आज भी अंकिता के घर के नेमप्...

आज भी अंकिता के घर के नेमप्लेट पर है सुशांत का नाम, सुशांत को भी था अंकिता से ब्रेकअप का पछतावा (Ankita still hasn’t ‘removed his name from nameplate’ of her house: Sushant too Regretted Breaking-Up With Ankita)

मोहब्बत की कहानियाँ कभी नहीं मरतीं, लोग भले ही किरदार निभाते हुए मर जाएं. अंकिता-सुशांत का इश्क भी बहुत लंबी खमोशी से गुज़रा और लगा दोनों के बीच सब खत्म हो गया था. लेकिन सुशांत की मौत के बाद जिस तरह एक एक सच पता चल रहा है, जिस तरह अंकिता टूटी हुई दिख रही हैं, उसे देखते हुए लग रहा है इनकी प्यार की कहानी कभी खत्म हुई ही नहीं थी.

Ankita and Sushant

पवित्र रिश्ता से हुई थी प्यार की शुरूआत

सुशांत सिंह राजपूत और अंकिता लोखंडे की पहली मुलाकात पवित्र रिश्ता के सेट पर हुई थी. शुरू शुरू में अंकिता को सुशांत बिल्कुल अच्छे नहीं लगते थे, लेकिन धीरे धीरे दोनों में पहले दोस्ती हुई और फिर प्यार की शुरुआत. रील लाइफ के सबसे फेवरेट कपल रियल लाइफ के भी बेस्ट कपल्स कहलाने लगे. दर्शकों को भी उनकी केमिस्ट्री इतनी अच्छी लगती थी कि वे भी इन दोनों को रियल लाइफ में कपल के तौर पर देखना चाहते थे.

Ankita and Sushant


सुशांत और अंकिता ने रियलिटी शो ‘झलक दिखला जा’ में भी हिस्सा लिया था और इसी शो के मंच पर सुशांत ने खुल्लम-खुल्ला अंकिता से प्यार का इजहार किया था. सुशांत के प्रपोज करते ही अंकिता की आंख भर आई थीं और उन्होंने शादी के लिए हां भी बोल दिया था. छः साल तक दोनों के बीच सब कुछ ठीक चला, दोनों लिव इन में साथ ही रहते थे. यहां तक कि एक इवेंट में सुशांत ने प्रेस के सामने ये तक कह दिया था कि दिसम्बर, 2016 में दोनों शादी कर लेंगे, लेकिन फिर एक दिन दोनों के ब्रेकअप की खबरों ने फैंस का दिल तोड़ दिया. हालांकि सुशांत और अंकिता के इस ब्रेकअप की न सही वजह सामने आयी और न कभी भी दोनों ने एक दूसरे के खिलाफ कुछ कहा.

ब्रेकअप की कई वजहें आईं सामने

Ankita and Sushant


– कहा जाता है कि दोनों के ब्रेकअप की एक वजह ये भी थी कि अंकिता शादी करना चाहती थीं. जबकि सुशांत अपने करियर पर फोकस कर इसे फिल्मों की तरफ ले जाना चाहते थे.
– कहा ये भी जाता है कि अंकिता सुशांत को लेकर ओवर पजेसिव हो गई थीं और इस वजह से उन्होंने ड्रिंक करना शुरू कर दिया, जो सुशांत को बिल्कुल पसंद नहीं आया. सुशांत ने उन्हें समझाने की कोशिश की, लेकिन अंकिता नहीं मानीं.
– उनके ब्रेकअप की एक वजह कृति सेनन को भी माना गया. कहते हैं उन दिनों सुशांत और कृति में नज़दीकियां बढ़ने लगी थीं और यही उनके ब्रेकअप की वजह बनी.
– हालांकि सुशांत ने इन सभी बातों को सिरे से नकारते हुए कहा था कि न अंकिता शराब पीती हैं न मुझे लड़कियों के साथ घूमने का शौक है. कुछ निजी वजहें हैं हमारे बीच दूरियों की, जिसे मैं पब्लिकली डिस्कस नहीं करना चाहता.
हालांकि इस ब्रेकअप के बाद लम्बे समय तक अंकिता डिप्रेशन में रहीं, लेकिन धीरे धीरे दोनों अपनी ज़िंदगी में मूव ऑन कर गए. सुशांत जहां रिया चक्रवर्ती से जुड़ गए, वहीं अंकिता ने भी हाल ही में एक बिज़नेस मैन से सगाई कर ली थी.

अंकिता से ब्रेकअप का बहुत पछतावा था सुशांत को

Ankita and Sushant

बहरहाल, ब्रेकअप के बाद सुशांत का अंकिता से रिश्ता भले ख़त्म हो गया हो, लेकिन सुशांत अंकिता को भूल नहीं सके. वह अंकिता को बुरी तरह मिस करते थे. एक बार सुशांत से अंकिता के बारे में पूछा गया, तो सुशांत भावुक भी हो गए थे. और उनके डिप्रेशन और फिर सुसाइड की एक वजह भी इसी को माना जा रहा है. पिछले एक साल से उनके डिप्रेशन का इलाज कर रहे मनोचिकित्सक केसरी चावड़ा ने भी अपने बयान में यही कहा कि सुशांत को अंकिता से अपने ब्रे‍कअप को लेकर बहुत पछतावा था. अंकिता लोखंडे के साथ उनके ब्रेकअप के बाद कुछ समय तक सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन बाद में कुछ असफल रिश्तों ने उन्हें एहसास दिलाया कि उन्हें कोई पसंद नहीं करता और अंकिता जैसी और कोई नहीं हो सकती थी. सुशांत ने डॉक्टर को बताया था कि अंकिता उनका हर काम करती थीं, उनका ख्याल रखती थी, लेकिन उसके बाद इस तरह की कोई भी लड़की उनकी जिंदगी में नहीं आई. सुशांत, अंकिता को बहुत ज़्यादा मिस करते थे और उन्‍हें लगता था कि अंकिता के साथ ब्रेकअप करके उन्‍होंने बहुत बड़ी गलती की है.

अंकिता ने भी अपने घर से नहीं हटाई सुशांत की नेमप्लेट

Ankita and Sushant


इधर अंकिता जिन्होंने सुशांत के साथ पूरा जीवन बिताने के सपने देखे थे, ने अब तक अपने घर के नेमप्लेट से सुशांत का नाम नहीं हटाया है, जबकि उनके ब्रेकअप को लंबा अरसा बीत गया है, जिससे ये साबित होता है कि अंकिता भी अपने जीवन और मन से सुशांत को नहीं निकाल पाई थीं. और ये सच सुशांत सिंह के करीबी दोस्त प्रोड्यूसर संदीप सिंह ने उजागर किया है. उन्होंने एक बेहद भावुक पोस्ट लिखकर कहा है, ”प्रिय अंकिता, हर बीतते दिन के साथ मुझे एक ही बात बार-बार कचोट रही है. काश .. काश .. हमने भी कोशिश की होती, हम उसे रोक सकते थे. यहां तक कि जब आप दोनों अलग हो गए, तो आपने सिर्फ उसकी खुशी और सफलता के लिए प्रार्थना की .. आपका प्यार शुद्ध था. खास था. आपने अभी भी अपने घर की नेमप्लेट से उसका नाम नहीं हटाया है. आज भी मेरा मानना है कि सिर्फ आप दोनों ही एक दूसरे के लिए बने थे. तुम दोनों एक दूसरे से सच्चा प्यार करते थे. मुझे पता है कि सिर्फ तुम ही उसे बचा सकती थीं. काश, तुम दोनों की शादी हो जाती जैसा कि हमने सपना देखा था. आप उसे बचा सकती थीं.. आप उसकी प्रेमिका, उसकी पत्नी, उसकी मां, हमेशा के लिए उसके सबसे अच्छी दोस्त थीं. आई लव यू अंकिता.”
इस पोस्ट से भी साफ पता चलता है कि सुशांत अंकिता का रिश्ता कितना पवित्र और गहरा था.

जब तक अंकिता साथ थीं, हंसमुख और बिंदास रहे सुशांत

Ankita and Sushant


दोनों के कॉमन फ्रेंड रहे विकास गुप्ता ने भी एक बेहद इमोशनल पोस्ट किया है. उनकी पोस्ट से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि अंकिता-सुशांत का रिश्ता कितना स्पेशल था. विकास का कहना है, जब तक अंकिता सुशांत के साथ थीं, तब तक सुशांत भी एकदम हंसमुख और बिंदास रहा करते थे. अंकिता पास में होतीं तो जैसे उन्हें किसी चीज की फिक्र ही नहीं होती. अंकिता के साथ देने भर से सुशांत टीवी पर नंबर वन टीवी शो छोड़ सकते थे. इतना ज्यादा यकीन था उन्हें अंकिता पर. विकास ने बताया कि किस तरह जब ‘औरंगज़ेब’ में सुशांत को भाई का रोल आफर किया गया और उन्हें सेकंड लीड नहीं करनी थी, तो अंकिता की ही दी हिम्मत की वजह से सुशांत यशराज फिल्म्स की ‘ऑरंगजेब’ जैसी फिल्म को मना कर पाए थे. सुशांत ने उस दिन कहा कि मैं यश जी को ना कैसे कह पाऊंगा, तब अंकिता ने ही उन्हें समझाया, ‘तुम्हें जिसमें खुशी मिलती है, वह करो. हम ये सब बाद में कर लेंगे जब तुम इन चीजों को लेकर श्योर हो जाओगे.’अंकिता के इन शब्दों से ही सुशांत आश्वस्त हो जाते और बेफिक्र हो हंसने लगते.

सुशांत की टेंशन भगा देती थीं अंकिता, स्माइल आने तक नहीं छोड़ती थीं पीछा’
‘सुशांत की सारी टेंशन अंकिता को देखकर भाग जाती थी. अंकिता सुशांत के लिए ‘शॉक अब्जॉर्बर’ थी. उसकी सारी टेंशन और शॉक भगा देती थी. विकास ने बताया कि अंकित तब तक सुशांत को नहीं छोड़ती थी, जब तक उसके चेहरे पर यही स्माइल नहीं आ जाती थी.

Ankita and Sushant

खैर अब सुशांत हमारे बीच नहीं हैं, हैं तो उनसे जुड़ी ढेरों कहानियां… यादें. अंकिता के दिल में भी अब सुशांत की यादें ही शेष हैं. आजकल बार बार सुशांत सिंह राजपूत की फिल्म ‘छिछोरे’ का ये डायलॉग याद आता है
”हम हार-जीत, सक्सेस-फेलियर में इतना उलझ गए हैं, कि ज़िन्दगी जीना भूल गए हैं. जिंदगी में अगर कुछ सबसे ज्यादा इंपॉर्टेंट है, तो वो है खुद जिंदगी.”

बस सुशांत भी जिंदगी के उतार चढ़ाव के बीच अपनी ज़िंदगी जीना भूल गए और मौत को गले लगा लिया…