बैंक में लेन-देन के दौरान होनेवाली धोखाधड़ी से कैसे बचें? (How to safeguard your banking transactions?)

banking transactions safety

आजकल अधिकतर लोग ई बैंकिंग (Banking) का इस्तेमाल करते हैं. बस क्लिक करते ही घर बैठे-बैठे आपके सारे लेन-देन मिनटों में हो जाते हैं. बैंक द्वारा उपलब्ध कराई गई इस सुविधा का लाभ ज़रूर उठाएं, लेकिन सावधानी और सर्तकता के साथ. नहीं तो आप किसी बड़ी ठगी का शिकार हो सकते हैं. हम यहां पर कुछ ऐसी ही बातों के बारे में बता रहे हैं, जिससे आप बैंक ट्रॉज़ैक्शन के दौरान होनेवाली धोखाधड़ी से बच सकते हैं-

1. ऑनलाइन बैंकिंग के लिए अपने पर्सनल कंप्युटर या लैपटॉप का इस्तेमाल करें. सार्वजनिक कंप्यूटर से ट्रांज़ैक्शन करने पर धोखाधड़ी होने की संभावना अधिक हो सकती है.

2. अपने कंप्यूटर का पासवर्ड किसी न बताएं, न ही कहीं पर लिखकर रखें.

3.ऑनलाइन बैंकिंग का यूज़ ऐसे कंप्यूटर से करें, जिसका नेटवर्क सेफ व सिक्योर हो.

4. बैंक ट्रांजैक्शन के दौरान होनेवाले धोखाधड़ी से बचने के लिए डिजिटल कीबोर्ड का इस्तेमाल करें.

5. चेकबुक में साइन किए चेक न रखें. यदि चेकबुक खो जाती है, तो कोई भी आपके अकाउंट से पैसे निकाल सकता है.

और भी पढ़ें: इस्तेमाल करने से पहले जानें क्रेडिट कार्ड के 10 फ़ायदे (10 Benefits Of Credit Cards)

6. इसी तरह से किसी भी व्यक्ति को साइन किया हुआ ब्लैंक चेक न दें.

7. चेकबुक के अंत में दिए पेज पर अपने लेन-देन का ब्यौरा ज़रूर नोट करके रखें. यदि किसी तरह की धोखाधड़ी होती हैं, तो अपने पास लिखे गए रिकॉर्ड को बैंक को दिखा सकते हैं.

banking transactions safety

8. क्रेडिट या डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, तो उसमें एसएमएस या ईमेल की सुविधा ज़रूर लें. यह सुविधा लेने से हर लेन-देन का नोटिफिकेशन समय-समय पर मिलता रहता है और ट्रैक पर भी नज़र रहेगी.

9. हर आपके साथ किसी तरह धोखाधड़ी होती है, तो इसकी सूचना तुरंत बैंक को दें. ताकि बैंक आपके कार्ड को ब्लॉक कर सके.

10. अपने साथ होनेवाली धोखाधड़ी की रिपोर्ट पुलिस में ज़रूर करें. ताकि उसकी जांच-पड़ताल की जा सके.

और भी पढ़ें: लॉकर रेंट पर लेने से पहले जानें ये 10 ज़रूरी बातें (10 Things To Keep In Mind While Renting A Locker)

 

– पूनम कोठरी