ऑनलाइन डॉक्यूमेंट स्टोरेज के लिए अपनाएं डिजि लॉकर (Digilocker for online document storage)

digilocker

हाल ही में रोड ट्रांसपोर्ट एंड हाइवेज़ मिनिस्ट्री ने डिजि लॉकर को ड्राइविंग लाइसेंस और वेहिकल रजिस्ट्रेशन सिस्टम के साथ जोड़ दिया. इस ऐप के ज़रिए अब आपको फिज़िकल ड्राइविंग लाइसेंस और वेहिकल रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट (आरसी) रखने के झंझट से छुटकारा मिल जाएगा. डिजि लॉकर के इस्तेमाल से इन्हें ऑनलाइन या मोबाइल फोन पर एक्सेस किया जा सकता है.

  • डिजिटल इंडिया प्रोग्राम के तहत डिजिटल लॉकर वेबसाइट और ऐप को रोड ट्रांसपोर्ट और हाइवेज़ मिनिस्ट्री से जोड़ा गया है.
  • डिजिटल ड्राइविंग लाइसेंस और वेहिकल रजिस्ट्रेशन डॉक्यूमेंट नागरिकों के मोबाइल फोन पर डिजिलॉकर मोबाइल ऐप के ज़रिए उपलब्ध होंगे और इसके ज़रिए ट्रैफिक पुलिस जैसी एजेंसियां वेरिफिकेशन कर सकेंगी.
  • इनका इस्तेमाल एयरपोर्ट्स पर पहचान के वैध सबूत के तौर पर भी किया जा सकेगा.
  • डिजी लॉकर भारत सरकार द्वारा फरवरी, 2015 से जारी डिजिटल स्टोर है.
  • यह एक पर्सनल डिजिटल स्टोर है, जहां आप अपने ज़रूरी डॉक्यूमेंट्स सेव करके रख सकते हैं.
  • इसमें नागरिकों को कुल 1 जीबी का स्टोरेज स्पेस मिलता है, जिसे
    उनके आधार कार्ड से जोड़ा जाता है.
  • आजकल आपको आधार नंबर देने की भी ज़रूरत नहीं पड़ती, बस मोबाइल नंबर के ज़रिए आप यहां रजिस्टर हो सकते हैं.
  • आप अपने यूनिवर्सिटी सर्टिफिकेट्स, पासपोर्ट, मार्कशीट्स, इन्कम टैक्स स्टेटमेंट्स, पैनकार्ड और वोटर आई कार्ड की स्कैन्ड कॉपीज़ को अपलोड करके सेव कर सकते हैं.digi
  • इसमें ज़रूरी डॉक्यूमेंट्स को ई-साइन करने की सुविधा भी दी गई है.
  • डिजिटल इंडिया के तहत भारत सरकार की यह मुहिम फिज़िकल पेपरवर्क को कम करने के साथ-साथ सिस्टम में पारदर्शिता बढ़ाने
    की भी है.
  • इससे कुछ हद तक भ्रष्टाचार पर लगाम भी
    लगेगी.
  • इसकी वेबसाइट https://digitallocker.gov.in पर जाकर भी आप इन सहूलियतों का फ़ायदा उठा सकते हैं या फिर गूगल प्लेस्टोर में जाकर DigiLocker ऐप डाउनलोड करें.

– दिनेश सिंह