Valentine Week: जानें दिल की दिल...

Valentine Week: जानें दिल की दिलचस्प बातें(Valentine Week: Know Interesting Facts About Your Heart)

शायद ही कोई दिल हो जिसमें मोहब्बत के फूल न खिले हों. प्यार का मौसम सभी को मोहब्बत की बरसात में भिगो देता है. मौक़ा भी है, दस्तूर भी…
तो क्यों न दिल की बात करें और जानें दिल की दिलचस्प बातें.

प्यार का केमिकल कनेक्शन


दिल तो है दिल, दिल का ऐतबार क्या कीजे आ गया जो किसी पे प्यार, क्या कीजे.
जी हां, दिल पर ज़ोर नहीं चलता. कब कोई अनजाना अपना बन जाता है, पता ही नहीं चलता… पर होशो-हवास उड़ाने वाला ये प्यार यूं ही नहीं हो जाता, इसके पीछे भी एक साइंस है. जी हां, प्यार में भी होता है केमिकल लोचा.

क्यों होता है प्यार
प्यार के वैज्ञानिक और व्यावहारिक पहलू


प्यार एक विज्ञान है जिसे हम व्यावहारिक रूप में अपने जीवन में उतारते हैं. क्यों, कब और कैसे होता है प्यार? आइए, जानते हैं प्यार के इस रहस्यमयी पहलू के बारे में.

जींस तय करते हैं पार्टनर का चुनाव
विज्ञान कहता हैः साइकोलॉजिकल साइंस में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, हम किस तरह के पार्टनर का चुनाव करेंगे, यह हमारे जींस तय करते हैं. अक्सर हम ऐसे साथी का चुनाव करते हैं, जिसका जीनोटाइप असमान हो.

विज्ञान को व्यवहार में लाएंः यदि आपके पार्टनर का जीनोटाइप आपसे अलग है, तो इसका एक फ़ायदा यह होता है कि आने वाली पीढ़ी के बच्चों का इम्यून सिस्टम मज़बूत होता है. अतः अपने जीन्स के फैसले को स्वीकारें और अपनी आने वाली पीढ़ी को हेल्दी बनाएं.

जादू की झप्पी है कमाल की
विज्ञान कहता हैः नॉर्थ कैरोलिना यूनिवर्सिटी के डॉक्टर्स कहते हैं कि आलिंगन करने से ब्लड प्रेशर कम होता है और शरीर में ऑक्सिटॉसिन नामक हार्मोन का स्तर बढ़ जाता है, जो कि ऑर्गे़ज़्म प्राप्त करने में मुख्य भूमिका निभाता है. शोधकर्ताओं ने कुछ कपल्स पर यह शोध करते हुए उन्हें एक-दूसरे के पास दस मिनट तक बैठाया और 10 मिनट तक बात करने के लिए कहा. उसके बाद एक-दूसरे को काफ़ी देर तक आलिंगन करने को कहा. इसके बाद उन्हें पॉज़िटिव रिज़ल्ट मिला. उनके ब्लड प्रेशर व आक्सिटॉसिन स्तर में थोड़ा बदलाव पाया गया, लेकिन जब यह फ़ॉर्मूला रोज़ आज़माया गया तो बदलाव ज़्यादा देखने में आया.

विज्ञान को व्यवहार में लाएंः प्यार जताने के लिए जादू की झप्पी से अच्छा तरीका और क्या हो सकता है? अब रोज़ अपने पार्टनर को जादू की झप्पी दें और ब्लड प्रेशर को बाय-बाय कहें.

हेल्दी रखता है सेक्स
विज्ञान कहता हैः शोध करने पर पाया गया कि जो कपल्स ह़फ़्ते में एक या दो बार सेक्स करते हैं, उनमें इम्यीनोग्लोसिन की मात्रा ़ज़्यादा होती है, जो एक एंटीबॉडी है और बीमारियों व इंफेक्शन से लड़ने में मददगार साबित होता है. शोध में यह भी पाया गया कि जो लोग ह़फ़्ते में एक बार भी सेक्स नहीं करते, उनमें इम्यूग्लोबिन सेक्स करने वालों की अपेक्षा कम पाया गया.

विज्ञान को व्यवहार में लाएंः अपनी शादीशुदा ज़िंदगी को जवां बनाए रखने के लिए सेक्स लाइफ को बिल्कुल भी नज़रअंदाज़ न करें. सेक्स का खुलकर लुत्फ़ उठाएं और हेल्दी बने रहें.

दिल की बातें
विज्ञान कहता हैः शोध से सिद्ध हुआ है कि जो पत्नियां अपने पति के दिल की हर बात ध्यान से सुनती हैं, उनकी ख़ुशियां शेयर करती हैं, उनका हौसला बढ़ाती हैं, उनके रिश्ते ़ज़्यादा मज़बूत होते हैं. अन्य कपल्स की तुलना में वे ज़्यादा संतुष्ट रहते हैं.
विज्ञान को व्यवहार में लाएंः पति की हर बात ध्यान से सुनने और उनसे अपने दिल की हर बात कहने से दोनों का मन हल्का हो जाएगा. दोनों और क़रीब आ जाएंगे और आपके रिश्ते में प्यार की कभी कमी नहीं आएगी.

एक बोसा प्यार का
विज्ञान कहता हैः स्टेट यूनिवर्सिटी ऑफ़ न्यूयॉर्क के जॉर्ज गैलप कहते हैं कि जब भी एक पार्टनर दूसरे पार्टनर को पहली बार किस करता है तो उससे उसे पता चलता है कि वह कितना आकर्षक है और उनके रिश्ते की उम्र कितनी लंबी है. गैलप कहते हैं, किस करते समय मस्तिष्क में सूचनाओं का आदान-प्रदान होता है, जिससे जिनेटिक इनकॉम्पेटिबिलिटी की संभावना बनती है.
विज्ञान को व्यवहार में लाएंः पार्टनर जब पहली बार आपको किस करे, तो उसे दिल से महसूस करें. प्यार के इस हसीन पल को यादगार बना दें.

ये केमिकल का मामला है


क्या आपने कभी सोचा है कि क्यों कोई अजनबी इतना अच्छा लगने लगता है कि हम जीवनभर उसके साथ रहने के लिए तैयार हो जाते हैं? दरअसल, ये दिल का नहीं, केमिकल का मामला है. प्यार एक तरह का केमिकल एडिक्शन है. जब किसी से प्यार होता है तो ब्रेन का प्लेज़र सेंटर ऐक्टिवेट हो जाता है और केमिकल डोपामाइन का प्रोडक्शन बढ़ जाता है. इसी के कारण प्यार करने पर दिल में ख़ुशी का एहसास होता है.

अध्ययन बताते हैं

  • जिन लोगों का दांपत्य जीवन ख़ुशहाल होता है उनकी मेंटल हेल्थ अच्छी होती है और उनमें डिप्रेशन भी कम होता है.
  • हैप्पी मैरिड कपल्स की सेक्स लाइफ अच्छी होती है और वे करियर में भी सफलता पाते हैं.
  • पिट्सबर्ग यूनिवर्सिटी के अध्ययन से यह बात सामने आई है कि जो महिलाएं शादीशुदा होती हैं, उनमें दिल की बीमारी का ख़तरा कम होता है.
  • शादीशुदा कपल्स अविवाहितों की तुलना में लंबी उम्र तक जीते हैं और उनमें कैंसर की संभावना भी कम होती है.
  • शादीशुदा लोगों में शराब-सिगरेट की लत कम होती है.
  • महिला पार्टनर में यह क्षमता होती है कि वह उस पुरुष को सूंघ सकती हैं, जो उसके लिए मिस्टर राइट साबित हो.
  • हैंडसम पुरुष के स्पर्म की क्वालिटी ज़्यादा अच्छी होती है. शोध में हेल्दी स्पर्म उन लोगों में पाए गए,
    जो चेहरे से आकर्षक थे और महिलाओं के फेवरेट भी.
  • अध्ययन में पाया गया कि जिन महिलाओं की आवाज़ मधुर होती है वो ख़ूबसूरत होती हैं.

फेंगशुई से पाएं हैप्पी लव लाइफ


फेंगशुई के ख़ास टिप्स अपनाकर आप अपनी लव लाइफ को हमेशा जवां बनाए रख सकती हैं. कैसे?

  • पति-पत्नी के बीच मधुर संबंध स्थापित करने के लिए बेडरूम के
    दक्षिण-पश्‍चिम दिशा में स्फटिक के दो गोले लटकाएं या टांग दें. इससे आप दोनों को एक-दूसरे से कोई अलग नहीं कर पाएगा.
  • बेडरूम के दक्षिण-पश्‍चिम दिशा वाले कोने में अपनी और पार्टनर की, जिसमें आप दोनों साथ हों, तस्वीर लगाएं. इससे आप दोनों के बीच प्यार बढ़ेगा.
  • कपल्स के बीच प्रेम संबंध को मज़बूती देने के लिए बेडरूम के दक्षिण-पश्‍चिम दिशा में मैडरिन बत्तख की प्रतिमा रखें. मैडरिन बत्तख प्रेम का प्रतीक माना जाता है. इसकी मौजूदगी से पति-पत्नी के बीच प्रेम में बढ़ोतरी होती है.
  • बेडरूम में डबल बेड पर सिंगल गद्दा बिछाकर एक साथ सोएं. डबल बेड पर दो अलग-अलग गद्दे न बिछाएं, वरना आप दोनों के बीच भी अलगाव हो सकता है.
  • बेडरूम में पानी या पानी वाली कोई वस्तु, जैसे- फिश टैंक, पानी से भरा बाउल, पानी की तस्वीर आदि न रखें. इससे कपल्स के बीच झगड़े होते हैं.
  • बेडरूम में आईना न लगवाएं. इससे पति-पत्नी के बीच बार-बार तकरार होती है. आईने से निकलने वाली नकारात्मक ऊर्जा कपल्स के बीच तलाक का कारण भी बन सकती है. अगर आईना हटा नहीं सकतीं तो रात में सोने से पहले इसे ढंक दें.
×