Us open

2

स्विटज़रलैंड के स्टेन वावरिंका ने अमेरिकी ओपन 2016 पुरुष सिंगल्स का ख़िताब जीत लिया है. वावरिंका ने दुनिया के नंबर 1 खिलाड़ी और पिछले साल के चैंपियन सर्बिया के नोवाक जोकोविच को फाइनल में चार सेटों के कड़े मुक़ाबले में 6-7, 6-4, 7-5, 6-3 से हराया. ये वावरिंका का तीसरा ग्रैंड स्लैम ख़िताब है. वावरिंका ने फाइनल में शानदार खेल का प्रदर्शन करते हुए खेल के दौरान दर्शकों की वाहवाही भी लूटी. खेल के बीच-बीच में दर्शक वावरिंका के शानदार प्रदर्शन पर ताली बजाना और उन्हें प्रोत्साहित करना नहीं भूल रहे थे.

इस पूरे मैच में वावरिंका जहां अपनी लय में दिखे, वहीं नोवाक अनफिट नज़र आए, नोवाक पहले से ही इस मैच के लिए फिट नहीं थे. सेमिफाइनल में भी उनके पैरों में की नसों में थोड़ा खिंचाव था, लेकिन वो सेमिफाइनल खेले और जीते भी. अमेरिकी ओपन के फाइनल में नोवाक की परेशानी ज़्यादा बढ़ गई. मैच के बीच में कई बार नोवाक को मेडिकल ट्रीटमेंट भी दिया गया. कई बार उन्हें मेडिकल टाइम आउट लेना पड़ा. चौथे सेट के दौरान तो उनके पैर से ख़ून बह निकला. इसका असर उनके खेल पर पड़ा. वो लय से बाहर दिखे. खेल पर कम और पेन पर नोवाक का ध्यान ज़्यादा होने लगा.

3

चोटिल नोवाक अपनी लय खोते नज़र आए, तो वावरिंका ने अपने गेम को और स्ट्रॉन्ग बना दिया. नोवाक के हर कमज़ोर पॉइंट का वावरिंका ने मज़बूती से जवाब दिया और साल का आख़िरी ग्रैंड स्लैम अमेरिकी ओपन अपने नाम किया.

हम आपको बता दें कि वावरिंका रोजर फेडरर के ही देश के हैं. फेडरर से उन्हें बहुत कुछ सीखने को मिला है. भले ही हाल फिलहाल फेडरर अपनी लय में नहीं दिख रहे हैं, लेकिन वावरिंका ने अपने देशवासियों को निराश नहीं किया.

 

 

 

 

 

 

 

 

5

जर्मन खिलाड़ी एंजेलिक कर्बर साल के आख़िरी ग्रैंड स्लैम यू एस ओपन का फाइनल जीतकर न केवल ट्रॉफी अपने नाम कीं, बल्कि दुनिया की नंबर एक खिलाड़ी भी बन गईं. इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलियन ओपन जीतकर ही कर्बर ने शायद ये जता दिया था कि साल के आख़िरी ग्रैंडस्लैम पर भी उनका ही दबदबा होगा. कर्बर ने अमेरिकी ओपन के फाइनल मुकाबले में यहां चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लीस्कोवा को मात देकर खिताबी जीत हासिल की. कर्बर ने प्लीस्कोवा को 6-3, 4-6, 6-4 से मात दी. सेमीफाइनल में प्लीस्कोवा ने टेनिस क्वीन सरीना विलियम्स को हराकर बड़ा उलटफेर किया था. एंजेलिक कर्बर का ये दूसरा ग्रैंड स्लैम है. स्टेफी ग्राफ की हमवतन कर्बर ने मैच के फाइनल में शानदार मैच का प्रदर्शन किया. अमेरिकी पूर्व नंबर एक खिलाड़ी सरीना विलियम्स से उन्होंने नंबर 1 का ताज भी छीन लिया.

4

ये बहुत ही दिलचस्प है कि सरीना विलियम्स जब स्टेफी ग्राफ के 22 ग्रैंड स्लैम की बराबरी करनेवाली थीं, तब भी स्टेफी की हमवतन खिलाड़ी कर्बर ने इसी साल के ऑस्ट्रेलियन ओपन में उनका सपना पूरा नहीं होने दिया. टेनिस जगत में इस ख़बर की काफ़ी धूम मची थी. एंजेलिक अगर फाइनल में नहीं पहुंचतीं, तो ऑस्ट्रेलियन ओपन के साथ ही सरीना स्टेफी ग्राफ के 22 ग्रैंड स्लैम की बराबरी कर लेतीं. इतना ही नहीं, इसी साल के विंबलडन फाइनल में पहुंचकर कर्बर ने सरीना को एक बार फिर कड़ी टक्कर दी थी. जानकारों और सरीना के प्रशंसकों को सोचने पर मजबूर कर दिया था कि कहीं ऑस्ट्रेलियन ओपन की तरह इस बार भी कर्बर सरीना का रास्ता न रोक दें, लेकिन फाइनल में ऐसा नहीं हुआ और सरीना विलियम्स ने स्टेफी ग्राफ के 22 ग्रैंड स्लैम की बराबरी कर ही ली.

1
एंजेलिक कर्बर एक बेहतरीन खिलाड़ी हैं. फिलहाल महिला खिलाड़ियों में सरीना के बाद कर्बर ही एक ऐसी प्लेयर हैं, जो मैच के हर गेम में दर्शकों को बांधे रखती हैं. अपने दमदार प्रदर्शन और बेहतरीन खेल के ज़रीए ही एक बार फिर से जर्मन फ्लैग को टेनिस जगत में नई ऊंचाई मिली है. कर्बर ने साल की शुरुआत और अंत दोनों में अपना दम दिखाकर एक बात तो निश्‍चित ही कर दी है कि उनके जैसी प्लेयर जब कोर्ट पर मौजूद हों, तो विरोधियों को सतर्क रहना होगा.

– श्वेता सिंह