GST- कितनी आसान होगी ज़िंदगी? (How much easier life would be GST-?)

easier life

GST-Bill

सालों से अधर में लटका जीएसटी बिल आख़िरकार राज्यसभा में पास हो ही गया. संसद के मानसून सत्र में 197 वोटों के साथ जीएसटी बिल को पास कर दिया गया है. ऐसा अनुमान है कि अगले साल यानी 2017 में इसे लागू भी कर दिया जाएगा. इसके लागू होते ही आम आदमी को कई तरह से फ़ायदा होगा.

जानें क्या है जीएसटी ?
गुड्स एंड सर्विस टैक्स (जीएसटी) एक अप्रत्यक्ष कर यानी इंडायरेक्ट टैक्स है. इसके तहत वस्तुओं और सेवाओं पर एक समान टैक्स लगाया जाता है, जहां जीएसटी लागू नहीं है, वहां वस्तुओं और सेवाओं पर अलग-अलग टैक्स लगाए जाते हैं.

जीएसटी के अनेक फ़ायदे
अगर कोई कंपनी या कारखाना एक राज्य में अपने उत्पाद बनाकर दूसरे राज्य में बेचता है तो उसे कई तरह के टैक्स दोनों राज्यों को चुकाने होते हैं, जिससे उत्पाद की कीमत बढ़ जाती है. जीएसटी लागू होने से उत्पादों की कीमत कम होगी. जीएसटी लागू होने से देश की जीडीपी में एक से पौने दो फ़ीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है.

समान प्राइस रेट
जीएसटी लागू होने से सबसे बड़ा फ़ायदा आम आदमी को होगा. पूरे देश में किसी भी सामान को ख़रीदने के लिए एक ही टैक्स चुकाना होगा यानी पूरे देश में किसी भी सामान की कीमत एक ही रहेगी. उदाहरण के लिए अगर आप मुंबई से कार ख़रीदते हैं, तो आपको अलग क़ीमत चुकानी पड़ती है और उसी कार को अगर आप अहमदाबाद से ख़रीदते हैं, तो अलग क़ीमत. अब ऐसा नहीं होगा. जीएसटी बिल लागू होने के बाद आपको कार की एक ही क़ीमत चुकानी पड़ेगी.

कम होगी महंगाई
जानकारों की मानें, तो जीएसटी बिल के लागू होने के बाद काफ़ी हद तक महंगाई पर लगाम लगाया जा सकता है. चीज़ों के रेट अपने आप कम हो जाएंगे, जिससे आम आदमी को इसका फ़ायदा मिलेगा. फिलहाल जो सामान ख़रीदते समय लोगों को उस पर 30-35 प्रतिशत टैक्स के रूप में चुकाना पड़ता है, वो भी घटकर 20-25 प्रतिशत पर आ जाने की संभावना है. आम आदमी के साथ कंपनियों और व्यापारियों को भी फ़ायदा होगा.

अधिक फाइनेंस आर्टिकल के लिए यहां क्लिक करें: FINANCE ARTICLES