अपने स्ट्रेस को कैसे दूर करते हैं फिल्मी सितारे? (How do film Stars deal with stress?)

1

 

हम सब की तरह फिल्मी सितारे भी अपने तनाव यानी स्ट्रेस, डिप्रेशन, परेशानियों को दूर करने के लिए किसी न किसी चीज़ का सहारा लेते हैं, जैसे- एक्सरसाइज़ करना, क़िताबें पढ़ना, लॉन्ग ड्राइव पर जाना आदि. आइए, जानते हैं स्टार्स अपने स्ट्रेस को कैसे दूर करते हैं.

 

रितिक रोशन

मेरी ज़िंदगी के कई बड़े स्ट्रेस से हर कोई वाकिफ़ है. मैं अपने ट्रेनर क्रिस गेथिन का शुक्रगुज़ार हूं कि उन्होंने मुझे न केवल स्ट्रेस से उबारा, बल्कि मुझे फ़िज़िकली फिट रहने में भी मदद की. मैं डि-स्ट्रेस होने के लिए कई तरह से काफ़ी कोशिशें करता रहा हूं और क्रिस ने मेरा इसमें भरपूर साथ दिया. कह सकते हैं कि एक्सरसाइज़ सबसे बेस्ट ज़रिया है स्ट्रेस को दूर करने का.

प्रियंका चोपड़ा

मैं जब भी अपने काम को सही समय पर नहीं कर पाती हूं, तो स्ट्रेस लेने लगती हूं. कई बार तो मैं अपने रोल्स को लेकर भी तनाव से घिर जाती हूं. मेरी कॉम फिल्म करते समय मैं बहुत टेंशन में रहती थी, क्योंकि मुझ पर एक मशहूर शख़्सियत की भूमिका को सही तरी़के से निभाने की चुनौती थी. इस फिल्म में मैंने कड़ी मेहनत की और जब-जब स्ट्रेस हुआ, म्यूज़िक और मॉम का ममताभरा स्पर्श मेरे लिए स्ट्रेस रिलीज़ करने का ज़रिया बनता रहा. कभी मॉम का साथ नहीं मिल पाता, तब मैं वर्कआउट व योग करके अपना स्ट्रेस दूर करती हूं.

रणवीर सिंह

जब कभी मुझे बहुत स्ट्रेस होता है, तब मैं अपना ध्यान बंटाने के लिए कोई न कोई स्पोर्ट खेलने लगता हूं. या फिर वीडियो गेम खेलने लगता हूं. इसके अलावा वर्कआउट भी करता हूं, ताकि तन-मन दोनों ही तरह से तनावमुक्त हो सकूं.

दीपिका पदुकोण

अपने करियर की शुरुआत में जब मैं मुंबई आई थी, तब शूटिंग व लगातार काम करते रहने के कारण क़रीब 3 साल तक बैंगलुरू में अपने घर नहीं जा पाई. उन दिनों मैं बहुत तनाव में रहती थी. इसलिए मुझे सबसे ज़्यादा स्ट्रेस तब होता है, जब मैं अपने परिवार को पर्याप्त समय नहीं दे पाती हूं और इसके अलावा जब मेरी फिल्म फ्लॉप होती है. अपने स्ट्रेस को दूर करने के लिए मुझे जब भी समय मिलता है, तब अपने परिवार के साथ अधिक से अधिक व़क्त बिताती हूं. साथ ही स्ट्रेस को दूर भगाने के लिए योग भी करती हूं या फिर बैडमिंटन या कोई भी गेम खेलती हूं.

शाहिद कपूर

यदि मेरे मॉम, डैड या छोटा भाई इनमें से कोई भी बीमार हो जाता है, तो मैं बहुत स्ट्रेस फील करने लगता हूं. डैड की थोड़ी भी तबीयत ख़राब हो जाती है, तो मैं परेशान हो जाता हूं. वैसे मैं बचपन से ही दूसरी बातों में मन लगाकर अपने स्ट्रेस को दूर करता रहा हूं. मुझे अक्सर शूटिंग के समय इस बात का तनाव बना रहता है कि मेरे डायरेक्टर को मेरी एक्टिंग पसंद आ रही है कि नहीं. तब मैं पूरी कोशिश करता हूं कि अपना बेस्ट दूं. इसके अलावा मैं अपने फिटनेस को लेकर बहुत अलर्ट रहता हूं और रेग्युलर एक्सरसाइज़ करता हूं. लेकिन जब वर्कआउट नहीं कर पाता हूं, तो स्ट्रेस महसूस करने लगता हूं. मेरा स्ट्रेस बस्टर है एक लॉन्ग ड्राइव, जो मुंबई से दूर हो और साथ में सॉफ्ट म्यूज़िक.

परिणिती चोपड़ा

म्यूज़िक मेरा स्ट्रेसबस्टर है. मैं म्यूजिक़ सुनना पसंद करती हूं और इससे अपनी परेशानी व उलझनों को दूर भगाने की कोशिश करती हूं. लेकिन यह ज़रूरी नहीं कि कोई ख़ास संगीत को सुनकर ही मेरा तनाव दूर होता है और मूड बनता है, बल्कि कोई भी अच्छा संगीत मेरे दिल को ख़ुश कर देता है. यानी मैं हर तरह के संगीत को सुनना पसंद करती हूं. मैं एक ट्रेंड सिंगर भी हूं, तो संगीत यक़ीनन मुझे बूस्ट करने का साधन तो होगा ही ना!

वरुण धवन

मुझे जब भी स्ट्रेस होता है, तब मैं मूवी देखता हूं, क़िताबें पढ़ता हूं या फिर इंटरनेट पर सर्फिंग करने लगता हूं. मुझे घूमने-फिरने का भी बहुत शौक़ है, इसलिए जब कभी अधिक स्ट्रेस महसूस करता हूं, तो परिवार के साथ छुट्टियां बिताने निकल जाता हूं. इससे रिलैक्स हो जाता हूं.

बिपाशा बसु

कलाकारों के जीवन में संगीत की महत्वपूर्ण भूमिका होती है और जब भी मुझे स्ट्रेस होता है, तब मैं अपने मैनेजर से कहती हूं कि मुझे आधे घंटे तक कोई डिस्टर्ब न करे. इस बीच मैं वर्कआउट करती हूं व अपना पसंदीदा संगीत सुनती हूं. इसके अलावा यदि समय मिलता है, तो मैं अपने फेवरेट म्यूज़िक के साथ मसाज लेना भी पसंद करती हूं. इससे स्ट्रेस फ्री होने के साथ-साथ रिफ्रेश हो जाती हूं.

सिद्धार्थ मल्होत्रा

मेरे लिए बास्केटबॉल खेलना सबसे बेहतरीन तरीक़ा है पसीना बहाने और तनाव से दूर रहने का. यह एक नेचुरल व बेस्ट एक्सरसाइज़ है. शूटिंग के बिज़ी शेड्यूल के बावजूद मैं किसी भी तरह से गेम खेलने व एक्सरसाइज़ करने के लिए घंटेभर का समय निकाल ही लेता हूं. मुझे जिम में जाकर वर्कआउट करने की बजाय खुली जगह पर एक्सरसाइज़ करना अधिक पसंद है. इससे मैं अधिक रिफ्रेश फील करता हूं.

शिल्पा शेट्टी

मैं कुकिंग से अपना स्ट्रेस दूर करती हूं. मुझे अपनी परेशानियों, तनाव आदि को दूर करने का यह सबसे बेहतरीन तरीक़ा लगता है. वैसे भी मुझे कुकिंग करना पसंद है. कुकिंग करते समय न केवल मेरा स्ट्रेस दूर होता है, बल्कि निगेटिव सोच भी ख़त्म होने लगती है. साथ ही मन में अच्छे व पॉज़िटिव विचार भी आने लगते हैं.

सैफ अली ख़ान

पहले जब मैं स्ट्रेस महसूस करता था, तब स्मोकिंग करता था, लेकिन अब मैं इसकी बजाय पेंटिंग करना पसंद करता हूं. इससे न केवल मुझे सुकून मिलता है, बल्कि अपनी क्रिएटिविटी को निखारने का भी मौक़ा मिलता है.

– ऊषा गुप्ता