tarak mehta

तारक मेहता

गुजराती हास्य लेखक और नाटककार तारक मेहता का लंबी बीमारी के बाद 87 साल की उम्र में निधन हो गया है. अहमदाबाद में जन्में तारक मेहता ने गुजराती पत्रिका चित्रलेखा के लिए साल 1971 में अपना कॉलम दुनिया ना उंधा चश्मा शुरु किया था. सब टीवी पर आने वाला कॉमेडी शो तारक मेहता का उल्टा चश्मा उनकी इसी किताब पर आधारित है. इस शो ने 2 हज़ार एपिसोड पूरे कर लिए हैं और ये भारतीय टेलिविज़न का सबसे लंबा चलने वाला शो बन गया है. उन्हें पद्मश्री से भी नवाज़ा जा चुका है.

मेरी सहेली (Meri Saheli) ओर से उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि.

Tarak Mehta Ka Ulta Chashma

क़रीब हफ़्ते भर पहले लिए गए सरकार के डिमॉनिटाइज़ेशन के फैसला का जहां कुछ लोग सपोर्ट कर रहे हैं, वहीं कुछ इसके विरोध में भी खड़े हैं. अब लोगों का मोरल बढ़ाने के लिए दो पॉप्युलर धारावाहिक इस मुद्दे को दिखाने वाले हैं. सब टीवी के दो धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा (Tarak Mehta Ka Ulta Chashma) और चिड़िया घर (Chidiya Ghar) का आने वाला एपिसोड इसी मुद्दे पर आधारित होगा. ख़बरों के मुताबिक़, इसका मक़सद लोगों के बीच नोटबंदी के लिए सकारात्मक सोच डेवलप करना है.
धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा में हमेशा सोशल इश्यूज़ को इंट्रेस्टिंग तरी़के से दिखाया जाता है.