गोवर्धन पूजा के दिन क्या करें, क्या न करें? (Do’s & Don’ts For Gowardhan Pooja)

दिवाली की अगली सुबह गोवर्धन पूजा (Gowardhan Pooja) होती है. इस दिन गायों की पूजा की जाती है. मान्यता है कि गाय देवी लक्ष्मी का स्वरूप है. भगवान श्रीकृष्ण ने आज ही के दिन इंद्र का मान-मर्दन कर गिरिराज पूजन किया था.

– गायों को सुबह स्नान करवाकर फूल- माला, धूप, चंदन आदि से उनकी पूजा की जाती है. गाय के गोबर से गोवर्धन बनाया जाता है.

– पूजा के बाद गोवर्धनजी की सात परिक्रमाएं उनकी जय-जयकार करते हुए की जाती है.

– गोवर्धनजी गोबर से लेटे हुए पुरुष के रूप में बनाए जाते हैं. इनकी नाभि के स्थान पर एक कटोरी या मिट्टी का दीपक रख दिया जाता है. फिर इसमें दूध, दही, गंगाजल, शहद, बताशे आदि पूजा करते समय डाल दिए जाते हैं और बाद में इसे प्रसाद के रूप में बांट दिया जाता है.

क्या करें?

– गोवर्धन पूजा पूरे विधि-विधान के साथ शुभ मुहूर्त में करें. बेहतर होगा किसी पंडित से पूजा करवाएं.

– पूजा से पहले प्रात:काल तेल मालिश कर स्नान करें.

– घर के बाहर गोवर्धन पर्वत बनाएं. फिर पूजा करें.

क्या न करें?

– गोवर्धन पूजा और अन्नकूट का आयोजन बंद कमरे में न करें.

– गायों की पूजा करते हुए ईष्टदेव या भगवान कृष्ण की पूजा करना न भूलें.

– इस दिन चंद्र का दर्शन न करें.

यह भी पढ़ें: दिवाली के दिन शुभ फल प्राप्ति के लिए क्या करें, कैसे करें?

यह भी पढ़ें: दिवाली स्पेशल: लक्ष्मी जी की आरती

[amazon_link asins=’B015SGDM3W,B01L1IULRG,B072KN419J,B075R4SNKR,B01M09QGJD,B0761KD9C2,B0117P7W3Y,B075S9VHM4′ template=’ProductCarousel’ store=’pbc02-21′ marketplace=’IN’ link_id=’9248b982-b4b1-11e7-ba56-ffc1e998b6ed’]