महिला की भावना पर रोशनी डालेगी.

फिल्म की निर्माता रिया कपूर कहती हैं, “हम शूटिंग शुरू करने के लिए बेहद उत्साहित हैं. हमारी फिल्म में दिल्ली एक महत्वपूर्ण स्थान है. खाना हो या फिर फैशन और लाइफस्टाइल, वीरे दी वेडिंग के स्क्रिप्ट के हिसाब से दिल्ली अनुरूप शहर था, इसिलिए हम यहां शूटिंग कर रहें हैं.”

बालाजी फिल्म ने इंस्टाग्राम पर करीना की पिक्चर शेयर करते हुए लिखा है, “veeres in the house! Let’s get this party started.”

फिल्म की निर्माता एकता कपूर कहती हैं, ” फिल्म की कहानी का एक अनिवार्य हिस्सा दिल्ली है. बेबो, सोन,  स्वरा और शिखा की दिल्ली शहर की दिलचस्प कहानी को बड़े पर्दे पर देखना काफ़ी मनोरंजक होगा.”

शशांक घोष फिल्म का निर्देशन कर रहे हैं, जबकि फिल्म की कहानी लिखी है मेहुल सूरी और निधि मेहरा ने. वीरे दी वेडिंग 2018 में रिलीज़ होगी.

फिल्म- फिल्लौरी

स्टारकास्ट-  अनुष्का शर्मा, सूरज शर्मा, दिलजीत दोसांझ, मेहरीन कौर पीरजादा

रेटिंग- 3.5 स्टार

Phillauri Movie Review

एनएच 10 के बाद अनुष्का शर्मा के प्रोडक्शन की दूसरी फिल्म फिल्लौरी की कहानी काफ़ी अलग है. भूतनी के रोल में अनुष्का शर्मा को देखना दर्शकों के लिए कुछ नया रहा. फिल्म शुरू होती है एक शानदार शादी के साथ. कनन (सूरज शर्मा) और अनु (मेहरीन पीरजादा) की शादी से पहले मांगलिक कनन पहले एक पीपल के पेड़ से शादी करनी पड़ती है., लेकिन उस पेड़ पर शशि पर अनुष्का शर्मा का भूत रहता है. ऐसे में सूरज की शादी पेड पर बैठी शशि से हो जाती है. शशि भूतनी बन गई है, क्योंकि 98 साल पहले शशि का एक काम अधूरा रह गया है, जिसे उसे पूरा करना है. फिल्म की कहानी फ्लैशबैक में चली जाती है, जहां अनुष्का और दिलजीत की लव स्टोरी दिखाई गई है. फिल्लौरी में एक ज़बरदस्त ट्विस्ट भी है, जो दर्शकों को पसंद आएगा. फिल्म के सभी कलाकार दिलजीत दोसांझ, अनुष्का शर्मा, सूरज शर्मा और मेहरीन कौर सभी का काम अच्छा है. अंशाई लाल का निर्देशन भी अच्छा है. 

अगर आप अनुष्का शर्मा और दिलजीत दोसांझ के फैन हैं, तो एक बार ये फिल्म ज़रूर देख सकते हैं.

फिल्म- अनारकली ऑफ आरा

स्टारकास्ट- स्वरा भास्कर, पकंज त्रिपाठी, संजय मिश्रा

रेटिंग- 3 स्टार

Anarkali Of Aarah Review

अब बात करते हैं अनारकली ऑफ आरा की. बिहार के आरा शहर के रंगीला (पकंज त्रिपाठी) के ऑर्केस्ट्रा में काम करने वाली अनारकली (स्वरा भास्कर) इस ऑर्केस्ट्रा की नंबर वन डांसर और सिंगर है. स्टेज पर परफॉर्म करके अनारकली अपनी ज़िंदगी जी रही होती है. लेकिन एक दिन उसकी लाइफ में आ जाता है एक टि्वस्ट, जब फंक्शन में चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे धर्मेन्द्र चौहान (संजय मिश्रा) का दिल अनारकली पर आ जाता है. वो स्टेज र अनारकली के साथ कुछ ऐसा कर बैठता है कि अनारकली थाने में सबके सामने उसे एक थप्पड़ जड़ देती है. फिर अनारकली के साथ क्या होता है? वो धर्मेंद्र चौहान से कैसे बचती है? मुसीबतों का कैसे सामने करती है? ये जानने के लिए आपको फिल्म देखनी होगी.

ऐक्टिंग की बात की जाए, तो स्वरा भास्कर अपने रोल में बिल्कुल फिट लग रही हैं. फिल्म की यूएसपी है स्वरा की बिहारी भाषा, जिस पर उन्होंने पूरी फिल्म में पकड़ बनाए रखा है. स्वरा की डायलॉग डिलीवरी कमाल की है.फिल्म के बाक़ी कलाकार भी अपने-अपने किरदार के साथ पूरा न्याय कर रहे हैं.

स्वरा भास्कर की दमदार ऐक्टिंग देखने के लिए एक बार ज़रूर देखें ये फिल्म. फिल्लौरी और अनारकली ऑफ आरा जैसी फिल्में आपको वीकेंड पर बोर नहीं होने देंगी.

ताप्सी पन्नू

“How much coverage is good coverage”, जिम, ऑफिस, पब्लिक प्लेस, शादी में क्लीवेज को कितना ढंकना ज़रूरी है, येे बता रही हैं ऐक्ट्रेस स्वरा भास्कर और ताप्सी पन्नू.

इंटरनेशनल वुमेन्स डे के मौके ताप्सी पन्‍नू और स्‍वरा भास्‍कर ने किस जगह पर क्लीवेज कितना ढंका हुआ होना चाहिए इसके कुछ टिप्स शेयर किए हैं. दरअसल इनका ये वीडियो उन लोगों को के लिए एक करारा जवाब है, जो महिलाओं के क्लीवेज को लेकर बकवास करते हैं. इस व्यंगात्मक वीडियो में ताप्सी और स्वरा कहती हैं, ”मैं औरत हूं और मैं इसके साथ पैदा हुई हूं. अगर आपके पास भी क्लीवेज है, तो इसे फ्लॉन्ट करिए. ये मेरी बॉडी है, भगवान ने कुछ सोच-समझ ही बनाया होगा ना, तो दूसरे लोग क्या सोच रहे हैं, यह भगवान की प्रॉब्लम है, मेरी नहीं. बड़ा, छोटा, अलग-अलग आकार, लूज़, टाइट जो भी हो, यह हमारे हैं और उसे सेलिब्रेट करना हमारा अधिकार है! मुझे गर्व है, क्या आपको है?”

देखें ये दमदार वीडियो.