Tag Archives: trip

भारती ने शेयर की हर्ष के साथ हनीमून और क्रिसमस सेलिब्रेशन की रोमांटिक पिक्चर (Bharti Shares Romantic Pictures With Hubby Haarsh)

Bharti Singh, Romantic Pictures, Haarsh

Bharti Singh, Romantic Pictures, Haarsh

भारती ने शेयर की हर्ष के साथ हनीमून और क्रिसमस सेलिब्रेशन की रोमांटिक पिक्चर (Bharti Shares Romantic Pictures With Hubby Haarsh)

  • कमेडियन भारती सिंह (Bharti Singh) की हाल ही में शादी हुई है और उसके बाद अब वो चल पड़ी हैं अपने हनीमून (Honeymoon) पर.
  • जी हां, शादी के बाद भारती के वर्क कमिटमेंट्स को लेकर उन्हें अपना हनीमून पोस्टपोन करना पड़ा और अब वो बेहद ख़ुश हैं कि आख़िर वो हर्ष के साथ हनीमून पर हैं, वो भी पूरे 1 महीने के लिए.
  • जी हां, बिल्कुल सही पढ़ा आपने. भारती और हर्ष इस दौरान कई जगहों की सैर करेंगे, जिसकी शुरुआत उन्होंने की है दुबई (Dubai) से और उसके बाद वो करेंगे यूरोप (Europe) की सैर.
  • भारती ने पहले ही कहा था कि इस दौरान वो कोई भी फोन कॉल्स रिसीव नहीं करेंगे. भारती ने हर्ष के साथ अपनी रोमांटिक पिक्चर्स सोशल मीडिया पर शेयर की… साथ ही बेहद प्यारा और रोमांटिक मैसेज भी डाला

यह भी पढ़ें: Star Kids: तैमूर चले क्रिसमस मनाने, बहन इनाया की क्यूट पिक 

किड्स डेस्टिनेशन: चलें ज़ू की सैर पर (Kids’ destination: fantastic trip of zoo)

Kids Destinations

मॉल और अर्बन लाइफ स्टाइल से दूर बच्चों को कुछ और घुमाना और दिखाना चाहते हैं, तो उन्हें नेचर के क़रीब ले जाएं. टीवी और बुक में दिखने वाले जानवरों और पंछियों से उनकी मुलाक़ात कराएं. मॉडर्न लाइफ स्टाइल को फॉलो करते-करते हम प्रकृति और उसकी बनाई तमाम ख़ूबसूरत चीज़ों से महरूम होते जा रहे हैं. ऐसे में आने वाली पीढ़ी का नेचर के प्रति लगाव कम होता जा रहा है. कहीं आपके बच्चों के साथ भी कुछ ऐसा ही तो नहीं हो रहा. फैमिली ट्रिप को और भी मज़ेदार बनाने के लिए करें दुनिया के कुछ चुनिंदा ज़ू की सैर.

Kids Destinations
मैसूर ज़ू

मैसूर ज़ू देश का सबसे पुराना और प्रसिद्ध ज़ू है. 157 एकड़ में बना ये ज़ू मैसूर पैलेस के पास ही स्थित है. 1892 में यह बनकर तैयार हुआ. पहले इसे पैलेस ज़ू भी कहते थे. राजा चामाराजेंद्र ने इसे बनवाया. इसलिए इसे चामाराजेंद्र ज़ूलोजिकल गार्डन भी कहते हैं. शुरुआत में स़िर्फ रॉयल फैमिली के लोग ही इस ज़ू में जाते थे, लेकिन 1902 में इसे आम लोगों के लिए खोला गया. झूले पर बैठकर आराम फरमाता गोरिल्ला, अफ्रिकन एलिफैंट, ज़ेब्रा, जिराफ आदि के साथ हज़ारों जीव-जंतुओं, पंछियों से ये ज़ू भरा है. ज़ू के अंदर जगह-जगह बैठने के लिए कुर्सियां लगाई गई हैं. हैंडिकैप लोगों के लिए व्हील चेयर की भी व्यवस्था है. बच्चों के खेलने के लिए ज़ू के अंदर सुंदर पार्क भी है. इसके साथ ही रेस्ट रूम, कैफेटेरिया आदि की भी व्यवस्था है.

कैसे जाएं?
फ्लाइट, ट्रेन, बस, कार के माध्यम से आप मैसूर पहुंच सकते हैं. मैसूर रेल्वे स्टेशन से मैसूर ज़ू की दूरी स़िर्फ 3 किलोमीटर है.

मैसूर ज़ू में संडे और दूसरे नेशनल हॉलिडे
पर पैलेस बैंड ऑर्केस्ट्रा के माध्यम से
पर्यटकों का मनोरंजन किया जाता
है. इस बैंड के माध्यम से भारतीय
संस्कृति और सभ्यता की एक
झलक भी पर्यटकों को
दिखायी जाता है.

Kids Destinations

यह भी पढ़ें: विलेज टूर ताकि बच्चे जुड़े रहें अपनी संस्कृति से

नेहरू ज़ूलोजिकल पार्क

हैदराबाद में मीर आलम टैंक के पास स्थित नेहरू ज़ूलोजिकल पार्क 26 अक्टूबर 1959 को बनकर तैयार हुआ. 6 अक्टूबर 1963 को इसे आम लोगों के लिए खोला गया. 380 एकड़ में बने इस ज़ू को हैदराबाद ज़ू के नाम से भी जाना जाता है. पक्षियों की 100 से भी ज़्यादा प्रजातियां और 1100 जानवरों से भरा ये ज़ू पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करता है. ज़ू के अंदर सफारी ट्रिप भी सैलानियों को ख़ूब भाती है.

कैसे जाएं?
प्लेन, ट्रेन, बस के माध्यम से आप हैदराबाद पहुंच सकते हैं. उसके बाद वहां के लोकल वेहिकल से आप ज़ू तक पहुंच सकते हैं.

ज़ू का पूरा लुत्फ़ उठाने के लिए टॉय ट्रेन, सफारी ट्रिप,
चिल्ड्रेन पार्क, जुरासिक
पार्क, बटरफ्लाई पार्क,
अक्वेरियम, म्यूज़ियम, बोटिंक आदि की
व्यवस्था भी है.

Kids Destinations
बर्लिन ज़ूलोजिकल गार्डन

यूरोप के बेहतरीन और सबसे ज़्यादा पसंद किए जाने वाले में से ये एक है. यहां पर सालभर पर्यटकों की भीड़ रहती है. 1844 में बना ये जर्मनी का पहला ज़ू है. 84 एकड़ में फैले इस ज़ू में 20 हज़ार से ज़्यादा जानवर आपको देखने को मिलेंगे. तरह-तरह के पक्षी, मछलियां आदि यहां के मुख्य आकर्षण के केंद्र हैं. खुले आसमान के नीचे अपनी फैमिली के साथ आराम फरमाते जानवरों को देखना आपके बच्चों के लिए किसी आश्‍चर्य से कम नहीं होगा.

कैसे जाएं?
मुंबई, दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता आदि जगहों से आप सीधे जर्मनी के लिए उड़ान भर सकते हैं. जर्मनी पहुंचने के बाद बर्लिन ज़ूलोजिकल गार्डन ज़ू रेल्वे स्टेशन से आप वहां के प्राइवेट वेहिकल से ज़ू तक पहुंच सकते हैं.

जिस दिन ज़ू का प्लान बनाएं उस दिन किसी
और जगह घूमने का प्लान न बनाएं. ज़ू
के खुलने के समय से देर शाम तक
बच्चों के साथ यहां पर
समय बिताएं.

Kids Destinations

यह भी पढ़ें: Top 4 किड्स प्लैनेट

टोरंटो ज़ू

कनाडा के सबसे बड़े शहर टोरंटो में स्थित टोरंटो ज़ू दुनिया के बड़े ज़ू में से एक है. 5000 से ज़्यादा जानवर और पक्षियों की 500 से ज़्यादा प्रजातियां इस ज़ू के मुख्य आकर्षण हैं. 15 अगस्त 1974 को इसे कनाडा वासियों के लिए खोला गया. दुनियाभर के सैलानी यहां पर दुनियाभर के जानवरों, पक्षियों और दूसरे जीवों को देखने आते हैं. टोरंटो ज़ू की सबसे बड़ी ख़ासियत ये है कि यहां पर पूरी दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से आए पशु-पक्षी पर्यटकों को देखने को मिलते हैं.

कैसे जाएं?
मुंबई, चेन्नई, दिल्ली, बैंग्लोर जैसे महानगरों से आप फ्लाइट के माध्यम से टोरंटो पहुंच सकते हैं. टोरंटो पहुंचने के बाद आप वहां के लोकल वेहिकल से ज़ू तक पहुंच सकते हैं.

टोरंटो ज़ू सात अलग-अलग भागों में बटा है. इंडो-मलया, अफ्रिका,
कनेडियन डोमेन, अमेरिकाज़, ऑस्ट्रेले़शिया, यूरेशिया, टुंड्रा-ट्रेक
और डिस्कवरी ज़ोन. हर भाग में उस जगह के जानवर और
पेड़-पौधों को पर्यटक देख सकते हैं. ये नज़ारा आपको
दुनिया के किसी और ज़ू में नहीं मिलेगा.

स्मार्ट टिप्स
– ज़ू घूमते समय जल्दबाज़ी में न रहें, लेकिन एक ही जगह बहुत ज़्यादा समय भी न बिताएं.
– ज़ू में घूसते ही बोर्ड पर लिखे निर्देश को ज़रूर पढ़ें. उसके बाद ही अपनी यात्रा शुरू करें. इससे आप ज़ू के नियम से भलीभांति परिचित हो जाएंगे.
– धूप से बचने के लिए हैट और गॉगल्स ले जाना न भूलें. कपड़े और जूतों का सही चुनाव करें.
– अपने पास हेल्दी स्नैक्स और पीने के लिए पानी, जूस आदि ज़रूर रखें.
– ज़ू के हर एक क्षण को ़कैद करने के लिए कैमरा ज़रूर ले जाएं.
– ज़ू जाने से पहले निर्धारित कर लें कि आपको क्या देखना है.
– जल्दबाज़ीं में फोटोग्राफी करने की बजाय स्पेशल मोमेंट का इंतज़ार करें.
– जानवरों को देखते समय उसके बारे में जो लिखा है, वो अपने बच्चों को पढ़कर ज़रूर सुनाएं. बच्चों को अकेला न छोड़ें.
– किसी भी जानवर को देखने के लिए जितनी दूरी निर्धारित की गई है, उसका पालन करें. इससे किसी भी तरह की दुर्घटना से आप दूर रहेंगे. ज़ू के किसी भी जानवर या दूसरे जीवों से छेड़छाड़ न करें.
– अपनी पूरी ट्रिप को टुकड़ों में बांटे. समय-समय पर ब्रेक लें. इससे थकान भी मिट जाएगी और आप पूरे ज़ू का लुत्फ़ भी उठा सकेंगे.

– श्वेता सिंह 

अधिक ट्रैवल आर्टिकल के लिए यहाँ क्लिक करें: Travel Articles

मोरक्को और स्वीडन की अमेज़िंग ट्रिप (Amazing trip of sweden & Morocco)

agadir1

मौसमी ख़ुमार, वादियों की बहार और ख़ूबसूरत नज़ारों का लुत्फ़ उठाना चाहते हैं तो यही मौक़ा है जब बैग पैक करके घर से दूर कहीं और घूमने निकल जाएं. हम लेकर आए हैं आपके लिए कुछ ख़ास जगहें. तो हो जाए एक टूर मोरक्को और स्वीडन का.

 

ख़ूबसूरत मोरक्को

उत्तर अफ्रीकी देश मोरक्को अपनी ख़ूबसूरती और विविधता के लिए जाना जाता है. प्रकृति और ऐतिहासिक संपदा से भरपूर मोरक्को पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है. चारों तरफ़ से पहाड़ों से घिरे इस देश के फूलों से भरे मैदान आपके मन को सुकून पहुंचाते हैं.

कैसे जाएं?
दिल्ली, मुंबई, चेन्नई आदि महानगरों से आप फ्लाइट के द्वारा मोरक्को पहुंच सकते हैं.

marrakesh

क्या देखें?
मोरक्को के कई शहर अपने जीवंत रंग-ढंग के लिए जाने जाते हैं. यहां आपको एक अलग तरह का फील मिलेगा. रेड सिटी के नाम से मशहूर मराकेश, दुनिया की सबसे ऊंची इमारत वाला शहर कैसाब्लांका, दुनिया की सबसे पुरानी यूनिवर्सिटी वाला शहर फेज़, अगादिर आदि शहर मोरक्को की ख़ूबसूरती में चार चांद लगाते हैं.

क्या ख़रीदें?
मोरक्को जाने के बाद बिना शॉपिंग किए ही वापस आना अच्छी बात नहीं. मोरक्कन कारपेट दुनिया में प्रसिद्ध हैं इसलिए इसकी शॉपिंग ज़रूर करें. इसके साथ ही मोरक्को की वर्ल्ड फेमस सॉफ्ट लेदर से बनी चीज़ों की ख़रीददारी भी ज़रूर करें. यहां का ब्रास वर्क, वुड वर्क, रॉट आयरन भी बहुत प्रसिद्ध है. मसालों के शौक़ीन यहां से मसाले भी ला सकते हैं.

क्या खाएं?
मोरक्को का खाना दुनिया के सबसे लजीज़ व्यंजनों में शुमार है. यहां के छोटे रेस्टोरेंट में भी आपको फ्रेंच, चाइनीज़ यहां तक की भारतीय खाने भी मिल जाते हैं. ख़ासतौर पर यहां आने के बाद इन चीज़ों का स्वाद चखना न भूलें.

morocco-tourist-attractions-wallpaper-3

स्वीट एंड सेवरी पैस्टिला मोरक्को का नेशनल फूड है. इसे ज़रूर ट्राई करें.
मार्केट में घूमते समय स्ट्रीट फूड हरिरा का स्वाद ज़रूर चखें.
वर्किंग क्लास का फेमस फूड बेसारा ज़रूर ट्राई करें.
स्पाइसी सर्डाइन (एक प्रकार की छोटी मछली) का स्वाद आपके मुंह का ज़ायका ही बदल देगा.
खाने के बाद मोरक्कन डेज़र्ट का आनंद ज़रूर लें.

मोरक्को में अगर कोई दुकानदार या मेज़बान आपका स्वागत मिंट टी से करे तो उसे ना न कहें. ये मेहमानों के सम्मान का ख़ास तरीक़ा है.

हिंदी फिल्म एजेंट विनोद की शूटिंग मोरक्को में ही हुई है. फिल्म की हिरोइन करीना कपूर को ये डेस्टिनेशन बहुत पसंद आया. करीना ने मोरक्को को धरती का स्वर्ग कहा.

इन चीज़ों का रखें ख्याल
– किसी भी रेस्टोरेंट में जाने से पहले अपने पास छुट्टे पैसे ज़रूर रखें. यहां टिप देने का रिवाज़ है.
– मार्केट में घूमते समय वहां की करेंसी रखना न भूलें.
– मोरक्को एक इस्लामी देश है, इसलिए भड़कीले कपड़े पहनने से बचें.

Sweden-©-Kalin-Eftimov-Shutterstock

रात के सूरज का देश स्वीडन

नेचर को और क़रीब से जानने और फैमिली को नायाब तोहफ़ा देना चाहते हैं, तो स्वीडन घूमने जाएं. जंगल, बर्फ से ढके पहाड़, ख़ूबसूरत मैदान, ग्लेशियर और नदियां यहां के आकर्षण का केंद्र हैं. पूरे विश्व में आपको इस तरह का दृश्य देखने को नहीं मिलेगा.

कैसे जाएं?
दिल्ली, मुंबई, चेन्नई आदि महानगरों से आप फ्लाइट के द्वारा स्वीडन पहुंच सकते हैं.

travel-activity-city-break-Gothenburg-Sweden-Christmas-festive-UploadExpress-Laura-Millar-624828

क्या देखें?
लैंड ऑफ द मिडनाइट सन के नाम से मशहूर स्वीडन में देखने के लिए बहुत कुछ है. आप अपनी यात्रा की शुरुआत राजधानी स्टॉकहोम से शुरू कर सकते हैं. स्टॉकहोम दुनिया के सुंदर शहरों में से एक है. झील जहां समुद्र से मिलती है वहीं पर ये शहर बसा है. ऐसे में इसकी ख़ूबसूरती बरबस ही पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करती है. गोथेनबर्ग, कलमार, माल्मो आदि शहर देखने लायक है.

क्या ख़रीदें?
शॉपिंग के हिसाब से स्वीडन थोड़ा महंगा ज़रूर है, लेकिन यहां आने के बाद शॉपिंग को ना कहना आपके बस में नहीं होगा. आर्ट, ग्लासवेयर, कपड़े आदि की शॉपिंग आप यहां से कर सकते हैं.

क्या खाएं?
स्वीडन में सी फूड की अच्छी क्वालिटी आपको हर गली में मिल जाएगी. राकोर, प्रिंसेस केक, निपॉन्सोपा, स्मोक्ड साल्मन, सिनामन्स बन्स, स्वीडिश स्ट्रॉबेरीज़ आदि यहां के फेमस फूड हैं. इनका ज़ायका ज़रूर लें.

maharashtra-govt
स्वीडन में शॉपिंग करते समय और बाहर घूमते समय व़क्त का विशेष ध्यान रखें. यहां बाज़ार सुबह साढ़े 9 से शाम 6 बजे तक खुले रहते हैं.
फिल्म 1920 एविल रिटर्न तो आपको याद ही होगी. रात का अंधेरा, ख़तरनाक जंगल, ख़ूबसूरत लोकेशन आदि. इस फिल्म की अधिकांश शूटिंग स्वीडन में ही हुई है.

– श्वेता सिंह 

अधिक ट्रैवल आर्टिकल के लिए यहाँ क्लिक करें: Travel Articles

न्यूज़ीलैंड में सिद्धार्थ मल्होत्रा का ‘काला चश्मा…’ फीवर, कुछ इस तरह से हुआ वेलकम! (Sidharth Malhotra shakes a leg on ‘Kala Chashma’ at New Zealand)

जब सिद्धार्थ मल्होत्रा पहुंचे न्यूज़ीलैंड तो बड़े ही शानदार तरीक़े से किया गया उनका स्वागत. सिद्धार्थ को देखते ही वहां मौजूद बच्चों ने उनके गाने काला चश्मा… और लड़की ब्यूटीफुल… पर परफॉर्म किया. सिद्धार्थ ये सब देखकर इतने ख़ुश हुए कि वो भी ख़ुद को डांस करने से रोक नहीं पाए.

सिद्धार्थ न्यूज़ीलैंड टूरिज़म के ब्रांड एंबेसडर हैं और न्यूज़ीलैंड के ट्रिप पर हैं. उन्होंने अपने इंस्टाग्राम पर कई तस्वीरें भी शेयर की हैं, जिसमें वो काफ़ी एंजॉय करते नज़र आ रहे हैं.

It’s great to be back in @purenewzealand. First stop: @annadalenz #SidNZ #NZMustDo #outdoor #cycle #workout

A photo posted by Sidharth Malhotra (@s1dofficial) on

#SidNZ begins now ! #cheers #fun #travel

A photo posted by Sidharth Malhotra (@s1dofficial) on