बूझो तो जानें… 20 पहेलियां दिमा...

0 votes, 0 avg
71

पहेलियां

बूझो तो जानें… 20 पहेलियां दिमाग़ी घोड़े दौड़ाओ और ज़रा ज़ोर लगाओ, बूझ सको तो बूझो और इन पहेलियों को सुलझाओ 

1. गर्मी में जिससे हैं हम घबराते, जाड़े में है हम उसी को खाते, उससे हैं प्रत्येक चीज चमकती दुनिया उससे खूब दमकती ?

2. कौनसी चीज है जो पैदा तो समुद्र में होती है लेकिन रहती घर में है

3. तीन अक्षर का नाम है, आगे से पढ़ो या पीछे से मतलब एक समान है

4. ऐसा शब्द जिससे फूल, मिठाई और फल बन जाए ?

5. मैं हरी, मेरे बच्चे काले, मुझे छोड़, मेरे बच्चे खाले

6. लिखता हूं पर पेन नहीं हूं 

चलता हूं पर गाड़ी नहीं हूं 

टिक-टिक करता हूं पर घड़ी नहीं हूं

7. अंधेरे में बैठी है एक रानी, सिर पर है आग और तन में है पानी

8. वर्ष के कौन से महीने में 28 दिन होते हैं

9. ऐसा क्या है, जो आपका अपना है, लेकिन उसका इस्तेमाल दूसरे आपसे ज्यादा करते हैं?

10. वो क्या है, जो हमेशा साथ रहता है पर पकड़ में नहीं आता, जहां जाओ पीछा है करता

11. खुद कभी वह कुछ न खाए,

लेकिन सब को खूब खिलाए

12. डब्बे पर डब्बा, डब्बे का गाँव, 

चलती फिरती बस्ती है, लोहे के पाँव

13. हरी डिब्बीपीला मकान,

उसमें बैठे कालू राम

14. हरी थी मन भरी थी लाख मोती जड़ी थी

राजाजी के बाग में दुशाला ओढ़े खड़ी थी

15. हरी डंडी लाल मकान तोबा तोबा करे इंसान बताओ क्या ?

16. काला घोड़ा, सफेद की सवारी,

एक उतरा तो दूसरे की बारी ?

17. सोने को पलंग नहीं, न ही महल बनाए, एक रुपैया पास नहीं, फिर भी राजा कहलाए ?

18. सिर काटो तो तोला जाऊं पैर काटे इक वृक्ष कहलाऊं कमर कटे तो जंगल जानो जरा मुझे तो तुम पहचानों

19. कटोरे पर कटोरा, बेटा बाप से ज्यादा गोरा

20. लाल डिब्बे में हैं पीले खाने, खानों में है लाल-लाल मोती के दाने

Next Quiz

Please rate this paheli

×