हरमनप्रीत कौर एक अयोग्य, झूठी और चालाक कैप्टन हैंः मिथाली की मैनेजर का बयान (Manipulative, Lying, Undeserving Captain’: Mithali Raj’s Manager Statement)

इंडियन वुमन क्रिकेट टीम (Indian Women Cricket Team) की वर्ल्ड T20  में अजेय रथ पर 23 नंवबर को विराम लग गया. भारतीय महिला क्रिकेट टीम को इंग्लैड में आठ विकेट से हरा दिया. हर किसी को लग रहा था कि महिला क्रिकेट टीम काफ़ी आगे तक जाएगी, क्योंकि भारतीय वुमन इन ब्लू टीम की सभी महिला प्लेयर्स बहुत फॉर्म में थीं. लेकिन हमारी टीम एेसा करने में असमर्थ रही और उन्हें करारी हार का सामना करना पड़ा. इस हार के लिए सभी स्किपर हरमनप्रीत कौर को ज़िम्मेदार ठहरा रहे हैं, जिन्होंने टीम की सबसे अनुभवी खिलाड़ी मिथाली राज को प्लेइंग 11 में शामिल नहीं किया था. हरमनप्रीत का कहना था कि यह निर्णय टीम के हित को ध्यान में रखकर लिया गया था, न कि विनिंग इलेवन को डिस्टर्ब करने की मंशा से.

Mithali Raj

Mithali Raj

मैच के बाद हरमनप्रीत ने कहा कि उन्हें मिथाली राज को प्लेइंग इलेवन में शामिल नहीं करने का कोई दुख नहीं है. उनके इस स्टेमेंट की चारों बहुत आलोचना हो रही है. अच्छे फॉर्म में चल रही मिथाली को टीम में जगह न देने के निर्णय से फैंस और एक्सपर्ट्स दोनों ही नाराज़ हैं. हरमनप्रीत के इस निर्णय का सबसे ज़्यादा दुख मिथाली की मैनेजर अनीशा गुप्ता को हैं. जिन्होंने हरमनप्रीत कौर को चालाक और अयोग्य कैप्टन करार दिया है.

अनीशा ने अपने विचार ट्ववीट किए, लेकिन चारो ओर से अालोचना होने के बाद ट्वीट को डिलीट कर दिया. अनीशा ने ट्वीट करते हुए लिखा था कि @BCCIWomen खेल में नहीं राजनीति में विश्वास करती है. मुझे इस बात का दुख है कि उन्होंने मिथाली के अनुभव और योग्यता पर भरोसा करने की बजाय हरमनप्रीत को खुश करने का फैसला किया, जो कि एक चालाक और अयोग्य कैप्टन हैं. हालांकि अनीशा का अकाउंट भी डिलीट कर दिया
गया है.
लेकिन एक क्रिकेट चैनल ने स्वीकार किया कि वो अकाउंट उनका था. अनीशा ने बातचीत करते हुए कहा था कि मुझे नहीं पता कि अंदर क्या चल रहा है, लेकिन अब मैच टेलीकास्ट हो रहा है और हमें पता चल जाएगा कि कौन खेल रहा है और कौन नहीं. आप देख सकते हैं कि अच्छा खेलने के बावजूद मिथाली को किस तरह का ट्रीटमेंट मिल रहा है. एेसे स्टेटमेंट आ रहे हैं कि वे नई खिलाड़ियों को मौक़ा देना चाहते हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं कि आप इंग्लैंड जैसी टीम के साथ हो रहे मैच में अपने सबसे अनुभवी खिलाड़ी को ड्रॉप कर दें.
अपने स्टेटमेंट पर बाद में प्रतिक्रिया देते हुए अनीशा ने कहा कि मैं थोड़े गुस्से में थी, लेकिन मैं इतने अनुभवी खिलाड़ी के साथ हो रहे अन्यायपूर्ण व्यहार को बर्दाश्त नहीं कर पाई. मुझे लगता है कि हर किसी को दिख रहा है कि टीम के कुछ खिलाड़ियों के साथ किस तरह का ग़लत व्यवहार हो रहा है और किस तरह कुछ लोगों को स्पेशल ट्रीटमेंट मिल रहा है.

ये भी पढ़ेंः रणवीर ने बहन ने दी दीपवीर को ग्रैंड पार्टी 

.