प्रेग्नेंसी में होनेवाली उल्टी में राहत के लिए 9 प्रभावकारी होम रेमेडीज़ (9 Effective Home Remedies For Vomiting During Pregnancy)

 

Home Remedies Vomiting Pregnancy

प्रेग्नेंसी में शुरुआती तीन-चार महीने उल्टी की शिकायत रहती है. इसका मुख्य कारण शरीर में विजातीय पदार्थों की अधिकता है. बार-बार उल्टी होना बहुत कष्टदायक होता है. ऐसे में निम्न घरेलू नुस्ख़े लाभकारी होते हैं.

* गर्भवती स्त्री को चाहिए कि वह सुबह मुंह धोकर हल्के गुनगुने पानी में एक नींबू का रस निचोड़कर खाली पेट कुछ दिनों तक पीए. इससे उल्टी बंद हो जाती है.

* अधिक उल्टी होने पर केवल भोजन में तरल पदार्थ, जैसे- नींबू का रस, संतरा-मोसम्बी का जूस, पके आम का रस तथा नारियल का पानी लेना लाभदायक रहता है.

* यदि गर्मी का मौसम हो, तो ब़र्फ का पानी सेवन करने से भी बड़ा लाभ होता है.

* गर्भवती स्त्री के पेट पर गीली मिट्टी की पट्टी तथा पानी की पट्टी रखने से भी वमन या उल्टी बंद हो जाती है.

यह भी पढ़े: खट्टी-मीठी इमली रोगनाशक औषधि भी

यह भी पढ़े: हाई ब्लड प्रेशर के लिए नेचुरल आयुर्वेदिक घरेलू नुस्ख़े

* उल्टी की दशा में गर्भिणी को अधिक से अधिक आराम करना चाहिए.

* गर्भिणी की उल्टी में गुलकंद लाभदायक है. गुलकंद और मक्खन बराबर मात्रा में लेकर 10-10 ग्राम की मात्रा में दिन में तीन बार सेवन करने से लाभ होता है. इससे गर्भवती की उल्टी बंद होती है और शरीर को शक्ति भी मिलती है.

* एक काग़ज़ी नींबू को बीच से काटकर दो टुकड़े कर लें. फिर दोनों भागों के ऊपर कालीमिर्च का पाउडर तथा नमक डालकर आग पर गर्म करके चूसें. इससे गर्भवती को उल्टी से राहत मिलती है.

* गर्भवती द्वारा एक-दो अनार के दाने के रस को थोड़ा-थोड़ा करके चूसना भी लाभदायक होता है. नियमित ऐसा करने से उल्टी या वमन का शमन होता है.

* धनिया का का़ढ़ा बनाकर उसमें मिश्री व चावल का पानी मिलाकर पिलाने से गर्भवती की उल्टियां बंद हो जाती हैं.
काढ़ा बनाने की विधि: 10 ग्राम धनिया पाउडर 2 कप पानी में उबालें. आधा रह जाने पर उतारकर रख लें. इसमें एक चम्मच मिश्री का पाउडर तथा आधा कप चावल का धोवन मिलाकर पीएं. हरे धनिया का रस भी थोड़ा-थोड़ा 2-3 बार पीने से उल्टी में लाभ होता है.

दादी मां के अन्य घरेलू नुस्ख़े/होम रेमेडीज़ जानने के लिए यहां क्लिक करें-  Dadi Ma Ka Khazana