White Discharge

पीरियड्स में अधिकतर महिलाएं आज भी सेनेटरी पैड का ही इस्तेमाल करती हैं, लेकिन यदि तुलना की बात की जाए, तो ये जानना ज़रूरी है कि सेनेटरी पैड, टैम्पून और मेंस्ट्रुअल कप में से आपके लिए क्या है बेहतर? इसके साथ ही महिलाओं को पीरियड्स में हेल्थ और हाइजीन का ध्यान कैसे रखें, इसकी जानकारी भी होनी चाहिए.

Sanitary Pads, Tampons And Menstrual Cups

क्या आप पीरियड्स में सेनेटरी पैड का उपयोग करती हैं?
ज़्यादातर महिलाएं पीरियड्स में सेनेटरी पैड यानी सेनेटरी नैपकिन का उपयोग करती हैं. सेनेटरी पैड्स कॉटन या अन्य फैब्रिक से बने होते हैं. इनमें लिक्विड को सोखने की क्षमता अधिक होती है और ये पांच से छह घंटे तक ब्लीडिंग को सोख सकते हैं. कुछ महिलाओं को सेनेटरी पैड्स के उपयोग के दौरान रैशेज़, खुजली जैसी तकलीफ़ों का सामना करना पड़ता है. ऐसी महिलाओं को अच्छी क्वालिटी के सेनेटरी पैड्स का इस्तेमाल करना चाहिए और सेनेटरी पैड्स को उचित समय पर बदलते रहना चाहिए. साथ ही हाइजीन का भी ख़ास ध्यान रखना चाहिए.

यह भी पढ़ें: पीरियड के दर्द से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपाय (5 Home Remedies To Reduce Period Pain)

Sanitary Pads

क्या आप पीरियड्स में टैम्पून का उपयोग करती हैं?
टैम्पून कॉटन और विशेष फैब्रिक से बना हुआ एक स्टिक जैसा होता है, जिसमें नीचे की ओर एक धागा लटका रहता है. टैम्पून का इस्तेमाल इसे वजायना में डालकर किया जाता है. जब टैम्पून पर्याप्त ब्लड को सोख लेता है, तो धागे की मदद से टैम्पून को वजायना के बाहर निकालकर उसे डिस्पोज़ कर दिया जाता है. कुछ महिलाएं पीरियड्स में टैम्पून का उपयोग करती हैं. टैम्पून चार-पांच घंटे तक ब्लीडिंग को सोख सकता है. हमारे देश में बहुत कम महिलाएं टैम्पून का इस्तेमाल करती हैं. कुछ महिलाओं को टैम्पून के उपयोग से यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन होने की शिकायत रहती है.

Tampons

क्या आप पीरियड्स में मेंस्ट्रुअल कप का उपयोग करती हैं?
मेंस्ट्रुअल कप मुलायम और लचीले लेटेक्स का बना एक कप है, जिसे पीरियड्स के दौरान कई बार इस्तेमाल किया जा सकता है. मार्केट में सिंगल यूज के लिए भी मेंस्ट्रुअल कप उपलब्ध हैं. पैड्स, टैम्पून और मेंस्ट्रुअल कप की तुलना में मेंस्ट्रुअल कप ज़्यादा सुरक्षित है यानी इसमें लीकेज का रिस्क कम होता है, इसके बावजूद हमारे देश में बहुत कम महिलाएं ही मेंस्ट्रुअल कप का इस्तेमाल करती हैं.

Menstrual Cups

सेनेटरी पैड, टैम्पून और मेंस्ट्रुअल कप, ये तीनों ही पीरियड्स में इस्तेमाल किए जाने वाले भरोसेमंद प्रोडक्ट्स हैं, आप अपनी सुविधा और ज़रूरत के अनुसार इनका चुनाव कर सकती हैं.

योनि संक्रमण (Vaginal Yeast Infection) का उपचार जानने के लिए देखें ये वीडियो:

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय (Home Remedies) आज़माकर आप आसानी से व्हाइट डिस्चार्ज से छुटकारा पा सकती हैं. व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) महिलाओं (Women) की एक आम समस्या (Common Problem) है. हर महिला को कभी न कभी व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या हो ही जाती है, ऐसे में व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय आपके बहुत काम आएंगे.

Home Remedies To Cure White Discharge

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या मानसिक भी हो सकती है
क्या आप जानती हैं कि महिलाओं में व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या पति-पत्नी में आपसी मतभेद या तनाव के कारण भी हो सकती है? जी हां, यदि आपके अपने पार्टनर से रिश्ते मधुर नहीं हैं, तो इसके कारण भी आपको व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या हो सकती है. व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) की समस्या के क्या कारण होते हैं और इससे कैसे छुटकारा पाया जाए, बता रही हैं साइकोलॉजिस्ट और वुमन हेल्थ काउंसलर नम्रता जैन.

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) के कारण और उससे बचने के उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

व्हाइट डिस्चार्ज (श्‍वेत प्रदर) से बचने के 10 घरेलू उपाय:
1) रोज़ाना दो-तीन केला खाने से श्‍वेतप्रदर की समस्या दूर होती है.
2) 3 ग्राम आंवले का पाउडर शहद के साथ दिन में तीन बार चाटने से लाभ होता है.
3) गूलर का फूल पीसकर और उसमें मिश्री व शहद मिलाकर दो-तीन बार सेवन करने से फ़ायदा मिलता है.
4) स़फेद मूसली पाउडर या ईसबगोल को सुबह- शाम शर्बत के साथ पीने से आराम मिलता है.
5) हरे आंवले को पीस कर उसे जौ के आटे में मिलाकर उसकी रोटी एक महीने तक खाने से श्‍वेतप्रदर से आराम मिलता है.

यह भी पढ़ें: मुंह/सांसों की बदबू से छुटकारा पाने के 5 घरेलू उपाय (5 Home Remedies To Get Rid Of Bad Breath Instantly)

6) टमाटर का रोज़ाना सेवन करने से भी फ़ायदा मिलता है.
7) फालसे का शर्बत पीने से श्‍वेत प्रदर में आराम मिलता है.
8) मुलहठी 10 ग्राम, मिश्री 20 ग्राम, जीरा 5 ग्राम, अशोक की छाल 10 ग्राम- इन सभी का चूर्ण बनाकर रख लें. इसमें 3 से 4 ग्राम चूर्ण दिन में तीन बार खाएं.
9) कच्चे केले को सुखाकर चूर्ण बना लें. उसमें समान मात्रा में गुड़ मिलाकर दिन में तीन बार कुछ दिन तक लेने से आराम मिलता है.
10) सिंघाड़ा, गोखरू, बड़ी इलायची, बबूल की गोंद, शक्कर, सेमल की गोंद समान मात्रा में मिलाकर सुबह-शाम लें.

यह भी पढ़ें: सेक्स के दौरान हो दर्द तो करें ये 5 आसान घरेलू उपाय (5 Home Remedies For Vaginal Pain And Dryness)

वजाइनल इंफेक्शन (योनि में संक्रमण) से राहत पाने के घरेलू उपाय आपको जल्दी ही वजाइनल इंफेक्शन से राहत दिलाएंगे. वजाइनल इंफेक्शन (योनि संक्रमण) महिलाओं को होने वाली एक आम समस्या है, इसके बारे में महिलाएं जल्दी खुलकर बात भी नहीं करतीं. ऐसे में वजाइनल इंफेक्शन (योनि संक्रमण) से राहत पाने के घरेलू उपाय आपके बहुत काम आएंगे.

Cure Vaginal Infection

 

वजाइनल इंफेक्शन (योनि संक्रमण) से राहत पाने के आसान और उपयोगी घरेलू उपाय:
* धनिया का 5-10 ग्राम चूर्ण रात को भिगोकर रख दें. सुबह इसे छानकर पीएं.
* खट्टी-मीठी चीज़ें, तेल-मिर्च, ज़्यादा मसालेदार चीज़ों से परहेज़ करें.
* गुप्तांगों को नियमित साफ़ करें.
* ख़ून की कमी को पूरा करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें.
* बंदगोभी, पालक, टमाटर, सिंघाड़ा, गूलर आदि फलों का नियमित सेवन करें.

यह भी पढ़ें: स्तनों (Breast) को बड़ा और सुडौल बनाने 5 अचूक घरेलू उपाय

 

वजाइनल इंफेक्शन (योनि संक्रमण) से राहत पाने के 5 आसान घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

 

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) यानी स़फेद पानी आने की बीमारी स्त्रियों को होने वाला सामान्य रोग है, जो उन्हें पीड़ादाई स्थिति में पहुंचा देता है. व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) के कई कारण हैं, जैसे- गुप्तांगों की सफ़ाई न करना, ख़ून की कमी, ज़्यादा सेक्स, तेल, मसाले, चटपटे व तीखे पदार्थों का ज़्यादा सेवन, कामुक विचार, वेजाइना में इंफेक्शन, वेजाइना या यूटरस के मुंह पर छाले, पीरियड की विकृति, ज़्यादा संतान होना, मूत्र स्थान में संक्रमण आदि.

Home Remedies, Cure White Discharge

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) के लक्षण
सफ़ेद पानी आना शुरू होने पर स्त्री को कमज़ोरी महसूस करती है. ख़ून कम होने से चक्कर आना, आंखों के सामने अंधेरा छा जाना, भूख न लगना, पेट साफ़ न होना, बार-बार पेशाब, पेट में भारीपन, कमर दर्द, वेजाइना में खुजली आदि लक्षण पाए जाते हैं. पीरियड से पहले या बाद में श्वतप्रदर स़फेद लसदार होता है. इसमें रोगी का चेहरा पीला पड़ जाता है.

यह भी देखें: जोड़ों के दर्द से छुटकारा पाने के 20 सुपर इफेक्टिव घरेलू उपाय

 

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) से छुटकारा पाने के आसान घरेलू नुस्ख़े
* रोज़ाना दो-तीन केला खाने से श्वेतप्रदर की समस्या दूर होती है.
* 3 ग्राम आंवले का पाउडर शहद के साथ दिन में तीन बार चाटने से लाभ होता है.
* गूलर का फूल पीसकर और उसमें मिश्री व शहद मिलाकर दो-तीन बार सेवन करने से फ़ायदा मिलता है.
* स़फेद मूसली पाउडर या ईसबगोल को सुबह- शाम शर्बत के साथ पीने से आराम मिलता है.
* हरे आंवले को पीस कर उसे जौ के आटे में मिलाकर उसकी रोटी एक महीने तक खाने से श्वेतप्रदर से आराम मिलता है.
* टमाटर का रोज़ाना सेवन करने से भी फ़ायदा मिलता है.
* फालसे का शर्बत पीने से श्वेत प्रदर में आराम मिलता है.
* कच्ची भिंडी रोज़ सुबह खाने से लाभ होता है.
* मुलहठी 10 ग्राम, मिश्री 20 ग्राम, जीरा 5 ग्राम, अशोक की छाल 10 ग्राम- इन सभी का चूर्ण बनाकर रख लें. इसमें 3 से 4 ग्राम चूर्ण दिन में तीन बार खाएं.
* कच्चे केले को सुखाकर चूर्ण बना लें. उसमें समान मात्रा में गुड़ मिलाकर दिन में तीन बार कुछ दिन तक लेने से आराम मिलता है.
* सिंघाड़ा, गोखरू, बड़ी इलायची, बबूल की गोंद, शक्कर, सेमल की गोंद समान मात्रा में मिलाकर सुबह-शाम लें.

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) की समस्या से छुटकारा पाने के 5 आसान घरेलू उपाय जानने के लिए देखें वीडियो:

व्हाइट डिस्चार्ज (White Discharge) होने पर इन चीज़ों से परहेज़ करें
* श्वेतप्रदर में स्त्रियों को खाने-पीने में विशेष सावधानी रखनी चाहिए.
* खट्टी-मीठी चीज़ें, तेल-मिर्च, ज़्यादा मसालेदार चीज़ों से परहेज़ करें.
* गुप्तांगों को नियमित साफ़ करें.
* ख़ून की कमी को पूरा करने वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करें.
* बंदगोभी, पालक, टमाटर, सिंघाड़ा, गूलर आदि फलों का नियमित सेवन करें.

यह भी देखें: जानें गैस बनने की असली वजहें और उससे बचने के असरदार उपाय