Vikas Bahl

फिल्मः सुपर 30
कलाकारः रितिक रोशन, मृणाल ठाकुर, पंकज त्रिपाठी, जॉनी लीवर
स्टारः 3

Super 30 Reviews

यह तो आपको भी पता है कि सुपर 30 मैथमेटिशियन आनंद कुमार की बायोपिक है. जिसमें बताया गया कि आनंद किस तरह गरीब लेकिन होनहार बच्चों को आईआईटी में प्रवेश के लिए तैयारी करवाते हैं. फिल्म में आनंद कुमार के जीवन संघर्ष और उनके पढ़ाने के रोचक तरीक़ों को दिखाया गया है. हालांकि किसी की बायोपिक को पूरी ईमानदारी के साथ पर्दे पर दिखाना आसान नहीं होता, लेकिन विकास बहल ने अच्छी कोशिश की है. हां, कहीं-कहीं कहानी थोड़ी बनावटी लगती है. ख़ासतौर पर रितिक का बिहारी एक्सेंट

Super 30 Reviews

अगर यह कहा जाए कि सुपर 30 रितिक रोशन की टॉप 3 परफॉर्मेंसेज़ में से एक है, तो अतिश्योक्ति नहीं होगी. कल्पना कीजिए एक ऐसी फिल्म की जिसमें रितिक डांस नहीं करेंगे, बल्कि आपको इमोशनल करेंगे.  उनकी डायलॉग डिलेवरी सुनकर आपका मुंह खुला का खुला रह जाएगा. एक सीन में जब वे साइकिल चलाकर अपने पिता की जान बचाने की कोशिश करते हैं. एक सीन में जब उन्हें रेल्वे ट्रैक से बांध दिया जाता है और ट्रेन तेज़ी से उनके पास आ रही होती है. एक सीन जब उन्हें एहसास होता कि इस भौतिकवादी दुनिया में बदलाव लाने की ज़रूरत है. रितिक का अभिनय कमाल का है. हां, फिल्म में रितिक को आनंद कुमार की तरह दिखने के लिए रितिक का मेकअप बहुत कंविन्शिंग नहीं लगता. रितिक को सांवला दिखाने के लिए मेकअप को किया गया है, लेकिन उनकी आंखों के रंग का क्या…

चाहे आप मैथमेटिशियन आनंद कुमार को जानते हों या नहीं जानते हों, लेकिन आपको यह फिल्म ज़रूर देखनी चाहिए. हमारे देश की समस्या यह है कि हम ऐसे लोगों के बारे में जानते हैं जो करते कम और चिल्लाते ज़्यादा हैं, ऐसे लोगों को नहीं जो चुपचाप अपना काम करते हैं. फिल्म की एक्ट्रेस मृणाल ठाकुर फिल्म में न सिर्फ अच्छी दिखी हैं, बल्कि उन्होंने अच्छी एक्टिंग भी की है. जॉनी लीवर, विजेन्द्र सक्सेना, अमित साध और पंकज त्रिपाठी की एक्टिंग भी कमाल की है. इस फिल्म के सरप्राइज़ पैकेज सीआईडी के अभिजीत बल्कि आदित्य श्रीवास्तव हैं. अभिजीत के फैन्स स्क्रीन पर अपने चेहते एक्टर को देखकर खुश हो जाएंगे. फिल्म के निर्देशक विकास बहल को आनंद कुमार के बायोपिक के लिए फुल मार्क्स मिलने चाहिए. विकास ने दर्शकों को पूरी तरह से बांधकर रखा है. एक मिनट भी आप फिल्म से नज़रें नहीं हटा पाएंगे.

ये भी पढ़ेंः ‘मैं मीडिया से माफी नहीं मांगूंगी’: कंगना रनौत (I Will Not Say Sorry To Anyone: Kangana Ranaut)

पिछले कुछ महीनों से अटकलें लग रही थीं कि रितिक रोशन पटना के मशहूर मैथेमेटिशियन आनंद कुमार की भूमिका निभाएंगे या नहीं? अंततः  इस ख़बर की पुष्टि हो गई है. रितिक आनंद कुमार की बायोपिक में काम करेंगे. इस फिल्म का नाम सुपर 30 है और इसे विकास बहल निर्देशित करेंगे.

Hrithik Roshan Will Play Super 30's Anand Kumar

Hrithik Roshan Will Play Super 30's Anand Kumar

 

विकास बहल इससे पहले कंगना रनोट की ‘क्वीन’ को डायरेक्ट किया था. यह पहला मौका होगा जब रितिक रोशन किसी बायोपिक को करेंगे. इससे पहले वे ‘जोधा अकबर’ और ‘मोहनजोदाड़ो’  जैसी पीरियड फिल्में कर चुके हैं. यह ख़बर ट्विटर पर छाई हुई है. फैन्स इस न्यूज़ से बहुत ख़ुश हैं और वे अपना उत्साह ट्विट के जरिए कुछ इस तरह जाहिर कर रहे हैं.

https://twitter.com/trendinaliaIN/status/912173249282293761

आपको बता दें कि आनंद कुमार पटना के रहने वाले मैथेमेटिशियन हैं. कुमार पटना में आईआईटी प्रतिभागियों के लिए ‘सुपर 30’ नाम से कोचिंग चलाते हैं. वह आईआईटी-जेईई के लिए मुख्य तौर पर आर्थिक रूप से पिछड़े छात्रों को प्रशिक्षित करते हैं. उन्होंने 2002 में इस कोचिंग की शुरुआत की थी.

यह भी पढ़ेंः शाहिद कपूर का रॉयल अंदाज़, ‘पद्मावती’ के महारावल रतन सिंह से मिलिए!

कुछ दिन पहले वे अमिताभ बच्चन के साथ कौन बनेगा करोड़पति की हॉट सीट पर भी नजर आए थे और उन्होंने 25 लाख रु. जीते थे. उन्होंने उस समय बताया था, ‘पिताजी चाहते थे कि हम और पढ़े लिखें, लेकिन उनका अचानक देहांत हो गया. इसके बाद हमारे घर की हालत बिगड़ गई. तब मां ने पापड़ बनाना शुरू किया. मैं और मेरा भाई पापड़ बेचने जाते थे.’ सुपर 30 के अभी तक 450 में से 390 स्‍टुडेंट आईआईटी में चुने जा चुके हैं.

फिल्म और टीवी जगत से जुड़ी ख़बरों के लिए यहां क्लिक करें

hrithik-roshan_650x488_71436328329 (1)

ऋतिक रोशन अब बनेंगे टीचर और पढ़ाएंगे मैथ्स. जी हां ये बिल्कुल सच है. ये पहली बार होगा जब ऋतिक किसी बायोपिक में काम करेंगे. विकास बहल की फिल्म सुपर 30 में ऋतिक मैथमैटिशियन के रोल में नज़र आ सकते हैं. यह फिल्म पटना के टीचर आनंद कुमार की लाइफ पर आधारित होगा, जो सुपर 30 प्रोग्राम चलाते हैं. हिंदी मीडियम से पढ़े और गरीबी झेल चुके आनंद कुमार हर किसी के लिए एक मिसाल हैं, जिन्होंने गरीब तबके से आना वाले 30 ख़ास बच्चों के लिए एक कोचिंग इंस्टिट्यूट की शुरुआत की, जिसका नाम उन्होंने रखा है रामानुजन स्कूल ऑफ मैथमेटिक्स. आनंद 30  बच्चों को फ्री में आईआईटी की परीक्षा के लिए तैयार करते हैं.