Tag Archives: women protection

टॉप 12 वुमन सेफ्टी ऐप्स (Top 12 Women Safety Apps)

मेट्रो सिटीज़ में जहां महिलाओं (Women) को काम के सिलसिले में देर रात तक घर से बाहर रहना पड़ता है. ऐसे में उनकी सुरक्षा एक अहम् मुद्दा है. महिलाओं के साथ होनेवाले दुर्व्यवहार, यौन शोषण और बलात्कार जैसे अपराधों की ब़ढ़ती दर को देखते हुए महिला सुरक्षा चिंता का मुख्य विषय बनता जा रहा है. हालांकि सरकार की ओर से इस दिशा में कठोर क़दम उठाए जा रहे हैं, लेकिन इनके अलावा कुछ सेफ्टी ऐप्स (Safety Apps) भी हैं, जो उन्हें सुरक्षित रहने में मदद करेंगे.

 

  1. सेफ्टीपिन (Safetipin)

महिला सुरक्षा पर बनाए गए अनगिनत ऐप्स में से सबसे बेहतरीन ऐप है सेफ्टीपिन, जिसे ऑपरेट करना बहुत आसान है. इस ऐप की ख़ासियत है कि यह ऐप यूज़र (उपयोगकर्ता) के जीपीएस लोकेशन को लगातार ट्रैक करता है. आपातकाल के दौरान यूज़र को आपातकालीन नंबर पर वन-टच अलर्ट मैसेज देता है, ताकि कोई अनहोनी होने से पहले ही यूज़र सावधान हो जाए. यह ऐप संकट में यूज़र को आसपास के सुरक्षित स्थानों के बारे में अवगत कराता है. अन्य महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए यूज़र इस ऐप के ज़रिए सुरक्षित व असुरक्षित स्थानों को पिन कर सकती है. यह ऐप केवल हिंदी या अंग्रेज़ी में ही नहीं, बल्कि स्पैनिश में भी उपलब्ध है.

  1. आयएम शक्ति सेफ्टी ऐप (I’m Shakti Safety App)

इस ऐप की विशेषता है कि आपातकालीन स्थितियों में पावर बटन को 2 सेकंड में 5 बार दबान सेे रजिस्टर्ड नंबर पर मैसेज ऑटोमेटिकली चला जाता है यानी कि इस ऐप के माध्यम से यूज़र संकट की स्थिति में किसी विशेष व्यक्ति को इमर्जेंसी मैसेज भेज सकती है. इसमें लोकेशन डिटेल भी होती है. यदि मोबाइल का जीपीएस ऑन नहीं होगा, तो यह ऐप नज़दीकी सेल फोन टॉवर की लोकेशन को मैसेज भेज देता है.

  1. शेक2सेफ्टी (Shake2Safety)

यह ऐप टॉप 10 वुमेन सेफ्टी ऐप्स में से एक है, जिसे महिलाओं के लिए गंभीर परिस्थितियोें में सहायता प्राप्त करने के लिए बनाया गया है. इस ऐप की ख़ासियत है कि यूज़र फोन को हिलाकर (शेक) या पावर बटन को चार बार दबाकर अपने परिवार और मित्रों को संदेश भेज सकती है. फोन को शेक करने के ऑप्शन को यूज़र कभी भी एक्टिवेट और डीएक्टिवेट कर सकती है. ऐसी स्थिति में जहां यूज़र स्मार्टफोन का इस्तेमाल करने में असमर्थ है, वहां पर यह ऐप बहुत फ़ायदेमंद है, क्योंकि इमर्जेंसी की स्थिति में ऐप के द्वारा इमर्जेंसी संदेश भेजना बहुत आसान है.

  1. निर्भया: बी फीयरलेस ऐप (Nirbhaya: Be Fearless App)

वर्ष 2012 में हुए निर्भया बलात्कार मामले के बाद महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए निर्भया ऐप बनाया गया. इस ऐप के ज़रिए महिला संकट की स्थिति में सेट कॉन्टैक्ट नंबर पर कॉल या मैसेज भेज सकती है. इसके लिए महिला को एसओएस यानी सेव आवर सोल्स (डर्रींश र्ेीी र्डेीश्री) टाइप करना होता है. घबराहट या जल्दबाज़ी में अगर फोन लॉक हो जाए, तो इमर्जेंसी मैसेज भेजने के लिए मोबाइल को हिलाना होता है. एसओएस नंबर के सेट होने पर अपने आप मैसेज सेंट हो जाता है. यह ऐप यूज़र को असुरक्षित स्थानों के बारे में नोटिफिकेशन भी देता है.

  1. सर्कल ऑफ 6 (Circle of 6 App)

महिला सुरक्षा के हिसाब से यह ऐप बहुत उपयोगी है. इस ऐप में यूज़र को अलग-अलग नोटिफिकेशन्स आते हैं, जिनकी मदद से यूज़र अपने पहचान के सर्कल (नज़दीकी लोगों) को अलर्ट कर सकता है. इस ऐप में महिला हेल्पलाइन, वुमेन राइड डेवोकेसी और इमर्जेंसी नंबर दिए रहते हैं. इन नंबर्स पर एक क्लिक करके यूज़र महिला अपने सर्कल के लोगों को कॉल कर सकती है. इसे ऑपरेट करना बेहद आसान है और इच्छानुसार यूज़र्स अपने सर्कल के लोगों में बदलाव कर सकता है. इस ऐप को हिंदी और अंग्रेज़ी दोनों भाषाओं में उपयोग किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: इन 10 तरीक़ों से अपने स्लो मोबाइल को बनाएं फास्ट (10 Smart Tricks To Speed Up Your Android Phone)

 

  1. बीसेफ (bSafe)

महिलाओं की सुरक्षा के प्रति आश्‍वस्त रहने के लिए यह ऐप एक चैनल का काम करता है. यह ऐप वुमेन यूज़र की लाइव लोकेशन को

जानने में उसके परिवार, गार्जियन और दोस्तों की मदद करता है. यूज़र आपातकालीन स्थितियों में एसओएस मैसेज फीचर का लाभ उठा सकता है. यह फीचर सभी इमर्जेंसी कॉन्टैक्ट को जीपीएस लोकेशन के साथ संदेश भेजता है.

  1. स्मार्ट24×7 (Smart (24×7)

स्मार्ट24×7 की मदद से महिलाएं संदिग्ध परिस्थितियों में एसओएस मैसेज को चुनिंदा लोगों को भेज सकती हैं. इस ऐप में संदिग्ध परिस्थितियों के लिए एक पैनिक बटन दिया गया है, जब महिलाएं किसी संकट में फंस जाती हैं, तो इस पैनिक बटन को दबाने पर तुरंत मैसेज संपर्क सूत्रों (परिवार, रिश्तेदारों और दोस्तों) को भेज सकती हैं.

  1. वुमेन फाइट बैक ऐप (Women Fight Back app)

सुरक्षा के लिहाज़ से यह ऐप भी महिलाओं के लिए बहुत फ़ायदेमंद है. इस ऐप के द्वारा संकट की स्थिति में अपने क़रीबी लोगों, परिवार व मित्रों के पास एसओएस मैसेज भेजकर जीपीएस ट्रैकिंग के ज़रिए इमर्जेंसी कॉल भी किया जा सकता है. इस ऐप में रजिस्टे्रशन और लॉग इन करने के बाद इसमें दिए गए फीचर को अपनी इच्छा से चुनना होता है. इस ऐप में पैनिक बटन भी होता है, जिसका इस्तेमाल एसएमएस भेजने के लिए किया जाता है. जब यह मैसेज रिसीवर के पास पहुंचता है, तो महिला की मदद के लिए चिल्लाने की आवाज़ में बीप करता है.

  1. वुमन्स सिक्योरिटी (Women’s Security)

बहुत सारे सेफ्टी ऐप्स यूज़र्स को इंस्टेंट मैसेज भेजने के लिए इमर्जेंसी नंबर की सुविधा प्रदान करते हैं, जबकि इस ऐप में एक और सेफ्टी फीचर है. इसमें जाकर यूज़र 45 सेकंड्स तक आवाज़ रिकॉर्ड करके आपातकालीन नंबर्स पर संदेश भेज सकता है.

  1. वॉच ओवर मी ऐप (Watch Over Me App)

महिलाओं की सुरक्षा को सुनिश्‍चित करने के लिए ज़रूरी है कि उनके लोकेशन को ट्रैक किया जाए. इस ऐप के द्वारा यूज़र के लोकेशन को आसानी से ट्रैक किया जा सकता है.

  1. सिक्योर हर ऐप (Secure Her App)

इस ऐप के द्वारा महिला मुश्किल घड़ी में अपने परिवार व क़रीबी लोगों को संदेश भेेज सकती है. महिला को बस दो बार ही ऐप आइकन को टैप करना होता है, फिर एसओएस मैसेज महिला के संपर्क-सूत्रों तक पहुंच जाता है.

  1. स्टे सिक्योर (Stay Secure)

अन्य सेफ्टी ऐप्स की तरह स्टे सिक्योर ऐप में महिला उपयोगकर्ता संकट की स्थिति में आपातकालीन संदेश भेज सकती है. इस ऐप का इस्तेमाल करने के लिए महिला को 5 बार पावर बटन दबाना होता है. इसके बाद इमर्जेंसी नंबर्स पर संदेश पहुंच जाता है. इस ऐप में एसओएस मैसेज की सुविधा भी है, जिसे वह 5 लोगों को भेज सकती है. इंटरनेट न होने पर भी महिला उपयोगकर्ता इस ऐप का इस्तेमाल कर सकती है.

उपरोक्त वुमेन सेफ्टी ऐप्स के अलावा और भी बहुत सारे ऐप्स हैं, जिनका इस्तेमाल वह आपातकालीन स्थितियों में कर सकती हैं.

–     लाइफ360फैमिली लोकेटर ऐप (Life360   Family Life360   Family  Locator App)

–     वुमेन सेफ्टी ऐप (Women safety App)

–     रक्षा वुमेन सेफ्टी अलर्ट (Raksha WomenRaksha Women Safety Alert)

–     विदयू ऐप (VithU App)

–     टैक्सीपिक्सी (TaxiPixi)

–     चिल्ला (Chilla)

 – पूनम नागेंद्र शर्मा

यह भी पढ़ें: पढ़ाई को रोचक बना रहे हैं एजुकेशनल ऐप्स (Best Educational Apps For Android)

यह भी पढ़ें: स्मार्ट महिलाओं के लिए मोबाइल वॉलेट टिप्स (Mobile Wallet Tips For Smart Women)