Tag Archives: Tejasswi Prakash

Children’s Day Special: टीवी सितारों ने याद किया अपना बचपन, शेयर की छुटपन खट्टी-मीठी आदतें (Things Tv stars cheers from childhood to now)

indian Tv stars cheers from childhood to now

बचपन हम सभी के जीवन का बेस्ट पार्ट होता है. बच्चें छोटी-छोटी चीज़ों में खुशी ढूंढ़ लेते हैं. उन्हें खुश होने के लिए क़ीमती या बहुमूल्य चीज़ की चाह नहीं होती. छोटी-छोटी बातें व चीज़ें भी उन्हें असीम खुशी प्रदान करती हैं. बाल दिवस के अवसर पर कुछ जाने-माने टीवी स्टार्स बता रहे हैं कि बचपन में उन्हें कौन-सी एेक्टिविटीज़ से खुशी मिलती थीं, जिन्हें  वे आज भी करते हैं.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

पर्ल वी पुरीः बचपन में मुझे कार्टून देखने का नशा था, जो आज तक जारी है. मैं अब भी टॉम एेंड जेरी, स्कूबी-डूबी डू, पोकिमॉन, पोपोय द सेलर मैन, जॉनी ब्रैवो जैसे कॉर्टून सीरियल्स देखना पसंद करता हूं. इसके अलावा मुझे अपने पसंदीदा कार्टून कैरेक्टर्स के कार्ड इकट्ठा करना भी बहुत अच्छा लगता था. अाज भी मेरे कंप्यूटर के डेस्कटॉप पर इन कैरेक्टर्स के वॉलपेपर्स सेव हैं.

 indian Tv stars cheers from childhood to now
सारा ख़ानः बचपन में जन्मदिन मेरे लिए सबसे ख़ास अवसर होता था. दोस्त के बर्थडे के बारे में जानकर भी मेरे चेहरे पर खुशी छा जाती थी. शाम को होनेवाली बर्थडे पार्टीज़ बेहद मजेदार होती थीं. मुझे बेसब्री से जन्मदिन का इंतज़ार रहता था और एेसा अभी भी है. बड़े होने के बाद फ़र्क़ सिर्फ़ इतना आया है कि ईवनिंग पार्टीज़ की जगह मिडनाइट सेलिब्रेशन्स ने ले ली हैं

 indian Tv stars cheers from childhood to now
एली गोनीः जब कोई मेरे काम की तारीफ़ करता है तो मुझे बहुत अच्छा लगता है. यह आदत बचपन से ही है. मुझे अपने काम को पूरी ईमानदारी और मेहनत के साथ करता हूं. जब किसी को मेरा काम अच्छा लगता है तो मुझे ख़ुशी होती है. बचपन में जब क्लास में टेस्ट के बाद पेपर्स मिलते थे, तो सबसे पहले मेरी निगाहें स्टार्स तलाशती थीं और आज भी जब कोई मेरे काम की प्रशंसा करता है तो मुझे अच्छा लगता है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

तान्या शर्माः मुझे याद है, बचपन में मैं अपनी बहन से टीवी के रिमोट के लिए झगड़ती थी. आज जब हमारे पास अलग-अलग टीवी है, फिर भी हम एक ही टीवी में देखना पसंद करते हैं और रिमोट के लिए झगड़ते हैं. टीवी मॉनिटर बनना और बहन को अपनी मनपसंद प्रोग्राम देखने के लिए मज़बूर करने से बड़ी खुशी और कुछ नहीं हो सकती.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

कुणाल जयसिंहः बचपन में मुझे कलरिंग का शौक़ था. इसलिए मुझे कलरिंग क्लासेज़ बहुत पसंद थे. मेरा बैग कलरिंग पेन्स, स्केच पेन्स, वैक्स क्रैयॉन्स से भरा रहता था.  मुझे बचपन में डॉट्स को जोड़कर उन्हें कलर करना बहुत अच्छा लगता था. अब भी मुझे रंगों से बहुत प्रेम है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

तेजस्वी प्रकाशः बचपन से लेकर अब तक, मुझे बारिश के मौसम से प्यार है. मुझे बचपन में दोस्तों पर बारिश का पानी फेंकना और बारिश के पानी में खेलना बहुत अच्छा लगता था.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

सुयश रायः बचपन में मुझे किसी भी ऐक्टिविटी का फा़इनल वर्क करना बहुत अच्छा लगता था. स्कूल में जब नई क्लास शुरू होती थी तो बुक्स पर कवर तो मम्मी चढ़ाती थी, लेकिन उन पर नेम स्लिप्स लगाने का काम सिर्फ मैं करता था. बड़े होने पर भी जब मेरी मां, बहन या बीवी यदि सलाद काटती हैं तो मुझे उसे सजाना अच्छा लगता है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

हेली शाहः ज़िंदगी प्रतिस्पर्धाओं से भरी हुई है. बचपन में मुझे कुछ जीतने पर बहुत उत्साह होता था और यह उत्साह अब भी कायम है. किसी स्पर्धा में भाग लेने पर मुझे बहुत रोमांच का अनुभव होता है. मुझे बचपन में इवेंट के लिए स्कूल में प्रैक्टिस के लिए रुकना बहुत अच्छा लगता था और आज भी मुझे अपने पर्फॉमेंस के लिए प्रैक्टिस करना अच्छा लगता है.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

मनीष गोपलानीः मुझे बचपन में व्हाइट कैनवस शूज़ पहनकर पीटी क्लासेज़ अटैंड करना बहुत पसंद था. मैं इस बात का ध्यान रखता था कि मेरे जूते सबसे अच्छे दिखें इसलिए मैं अपने साथ व्हाइट चॉक रखता था. मेरे जूते जैसे ही गंदे होते थे, मैं उन पर चॉक रगड़ लेता था. आज भी जब मैं जिम से बाहर निकलता हूं तो अपने शूज़ पर बहुत ध्यान देता हूं और इस बात का ख़्याल रखता हूं कि वे सबसे ख़ास दिखें.

 indian Tv stars cheers from childhood to now

महिका शर्माः बचपन में जब मुझे किसी बात की चिंता होती थी या घबराहट होती थी, तो मैं अपने नाख़ून चबाती थी और एेसा आज भी होता है. कभी-कभी मैं यह भूल जाती हूं कि मैंने अपने नेल्स को स्टाइल किया है और उन्हें चबाने लगती हूं. इसके अलावा मेरी एक और आदत थी. चाहे न्यूज़पेपर हो या बुक्स, पहले मैं इमेज़ देखती थी और उसके बाद पढ़ती थी. यह आदत आज भी बनी हुई है.

फिल्म और टीवी जगत से जुड़ी अन्य ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें

[amazon_link asins=’B075CR1GQL,B0772FWBFG,B0711VWN2V,B0761TBHBM’ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’4d3b9bf0-c86a-11e7-9253-3bad0ddd8208′]

Exclusive! टीवी एक्ट्रेस तेजस्वी प्रकाश ने किया अपनी शादी का खुलासा! (Exclusive! TV Actress Tejasswi Prakash To Romance 10 Year Old Child Artist)

स्वरागिनी सीरियल की रागिनी अब नए शो पहरेदार पिया की में नज़र आ रही हैं दिया के रूप में, जिसमें उनके पिया हैं स़िर्फ 10 साल के. तेजस्वी प्रकाश ने अपने नए शो के अलावा और भी कई दिलचस्प बातें हमारे साथ शेयर की.  

3

आपने पहरेदार पिया की शो क्यों चुना? क्या ये शो ग़लत मैसेज नहीं दे रहा है?
जब मुझे इस शो का ऑफर मिला, तो मैंने सोचने के लिए थोड़ा व़क्त मांगा. शुरू में मुझे भी डाउट हुआ था कि कहीं ये शो ग़लत मैसेज तो नहीं देगा. इससे पहले मैं स्वरागिनी जैसा हिट सीरियल कर चुकी हूं और उस शो में दर्शकों ने मुझे बहुत पसंद किया है इसलिए मैं कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थी. लेकिन जब मुझे मेरा कैरेक्टर समझाया गया, तो मुझे ये रोल काफ़ी दिलचस्प लगा और मैंने शो के लिए हां कर दी. ये शो ग़लत मैसेज नहीं देता, बल्कि वुमन एम्पावरमेंट की बात करता है कि कैसे एक 18 साल की लड़की इतना बड़ा ़फैसला लेती है, वो कितनी बहादुर है, कितना त्याग करती है.

आपको शो में इतना मेकअप करना पड़ता है, इतने हैवी कपड़े-गहने पहनने पड़ते हैं, तो आपको तैयार होने में कितना व़क्त लगता है?
इस शो में मैं एक यंग कैरेक्टर प्ले कर रही हूं इसलिए मैं बहुत ज़्यादा मेकअप नहीं करती. मुझे स़िर्फ कपड़े और गहने पहनने होते हैं इसलिए तैयार होने में ज़्यादा टाइम नहीं लगता. मैं आधे घंटे में तैयार हो जाती हूं.

यह भी देखें: बिग बॉस 9 की सदस्य और एक वीर की अरदास… वीरा की एक्ट्रेस दिगंगना सूर्यवंशी का गृह प्रवेश

1

क्या रियल लाइफ में भी आप इतनी जल्दी तैयार हो जाती हैं?
हां, मैं बहुत जल्दी तैयार हो जाती हूं. मज़े की बात ये है कि मेरी मां मुझसे कहती हैं कि मैंने अपनी पूरी ज़िंदगी में इतनी साड़ियां नहीं पहनी होंगी, जितनी तूने पहन ली हैं. जब वो मुझे आसानी से साड़ी मैनेज करते देखती हैं, तो हैरान रह जाती हैं.

स्वरागिनी और पहरेदार पिया की शो में क्या फ़र्क़ या क्या समानता है?
मेरा शो स्वरागिनी दो साल चला था, जिसमें मैंने पॉज़िटिव और नेगेटिव दोनों रोल प्ले किए थे. मुझे एक जैसा बोरिंग रोल करना पसंद नहीं है. स्वरागिनी सीरियल में मुझे दर्शकों का बहुत प्यार मिला इसलिए मैं वो शो करके बहुत ख़ुश हूं. जहां तक पहरेदार पिया की और स्वरागिनी शो की समानता की बात है, तो (हंसते हुए) इन दोनों शो में मैं राजस्थानी परिवार की सदस्य हूं, दोनों शो में मेरा गेटअप ट्रेडिशनल है. हां, दोनों शो में मेरा रोल बिल्कुल अलग है, क्योंकि दोनों शो का कॉन्सेप्ट अलग है.

क्या इस शो में भी आगे चलकर आपका रोल नेगेटिव होगा?
इस बारे में मैं अभी कुछ नहीं कह सकती, क्योंकि स्टोरी किस तरह आगे बढ़ेगी, ये तो मैं भी नहीं जानती. वैसे भी औरत के कई रूप होते हैं और जब अपने प्यार और परिवार को बचाने की बात आती है, तो वो किसी भी हद तक आगे बढ़ जाती है, इसलिए आगे मेरा रोल कैसा होगा, ये अभी कहना मुश्किल है.

यह भी देखें: OMG! ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ के कार्तिक को नायरा से हुआ इश्क वाला लव!

5

आपको म्यूज़िक का बहुत शौक है. डेली सोप के साथ-साथ क्या म्यूज़िक के लिए टाइम निकाल पाती हैं?
हां, जब भी छुट्टी मिलती है तो मैं थोड़ा-बहुत रियाज़ कर लेती हूं. मुझे डांस का भी बहुत शौक है इसलिए मैं डांस क्लास भी जाती हूं. मैं एक्टिंग के साथ-साथ अपनी हॉबीज़ के लिए भी टाइम निकाल ही लेती हूं. मैं ट्रेन्ड भरतनाट्यम डांसर हूं और गाती भी हूं.

आपने इंजीनियरिंग की है और अब आप एक्टिंग कर रही हैं. कैसे हुआ ये सब?
मैंने एक्टिंग के बारे में कभी सोचा नहीं था. मैं भाग्य और गणपति बप्पा में बहुत विश्‍वास करती हूं. इंजीनियरिंग के दौरान ही मुझे ऑडिशन के लिए कॉल आया था और मैं यूं ही ऑडिशन के लिए चली गई थी. मैं पहले ऑडिशन में ही सिलेक्ट हो गई और वहीं से मेरे एक्टिंग करियर की शुरुआत हो गई. हां, एक्टिंग के साथ-साथ मैंने अपनी पढ़ाई भी पूरी की. आप मुझे इंजीनियर कह सकती हैं.

आप गणपति की भक्त हैं, तो क्या आपके घर भी हर साल गणपति आते हैं?
हां, हमारे घर हर साल गौरी-गणपति आते हैं और उन दिनों हम सब बहुत एक्साइटेड रहते हैं. घर सजाते हैं, मोदक बनाते हैं, उनकी पूजा करते हैं, घर में मेहमानों के लिए खाना बनाते हैं.

यह भी देखें: 12 ख़ूबसूरत टीवी एक्ट्रेस का रियल लाइफ ब्राइडल लुक

2

आप अपने नाम के साथ अपना सरनेम क्यों नहीं यूज़ करती हैं?
मेरा सरनेम वयंगंकर इतना मुश्किल है कि कोई ठीक से बोल नहीं पाता इसलिए मैं तेजस्वी प्रकाश लिखती हूं. (हंसते हुए) इसमें डबल लाइट है- तेजस्वी भी और प्रकाश भी.

आप अच्छी डांसर हैं, तो आगे आप किसी डांस शो में नज़र आएंगी?
फिलहाल तो मैं अपने शो में बिज़ी हूं. अभी मैंने ऐसा कुछ सोचा नहीं है. हां, अच्छा मौका मिला और मेरे पास टाइम रहा तो ज़रूर करूंगी.

आपको टेलीविज़न इंडस्ट्री की अच्छी और बुरी बात क्या लगती है?
अच्छी बात ये है कि आपको दर्शकों का बहुत प्यार मिलता है और बुरी बात ये है कि फैमिली के लिए टाइम बहुत कम मिलता है.

क्या आप अभी भी स्वरागिनी शो की टीम के टच में हैं?
बिल्कुल हूं. हाल ही में 10 जून को जब मेरा बर्थडे था, तो स्वरागिनी शो के मेरे फ्रेंड्स और मेरा उससे भी पहले का शो संस्कार, उसके भी सारे फ्रेंड्स मेरा बर्थडे सेलिब्रेट करने आए थे.

फिटनेस के लिए अलग से कुछ करती हैं?
शूटिंग से ़फुर्सत कहां मिलती है, (हंसते हुए) खाने का टाइम ही नहीं मिलता, तो अपने आप डायटिंग हो जाती है.

क्या आपको रियल लाइफ में भी इसी तरह सजना-संवरना पसंद है?
नहीं, तेजस्वी रियल लाइफ में कभी सिर पर पल्ला लेकर नहीं घूमेगी. अगर उसे कभी ऐसा करना पड़ा, तो वो अपने पति से कहेगी कि वो भी सिर पर पल्ला ले. हां, पहरेदार पिया की शो की कैरेक्टर दिया की तरह मैं भी रियल लाइफ में अपने हक़ के लिए कोई भी बड़ा ़फैसला लेने के लिए हमेशा तैयार रहती हूं.

यह भी देखें: 13 बेस्ट डिज़ाइनर ब्लाउज़: 13 स्टनिंग लुक्स ये है मोहब्बतें फेम दिव्यांका त्रिपाठी के

4

शो में आपके छोटे-से पति आगे चलकर बड़े होंगे?
हां, बिल्कुल मेरे पति इस शो में बड़े होंगे.

शो में इतना छोटा बच्चा आपकी मांग भरता है. क्या आपको अजीब नहीं लगता?
दरअसल, वो मेरी मांग नहीं भरता, उसे तो मांग भरने का मतलब भी पता नहीं होता. मैं उसके माथे पर तिलक लगाती हूं, तो मेरी देखादेखी में वो भी मेरी मांग में सिंदूर लगाता है. इस शो में हम पति-पत्नी की तरह नहीं, फ्रेंड्स की तरह रहते हैं.

आपको अब तक सबसे बेस्ट कॉम्प्लिमेंट क्या मिला है?
बेस्ट कहूं या अजीब, मेरे एक फैन हैं, जो मुझे अपनी मां कहते हैं. वो कहते हैं उन्हें मैं अपनी मां जैसी लगती हूं. मैं समझ नहीं पाती कि इस बात से मैं ख़ुश होऊं या क्या महसूस करूं.

आप सोशल मीडिया पर कितनी एक्टिव हैं?
बहुत कम, मेरे फैन्स को मुझसे यही शिकायत रहती है कि मैं अपनी फोटोग्राफ्स पोस्ट नहीं करती. हां, अब मैं सोशल मीडिया पर एक्टिव रहने की कोशिश करूंगी.

आगे चलकर क्या आप फिल्मों में काम करना चाहेंगी?
अच्छा ऑफर मिला और तो ज़रूर करूंगी. मैंने अपनी तरफ़ से कोई बाउंड्री नहीं बनाई है कि ये करना है और ये नहीं.

स्वरागिनी और पहरेदार पिया की दोनों सीरियल में आप दुल्हन बनी हैं. आप आम लड़कियों को शादी का लहंगा और ज्वेलरी सिलेक्ट करने के लिए क्या ख़ास टिप्स देना चाहेंगी?
मैं तो यही कहूंगी कि ऐसा लहंगा या ज्वेलरी सिलेक्ट करें, जिसमें आप कंफर्टेबल महसूस कर सकें. ज़रूरत से ज़्यादा हैवी लहंगा या ज्वेलरी पहनकर आप अपनी शादी के फंक्शन एंजॉय नहीं कर पाएंगी.

टीवी की अन्य ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें 

6

आपका फेवरेट कलर क्या है?
रेड मेरा फेवरेट कलर है.

आपकी फेवरेट एक्ट्रेस
कंगना रणावत और प्रियंका चोपड़ा.
मुझे बचपन से शबाना आज़मी भी पसंद हैं.

– कमला बडोनी