Tag Archives: Whooping Cough In Children

चाइल्ड केयरः बच्चों की काली खांसी के 13 असरदार नुस्ख़े (Child Care: Children’s And Whooping Cough)

अधिकतर बच्चों को होनेवाली संक्रामक बीमारियों में से काली खांसी एक गंभीर बीमारी है. इसका छोटे बच्चों पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है. इस बीमारी की शुरुआत सामान्य खांसी से होती है. साथ ही अक्सर बच्चे की नाक बहती रहती है. इस बीमारी में खांसी एकाएक आरंभ हो जाती है और बच्चे को उठाते ही खांसी बढ़ जाती है. बच्चे को सांस लेने में कठिनाई होती है. ये सभी काली खांसी के लक्षण है. इसमें खांसी के साथ प्रायः उल्टी भी होती है. इसके अलावा निमोनिया और कान का संक्रमण इस बीमारी में ख़ास परेशान करता है. काली खांसी को कुक्कुर खांसी भी कहते हैं.

Child Care Tips

 

* तीन-चार बादाम रातभर पानी में भिगोकर रख दें. सुबह बादाम के छिलके निकालकर इसमें लहसुन की एक कली व थोड़ा-सा मिश्री मिलाकर बारीक़ पीस लें. अब इसकी छोटी-छोटी गोलियां बना लें. बच्चे को ये गोलियां खिलाएं. इससे काली खांसी में काफ़ी राहत मिलेगी.

* पांच-छह लहसुन की कलियों को छीलकर बारीक़ काटकर पानी में अच्छी तरह से उबाल लें. इस पानी से भाप लें. प्रतिदिन इसी तरह से करते रहने से सात-आठ दिन में काली खांसी जड़ से दूर हो जाएगी.

* शुद्ध किया हुआ नारियल का तेल दिनभर में तीन बार आधा टीस्पून पिलाने से भी काली खांसी में शीघ्र लाभ होता है.

* अनार का छिलका सुखाकर उसे पीसकर चूर्ण बनाएं. 2 ग्राम चूर्ण को पानी में उबालकर छान लें. ठंडा होने पर 1-2 चम्मच की मात्रा में दिन में तीन-चार बार पिलाएं. इससे तीन दिन में ही काली खांसी दूर हो जाएगी.

यह भी पढ़ेकपूर के 23 चमत्कारी फ़ायदे (23 Miraculous Benefits Of Camphor (Kapur) You Must Know)

* केले के सूखे पत्तों को जलाकर भस्म (राख) बनाएं. इस भस्म को शहद में मिलाकर बच्चे को 125 मि.ग्रा. की मात्रा में दिन में तीन-चार बार चटाएं.

* बच्चे को अधिक से अधिक तरल पदार्थ दें, जैसे- जूस, सूप, पानी आदि. भोजन भी हल्का ही दें.

* 250 मि.ग्रा. भुनी हुई फिटकरी सममात्रा में शक्कर में मिलाकर दिन में दो बार देने से काली खांसी दूर हो जाती है.

* मुलहठी और अनार का छिलका जलाकर कपड़छान चूर्ण बनाएं. इस चूर्ण को आधा टीस्पून की मात्रा में शहद में मिलाकर बच्चे को चटाएं. इससे राहत मिलेगी और कुछ दिनों में काली खांसी दूर हो जाएगी.

* तुलसी के पत्ते और कालीमिर्च समभाग में लेकर उसे पीस लें. फिर मूंग के बराबर गोलियां बनाकर 1-1 गोली चार बार बच्चे को दे. दें. कुछ दिनों में काली खांसी अवश्य दूर हो जाएगी.

यह भी पढ़ेककड़ी के 15 बेमिसाल फ़ायदे (15 Amazing Health Benefits Of Cucumbers You May Not Know)

* अनार के छिलके, कालीमिर्च, सेंधा नमक- सभी को सममात्रा में लेकर महीन पीसकर पाउडर बना लें. आधा टीस्पून पान के रस के साथ मिलाकर बच्चे को तीन बार चटाएं. यदि आप चाहें, तो पान के रस की बजाय तुलसी का रस भी ले सकते हैं.

* एक छोटा चम्मच मां का दूध या बकरी का दूध लेकर उसमें आधा चम्मच शहद मिलाकर दिन में चार-पांच बार बच्चे को चटाएं. इससे भयंकर से भयंकर खांसी भी दूर हो जाएगी. यह काली खांसी का अचूक इलाज है.

* लौंग को आग में भूनकर और बारीक़ चूर्ण बनाकर शहद के साथ दिन में तीन बार चटाने से काली खांसी से राहत मिलती है.

सुपर टिप

चने के दाल के बराबर पिसी हुई फिटकरी पानी में मिलाकर दिन में दो बार पिलाने से काली खांसी में लाभ होता है.

– मूरत पन्नालाल गुप्ता

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazan