दिवाली 2020: ये हैं धनतेरस ...

दिवाली 2020: ये हैं धनतेरस पूजा, लक्ष्मी पूजा, गोवर्धन पूजा, भाई दूज के शुभ मुहूर्त और पूजा विधि (Diwali 2020: Dhanteras, Lakshmi Puja, Govardhan Puja, Bhai Dooj Shubh Muhurat And Worship Method)

दिवाली 2020 की शुरुआत हो गई है. सभी लोग दिवाली की तैयारियां कर रहे हैं. दिवाली में किस दिन क्या पूजा करें, पूजा का शुभ मुहूर्त क्या है, ये हर कोई जानना चाहता है. धनतेरस पूजा, लक्ष्मी पूजा, गोवर्धन पूजा, भाई दूज के शुभ मुहूर्त और पूजा विधि बता रही हैं एस्ट्रो-टैरो एक्सपर्ट व न्यूमरोलॉजिस्ट मनीषा कौशिक.

Dhanteras

13 नवम्बर 2020: ये हैं धनतेरस पूजा के शुभ मुहूर्त

धनतेरस का त्यौहार कुबेर देव जी, गणेश जी व माँ लक्ष्मी जी से सम्बन्ध रखता है. इस दिन कुबेर देव जी, गणेश जी व माँ लक्ष्मी जी की पूजा करने
से घर में सुख व संपन्नता आती है.
त्रयोदशी प्रारम्भ – सूर्यउदय से
त्रयोदशी समापन – 5:57 बजे
व्यावसायिक पूजा मुहूर्त
लाभ मुहूर्त – 08:07 से 9:27
अमृत मुहूर्त – 09:28 से 10:48
शुभ मुहूर्त – 12:10 से 1:29
खरीदारी के चौघाडिया मुहूर्त:
शुभ मुहूर्त – 12:10 से 1:29
लाभ मुहूर्त – 11:44 से 12:26

सांय काल में शुभ मुहूर्त
प्रदोषकाल में दीपदान व कुबेर पूजन करना शुभ रहता है.
दिल्ली में सूर्यास्त समय – सायं 5:26
प्रदोष काल का समय – 5:38 से 8:15
स्थिर लग्न / वृषभ लग्न – 5:32 से 7:28
पूजा का शुभ समय – 5:24 से 5:59

यह भी पढ़ें: राशि के अनुसार ऐसे करें मां लक्ष्मी को प्रसन्न (How To Pray To Goddess Lakshmi According To Your Zodiac Sign)

14 नवंबर 2020: दिवाली पूजा (लक्ष्मी पूजा) का शुभ मुहूर्त
कार्तिक अमावस्या प्रारम्भ: 14 नवंबर 2:18
कार्तिक अमावस्या समापन: 15 नवंबर 10:37
व्यावसायिक पूजा मुहूर्त
पूजा मुहूर्त – 2:51 से 4:11
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त
लक्ष्मी पूजा: 5:30 से 7:25
प्रदोष काल: 5:26 से 8:08
वृषभ काल: 5:30 से 7:26
लाभ चौघड़िया सर्वोत्तम मुहूर्त: 5:30 से 7:07
निशीथ काल
निशीथ काल: 8:08 से 10:51
निशीथ काल शुभ चौघड़िया: 8:48 से 10:30
निशीथ काल अमृत चौघड़िया: 10:30 से 12:12
महानिशीथ काल मुहूर्त
लक्ष्मी पूजा मुहूर्त: 11:39 से 12:32
महानिशीथ काल: 10:51 से 25:33
सिंह काल: 12:03 से 26:19

दिवाली पूजा के लिए निम्नलिखित चार समय का बहुत अधिक महत्व
है:

  1. प्रदोष काल
  2. स्थिर लगन
  3. निशीथ काल
  4. महानिशीथ काल
    यदि ऊपर दिए गए कालों में स्थिर लगन के साथ शुभ चौघड़िया भी आ जाए अर्थात (काल समय+स्थिर लगन+शुभ चौघड़िया) तो, सभी समय की गणनाओं को ध्यान में रखते हुए लक्ष्मी पूजा उसी समय में करें. किसी कारणवश इस समय में पूजा न कर पाएं तो अन्य दिए गए समय में पूजा अवश्य करें.

यह भी पढ़ें: पूजा करते समय दीया बुझ जाने को अशुभ क्यों माना जाता है? जानें दीया बुझ जाने के शुभ-अशुभ संकेत (Why The Lamp Extinguished While Worshiping Is Inauspicious)

15 नवंबर 2020 गोवर्धन पूजा मुहूर्त
प्रतिपदा तिथि प्रारम्भ – 15 नवंबर 2020, 10:37 AM
प्रतिपदा तिथि समापन – 16 नवंबर 2020, 7:06 AM
गोवर्धन पूजा प्रातःकाल मुहूर्त – 6:44 AM से 8:55 AM
गोवर्धन पूजा सायंकाल मुहूर्त – 03:27 PM से 05:38 PM

16 नवंबर 2020 भाई दूज मुहूर्त
द्वितीय तिथि प्रारम्भ – 16, नवंबर 07:06 AM
द्वितीय तिथि समापन – 17, नवंबर 03:57 AM
भाई दूज टीका मुहूर्त – 01:16 PM से 03:27 PM
सर्वोत्तम तिलक मुहूर्त – 02:51 PM से 03:27 PM