लता मंगेशकर ने जाते-जाते आशा भोस...

लता मंगेशकर ने जाते-जाते आशा भोसले को दी ऐसी दौलत, देखर दंग रह जाएंगे आप (Before Death, Lata Mangeshkar Gave Such Wealth To Asha Bhosle, You Will Be Stunned To See)

बॉलीवुड की दिग्गज गायिका आशा भोसले रिएलिटी शो ‘डांस इंडिया डांस लिटिल मास्टर’ में गेस्ट अपीयरेंस देने वाली हैं. इस दौरान स्वर कोकिला लता मंगेशकर से जुड़ी यादों को ताजा करती हुई दिखेंगी आशा भोसले. शो के कई प्रोमो सोशल मीडिया पर आ गए हैं. उसी में से एक वीडियो में आशा जी ने खुलासा किया है कि देहांत से कुछ महीने पहले लता मंगेशकर ने उन्हें एक कीमती तोहफा दिया था, जो उनके लिए पूरी दुनिया की दौलत से भी बढ़कर है. इस तोहफे को देखकर आपका भी दिल खुश हो जाएगा.

फोटो सौजन्य – इंस्टाग्राम

प्रोमो में आशा भोसले उस तोहफे के बारे में खुलासा कर रही हैं, जो उन्हें उनकी बड़ी दीदी यानी लता मंगेशकर ने अपनी मौत से करीब 5-6 महीने पहले दिया था. आशा जी कहती हैं कि, “5 या 6 महीने पहले दीदी ने मुझे बोला कि, तुझे जो चाहिए आज वो मांग ले. इसपर मैंने थोड़ा सोचा और बोली, अपनी पुरानी साड़ी मुझे साइन करके दो.” शो में आशा जी ने वो साड़ी सबको दिखाई भी, जिसपर लता मंगेशकर ने साइन किया था. इस तोहफे को देखकर हर को दंग रह जाता है. अंत में आशा जी ने कहा कि, “ये गिफ्ट मेरे लिए पूरी दुनिया के दौलत के आगे सबसे बड़ा है.” आप भी देखें वो वीडियो

शो में आशा जी ने लता मंगेशकर से जुड़ी कई बातें शेयर की. यहां तक कि उन्होंने अपने बचपन के दिनो का किस्सा भी सुनाया कि कोल्हापुर में काफी बड़े-बड़े पेड़ होते थे, लता दीदी उसपर चढ़ जाया करती थीं और उन्हें देखकर दूसरे बच्चे भी वही किया करते थे. आशा जी बताती हैं कि, “फिर उन्हें मां से खूब डांट पड़ती थी. मां उसे जाफराबादी भैंस बुलाती थी. बड़ी-बड़ी सींगों वाली, क्योंकि उसके लंबे बाल थे और वो दो चोटी करती थी. इसलिए सभी उनकी चोटी भी खूब पकड़ते थे.”

ये भी पढ़ें: आशा भोसले की ज़िंदगी से जुड़ी ये रोचक बातें नहीं जानते होंगे आप (You Might Not Know These Interesting Things Related To The Life Of Asha Bhosle

आशा जी ने लता जा के पैर धोकर पिए – आशा जी ने ये भी बताया कि उन्होंने अपनी बड़ी बहन लता जी के पैर धोकर वो पानी भी पिया है. वो बताती हैं, “दीदी ने कहा कि मां-बाप के पैर का पानी पीने से बहुत नाम हो जाता है, क्योंकि मां-बाप इतने बड़े होते हैं. भगवान से भी बड़े. फिर वो बोलीं कि जाओ पानी लेकर आओ. हम लोगों ने उनका पैर धोया, लेकिन दूसरी दीदी ने पीने से मना कर दिया, लेकिन मैंने पिया.”

ये भी पढ़ें: लता मंगेशकर से जुड़ी ये बातें नहीं जानते होंगे आप (You Would Not Know These Things Related To Lata Mangeshkar)

गौरतलब है कि 6 फरवरी 2022 को स्वर कोकिला लता मंगेशकर ने इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह दिया. मृत्यु से पहले वो करीब एक महीने तक हॉस्पीटल में एडमिट रही थीं. वो निमोनिया से भी पीड़ित हो गई थीं. बाद में उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट देकर भी रखा गया था. बीच में कुछ दिन के लिए उनकी तबियत में सुधार भी हुआ था, लेकिन फिर बाद में ज्यादा तबियत खराब हो जाने की वजह से वो इस दुनिया से चल बसीं. आज भले ही वो इस दुनिया में नहीं हैं, लेकिन हर भारतीय के दिल में वो अमर हैं.

×