Tag Archives: weight loss

Gorgeous: करीना कपूर खान लौट रही हैं शेप में, देखें पिक्चर्स (Pictures: Mommy Kareena Kapoor Khan snapped at Gym)

Kareena Kapoor Khan

Kareena Kapoor Khan

मॉमी बनने के करीना कपूर खान अब पोस्ट प्रेग्नेंसी वज़न को कम करके दोबारा शेप में आने के लिए ख़ूब मेहनत कर रही हैं. डायट से लेकर वर्कआउट तक हर बात का ख़्याल रख रही हैं बेबो. एक इंटरव्यू में करीना ने कहा था कि उन्होंने टारगेट सेट कर रखा है कि उन्हें 7 महीनों में उन्हें अपना 18 किलो वज़न घटाना है, जो प्रेग्नेंसी के दौरान बढ़ गया था. देखें जिम से निकलते वक़्त करीना की ये तस्वीरें.

Kareena Kapoor Khan Kareena Kapoor KhanKareena Kapoor Khan Kareena Kapoor Khan

वैसे वर्कआउट का असर अब दिखने भी लगा है, करीना ने काफ़ी वज़न घटा लिया है. करीना एक इवेंट पर डेनिम आउटफिट में नज़र आईं, जिसमें वो बेहद फिट लग रही हैं. जल्द ही करीना वीरे दी वेडिंग फिल्म की शूटिंग शुरू करेंगी.

Kareena Kapoor Khan

Kareena Kapoor Khan Kareena Kapoor Khan

वेटलॉस के 16 ईज़ी और इफेक्टिव होम टिप्स(16 Easy and Effective Home Tips for Fast Weight Loss)

weight loss home tips
फास्ट और नेचुरली वज़न घटाना चाहते हैं तो ट्राई करें ये ईज़ी व इफेक्टिव होम रेमेडीज़.

woman-pushups

1 पत्तागोभी एक निगेटिव कैलोरी फूड है. यह बॉडी फैट को बर्न करने में सहायक होता है. अतः अपने डेली डायट में पत्तागोभी शामिल करें. पत्तागोभी को सलाद में मिलाकर खाएं.
2 ग्रीन टी वज़न कम करने में सहायक है. रोज़ाना कम से कम 3 कप ग्रीन टी का सेवन करें.
3 रोज़ाना सुबह के नाश्ते के साथ दो टमाटर खाएं. यह आपके कैलोरी इनटेक को कम करता है यानी ऐसा करने से आप कम कैलोरी ग्रहण करेंगी.
4 सुबह उठने के बाद सबसे पहले कुनकुने पानी में नींबू का रस और शहद मिलाकर पीएं. वज़न कम करने का यह बेहद लोकप्रिय नुस्ख़ा है.
5 2-3 महीने तक रोज़ सुबह 10-12 करीपत्ते खाएं. यह नुस्ख़ा फैट गलाने में सहायक है.
6 कॉम्प्लेक्स कार्बोहाइड्रेट यानी चावल, आलू आदि का सेवन कम से कम करें.
7 खाने के साथ पुदीने की चटनी का सेवन करें. पुदीना फैट बर्न करने में सहायक होता है.
8 जामुन भी वज़न कम करने में सहायक होता है. इसके लिए जामुन की पत्तियों को एक ग्लास पानी में रातभर भिगोकर रखें. सुबह पत्तियां निकालकर खाली पेट पानी पी जाएं. 1 महीने तक ऐसा करने से वज़न कम हो जाएगा.
9 एक कप पानी में 3 टीस्पून नींबू का रस, एक चौथाई टीस्पून कालीमिर्च पाउडर और 1 टीस्पून शहद मिलाकर 3 महीने तक रोज़ सुबह पीएं.
10 1 कप कुनकुने पानी में आधा टीस्पून शहद, आधा टीस्पून तुलसी की पत्तियों का पेस्ट मिलाकर पीएं.
11 मोटापे से बचने के लिए रोज़ाना एक ग्लास गाजर का जूस पीएं.
12 अदरक और नींबू के टुकड़े को कुछ देर तक पानी में उबालें, फिर पानी फेंककर इसे गरम ही खाएं. मोटापा कम करने के साथ ही ये आपकी ओवरईटिंग की आदत पर भी लगाम लगाती है.
13 अंगूर, पपीता, अनन्नास, सेब, फ्रेंच बीन्स, अंजीर, पीच और अमरूद ़फैट कम करने में सहायक हैं.
14 खाने में नमक की मात्रा सीमित कर दें, क्योंकि ज़्यादा नमक से वज़न बढ़ता है.
15 हफ़्ते में एक दिन उपवास रखें और इस दिन स़िर्फ लिक्विड चीज़ें ही पीएं. इससे टॉक्सिन और अतिरिक्त ़फैट शरीर से बाहर निकल जाएगा.
16 चावल और आलू के बहुत ज़्यादा सेवन से बचें. अगर आपको चावल बहुत पसंद है, तो उसे कुकर में पकाने की बजाय पतीले में बनाएं और पकने के बाद अतिरिक्त पानी निकाल दें.

8 अमेजिंग! डायट टिप्स फॉर वेट लॉस (8 Amazing! Diet Tip For Weight Loss)

होम रेमेडीज़ फॉर वेट लॉस (Home Remedies For Weight Loss)

वज़न बढ़ना आज तक़रीबन हर किसी की समस्या बनती जा रही है. आज हर पांच में से दो लोग अपने बढ़ते वज़न से परेशान हैं. तो क्यों न कुछ होम रेमेडीज़ ट्राई की जाए, जिससे आपका वज़न तो कम होगा ही, आप हेल्दी भी महसूस करेंगे.

 

1

– सुबह उठते ही 250 ग्राम टमाटर का रस 2-3 महीने तक पीने से फैट्स कम होता है.

– नींबू, शहद व गरम पानी रोज़ सुबह खाली पेट लेनेे से पेट सही रहेगा और मोटापा भी दूर होगा.

– पके हुए पपीते का सेवन ख़ूब करें. इससे शरीर में अतिरिक्त चर्बी नहीं जमती व वज़न भी तेज़ी से घटता है.

– एक चम्मच पुदीने के रस में 2 चम्मच शहद मिलाकर नियमित रूप से लेते रहने से मोटापा कम होता है.

– आंवले और हल्दी को बराबर मात्रा में पीसकर चूर्ण बना लें. इस चूर्ण को छाछ के साथ लें. कमर पतली हो जाएगी.

– यदि आप ख़ूब पानी पीते हैं, तो इससे कैलोरी बर्न करने में मदद मिलती है और यह शरीर में मौजूद टॉक्सिन को यूरिन के ज़रिए बाहर निकाल देता है. लेकिन ध्यान रहे कि भोजन करने के तुरंत बाद पानी न पीएं.

– एक कप टमाटर के जूस में एक कप दही (फैट फ्री) आधा चम्मच नींबू का रस, बारीक़ कटा अदरक, कालीमिर्च पाउडर व स्वादानुसार नमक- सभी को मिलाकर ब्लेंड कर लें. रोज़ एक ग्लास इस शेक को पीने से वज़न तेज़ी से कम होता है.

– 2 चम्मच करेले के रस में एक नींबू का रस मिलाकर सुबह पीएं.

– हमेशा भोजन करने के बाद गरम पानी पीएं. इससे पाचन क्रिया ठीक रहती है और एक्स्ट्रा फैट्स भी नहीं बनता.

– करौंदे का जूस भी वज़न घटाने में बहुत फ़ायदेमंद है. इससे शरीर का मेटाबॉलिज़्म ठीक रहता है और फैट्स कम करने में आसानी होती है.

– एप्पल साइडर विनेगर को जूस या पानी के साथ मिलाकर पीने से मोटापा व कोलेस्ट्रॉल दोनों में तुरंत ही कमी आती है.

– एलोवीरा के पत्तों के सेवन से भी वेट कंट्रोल में रहता है, इसलिए एलोवीरा का सेवन रोज़ करें.

– ग्रीन टी में एंटीऑक्सीडेंट होता है, जो झुर्रियों को दूर रखती है और मोटापा घटाने में भी उपयोगी है, बस ग्रीन टी बिना शक्कर के पीएं.

– लौकी के जूस में फाइबर होता है और यह पेट को ठंडक पहुंचाता है. इसे पीने से घंटों तक पेट भरा रहता है व वज़न भी नियंत्रण में रहता है.

– सेब को उबालकर खाएं. इसमें फाइबर व आयरन प्रचुर मात्रा में होता है. ये मोटापा भी घटाता है.

– एक रिसर्च के अनुसार, वज़न कम करने का सबसे बेहतरीन तरीक़ा मिर्च खाना है. हरी या कालीमिर्च में पाए जानेवाले तत्व कैपसाइसिन से भूख कम होती है. इससे ऊर्जा की खपत भी बढ़ जाती है, जिससे वज़न कंट्रोल में रहता है.

– छोटी पीपल का बारीक़ चूर्ण पीसकर उसे कपड़े से छान लें. यह चूर्ण तीन ग्राम रोज़ाना सुबह के समय छाछ के साथ लेने से बाहर निकला हुआ पेट अंदर हो जाता है.

– दो बड़े चम्मच मूली के रस में शहद मिलाकर बराबर मात्रा में पानी के साथ पीएं. ऐसा करने से एक महीने के बाद मोटापा कम होने लगेगा.

और भी पढ़ें: 7 क्विक वेट लॉस टिप्स

सुपर टिप

10 दिन सुबह-शाम खाली पेट एक ताज़े पान के पत्ते में 5 साबूत कालीमिर्च रखकर खाएं. फिर एक घंटे तक कुछ भी न खाएं. 10 दिन के बाद केवल सुबह ही सेवन करें. इसका क़रीब तीन महीने तक सेवन करें, इससे आपके पूरे शरीर का वेस्ट फैट्स निकलने लगेगा. ध्यान रहे, पान के पत्ते सूखे या
काले न हों.

इन बातों का भी रखें ख़्याल

– अधिक कार्बोहाइड्रेटवाली चीज़ों से परहेज़ करें.
– शक्कर, आलू और चावल में अधिक कार्बोहाइड्रेट होता है. ये फैट्स बढ़ाते हैं.
– गेहूं के आटे की रोटी की बजाय गेहूं, सोयाबीन व चने के मिश्रित आटे की रोटी अधिक फायदेमंद है.
– हर रोज़ पत्तागोभी का जूस पीएं. पत्तागोभी में फैट्स घटाने के गुण होते हैं. इससे बॉडी का मेटाबॉलिज़्म सही रहता है.
– अपनी डायट में खीरा को शामिल करें. इसमें पानी की मात्रा अधिक पाई जाती है. खीरे में 90% पानी होता है और यह शरीर के फैट्स को भी कम करता है.
– नारियल पानी मेटाबॉलिज़्म को मज़बूत करता है और इलेक्ट्रोलाइटिस से भरा होता है. हर रोज़ एक से दो ग्लास नारियल पानी पीने से वज़न घटाने में मदद मिलती है.
– बादाम भी फैट्स को बर्न करने में मददगार होता है, इसलिए नियमित रूप से बादाम भी ज़रूर खाएं.

– ऊषा गुप्ता

और भी पढ़ें: 8 इटिंग हैबिट्स फॉर वेट लॉस

वज़न घटाने के 25 ईज़ी टिप्स (How to Lose Weight Fast – Quick & Easy Weight Loss Tips)

easy weight loss tips

easy weight loss tips

क्या आप डायटिंग करने में द़िक्क़त महसूस करते हैं? क्या कैलोरी का हिसाब रखना आपको पसंद नहीं? तो आप स़िर्फ यहां दिए गए टिप्स (Easy Weight Loss Tips) आज़माएं और देखें कैसे बिना अधिक मेहनत-मश़क्क़त के कई किलो वज़न आसानी से घटा सकते हैं.

1. पानी पीएं:
अगर आपको भूख लग रही है, तो पहले पानी पीजिए. इससे आपका पेट भरा हुआ लगेगा और आप कम खाएंगे.

2. किसी चीज़ से परहेज़ ना करें:
यदि आप ख़ुद से कहेंगे, “मुझे चॉकलेट को हाथ भी नहीं लगाना है!” तो आपके दिलो-दिमाग़ में चॉकलेट का ही ख़्याल आता रहेगा और आप ज़रूरत से भी ज़्यादा खा बैठेंगे. इससे बेहतर है कि एक छोटा-सा टुकड़ा खाकर अपने टेस्ट बड्स को शांत करें.

3. पैकेज्ड फूड का लेबल ज़रूर पढ़ें:
जब भी आप पैकेज्ड फूड ख़रीदें, तो पहले उसमें प्रयोग किए गए पदार्थों को लेबल में पढ़ लें और यह सुनिश्‍चित कर लें कि उनकी फैट और कार्बोहाइड्रेट्स आदि की मात्रा आपकी ज़रूरत के अनुसार हो.

यह भी पढ़ें: वेट लॉस टिप ऑफ द डे: 10 इफेक्टिव वेट लॉस टिप्स

4. तल्लीनता के साथ भोजन करें:
भोजन हमेशा धीरे-धीरे चबाकर पूरी एकाग्रता के साथ करना चाहिए, जबकि बहुत से लोग टीवी देखते हुए खाना खाते हैं, जिससे उनका ध्यान भोजन पर नहीं रहता और बेख़्याली में वो ज़्यादा खा लेते हैं.

5. भूखे पेट न सोएं:
देर रात की भूख को शांत करने के लिए कुछ भी फैटी या ऑयली खाने की बजाय बादाम, अखरोट जैसे हाई प्रोटीन नट्स लें.

6. व्यायाम करें:
व्यायाम आपके शरीर के मेटाबॉलिक रेट को दुगुना कर सकता है. हफ़्ते में
कम-से-कम तीन दिन आधे घंटे तक व्यायाम करना आपके लिए काफ़ी फ़ायदेमंद साबित हो सकता है.

7. अधिक फैटयुक्त भोजन से परहेज़ करें:
बाहर का खाना या फास्टफूड देखकर ख़ुद को रोकना मुश्किल हो जाता है, पर याद रहे कि ये फैटयुक्त होते हैं, इसलिए आपको स्वयं पर नियंत्रण रखना होगा. खाने में अधिक व बैड फैट को पहचानें और उससे बचने की पूरी कोशिश करें.

8. ग्रीन टी का प्रयोग करें:
रोज़ाना ग्रीन टी के सेवन से आप हर रोज़ लगभग 40 प्रतिशत अधिक कैलोरी बर्न कर सकते हैं. तो फिर देर किस बात की, आज ही ग्रीन टी को अपने डेली रूटीन में शामिल करें.

9. फाइबर से भरपूर पदार्थ लें:
भोजन में मसूर, मटर, पत्तागोभी, ब्रोकोली, हरी पत्तेदार सब्ज़ियां, मशरूम, ब्राउन ब्रेड आदि को शामिल करें. यह चबाने तथा हज़म होने में अधिक समय लेते हैं, जिससे आपका पेट अधिक समय तक भरा हुआ महसूस होता है.

10. भोजन का समय सुनिश्‍चित रखें:
प्रतिदिन भोजन करने का समय सुनिश्‍चित कर लें. इससे आपके शरीर को उस निश्‍चित समय पर भोजन की आदत पड़ जाएगी और आप असमय कुछ भी खाने से बच जाएंगे.

11. खाने के नए नियम बनाएं:
खाने का अपना वर्तमान नियम नोट करें, जैसे कि चाय के साथ बिस्किट लेना, नाश्ते में परांठे खाना आदि और फिर उसमें हेल्दी बदलाव करें. आप चाहें, तो नाश्ते में दलिया, ओट्स, नट्स जैसी पोषक चीज़ों को शामिल कर सकते हैं.

12. एक्टिव बने रहें:
रोज़ाना थोड़ी देर टहलने या एक्सरसाइज़ करने से शरीर में एंडॉर्फिन्स नामक हार्मोंस विसर्जित होते हैं, जिससे आप अधिक शांत व प्रफुल्लित महसूस करते हैं और आप हेल्दी खाते हैं.

13. घर के कामों से बनें फिट:
घर के काम आपके शरीर को चुस्त-दुरुस्त रखते हैं. इससे आप कई गुना कैलोरीज़ बर्न करते हैं, जो आपकी सेहत के लिए बहुत फ़ायदेमंद साबित होती है.

यह भी पढ़ें:  5 सुपर इफेक्टिव योगासन वेट लॉस के लिए

easy weight loss tips

14. अच्छी नींद का आनंद लें:
थका हुआ शरीर अधिक ऊर्जा के लिए बार-बार भूख का सिग्नल देता है, जिससे आप ओवरईटिंग करने लगते हैं. यही वजह है कि रोज़ाना 6-8 घंटे की अच्छी नींद लेना ज़रूरी है.

15. अधिक टहलें:
दिन में स़िर्फ आधा घंटा अधिक तेज़ टहलने से आपकी 320 कैलोरीज़ तक बर्न हो सकती हैं.

यह भी पढ़ें: पर्सनल प्रॉब्लम्स: सेक्स के दौरान वेजाइनल ब्लीडिंग के क्या कारण हो सकते हैं

16. छोटी प्लेट में भोजन करें:
हमेशा भोजन के लिए छोटी प्लेट लें, क्योंकि बड़ी प्लेट में सामान्य मात्रा में लिया हुआ भोजन कम नज़र आता है, जबकि छोटी प्लेट में वही मात्रा पर्याप्त नज़र आती है.

17. लिफ्ट को नज़रअंदाज़ करें:
सप्ताह में पांच दिन केवल दो मिनट तक सीढ़ियां चढ़ना-उतरना भी एक अच्छा व्यायाम है. यह 30 मिनट तक टहलने जितना लाभदायक होता है, तो कभी-कभी लिफ्ट को ज़रूर नज़रअंदाज़ करें.

18. दोस्तों का ग्रुप बनाएं:
अपना वज़न घटाने, व्यायाम के विषय में चर्चा करने, डायट फॉलो करने आदि के लिए दोस्तों का एक ग्रुप बनाएं. ग्रुप मेंबर्स के रहने से इन चीज़ों को लेकर उत्सुकता बनी रहती है और एक-दूसरे को देखकर प्रोत्साहन भी मिलता है.

19. डायट जर्नल मेंटेन करें:
अपने पास एक डायट जर्नल रखें और उसमें अपनी प्रेरणा के लिए लिखकर रखें कि आप कैसा दिखना चाहते हैं, जैसे- मैं स्लिम-फिट बॉडी में सुंदर दिखना चाहता/चाहती हूं. यह एक शक्तिशाली रिमाइंडर की तरह मानसिक रूप से आप पर असर डालेगा कि आप क्यों वज़न कम करना चाहते हैं.

20. अपेक्षित साइज़ की ड्रेस ख़रीद लें:
आप जैसा दिखना चाहते हैं, उस साइज़ की जींस या ड्रेस ख़रीद लें. इससे आपको वज़न कम करने की प्रेरणा मिलेगी, परंतु अपने आप
पर अधिक दबाव डाले बिना संभावित परिणाम को ही अपना लक्ष्य बनाएं.

21. सब्ज़ियों को प्राथमिकता दें:
यदि आप अपना भोजन ख़ुद परोस रहे हैं, तो पूरे भोजन की मात्रा में चावल या रोटी की मात्रा कम लें और सलाद व उबली सब्ज़ियों की मात्रा अधिक लें. इस तरह आप एक बार के भोजन में लगभग 200 कैलोरीज़ बचा सकते हैं.

22. शांत रहें:
जब भी आप तनाव में होते हैं, तो आपका शरीर शिथिल पड़ जाता है, जिससे आपको बहुत भूख लगती है. तनाव में अक्सर लोग फैटी चीज़ें ज़्यादा खाते हैं, जबकि तनावरहित और शांत रहने से आपका मेटाबॉलिज़्म बेहतर रहता है.

23. जंक फूड से दूर रहें:
जंक फूड न केवल वसा से भरपूर होता है, बल्कि मस्तिष्क की उन कोशिकाओं को भी नष्ट कर देता है, जो वज़न पर नियंत्रण रखती हैं.

24. मन पर नियंत्रण रखें:
यदि आपके किचन में स्नैक्स  के हेल्दी ऑप्शन्स मौजूद हों, तो बाहर से ऑर्डर न करें. आप घर में ही लो-फैट माइक्रोवेव पॉपकार्न, चना-कुरमुरा और स्प्राउट्स खा सकते हैं.

25. कल्पना में भी स्वयं को छरहरा देखें:
आप अपने दिमाग़ में अपनी एक छरहरी आकृति बसा लें, जो या तो आपके अतीत की हो या फिर ऐसी हो, जिसमें आप ख़ुद को जैसा देखना चाहते हैं, वैसी हो. ऐसी कल्पना आपको वज़न कम करने के लक्ष्य तक पहुंचने के लिए हमेशा प्रेरित करेगी.

– अनिल निगम

यह भी पढ़ें:  इन 14 चीज़ों को फ्रिज में न रखें

जैसा ब्लड ग्रुप, वैसा डायट प्लान (Blood Group Type Diet: Eating for Types O, A, B, & AB)

Blood Group Type Diet

ख़ूबसूरत नज़र आने के लिए आप जिस तरह पर्सनैलिटी के अनुसार आउटफिट और एक्सेसरीज़ का चुनाव करते हैं. ठीक उसी तरह ब्लड ग्रुप के अनुसार डायट प्लान फॉलो करके भी आप हेल्दी और फिट रह सकते हैं. सेहतमंद ज़िंदगी के लिए ब्लड ग्रुप के अनुसार कैसा हो डायट प्लान (Blood Group Type Diet)? आइए, जानते हैं.
Blood Group Type Diet

ब्लड ग्रुप के अनुसार शरीर की ज़रूरतें भी अलग-अलग होती हैं. ऐसे में यदि अपने ब्लड ग्रुप को ध्यान में रखते हुए कोई डायट प्लान फॉलो करते हैं, तो आप न स़िर्फ फिट एंड हेल्दी रह सकते हैं, बल्कि एसिडिटी, कॉन्सटिपेशन जैसी कई समस्याओं से मुक्ति भी पा सकते हैं. साथ ही वज़न भी आसानी से घटा सकते हैं.Type-A-blood-drop

ए ब्लड ग्रुप

ए ब्लड ग्रुपवालों का शाकाहारी होना सेहत की दृष्टि से फ़ायदेमंद होता है, क्योंकि ए ब्लड ग्रुपवालों की पाचन शक्ति बाक़ी ब्लड ग्रुपवालों की अपेक्षा कमज़ोर होती है. ऐसे में वे नॉन-वेज या कोई भी हैवी फूड पचा नहीं पाते, जिससे इन्हें पेट संबंधी समस्या, जैसे एसिडिटी का सामना करना पड़ता है.

क्या खाएं?
– ए ब्लड ग्रुपवालों का ख़ून अन्य ब्लड ग्रुप से अधिक गाढ़ा होता है. इसलिए सब्ज़ी और फलों का सेवन इनके लिए ज़्यादा फ़ायदेमंद है.
– प्रोटीन की आपूर्ति के लिए सोया रोटी, सोया ब्रेड, बीन्स आदि का सेवन इन्हें तंदुरुस्त रखता है.
किससे करें परहेज़?
– चूंकि आपका पाचन तंत्र कमज़ोर है, इसलिए मीट की बजाय मछली का सेवन करें.
– पपीता, आम और संतरा जैसे फलों का सेवन कम से कम करने की कोशिश करें.
वेट लॉस टिप
अगर आप वज़न कम करना चाहते हैं, तो अपने डायट रूटीन में ज़्यादा से ज़्यादा हरी सब्ज़ियां और सोया से बनी चीज़ें शामिल करें. मीट, डेयरी प्रोडक्ट्स, राजमा जैसे फैट वाले आहार से परहेज़ करें, वरना आपका वज़न बढ़ सकता है.blood-type-diet-for-blood-group-b

बी ब्लड ग्रुप

बी ब्लड ग्रुपवाले बेहद लकी होते हैं, क्योंकि इन्हें स्वादिष्ट चीज़ों से परहेज़ की ज़रूरत नहीं होती. साथ ही ये खाने में वेरायटी का मज़ा भी ले सकते हैं. बी ब्लड ग्रुपवालों को संतुलित आहार स्वस्थ और तंदुरुस्त बनाए रखता है.
क्या खाएं?
– फलों का सेवन आपके लिए फ़ायदेमंद साबित हो सकता है.
– आप डेयरी प्रोडक्ट्स और फिश खा सकती हैं, मगर इनका सेवन संतुलित मात्रा में करें.
किससे करें परहेज़?
– कॉर्न, चना, मसूर और अरहर की दाल का सेवन कम करें. ये आपके लिए नुक़सानदायक हो सकते हैं.
– गेहूं या टमाटर का अधिक सेवन भी आपके लिए हानिकारक साबित हो सकता है.
वेट लॉस टिप
वज़न कम करने के लिए कॉर्न, मूंगफली, चिकन, गेंहू और तिल का सेवन करने से बचें और अपने डायट प्लान में अंडा, ग्रीन टी, मीट और हरी सब्ज़ियां सबसे ऊपर रखें.

images

एबी ब्लड ग्रुप

एबी ब्लड ग्रुपवालों में ए और बी दोनों ब्लड ग्रुपवालों के लक्षण होते हैं. मगर इनका ब्लड ग्रुप ए की तरह शाकाहारी होना ज़्यादा फ़ायदेमंद होता है. ब्लड ग्रुप बी की तरह ये नॉन-वेज का अधिक सेवन नहीं कर सकते, क्योंकि मीट खाने से इन्हें अपच की शिकायत हो सकती है.
क्या खाएं?
– शाकाहारी खाना खाएं.
– फलों का सेवन भी कर सकते हैं.
– आप फिश भी खा सकते हैं.
किससे करें परहेज़?
– चिकन से परहेज़ करें, पेट में एसिड की मात्रा कम होने से ये अच्छी तरह पच नहीं पाता, जिससे अपच की शिकायत हो सकती है.
– कॉर्न भी न खाएं. ये भी आपके लिए तकलीफ़देह हो सकता है.
वेट लॉस टिप
अगर आप वज़न कंट्रोल में रखना चाहती हैं, तो सोया पनीर, सीफूड, अनन्नास आदि खाएं. रेड मीट और राजमा से परहेज़ करें.

Type-O-blood-drop

ओ ब्लड ग्रुप

ओ ब्लड ग्रुपवालों के पेट में एसिड की मात्रा अधिक होती है, जिसके कारण ये आसानी से नॉन-वेज फूड पचा लेते हैं. चूंकि ओ ब्लड ग्रुपवालों में थायरॉइड हार्मोन की मात्रा कम होती है, इसलिए इन्हें ऐसी चीज़ें नहीं खानी चाहिए, जिससे थायरॉइड का स्राव कम हो, जैसे- पत्तागोभी, फूलगोभी आदि.
क्या खाएं?
– आप ख़ूब सारे फल और सब्ज़ियों का सेवन कर सकते हैं.
– अगर आप नॉन-वेज खाने के शौक़ीन हैं, तो रेड मीट से लेकर चिकन और फिश भी खा सकते हैं.
किससे करें परहेज़?
– दूध या दूध से बने कोई भी पदार्थ खाने से बचें.
– ड्रायफ्रूट्स का अधिक सेवन आपके लिए फ़ायदेमंद नहीं है.
वेट लॉस टिप
वज़न कम करना हो, तो ब्रेड, चावल और फली यानी बीजवाली सब्ज़ियां न खाएं. पालक और ब्रोकोली वज़न घटाने में सहायक हो सकते हैं.

वेट लॉस के लिए योग (Yoga for Weight Loss)

Yoga for Weight Loss
जंक फूड, अनहेल्दी लाइफस्टाइल ने एक ऐसी सबसे बड़ी समस्या हमें दे दी है, जो ख़ुद कई समस्याओं व रोगों की जड़ है, वो है- मोटापा. मोटापे से मुक्ति और फ्लैट टमी के लिए हेल्दी लाइफस्टाइल के साथ-साथ इन आसनों को अपनाएं. (Yoga for Weight Loss)

श्वसन मार्ग शुद्धि

– पद्मासन या सुखासन में बैठ जाएं.
– दोनों अंगूठों को ऊपर की ओर रखते हुए नाक के पास लाएं और बाकी की उंगलियां मोेड़ें.
– आंखें और मुंह बंद रखें.
– अब बाएं नाक से सांस लेकर बाएं अंगूठे से उसे बंद कर दें. दाएं अंगूठे से दाएं नाक को ऊपर की तरफ़ खींचें और तेज़ी से सांस छोड़ दें.
– अब दाएं नाक से भी यही प्रक्रिया दोहराएं.
– दोनों नाक से 5-5 बार यह क्रिया करें.
– अगर आपको सर्दी हुई है या आपकी नाक बंद है, तो यह क्रिया न करें. किसी तरह की गंभीर बीमारी में भी इसे ट्राई न करें.

Yoga for Weight Loss

अन्य फ़ायदे: श्‍वसन तंत्र को बेहतर बनाता है, फेफड़ों को मज़बूत करता है. पेट की मसल्स को टोन करता है और पाचन तंत्र को भी बेहतर बनाता है.

भस्त्रिका

– वज्रासन, पद्मासन या किसी भी आरामदायक आसन में
बैठ जाएं.
– पीठ को सीधा रखें और मुंह बंद करें.
– तेज़ी से सांस लें और छोड़ें. एक राउंड में 10 बार सांस लें और छोड़ें.
– एक राउंड पूरा होने पर थोड़ी देर सांसों की गति सामान्य रखें, फिर दूसरा राउंड करें.
– रोज़ाना 3 राउंड तक कर सकते हैं, पर अगर समय की कमी है, तो एक ही राउंड करें.

Yoga for Weight Loss

Yoga for Weight Loss

बाबा रामदेव, योग गुरु

योग स़िर्फ शरीर के रोगों का ही निदान नहीं करता, बल्कि मन-मस्तिष्क के रोगों का भी निदान करने में मदद करता है. यदि किसी का शरीर बीमार है, तो वो स़िर्फ प्रभावित व्यक्ति को ही तकलीफ़ देगा, लेकिन यदि किसी का मन बीमार है, तो वो कई अन्य लोगों को भी तकलीफ़ दे सकता है. ऐसे में योग बेहद फ़ायदेमंद व प्रभावकारी साबित हो सकता है.”

यह भी पढ़ें: एलर्जी के कारण और उससे बचने के कारगर उपाय 

यह भी पढ़ें: योगा फॉर फ्लैट टमी

सूर्यभेदन प्राणायाम

– वज्रासन या सुखासन में बैठकर आंखें बंद कर लें.
– दाएं हाथ की अनामिका से बाईं नाक को धीरे से बंद कर लें.
– दाईं नाक से सांस लें और छोड़ें. सांस छोड़ने की गति सांस लेने की गति से दुगनी होनी चाहिए.
– 2 मिनट तक करें.
– हाई बीपी वाले व माइग्रेन वाले न करें.

स्क्वैट वेरिएशन

– सीधे खड़े रहें. दोनों पैरों के बीच में दो से ढाई फीट का फासला रखें. अब कुर्सी पर बैठने जैसी पोज़ीशन में आ जाएं.
– दोनों पैरों के पंजों को 90 डिग्री तक घुमाएं. दाएं पंजे को दाईं तरफ़ और बाएं पंजे को बाईं तरफ़.
– दोनों हथेलियों को घुटने के थोड़ा ऊपर जांघों पर रखें.
– अब अपनी दाईं एड़ी को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं. थोड़ा नीचे लाएं, ज़मीन को छुए बग़ैर फिर ऊपर उठाएं.
– ऐसा 10 बार करें.
– दाईं एड़ी को ज़मीन पर रखें और यही प्रक्रिया बाईं एड़ी से भी दोहराएं.
– बारी-बारी दोनों पैरों से करने के बाद आप चाहें, तो दोनों एड़ियों को एक साथ ऊपर उठाकर भी यह प्रक्रिया दोहरा सकते हैं.
– अगर आपके घुटनों में दर्द है, तो यह क्रिया न करें.
अन्य लाभ : स्क्वैट वेरिएशन पैरों की मसल्स को टोन करता है और पैरों की स्ट्रेंथ बढ़ाता है. यह एंकल पेन से भी छुटकारा दिलाता है.
वेट लॉस के लिए करें सूर्य नमस्कार
सूर्य नमस्कार को अपने रूटीन का हिस्सा बनाएं. ये ना स़िर्फ वेटलॉस में लाभदायक है, बल्कि बॉडी को टोन करता है और आपको हेल्दी व रोगमुक्त रखता है.

स्टीम रूम के 10 रूल्स! (10 Rules of the Steam Room)

steam room, rules, health, weight loss

steam room, rules, health, weight loss

स्टीम (Steam Room) लेना हर मौसम में फ़ायदेमंद रहता है. इससे शरीर की थकान मिटती है, विषैले तत्व पसीने के ज़रिए बाहर निकल जाते हैं और रोम छिद्र खुल जाते हैं, इम्युनिटी बढ़ाता है. लेकिन स्टीम लेने से पहले और बाद में कुछ बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है, ताकि आप इसका सही फ़ायदा उठा सकें. चलिए, आपको बताते हैं, स्टीम रूम के कुछ रूल्स.

रूल नंबर 1 – कम खाएं

– जब भी स्टीम बाथ लेने की सोचें, तो उससे एक या दो घंटे पहले बहुत ज़्यादा या मुख्य आहार
न खाएं.
– स्टीम लेते व़क्त रक्त के संचार में परिवर्तन होता रहता है, जिससे खाना पचने में द़िक्क़त हो
सकती है.
– कई बार पेट में असहज ऐंठन भी हो सकती है.

रूल नंबर 2 – ज्वेलरी पहनकर न जाएं

– स्टीम रूम में ज्वेलरी पहनकर न जाएं.
– बेहतर होगा कि आप ज्वेलरी घर पर ही छोड़ दें.
– मेटल की चीज़ें आपकी त्वचा से ज़्यादा गर्म हो जाती हैं, जिससे त्वचा जल सकती है.
– कई बार स्टीम लेने से स्किन थोड़ी-सी फूल भी जाती है, ऐसे में टाइट ज्वेलरी और भी टाइट हो सकती है और आपको चोट पहुंच सकती है.
– अगर कॉन्टैक्ट लेंस पहना हो, तो उसे भी निकाल दें, क्योंकि गर्मी का लेंस पर बुरा असर पड़ता है और आंखों में जलन हो सकती है.

रूल नंबर 3 – तौलिया साथ ले जाएं

– स्टीम रूम में कपड़े पहनकर न जाएं.
– बड़ा-सा तौलिया अच्छी तरह से लपेटकर स्टीम रूम में जाएं.
– आपकी कोशिश यही होनी चाहिए कि स्टीम आपके शरीर पर अच्छी तरह लगे.

रूल नंबर 4 – शॉवर लें

– घर से सीधे आकर स्टीम रूम में न चले जाएं.
– 5 से 10 मिनट तक रिलैक्स करें या 10 मिनट तक ट्रेडमिल पर चलें.
– इसके बाद ठंडे पानी का शॉवर लें और फिर स्टीम रूम में जाएं.

रूल नंबर 5 – पानी पीएं

– स्टीम रूम में जाने से पहले और आने के बाद भरपूर पानी पीएं, क्योंकि जब पसीना अधिक निकलता है, तब शरीर में पानी की कमी हो जाती है.
– अल्कोहल या किसी प्रकार की दवाएं, जिससे आपको गर्मी का एहसास हो, वह लेकर स्टीम रूम में न जाएं.

रूल नंबर 6 – खुशबूवाला तेल या परफ्यूम लगाकर न जाएं.

– स्टीम रूम पूरी तरह से बंद होता है. किसी भी तरह की सुंगध या दुर्गंध रूम के अंदर ही रह जाती है और भाप के साथ मिलकर सांस लेने में द़िक्क़त पैदा कर सकती है.
– सुगंधवाला तेल या परफ्यूम लगाने से स्टीम रूम में मौजूद दूसरे लोगों को भी तकलीफ़ हो
सकती है.
– दूसरों की सुविधा का भी ख़्याल रखें.

रूल नंबर 7 – स्टीम ज़्यादा देर तक न लें

– ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि ज़्यादा देर तक स्टीम रूम में रहने से आपको ज़्यादा फ़ायदा होगा.
– एक हेल्दी व्यक्ति को 10 से 15 मिनट से ज़्यादा स्टीम नहीं लेनी चाहिए.
– अपने शरीर के सिग्नल्स को पहचानें. अगर चक्कर, उल्टी, सांस लेने में द़िक्क़त महसूस हो, तो तुरंत बाहर आ जाएं.

रूल नंबर 8 – स्टीम से निकलने पर शरीर का तापमान सामान्य होने दें

– स्टीम से बाहर आने के बाद तुरंत स्नान करने न जाएं.
– स्टीम रूम से बाहर आकर कुछ देर तक इंतज़ार करें. शरीर के तापमान को कमरे के तापमान पर सामान्य होने दें.
– फिर ठंडे या गुनगुने पानी से नहा लें.

रूल नंबर 9 – बीमार हैं, तो बिना डॉक्टरी सलाह से स्टीम न लें.

– अगर ब्लडप्रेशर, अस्थमा, हृदय रोग के मरीज़ हैं तो स्टीम बाथ लेने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह लें.
– प्रेग्नेंट महिलाओं को स्टीम नहीं लेना चाहिए.
– अगर बुख़ार हो तो भी स्टीम बाथ न लें.

रूल नंबर 10 – एक्स्ट्रा कपड़े साथ ले जाएं.

– एक्स्ट्रा कपड़े ज़रूर साथ ले जाएं.
– स्टीम लेने के बाद स्नान करके दोबारा वही कपड़े न पहनें, जिसमें आपने एक्सरसाइज़ की थी.

नोट

अगर आप पहली बार स्टीम ले रहे हैं, तो हफ़्ते में एक या दो बार केवल पांच मिनट के लिए ही स्टीम लें.