Tag Archives: weight control

इन 10 daily habits से बढ़ता है मोटापा(10 daily habits that are making you fat)

weight loss tips

फिट रहने के लिए हम क्या नहीं करते- योगा, एक्सरसाइज़, हेल्दी डायट… लेकिन तमाम कोशिशों के बावजूद यदि वज़न कम नहीं हो रहा, बल्कि बढ़ता ही जा रहा है, तो अपनी कुछ आदतों पर ध्यान दें, क्योंकि कुछ बुरी आदतें भी मोटापा बढ़ाती हैं.

weight loss
1. टीवी देखते हुए खाना

यदि आप भी ऐसा करती हैं, तो आप कितना और क्या खा रही हैं? इस बात पर आपका ध्यान नहीं रहता, जिसके कारण अक्सर आप ज़्यादा खा लेती हैं और वज़न बढ़ जाता है.
नुक़सान
– एक दिन में दो घंटे से ज़्यादा टीवी देखने से मोटापा बढ़ने की संभावना 20 प्रतिशत बढ़ जाती है.
– टीवी पर लगातार रोने-धोने वाले सीरियल्स देखने से हार्ट और ब्लड प्रेशर से संबंधित समस्याएं भी हो सकती हैं.
क्या करें?
टीवी देखते समय बीच-बीच में जॉगिंग, स्ट्रेचिंग, ब्रीदिंग एक्सरसाइज़ आदि करने से मोटापा घटाया जा सकता है.

2. लंबे समय तक भूखे रहना

जल्दी-जल्दी में घर से निकलते वक़्त कई बार हम भूखे पेट ही निकल जाते हैं. घर पर रहकर भी कई बार हम लंबे समय तक भूखे रहते हैं. ऐसे में लंबे अंतराल के कारण शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है.
नुक़सान
– शरीर में ब्लड शुगर की मात्रा कम होने की संभावना बढ़ जाती है.
– ब्रेन को सही समय पर ग्लूकोज़ न मिलने के कारण स्वभाव चिड़चिड़ा हो जाता है.
– लंबे समय तक खाली पेट रहने के बाद ढेर सारा खाना खाने से एसिडिटी, आलस्य आदि की शिकायत भी हो सकती है.
क्या करें?
समय पर भोजन करें और एक निश्‍चित डायट लें.

3. जल्दी-जल्दी खाना

खाने को बिना चबाए या जल्दी-जल्दी खाने से भी मोटापा बढ़ने की संभावना रहती है. ऐसा करने से पेट तक यह मैसेज नहीं पहुंच पाता कि आप क्या खा रही हैं? इससे पाचन क्रिया प्रभावित होती है. इसके अलावा पेट भर गया है या नहीं? इसकी सूचना भी दिमाग़ तक देर से पहुंचती है और आप ज़रूरत से ज़्यादा खा लेती हैं.
नुक़सान
– पाचन शक्ति कमज़ोर हो जाती है.
– पेट दर्द की शिकायत भी हो सकती है.
क्या करें?
भूख के अनुसार सीमित मात्रा में खाएं. खाना खाते समय कोई और काम न करें. अगर थोड़ी देर बाद फिर भूख लगे तो फल या हेल्दी स्नैक्स खा सकती हैं.

4. ब्रेकफास्ट न करना

रात के भोजन और ब्रेकफास्ट के बीच 8 से 12 घंटों का अंतराल दिमाग़ और मसल्स को कमज़ोर कर देता है. ऐसे में सुबह का नाश्ता न करना या स़िर्फ एक कप चाय या कॉफी पीना मोटापा बढ़ाता है.
नुक़सान
– पाचन शक्ति कमज़ोर हो जाती है.
– कैलोरीज़ घटने की बजाय बढ़ जाती हैं.
– ऐसा करने से आप ऐनेमिक भी हो सकती हैं.
– शरीर में एनर्जी कम हो जाती है.
क्या करें?
हेल्दी ब्रेकफास्ट ज़रूर लें. दिनभर के अन्य भोजन की तुलना में ब्रेकफास्ट में हेल्दी चीज़ों की मात्रा ज़्यादा रखें.

5. पर्याप्त नींद न लेना

रात को देर से सोना और सुबह जल्दी उठ जाना भी मोटापे का कारण है.
नुक़सान
– रात को खाया गया खाना पचता नहीं है.
– इंसोम्निया (अनिद्रा) की शिकार हो सकती हैं.
– शरीर का एनर्जी लेवल कम हो जाता है.
– दिमाग़ विचलित होने के कारण डिप्रेशन भी हो सकता है.
क्या करें?
अपना हर काम सही समय पर करने की कोशिश करें, ताकि आप समय पर सो और उठ सकें. प्रतिदिन 7-8 घंटे की नींद ज़रूर लें.

6. फास्ट फूड का सेवन

मोटापा बढ़ने का यह भी एक मुख्य कारण है. फास्ट फूड में कैलोरीज़ की मात्रा बहुत ज़्यादा होने के कारण इनका सेवन करने से मोटापा बढ़ता है.
नुक़सान
– हार्ट संबंधित बीमारियां हो सकती हैं.
– डायबिटीज़ होने का डर रहता है.
क्या करें?
हफ़्ते में स़िर्फ एक बार फास्ट फूड खाएं और एक्स्ट्रा चीज़ का सेवन न करें. तले हुए फास्ट फूड की बजाय रोस्टेड या बेक्ड फास्ट फूड खाएं.

7. खाना खाने के तुरंत बाद सो जाना

रात को भोजन देर से करना, ज़्यादा मात्रा में खाना व खाने के तुरंत बाद सो जाना भी मोटापे का एक कारण है. ऐसा करने से भोजन पच नहीं पाता और शरीर में फैट बढ़ता है.
नुक़सान
– खाना ठीक से न पचने के कारण गैस की शिकायत हो सकती है.
– तोंद निकलने लगती है.
क्या करें?
खाना खाने के बाद थोड़ा टहलना खाने को पचाने में मदद करता है. खाने के बाद हल्की-फुल्की एक्सरसाइज़ करना भी फायदेमंद है.

8. तनाव में ज़्यादा खाना

मानसिक रूप से परेशान होने पर ज़्यादा खाना खाकर अपने ग़ुस्से को ज़ाहिर करना भी मोटापा बढ़ाता है.
नुक़सान
– हाई कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर और गैस्ट्रोएनटाइटिस होने की संभावना बढ़ जाती है.
क्या करें?
तनाव की स्थिति में ज़्यादा खाना खाकर ग़ुस्सा निकालने से अच्छा है वही ग़ुस्सा एक्सरसाइज़ करके निकाला जाए.

9. अल्कोहल (शराब) का सेवन

कभी-कभी हेल्दी डायट लेने और एक्सरसाइज़ करने के बावजूद वज़न घटने की बजाय बढ़ जाता है. इसका एक कारण हाई कैलोरीज़ युक्त अल्कोहल का सेवन हो सकता है.
नुक़सान
– लिवर में इंफेक्शन हो सकता है.
– हार्ट अटैक भी हो सकता है.
– ब्रेन से संबंधित बीमारियां हो सकती हैं.
क्या करें?
अल्कोहल का सेवन न करें.

10. दिनभर बैठकर काम करना

ऑफिस में लगातार बैठकर काम करने से भी वज़न बढ़ता है.
नुक़सान
– शरीर में फैट की मात्रा बढ़ जाती है.
– डायबिटीज़ होने की संभावना बढ़ जाती है.
– हृदय संबंधी रोग हो सकते हैं.
– ज़्यादा वज़न के कारण बैक बोन कमज़ोर हो सकती है.
क्या करें?
काम के बीच में 2-3 बार कॉफी या बाथरूम जाने के बहाने उठकर अपने शरीर को रिलैक्स करें. लिफ्ट की बजाय सीढ़ियों का इस्तेमाल करें और फोन पर बात करते समय वॉक करें.