yoga for weight loss

पीसीओडी (PCOD) यानी पॉलीसिस्टिक ओवरी डिसीज़ या सिंड्रोम. यह महिलाओं में पाया जानेवाला बहुत ही सामान्य रोग है और बहुत बड़ी संख्या में (लगभग 90 लाख) युवा महिलाएं इससे पीड़ित हैं. हैरानी की बात यह है कि इनमें से भी 60% को यह पता नहीं रहता कि उन्हें यह रोग है. एक व़क्त था जब यह मिडल एज डिसीज़ मानी जाती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं रहा. इस रोग में महिलाओं में सेक्स हार्मोंस के असंतुलन के चलते ओवरी में सिस्ट यानी गांठें बन जाती हैं, जिस वजह से गर्भधारण में समस्या होती है. ग़लत खानपान, तनाव, मोटापा, डायबिटीज़, हाई ब्लड प्रेशर आदि के कारण भी पीसीओडी की समस्या हो जाती है. लेकिन योग के ज़रिए आप इस समस्या से निजात पा सकती हैं. योग से आपके पीरियड्स व हार्मोंस संबंधी सभी समस्याएं दूर हो जाएंगी. इस वीडियो में 4 योगासन बताए गए हैं- पश्‍चिमोत्तानासन, धनुरासन, सर्वांगासन और हलासन, ये 4 योगासन करके आप पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) से आसानी से छुटकारा पा सकती हैं.

कम उम्र की लड़कियों को भी हो रहा है पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS)
आज की भागदौड़ भरी और तनाव भरी ज़िंदगी में सबसे ज़्यादा हमारी सेहत प्रभावित हो रही है. जो रोग पहले 40-50 की उम्र में होते थे, वो रोग अब बच्चों को भी होने लगे हैं. महिलाओं में भी बड़ी उम्र में पाया जानेवाला रोग पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) अब कम उम्र की लड़कियों में भी दिखाई देने लगा है. इसकी सबसे बड़ी वजह है ग़लत लाइफस्टाइल, गलत खानपान, तनाव, मोटापा आदि.

यह भी पढ़ें: मोटापा कम करने के १० योगासन (10 Yoga For Weight Loss Fast And Naturally)

पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) के लक्षण
1) अनियमित पीरियड्स यानी मासिक धर्म समय पर न आना
2) चेहरे, छाती, पेट, पीठ पर अधिक बाल उगना
3) अचानक वज़न बढ़ जाना
4) मां न बन पाना
5) इमोशनल इंबैलेंस यानी बेवजह चिंता, तनाव, चिड़चिड़ापन, भावुक हो जाना आदि
6) स्किन ऑयली हो जाना, चेहरे पर पिंपल्स, दाग-धब्बे हो जाना, बार-बार डैंड्रफ हो जाना
7) कई महिलाओं को ओवरी में सिस्ट भी हो जाता है

यह भी पढ़ें: योग से 10 तरह के दर्द से छुटकारा पाएं (International Yoga Day: Yoga Poses That Relieve 10 Types Of Body Pain)

पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय
पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) को नज़रअंदाज़ करना ठीक नहीं है. पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) के बारे में पता चलते ही इसका इलाज ज़रूर कराएं. साथ ही अपनी लाइफस्टाइल में बदलाव लाकर आप पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) से जल्दी ही छुटकारा पा सकती हैं.

1) हेल्दी खाना खाएं और जंक फूड से परहेज करें.
2) नियमित रूप से योग, ध्यान और एक्सरसाइज़ करें.
3) रात में जल्दी सोएं और सुबह जल्दी उठें.
4) तनाव से दूर रहें.
5) अच्छी किताबें पढ़ें, अच्छा संगीत सुनें, अपने शौक के लिए समय निकालें.
6) मोटापा न बढ़ने दें.
7) पीसीओडी (PCOD) / पीसीओएस (PCOS) के बारे में पता चलते ही अपना इलाज कराएं.

पीसीओडी से घर बैठे छुटकारा पाने के लिए करें ये 4 योगासन, देखें वीडियो:

योग न स़िर्फ वज़न घटाता है, बल्कि मन की शांति और पॉज़िटिव एनर्जी भी देता है. आइए, जानते हैं वेट लॉस के लिए कौन-से योगासन कर सकती हैं?

Yogasan

 

सर्वांगासन

 

– सीधे लेट जाएं और पांच बार सांस लें व छोड़ें. फिर सांस छोड़ते हुए पैरों को इतना ऊपर ले जाएं कि केवल आपके कंधों वाला हिस्सा ही ज़मीन पर रहे.
– हाथ कमर पर हों और कमर-पीठ का हिस्सा भी हवा में ही हो.
– इसी स्थिति में पांच बार सांस लें और छोड़ें.
– अब सांस लेते हुए सामान्य स्थिति मेें आ जाएं.

यह भी पढ़ें: योगा फॉर फ्लैट टमी

हलासन

 

– सर्वांगासन के बाद हलासन करें.
– इसके लिए सांस छोड़ते हुए पैरों को ऊपर ले जाएं और कंधे के हिस्से को ज़मीन पर रखते हुए पैरों को इस तरह मोड़ें कि आपका सिर घुटनों को स्पर्श करे.
– इसी स्थिति मेें पांच बार सांस लें और छोड़ेें.
– अब सांस लेते हुए सामान्य स्थिति में आ जाएं.

 

शीर्षासन

 

– घुटनों के बल बैठें और हाथों को मैट के बीचों-बीच रखें.
– मुंह को हाथों के बीच मेें रखें.
– सांस लें, पैरों को कोहनी की ओर खिसकाएं और सांस छोड़ें.
– फिर दोनों पैरों को एक साथ उठाएं.
– सिर, पैर ही ज़मीन को स्पर्श कर रहे होंगे, बाकी हिस्सा हवा में ही होगा.
– इसी स्थिति में पांच बार सांस लें व छोड़ें.
– अब धीरे-धीरे सामान्य स्थिति में आ जाएं.

यह भी पढ़ें: Fat To Fit: 8 हफ़्तों में वज़न घटाएं- नज़र आएं स्लिम-ट्रिम

बद्ध पद्मासन

 

– पद्मासन में बैठकर दोनों हाथों को पीछे ले जाते हुए क्रॉस करें.
– सांस छोड़ते हुए सिर को आगे की ओर झुकाएं और ज़मीन के समानांतर ले आएं.
– पांच बार सांस लें व छोड़े.
– अब सांस लेते हुए सामान्य स्थिति में आएं.

 

शवासन

 

– ये आसन संपूर्ण विश्राम देता है.
– इस आसन में आप ज़मीन पर सीधे लेटकर अपने सभी अंगों को ढीला छोड़ दें और सारे तनाव, खिंचाव और परेशानियों को बाहर जाता हुआ महसूस करें.
– इस आसन से मानसिक तनाव दूर होगा और आपको सुकून का एहसास होगा.

यह भी पढ़ें: 11 योगासन जो आपके बच्चे को बनाएंगे फिट एंड इंटेलिजेंट