Valentine special

जिऊंगा जब तलक तेरे फ़साने याद आएंगे
कसक बनकर मुहब्बत के तराने याद आएंगे…

सच! प्यार की दीवानगी तो कुछ ऐसी ही होती है. ताउम्र यह एहसास जहां दिलों को रोमानी करता है, तो कभी ग़मगीन भी कर देता है. फिर भी प्यार तो प्यार ही होता है. प्यार जीने का सबब होता है.. प्यार रिश्तों को ख़ूबसूरत बनाता है.. प्यार दिलों को जोड़ता है.. प्यार जो हर किसी को कभी न कभी होता है… प्यार पर न जाने कितनी सारी बातें कही, लिखी और महसूस की गई हैं. फिर भी इसकी व्याख्या कभी पूरी नहीं हो पाती. ये ऐसे होते है, जिन्हें हम चाहते हैं, पर उसे कोई नाम नहीं दे पाते हैं. जिनमें केवल एहसास होता है, एक-दूसरे के साथ और प्यार का वजूद रहता है, बस नाम नहीं रहता. लेकिन यह किसी इबादत और किसी दुआ से भी कम नहीं होता. एक ख़ूबसूरत एहसास होता है. एक ऐसा एहसास, जो ज़िंदगी को ख़ुशनुमा बना देता है. जो उनके ख़्याल से दिल को कभी हंसा देता है, तो कभी रुला भी देता है. एक अजीब-सी ख़ुशी, सिहरन, रोमांच होता है इस प्यार में.. इस प्यार में कोई अपेक्षा नहीं होती है और ना ही उपेक्षा ही होती है. बस प्यार होता है.. अपने प्यार को ख़ुश देखने की चाहत रहती है..

Romantic Quotes

कह सकते हैं, ज़माने में कई रिश्ते ऐसे होते हैं, जहां पर लोग एक-दूसरे को बस शिद्दत से चाहते हैं, पर उसे रिश्ते के दायरे में बांधते नहीं. उसे कोई नाम नहीं देते. जहां तक हमारा समाज और दुनिया है, वहां पर हमेशा एक दौड़ या जंग सी ज़रूर लगी रहती है अपने प्यार को पाने और बंधन में बांधने की.
माना आपको हर रिश्ते का एक नाम देना ही होगा, लेकिन प्यार, मोहब्बत, इश्क़, चाहत, लव ये ऐसे एहसास हैं जिसे महसूस कर दीवानगी की हद तक जिया जा सकता है, पर बांधा नहीं जा सकता. यहां पर सरहद नहीं होती, यहां पर कोई पहरेदारी नहीं होती और ख़ासकर जब अपने ख़्वाबों की दुनिया में आपने उस प्यार की दुनिया बसा ली हो, एक घर बसा लिया हो, तब तो रिश्तों की भी कहां कोई ज़रूरत होती है.
वह शख़्स अपने प्यार की दुनिया में ही ख़ुश रहता है. हर पल जब भी ज़रूरत होती है, उस प्यार की दुनिया में अपनी ख़ुशियों को सजा लेता है. यह कहना कि प्यार को कोई रिश्ते में जोड़ा जाए या फिर आप शादी के बंधन में बंध गए हो, तभी आपका प्यार सार्थक होगा, सही नहीं है. कुछ तो रहे तेरे-मेरे दरमियां, जो अनकहा रहे, अनसुलझा रहे… यही तो कुछ ख़्यालात होते हैं दो प्यार करनेवालों के जो प्यार को प्यार ही रहने देते हैं, कोई नाम नहीं देते…

यह भी पढ़ें: क्या आप भी डेटिंग ऐप्स पर तलाशते हैं प्यार और कमिटमेंट? (Dating Apps: Can You Find True Love Online?)

प्यार कोई सबूत नहीं मांगता.. प्यार कोई रिश्तो की लेनदेन नहीं चाहता.. प्यार तो बस प्यार ही चाहता है..
एक आम ज़िंदगी में प्यार के काफ़ी मायने होते हैं. प्यार संघर्ष करने का हौसला देता है. ये दिल के रिश्ते बेहद महफ़ूज़ होते हैं. कुछ शख़्स ऐसे होते हैं, जिनका आपकी ज़िंदगी में वजूद होने के बावजूद दुनिया की नज़र में कुछ नहीं रहता, क्योंकि आपने उसे नाम जो नहीं दिया. वे तो बस उसके एहसास से ही ख़ुश रहते हैं. वह एहसास, जो पूरी ज़िंदगी जीने की एक वजह दे देता है. वह एहसास जो बताता है, जो समझाता है कि प्यार के लिए रिश्तों का कोई होना ज़रूरी नहीं. प्यार तो बस प्यार है, वो एहसास अंतर्मन में गुनगुनाती कविता सा है, जो इंसान को बहुत ख़ूबसूरत बना देता है. मोहब्बत से इस कदर भर देता कि वहां नफ़रत के लिए कहीं कोई जगह नहीं होती. इंसान हर पल एक रोमांच का अनुभव करता है. ज़िंदगी जीने के लिए कोई आपको शिद्दत से चाहता है, ख़्याल रखता है, कोई आपकी ख़ुशी-गम में हमेशा शरीक रहता है, तब यह नहीं लगता कि वो क़रीब है या दूर है.

Romantic Quotes

क्या यही प्यार है…
प्यार को लेकर मज़ेदार धारणाएं भी रही हैं, कुछ ऐसे-

  • कुछ का मानना है कि सारी समस्याएं प्यार से शुरू होती है..
  • लोग कहते हैं, मोहब्बत में अपना सब कुछ हारना पड़ता है..
  • किसी से चाहत के कारण आपकी अन्य सभी लोगों में दिलचस्पी ख़त्म हो जाती है..
  • ग़म का एहसास पहली बार प्रेम में ही समझ आता है..
  • कुछ को पहली नज़र में तो कुछ को पलक झपकते ही प्यार हो जाता है..
  • प्यार ज़िंदगी की बहुत-सी समस्याओं का हल है..
  • यह वो राह है, जिस पर ख़ुशी हासिल होती है..
  • इश्क़ में लोग पागल हो जाते हैं..
  • प्यार सबको जीत लेता है..
  • एक ही समय में दो लोगों को प्यार भी हो सकता है…

यह भी पढ़ें: एकतरफ़ा प्यार के साइड इफेक्ट्स… (How One Sided Love Can Affect Your Mental Health?..)

मोहब्बत पर शायर-लेखकों ने बहुत कुछ कहा है. इसकी बहुत व्याख्या अपने-अपने तरीक़े से की है-
हमने देखी है उन आंखों की महकती ख़ुशबू
हाथ से छू के इसे रिश्तों का इल्ज़ाम न दो
सिर्फ़ एहसास है ये रूह से महसूस करो
प्यार को प्यार ही रहने दो कोई नाम न दो…
गुलज़ार साहब के लिखे इस गीत में इन शब्दों ने बहुत कुछ कह दिया है. यूं लग रहा है जैसे प्यार पर एक पूरी दुनिया इन शब्दों में सिमट आई हो. कितनी ख़ूबसूरती से उन्होंने कहा कि इसे रिश्तों का इल्ज़ाम ना दो यानी प्यार वह ख़ूबसूरत एहसास है, जिसे बंधन मुक्त रहकर हम कई मायने में जी सकते है. अपने एहसास में, अपनी सोच में, अपने ख़्वाबों की दुनिया में… प्यार हमेशा हमें मदहोशी की दुनिया में ले जाता है, जहां पर बस प्यार ही होता है और कुछ नहीं. ना किसी चीज़ की लेनदेन, ना उम्मीद बस प्यार ही प्यार…

Romantic Quotes

लेकिन इसे हम आज के दृष्टिकोण से देखें, तो थोड़ी-सी मुश्किलें ज़रूर आती हैं. आज की युवापीढ़ी और कपल्स के लिए प्यार की परिभाषा अलग है. प्यार को वे अपेक्षाओं से भर देते हैं. कहीं अपनी इच्छाओं की पूर्ति का ज़रिया बना देते हैं. और जब यह सब होता है, तब ही कई शिकायतें और नाकामियां जन्म लेती हैं. तब प्यार अपने ख़ूबसूरत वजूद से हटकर स्वार्थ बन जाता है. वह कुछ ऐसा हो जाता है जैसे कोई सौदागिरी. प्यार के अस्तित्व को डांवाडोल कर देता है. फिर भी प्यार तो होता ही है यह और बात है इसके एहसास जुदा होते हैं.
तमाम ऐसे शेरो-शायरियां प्यार पर लिखी गई हैं, जो हमें एक अजीब-सी ख़ुशी से सराबोर कर देती हैं. हम उस एहसास को जीने से लगते हैं. तब लगता है कि यही वह ख़ुशी है, जो हम ताउम्र ढूंढ़ते हैं, पर किसी को मिल जाती है और कोई यूं ही खाली रह जाता है. कुछ ऐसे ही चुनिंदा शेरो-शायरी को भी देखते हैं और उन शब्दों को, उन एहसास को जीते हैं…

कुछ तबीयत ही मिली थी ऐसी
चैन से जीने की सूरत ना हुई
जिसको चाहा उसे अपना ना सके
जो मिला उससे मुहब्बत ना हुई

आख़री हिचकी तेरे ज़ानूं पे आए
मौत भी मैं शायराना चाहता हूं

जब भी आता है मेरा नाम तेरे नाम के साथ
जाने क्यूं लोग मेरे नाम से जल जाते हैं..

थक गया मैं करते-करते याद तुझको
अब तुझे मैं याद आना चाहता हूं

कुछ दिलजलों के एहसास ऐसे भी हैं…

रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिए आ

अपनी तबाहियों का मुझे कोई ग़म नहीं
तुम ने किसी के साथ मोहब्बत निभा तो दी

Romantic Quotes

ज़माने ने तो अक्सर प्यार की खिलाफ़त की है. इसकी गहराई और सच्चाई को बहुत कम लोगों ने समझा है. प्यार अगर कामयाब बनाता है, तो प्यार कभी-कभी ग़मगीन ज़िंदगी जीने पर मजबूर. भी कर देता है. इसलिए कहते हैं ना कि प्यार को समझना बहुत मुश्किल भी है. किसी के लिए प्यार ज़िंदगीभर की ज़रूरत है, तो किसी के लिए प्यार बस एक इच्छापूर्ति का माध्यम. क्यों ना एक नई शुरुआत करें. प्यार को एक नए नज़रिए से देखें. इसमें प्यार को लेकर कोई भ्रम, धारणा या कोई पूर्वानुमान ना हो, बस एक ऐसी अनुभूति हो कि जिसे हम ईमानदारी से स्वीकार करें. उसमें कोई बनावट ना हो. उसमें कोई दिखावा ना हो. बस दिल से हो और जब दिल से कोई बात होती है, तो दिलों तक पहुंचती भी है.

यह भी पढ़ें: वैलेंटाइन स्पेशल- प्यार का फ़लसफ़ा… (Happy Valentine Day- Celebrities Define ‘Their Version OF Love’)

प्यार में हार्मोंस का कॉकटेल…
लेखिका हेलन फिशर का मानना है कि हमारे शरीर के हार्मोंस के कारण प्रेम अलग-अलग रूपों में हमसे जुड़ता है और यह काफ़ी मज़ेदार है, जैसे-
सेक्स के लिए टेस्टोस्टेरॉन और एस्ट्रोजन की अहम भूमिका रहती है, तो मन की चाहत, जहां हर पल अपने प्यार के बारे में सोचते रहने में न्यूरोट्रांसमीटर और मोनोअमीनस की. उनके अलावा डोपामाइन, नाॅरइपीनेफ्रिन, सेरोटोनिन, ऑक्सीटोसिन, वैसोप्रैसिनस जैसे हार्मोंस भी प्यार को लेकर शरीर में होनेवाले हलचलों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते रहे हैं. इनसे शरीर के अंदर हार्मोंस का अजीबोगरीब कॉकटेल बनता रहता है यानी प्यार के कारण भूख-प्यास ना लगना, आकर्षण, दीवानगी आदि.

Romantic Quotes

इस बार वैलेंटाइन डे पर हर प्यार करनेवाले यह कोशिश करें कि अपने प्यार को प्यार के एहसास से ही देखे-समझे, ना उसे हैसियत-ख़ूबसूरती से. तब जीने का फ़लसफ़ा भी ख़ूबसूरत हो जाता है और यही बोल दिल से निकलते हैं-
उजाले अपनी यादों के हमारे साथ रहने दो
न जाने किस गली में ज़िंदगी की शाम हो जाए…

ऊषा गुप्ता

Love Quotes
वैलेंटाइन्स यानी प्यार के इज़हार का मौसम, प्यार के इकरार का मौसम, किसी से इसरार का मौसम, तो कहीं पर ऐतबार का मौसम। ये रुत है रूमानी, ये समा है रंगीन, ये मौका है मुहब्बत का, तो क्यों न आप भी प्यार की इस बहार में खो जाएं। पिया से अपने दिल की बात तो न जाने कितनी बार कही होगी आपने, आज उन्हें इन रोमांटिक गानों के ज़रिये सुना और दिखा भी दीजिये. प्यार, मुहब्बत और आशिकी पर न जानें कितने शायरों और गीतकारों ने ख़ूबसूरत नज़्में लिखी हैं. बॉलीवुड के ऐसे ही एवरग्रीन रोमांटिक सॉन्ग्स से आप भी बनाएं अपना ये वैलेंटाइन्स कुछ और ख़ास, कुश और स्पेशल…
  1. पिया ऐसो जिया में- साहब बीबी और ग़ुलाम

2. रूप तेरा मस्ताना- आराधना 

3. बांहों में चले आओ- अनामिका 

4. ऐसे न मुझे तुम देखो- डार्लिंग डार्लिंग 

5. बड़े अच्छे लगते हैं- बालिका बधु 

6. पहला नशा पहला खुमार- जो जीता वही सिकंदर 

7. ये कहां आ गए हम- सिलसिला 

8. सांसों की ज़रुरत है जैसे- आशिकी 

9. एक लड़की को देखा- १९४२ ए लव स्टोरी 

 

10. तू ही रे- बॉम्बे

11. तेरे लिए- वीर ज़ारा  

12. ओ साथी रे- ओमकारा 

13. कैसे मुझे तुम मिल गईं- गजिनी 

14. पी लूं – वन्स अपॉन ए टाइम इन मुंबई 

15. तुम ही हो- आशिकी २ 

– अनीता सिंह

मेरी कोई उम्र नहीं… कोई सीमा नहीं… और मैं कभी मरता भी नहीं… जनाब! मुझे इश्क़ कहते हैं…

* हम उन्हीं का अश्क़ है, जिन्हें हम मुहब्बत करते हैं…

* किसी के द्वारा अत्यधिक प्रेम मिलने से आपको शक्ति मिलती है और किसी को अत्यधिक प्रेम करने से आपको साहस मिलता है.
– लाओ जू
* जिस प्यार में पागलपन न हो, वो प्यार प्यार नहीं है.
– अज्ञात
* प्रेम करना और प्रेम पाना इंसान के जीवन का सबसे महान सुख है.
– सिडनी स्मिथ
* प्रेम केवल ख़ुद को ही देता है और ख़ुद से ही पाता है. प्रेम किसी पर अधिकार नहीं जमाता, न ही किसी के अधिकार को स्वीकार करता है. प्रेम के लिए तो प्रेम का होना ही बहुत है.
– ख़लील जिब्रान
* मैं तुमसे इसलिए प्यार नहीं करता, जो तुम हो, बल्कि तुम्हारे साथ होने पर जो मैं हो जाता हूं, उसके लिए मैं तुमसे प्यार करता हूं.
– रे क्रॉफ्ट
* प्रेम के स्पर्श से हर व्यक्ति कवि बन जाता है.
– प्लेटो
* इश्क़ पर ज़ोर नहीं है ये वो आतिश ‘गालिब’ कि लगाए न लगे और बुझाए न बने
– मिर्ज़ा ग़ालिब
* इश्क़ की चोट का कुछ दिल पे असर हो तो सही दर्द कम हो या ज़ियादा हो मगर हो तो सही…
– जलाल लखनवी
* इक लफ़्ज़-ए-मोहब्बत का अदना ये फ़साना है सिमटे तो दिल-ए-आशिक़ फैले तो ज़माना है…
– जिगर मुरादाबादी
* प्यार ईश्‍वर का ही रूप है, किसी को सच्चा प्यार हो जाए, तो उसे और किसी चीज़ की ज़रूरत नहीं होती है…
* जब मैं तुम्हें मैसेज करता हूं, तब मैं तुम्हें मिस कर रहा होता हूं, लेकिन जब मैं तुम्हें मैसेज नहीं करता, तब मैं इंतज़ार कर रहा होता हूं कि तुम मुझे मिस करो.
* हरेक लव स्टोरी ब्यूटीफुल होती है, पर हमारी वाली मेरी फेवरेट है.
* मैं तुमसे बस एक दिन कम जीना चाहता हूं, ताकि मुझे कभी भी तुम्हारे बिना जीना ना पड़े.
* तुमसे मिलने से पहले मेरे लिए प्यार बस एक शब्द था…
* क्या तुम्हें पता है? मैं इस सवाल में जो दूसरा लफ़्ज़ है, उससे बेइंतहा मोहब्बत करता हूं…
* अपनी नींद खोने के लिए तुम मेरी पसंदीदा वजह हो.
* रोज़ सोचता हूं तुम्हें भूल जाऊं, रोज़ यही बात भूल जाता हूं.
* सच्चा प्यार भूत की तरह होता है, बातें तो सब करते हैं, पर देखा किसी ने नहीं.
* पुरुषों का प्रेम आंखों से और महिलाओं का प्रेम कानों से शुरू होता है.
* प्यार दुनिया की सबसे ख़ूबसूरत चीज़ है, जिसे देखा नहीं जा सकता, ना ही छुआ जा सकता है, इसे स़िर्फ दिल में महसूस किया जा सकता है.

– ऊषा गुप्ता

यह भी पढ़े: Shayeri

web-22

प्यार को शब्दों में नहीं बांधा जा सकता, ना ही कोई ख़ास दिन मुकर्रर किया जा सकता है. फिर भी मोहब्बत करनेवालों के लिए वैलेंटाइन डे ख़ास महत्व रखता है, जहां प्यार के इज़हार का ख़ुमार सिर चढ़कर बोलता है. फिल्मों ने तो इसे ख़ास मुक़ाम दिया है, फिर चाहे वो ′दिल तो पागल है’ हो या ‘बागबां’… उम्र की सीमा को दरकिनार कर प्यार को नया आयाम दिया गया. जब हमने फिल्मी सितारों से प्यार के बारे में जानना चाहा, तो हर किसी ने प्यार का अलग-अलग रूप और फ़लसफ़ा बयां किया. किसी के लिए प्यार ज़िंदगी है, तो किसी के लिए ताउम्र की कसक. आइए, प्यार के कई रंग, कई रूप से रू-ब-रू होते हैं.
शाहरुख ख़ान
मुझे इस बात की बेहद ख़ुशी है कि मेरे जीवन में गौरी (पत्नी) का प्यार और साथ है. गौरी की ईमानदारी और मुझे लेकर प्राउड फील करना दिल को छू जाता है. गौरी मेरे नाम-शोहरत और अचीवमेंट्स की वजह से मुझसे प्यार नहीं करती, बल्कि मैं उसे ख़ुश रखता हूं और हंसाता रहता हूं, ये सब बातें उसे मेरे क़रीब लाती हैं. वो मेरे जीवन के कई पॉज़ीटिव बदलाव की वजह रही है. उसने मुझे सलीके से रहना यानी कह सकते हैं कि ढंग से जीना सिखाया और मेरे जीवन में स्थिरता लाई है. वो मुझे डिप्लोमैटिक होने के बारे में भी बताती रहती है. एक-दूसरे की यही सब छोटी-छोटी बातें, ख़्याल रखना, ख़ुश रखना हमारी प्यार भरी दुनिया को ख़ूबसूरत बनाता है.
दीपिका पदुकोण
मैं पुराने स्कूल के दिनों के प्यार में विश्‍वास करती हूं, जो मैंने अपने पैरेंट्स और परिवार में फलते-फूलते और बढ़ते हुए देखा है. फिल्मों में और अपने क़िरदारों में मैं चाहे जैसे रहूं, पर व्यक्तिगत तौर पर मैं बहुत ट्रेडिशनल हूं. यही भावनाएं प्यार को लेकर भी हैं. प्यार के कारण ही हम बहुत कुछ सीखते और समझते हैं. जाने-अनजाने में प्यार हमें ज़िंदगी के कई फ़लस़फे सिखा जाता है.
आमिर ख़ान
प्रेम जब होने लगता है, तो आप ख़ुद में बदलाव महसूस करने लगते हैं. जब कभी अपने अतीत के पन्ने पलटता हूं, तो प्यार के अपने सभी पड़ावों को याद कर इमोशनल हो जाता हूं. टीनएज में जब मैं 12 साल का था, तब मैं अपने से बड़ी उम्र की लड़की से प्यार कर बैठा था. उस लड़की ने मुझसे सवाल किया था कि मैं प्यार के बारे में कितना जानता हूं. उसके बाद जब 14 साल का हुआ, तब फिर वही सुनने को मिला. लेकिन जब रीना (पहली पत्नी) से मिला और बात आगे बढ़ी, तब सही तौर पर प्रेम मैं समझ पाया. यह भी सच है कि प्यार जीवन के किसी भी दौर में हो सकता है. मोहब्बत एक सहज और बिन कहे अपने आप हो जानेवाली प्रक्रिया है. प्रेम को परिभाषित करना या फिर इसे शब्दों में बांधना बहुत ही मुश्किल है.
करीना कपूर
मेरी हमेशा से ही एक अच्छी और प्यारभरी ज़िंदगी की ख़्वाहिश रही, जिसे सैफ ने बख़ूबी पूरा किया. वे एक ख़ुशमिज़ाज प्रेमी ही नहीं, बल्कि ज़िम्मेदार और समझदार पति भी हैं. चाहे फिल्मी करियर हो या घर- उन्होंने हमेशा मुझे सपोर्ट किया. उनका यही प्यार मुझे उनके और भी क़रीब ले आता है.
अक्षय कुमार
प्यार सही मायने में ज़िंदगी है. इसके बिना क्या जीना…? और ज़िंदगी एक ऐसा सफ़र है, जिसको जीते हुए हम हर दौर से गुज़रते हैं, मगर ख़ुश रहकर और हंसते रहना सही मायने में ज़िंदगी है.
विद्या बालन
जब आप किसी से प्यार करते हैं, तो आपको उसकी हर बात अच्छी लगने लगती है. सिद्धार्थ (पति) के साथ दोस्ती हुई, फिर दोस्ती कब प्यार में बदल गई पता ही नहीं चला. मुझे बेहद ख़ुशी होती है यह देखकर कि मुझसे ज़्यादा उन्हें मेरी ख़ुशियों का ख़्याल रहता है. मैंने अपने क़रीब के कई शादीशुदा बहुत ही प्यार करनेवाले लोगों को देखा है, जब सिद्धार्थ को ऐसा करते देखती हूं, तो उन पर बहुत प्यार आता है. यह हमारा प्यार ही तो है, जो हम कितना भी बिज़ी शेड्यूल हो, एक-दूसरे के साथ व़क्त गुज़ारने के लिए समय निकाल ही लेते हैं.
रितिक रोशन
मैं अपनी ज़िंदगी में किसी एक शख़्स से पूरी ज़िंदगी प्यार करनेवाले कॉन्सेप्ट में विश्‍वास रखता हूं. मैं ख़ुद को एक इनक्योरेबल रोमांटिक इंसान समझता हूं. मेरा यह भी मानना है कि छोटी-छोटी बातें प्यार और रिश्ते में बड़ा अंतर पैदा कर देती हैं. फिर भी मेरा यह मानना है कि प्यार एक जुनून है, हद तक ग़ुजर जाने का जज़्बा है.
सोनम कपूर
हर इंसान के दिल में प्यार की चाहत तो होती ही है. मुझे नहीं लगता कि आपको केवल एक बार ही प्यार होता है. मैंने देखा है कि कितने ही लोगों को कई बार और ज़िंदगी के अलग-अलग पड़ाव पर प्यार हुआ है. इसलिए प्यार हो जाने का कोई फिक्स फॉर्मूला नहीं है. फ़िलहाल मेरी प्रेम कहानी तो सफल हुई नहीं है और मैं अकेली हूं. लेकिन इतना तो तय है कि प्यार हर किसी को होता है.
रणबीर कपूर
व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए प्यार बहुत ख़ास और ज़िंदगी का ज़रूरी हिस्सा है. यूं तो ज़िंदगी में बहुत सारी आम बातें होती रहती हैं, लेकिन प्यार उन सब में सबसे जुदा यानी एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी है. प्यार को लेकर मेरे कई सपने हैं और मैंने बहुत कुछ सोचा भी है, साथ ही मुझे उम्मीद है कि मैं इसे पाकर रहूंगा.
प्रियंका चोपड़ा
मैं प्यार में बेहद विश्‍वास करती हूं. मेरी नज़र में प्यार निःस्वार्थ और पाक़ होता है. वैसे प्यार के मामले में सही निर्णय दिल ही लेता है. जब दो लोग एक-दूसरे का ख़्याल रखते हैं, तब वे मिलकर हमेशा एक सही निर्णय लेते हैं. एक तरह से देखें, तो मेरे नज़रिए से प्यार पूरी तरह से सामंजस्य और समझौते की नींव पर टिका होता है.

web-333

शाहिद कपूर
मैं तो बस इतना जानता हूं कि प्यार दिल से होता है. जब कोई किसी के प्यार में दीवानगी की हद से गुज़रने लगता है, तो उसके लिए दूसरी सभी बातें बेमानी-सी हो जाती हैं. प्यार एक नशा और बेताबी भी है. मैंने महसूस किया है कि जब हम प्यार में होते हैं, तब हम पूरी तरह अपने प्यार की ख़ुमारी में गुम रहते हैं. हर बात को लेकर बेहद जज़्बाती हो जाते हैं. हर पल मिलने की बेचैनी और बेकरारी रहती है. पर प्यार अपने प्योर फार्म में पूरी तरह से दिल से होना चाहिए.

रानी मुखर्जी
मैं तो सोचती हूं कि प्यार पल भर में हो जानेवाली एक ख़ूबसूरत घटना है. इसमें इतनी ताक़त होती है कि एक-दूसरे का साथ ज़िंदगीभर निभाने का एहसास होने लगता है और यही इसकी सबसे बड़ी ख़ासियत है. वैसे मैं पहली नज़र में प्यार वाली बात पर यक़ीन नहीं करती. क्योंकि पहली नज़र में तो आप किसी पुरुष की तरफ़ आकर्षित भर होते हो. प्यार तो समय और बार-बार साथ की चाह रखता है. साथ व़क्त बिताने से ही तो प्यार पनपता, फलता-फूलता और बढ़ता है. तभी हम समझ पाते हैं कि एक-दूसरे से हम कितना प्यार करते हैं.
इमरान ख़ान
ज़िंदगी जीने के लिए प्यार बेहद ज़रूरी है. मैं और अवंतिका (पत्नी) बारह साल से एक साथ हैं. मैं उन पर बहुत डिपेंड रहता हूं. प्यार में हर एक का रिलेशनशिप अलग होता है. दो लोगों के रिश्ते की बात किसी तीसरे व्यक्ति की समझ में नहीं आएगी. इसलिए आप किसी को सलाह भी नहीं दे सकते कि उसे रिलेशनशिप मेंटेन करने के लिए क्या करना चाहिए. ये आपको ख़ुद समझना पड़ता है. प्यार से जुड़ी भावनाएं और सोच हर किसी की अलग-अलग होती हैं.
सोहा अली ख़ान
मैं और कुणाल एक-दूसरे को लेकर बहुत पज़ेसिव हैं. वैसे भी प्यार में पज़ेसिवनेस तो रहता ही है. आप अपने प्यार को किसी के साथ बांट नहीं सकते. कुणाल को फिल्मों में मेरा दूसरे कलाकारों के साथ रोमांटिक सीन बिल्कुल भी पसंद नहीं. उसे ऐसा देखकर बहुत ग़ुस्सा आता है. वो नहीं चाहता कि कोई और मेरे इतने क़रीब आए. यही हाल मेरा भी है, जब मैं कुणाल को दूसरी हीरोइन्स के साथ लव सीन करते देखती हूं. दरअसल, प्यार में आप इस कदर पज़ेसिव हो ही जाते हैं, लेकिन प्रोफेशन और कहानी की डिमांड के कारण ऐसे सीन हमें करने पड़ते हैं.
समीर कोचर
प्यार एक दोस्ती है. मेरे लिए वो साथ होने का एहसास है. प्यार दिल से होता है, चाहे वो दोस्त हो, पत्नी हो या परिवार. किसी से दिल से प्यार करना ज़िंदगी में एक इंसान को और भी अच्छा बनाता है. प्यार एक ऐसी पवित्र भावना है, जिसे हर इंसान को महसूस करना चाहिए. ज़िंदगी में प्यार ही है, जो एक इंसान को दूसरे इंसान से जोड़ता है.
प्राची देसाई
प्यार मेरे लिए भावनाओं का समंदर है. हां, मैं किसी को प्यार करती हूं, पर इस बारे में इतना ही कहूंगी कि कुछ चीज़ें बहुत व्यक्तिगत होनी चाहिए. मेरा सोचना था कि मैं मिस्ट्री बनी रहूं, पर मैं यह भी नहीं चाहती कि कोई मुझे बोरिंग समझे. मैं प्यार-हार्टब्रेक इन सबसे गुज़री हूं. मेरा दिल कई बार टूटा है और जब ऐसा होता है, तो मैं ख़ूब सारी चॉकलेट्स खाती हूं. इमोशनल शोज़ देखती हूं. मेरे दोस्त मुझे ज़बरदस्ती बाहर घूमने-फिरने के लिए ले जाते हैं. फिर भी चाहे जो हो, प्यार होना एक लवली फीलिंग है, जिसे हर किसी को जीना चाहिए.
सुशांत सिंह राजपूत
मेरे ख़्याल से आप रिलेशनशिप में रहें या ना रहें, आपमें इतना कॉन्फिडेंस होना चाहिए कि आप अपने प्यार को क़बूल कर सकें और उसके बारे में कह सकें. यदि कोई ऐसा नहीं करता या छुपाता है, तो बेहतर होगा कि आप प्यार ही न करें.
शरमन जोशी
यदि आप अपने साथी के साथ दोस्त की तरह रहते हैं, तो प्यार कभी ख़त्म नहीं होता. मैं और प्रेरणा (पत्नी) एक-दूसरे को बरसों से जानते हैं. बच्चे हुए काफ़ी व़क्त बीता, पर एक-दूसरे के लिए हमारे प्यार में कोई बदलाव नहीं आया है, क्योंकि हम एक दोस्त की तरह रहे हैं यानी आप कह सकते हैं कि प्यार दोस्ती है.
रेखा
मैं किसी को प्यार करती हूं, मुझे इसके अलावा और किसी बात से मतलब कभी नहीं रहा. हम सभी के जीवन में प्यार काफ़ी मायने रखता है. इस एहसास में इतनी ख़ुमारी रहती है कि कोई अपना पूरा जीवन अपने प्यार पर कुर्बान कर सकता है. आप किसी को चाहते हैं और कोई आपको, यह एहसास आपके जीने का सबब बन जाता है. और हां, प्यार में पाना ही सब कुछ नहीं होता. प्यार करने और उसे जी लेने की ख़ुशी ही आपकी ज़िंदगी में असीम तृप्ति और संतुष्टि ला देती है. मेरे लिए प्यार, अनकहे, अनजाने जज़्बातों से भरा वो समंदर है, जिसके लिए कभी-कभी पूरी ज़िंदगी भी कम पड़ जाती है.
– ऊषा गुप्ता