Tag Archives: warning sings

सेहत का हाल बताता है मुंह (What Your Mouth Says About Your Health)

चाहे होंठों का फटना हो या फिर मसूड़ों में सूजन, ये मुंह (Mouth) के स्वास्थ्य (Health) से जुड़े कुछ ऐसे संकेत हैं, जिन्हें नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए. लोग कहते हैं कि आंखें मन का दर्पण होती हैं, लेकिन मुंह भी हमारे स्वास्थ्य के बारे में बहुत-कुछ बताता है. हम आपको कुछ ऐसे ही मुंह से जुड़े संकेतों के बारे बता रहे हैं, जिन पर समय रहते ग़ौर करना ज़रूरी होता है.

Mouth

फटे हुए होंठ
भले ही आपको लगता है कि आपका भोजन संतुलित है, लेकिन अगर आपके होंठ अक्सर फटे हुए रहते हैं तो आपके खाने में पोषक तत्वों की कमी हो सकती है. अगर आपके होंठ अचानक रूखे हो जाएं और उनमें दरारें पड़ जाएं तो इसकी वजह आपके खाने में ज़िंक, विटामिन बी3 और विटामिन बी6 की कमी हो सकती है. इस कमी को पूरा करना आसान है. अपने खाने में रेड मीट शामिल कीजिए. रेड मीट आयरन और ज़िंक का बेहतरीन स्रोत है. इसके अलावा सैल्मन मछली, अंडे और हरी पत्तेदार सब्ज़ियों में भी आयरन, ज़िंक और बी विटामिन्स पाए जाते हैं. बेहतर होगा कि डॉक्टर से मिलकर तसल्ली कर लें कि आपके शरीर में कौन-से विटामिन्स की कमी है और अपने खाने में उन चीज़ों को शामिल करने की कोशिश करें.

Mouth

मसूड़ों से ख़ून
मसू़ड़ों से जुड़ी बीमारियां हृदय संबंधी रोग व डायबिटीज़ के शुरुआती संकेत हो सकते हैं. इसी तरह मसू़ड़ोंें में सूजन पेट संबंधी समस्या का भी संकेत हो सकता है, जो मदिरापान व एस्प्रिन जैसी दवाइयों के अत्यधिक सेवन के कारण होता है. इसके अलावा पेट में गुड व बैड बैक्टीरिया के असंतुलन के कारण एलर्जी, टाइप 2 डायबिटीज़, मोटापा और यहां तक डिमेंशिया जैसी मानसिक समस्याएं भी होती हैं. इनसे बचने के लिए अपने खाने में संतुलित मात्रा में प्री व प्रोबायोटिक्स शामिल करें. इसके अलावा दवाओं व शराब का सेवन करते समय भी सावधानी बरतना ज़रूरी है.

मसूड़ों में सूजन
अगर सामान्यतौर पर आपका ओरल हेल्थ अच्छा रहता हो और अचानक आपके मसू़ड़ों में सूजन आ जाए या ख़ून निकलना शुरू हो जाए तो ये प्रेग्नेंसी का संकेत हो सकता है. गर्भावस्था के दौरान ऐसा होना सामान्य है, क्योंकि उस दौरान हार्मोनल चेंजेज के कारण मसू़ड़ों के टिशूज़ में रक्त का बहाव बढ़ जाता है, जिसके कारण मसू़ड़ें ज़्यादा संवेदनशील हो जाते हैं और उनमें सूजन बढ़ जाती है. इसके अलावा गर्भावस्था के दौरान होनेवाले हार्मोनल बदलाव के कारण भी शरीर की बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता कम हो जाती है, जिसके कारण दांतों में सड़न की समस्या भी हो सकती है. सामान्य अवस्था में भी मसू़ड़ोंें में सूजन की समस्या दांत में सड़न के कारण होती है.

Dental Checkup

दांतों में दरार या दांतों का टूटना
इस समस्या को आमतौर पर उम्र से जोड़कर देखा जाता है. लोगों को लगता है कि स़िर्फ उम्रदराज़ लोगों के दांत ही टूटते हैं, लेकिन ऐसा नहीं है. यह समस्या किसी भी उम्र में हो सकती है. ऐसा पेट में मौजूद एसिड के कारण होता है. जो दांतों को इनैमल को ख़त्म कर देता है. इस समस्या को गैस्ट्रोसोफैजियल रिफल्स कहते हैं. वैसे यह बीमारी आमतौर पर मोटे व उम्रदराज़ लोगों को होती है. शोधों से यह सिद्ध हुआ है कि यह समस्या होने पर अगर समय रहते इलाज न कराया जाए तो आगे चलकर गले, टॉन्सिल या साइनस का कैंसर होने का ख़तरा बढ़ जाता है.

मुंह में घाव
यह समस्या छोटे-मोटे कारणों, जैसे-बहुत गर्म चीज़ खाने या फिर जोर से ब्रश करने के कारण हो सकती है, लेकिन यदि घाव एक-दो हफ़्तों के अंदर ठीक न हो तो चेकअप करवाना बेहतर होता है, क्योंकि ऐसा ओरल कैंसर के कारण भी हो सकता है. ओरल कैंसर में बचने के चांसेज़ 35 फ़ीसदी ही होते हैं, लेकिन ऐसा अंतिम स्टेज पर पता चलने के कारण होता है.धूम्रपान करनेवालों को ओरल कैंसर होने का ख़तरा सबसे अधिक होता है, लेकिन 4 में से 1 ओरल कैंसर पेशेंट नॉन स्मोकर्स होते हैं. ओरल कैंसर के कारण मुंह में होनेवाले घावों के चारों ओर लाल या सफेद बॉर्डर बन जाता है. कभी-कभी ये जीभ के पीछे भी होते हैं.

मसू़ड़ों में ग्रोथ
अगर आप दिल संबंधी बीमारी के लिए दवा ले रहे हैं और आपको अचानक एहसास हो कि आपकी दांतों के ऊपर के मसूड़े अचानक बढ़ रहे हैं तो डॉक्टर से इस बारे में बात करें. यह दवाओं में फेरबदल का संकेत हो सकता है, क्योंकि कुछ दवाओं के कारण मसू़ड़ों के टिशूज़ का ग्रोथ बढ़ जाता है, जिसके कारण ब्रश करने में परेशानी होती है और दांत संबंधी परेशानी बढ़ जाती है.

ये भी पढ़ेंः पेट फूलने की समस्या के कारण व उपचार (Bloating: Causes And Prevention Tips)

मुंह का सूखना
पानी पीने के बाद भी मुंह सूखने की परेशानी हो तो यह डायबिटीज़ का संकेत हो सकता है.

ज़रूरत से ज़्यादा लार आना
मुंह में ज़्यादा लार बन रही हो तो इसका कारण पाचन प्रक्रिया में गड़बड़ी हो सकती है. इसे नज़रअंदाज़ न करके इलाज कराना चाहिए.

ऊपरी दाढ़ में दर्द
जब ऊपरी दाढ़ में दर्द हो तो इसका कारण साइनसाइटिस हो सकता है. इसके कारण गाल की हड्डी में संक्रमण हो जाता है. इससे जबड़ों में सूजन आ जाती है, नतीजतन असहनीय दर्द होता है.

मसूड़ों में दर्द
मुंह या मसू़ड़ों में दर्द स्ट्रेस का संकेत हो सकता है. स्ट्रेस के कारण कई तरह की मानसिक और शारीरिक परेशानियां होती हैं और आपका डेंटिस्ट ही बता सकता है कि मसू़ड़ों में दर्द की वजह क्या है. मसू़ड़ों में दर्द साइनस, दांत में दर्द या अन्य किसी बीमारी के कारण हो सकता है. इतना ही नहीं, मसू़ड़ों में दर्द व परेशानी हार्ट अटैक का लक्षण भी हो सकता है.

मुंह से बदबू
आमतौर पर मुंह दुर्गंध का कारण ग़लत खानपान होता है, लेकिन मसू़ड़ों में बीमारी के कारण भी मुंह से बदबू आ सकती है. दांत व मसू़ड़ों के अलावा मुंह से बदबू का कारण साइनस इंफेक्शन, क्रॉनिक लंग्स इंफेक्शन, लिवर या किडनी संबंधी बीमारी, गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याएं या डायबिटीज़ भी हो सकता है.
ये भी पढ़ेंः जानिए सीने में जलन के लक्षण, कारण, उपचार और परहेज (Heartburn Causes, Symptoms, Diagnosis, Treatment And Prevention)