What is the best time to ea...

हमसे ज़्यादातर लोगों को मीठा खाना (Sweet Food) पसंद होता है, लेकिन वज़न बढ़ने के डर से कई लोग मीठे से परहेज़ करते हैं. जबकि वास्तविकता यह है कि आप मीठे का शौक़ पूरा कर सकते हैं, बशर्तें आपको इसे खाने का सही समय पता होना चाहिए.

Dessert

 

दिन की शुरुआत मीठे के साथ
अधिकतर लोग खाने के बाद कुछ मीठा खाना पसंद करते हैं, ताकि उसका स्वाद देर तक मुंह में बना रहे. इतना ही नहीं, बचपन से ही हमें यह सिखाया जाता है कि हमें अपना खाना पूरा फिनिश करना चाहिए और अंत में डेज़र्ट यानी मीठा खाना चाहिए. यहां तक कि ज़्यादातर रेस्तरां और ईटिंग आउटलेट्स के मेन्यू में भी डेज़र्ट सबसे आख़िर में होता है, लेकिन खाने के अंत में मीठे के सेवन की आदत बिल्कुल ग़लत है.
स्वस्थ बने रहने के लिए आप दिन की शुरुआत मीठा खाकर करें. आयुर्वेद की मानें तो यह बेहद ज़रूरी है कि हम सुबह अपने दिन की शुरुआत मीठी चीज़ों से करें, लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि आप दिन की शुरुआत मिठाई से करें. नाश्ते में ऐसी चीज़ खानी चाहिए, जिसमें नैचुरल शुगर हो और उसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स भी कम हो. ग्लाइसेमिक इंडेक्स वह आंकड़ा है जो यह दर्शाता है कि कोई भी खाद्य पदार्थ कितनी जल्दी या धीरे-धीरे शरीर में ग्लूकोज लेवल को बढ़ाता है. ब्रेकफास्ट में आपको ऐसी चीज़ें खानी चाहिए, जो शरीर में ग्लूकोज़ के लेवल को तेज़ी से न बढ़ाएं.

Desserts

ब्रेकफास्ट में क्यों खाएं मीठा?
अब आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि ब्रेकफास्ट में ही मीठा क्यों खाना चाहिए? इसकी वजह यह है कि मीठा शरीर को तुरंत एनर्जी देने के साथ ही ग्लूकोज़ को रिलीज़ भी धीरे-धीरे करता है जिससे हमारा शरीर पूरे दिन एक्टिव रहता है और ऊर्जा की कमी महसूस नहीं होती. रात में डिनर करने के बाद आपका शरीर लंबे समय तक भूखा रहता है. ऐसे में सुबह के पहले भोजन यानी ब्रेकफास्ट में अगर आप कुछ मीठा खाएं तो शरीर को संपूर्णता का एहसास होता है.

ये भी पढ़ेंः इन 12 खाद्य पदार्थों के कारण हो सकता है कैंसर ( 12 Cancer Causing Foods)

 

क्यों ज़रूरी है ब्रेकफास्ट ?
आयुर्वेद की मानें तो खाना खाना प्रकृति से ऊर्जा लेने की प्रक्रिया है. जब आपको शरीर में एनर्जी की कमी महसूस हो रही होती है तो हम भौतिक चीज़ों के प्रति आकर्षित हो जाते हैं जिनकी हमें उस व़क्त ज़रूरत भी नहीं होती, उदाहरण के लिए कोई ड्रेस खरीद लेना या फिर बेवजह की शॉपिंग कर लेना आदि. लिहाजा ख़ुद को
जल्दबाज़ी में इस तरह के अविवेकपूर्ण निर्णय लेने से रोकने के लिए बेहद ज़रूरी है कि आप हर दिन सुबह ब्रेकफास्ट करें, ताकि शरीर में ऊर्जा की कमी न हो और आप कोई भी निर्णय सोच समझकर ले पाएं.

नाश्ते में क्या खाएं?
अगर आप चाहते हैं कि आपका शरीर किसी भी तरह की विटामिन की कमी, कोलेस्ट्रॉल की समस्या या डायबिटीज़ से बचा रहे और शरीर फिट व हेल्दी रहे तो आपको ब्रेकफास्ट में 5 बादाम, 1 अखरोट और 1 सूखा अंजीर ज़रूर खाना चाहिए. इसके अलावा नाश्ते में ओट्स व शहद, एग वाइट ऑमलेट, दलिया, मूंग दाल चीला, वेजिटेबल सैंडविच, स्प्राउट्स, इडली, डोसा इत्यादि में से कुछ भी ग्रहण कर सकते हैं. ये हेल्दी भी होते हैं और इनसे पेट भी भर जाता है.

ये भी पढ़ेंः इन 9 पोषक तत्वों की कमी से हो सकता है डिप्रेशन ( Nutritional Deficiencies That May Cause Depression)